Tuesday, May 1, 2018

एसवाईएल, मेवात व दादूपुर नलवी कैनाल निर्माण के लिए इनेलो-बसपा हर कुर्बानी देने को तैयार- चौ. ताहिर हुसैन


एसवाईएल, मेवात फीडर कैनाल व दादूपुर नलवी नहर के पानी को लेकर इनेलो व बसपा का संघर्ष रंग लाएगा। यह गठबंधन इस मुद्दे पर सरकार को झुकने को मजबूर कर देगा। स्वर्गीय चौधरी देवीलाल ने प्रदेश के किसान सहित हर वर्ग को खुशहाल बनाने के लिए जीवनपर्यंत संघर्ष किया उन्हीं के पदचिन्हों पर आज इनेलो नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला की अगुवाई में एसवाईएल, मेवात फीडर कैनाल व दादूपुर नलवी नहर की लड़ाई लड़ रही है। 
उक्त बातें मंगलवार को इनेलो विधायक चौ. ज़ाकिर हुसैन के सुपुत्र चौ. ताहिर हुसैन एडवोकेट ने नूंह विधानसभा के जयसिंहपुर, आकेडा, दिहाना,महरौला आदि कई गांवों का दौरा कर लोगों को संबोधित करते हुए कहीं। इनेलो नेता नेता चौ. ताहिर हुसैन ग्रामीणों को 8 मई को जेल भरो आंदोलन के तहत लघु सचिवालय नूंह  में ज्यादा से ज्यादा संख्या में शामिल होने का न्योता देने आए थे। हुसैन ने कहा कि 8 मई को जलयुद्ध नायक चौ. अभय सिंह चौटाला व इनेलो बसपा के वरिष्ठ नेताओं के नेतृत्व में मिनी सचिवालय नूंह में हजारों की तादाद में भीड़ जुटेगी तथा इनेलो-बसपा द्वारा प्रदर्शन व जेल भरो आंदोलन कर गिरफ्तारियाँ दी जाएंगी।
उन्होंने कहा की भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ आमजन में भारी रोष है और अब लोग एकजुटता से सरकार को सत्ता से बेदखल कर इनेलो व बसपा गठबंधन की सरकार बनाने का मन बना चुके हैं। बसपा इनेलो गठबंधन के कार्यकर्ता आमजन को साथ लेकर जन मुद्दों के लिए संघर्ष को तैयार हैं। केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार एसवाईएल, मेवात फीडर कैनाल व दादूपुर नलवी नहर के मामले में चुप्पी साधे हुए हैं। यह जेल भरो आंदोलन सरकार की चुप्पी तोड़ने का काम करेगा। गठबंधन का यह संघर्ष एसवाईएल और दादूपुर नलवी नहर का पानी नहीं मिलने तक जारी रहेगा।  यह आंदोलन राजनीति का ना हो कर अपितु एक आमजन आंदोलन है। इसलिए आमजन पार्टी बाजी से ऊपर उठकर इस लड़ाई में सहयोग करें।
ताहिर हुसैन ने आरोप लगाया कि भाजपा व कांग्रेस ने हमेशा ही समाज को बांटने का काम किया है और प्रदेश में बने भाईचारे को तोडऩे का काम किया है। इनेलो नेता वे आरोप लगाया कि एसवाईएल मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा प्रदेश के हक में फैसला दिया गया है। इस फैसले के बाद भी भाजपा सरकार एसवाईएल नहर निर्माण में कोई रूचि नहीं दिखा रही है। इससे स्पष्ट हो जाता है कि भाजपा सरकार किसान हितैषी नहीं है और यह सरकार केवल पूंजीपति वर्ग तक ही सीमित रह गई है। प्रदेश के युवाओं को भी रोजगार के उचित अवसर प्रदान नहीं किए जा रहे। प्रदेश में महिलाएं भी असुरक्षित महसूस कर रही हैं। व्यापारी, कर्मचारी, किसान व कमेरा वर्ग भी अपने हकों के लिए संघर्ष की राह अपना रहा है। इसके चलते आज आम आदमी भाजपा की दमनकारी नीतियों से तंग आ चुका है। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने भी कभी भी किसानों के हितों की सुध नहीं ली। कांग्रेस ने भी हमेशा ही एसवाईएल के मामले को लेकर राजनीतिक रोटियां सेंकने का ही काम किया है। कांग्रेस राज में अनेक करोड़ों के घोटाले हुए और भ्रष्टाचार को भी बढ़ावा मिला। उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में इनेलो-बसपा का गठबंधन बड़ी मजबूती के साथ आगे बढ़ रहा है, इससे विरोधी दल बौखला गए हैं।

No comments:

Post a Comment