Friday, September 8, 2017

जनसमस्याओं के नाम से भी भागने लगे हैं सीएम खट्टर - बलवान दौलतपुरिया



फतेहाबाद : प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को इनेलो ने फतेहाबाद में 10 सितंबर को प्रस्तावित विमुक्ति दिवस कार्यक्रम से पूर्व घेरने की तैयारी कर ली है। इस कड़ी में इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने विधानसभा के अनेक मुद्दों को सीएम के समक्ष रख उन्हे हल करने बारे पत्र लिखकर मिलने का समय मांगा, मगर सीएम ने उन्हें फतेहाबाद में मिलने से स्पष्ट इन्कार कर दिया। सीएम के इस इन्कार के बाद से इनेलो विधायक ने भाजपा सरकार पर आरोपों की झड़ी लगाते हुए उसे जनसमस्याओं से पल्ला झाडऩे वाली जनविरोधी सरकार की संज्ञा दे दी है।
अनाज मंडी स्थित अपने कार्यालय में इनेलो विधायक ने मीडिया कर्मियों से रूबरू होते हुए बताया कि बीती 4 सितंबर को उन्होंने जिला उपायुक्त को सौंपे एक पत्र के माध्यम से दस सितंबर को फतेहाबाद में सीएम से मिलने का समय मांगा था। इस पत्र में उन्होंने स्पष्ट किया था कि वे सीएम मनोहर लाल खट्टर से मिल क्षेत्र के गंभीर मुद्दों को उनके समक्ष रख, उनके समाधान पर सहयोगात्मक चर्चा करना चाहते हैं। इसके अलावा उनके साथ क्षेत्र के व्यापारियों, किसानों व कुछ गणमान्य लोगों का प्रतिनिधिमंडल भी सीएम से मुलाकात करेगा। दौलतपुरिया ने बताया कि उनके इस पत्र के जवाब में गत दिवस उन्हें सीएम ऑफिस से सूचित किया गया कि मुख्यमंत्री फतेहाबाद आगमन के दौरान उनसे मुलाकात नहीं करेंगे। बलवान दौलतपुरिया ने सीएम पर तीखे प्रहार करते हुए कहा कि जो मुख्यमंत्री किसी विधानसभा क्षेत्र के जनप्रतिनिधि को जनहित मुद्दों बाबत मिलने का समय नहीं दे सकता, आमजनता उनसे फिर अपना दुखड़ा रख उनके निदान की उम्मीद करे भी क्या। उन्होंने कहा कि हरियाणा में जननायक स्व. ताऊ देवीलाल और पूर्व मुख्यमंत्री औमप्रकाश चौटाला ने अपने सत्ताकाल में सरकार आपके द्वार जैसे कार्यक्रम चलाकर लोगों के घर-द्वार पहुंच उनकी समस्याओं का निदान किया था, जिसे प्रदेश की जनता आज भी याद करती है। इसके विपरित वर्तमान भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर हरियाणा के ऐसे पहले सीएम बन गए हैं, जो जनसमस्याओं का नाम सुनते ही अपना कार्यक्रम तक बीच में छोड़ भाग निकलते हैं। इसका प्रत्यक्ष उदाहरण जनता हाल ही में रेवाड़़ी में और उससे पूर्व फतेहाबाद में भी देख चुकी है, जब सीएम ने जनता को एक जगह से दूसरी जगह दौड़ा-दौड़ा कर हांफने को मजबूर कर दिया था। उन्होंने स्पष्ट किया कि हालांकि सीएम ने उन्हें मिलने का समय नहीं दिया है, बावजूद इसके वे सीएम आगमन के समय जनसमस्याओं को लेकर सीएम से फतेहाबाद में मिलने उनके कार्यक्रम स्थल पर जरूर जाएंगे, अब यह सीएम ने सोचना है कि वे जनहित मुद्दों को सुनने के लिए एक जनप्रतिनिधि का सम्मान करते हैं या राजनीतिक द्वेष भावना का परिचय देकर एक बार फिर इस मुद्दे से किनारा करेंगे। इस अवसर पर उनके साथ शहरी प्रधान पवन चुघ, हरपाल बैनीवाल आदि उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment