Friday, September 1, 2017


प्रदेश में फैली अशांति की वजह से लोग पलायन को मजबूर - अभय चौटाला 


गुड़गांव,1 सितम्बर : भाजपा की करनी व कथनी में दिनरात का अन्तर है। आज प्रदेश में कोई भी व्यक्ति सुरक्षित नहीं है। हरियाणा में फैली अशांति व्  हिंसा के कारण लोग पलायन करने पर मजबूर।हरियाणा सरकार को जल्द से जल्द बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग की। उक्त शब्द इंडियन नैशनल लोकदल के वरिष्ठ नेता एंव विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने आज गुड़गांव में आयोजित जिला स्तरीय मीटिंग को सम्बोधित करते हुए कहे। उन्होंने कहा कि जन नायक चौ0 देवीलाल जी के 104 वें जन्मदिवस जल संघर्ष सम्मान दिवस के रूप में मनायेंगी इनेलो। आगामी 25 सितम्बर को इनेलो द्वारा भिवानी में आयोजित सदभावना सम्मान दिवस रैली अपनी ही रैलीयों का रिकॉर्ड तोड़ेगी।रैली में लाखों की संख्यां में हिस्सा लेकर अपनी श्रद्धा प्रकट करेंगे चौ0 देवीलाल जी के अनुयायी। गुड़गांव से भी हजारों कार्यकर्ता होंगे सम्मिलित। देश व प्रदेश में आज भाजपा के नेता केवल अखबार व टीवी में अपनी फोटो छपवाने का काम करते हैैं।नेता प्रतिपक्ष ने कहा की गुडगाँव नगर निगम चुनाव की तारीख को लेकर विरोध जताया है।भाजपा ने इनेलो की व्यवस्ता को देखकर ही चुनाव की तारीख तय की है।उन्होंने कड़े शब्दों में भाजपा की निंदा करते हुए कहा की भाजपा को मालूम है की इनेलो दवारा 25 सितम्बर को जन नायक चौ0 देवीलाल जी का जन्मदिन को सम्मान दिवस के नाम से मनाया जाता है।इसलिए यह स्पष्ट दिखाई दे रहा है की नगर निगम की तारीख तय करने में सरकार द्वारा राजनीती की जा रही है।राज्य में घटी अभी हाल की हिंसा को देखते हुए बढे पैमाने में भाजपा सरकार की देश व् विदेश में हुई आलोचना को देखते हुए सरकार ने जान बूझकर ऐसी तारीख तय की गई जिससे मुख्य विपक्षी दल इनेलो के कार्यकर्ता अन्य किसी कार्य में व्यस्त रहे।


श्री चौटाला ने कहा की स्व. देवीलाल ने शासन में रहते हुए गरीब एवं किसान के हितों को सर्वोपरि रखकर नीतियां बनाई। उन्होंने कहा कि जननायक चौ0 देवीलाल जी ने हरियाणा रूपी पौधे को अपने खून पसीने सींचा था। इस पौधे का एक एक पत्ता गवाह है कि चौ0 देवीलाल जी ने 36 बिरादरियों में कभी भेदभाव नहीं किया वो सभी को अपना मानकर साथ लेकर चले। वे हरियाणा को प्रदेश नहीं अपितु अपना परिवार मानते थे। हरियाणा में हरित क्रान्ति लाकर किसानों के जीवन स्तर को उठाने के लिए अपनी पूरी जींदगी कुर्बान कर दी थी। उनका एक ही नारा था हर खेत को पानी, हर हाथ को काम, हर तन पर कपड़ा, हर सिर पर मकान, हर पेट में रोटी बाकि सभी बात खोटी।नेता प्रतिपक्ष ने कहा अनेक मुददों के सहारे सत्ता में आयी भाजपा ने हरियाणा प्रदेश की जनता के साथ अनेक वायदे किये थे परन्तु आज लगभग 3 साल बीत जाने के बाद भी चुनावी घोषणा पत्र की किसी भी घोषणा को पूरा नहीं किया।  आज प्रदेश में अराजकता का माहौल विद्यमान है।भाजपा व कांग्रेस दोनों की एक ही नीति है कि सत्ता में आने पर हरियाणा को दोनो हाथों से लूटने का काम करती है व प्रदेश की जनता को तबहा व बर्बाद करने का काम करते है इनमें एक नागनाथ व एक सांपनाथ है। पूर्व  डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत ने ताऊ देवीलाल को याद करते हुए कहा कि आज हम उनके दिखाये गये रास्ते पर चलकर जनता जनार्दन की सेवा को समर्पित है। देश सेवा को अपना पूरा जीवन समर्पित करने वाले बलिदानी, संघर्षशील, जुझारू व त्यागी की मूर्ति चौ. देवीलाल जैसे महापुरूष सदियों बाद विरले ही पैदा होते है। अनको नामों से विभूषित चौ. देवीलाल इस देश के ऐसे महान सपूत हुए हैं जिनको भारतीय समाज ने जननायक महानायक लोकनायक किसान व कमेरे का मसीहा, धरतीपुत्र, हरियाणा केसरी, हरियाणा निर्माता, किंगमेकर, भीष्मपितामह, युगपुरूष, लोहपुरूष व जगत ताऊ आदि अलंकारो से विभूषित किया।


उन्होंने भाजपा सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा की गुडगाँव में आज किसी प्रकार भी कानून प्रणाली नहीं है।लूटपाट, चोरी, बलात्कार, डकैती व हत्यांऐ आज आम बात हो गई है। इससे इनका दोगला चेहरा उजागर होता है।  इस अवसर पर इनेलो नेता व पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचन्द गहलोत, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनंतराम तंवर, जिला अध्यक्ष किशोर यादव,पूर्व विधायक गंगाराम,रमेश दहिया, शैलेश खटाणा, शमशेर कटारिया, महेश चौहान,अटलबीर कटारिया,रामनिवास मंगला,दलबीर धनखड़,कपिल त्यागी, शशी धारीवाल,नरेश सेहरावत,बलवान सिंह ठाकरण,बेगराज एडवोकेट,योगेश शर्मा,धर्मबीर भागोरिया,ओमप्रकाश हंस, सुरेन्द्र तंवर, भूपेन्द्र सुखराली, निहाल सिंह धारीवाल,राव मानसिंह,सतबीर तंवर,श्रवण धनखड़,शयाम सूंदर बजाज,विजय डागर,सतीश राघव,एस ज्योत्रिवाल,हरीश मालिक,अत्तार सिंह रुहिल,तेजू राव,प्रदीप डागर,अशोक सरपंच,राजबीर बालियावास,ब्रह्म डागर,प्रताप कदम,सुरेंदर ठाकरान,जगमोहन ठाकरान,मोहन वर्मा,सतबीर तंवर एडवोकेट,कृष्ण प्रधान,मनोज तंवर,शमशेर डागर,रविंदर काले,पर्वत सिंह ठाकरान,राकेश गर्ग,मेहरचंद दायमा,हरिचंद सरपंच,दीपक गौड़, राजेश डागर,गौरव छौक्कर,लोकेश दहिया,बिट्टू चौहान,देवा प्रधान,सतपाल गाडौली,कर्मबीर सरपंच,काशी राम सरपंच,दिशान प्रजापति,अनीश त्यागी,चेतन मल्होत्रा प्रदीप जाखड़, जितेन्द्र पंवार, पवन धनकोट,विक्रम कटारिया,विकास किराड़ सहित मुख्य कार्यकर्ता एंव पदाधिकारी उपस्थित थे। 

No comments:

Post a Comment