Tuesday, September 5, 2017

अनुभवहीन सरकार के चलते प्रदेश तीन बार बर्बादी की कगार पर पहुंचा - अभय सिंह चौटाला 


सिरसा : हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष व ऐलनाबाद के विधायक चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि 25 सितंबर को चौधरी देवीलाल जयंती इस बार जिला भिवानी में पूरी श्रद्धा के साथ मनाई जाएगी जिसमें विभिन्न प्रदेशों से उनकी विचारधारा को आत्मसात करने वाले लाखों लोग कार्यक्रम में शरीक होकर उन्हें अपने श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे। वे सोमवार को डबवाली रोड स्थित अपने आवास पर मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भिवानी में चौधरी देवीलाल जयंती का कार्यक्रम आयोजित करने के लिए 100 एकड़ का स्थान चयनित किया गया है मगर 18 जिलों में जनसंपर्क करने के बाद जिस प्रकार का उत्साह लोगों में पाया जा रहा है, उससे संभावित है कि 100 एकड़ का स्थल भी कम पड़ेगा। उन्होंने कहा कि लोगों के कार्यक्रम में अधिक से अधिक शरीक होने की संभावनाओं के चलते मुख्य कार्यक्रम स्थल के समीप किसानों के खेतों को ठेके पर लेना पड़ेगा। इनेलो नेता ने कहा कि आज प्रदेश की भाजपा सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है।


अभय चौटाला ने कहा कि आज से करीब तीन साल पहले जब भाजपा सत्तासीन हुई थी तब उन्होंने कहा था कि आज जिन लोगों के हाथों सत्ता आई है, वे अनुभवहीन हैं और उनकी यह बात पूरी तरह से सत्य साबित हुई है कि इसी अनुभवनहीनता के चलते इस सरकार ने तीन बार बर्बादी के कगार पर धकेला है। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा ने सत्ता संभालते ही प्रदेश में कानून व्यवस्था और भ्रष्टाचार पर पूरी तरह से अंकुश लगाएंगे मगर सरकार इस मामले में पूरी तरह से विफल रही है। शासन की विफलता का प्रमाण इसी बात से लगाया जा सकता है कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मुहिम चलाने वाली हरियाणा सरकार केंद्रीय ब्यूरो की रिपोर्ट में बलात्कार के मामले में पूरे देश में अग्रणी है। उन्होंने कहा कि हरियाणा को अपनी अनुभवहीनता के बल पर बदनामी दिलाने वाले मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर को अपनी नैतिकता के आधार पर जिम्मेदारी लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार की प्रत्येक मोर्चे पर विफलता के चलते प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि विकास का दम भरने वाली भाजपा के शासन में स्थिति ये है कि ग्राम विकास के लिए राज्य सरकार की ओर से एक रुपए की ग्रांट भी नहीं दी जा रही। भ्रष्टाचार के मुद्दे पर सरकार को घेरते हुए उन्होंने कहा कि बनी हुई गलियों को उखाड़ कर फिर बनाया जा रहा है। एक ईंट का भाव आज सवा पांच रुपए है मगर सरकार उसे 11 रुपए में खरीद रही है वहीं बैंच का मूल्य 1900 से 2200 रुपए तक है मगर यह सरकार बैंच 4900 से 5300 रुपए तक में खरीद रही है जो सीधे तौर पर भ्रष्टाचार की दिशा में सूचक है। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार से लोगों का मोहभंग हो चुका है और कांग्रेस के लोग अपनी जमीन तलाश रहे हैं। ऐसे में स्पष्ट है कि प्रदेश में अगली सरकार इनेलो की है और इसमें किसी प्रकार की कोई रूकावट नहीं है। इनेलो नेता ने कहा केंद्र सरकार ने राज्य को एसवाईएल मामले पर 7 सितंबर तक निर्णय देने का आश्वासन दिया है। यदि केंद्र का निर्णय हरियाणा के पक्ष में सकारात्मक तरीके से नहीं आया तो 25 सितंबर को इनेलो एक बार फिर एसवाईएल मुद्दे पर बड़े आंदोलन की घोषणा करेगी। यह आंदोलन इस बार इतना बड़ा होगा कि सरकार के संभालने पर भी नहीं संभलेगा और इसकी सारी जिम्मेदारी सरकार की होगी। उन्होंने कहा कि अच्छे कार्यों के लिए कुर्बानी देने से इनेलो कभी पीछे नहीं हटी और इसके लिए फिर तैयार होगी। 


इससे पूर्व उन्होंने जिलेभर से आए कार्यकर्ताओं की सम्मान दिवस रैली को लेकर बैठक भी ली और उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिए। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भिवानी में 25 सितंबर को होने वाले कार्यक्रम में सिरसा के प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से 5 हजार से अधिक लोगों की संख्या शामिल होगी। इसके लिए उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों की ड्यूटी भी लगाई। उन्होंने कहा कि भिवानी की सम्मान दिवस रैली पिछली सभी रैलियों का रिकॉर्ड भंग करेगी क्योंकि वर्तमान भाजपा सरकार से प्रदेशवासियों का मोहभंग हो चुका है। कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार हरियाणा के लिए अशुभ और यह सरकार स्वयं अपने भार से गिर जाएगी। आने वाली सरकार चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में प्रदेश के लोगों की सेवा करेगी। सभा का मंच संचालन उपाध्यक्ष जसवीर सिंह जस्सा ने किया।
इस अवसर पर इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, जसवीर सिंह जस्सा, विधायक मक्खन सिंगला, रामचंद्र कंबोज, पूर्व विधायक भागीराम, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, पूर्व विधायक डॉ. सीताराम, कृष्ण गुंबर, तरसेम मिढा, धर्मवीर नैन, महावीर शर्मा, प्रदीप मेहता, कृष्णा फौगाट, डॉ. राधेश्याम शर्मा, कश्मीर सिंह करीवाला, सर्वजीत मसीतां, भरपूर सिंह गदराना, अजब सिंह ओला, योगेश शर्मा, विनोद दड़बी, अजय झोरड़, दिनेश बेनीवाल, महेंद्र बाना, हरपाल ढूकड़ा, कृष्ण झोरड़, रमेश मेहता एडवोकेट, जरनैल सिंह चंदी, रमेश मेहता आढती, हरपाल कासनिया, हरिराम ओढ, चाननराम, रामकुमार नैन, सुभाष नैन, अनिल कासनिया, विनोद गोदारा, सदानंद बेनीवाल, आत्म रोहिल्ला, भगवान कोटली, आत्मप्रकाश रोहिल्ला, सरपंच आत्माराम, प्रह्लाद सोनी, मुकेश रोहिल्ला, सुरेश दड़बा, वेद वधवा, मोहित शर्मा, राजन बावा, योगेश मोदी सहित अनेक पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे। 

No comments:

Post a Comment