Tuesday, May 15, 2018

गिल्ली डंडा खेलने की बजाये जनता से किए गए वायदे पूरे करे मुख्यमंत्री- अशोक अरोड़ा


कुरुक्षेत्र : इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट़्टर से मांग की है कि वे राहगिरी कार्यक्रम में गिल्ली डंडा खेलने की बजाये जनता से किए गए चुनावी वायदे पूरा करें। अशोक अरोड़ा इनेलो बसपा गठबंधन द्वारा 18 मई को कुरुक्षेत्र में आयोजित जेल भरो आंदोलन को लेकर गांव तिगरी में एक सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने गांव फतुहपुर, बीड अमीन, आलमपुर, कंवारखेड़ी, ईशाहकपुर, सुनेहड़ी, इदंबड़ी और रावगढ़ में भी सभाओं को संबोधित करते हुए लोगों को 18 मई को कुरुक्षेत्र पहुंचने का निमंत्रण देते हुए कहा कि इस दिन इनेलो बसपा गठबंधन के हजारों कार्यकर्ता एसवाईएल नहर में पानी लाने, दादुपुर नलवी नहर बनाने और स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने की मांग को लेकर सामुहिक गिर तारी देंगे। इन जनसभाओं को इनेलो के राष्ट्रीय सचिव बलदेव बाल्मीकि,  बसपा के जिला प्रभारी रोहताश रंगा, बसपा हलका प्रधान सुनील, बसपा नेता रवि निवास, शहरी प्रधान रामस्वरूप चोपड़ा, इनेलो हलका प्रधान रणबीर किरमिच, चंद्रभान बाल्मीकि, राहुल पूनिया एडवोकेट, राजबीर कान्यान, सतबीर शर्मा, मोहित सैनी, हलका प्रवक्ता सुरेंद्र सैनी, पूर्व पार्षद ओमप्रकाश ओपी, दीपक फौजी, डा सुलतान ब्राह्मण माजरा, साहिल अरोड़ा, रवि खेड़ी, दिनेश मिर्जापुर, ईश्वर मास्टर, सुरेश, जोगिंद्र नंबरदार, फतेह सिंह खेड़ी, तून खान सहित गठबंधन के अनेक नेताओं ने संबोधित करते हुए जनता को 18 मई को कुरुक्षेत्र के थीम पार्क में पहुंचने का निमंत्रण दिया। 
अरोड़ा ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल राहगिरी जैसे कार्यक्रम आयोजित करके जनता का ध्यान बांटने में लगे हुए हैं। भाजपा ने जनता से किया गया कोई भी चुनावी वायदा पूरा नहीं किया। उन्होंने मुख्यमंत्री को सलाह दी कि वे राहगिरी कार्यक्रम में गिल्ली डंडा, स्टापू, फिटो जैसे खेल खेलने की बजाये अपने चुनावी वायदे पूरे करें। प्रदेश की जनता में भाजपा सरकार के प्रति गहरी नाराजगी है। उन्होंने भाजपा को किसान व दलित विरोधी ठहराते हुए कहा कि स्वामीनाथन आयोग रिपोर्ट को लागू करने का वायदा भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में किया था, लेकिन यह वायदा आज तक पूरा नहीं हुआ। किसान अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। नौकरियों में ठेका प्रथा खत्म करने का वायदा भी भाजपा ने किया था। इसी मांग को लेकर प्रदेश भर के सफाई कर्मचारी आंदोलनरत हैं। भाजपा ने सफाई कर्मियों से वायदा किया था कि उन्हें नियमित किया जाएगा और कम से कम 15 हजार रुपये महीना वेतन दिया जाएगा, लेकिन अब सरकार हड़ताली सफाई कर्मचारियों से बातचीत करने से भाग रही है। उन्होंने सफाई कर्मचारियों के आंदोलन का समर्थन करते हुए सरकार से मांग की कि सफाई कर्मियों की मांगों को पूरा किया जाए। अरोड़ा ने कहा कि आज प्रदेश में कानून व्यवस्था का दिवाला पिट चुका है। महिलाओं और दलितों पर अत्याचार दिन प्रतिदिन बढ़ रहे हैं। युवा बेरोजगार घूम रहे हैं। 
इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने सरकार द्वारा प्रदेश भर में आयोजित राहगिरी कार्यक्रमों पर टिप्पणी करते हुए कहा कि राहगिरी कार्यक्रम के लिए लोगों को लाने के लिए पुलिस की डयूटी लगाई गई है। पुलिस अपने प्रभाव का इस्तेमाल करके लोगों को राहगिरी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए मजबूर करती है। पुलिस अधिकारी गांव गांव में लोगों की मीटिंग करके उन पर राहगिरी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए दबाव बना रहे हैं। उन्होंने भाजपा सरकार को केवलमात्र इंवेट की सरकार बताया और कहा कि इवेंटस के नाम पर जनता का करोड़ों रुपया फिजूल में खर्च किया जा रहा है। 
मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में निकाले जा रहे रोड शो पर टिप्पणी करते हुए अशोक अरोड़ा ने कहा कि आगामी चुनाव में भाजपा को रोड पर लाने का काम तो जनता कर देगी। इसलिए मु यमंत्री को रोड शो करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि सरकार से दुखी जनता ने भाजपा को आगामी चुनाव में रोड पर लाने का फैसला कर लिया है। 

No comments:

Post a Comment