Thursday, April 6, 2017


चौ देवीलाल जी की पुण्यतिथि पर सर्व धर्म प्रार्थना व् सद्भावना सभा का आयोजन किया गया 


हिसार : कमेरे व मेहनतकश लोगों के दिलों में आज भी जननायक चौ0 देवीलाल की याद जिंदा है। इसका मुख्य कारण उनके द्वारा समाज के इन वर्गो के लिए जीवनपर्यंत भलाई के कार्य किया जाना है। यह बात इनेलो जिला अध्यक्ष राजेन्द्र लितानी ने कही। वे वीरवार को ताऊ देवीलाल टाउन पार्क में पूर्व उप प्रधानमंत्री स्व0 चौ देवीलाल की 16 वीं पुण्यतिथि पर आयोजित सर्व धर्म प्रार्थना व सद्भावना सभा को सम्बोधित कर रहे थे। इससे पूर्व इनेलो पदाधिकारियों ने जननायक चौ0 देवीलाल की प्रतिमा पर पुष्पर्पित करके श्रदांजली देते हुए उनके कदमों पर चलने का संकल्प लिया। सर्वधर्म प्रार्थना सभा में हिन्दू धर्माचार्य पंडित देवकी नन्दन शाश्त्री, इस्लाम धर्म के मौलवी आफिज जमशेद, सिख धर्म ग्रन्थी बाबा सतनाम सिंह   व इसाई धर्माचार्य पादरी ए पी मान ने अपने अपने विचार रखे। इस मौके पर उपस्थित कार्यकर्ताओ को सम्बोधित करते हुए इनेलो जिला अध्यक्ष लितानी ने कहा कि पूर्व उप प्रधानमंत्री चौश देवीलाल 15 वर्ष की छोटी सी उम्र में ही अपना जीवन देश के नाम समर्पित करने का फैसला ले लिया था तथा पूरे जीवन उन्होंने समाज के कमेरे वर्ग के उत्थान के लिए संघर्ष किया। जब उन्हें महसूस हुआ कि सयुंक्त पंजाब में जब हिंदी भाषी क्षेत्र के साथ अन्याय हो रहा है तो उन्होंने अलग प्रदेश की मांग की। अलग प्रदेश की मांग करने पर उन पर  उनके विरोधियो ने आरोप लगाया कि देवीलाल तो अलग प्रदेश बनाकर मुख्यमंत्री बनना चाहते है तो उन्होंने हरियाणा प्रदेश बनाये जाने के बाद पहला विधानसभा चुनाव नहीं लडऩे की बात कहकर अपने विरोधियों की बोलती बंद कर दी। यही नहीं उन्होंने अपनी जुबान पर कायम रहते हुए पहला विधानसभा चुनाव ही नहीं लड़ा। इसी प्रकार जब 1989 में जनता दल की सरकार बनते समय उन्हें प्रधानमंत्री बनाने की बात आई तो अपने वायदे के मुताबिक उन्होंने प्रधानमंत्री का ताज वीपी सिंह के सिर पर रख दिया। त्याग का ऐसा उदाहरण विश्व में दूसरा कहीं नहीं मिलेगा। इनेलो जिलाध्यक्ष लितानी ने कहा कि जब चौ  देवीलाल इस प्रदेश के मुख्यमंत्री बने तो बिना किसी जातिगत भेदभाव के सभी वर्गो के लिए जनहितैषी योजनाये बनाई जिससे समाज के उन वर्गो का काफी फायदा हुआ। देश में पहली बार उन्होंने गरीब आदमी का कर्ज माफ़ किया और बुढ़ापा पेंशन लागु की जिसे बाद में और प्रदेशो में भी लागू ली गयी। यही नहीं उन्होंने अपने शासनकाल में किसानों को  अनेक मुलभुत सुविधाएं देकर उन्हें सक्षम बनाने की तरफ कदम बढ़ाया।  आज के मौजूदा माहोल में उनकी नीतियों पर चलने की सबसे ज्यादा जरूरत है। समाज में सद्भावना बनाये रखने के लिए उन्होंने समाज की सभी जातियों को राजनीति में प्रतिनिधित्व दिया। इस अवसर पर इनेलो विधायक रणवीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, पूर्व विधायक पूर्ण डाबड़ा, शीला भ्यान, चत्तर सिंह,  हलका अध्यक्ष सजन लावट,  सतबीर सिसाय, सतपाल सरपंच, सत्यवान, हरफूल खान भाटी, बहादुर सिंह नायक,  सतबीर वर्मा, राजमल काजल, एड्वोकेट मनदीप बिश्नोई, अमित बुरा, मुकेश सेठी, सरदार गुरदीप चड्डा,  संदीप शास्त्री, मास्टर गुलाब सिंह, हनुमान भादू, डॉ राज कुमार दिनोदिया, कृष्ण गोदारा, कर्ण सिंह दैपल,  रमेश चुघ, सतबीर मुंगेरिया,  अशोक गांधी, एडवोकेट हरी सिंह बूरा, मोहित अरोड़ा, सतपाल पान्नू, किताब सिंह,  राजबीर खान, कृष्णा खर्ब, संजय गुप्ता, राज कुमार रांगी सहित बहुत से कार्यकर्ता उपस्थित थे

No comments:

Post a Comment