Thursday, May 17, 2018

एसवाईएल मुद्दे को ठंडे बस्ते में डालना चाहती है भाजपा- बलवान सिंह


फतेहाबाद: इनेलो-बसपा नेताओं ने 22 मई को जिला मुख्यालय पर एसवाईएल मुद्दे को लेकर प्रस्तावित जेल भरो आंदोलन को सफल बनाने के लिए कमर कस ली है। इस कड़ी में फतेहाबाद विधानसभा क्षेत्र के विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया के नेतृत्व में इनेलो-बसपा नेताओं ने गांवों में जनसंपर्क अभियान शुरू किया। एसवाईएल मामले में इनेलो-बसपा कार्यकर्त्ता 22 मई की सुबह हिसार रोड स्थित नई सब्जी मंडी शेड के नीचे एकत्रित होंगे, जहां से सभी कार्यकर्त्ता व पार्टी पदाधिकारी नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला व बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती के नेतृत्व में लघु सचिवालय तक प्रदर्शन करते हुए गिरफ्तारियां देंगे। इस जेल भरो आंदोलन को लेकर शुरू किए गए जनसंपर्क अभियान के पहले दिन इनेलो-बसपा नेताओं ने गांव ढाणी ठोबा, सरवरपुर, बोदीवाली, मेहुवाला, बन मंदोरी, पीली मंदोरी, ठुईयां, ढाबी खुर्द, जांडवाला, दैयड़ आदि दर्जनों गांवों में ग्रामीण सभाओं को संबोधित किया और उन्हें हरियाणा की जीवन रेखा मानी जाने वाली एसवाईएल बारे सुप्रीम कोर्ट का निर्णय लागू करवाने के लिए 22 मई को अधिक से अधिक संख्या में फतेहाबाद पहुंचने का न्यौता दिया। ग्रामीण सभाओं को विधायक दौलतपुरिया के अलावा बसपा प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, पूर्व विधायक रणसिंह बैनीवाल, राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, इनेलो वरिष्ठ नेता मोलूराम रूहलानियां, इनेलो जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों, बसपा जिला प्रभारी बलवान सिंह भानखड़, इनेलो वरिष्ठ नेत्री विद्या रत्ति, महिला विंग जिला प्रधान सरोज सांगा, बसपा हलकाध्यक्ष कृष्ण बड़गुज्जर व इनेलो हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार ने भी मुख्य रूप से संबोधित किया।
ग्रामीण सभाओं को संबोधित करते हुए इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि एसवाईएल का पानी हरियाणा को दिलाने के लिए पूर्व सीएम औमप्रकाश चौटाला से लेकर वर्तमान में नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ता ने लंबा संघर्ष किया है। उन्होंने कहा कि इनेलो के इस संघर्ष के परिणाम भी सुखद रहे और सुप्रीम कोर्ट ने पिछले दिनों स्पष्ट तौर पर निर्णय सुनाया कि हरियाणा के हिस्से का पानी उसे दिया जाए। इसे प्रदेश की जनता, विशेषकर किसान वर्ग का दुर्भाग्य ही कहा जाएगा कि देश-प्रदेश में भाजपा सरकार होने के बावजूद अब तक हरियाणा की धरती एसवाईएल के पानी को तरस रही है। भाजपा सरकार सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को लागू करवाने तक में विफल साबित हुई है और अब एसवाईएल मसले पर उसका उदासीन रवैय स्पष्ट करता है कि वह इस मुद्दे को ठंडे बस्ते में डालना चाहती है। दौलतपुरिया ने कहा कि एसवाईएल एक मुद्दा न होकर हरियाणा की जीवनरेखा है और इसे इनेलो-बसपा किसी सूरत में ठंडे बस्ते में नहीं जाने देगी। एसवाईएल का पानी जब तक हरियाणा को मिल नहीं जाता, बड़े से बड़े आंदोलन के जरीये हर तरह की कुर्बानी देने को इनेलो-बसपा कार्यकर्ता तैयार है। इस कड़ी में 22 मई को जिला मुख्यायल पर भी संगठन के बड़े नेता, पदाधिकारी व हजारों कार्यकर्ता प्रदर्शन करते हुए गिरफ्तारियां देंगे। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि इनेलो-बसपा का यह संघर्ष जाया नहीं जाएगा और जल्द इस आंदोलन के किसान व ग्रामीण तबके को संतोषजनक लाभ मिलेंगे। इस अवसर पर बसपा जिला महासचिव ईश्वर बागड़ी, शमशेर भुक्कल, सुभाष गोड, सुखदेव सुखा, सतपाल सिद्धू सहित संगठन के अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 

No comments:

Post a Comment