Tuesday, May 1, 2018

आदमपुर को अनाथ न समझे सरकार, मैं हूं इसका रखवाला- दुष्यंत चौटाला


आदमपुर, 1 मई: खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के निरीक्षक द्वारा एक व्यापारी को जान से धमकी देने के मामले को लेकर इनेलो संसदीय दल के नेता व सांसद दुष्यंत चौटाला ने पुलिस प्रशासन को आरोपी अधिकारी के खिलाफ 24 घंटे में कार्रवाई करने का अल्टीमेटम दिया है। उन्होंने कहा कि आरोपी अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज कर उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई करे। सांसद दुष्यंत चौटाला मंगलवार को अनाजमंडी में धरने पर बैठे व्यापारियों को समर्थन देने पहुंचे। उनके साथ विधायक रणबीर गंगवा, विधायक वेद नारंग, जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, राजेश गोदारा, भागीरथ नंबरदार, रमेश गोदारा, सतबीर वर्मा, सिद्धार्थ गोदारा, राजकुमार जांगड़ा सहित अन्य इनेलो के पदाधिकारी भी व्यापारियों की मांगों का समर्थन देने के लिए पहुंचे। दुष्यंत चौटाला ने यहां व्यापारियों की मांगो का समर्थन करते हुए कहा कि जल्द ही वह प्रदेश के मुख्य सचिव से मिल कर फूड एवं सप्लाई अधिकारी द्वारा की जा रही ज्यादती, धमकी एवं व्यापारियों से लाइसेंस के नाम पर की जा रहे अवैध वसूली बारे अवगत करवाएंगे। धरना स्थल पर व्यापारियों ने दुष्यंत को बताया कि एक फूड एवं सप्लाई अधिकारी उन्हें न केवल लगातार प्रताड़ित कर रहा है बल्कि उनका विरोध करने पर जान से मारने की धमकी देता है। उन्होंने बताया कि जब वे उपरोक्त अधिकारी के खिलाफ शिकायत करने थाने में गए तो उस अधिकारी ने पुलिस के समक्ष ही व्यापारी को धमकी दी और पुलिस मौन रही। 
इनेलो सांसद ने कहा कि सरकार आदमपुर को अनाथ समझ कर यहां के किसानों और व्यापारियों को अधिकारियों के माध्यम से प्रताड़ित न करे। उन्होंने कहा कि मैं आदमपुर हलके की जनता का रखवाला हूं और उन पर किसी भी कीमत पर ज्यादती और प्रताडि़त नहीं होने दूंगा। उन्होंने व्यापारियों से एकजुट रहने का आह्वान करते हुए कहा कि यदि सरकार ने उनकी मांगे नहीं मानी तो वह स्वयं व्यापारियों के साथ धरने पर बैठेंगे। दुष्यंत ने कहा कि सरकार की शह पर अधिकारी जम कर अनाजमंडी में चल रही गेहूं खरीद व उठान में भ्रष्टाचार का खेल-खेल रहे हैं और जो व्यापारी अधिकारी का विरोध करता है, उसे अधिकारी जान से मारने की धमकी देता है। इनेलो सांसद ने कहा कि आदमपुर की अनाजमंडी में भ्रष्टाचार का नंगा नाच चल रहा है और मुख्यमंत्री जीरो टॉलरेंस का दावा जनता के बीच करते घूम रहे हैं। ज्ञातव्य है कि रविवार को आदमपुर अनामंडी के व्यापारी रामप्रसाद गढ़वाल को फूड सप्लाई विभाग के निरीक्षक निहाल सिंह ने फोन पर जान से मारने की धमकी दी थी, इस मामले को लेकर व्यापारी दो दिन से अनाजमंडी में बोली बंद कर धरने पर बैठे हैं। 
इससे पहले आदमपुर के व्यापार मंडल पदाधिकारियों द्वारा एक मांग पत्र दुष्यंत चौटाला को सौंपा। इस धरने पर रामप्रसाद गढ़वाल, पार्षद राजेश बगला, व्यापार मंडल के प्रधान लीलाधर गर्ग, उपप्रधान दीन दयाल गोयल, सचिव राजकुमार गोयल, पूर्व प्रधान तरसेम गोयल, सतीश मित्तल, मांगेराम सिंगला, आनंद मोहन ऐलावादी, गौरव मेहता, रामबिलास गर्ग, अमीलाल पूनिया, रामप्रताप मोडाखेड़ा, भूपेंद्र कासनियां, अशोक यादव सहित भारी संख्या में अनाजमंडी के व्यापारी धरने पर मौजूद रहे। 

No comments:

Post a Comment