Tuesday, January 31, 2017

इनेलो नहर निर्माण के लिए बड़ी से बड़ी कुर्बानी देने से पीछे नहीं हटेगी - नेता प्रतिपक्ष


नारनौल : एसवाईएल हरियाणा की जीवनरेखा है और प्रदेश को जब तक एसवाईएल का पानी नही मिल जाता इनेलो चैन से नहीं बैठेगी। सर्वोच्च न्यायलय के फैसले के बाद भी नहर का निर्माण न होना बेहद दुर्भाग्य पूर्ण है। एसवाईएल का पानी आते ही हरियाणा में खुशहाली का एक नया दौर शुरू होगा। ये बात हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने मंगलवार को नारनौैल में जिलास्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कही। कार्यकर्ता सम्मेलन कि अध्यक्षता जिला प्रधान सत्यबीर यादव नौताना ने की और मंच संचालन जसबीर सिंह ढिल्लो एडवोकेट ने किया। इनेलो नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कार्यकर्ताओं व इलाका वासियों को 23 फरवरी को गांव इस्माईलपुर पहुंचने का न्यौता दिया।


नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि एसवाईएल पर कांग्रेस व भाजपा न सिर्फ दोहरी भाषा बोल रही है बल्कि दोनों दल वोटों की खातिर एसवाईएल पर राजनीति कर रहे हैं। इनेलो नेता ने कहा कि दस साल तक केंद्र व हरियाणा में कांग्रेस की सरकार थी लेकिन एसवाईएल को लेकर कोई भी कदम उठाना तो दूर मात्र एक शब्द तक नहीं बोला गया और अब भी एसवाईएल का सबसे ज्यादा विरोध न सिर्फ पंजाब कांग्रेस के नेता कर रहे हैं बल्कि पंजाब चुनाव के लिए कांग्रेस का जो घोषण पत्र जारी किया गया उसमें कहा गया कि कांग्रेस पंजाब का एक बूंद पानी भी हरियाणा सहित किसी अन्य राज्य को नहीं देगी। इतना ही नहीं यह घोषणा पत्र जारी करने वाले भी हरियाणा से कांग्रेस के विधायक व कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला थे, जिससे इनकी दोगली नीति व सोच उजागर होती है। इनेलो नेता ने कि पिछले अढाई सालों से हरियाणा व केंद्र में भाजपा की सरकार है और पंजाब में भी भाजपा सरकार में हिस्सेदार है जिससे साफ है कि अगर भाजपा की नीति व नीयत साफ होती तो अब तक सर्वोच्च न्यायालय के फैसले अनुसार नहर के अधूरे निर्माण का कार्य पूरा हो चुका होता। न सिर्फ भाजपा व कांग्रेस का राष्ट्रीय नेतृत्व पंजाब के दबाव में है बल्कि हरियाणा को उसके हिस्से के पानी से वंचित करने में कांग्रेस व भाजपा दोनों दल जुटे हुए हैं। इनेलो इसे किसी भी कीमत पर सहन नहीं करेगी और एसवाईएल के लिए बड़ी से बड़ी कुर्बानी देने से पीछे नहीं हटेगी।


नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हरियाणा का निर्माण चौधरी देवीलाल ने करवाया था और प्रदेश को उसके हिस्से का पानी दिलवाने के लिए एसवाईएल नहर के लिए जमीन अधिग्रहण हेतू सबसे पहले चौधरी देवीलाल की सरकार ने पंजाब को पैसा जारी किया था। इसके अलावा सबसे ज्यादा निर्माण कार्य भी चौधरी देवीलाल के कार्यकाल में ही हुआ था और यह बात चौधरी देवीलाल के सबसे बड़े विरोधी पूर्व मुख्यमंत्री बंसीलाल ने हरियाणा विधानसभा में खुले रूप से स्वीकार की थी जो कि विस के रिकार्ड में दर्ज है। इनेलो प्रमुख चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने एसवाईएल को लेकर जोरदार पैरवी की जिसके चलते सर्वोच्च न्यायालय का फैसला हरियाणा के पक्ष में आया। अब भी इसके निर्माण में अड़चनें खड़ी की जा रही हैं इसलिए इनेलो ने प्रदेशवासियों को साथ लेकर 23 फरवरी से नहर की खुदाई का काम शुरू करने का निर्णय लिया है जिसमें प्रदेशवासियों का सहयोग बेहद जरूरी है।


इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा सरकार ने चुनाव से पूर्व किये गए अपने किसी एक भी वायदे को पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा चुनाव से पूर्व रेवाड़ी की सैनिक रैली में नरेन्द्र मोदी ने सैनिको से वायदा किया था कि अगर केन्द्र में हमारी सरकार बनी तो हम वन रैक वन पेंशन देंगे, केन्द्र में नरेन्द मोदी की सरकार बनने के एक साल बाद सैनिकों द्वारा दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना देने के बाद आधा अधूरा वायदा पूरा किया। किसानों को स्वामी नाथन आयोग कि रिर्पोट लागू करने का भरोसा दिया और कहा कि किसानों को फसलों की पूरी लागत के साथ 50 फीसदी मुनाफा दिया जाएगा। मगर उन्होने किसानों से ये वायदा भी पूरा नहीं किया। जिससे देश के किसानो में गुस्सा है। 2 करोड़ बेरोजगार नौजवानों को नौकरी अथवा बेरोजगारी भत्ता देने का वायदा किया। मगर नोट बंदी कर नौजवानों को लाइन में खड़ा करने का काम भाजपा ने किया।
इनेलो नेता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर अब भी हरियाणा के कांग्रेस व भाजपा नेताओं ने चुप्पी साध रखी है। उन्होने केन्द्र सरकार को चेतावानी देते हुए कहा अगर 23 फरवरी से पहले नहर का निर्माण कार्य शुरू नही किया गया तो इनेलो अपने साथ लाखों कार्यकताओं एवं किसानों को लेकर इस्माईलपुर से नहर कि खुदाई शुरू कर देगी। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि चुनाव से पूर्व भाजपा प्रदेश कि जनता से उनके वायदे किये मगर 2 साल बीत जाने के बाद भी एक भी चुनावी वायदा पूरा नहीं किया गया। कार्यकर्ता सम्मेलन को पूर्व विधान सभा उपाध्यक्ष गोपी चन्द गहलोत, पूर्व विधायक राव बहादुर सिंह, पूर्व विधायक रणबीर मंदौला, राव होशियार सिंह, कमलेश सैनी, सतबीर बडेसरा एडवोकेट, सुरेश यादव पटीकरा, नरेश सेखावत, कर्मबीर यादव, अमर सिंह ब्रहमचारी, ने भी सम्मेलन को भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर मन्जू चौधरी, राज सिंह गगडवास, रमेश पालडी, बजरंग लाल अग्रवाल, सत्यनाराणा गुप्ता रतीराम आर्य, सुमित्रा सोनी, केदार नाथ गर्ग, हरिराम सैनी, रविन्द्र गगडवास, छोटे लाल गहली, निर्मला तवर, सुदेश ढिल्लों, सुरेन्द्र यादव पटीकरा, अशोक सैनी, लक्ष्मी सैनी, लक्खी सोनी, ओम प्रकाश सोनी, रविशंकर बडगुर्जर, सरदार नौनिहाल सिंह, बीर सिंह गहली अमर सिंह जागड़ा, राजकुमार मेहता, रामकुमार मक्सुसुपुरीया, प्रमोद ताखर, अजय एडवोकेट, सतू खटीक, सफी मोहम्द के अलावा बडी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित थे। 
दादरी में औद्योगिक इकाई स्थापित करने की मांग को लेकर उद्योग मंत्री मिले विधायक राजदीप, ज्ञापन सौंपा


चरखी दादरी : प्रदेश के नए जिले चरखी दादरी में सरकार की ओर से जल्द ही औद्योगिक इकाई स्थापित की जानी चाहिए, ताकि इस क्षेत्र का विकास हो और लोगों को रोजगार मिले। यह मांग दादरी हलके के इनेलो विधायक राजदीप फौगाट ने प्रदेश के उद्योग मंत्री विपुल गोयल को चंडीगढ़ में पत्र सौंपते हुए की। उद्योग मंत्री को दिए मांग पत्र में विधायक ने कहा कि दादरी में औद्योगिक विकास एवं वर्षो से बंद सीसीआई क्षेत्र में औद्योगिक इकाई स्थापित करवाना क्षेत्र की वर्षों पुरानी मांग है। क्षेत्र के जन प्रतिनिधि होने के नाते उनकी 
प्राथमिकता है कि यहां रोजगार को बढ़ावा मिले। जिस पर मंत्री ने जल्द ही केंद्रीय उद्योग मंत्री को इस बारे में पत्र लिख अवगत कराने का आश्वासन दिया। विपुल गोयल ने विधायक राजदीप फौगाट को आश्वासन दिया कि दादरी मे उद्योग स्थापित करवाने के लिए वो हर सम्भव कदम उठाएगे । राजदीप  फौगाट ने कहा कि सीसीआई दादरी क्षेत्र की जीवन रेखा थी। इस यूनिट के चालू रहते यहां हजारों लोगों को रोजगार मिलता था और क्षेत्र की ओद्योगिक पटल पर पहचान थी। इसके बंद होने के बाद से ही यहां सन्नाटा पसर गया। करोड़ों रुपये की मशीनरी नष्ट होने के साथ ही करीब 238 एकड़ जमीन व करोड़ों की लागत से बनी कोठियां, बंगले, क्वार्टर बेकार पड़े है। यह दादरी हलके का दुर्भाग्य रहा है कि न तो केंद्र और न ही प्रदेश सरकार ने इसकी सुध ली है। वे कई माह पूर्व केंद्रीय उद्योग मंत्री को भी इस संबंध में ज्ञापन दे चुके हैं। विधायक ने कहा कि सीसीआई यूनिट क्षेत्र के सदुपयोग से दादरी हलके में विकास को गति मिल सकती है तथा लोगों के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। मंत्री को उन्होंने बताया कि दादरी औद्योगिक इकाई स्थापित होती है तो विकास की दिशा में सराहनीय कदम होगा।

Monday, January 30, 2017

हल्का महम की भूतपूर्व सैनिक प्रकोष्ठ कार्यकारिणी घोषित

महम, 30 जनवरी : जिला इनेलो पार्टी ने आज अपने भूतपूर्व सैनिक प्रकोष्ठ की महम हल्के की कार्यकारिणी घोषित कर दी। इस बात की जानकारी देते हुए हल्का संयोजक कैप्टेन सतबीर सिंह ने बताया कि नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला, सांसद दुष्यंत चौटाला, प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, भूतपूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक व बाढड़ा से पूर्व विधायक कर्नल रघुबीर सिंह छिल्लर, जिलाध्यक्ष व प्रदेश प्रवक्ता सतीश नांदल, जिला संयोजक कैप्टेन अजमेर सिंह से विचार विमर्श करके महम हल्के की नयी कार्यकारिणी घोषित की गयी है।
इस बात की जानकारी देते हुए पार्टी प्रवक्ता हैप्पी जांगड़ा ने बताया कि हवलदार कृष्ण को वरिष्ठ उपप्रधान बनाया गया है जबकि सूबेदार बलराज, हवलदार मुख्त्यार, नायक जगदीश व नायक दिलबाग को हल्के का उपप्रधान बनाया गया है। वहीं प्रधान महासचिव हवलदार विजय सिंह को व महासचिव पद की जिम्मेवारी हवलदार राजबीर, नायक प्रेम सिंह, नायक जगबीर, सूबेदार रामकिशन, हवलदार राजकुमार व सूबेदार बलवान को सौंपी गयी है। प्रवक्ता हैप्पी जांगड़ा ने बताया कि सचिव पद की जिम्मेवारी हवलदार बलबीर सिंह, सूबेदार वजीर सिंह, सूबेदार जयप्रकाश, हवलदार बलबीर व सूबेदार प्रेम सिंह को दी गयी है।
प्रचार सचिव हवलदार रामकुमार तो संगठन सचिव हवलदार श्रीभगवान व कोषाध्यक्ष हवलदार साधुराम को बनाया गया है। जबकि कार्यकारिणी सदस्य के रूप में हवलदार बनी सिंह, सिपाही वजीर, नायक रामबीर, सूबेदार कपूर सिंह, नायक कर्ण सिंह, हवलदार हरज्ञान, हवलदार बलबीर, सिपाही अजमेर, हवलदार सुखबीर व हवलदार रामफल को बनाया गया है।

सांसद चौटाला हिसार शहर में लोगों के सुख दु:ख में हुए शामिल

हिसार, 29 जनवरी : इनेलो संसदीय दल के नेता व  हिसार से इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला रविवार को हिसार शहर में लोगों के सुख दु:ख में शरीक हुए। सांसद हिसार के वरिष्ठ अधिवक्ता सुभाष गुप्ता के निधन पर उनके निवास स्थान पर शोक जताने पहुंचे व परिजनों को ढांढस बंधाया। इसके बाद वे इनेलो के वरिष्ट नेता सोहन सिंह तलवार की मृत्यु पर शोक प्रकट करने उनके मुल्तानी चौक स्थित आवास पर पहुंचे। इसके साथ ही वे डॉ सोनी की माता के निधन सेक्टर 15 निवासी अनूप कोच की माता, मोती बाजार में श्री राम सोनी के भांजे के अकस्मात निधन पर उनके परिजनों को सांत्वना दी। इसके साथ ही सांसद दुष्यंत चौटाला निगम पार्षद चंद्रपति ढांडा की पोती व पूर्व पार्षद विनोद ढांडा की भतीजी की शादी व सेक्टर 13 निवासी रामफल कुंडू के पुत्र की शादी के उपलक्ष्य में उनके निवास पर जाकर शुभकामनायें दी। इस अवसर पर उनके साथ जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, विधायक रणबीर गंगवा, अनूप धानक, हलका अध्यक्ष सजन लावट, तरूण जैन,युवा जिला प्रधान अमित बूरा, राजेंद्र चुटानी, जिला प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, रवि आहुजा, जितेंद्र भ्याणा, योगेश गौतम, अक्षय मलिक, रवि मेहता, बलवान आर्य सहित अन्य पार्टी पदाधिकारी उपस्थित थे। 

सांसद दुष्यंत चौटाला ने खेतों में पहुंच ओलावृष्टि से नुकसान का लिया जायजा


हिसार, 29 जनवरी : हिसार जिले के गांवों में ओलावृष्टि से हजारों एकड़ फसलों में हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए सांसद दुष्यंत चौटाला रविवार को खेतों में पहुंचे। सांसद दुष्यंत चौटाला ने ओलावृष्टि से नष्ट हुई फसलों का देखा और किसानों से मिले। ओलों के नुकसान से आहत एक किसान सांसद के गले मिल फफक पड़ा और बोला...सांसद साब इन ओल्यां ने त म्हारा सारा किम्मे उजाड़ दिया ..अर या उजड़ी फसल त डांगरा ने चराण जोगी बी कोन्या छोढ़ी राम न। सांसद दुष्यंत चौटाला ने किसानों को ढांढस बंधाया और प्रदेश सरकार से ओलावृष्टि प्रभावित क्षेत्रों में विशेष गिरदावरी करवा कर सरकार से 40 हजार प्रति एकड़ नुकसान की भरपाई की मांग की है। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि यदि सरकार ने तुरंत किसानों को राहत प्रदान नहीं की तो वे इस मुद्दे को लोकसभा में भी उठाएंगे। सांसद दुष्यंत चौटाला के साथ जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, बरवाला हलके के विधायक वेद नारंग, उकलाना हलके के विधायक अनूप धानक ने भी प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया। 
इनेलो संसदीय दल के नेता दुष्यंत चौटाला आज किसानों का दर्द बांटने के लिए दिल्ली से हिसार पहुंचे और वे गांव मिर्जापुर, धांसू, सुलखणी, बुगाणा, राजली के खेतों में पहुंचे। किसानों ने कहा कि ओलों ने किसान को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है और कर्ज लेकर बोई गई फसलें पूरी तरह से बर्बाद हो गई हैं। किसानों ने कहा कि यदि सरकार ने तुरंत नुकसान की भरपाई नहीं की तो वे कहीं के नहीं रहेंगे। सांसद दुष्यंत चौटाला ने इन गांवों के खेतों में ओलावृष्टि से नष्ट से हुई सरसों, गेहूं, जो आदि फसलों को देखा। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इन गांवों के अलावा उकलाना हलके के गांव फरीदपुर, भैणी बादशाहपुर, दौलतपुर, बधावड़ सहित अनेक गांवों में ओलों से हजारों एकड़ फसल नष्ट हो गई है। सांसद दुष्यंत चौटाला के साथ हलका प्रधान सत्यवानी बिचपड़ी, युवा जिला अध्यक्ष अमित बूरा,तरूण जैन, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, सतबीर सिसाय, राजेंद्र चुटानी,धोलू गोदारा, रामचंद्र बैनिवाल, धांसू के सरपंच मनोहर भाकर, मिर्जापुर के सरपंच कृष्ण, राजबीर, पवन राणा, जयसिंह राजली, अजीत खरकड़ी, सुरेंद्र सूरा, सतबीर सरपंच, अनूप मिर्जापुर, मांगेराम बुगाणा, लक्की कटारिया, बलजीत छांगा आद उपस्थित थे। 

विधायक ने सुनी जनसमस्याएं, इस्माइलपुर का न्योता दिया



चरखी दादरी : रविवार को इनेलो विधायक राजदीप फौगाट ने क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों का दौरा किया। इस दौरान विधायक ने लोगों की जन समस्याएं सुनी। जन समस्याओं का जल्द समाधान करने के लिए विधायक मौके पर ही संबंधित अधिकारियों को फोन पर बात की। इसके साथ ही विधायक ने लोगों को आगामी 23 फरवरी को एसवाईएल मुद्दे को लेकर गांव इस्माइलपुर में ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचने का न्यौता भी दिया। गांव नरसिंहवास, सारंगपुर, रामपुरा, डोहका हरिया में राजदीप फौगाट ने कहा कि एसवाईएल के मामले में कांग्रेस व भाजपा दोहरी राजनीति कर रही हैं। इन्हें जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं है। महज इस मुद्दे पर झूठी वाहवाही लूटने के लिए बयानबाजी की जा रही है। केवल इनेलो ही एक ऐसा दल है जो धरातल पर एसवाईएल का पानी लाने के लिए जनता के सहयोग से आगे बढ़कर कार्य कर रहा है। इनेलो नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला व अन्य वरिष्ठ नेता पूरे प्रदेश में जन जागरण अभियान के तहत आगामी रणनीति बना चुके हैं। उन्होंने कहा कि सरकार 23 फरवरी तक एसवाईएल मुद्दे पर कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया तो इनेलो प्रदेश की जनता को साथ लेकर नहर खोदने का काम करेगा। विधायक ने कहा कि एसवाईएल दक्षिणी हरियाणा की जीवन रेखा है। यह पानी आने से क्षेत्र समृद्ध होगा, खेती कार्य फायदेमंद होगा। उनके साथ हलकाध्यक्ष रामनिवास मिर्च, शशि शर्मा चरखी, विनोद मोड़ी, राजपाल मैनेजर,  कृष्ण रेडिया, बजरंग शर्मा, नीरकैलाश सरपंच, बलवान सिंह, मदन, जयभगवान, बंटी रामपुरा, राजेश, महावीर शर्मा बीडीसी, शेर सिंह सरपंच रामपुरा, मा. आजाद, कुलदीप सारंगपुर, मा. जीवनराम डोहका, सुरेश सरपंच, झंडा राम, दयानंद, जगबीर पप्पू, रामबीर, जागेराम, संदीप बागड़वा, पंकज, दीवान, धर्मेंद्र, मान सिंह, शमशेर एडवोकेट, बहादुर सिंह, धर्मपाल प्रधान, महिपाल, करतार सिंह, जगदीश, ईश्वर खटक,सूरज बेनीवाल इत्यादि भी मौजूद थे। 
ओला वृष्टि से प्रभावित फसलों का सर्वे करके तुरन्त मुआवजा दिलवाए सरकार - डाबड़ा

हिसार, 28 जनवरी : इनेलो किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा ने ओला वृष्टि से प्रभावित फसलों का सर्वे करवा कर फसल बीमा योजना के तहत बीमा कम्पनियो से तुरन्त मुआवजा दिलवाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि सरकार ने जिस प्रकार बैंकों को निर्देश देकर किसानों के खातों से जबरदस्ती बीमा प्रीमियम बीमा कंपनियों को दिलवाया था, उसी प्रकार अब सरकार को त्वरित कार्यवाही करते हुए प्रभावित किसानों को तुरन्त प्रभाव से 40 हजार रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा दिलवाया जाना चाहिए। डाबड़ा ने कहा कि प्रदेश के कृषि मंत्री ने गांव गांव जाकर इस योजना के लिए बीमा कम्पनियो के लिये प्रचार किया था तो अब कृषि मंत्री को इन खेतों का दौरा भी करना चाहिए। इनेलो नेता डाबड़ा ने कहा कि आज भी किसानों की आर्थिक हालत दिन ब दिन बिगड़ती जा रही है, वह किसी तरह कर्ज उठाकर फसल को तैयार करता है तो उसे उसकी फसलों का पूरा दाम भी नहीं मिल पाता। जब भाजपा सत्ता में नहीं थी तो किसानों को उसकी फसल का लागत मूल्य से डेढ़ गुना ज्यादा मूल्य दिलवाने की बात करते थे। अब जब सत्ता में आ गए तो किसानों के हक में उठाई गयी अपनी ही मांग से पीछे हट गए है। किसानों के साथ इसे सरासर धोखा बताते हुए पूर्व विधायक डाबड़ा ने कहा कि बीजेपी को किसान हितैषी का ढकोसला करने की बजाए किसान की सुध लेनी चाहिए ताकि धरती पुत्र किसान की हालत सुधर सके क्यों कि अगर किसान मजबूत होगा तो देश मजबूत होगा।

Friday, January 27, 2017

हिसार विधानसभा क्षेत्र के मतदाता का कर्ज तो उतारे भाजपा विधायक -  लावट

हिसार, 27 जनवरी : स्थानीय विधायक डॉ. कमल गुप्ता को हिसार की जनता ने यह सोचकर विधायक चुना था कि वे हिसार विधानसभा की कायापलट कर देंगे, क्योंकि उन्होंने चुनाव के समय बड़े बड़े वायदे जनता से किये थे। अब जब उनको विधायक बने लगभग ढाई साल होने को है, लेकिन हिसार की समस्या ज्यों की त्यों है और भाजपा विधायक हिसार की सुध लेना तो दूर उलटे दूसरे हलकों में जाकर झूठी वाहवाही लेने का काम में जुटे है। इनेलो हलका अध्यक्ष सजन लावट ने विधायक को उनकी निष्क्रियता पर आड़े हाथों लेते हुए विधायक गुप्ता को हिसार विधानसभा के मतदाता का कर्ज उतारने की सलाह दी है। इनेलो नेता लावट ने कहा कि आज शहर में न समय पर बिजली आती है, न पीने को स्वच्छ जल उपलब्ध है, सीवरेज व्यवस्था बदहाल है, कॉलोनियों व रिहायशी सेक्टर्स की सड़कों की हालत जर्जर अवस्था में पहुंच गयी है। आवारा व बेसहारा पशुओं की हर जगह यहां तक की शहर की मुख्य सड़कों पर भरमार है।  परन्तु विधायक गुप्ता ने भी हिसार की जनता की इन मुलभुत समस्याओ से मुंह मोड़ कर जनता से धोखा किया है। विधायक या तो शहर से बाहर रहते है और अगर आते है तो या तो हवाई अड्डे पर या हलके से बाहर दूसरे हलको में जाकर फोटो खिंचवाने के काम में लग जाते है। लावट ने कहा विधायक ने बनते ही विधायक आपके द्वार कार्यक्रम प्रारम्भ किया तो जनता को उम्मीद जगी थी कि अब हिसार शहर की सड़कों व सीवरेज व्यवस्था की हालत सुधरेगी परन्तु विधायक का यह कार्यक्रम भी एक दो वार्डो तक ही सिमट कर रह गया। इससे स्पस्ट है विधायक गुप्ता हिसार की जनता के सामने आने से डरने लगे है।
एसवाइएल पर भाजपा सरकार की चुप्पी संदेहास्पद - लितानी


हिसार, 27 जनवरी : हरियाणा के किसानों के लिए जीवन रेखा मानी जाने वाली एसवाइएल नहर के निर्माण को लेकर माननीय उच्चतम न्यायालय का स्पस्ट फैसला आने के बाद भी केंद्र की भाजपा सरकार की चुप्पी प्रदेश के किसानों के साथ सरासर धोखा है। और तो और माननीय प्रधानमंत्री भी एसवाइएल को लेकर बिलकुल मौन है, यहां तक कि उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद अब तक उन्होंने न तो पंजाब सरकार से तथा न ही हरियाणा सरकार से इस बारे चर्चा की है। इनेलो जिला अध्यक्ष राजेंद्र लितानी ने भाजपा की इस चुप्पी को संदेहास्पद बताते हुए कहा कि इनेलो एसवाइएल को लेकर पूर्णतया गम्भीर है और प्रदेश की जनता के सहयोग व समर्थन से इसके निर्माण को हर हालत में पूरा करवा कर हरियाणा की प्यासी धरती को सिंचित करवाएगी। वे शुक्रवार को सिरसा रोड स्थित चौधरी देवी लाल सदन में जिले के वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे।


बैठक में 23 फरवरी को एसवाइएल की खुदाई को लेकर आगामी 1 फरवरी से 10 फरवरी तक हलका स्तर पर जनजागरण अभियान चलाने को लेकर रूपरेखा तय की गई। इनेलो ने हलका नारनौंद के लिए जिला अध्यक्ष राजेंद्र लितानी को प्रभारी बनाया गया है, वहीं हलका हांसी के लिए पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, नलवा व हिसार के लिए विधायक रणवीर गंगवा, बरवाला के लिए विधायक वेद नांरग, उकलाना के लिए विधायक अनूप धानक व आदमपुर हलका के लिए पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा को प्रभारी की जिम्मेदारी दी गयी है। इनेलो जिला अध्यक्ष राजेंद्र लितानी ने कहा कि सभी हलकों में यह जनजागरण अभियान गांव, वार्ड व बूथ स्तर पर चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि एसवाइएल के निर्माण को जब भाजपा ने भी कांग्रेस की तरह ठंडे बस्ते में डाल दिया तो नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने इसको बनाने का बीड़ा उठाते हुए इसे जल युद्ध की संज्ञा देते हुए 23 फरवरी तक की चेतावनी सरकार को देते हुए उस दिन नहर की खुदाई प्रारम्भ खुद करने की घोषणा की है। इसके लिए उन्हें पूूरे प्रदेश के किसानों का अपार जनसमर्थन मिल रहा है। हिसार जिला में भी 1 फरवरी से सभी हलको में यह अभियान चलाया जाएगा। इस मौके पर विधायक रणवीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा, राष्ट्रीय सचिव चत्तर सिंह, महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्षा शीला भ्याण, युद्धवीर सिंह आर्य, सतबीर वर्मा, हलका अध्यक्ष सजन लावट, सतपाल सरपंच, सतबीर सिसाय, सत्यवान बिछपड़ी, राव इंद्र फौजी, भागीरथ नम्बरदार, कैप्टन छाजू राम, रवि आहूजा, तरुण जैन, डॉ राजकुमार दिनोदिया, राज कुमार जांगड़ा, पूर्व पार्षद अजमेर ढांडा, मास्टर गुलाब सिंह,  रमेश बेरवाल सहित अन्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे।
गुडगाँव जिला कार्यालय में फहराया गया तिंरगा

 
गुड़गांव : मातृभूमि के सम्मान एवं उसकी आजादी के लिये असंख्य वीरों ने अपने जीवन की आहूति दी थी। देशभक्तों की गाथाओं से भारतीय इतिहास के पृष्ठ भरे हुए हैं। उन महान देशभक्तों व स्वतंत्रता सेनानियों के दिखाए रास्ते पर चलकर लोकतंत्र को मजबूत बनाने का काम करें। उक्त शब्द इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष गोपीचन्द गहलोत ने गुड़गांव के सैक्टर 12 स्थित इनेलो जिला कार्यालय पर गणतंत्र दिवस के शुभअवसर पर ध्वजारोहण करने के उपरान्त कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहे। उन्होंने कार्यकर्ताओं को गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए उनसे गणतंत्र दिवस का यह पर्व जात-पात व धर्म-मजहब से ऊपर उठकर आपसी प्रेम-प्यार और भाईचारे से मनाने व सम्प्रदायिक सदभाव बनाए रखने की अपील की। श्री गहलोत ने कहा कि देशप्रेम की भावना से ओत-प्रोत हजारों की संख्या में भारत माता के वीर सपूतों ने, भारत को स्वतंत्रता दिलाने में अपना सर्वस्य न्योछावर कर दिया था। ऐसे ही महान देशभक्तों के त्याग और बलिदान के परिणाम स्वरूप हमारा देश, गणतान्त्रिक देश हो सका। आज भारत देश विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है जिसपर हमें गर्व है। इस अवसर पर जिला महासचिव नरेश सहरावत, शकील अहमद, गौरव छौक्कर, भूपेन्द्र सुखराली, प्रदीप जाखड़, सुशील सहरावत, राजेश डागर, जितेन्द्र पंवार, बिजेन्द्र गहलोत, विक्रम सहरावत, पवन राजपूत, विकास किराड़, विक्रम छौक्कर, संजय यादव, रविन्द्र सिंगरोहा, नरेन्द्र बेनीवाल, राकेश दलाल, सुनिल गुलिया, नरेश खरब, इमरान खान, विकास नागपाल, कपिल कौशिक, अरूण कोहली, विजय शर्मा, सुरेश चौहान, ललित वत्स, रवि लोहिया सहित सैंकड़ों इनेलो कार्यकर्ता उपस्थित थे।


Thursday, January 26, 2017

टपकन गाँव के स्कूल में विधायक चौधरी ज़ाकिर हुसैन ने फहराया तिरंगा


नूँह विधानसभा के गाँव टपकन के राजकीय हाई स्कूल में 68 वाँ गणतंत्र-दिवस बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। गणतंत्र-दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में 36 बिरादरी के चौधरी व नूँह से इनेलो विधायक चौधरी ज़ाकिर हुसैन ने स्कूल में तिरंगा फहराया। इस अवसर पर स्कूल के छात्र-छात्राओं द्वारा मास पीटी,अनेक नाटकें,कव्वाली व देशभक्ति गानों आदि दर्जन भर रंगा-रंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। तिरंगा फहराने से पहले विधायक चौ0 ज़ाकिर हुसैन का स्कूल के स्टाॅफ व छात्र-छात्राओं द्वारा जोरदार स्वागत किया गया। विधायक चौधरी ज़ाकिर हुसैन ने अपने संबोधन में कहा कि सबसे पहले तो मैं गाँव टपकन के प्रधानाचार्य श्री बसरूद्दीन, सभी अध्यापकों, स्कूल के छात्र-छात्राओं का धन्यवाद करता हूँ जिन्होंने इतना शानदार प्रदर्शन किया। यह कार्यक्रम हरियाणा प्रदेश के सारे स्कूलों से अच्छा कार्यक्रम है। मैंने स्कूलों में मनाए गए ऐसा कार्यक्रम अपनी पूरी जिंदगी में कहीं नहीं देखा। मैं स्कूल के प्रिंसिपल,स्टाॅफ, छात्र-छात्राओं के लिए इस कार्यक्रम की मुबारकबाद देता हूँ। श्री हुसैन ने कहा कि आज भारत देश 68 वाँ गणतंत्र-दिवस मना रहा है। जगह-जगह गणतंत्र-दिवस के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेव कौम ने देश की आजादी में अहम भूमिका निभाते हुए अंग्रेजों से बढ़कर चढ़कर लड़ाई लड़ी। मेव कौम हिंदुस्तान की सबसे बहादुर कौम है। जब-जब भारत को कुर्बानी की जरूरत पड़ी है तो हर मौके पर मेवातियों ने बढ़ चढ़कर देश के लिए अपनी कुर्बानियाँ दी हैं। मेवात कौम ने अंग्रेजों ही नहीं बल्कि मुगलों आदि से भी बढ़ चढ़कर लड़ाई लड़ी है। मेवातियों से ज्यादा देशभक्ति किसी कौम में नहीं है। श्री हुसैन ने कहा कि आप लोगों द्वारा जनहित के लिए लड़ी जाने वाली हर लड़ाई में इनेलो पार्टी तन-मन-धन से आपके साथ है। 


