Monday, May 7, 2018

दुड़ाराम को बड़ा राजनीतिक झटका, भट्टू में पुराने समर्थक परिवार इनेलो में शामिल


फतेहाबाद: विधानसभा चुनाव में अभी करीब एक साल का समय शेष रहा है। अपने लिए इस वर्ष को चुनावी वर्ष मानते हुए स्थानीय विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया ने विधानसभा क्षेत्र में अपनी पकड़ और अधिक मजबूत बनाने की प्रक्रिया तेज कर दी है। इस कड़ी में उन्हें गत दिवस तब बड़ी सफलता मिली, जब गांव ढाबी खुर्द में बरसों से पूर्व संसदीय सचिव दुड़ाराम के साथ जुड़े रहे परिवारों ने इनेलो विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया की मौजूदगी में इनेलो का दामन थाम लिया। एमएलए दौलतपुरिया ने पार्टी में शामिल हुए इन परिवारों को इनेलो का झंडा देकर विधिवत रूप से पार्टी में शामिल किया। भट्टू क्षेत्र के गांव ढाबी खुर्द में पूर्व सीपीएस दुड़ाराम को छोड़ इनेलो के साथ जुड़ने वालों में मुख्य रूप से मिश्री लाल सिद्धु, हनुमान बिश्नोई, एडवोकेट संजय बिश्नोई, धर्म सिंह महला, हरदत नंबरदार, कुलदीप सिद्धु, प्रकाश सिद्धु, श्रवण नायक, बुधराम नाई, बजरंग जांगड़ा, लीलूराम जांगड़ा व गजे सिंह सिद्धु के परिवार शामिल रहे। ये परिवार पिछले करीब 15 वर्षों से पूर्व संसदीय सचिव दुड़ाराम के कट्टर समर्थक बनकर उनके साथ जुड़े रहे हैं और चुनावी वर्ष के शुरूआत में ही इनका इस तरह दुड़ाराम को छोड़ना उनको एक बड़ा राजनीतिक नुकसान व इनेलो विधायक बलवान सिंह को फायदा माना जा रहा है। 
गांव ढाबी खुर्द में मिश्री लाल व लीलूराम जांगड़ा की ढाणियों में इनेलो में शामिल हुए परिवारों को विधायक बलवान दौलतपुरिया ने संबोधित भी किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि जिस मान-सम्मान और विकास की पटरी पर आने की उम्मीद लेकर वे इनेलो में शामिल हुए है, वे अपने स्तर पर इन परिवारों की हर समस्या का निदान करवाने का हरसंभव प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि ग्रामीण आंचल के आम व्यक्ति व किसान वर्ग की रोजी-रोटी का मुख्य जरिया खेती-बाड़ी ही है। खेती-बाड़ी करने के लिए किसान वर्ग की मुख्य जरूरत बिजली-पानी है और यदि यही सुविधा किसान व ग्रामीण वर्ग को कांग्रेस और भाजपा पिछले करीब 12-13 बरसों के शासनकाल में भी सही तरीके से मुहैया नहीं करवा पाई है। उन्होंने कहा कि इस बार जब जनता ने उन्हें एक विश्वास के साथ विधानसभा में भेजा तो इस तरह की समस्याओं का निदान करवाना ही उनका पहला कर्तव्य बन गया था। 
दौलतपुरिया ने कहा कि आज जो परिवार इस तरह पुराने राजनीतिक दलों या नेताओं को छोड़ कर इनेलो से जुड़े हैं, इसका श्रेय वे सरकार न होने के बावजूद नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला के मार्गदर्शन में इन ग्रामीणों की मूलभूत समस्याओं को काफी हद तक हल करवाने को देते है। उन्होंने कहा कि ढाबी खुर्द में बेशक ये परिवार पूर्व सीपीएस दुड़ाराम को छोड़ आज इनेलो में आए हों, लेकिन इन सभी परिवारों से उनका पहले से ही सामाजिक और परिवारिक रिश्ता जुड़ा हुआ है और उन्होंने इस सामाजिक व परिवारिक रिश्ते का सम्मान करते हुए हमेशा बतौर विधायक इनकी दुख-तकलीफें दूर करने का हरसंभव प्रयास किया है। अब जब वे खुले मन से व सार्वजनिक मंच से राजनीतिक रूप में भी उनकी ताकत बढ़ाने साथ जुड़े हैं तो अब इन परिवारों के प्रति उनकी जिम्मेवारी और बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि वे अपनी इस नैतिक जिम्मेवारी को ईमानदारी से निभाएंगे और इनेलो में इन परिवारों को पूरा मान-सम्मान दिया जाएगा। उन्होंने दावा किया कि इनेलो में जो मान-सम्मान छोटे से छोटे कार्यकर्त्ता को मिलता है, वैसा सम्मान देश के किसी अन्य राजनीतिक संगठन में किसी को नहीं मिलता। इस अवसर पर उनके साथ हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार, युवा नेता सतपाल सिद्धु, जगदीश बैनीवाल, सतपाल सरोहा, छोटूराम सांई, बुधराम सिला व इनसो हलकाध्यक्ष अनुराग भांभू सहित पार्टी के कई अन्य पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment