Monday, May 7, 2018

पार्टी दफ्तर के लिए 150 गरीब परिवारों को उजाड़ने पर माफी मांगे सीएम- निशान सिंह



फतेहाबाद: इनेलो प्रदेश प्रवक्ता व किसान प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह व बसपा जिला प्रभारी डॉ मीरा नंदा ने भाजपा जिला कार्यालय के लिए फतेहाबाद में झुग्गी-झोपडि़यों में रह गुजर-बसर करने वालों को रातों-रात हटाने की कार्रवाई को निंदनिय करार दिया है। इस मामले में इनेलो-बसपा नेताओं ने स्पष्ट किया कि यदि एक सप्ताह के अंदर सरकार ने उजाड़े गए पीड़ित परिवारों को न्याय देते हुए उनके रहने की व्यवस्था न की तो इनेलो इस मामले में जिला मुख्यालय से विधानसभा स्तर पर कड़ा विरोध जताने का काम करेगी। निशान सिंह ने कहा कि भाजपा ने पार्टी का आशियाना बनाने के लिए रातों-रात 150 के करीब गरीब परिवारों को बेघर करके अपना दोगला चेहरा दिखा दिया है। ऐसी निंदनीय कार्रवाई के लिए स्वयं मुख्यमंत्री को नैतिकता के आधार पर माफी मांगनी चाहिए और पीड़ित परिवारों के कार्रवाई के दौरान हुए नुकसान की तुरंत भरपाई करनी चाहिए। यदि मुख्यमंत्री ऐसा नहीं करते हैं तो यह इस बात को प्रमाणित करता है कि गरीबों को सिर ढंकने के लिए आवस देने का स्वांग रचने वाली भाजपा सरकार इन्सानियत का लबादा उतार अब गरीबों का आशियाना छीनने लगी है।
इनेलो प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि एक तरफ तो भाजपा के आला नेता अजा परिवारों के घरों में रात्रिभोज करके उनके हितैषी होने का स्वांग रच रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ इन्हीं अनुसूचित जातियों के गरीब परिवारों को रात के अंधेरे में बेघर कर उजाड़ने में भी ये भाजपाई कोई कसर नहीं छोड़ रहे। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यालय बनाने के लिए गरीब परिवारों से जगह खाली करवाने के लिए रात का समय चुना गया। झोपड़ियों में रह रही महिलाओं, बेटियों व मासूम बच्चों को रात के अंधेरे में बेघर किया गया। यहां तक की इस पूरी कार्रवाई को अमली जामा पहनाने पहुंची प्रशासनिक टीम ने हाथ जोड़ रोती-बिलखती महिलाओं तक की कोई फरियाद नहीं सुनी। अपाहिज महिला द्वारा पेट पालने के लिए रखे गए खोखे तक को अपनी तानाशाही कार्रवाई का निशाना बनाया। वह दर्शाता है कि महिलाओं का सम्मान करने और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार के दिल में गरीब परिवारों की बेटियों व महिलाओं के प्रति जरा भी संवेदनशिलता नहीं है। अनुसूचित जातियों व पिछड़ों के घर खाना खाना भाजपाईयों का राजनीतिक स्टंट से आगे कुछ नहीं।
निशान सिंह ने कहा कि जिला मुख्यालयों पर करोड़ों रूपये की लागत से पार्टी कार्यालय खोले जाने की योजना पर मुख्यमंत्री श्वेत पत्र जारी करके बताएं कि गरीबों को आशियाना देने के लिए सरकारी खजाने में जगह नहीं, फिर कार्यालय खोले जाने के लिए करोड़ों रूपये प्रत्येक जिले के लिए कहां से एकत्रित किए गए है। उन्होंने कहा कि मानवीय संवेदनाओं को तार-तार करने वाली भाजपा सरकार की इस कार्रवाई की जितने कड़े शब्दों में निंदा की जाए वह कम है। उन्होंने कहा कि जननायक स्व देवीलाल, पूर्व सीएम औम प्रकाश चौटाला और नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला के मार्गदर्शन में इनेलो ने हमेशा गरीबों का हक दिलाने के लिए तो खून-पसीना बहाया, लेकिन इस तरह अपना आशियाना बनाने के लिए गरीबों को बेघर करने जैसी निंदनीय हरकत कभी नहीं की। इस मामले में भी इनेलो-बसपा पीड़ित समुदाय व परिवारों के प्रति गहरी संवेदना रखते हुए उन्हें न्याय दिलाने के लिए हरसंभव प्रयास करेगी और इसके लिए यदि बसपा अध्यक्ष मायावती, पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला व नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला के दिशा-निर्देश पर कार्यकर्ताओं को सड़कों पर उतर आंदोलन भी करना पड़ा तो वे पीछे नहीं हटेंगे।

No comments:

Post a Comment