श्री हुसैन ने कहा कि मैंनें पिछले सवा दो साल से मेवात क्षेत्र के विकास के लिए  दिन-रात बहुत संघर्ष किया है। हैवी ड्राईविंग लाईसेंस का नवीनीकरण,घासेड़ा में रेगुलेटर बनाने, कोटला झील का विस्तार, आकेड़ा गाँव में यूनानी काॅलेज की स्थापना, मेवात माॅडल स्कूलों में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं के लिए सरकारी स्कूलों जैसी सारी सुविधाएँ देने,मेवात क्षेत्र के गाँवों में छात्राओं के लिए विशेष मुफ्त बसें चलाने आदि का प्रबंध, मेवात क्षेत्र में सिँचाई की सुविधाओं में सुधार आदि  को मुख्यमंत्री के सामने रखा तथा जिन्हें मुख्यमंत्री ने मान लिया है,इसके लिए वे मुख्यमंत्री का धन्यवाद करते हैं। अब फिर से वे मेवात की अन्य प्रमुख माँगों को आगामी विधानसभा सत्र में जोरशोर से उठाएँगे। श्री हुसैन ने कहा कि वे झूठ व धोखे की राजनीति नहीं करते। उनका राजनीति का मकसद धन कमाना नहीं बल्कि 36 बिरादरी की सेवा करना है। मेरे लिए विधायक व सांसद बनना बहुत छोटी चीज है। मेवात की 36 बिरादरी ने चौधर की पगड़ी बाँधकर जो सम्मान दिया है वो मेरे लिए सबसे बड़ा सम्मान है।
विधायक चौधरी जाकिर हुसैन ने कहा कि उन्होंने विधायक बनने के बाद विपक्ष में होते हुए भी हार नहीं मानी तथा जनहित के कार्यों को करवाने का बीड़ा उठाया और संघर्ष किया। विधायक चौधरी जाकिर हुसैन ने लोगों का धन्यवाद करते हुए कहा कि यह मेवात की 36 बिरादरी की दुआओं से संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि अगर इंसान की नीयत जनहित के कार्य करने की हो तो, कोई भी कार्य असंभव नहीं है।
श्री हुसैन ने कहा कि 36 बिरादरी की चौधर की पगड़ी की जिम्मेदारी को समझते हुए वे मेवात की हर समस्या को सुलझाने, बेरोजगारी को दूर करने, उन्नति के लिए मरते दम तक संघर्ष करते रहेंगे।
श्री हुसैन ने कहा कि हरियाणा में इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में सरकार बनने पर मेवात में सरकारी नौकरियाँ इस तरह लगेंगी जैसे ड्रैनों में पानी आया है। उन्होंने कहा कि पूर्व परिवहन मंत्री अपने शासनकाल में कहा करते थे कि ड्रैनों में पानी छोड़ने का कोई कानून नहीं है। यह भी लोगों की दुआओं व उनके संघर्ष से संभव हुआ है।


उन्होंने कहा कि चौधरी अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में उन्होंने विधानसभा के अंदर तथा बाहर मेवात की समस्याओं को जोरदार तरीके से उठाया है तथा विपक्ष में रहते हुए भी कांग्रेस में अति पिछड़ा मेवात विकास की पटरी पर कुछ चढ़ा है। उन्होंने लोगों से वादा किया कि वे नूँह विधानसभा ही नहीं बल्कि पूरी मेवात क्षेत्र के विकास व बेरोजगारी को दूर करने के लिए दिन-रात लड़ाई लड़ेंगे। अगर इसमें उन्हें अपनी जान की कुर्बानी भी देनी पड़ी तो उसे देने से भी वो पीछे नहीं रहेंगे। इसकी प्रेरणा उन्हें उनके पिता मरहूम चौधरी तय्यब हुसैन साहब से मिली है। 
इस अवसर पर विधायक चौ. ज़ाकिर हुसैन की सुपुत्री डाॅ. तसनीम हुसैन, टपकन गाँव के सरपंच ताज मौ. तलहा एडवोकेट, अल्ली प्रधान अड़बर,रमजान सरपँच रोजकामेव,समाजसेवी मास्टर असलम, असगर हुसैन,जाकिर भड़ंगाका,जैकम चंदेनी, चौ. लल्लू,हाजी सोहराब,हाजी शाद,पहलू कंवरसीका,हाजी आसम रायसीका , बाॅबी शर्मा,डाॅ0 हनीफ सरपंच,जुबेर टेरकपुर, हाजी अब्दुल्ला सरपंच, आस मौ0, जौम खाँ उर्फ मुंडल सरपंच, शौकत सरपंच,इमरान मेंबर टपकन,हुसैन, समसूद्दीन आदि हजारों गणमान्य व्यक्तियों के अलावा सैंकड़ों गाँव की महिलाएँ व बच्चे मौजूद थे।

विधायक राजदीप ने सीएम को पत्र लिख मांगे जिले के लिए स्थायी अधिकारी
चरखी दादरी: इनेलो विधायक राजदीप फौगाट ने प्रदेश के नव गठित जिला चरखी दादरी मे जरूरी मूलभूत सुविधाओं के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल को पत्र लिखा है। विधायक का कहना है कि सरकार ने चरखी दादरी को प्रदेश के 22वें जिले का दर्जा दिया है लेकिन यहां के लोगों को रोजमर्रा  की परेशानियां पहले से भी अधिक बढ़ गई है। जिला बनने के बाद हालातों में सुधार की लोगों की उम्मीद धूमिल हो रही है। दादरी क्षेत्र में निरंतर बढ़ रहे अपराधों एवं अन्य जन समस्याओं के समाधान तत्परता से नहीं किए जाने से लोगों में काफी रोष है। विधायक ने कहा कि भाजपा सरकार ने गत 3 दिसंबर को नए जिले की अधिसूचना जारी की थी। लेकिन इसके डेढ़ माह बाद तक भी यहां सक्षम अधिकारियों, कर्मचारियों की  नियुक्तियां नहीं की जा रही है। स्थिति की गंभीरता का अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि जिला भिवानी के उपायुक्त पंकज कुमार को दादरी जिले का अतिरिक्त कार्यभार दिया गया लेकिन वे केवल दो दिन ही यहां आए है। एक दिन कार्यभार संभालने व दूसरी बार गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों की बैठक  लेने। इसी प्रकार केवल एसपी को छोड़कर जिले के लिए जरूरी 63 विभागों  के लिए यहां अभी तक एक भी स्थाई अधिकारी व उनका स्टाफ नियुक्त नहीं किया गया है। करीब आठ लाख की आबादी को देखते हुए तथा नव जिले में जरूरी सुविधाएं मुहैया करवाने के लिए सरकार तत्परता से कार्य करे। जिला बनने के बाद भी न तो दादरी में जिले से संबंधित कार्य हो पा रहे है और न ही लोगों को भिवानी में  रोजमर्रा के कार्यों के लिए कोई तवज्जो दी जा रही है। विधायक राजदीप ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को लिखकर सरकार से यहां जल्द सुविधाएं देने की उम्मीद की है। विधायक का कहना है कि सरकार जिला दादरी में जल्द ही अधिकारियों, कर्मचारियों की नियुक्ति कर जनता को राहत दे।    

Wednesday, January 25, 2017

इनेलो के लिए पंजाब चुनाव से ज्यादा जरूरी एसवाईएल है, पार्टी पंजाब चुनाव में नहीं लेगी हिस्सा - अभय चौटाला 


चंडीगढ़, 25 जनवरी: इनेलो पंजाब चुनाव में किसी भी पार्टी के लिए प्रचार नहीं करेगी क्योंकि इनेलो के लिए पंजाब चुनाव से भी ज्यादा जरूरी एसवाईएल का पानी है। यह बात इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने बुधवार को चंडीगढ़ पे्रस क्लब में मीट दी पे्रस कार्यक्रम के अंतर्गत पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही। इनेलो नेता ने कहा कि जिस दिन पंजाब विधानसभा में यह प्रस्ताव पारित किया गया था कि पंजाब के पास फालतू पानी नहीं है और पंजाब एक बूंद पानी भी किसी अन्य राज्य को नहीं देगा, उसी दिन इनेलो ने अकाली दल के साथ राजनीतिक रिश्ते तोड़ लिए थे। इनेलो नेता ने कहा कि उत्तरप्रदेश में इनेलो किस दल को वहां समर्थन देगी इसके बारे में विचारविमर्श के लिए पार्टी के साथ उत्तरप्रदेश से जुड़े हुए लोगों से एक बैठक की जाएगी और जल्द ही इस बारे में फैसला ले लिया जाएगा। पे्रस क्लब पहुंचने पर क्लब के अध्यक्ष जसवंत राणा व वरिष्ठ उपाध्यक्ष नीलन आचार्य सहित क्लब के पदाधिकारियों व सदस्यों ने नेता प्रतिपक्ष का स्वागत किया और उन्हें क्लब की ओर से स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष के साथ आरएस चौधरी, बीडी ढालिया, एमएस मलिक, राम सिंह बराड़, अशोक शेरवाल व प्रवीन आत्रेय भी मौजूद थे। उन्होंने मुख्यमंत्री को कमजोर बताते हुए उनसे त्याग पत्र दिए जाने की भी मांग की। इनेलो नेता ने कहा कि कांग्रेस की तरह भाजपा भी एसवाईएल के मामले को लटकाना चाहती है। 
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि एसवाईएल जैसे मुद्दे पर हरियाणा के मुख्यमंत्री पिछले दो महीनों में पीएम से मिलने का अभी तक समय नहीं ले पाए और वे बेहद कमजोर मुख्यमंत्री हैं जो कि प्रदेश हितों की रक्षा करने में सक्षम नहीं हैं। इनेलो नेता ने कहा कि उनकी पार्टी ने एसवाईएल पर प्रधानमंत्री से मिलने का समय मांगा है और अगर 15 फरवरी तक पार्टी को मिलने के लिए समय न मिला तो पार्टी न सिर्फ जंतर-मंतर पर सांकेतिक धरना देकर विरोध जताएगी बल्कि प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन भी सौंपेगी। उन्होंने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि पीएम से 15 फरवरी से पहले मिलने का समय जरूर मिल जाएगा। उन्होंने कहा कि इनेलो प्रदेशवासियों को साथ लेकर 23 फरवरी को नहर खोदने का काम करेगी। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस व भाजपा नेताओं को भी प्रदेश हितों की जरा सी भी चिंता है तो उन्हें भी इनेलो के साथ न सिर्फ जंतर-मंतर पर धरने में साथ बैठना चाहिए बल्कि नहर खुदाई में भी शामिल होना चाहिए। इस बारे में उन्होंने प्रदेश के सभी विधायकों व सांसदों को पत्र भी लिखा है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व ने अपने घोषणा पत्र में यह कहकर कि पंजाब का पानी पंजाब का रहेगा, न सिर्फ हरियाणा के हितों की अनदेखी की है बल्कि एक ऐसा संदेश दिया है जिसका खमियाजा कांग्रेस को आने वाले समय में भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पंजाब विधानसभा में हरियाणा को एक बूंद भी पानी न देने का प्रस्ताव पंजाब भाजपा के विधायक लेकर आए थे और हरियाणा के मुख्यमंत्री पंजाब में उन भाजपा नेताओं के लिए वोट मांगने जाने की बात करते हैं जिससे साफ है कि उन्हें प्रदेश के हितों से कोई लेना-देना नहीं और भाजपा को भी आने वाले समय में इस बात का खमियाजा भुगतना पड़ेगा।
चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि पीएम हरियाणा को अपना दूसरा घर बताते रहे हैं और उन्होंने संविधान की रक्षा की शपथ भी ली है इसलिए उन्हें तुरंत दखल देकर सर्वोच्च न्यायालय के फ ैसले अनुसार एसवाईएल का निर्माण करवाना चाहिए क्योंकि हरियाणा किसी से भीख या खैरात नहीं बल्कि अपने हिस्से का पानी मांग रहा है। उन्होंने कहा कि आज पंजाब का हर राजनीतिक दल हरियाणा को पानी दिए जाने का विरोध कर रहा है, ऐसे में इनेलो पंजाब चुनाव में किसी भी दल का समर्थन नहीं करेगी। इनेलो नेता ने प्रदेश सरकार के अब तक के प्रदर्शन पर कहा कि मुख्यमंत्री ने अपना दो साल का कार्यकाल पूरा होने पर खुद कहा था कि एक साल उन्हें सरकार को समझने और दूसरा साल योजनाएं बनाने में लग गया। ऐसे में सरकार ने कोई काम तो किया नहीं, मुख्यमंत्री जिन 3500 विकास कार्यों की घोषणाओं का उल्लेख करते हैं उनमें कहीं भी कोई काम शुरू नहीं हुआ। इनेलो नेता ने कहा कि सीएम अगर अपने आप पर और अपने साथियों और अधिकारियों पर भरोसा नहीं करेंगे तो सरकार का काम नहीं चल सकता। उन्होंने गीता जयंती से लेकर आदर्श गांव और बेटी बचाओ योजना सहित सरकार की सभी घोषणाओं को पूरी तरह खोखला बताते हुए कहा कि सीएम भाजपा विधायकों व विपक्षी विधायकों के बीच भेदभाव कर रहे हैं।


इनेलो नेता ने जाट आरक्षण आंदोलन संबंधी पूछे गए सवालों के जवाब में कहा कि उनकी पार्टी जाटों को आरक्षण दिए जाने की पक्षधर है और सरकार ने पिछले आंदोलन के बाद जाट प्रतिनिधियों के साथ जो भी कोई वायदे किए थे उन्हें तुरंत निभाना चाहिए ताकि फिर से प्रदेश का माहौल खराब न हो। उन्होंने पिछली बार आंदोलन के दौरान हुई हिंसक घटनाओं के लिए कांग्रेस व भाजपा को पूरी तरह से जिम्मेदार बताते हुए कहा कि सरकार पूरी तरह से हर मामले में विफल हुई है। क्रिकेट बोर्ड संबंधी लोढा कमेटी की सिफारिशों पर पूछे सवाल पर इनेलो नेता ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर तो उन्हें पता नहीं लेकिन हरियाणा में शुरू से ही कांग्रेस नेता रणबीर महेंद्रा व उनके बेटे बोर्ड पर काबिज हैं और उन्होंने अपने पारिवारिक सदस्यों को ही इसकी प्रदेश इकाई का सदस्य बना रखा है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस सरकार के भ्रष्टाचार को लेकर राज्यपाल को 400 पृष्ठों की एक चार्जशीट सौंपी थी जिस पर सरकार ने अभी तक कार्रवाई नहीं की और वे आगामी विधानसभा सत्र में सरकार से इस पर कार्रवाई किए जाने की मांग करते हुए इस पूरे मामले की सीटिंग न्यायाधीश की देखरेख में जांच करवाए जाने की मांग करेंगे। उन्होंने कांग्रेस व भाजपा पर आपसी मिलीभगत होने का आरोप लगाते हुए कहा कि यह बात राज्यसभा चुनाव में पूरी तरह साबित भी हो चुकी है और अब भी सरकार भ्रष्ट कांग्रेसी नेताओं को बचाने के बहाने ढूंढ रही है।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि गीता जयंती के नाम पर 30 लाख रुपए मंदिर पर फूलों की सजावट में और 30 लाख रुपए भाजपा नेत्री को नृत्य के लिए दिए जाने की भी आलोचना की। उन्होंने कहा कि सरकारी धन का दुरुपयोग भी भ्रष्टाचार का  एक रूप है। इनेलो नेता ने कहा कि पिछले दिनों जिस तरह से गुडग़ांव के डीसी पर गलत कामों के लिए एक विधायक द्वारा दबाव डाला गया और ईमानदार डीसी द्वारा गलत काम करने से मना करने के बाद उसे बदला गया वह सरकार के कथित ईमानदारी की पोल खोल रहा है। इनेलो नेता ने कहा कि पहले पढ़ी-लिखी पंचायतों के नाम पर पंचायतों के कामकाज में रुकावट डाली गई और अब न सिर्फ पंचायतों की ग्रांट रोक रखी है बल्कि पंचायतों के पास जो अपना पैसा था उन्हें भी बीडीओ अथवा एक्शन के माध्यम से खर्च करने के लिए बाध्य किया जा रहा है। इनेलो नेता ने कहा कि सरकार अब गांवों में भी हरेक पंचायत पर 11-11 प्रशासक थोंपना चाहती है और नियुक्त होने वाले इन कथित प्रशासकों ने अभी से ही बीडीओ व एक्शन को कहना शुरू कर दिया है कि किस ठेकेदार को कौन सा काम देना है, ये वो बताएंगे? उन्होंने इस कार्रवाई को पंचायतों के पैसे में भी कमीशन खाने की तरकीब बताते हुए सरकार की आलोचना की। इनेलो नेता ने कहा कि अदालतों ने किसानों को भूमि अधिग्रहण के मुआवजे को जो बढ़ाने का काम किया है अभी तक उसका भुगतान नहीं हो रहा। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि 1966  में हरियाणा गठन से लेकर 2005 तक इनेलो की सरकार के दौरान 39 सालों में सरकार पर कुल 23400 करोड़ रुपए का कर्जा था जो प्रदेश के विकास कार्यों के लिए लिया गया था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की दस साल की सरकार ने प्रदेश पर 60 हजार करोड़ का कर्जा डाल दिया और भाजपा सरकार के इन दो सालों के बाद प्रदेश पर कर्ज की राशि एक लाख 41 हजार करोड़ तक पहुंच गई है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि ये जो कर्जा लिया जा रहा है यह कहीं विकास पर तो खर्च हो नहीं रहा आखिर ये पैसा किसकी जेब में कहां जा रहा है, यह बात भी सामने आनी चाहिए।
चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भ्रष्टाचार को खत्त्म करने की बात करने वाली मौजूदा सरकार ने भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिला है और उन्हें लगता है कि जिस तरह से उनकी पार्टी ने कांग्रेस के भ्रष्टाचार के खिलाफ चार्जशीट तैयार की थी, शायद इस सरकार के खिलाफ भी उन्हें वैसी ही चार्जशीट तैयार करनी पड़ेगी। इनेलो नेता ने कहा कि एसवाईएल के बारे में उनकी पार्टी अब किसी भी नए सुझाव पर कोई बात नहीं करेगी क्योंकि सर्वोच्च न्यायालय की संवैधानिक पीठ द्वारा हरियाणा के पक्ष में फैसला दिया जा चुका है और इस फैसले को लागू करवाना केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है और इनेलो इस नहर के निर्माण तक अपना संघर्ष जारी रखेगी। इनेलो नेता ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा पंजाब का पानी हरियाणा सहित किसी अन्य राज्य को न दिए जाने की बात कहे जाने पर कहा कि इस मामले में सीएम हरियाणा की चुप्पी बेहद चिंताजनक है। उन्होंने कहा कि सीएम को तुरंत प्रतिक्रिया देनी चाहिए थी कि केजरीवाल अपना बयान वापिस ले और लोगों से माफी मांगे। अन्यथा उन्हें एक दिन के लिए दिल्ली का पानी बंद कर देना चाहिए था ताकि दिल्ली में बैठे लोगों को भी अहसास हो जाता कि पानी किसी के लिए भी कितना जरूरी है? उन्होंने कहा कि सरकार ने लोगों से किए वायदों में से कोई भी वायदा नहीं निभाया और इनके अपने लोग ही सरकार पर भ्रष्टाचार व अनियमितताओं पर आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने स्कूलों में शिक्षकों की कमी का  उल्लेख करते हुए कहा कि जब तक स्कूलों में अध्यापक पूरे नहीं होंगे तब तक बच्चे स्कूलों में कैसे पूरे हो सकते हैं? उन्होंने प्रदेश के स्कूलों में अध्यापकों के करीब 40 हजार पद खाली होने का भी उल्लेख किया। इनेलो नेता ने कहा कि प्रदेशभर से सभी पंचायतों, नगर पालिकाओं व नगर परिषदों से एसवाईएल के मुद्दे पर प्रस्ताव पारित करवाकर केंद्र सरकार को सौंपे जाएंगे ताकि केंद्र पर जल्द एसवाईएल नहर के निर्माण का दबाव बनाया जा सके। उन्होंने किसानों के खातों से फसल बीमा योजना के नाम पर जबर्र्दस्ती पैसे काटे जाने और धान खरीद में हुए घोटाले का भी उल्लेख करते हुए सरकार की तीखी आलोचना की। 

Tuesday, January 24, 2017

अपराधी बेलगाम, सरकार बेपराह - दुष्यंत चौटाला

हिसार, 23 जनवरी : इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि एसपी की कोठी के पास शहर के अति सुरक्षित इलाके में नगर के वरिष्ठ अधिवक्ता सुभाष गुप्ता की सरेआम हत्या ने सरकार की सुरक्षा व्यवस्था की धज्जियां उड़ा दी हैं। जाहिर है कि अपराधी बेलगाम हैं और जनता की सुरक्षा को लेकर खट्टर सरकार पूरी तरह से बेपरवाह। दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि आम जनता की जानमाल की सुरक्षा से चिंता से कोसों दूर भाजपा सत्ता सुख भोगने में लगी है। उन्होंने सवाल खड़ा किया यदि ऐसा नहीं होता तो खट्टर सरकार ने हांसी में कुछ दिन पहले हुए दो हत्या की घटनाओं से कुछ सबक क्यों नहीं लिया। इनेलो सांंसद ने वरिष्ठ अधिवक्ता सुभाष गुप्ता के हत्यारों को 24 घंटे में गिरफ्तार करने और सरकार से प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था की दोबारा समीक्षा कर से प्रदेश के लोगों की जान-माल की सुरक्षा के लिए नए सिरे से व्यवस्था लागू करने की मांग की है। 
इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला को हत्या की घटना की सूचना मिलने के बाद एसपी से फोन पर संपर्क साधा और हत्यारों को तुंरत गिरफ्तार करने के लिए एसआईटी गठित करने के निर्देश दिए। दुष्यंत चौटाला के फोन के बाद एसपी सामान्य अस्पताल पहुंचे और उन्होंने आरोपियों को धर दबोचने के लिए विशेष दल गठित किया है। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार सत्ता में आने के बाद अपराधियों के हौसले सातवें आसमान पर हैं और आम आदमी दिन-दिहाड़े अपनी गाड़ी में सवार होकर शहर में जाने से भी खौफ खाने लगा है। उन्होंने कहा कि हिसार शहर के बाजारों और आसपास के इलाकों में दिन-दहाड़े गाड़ी लूटने, हत्या और अपहरण की घटनाएं सामान्य हो गई हैं। 
1 से 10 फरवरी तक इनेलो नेता प्रदेश के हर गांव, वार्ड व कस्बे में चलाएंगे जन जागरण अभियान


