Tuesday, May 15, 2018

जब भी नया काम करता हूं, अधिकारी देरी करवाने के लिए कमर कस लेते हैं- दुष्यंत चौटाला 


हिसार : प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना तहत बजाज एलायंस ने जिले के डेढ़ लाख किसानों से करीब 90 करोड़ करोड़ों रूपये का प्रीमियम तो सरकार के निर्देश पर जबरन वसूल लिया परन्तु उनके मुआवजा का भुगतान किए बिना ही कंपनी ने अपना बोरिया बिस्तर समेट लिया। बीमा कंपनी ने किसानों को न तो रबी की फसल के मुआवजे का भुगतान किया और न ही खरीफ की फसल का। इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने जिला उपायुक्त को एक माह में बीमा कंपनी और किसानों के बीच सेंटलमेंट कर किसानों को मुआवजा दिलवाने के निर्देश दिए। एक माह के भीतर बीमा कंपनी द्वारा मुआवजे का भुगतान न करने पर दुष्यंत चौटाला ने कंपनी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करवाने के निर्देश दिए हैं। दुष्यंत ने हरियाणा में प्रधानमंत्री फसल बीमा के लिए नई अधिकृत कंपनी का कार्यालय लघु सचिवालय खोलने और जल्द से जल्द किसानों के लिए एक लैंड लाइन नंबर जारी करने के निर्देष दिए ताकि किसानों को किसी प्रकार की परेशानी न हो। इससे पहले अनुबंधिज फसल बीमा कंपनी बजाज एलायंस का सरकार के साथ करार हाल ही में समाप्त हो गया है है। सांसद ने गांव धिकताना में जारी छह लाख 80 हजार रूपये के मैट रखीदने में हो रही देरी का करण पूछा तो बैठक में बताया गया कि गांव वाले अधिकारी से मिलने गए थे तो मैट खरीदने के लिए बीडीपीओ अधिकारी 10 प्रतिशत कमीशन मांग रहा है। सांसद ने इसकी जांच करने के निर्देश उपायुक्त को दिए। 
दुष्यंत चौटाला ने सोमवार को लघु सचिवालय में हुई जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में जिले के उन तमाम अधिकारियां की खिंचाई की जो पिछली बैठकों से लगातार पेंडिंग पड़े कार्यों को पूरा करने के लिए एक दूसरे विभाग पर जिम्मेवारी टालते नजर आए। सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिए गांव भिवानी रोहिल्ला की योजना तैयार करने को लेकर लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ दुष्यंत प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखेंगे। बैठक में सांसद ने पूछा कि किस अधिकारी ने भिवानी रोहिल्ला गांव का दौरा किया है तो उच्च अधिकारी सहित सभी अधिकारी बगलें झांकने लगे। सांसद दुष्यंत चौटाला ने आज दिशा की बैठक में साऊथ बाइपास से बस अड्डे को जोडऩे को लेकर कहा कि मुख्यमंत्री की घोषणा पर भी अमल करने में क्यों देरी हो रही है जबकि सीएम स्वयं दो बार और परिवहन मंत्री स्वयं आ चुके हैं। इसके जवाब में रोडवेज के अधिकारी ने जवाब दिया कि सारी औपचारिकताएं और पूरी हो चुकी हैं और उपर से अनुमति मिल चुकी है अब जल्द ही इसका टेंडर निकाल कर बस अड्डे की पिछली दीवार के माध्यम से साउथ बाइपास से एक माह में जोड़ दिया जाएगा। 
बैठक की अध्यक्षता हुए दुष्यंत ने फसलों के अवशेष को समाप्त करने के लिए सांसद निधि कोश से जारी 20 लाख रूपये की राशि से डिकंपोस्ट न खरीदने को लेकर भी खासी नाराजगी व्यक्त की। डिकंपोस्ट की  खरीद न होने बारे पूछा गया तो अधिकारियों ने बताया कि इसकी परमिशन के लिए केंद्र सरकार से पूछा गया है कि यह दवा खरीदी जा सकती है अथवा नहीं। दुष्यंत ने कहा कि 1 लाख एकड़ भूमि के लिए अधिकारियों ने डिकंपोस्ट नहीं खरीदने में सरकारी स्तर पर तरह-तरह की टांग अड़ाई जा रही है दूसरी ओर फसल के फाने जलाने वाले किसानों के खिलाफ सरकार मुकद्दमे दर्ज करवा रही है। सड़क दुर्घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए सांसद निधि कोष से खरीदी जाने वाली स्पीड गन बारे अधिकारियों से पूछा तो अधिकारियों ने कहा कि यह स्पीड गन कंजूमएबल आइटम हैं। इस पर सांसद ने कहा कि यह तो किसी व्यक्ति विशेष के काम नहीं आनी और न ही सिपाही या अधिकारी अपने घर लेकर जाएगा, इसे खरीदने में क्या दिक्कत है, यह तो पुलिस महकमे के पास रहेगी। उन्होंने कहा कि जब भी मैं कोई नया काम करता हूं तो अधिकारी इसे देरी करवाने के लिए कमर कस लेते हैं। उन्होंने कहा कि मैं हार मानने वाला नहीं हूं। जनहित के लिए अड़ा रहूंगा। