Tuesday, May 1, 2018

जल युद्ध के संघर्ष में इनेलो और बसपा ने भिवानी में एकसाथ गिरफ्तारियां दीं 


चंडीगढ़, 1 मई: जल युद्ध के संघर्ष को महत्वपूर्ण मोड़ देते हुए पहली बार इनेलो और बसपा ने इस आंदोलन में एकसाथ आज भिवानी में भाग लिया। केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा एसवाईएल नहर के अधूरे निर्माण के लिए पहल और सहयोग न करने के मुद्दे पर इनेलो-बसपा नेताओं व कार्यकर्ताओं ने भिवानी में गिरफ्तारियां दी। गिरफ्तारियां देने वाले में नेता विपक्ष अभय चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, नरेंद्र वर्मा, जोगेंद्र कायला, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, एमपी दुष्यंत चौटाला, रामपाल माजरा, विधायक परमेंद्र ढुल, विधायक प्रो. रविंद्र बलियाला व ओमप्रकाश गोरा, निशान सिंह, प्रवीण आत्रेय, बलदेव बाल्मीकि व सुनील लाम्बा आदि वरिष्ठ नेताओं सहित इनेलो विधायक दल व बसपा प्रदेश कार्यकारिणी  के नेता शामिल थे।


गिरफ्तारी देने से पहले नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने मजदूर दिवस के मौके पर प्रदेश के किसान और कमेरे वर्ग का आह्वान करते हुए कहा कि अब सरकारों के खिलाफ लामबंद होने का समय आ गया है। जो सरकार किसान, मजदूर और गरीब का हक छीनने का काम करती हो उसे सत्ता में बने रहने का कोई हक नहीं।


दोनों दलों द्वारा ‘जेल भरो आंदोलन’ को जल संबंधी न्याय पाने के लिए संघर्ष का केवल एक चरण बताते हुए अभय सिंह चौटाला ने कहा कि वो प्रदेश के हक के पानी को किसान के खेतों तक पहुंचाने के लिए किसी भी कुर्बानी से पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने एसवाईएल निर्माण पर स्थिति स्पष्ट न करने पर केंद्र सरकार की जमकर आलोचना करते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने जहां सुप्रीम कोर्ट का फैसला हरियाणा के हक में आने के 18 महीने बाद भी इसको लटकाने का काम किया है वहीं खट्टर सरकार इस फैसले को लागू करवाने की बजाए राजनीति कर इस मुद्दे को नए विवाद में उलझाने का प्रयास कर रही है।


नेता विपक्ष ने कहा कि देश के मुख्य दोनों दल कांग्रेस और भाजपा हरियाणा के अधिकारों और किसान के शोषण पर मौन धारण किए बैठे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 36 बिरादरी के भाईचारे को बिगाडऩे और जातिवाद व धर्म की आड़ में राजनीति करने वाले इन दलों की मंशा को इनेलो-बसपा गठबंधन कभी कामयाब नहीं होने देगा। जनता भ्रष्टाचारियों और प्रदेश को जलाने वालों को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाएगी। 
जहां अभय सिंह चौटाला ने बसपा को संघर्ष का साथी कहा, वहीं बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने इस गठबंधन को प्रदेश की राजनीति में अहम् और निर्णायक साबित होने वाला बताया। भारती ने उन लोगों की कड़ी निंदा की जो गठबंधन को लेकर भ्रामक प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह विरोधियों की बौखलाहट है जो दर्शाती है कि इस गठबंधन से कांग्रेस और भाजपा की जड़ें हिल गई हैं।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में बसपा-इनेलो गठबंधन की सरकार बनेगी। उन्होंने यह भी कहा कि यह गठबंधन केवल हरियाणा तक सीमित नहीं रहेगा बल्कि बहन मायावती के नेतृत्च में तीसरे मोर्चे की सरकार बनाने के लिए देशभर में सहयोगी रहेगा और निर्णायक भूमिका निभाएगा।

No comments:

Post a Comment