Saturday, October 7, 2017

पंचायती राज के नाम पर करोड़ों रुपये बर्बाद कर रही है सरकार: दिग्विजय चौटाला

महिलाओं के अपमान से नारी सम्मान को पहुंची ठेस


भिवानी: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने मुख्यमंत्री मनोहरलाल के भिवानी में आयोजित तीन दिवसीय पंचायती राज सम्मेलन कार्यक्रम पर निशाना साधते हुए कहा कि असल में सरकार पंचायती राज का मतलब समझती ही नहीं है। वहीं कार्यक्रम के दौरान महिलाओं के सिर पर से काली चुनरी उतरवाना नारी सम्मान को ठेस पहुंचाना है। भारतीय संस्कृति में नारी के सिर पर चुनरी मान सम्मान को दर्शाती है। लेकिन भाजपा ने अपनी नाकामियों को छिपाने तथा विरोध के डर से महिलाओं के सिर से चुनरी उतरवा दी। इनसो इस घटना का पूर्ण रूप से विरोध करती है। दिग्विजय ने कहा कि एक तरफ तो  तीन दिवसीय कार्यक्रम में सरकार करोड़ों रुपये इसके आयोजन पर खर्च कर रही है लेकिन अनुदान के नाम पर ग्राम पंचायतों को नाममात्र राशि देना सरकार की विफलता दर्शाता है। उन्होने कहा कि जननायक चौधरी देवीलाल ने हमेशा कहते थे कि लोकराज लोकलाज से चलता है। भारतवर्ष की 70 फीसदी जनसंख्या गांव में बसती है। लेकिन भाजपा सरकार ने आज तक ग्रामीण आंचल को उबारने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया। ग्राम पंचायतें को बनी लेकिन विकास के नाम पर कोरे वायदे, ढकोसले मिले हैं। वहीं हरियाणा रोडवेज की बसों का सरकारी कार्यक्रम के दौरान बखूबी से इस्तेमाल किया गया। जिससे पहले से ही घाटे में चल रही हरियाणा रोडवेज को भारी भरकम नुकसान झेलना पड़ा। दिग्विजय सिंह चौटाला ने पंचायती राज कार्यक्रम को पूर्ण रूप से विफल करार देते हुए कहा कि इस तरह के कार्यक्रमों से आम आदमी का कोई भला नहीं हो सकता।

No comments:

Post a Comment