Tuesday, May 15, 2018

भाजपा के राज में बेची जा रही है नौकरियां, भ्रष्टाचारियों को संरक्षण दे रहे हैं मुख्यमंत्री- अशोक अरोड़ा



कुरुक्षेत्र: भ्रष्टाचार मुक्त शासन का दावा करने वाली भाजपा की सरकार में नौकरियां बेची जा रही है और आश्चर्यजनक बात तो यह है कि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के कर्मचारियों और दलालों को तो नौकरी बेचने के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन जिन राजनेताओं के लिए ये काम करते थे उन्हें मुख्यमंत्री क्लीन चिट दे रहे हैं। यह आरोप इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने इनेलो व बसपा की संयुक्त जनसभा को गांव किरमिच में संबोधित करते हुए लगाया। उन्होंने गांव वासियों से 18 मई को जेल भरो आंदोलन के लिए कुरुक्षेत्र के थीम पार्क में पहुंचने का न्यौता दिया और कहा कि इस दिन इनेलो व बसपा गठबंधन के हजारों कार्यकर्ता एसवाईएल, दादूपुर नलवी नहर बनाने व स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने की मांग को लेकर सामूहिक गिरफ्तारियां देंगे। अरोड़ा ने गांव दयालपुर, समसीपुर हथीरा, बारवा, कैंथला, पलवल, खेड़ीरामनगर, चंद्रभानपुर, खासपुर और अमीन में सभाओं को आयोजित कर लोगों को 18 मई के दिन कुरुक्षेत्र पहुंचने का निमंत्रण दिया। इन जनसभाओं को बसपा नेता रोहताश रंगा, इनेलो के राष्ट्रीय सचिव बलदेव बाल्मीकि, हल्का प्रधान रणबीर सिंह किरमिच, चंद्रभान बाल्मीकि, रामस्वरूप चोपड़ा, बसपा हल्का प्रधान सुनील, दीपक फौजी, प्रवीण कश्यप, ओमप्रकाश ओपी, दलीप सिंह, मोहित सैनी सहित दोनों दलों के अनेक नेताओं ने संबोधित किया। 
अरोड़ा ने कहा कि भाजपा सरकार ने कोई भी चुनावी वायदा पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा कि एसवाइएल हरियाणा की जीवन रेखा है। सुप्रीम कोर्ट का आदेश होने के बावजूद भी हरियाणा सरकार ने एसवाइएल में पानी लाने के लिए कोई सार्थक प्रयास नहीं किया, जिस कारण मजबूर होकर इनेलो बसपा गठबंधन ने सामूहिक गिरफ्तारियां देनी शुरू कर रखी है। प्रदेश भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि आज पूरे प्रदेश के सफाई कर्मचारी हड़ताल पर हैं। शहरों में गंदगी के अंबार लगे हुए हैं, लेकिन सरकार इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रही। मुख्यमंत्री विदेश में सैर कर रहे हैं। विभाग की मंत्री कविता जैन कहती हैं उन्हें हड़ताल के मामले में कोई जानकारी नहीं है। अरोड़ा ने आरोप लगाया कि आज हर वर्ग सरकार से दुखी है। झूठे वायदे करके सत्ता में आने वाली भाजपा सरकार की पोल खुल चुकी है। प्रदेश के मंत्री अधिकारियों के साथ औरंगजेब जैसा व्यवहार कर रहे हैं। कैथल जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक में स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने एक अधिकारी का पक्ष सुने बिना ही उसे गिरफ्तार करने और निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए, जबकि अधिकारी बार-बार अपना पक्ष सुनाने की गुहार लगाता रहा। उन्होंने कहा कि यह सब एक भाजपा विधायक के इशारे पर किया गया है। 
हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा में पूछे गए प्रश्न में ब्राह्मण समाज पर अशोभनीय व अभद्र टिप्पणी करने की कड़ी निंदा करते हुए अरोड़ा ने कहा कि मुख्यमंत्री को तुरंत प्रभाव से आयोग के चेयरमैन भारतभूषण भारती को बर्खास्त करना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि भारती का नाम पहले ही भ्रष्टाचार के मामले में सोशल मीडिया में वायरल हुई आडियो क्लिप में आ चुका है। मुख्यमंत्री भारती को बचाने में लगे हुए हैं और अब तो नौकरियों में भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार आरोपियों ने भी कह दिया है कि वह सब चेयरमैन के कहने पर कर रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकारी नौकरियों में आरएसएस से संबंधित युवाओं को नौकरी दी जा रही है। मैरिट पर नौकरी देने का भाजपा सरकार के दावे की पोल खुल चुकी है। 

No comments:

Post a Comment