Tuesday, May 9, 2017

कर्मचारी प्रकोष्ठ की हुई बैठक, सदस्यता अभियान पर दिया जोर

रोहतक : प्रदेश इनेलो के कर्मचारी प्रकोष्ठ कार्यकारिणी की एक बैठक आज जिला रोहतक के पार्टी कार्यालय में हुई। मीटिंग में मुख्यातिथि के रूप में कर्मचारी प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक धारा सिंह मौजूद थे। बैठक की अध्यक्षता कर्मचारी प्रकोष्ठ रोहतक इकाई के जिला संयोजक रामचन्द्र राठी ने की जबकि विशिष्ट अतिथि इनेलो के प्रदेश प्रवक्ता और रोहतक के जिला अध्यक्ष सतीश नांदल व प्रदेश कर्मचारी प्रकोष्ठ के प्रधान महासचिव करतार सिंह पंघाल थे।
प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित करते हुए धारा सिंह ने कहा कि प्रदेश की वर्तमान बीजेपी सरकार आज हरियाणा सरकार के कर्मचारियों के साथ सौतेला बर्ताव कर रही है। कर्मचारी वर्ग आज पूरी तरह त्रस्त है। अपनी जायज मांगो के लिए भी कर्मचारी वर्ग को संघर्ष करना पड़ रहा है। धारा सिंह ने प्रदेश कार्यकारिणी को संबोधित करते हुए कहा कि आने वाला समय इनेलो का है और आगामी विधानसभा चुनाव में इनेलो पार्टी पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी। जिसके बाद ही प्रदेश के कर्मचारी वर्ग को चैन नसीब होगा। उन्होंने पार्टी में नए सदस्यों को जोड़े जाने के लिए पार्टी द्वारा चलाए जा रहे सदस्यता अभियान को लेकर कहा कि इनेलो पार्टी प्रदेश में सबसे बड़ा राजनीतिक दल है। जिसके साधारण से कार्यकर्ता को पार्टी सुप्रीमो पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी ओमप्रकाश चौटाला सबसे ज्यादा तवज्जो देते हैं। उन्होंने कार्यकारिणी से आह्वान करते हुए कहा कि प्रत्येक कार्यकर्ता बूथ स्तर पर जाये और अच्छे व सामाजिक नागरिकों को पार्टी से जोड़ने का काम करें।
प्रदेश प्रवक्ता व जिलाध्यक्ष सतीश नांदल ने कर्मचारी प्रकोष्ठ की कार्यकारिणी को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हो रही रही है। स्थाई नौकरी देने की बजाय सरकारी विभागों में आउटसोर्सिंग पोलिसी द्वारा अस्थाई तौर पर लगाया जा रहा है। प्रदेश सरकार रोजगार देने में अभी तक कामयाब नही हुई है। प्रत्येक सरकारी विभाग के कर्मचारी सरकार की कार्यप्रणाली से असंतुष्ट हैं।
इस अवसर पर सतीश नांदल, करतार सिंह पंघाल, बलजीत राठी, सुन्दर सिंह, करतार मलिक, महावीर कुंडू, राजपाल मलिक, प्रेम सिंह, महावीर हुड्डा, राजसिंह श्योराण, फूलकंवार, जगमिंद्र सांगवान व जोगेंद्र ढांडा सहित राज्य कार्यकारिणी के सभी जिला संयोजक व प्रदेश कार्यकारिणी के सभी सदस्य मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment