Friday, April 21, 2017

बत्ती छोडऩे से नहीं, अनाप-शनाप सुविधाएं छोडऩे से खत्म होगा वीआईपी कल्चर - बलवान दौलतपुरिया


फतेहाबाद : इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने अपने अनाज मंडी स्थित प्रतिष्ठान पर पहुंचते ही शुक्रवार सुबह निजी वाहन पर लगी बत्ती हटा दी। इसके बाद कार्यालय में पहुंचे समर्थकों से बातचीत करते हुए उन्होंने भाजपा सरकार के मंंत्रियों के साथ-साथ मुख्यमंत्री पर कटाक्ष किया कि इस तरह लाल बत्ती हटा कर वीआईपी कल्चर खत्म करने का स्वांग रचने की बजाय वे अगर सही मायनों में एक स्वच्छ व आमजन की राजनीति करना चाहते हैं तो सबसे पहले सुरक्षा कर्मियों, एस्कोर्ट, सरकारी बंगलों जैसी उन तमाम सुख-सुविधाओं को छोडऩे का साहस भी दिखाएं, जो करोड़ों रुपये के सरकारी खजाने को बर्बाद करने का काम कर रहे हैं। 
इनेलो विधायक ने कहा कि जिस तरीके की होड़ भाजपा मुख्यमंत्री, प्रदेशाध्यक्ष व मंत्रियों ने लाल बत्ती हटाने में दिखाई, यदि वह ऐसी ही उत्सुकता मंडियों में किसानों की समस्याओं का निदान करने, बुजूर्गों की पेंशन बढ़ाने, बेरोजगारों को रोजगार देने जैसे जनहितैषी कार्यों में दिखाएं तो सही मायनों में उसे ही वीआईपी कल्चर खत्म होने की शुरूआत माना जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार नियमों को ताक पर रखकर केवल मात्र अपने चहेते विधायकों पर सीपीएस पद के रूप में सरकारी खजाना लुटाने का काम कर रही है। वीआईपी कल्चर खत्म करने के लिए मुख्यमंत्री को अपनी सरकार में नियुक्त किए गए सभी सीपीएस को प्रदान की गई मंत्रियों के स्तर की सुविधाएं वापस लेनी चाहिए। दौलतपुरिया ने कहा कि भाजपा सरकार जनता को रिझाने के लिए केवल मात्र दिखावों की सरकार बनकर रह गई है। उन्होंने स्पष्ट किया कि विधायक चाहे किसी भी पार्टी का हो उसे बत्ती का प्रयोग करने देना चाहिए, क्योंकि उसके पास बत्ती के अलावा अन्य किसी तरह के गार्ड या सरकारी तंत्र का दुरुपयोग करने वाले संसाधन नहीं होते। उन्होंने कहा कि इनेलो जनता के बीच रहकर उनके अधिकारों के लिए संघर्ष करने वाली पार्टी है। इनेलो सत्ताकाल में स्वयं मुख्यमंत्री औमप्रकाश चौटाला जनता के बीच उनका नुमाईंदा बनकर उनकी समस्याएं खुला दरबार लगाकर सुनते थे। आज भी जनता इनेलो के उस कार्यकाल की मिसाल देती है। इसके विपरित भाजपा ने अपने अब तक के कार्यकाल में सिवाय वीआईपी कल्चर खत्म करने या अन्य लोक लुभावने अभियान चलाने के कोई ठोस कदम जनहित में नहीं उठाया। इस अवसर पर पार्टी के कई प्रमुख पदाधिकारी व कार्यकत्र्ता उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment