Thursday, August 10, 2017

अमित शाह के हरियाणा दौरे के बाद बीजेपी नेता हुए बेलगाम - गंगवा
-दलित के घर भोजन करने को बताया ढकोसला
-एसवाईएल के लिए इनेलो आर पार की लड़ाई को तैयार
-नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला करेंगे नलवा व हांसी हलके का दौरा


हिसार : बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के हरियाणा के तीन दिन के दौरे के बाद पूरे प्रदेश में बीजेपी नेता बेलगाम हो चुके है। चंडीगढ़ के साथ हिसार, फतेहाबाद व फरीदाबाद में बीजेपी कार्यकर्ताओ के द्वारा  सरेआम की गई  गुंडागर्दी इसका उदाहरण है। नलवा से  इनेलो विधायक रणवीर गंगवा ने चंडीगढ़ घटना की कड़ी निंदा करते हुए सुभाष बराला से बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के पद से नैतिकता के नाते इस्तीफे की मांग की है। वे लोक निर्माण विश्राम गृह में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पुलिस के द्वारा शुरुआती जांच  में गैर जमानती धाराओं को हटाना कंही न कहीं इसमे बराला के प्रभाव को नजरअंदाज नही किया जा सकता। सत्ताधारी अध्यक्ष का पुत्र अगर अपराधी हो तो जांच का प्रभावित होने की संभावना भी रहती है। इसलिए या तो सुभाष बराला को स्वयं अपने पद से इस्तीफा देना चाहिये अन्यथा बीजेपी को उन्हें पद से हटा देना चाहिये। इनेलो विधायक ने कहा कि एस वाई एल को लेकर इनेलो आर पार की लड़ाई लडऩे को तैयार है क्यों कि पिछले 9 महीनों से उच्चतम न्यायालय का फैसला प्रदेश के हक में आने के बाद भी बी जे पी की केंद्र सरकार की चुपी सीधी सीधी इनकी नियत पर सवालिया निशान लगा रही है। इनेलो नेता अभय चौटाला ने पूरे प्रदेश में इसे लेकर जनजागरण अभियान छेडा हुआ है। इसी संदर्भ में शुक्रवार को नेता प्रतिपक्ष नलवा हलके के गांव शाहपुर में सुबह 10 बजे, गोरछी 11 बजे व ढाया में 12 बजे उसके बाद हांसी हलके के गांवों का दौरा करते हुए लोगो को संबोधित करेंगे। गंगवा ने अमित शाह पर  ओबीसी आरक्षण के नाम पर जनता को भर्मित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी आरक्षण के नाम पर लोगो को बरगला रही है। वास्तव में ओबीसी तो दूर इनका समाज के किसी वर्ग के हित से कोई लेना देना नही है। उन्होंने कहा कि ओबीसी समाज को अगर किसी ने राजनैतिक आरक्षण दिया है तो इनेलो ने दिया है जिसका उदाहरण राज्यसभा के लिए दो सांसदों को भेजा जाना है। इसी प्रकार विधानसभा की टिकटों में इनका पूरा ख्याल रखा है।
रोहतक में दलित के घर अमित शाह के खाने को भी राजनैतिक ढकोसला करार देते हुए विधायक गंगवा ने कहा कि बीजेपी समाज मे जाति पाति के नाम पर समाज को बांटने में लगी है तभी उन्होंने दलित के घर भोजन का नाम लिया अन्यथा वे कहते कि एक गरीब के घर साधारण भोजन किया जाएगा।
शहर के मौजूदा हालातो पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि आज शहर में कानून व्यवस्था का तो दिवालिया निकला ही हुआ है उसके साथ साथ सड़को के गड्ढे दिनोदिन बढ़ते जा रहे है। सेक्टरों की सड़कों की हालत तो बहुत ही खराब है पर सत्ता में बैठे जनप्रतिनिधियों का ध्यान केवल सत्ता सुख भोगने में है। इस मौके पर इनेलो के राष्ट्र्रीय सचिव चतर सिंह , पूर्व चेयरमैन सतवीर वर्मा, हलका अध्यक्ष सतपाल सरपंच, मास्टर तारा चन्द, जिला प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, रमेश चुघ, सुभाष कुंडू भी उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment