Sunday, May 14, 2017

एसवाईएल निर्माण के लिए प्रदेशवासी सघंर्ष को तैयार रहें - अभय चौटाला


महम, 14 मई: इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने प्रदेशवासियों से कहा कि वे एसवाईएल पर संघर्ष को तैयार रहें क्योंकि कांग्रेस व भाजपा दोनों दल नहीं चाहते कि एसवाईएल के माध्यम से हरियाणा को अपने हिस्से का पानी मिले। नेता प्रतिपक्ष ने रविवार को रोहतक जिले के मेहम हल्के के अनेक गांवों में सभाओं को संबोधित करते हुए कांग्रेस व भाजपा पर एसवाईएल के निर्माण में अड़चनें डालने का आरोप लगाते हुए दोनों राष्ट्रीय दलों की तीखी आलोचना की। मेहम हलके के गांव बहु अकबरपुर, मोखरा, बलंभा, फरमाणा, निनाणा व खरकड़ा सहित अनेक गांवों में जलयुद्ध के नायक का जोरदार स्वागत किया गया और उन्हें सम्मान सूचक पगड़ी पहनाकर एसवाईएल के निर्माण में हर तरह का सहयोग और समर्थन देने का भरोसा दिलाया। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि 9 जुलाई तक नहर का निर्माण शुरू न हुआ तो 10 जुलाई को हरियाणा में प्रवेश करने वाले पंजाब के वाहनों को इनेलो कार्यकत्र्ता अंबाला जिले में रोक कर अपना विरोध जताऐंगे।


नेता प्रतिपक्ष ने कांग्रेस-भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि एक तरफ प्रदेश के कांगे्रसी नेता हरियाणा को एक बूंद भी पानी न देने की बात कहने वाले कैप्टन अमरेंदर सिंह के शपथग्रहण में जाकर रसगुल्ले खाकर आते हैं और उनसे मिलकर नहर निर्माण में रूकावटें खड़ी कर रहे हैं दूसरी तरफ केंद्रीय गृहमंत्री का एसवाईएल पर बातचीत से हल निकालने का सुझाव यह दर्शाता है कि भाजपा सरकार सर्वोच्च न्यायलय का फैसला लागू करने की बजाय मामले को लटकाने के प्रयास में है। इस अवसर पर इनेलो के जिलाध्यक्ष सतीष नांदल, वेद प्रकाश भरैन, महंत सतीष दास, सत्य प्रकाश बिसला, हरध्यान ठेकेदार, संजय बल्हारा, अजय मलिक, सतीष राठी, रामदिया राठी, सरोज, उमेश देवी, मूर्ति देवी, राजो राठी, धर्मवीर, सुरेश मलिक, सरोज चौधरी सहित पार्टी के अनेक प्रमुख नेता व कार्यकत्र्ता भी मौजूद थे। इन सभाओं में रोड़वेज के पूर्व जीएम कुलदीप अहलावत सहित अनेक प्रमुख लोगों ने इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। नेता प्रतिपक्ष ने उन्हें पार्टी में पूरा मान-सम्मान दिए जाने का भरोसा दिलाया।


नेता प्रतिपक्ष ने इन सभाओं में सरकार पर कोई भी चुनावी वायदा पूरा न करने और वायदों के विपरीत काम करने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार हर मोर्चे पर पूरी तरह विफल हो गई है और महज लोगों को बहकाने के लिए कोरी बयानबाजी कर रही है। नेता प्रतिपक्ष ने एसवाईएल के मामले में प्रदेश के हितों की अनदेखी करने का कांग्रेस व भाजपा पर आरोप भी लगाया। नेता प्रतिपक्ष ने सरकार की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि आज सरकार लोगों को बिजली-पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं भी उपलब्ध करवाने में पूरी तरह से नाकाम रही है और निरंतर बिजली कटौती से जहां लोगों को भीषण गर्मी में भारी परेशानी उठानी पड़ रही है वहीं पीने के पानी की भी दिक्कत हो गई है और गर्मी में जोहड़ों में पानी न होने की वजह से पशुधन के लिए भी गम्भीर संकट पैदा हो गया है। इनेलो नेता ने पार्टी की ओर से एसवाईएल के निर्माण को पूरा करवाने और प्रदेश में बिजली-पानी संकट के खिलाफ शुरू किए गए विधानसभा क्षेत्र स्तर पर धरनों में लोगों से बढ़-चढक़र भाग लेने का आह्वान करते हुए कहा कि इनेलो प्रदेश के हितों के लिए न सिर्फ बड़ी से बड़ी कुर्बानी देने के लिए तैयार है बल्कि संघर्ष के मामले में भी पीछे नहीं हटेगी। इनेलो नेता ने सरकार से उत्तरप्रदेश की तर्ज पर हरियाणा के किसानों के सभी कर्जे तुरंत माफ किए जाने की भी मांग की।


इनेलो नेता ने कहा कि पिछले चुनाव के समय भाजपा ने किसानों को उनकी फसलों के लाभकारी मूल्य देने और स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट अनुसार किसानों को उनकी लागत के साथ 50 फीसदी मुनाफा देने का वायदा किया था। उन्होंने कहा कि भाजपा ने कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतनमान व भत्ते देने, बुजुर्गों को दो हजार रुपए महीना पेंशन देने, बेरोजगार युवकों को छह हजार व नौ हजार रुपए प्रति माह बेरोजगारी भत्ता देने, तदर्थ कर्मचारियों व गेस्ट टीचरों को पक्का करने और लोगों को सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने के साथ-साथ कानून व्यवस्था की स्थिति में सुधार करने और लोगों की जानमाल की रक्षा करने का वायदा किया था। लेकिन भाजपा ने अपना कोई भी चुनावी वायदा पूरा करने की बजाय वायदों के पूरी तरह विपरीत काम किया और किसानों को उनकी फसलों के लाभकारी मूल्य देने और स्वामीनाथन की रिपोर्ट लागू करने की बजाय आज किसानों को सरसों, बाजरा व चावल की फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी नहीं दिया गया।

No comments:

Post a Comment