Monday, April 17, 2017

मंडियों में खानापूर्ति नहीं, किसानों-व्यापारियों की समस्याएं दूर करे सरकार - दौलतपुरिया


फतेहाबाद : इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने प्रदेश की भाजपा सरकार के मंत्री, विधायकों के अनाज मंडी में किए जा रहे दौरों को केवल मात्र खानापूर्ति करने के लिए किया जा रहा राजनीतिक ड्रामा बताया। दौलतपुरिया ने कहा कि गत दिवस फतेहाबाद अनाज मंडी में भी खाद्य एवं आपूर्ति राज्य मंत्री कर्णदेव कंबोज ने भी मात्र 15 मिनट मेें पूरी अनाज मंडी का भ्रमण कर यह स्पष्ट कर दिया कि भाजपा सरकार मंडियों व किसान-आढ़तियों के सामने आ रही दिक्कतों को लेकर कितनी गंभीर है। इनेलो विधायक ने आज पार्टी पदाधिकारियों संग अनाज मंडी में काम कर रहे मजदूरों के साथ-साथ आढ़तियों से भी उनकी समस्याएं जानी। इस दौरान आढ़तियों-मजदूरों ने साफ कहा कि गत दिवस भाजपा सरकार में मंत्री कर्णदेव कंबोज बिना उनकी समस्याएं जाने केवल मात्र मंडी का भ्रमण करके वापस चले गए, जबकि मंडी में गेंहू उठान के लिए वाहनों की समस्या, मजदूरों के लिए पेयजल व्यवस्था आदि गंभीर रूप लिए हुए है। दौलतपुरिया ने उन्हें आश्वस्त किया कि यदि सरकार उनकी समस्याओं के निदान के प्रति गंभीर होकर कोई ठोस नीति नहीं बनाती तो इनेलो जिला मुख्यालयों पर लघु सचिवालय का घेराव करने जैसे कदम उठाने से पीछे नहीं हटेगी। 
बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री कर्णदेव कंबोज ने जिस तरीके से मंडिय़ों में ई-टे्रडिंग से आढ़तियों की मुफ्त की कमीश्नखोरी खत्म होने जैसा असंसदीय ब्यान दिया है, उसकी जितने कड़े शब्दों में निंदा की जाए वह कम है। उन्होंने कहा कि अनाज मंडिय़ों में व्यापार को गतिमान रखने में आढ़ती और किसान एक-दूसरे के पूरक है। इतना ही नहीं जब कभी किसान को संकट के समय आर्थिक मदद या किसी अन्य तरह की सहायता की जरूरत पड़ती है तो मंडी का आढ़ती ही अपने किसान साथी की मदद को आगे आता है, न कि सरकार। मंडियों में आढ़ती मेहनतकश वर्ग का अहम हिस्सा है, ऐसे में उसे मुफ्तखोर कह कर राज्य मंत्री ने व्यापारी वर्ग के प्रति भाजपा सरकार की सोच का प्रमाण दिया है। इनेलो विधायक ने इस ब्यान पर माफी मांगने तक की बात कहते हुए कहा कि किसानों और व्यापारियों में फूट डाल कर भाजपा के मंत्री जिस तरीके से अपने राजनीतिक हित साधने में लगे हुए है, वह एक ओच्छी राजनीति का परिचायक है। उन्होंने कहा कि इनेलो मंडी में बिना किसी भेदभाव के मजदूरों, किसानों के साथ-साथ व्यापारियों की समस्याओं का हल करवाने के लिए भी संकल्पबद्ध है। इस अवसर पर उनके साथ युवा नेता पवन ढाका, विकास मेहता, धीरज शर्मा, पवन चुघ आदि उपस्थित थे।
कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर के मंडियों में दौरे के दौरान भाजपा पर कांग्रेस सरकार में लगे शिलान्यास पत्थर उखाडऩे जैसी प्रतिक्रियाओं को इनेलो विधायक ने हास्यस्पद करार दिया। इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि यदि उनका अनाज मंडियों का दौरा किसान, व्यापारी और मजदूरों की समस्याओं को जान उन्हें दूर करवाने के लिए था तो उन्हें अपने कार्यकाल में लगाए गए पत्थरों का रोना रोने की बजाय, उनकी समस्याओं को गंभीरता से उठाने की तरफ ध्यान देना चाहिए था। साथ ही दौलतपुरिया ने कहा कि जिन शिलान्यास पत्थरों का जिक्र कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष तंवर कर रहे हैं, कांग्रेस ने अपने दस साल के कार्यकाल में केवल मात्र 2 बार शिलान्यास पत्थर ही लगावाए। पहला पत्थर पूर्व सीएम भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने लगाया तो दूसरा कांग्रस प्रदेशाध्यक्ष ने, जबकि 10 साल में कांग्रेस अनाज मंडी की चार दीवारी को पूरा करवाने तक का काम नहीं कर पाई। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार में भी अपने स्तर पर उन्होंने लगातार फतेहाबाद अनाज मंडी को शुरू करवाने का मुद्दा विधानसभा में रखा, सीएम के समक्ष पत्रों के माध्यम से भी इसे जल्द पूरा करवाने की मांग उठाई तब भाजपा सरकार ने मामला उछलता देख इसे पूरा करवाने का काम किया।

No comments:

Post a Comment