Wednesday, September 13, 2017


35 गांवों में फोगिंग मशीन के साथ प्रशिक्षण भी देंगे दुष्यंत

जर्मनी निर्मित फोगिंग मशीन से होगा गांवों में मच्छरों का खात्मा

हिसार, 13 सिंतबर :  बरसात के मौसम में मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया जैसे जानलेवा बुखार को लेकर सांसद दुष्यंत चौटाला खासे चिंतित हैं। इन बीमारियों से निजात पाने के लिए दुष्यंत चौटाला मच्छर मारने के लिए 35 गांवों में फोगिंग मशीन देने जा रहे हैं। सांसद दुष्यंत वीरवार को इन मशीनों के साथ साथ गांववासियों को प्रशिक्षण भी देंगे।  मच्छर मारने के लिए फोगिंश मशीनें जर्मनी निर्मित हैं। इन मशीनों को सांसद निधि कोष से 26 लाख 45 हजार रूपये की लागत से खरीदा गया है। सांसद दुष्यंत पहले भी कई गांवों में फोगिंग मशीन दे चुके हैं
पिछले कुछ वर्षों में हिसार में लगातार मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया के ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। इन बीमारियों के फैलने का प्रमुख कारण विभिन्न प्रजातियों के मच्छर हैं। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार हिसार जिले में बीते वर्ष मलेरिया के 198, डेंगू के 496, और चिकनगुनिया के 181 मामले सामने आए थे। इस वर्ष एक जनवरी से अब तक  मलेरिया के 175, डेंगू के 9 मामले सामने आ चुके हैं। हिसार लोकसभा क्षेत्र के गांवों के दौरों के दौरान लोगों ने सांसद से फोगिंग मशीन की मांग थी। मच्छरों को न पनपने के मामले में फोगिंग मशीन काफी कारगर है मानी जाती है बशर्ते इसका सही समय से इस्तेमाल किया जाए और लोग अपने घरों, कूलरों और नालियों में पानी जमा न होने दें। स्वास्थ्य विभाग के इसी नुस्खे पर काम करते हुए सांसद ने फोगिंग मशीन गांवों में वितरित करने का फैसला किया। जिन गांवों में ये मशीनें दी जाएगी उनमें जगान, किशनगढ़, भगाणा, बिचपड़ी, बुगाना, डाबड़ा, रायपुर, राजली, ढंढेरी, गढ़ी, खेड़ी गगन, मेहंदा, रामायण, शेखपुरा, बूरे, गंगवा, नलवा, भिवानी रोहिल्ला, डाया, बास अकबरपुर, खांडा खेड़ी, कौथ कलां, माजरा, मोहला, पेटवाड़, राजथल, बनभौरी, भैणी बादशाहपुर, भैरी अकबरपुर, दौलतपुर, हसनगढ़, खैरी, किनाला व गांव उकलाना शामिल हैं। मशीनों के वितरण से पहले गांव वासियों को सांसद दुष्यंत प्रशिक्षण भी प्रदान करेंगे। प्रशिक्षण के दौरान स्वास्थ्य विभाग के तकनीकी लोग उपस्थित रहेंगे। 

No comments:

Post a Comment