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने दिशा की पिछली बैठकों में रेलवे के अधिकारियों द्वारा भाग न लेने को लेकर खासी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि अधिकारियों के कारण हिसार के मंजूरशुदा अनेक प्रोजेक्ट अधर में लटके हैं और काफी अभी तक शुरू ही नहीं हुए। उन्होंने कहा कि ऐसे अधिकारियों के खिलाफ केंद्रीय रेलमंत्री को पत्र लिखूंगा जिन्होंने पिछली दिशा की बैठकों में भाग नहीं लिया। उन्होंने जिला उपायुक्त को इस बैठक का हवाला देते हुए तीनों डीआरएम के साथ अगले 15 दिनों में बैठक बैठक फिक्स करवाने के आदेश दिए जिससे कि हिसार के पेंडिंग प्रोजेक्ट शुरू किए जा सकें। दुष्यंत ने कहा कि बैठक में रेलवे अधिकारी से सूर्य नगर फाटक पर कब तक काम शुरू होगा, हिसार-बरवाला रेलवे फाटक सहित अन्य प्रोजेक्ट पूरा होने बारे जबाव तलबी की गई तो वह कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सके। दुष्यंत ने कहा कि अधिकारी बैठक में आते नहीं तो रेलवे के कामों का स्टेटस कैसे पता चलेगा। लघु सचिवालय में बने टॉयलेट का मुद्दा आज तीसरी बार दिशा की बैठक में उठा। इस बारे में अधिकारियों से सांसद ने पूछा तो वे बहानेबाजी करते नजर आए। इस पर उपायुक्त ने हस्तेक्षेप करते हुए कहा कि 15 दिन में शौचालयों का काम पूरा करवाओ और पैसे मेरे से ले लो। यदि लघु सचिवालयों के शौचालय ठीक नहीं होंगे तो पूरे जिले को कैसे स्वच्छ बनाएंगे। सांसद ने अधिकारियों की खिंचाई करते हुए कहा कि अपनी टोपी दूसरी दूसरों के सिर पहनाने की पुरानी आदत छोड़ दो। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने सांसद निधि कोष के तहत भिवानी व जींद जिले के उचाना व बवानीखेड़ा हलके में विकास कार्यों के जारी राशि का स्टेटस जानने और पेंडिंग पड़े कार्यों को पूरा करवाने के लिए पिछली बैठक में अधिकारियों की डयूटी लगाई गई थी। उनमें से एक अधिकारी ने जब गोलमोल जवाब देने शुरू किए तो सांसद बोले, चिकनी चुपड़ी बातों से मुझे खुश करने की कोशिश मत करो, मुझे धरातल पर काम चाहिए न कागजों और बैठकों में। उन्होंने कहा उस अधिकारी को कहा कि मुछे जल्द से जल्द वहां विजिट कर एमपी लेडस से जारी राशि, पूरे हुए कायों और पेंडिंग कार्यों का स्टेटस अपडेंट करके बताओ। इसी प्रकार गऊ शाला के बाड़े की हाईवे के साथ लगती दीवार के बारे में निगम के अधीक्षक अभियंता से पूछा तो वह भी कुछ संतोषजनक जवाब नहीं दे सके। उपायुक्त ने निगम को 15 दिन में इसके टेंडर जारी करने का आश्वासन सांसद को दिया। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने बैठक में कहा कि सांसद आदर्श गांव भिवानी रोहिल्ला को लेकर अधिकारियों ने कोई रूचि नहीं दिखाई और एक बार भी कोई भी अधिकारी दोबारा इस गांव की सुध लेने नहीं पहुंचे। उन्होंने अधिकारियों को जम कर फटकार लगाई कि यह मेरा व्यक्तिगत कार्य नहीं है बल्कि केंद्र सरकार की योजना के तहत इस गांव को चुना गया है और यह जनता की भलाई का कार्य है। उन्होंने कहा कि सांसद निधि कोष से मुझे यहां पैसे लगाने का अधिकार नहीं है और अधिकारी भिवानी रोहिल्ला में काम करने तैयार, ऐसे में कैसे बनेगा भिवानी आदर्श गांव। उन्होंने कहा कि मखंड गांव में साढ़े सात करोड़ रूपये खर्च हुए हैं और भिवानी रोहिल्ला गांव में अभी तक एक पैसा भी नहीं खर्च हुआ। इस पर अधिकारियों ने आश्वास्त किया कि वे भिवानी रोहिल्ला को आदर्श बनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगे। सांसद दुष्यंत चौटाला ढाणियों के लिए राशि से बिजली कनेक् शन का काम शुरू न करने को लेकर निगम के अधिकारियों से जवाब मांगा। उन्होंने कहा कि पिछली बैठक में निगम के ही अधिकारियों ने ढाणियों के लिए व्यक्तिगत स्तर पर सिक्योरिटी राशि अदा कर डिमांड नोटिस तैयार करने पर रजामंद हुए थे और अब डिमांड नोटिस अपूर्व कर दिए तो अधिकारी यह कह कर टांग अड़ा रहे हैं कि यह गाइडलाइस से बाहर है। इस पर सांसद ने कहा कि अधिकारी जनहित के कार्यों में बाधा उत्पन्न करने की बजाय लोगों की भलाई के काम करने रूचि दिखाएं तो ज्यादा अच्छा रहेगा। उन्होंने हर ढाणी में बिजली का कनेक् शन देने का अपना संकल्प दोहराया। 
पिछली दिशा की बैठक में आजाद नगर की गलियों के बीचों-बीच लगे बिजली के खंबो को हटाने के मुद्दे बारे दुष्यंत ने निगम के अधीक्षक अभियंता से पूछा गया तो उन्होंने तर्क दिया कि गली का निर्माण बाद में हुआ है सर, खंबे पहले लगा दिए। इस पर अतिरिक्त उपायुक्त ने अधिकारी को फटकारते हुए कहा कि तुरंत इस समस्या हो हल करो सब जानते हैं कि शहर या गली को चौड़ा नहीं किया जा सकता, यह तो भीड़ा ही होगा। विधायक रणबीर गंगवा की शिकायत पर बैठक में चौधरीवास में एक कनेक् शन देने में हो रही देरी को लेकर भी सांसद दुष्यंत ने निगम के अधिकारियों से जवाब तलबी की और उन्होंने तुरंइ इस दिशा में काम करने के निर्देश दिए। आज की बैठक में उपभोक्ताओं से मोटी रकम लेकर निगम के ठेकेदारों द्वारा कर्मचारियों  अधिकारियों से मिलीभगत कर बिजली कनेक्शन का मुद्दा उठा। इनेलो के जिला प्रधान राजेंद्र लितानी ने कुतुबपुर की एक एक घटना का उल्लेख करते हुए कहा कि एक उपभोक्त से ठेकेदार ने मिलीभगत करके 3 लाख रूपये ले लिए गए। इसके बाद वहां खंबे भी लग गए और कुछ जगह तार भी लगा दिए परन्तु आज तक उसे बिजली का कनेक् शन नहीं मिला। दिशा कमेटी के सदस्य अमित ग्रोवर ने सेक्टरों में रोड़े डालने के बाद भी सड़कें न बनने, पानी की समस्या उठाई वहीं उन्होंने सेक्टरों में आवारा पशुओं की रोकने की बात रखी। अमित ने सेक्टरों की एंटरी पर कैटल कैचर लगाने का सुझाव दिया जिसपर उपायुक्त ने विचार करने का आश्वासन दिया। कालीरावण, चूली और दड़ौली गांवों की ढाणियों और कम वोल्टेज की समस्या के निराकरण के लिए सांसद दुष्यंत चौटाला ने आदमपुर के निगम के एसडीई से सर्वे के बारे पूछा तो उन्होंने जवाब दिया कि वह नए आए हैं यहां। दुष्यंत ने उन्हें 10 दिन के अंदर पूरी रिपोर्ट तैयार कर इस पर काम करने के आदेश दिए। सुल्तान-उमरा रोड पर हांसी में पढऩे वाली छात्राओं के लिए विशेष बस चलाने के निर्देश सांसद ने रोडवेज विभाग को दिए। उन्होंने कहा कि छात्राओं को अपने शिक्षण संस्थान तक आने में भारी दिक्कत है और बस में उन्हें जगह नहीं मिलती, उनकी इस परेशानी को विशेष बस चला कर दूर की जाए। सांसद दुष्यंत चौटाला ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे मनरेगा के माध्यम से जिला के सभी जलघरों की सफाई करवाएं और हर गांव के तालाब और जोहड़ में पानी भरें जिससे कि पशु प्यासे न रहें। इसके अलावा उन्होंने खालों पक्के करने के कार्य पर तेजी लाने को कहा। उन्होंने कहा कि हजारों किसान खाले पक्के होने की इंतजार में हैं। 

No comments:

Post a Comment