चंडीगढ़: 24 जनवरी : इनेलो हर हालत में 23 फरवरी को इस्माइलपुर से एसवाईएल की खुदाई शुरू करेगी और प्रदेश को उसके हिस्से का पानी जब तक मिल नहीं जाता तब तक पार्टी चैन से नहीं बैठेगी। यह बात इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला और प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने मंगलवार को चंडीगढ़ में पार्टी नेताओं की बैठक को सम्बोधित करते हुए कही। इनेलो नेताओं ने कहा कि कांग्रेस व भाजपा की नीयत में खोट है और दोनों पार्टियां प्रदेश को उसके हिस्से का पानी दिलाने की बजाय मात्र एसवाईएल के मुद्दे पर राजनीति कर रही हैं। बैठक में अभय चौटाला व अशोक अरोड़ा के अलावा पूर्व कृषि मंत्री जसविंदर सिंह संधू, पूर्व सीपीएस रामपाल माजरा सहित पार्टी के सभी विधायक, जिला प्रधान व हलका प्रभारी सभी वरिष्ठ नेता भी मौजूद थे। बैठक में प्रदेश स्तरीय जनजागरण अभियान कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया गया और 23 फरवरी को नहर खुदाई के लिए भावी रणनीति तैयार की गई।
इनेलो नेताओं ने कहा कि 23 फरवरी को प्रदेशभर से भारी संख्या में लोग नहर खुदाई के लिए इस्माइलपुर पहुंचेंगे और वहीं से एसवाईएल के लिए निर्णायक संघर्ष शुरू किया जाएगा। इनेलो नेताओं ने कहा कि इनेलो की ओर से शुरू किए गए जलयुद्ध के लिए जनसमर्थन जुटाने के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रदेश के सभी 90 हलकों के हर गांव, कस्बे व वार्ड में जाकर 23 फरवरी को इस्माइलपुर पहुंचने का न्यौता देंगे और कांग्रेस व भाजपा की प्रदेश विरोधी नीतियों की पोल खोलने के साथ-साथ उनकी दोहरी भाषा का भी लोगों के बीच खुलासा करेंगे। इनेलो ने इस जनजागरण अभियान के लिए जलयुद्ध के नाम से एक पुस्तिका भी प्रकाशित की है जो प्रदेशभर के हर गांव, कस्बे व वार्ड में बांटी जाएगी और लोगों को एसवाईएल की अब तक की वस्तुस्थिति से अवगत करवाने के साथ-साथ प्रदेश से जुड़े प्रमुख मुद्दों और सरकार की नाकामियों व जनविरोधी नीतियों को भी उजागर करेगी। इनेलो की आज आयोजित की गई बैठक में पार्टी के सभी विधायकों, जिलाध्यक्षों व विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों के लिए नियुक्त किए गए प्रभारियों ने हिस्सा लिया। बैठक की अध्यक्षता चौधरी अभय सिंह चौटाला व अशोक अरोड़ा ने की। 


इनेलो नेताओं ने कहा कि पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चि_ी लिखकर मिलने के लिए समय मांगा है ताकि एसवाईएल पर उन्हें पूरी वस्तुस्थिति से अवगत करवाकर केंद्र सरकार से इस नहर के अधूरे निर्माण को जल्द पूरा करवाया जा सके। इनेलो नेताओं ने कहा कि पार्टी के सभी विधानसभा क्षेत्रों के लिए नियुक्त किए गए प्रभारी स्थानीय नेताओं व कार्यकर्ताओं को साथ लेकर लोगों को एसवाईएल की खुदाई का न्यौता देने के साथ-साथ पंचायतों, नगर पालिकाओं, नगर परिषदों व अन्य संगठनों से भी एसवाईएल के निर्माण को पूरा करवाने के लिए प्रस्ताव पारित किए जाने का आग्रह करेंगे ताकि पीएम को वे सभी प्रस्ताव सौंपे जा सकें और एसवाईएल का पानी हरियाणा में आ सके। इनेलो नेताओं ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री की कमजोरी साबित हुई है कि उन्हें पिछले दो महीने से प्रधानमंत्री ने मिलने तक का समय नहीं दिया और अब इनेलो पीएम को इस संबंध में जल्द ही मिलेगी अन्यथा जरूरत पड़ी तो जंतर-मंतर पर धरना भी दिया जाएगा। इनेलो नेताओं ने कहा कि चौधरी देवीलाल ने जब अलग हरियाणा राज्य की मांग उठाई थी तो उस समय भी प्रदेशभर की पंचायतों व अन्य निर्वाचित संस्थाओं ने प्रस्ताव पारित करके उन्हें सौंपे थे ताकि केंद्र सरकार पर दबाव बनाया जा सके और लोगों की आवाज सरकार तक पहुंचाई जा सके। इनेलो नेताओं ने कहा कि जब तक मजबूती के साथ संघर्ष को आगे नहीं बढ़ाया जाएगा तब तक प्रदेश को उसके हिस्से का पानी नहीं मिल पाएगा। 
इनेलो नेताओं ने कहा कि आज प्रदेशभर से लोग उन्हें भरोसा दिला रहे हैं कि वे बढ़-चढक़र जलयुद्ध में भाग लेंगे और इसके लिए उन्हें जगह-जगह पर नहर खोदने के लिए कस्सी भी भेंट की जा रही है। इनेलो नेताओं ने कहा कि हरियाणा के अलग राज्य के तौर पर गठन के 50 सालों बाद भी सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के बावजूद अपने हिस्से का पानी न मिलना इससे ज्यादा कोई और ज्यादती नहीं हो सकती। इनेलो नेताओं ने भाजपा सरकार द्वारा जाट आरक्षण आंदोलन की आड़ में प्रदेश में लोगों के आपसी भाईचारे को तोडऩे के प्रयासों का पुस्तिका में उल्लेख करने के साथ-साथ प्रदेश सरकार द्वारा धान व बाजरे की खरीद में की गई धांधली, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों की लूट और स्वर्ण जयंती समारोह, प्रवासी दिवस, सरस्वती विकास बोर्ड व गीता जयंती समारोह के नाम पर लोगों के खून-पसीने की कमाई को बर्बाद करने सहित अनेक प्रमुख मुद्दों का भी इस पुस्तिका में विस्तार से उल्लेख किया गया है। इनेलो नेताओं ने कहा कि पहले दस साल तक कांग्रेस सरकार ने एसवाईएल को लेकर टालमटोल का रवैया अपनाया और अब भाजपा सरकार भी इस मामले में टालमटोल का रवैया अपनाकर हरियाणा को उनके अधिकारों से वंचित करना चाहती है जिसे किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। अब इनेलो के नेता पहली फरवरी से 10 फरवरी तक हर गांव, वार्ड व मोहल्ले में जाकर लोगों को इस बारे में जागृृत करने के साथ-साथ सरकार की जनविरोधी नीतियां और विफलताओं को भी उजागर करेंगे।

Monday, January 23, 2017

एसवाईएल पर नेता प्रतिपक्ष ने पीएम को लिखा पत्र, मिलने के लिए मांगा समय



चंडीगढ़, 23 जनवरी: इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाए जाने की मांग को लेकर पीएम से मिलने के लिए समय मांगा है। नेता प्रतिपक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सोमवार एक पत्र लिखकर सर्वोच्च न्यायालय का फैसला लागू करवाए जाने और एसवाईएल के मुद्दे पर हरियाणा की मुख्य विपक्षी पार्टी इनेलो को मिलने का समय दिए जाने की मांग की है। नेता प्रतिपक्ष ने पीएम को लिखे पत्र में कहा कि इनेलो निरंतर प्रयासरत है कि एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाया जाए ताकि हरियाणा को उसके हिस्से का पूरा पानी मिल सके।
नेता प्रतिपक्ष ने पीएम को लिखे पत्र में कहा कि आप हरियाणा के मामलों से पिछले काफी अर्से से जुड़े रहे हैं इसलिए इस बारे में भी भलीभांति जानते हैं कि सर्वोच्च न्यायालय ने एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाए जाने को लेकर 2002 में एक फैसला दिया था ताकि हरियाणा एसवाईएल के माध्यम से अपने हिस्से का पानी ले जा सके। सर्वोच्च न्यायालय ने एसवाईएल को पूरा करवाए जाने के लिए पंजाब व केंद्र के लिए एक समय सीमा भी तय की थी। इसके बाद पंजाब द्वारा दायर पुनर्विचार याचिका का भी निपटारा करते हुए सर्वोच्च न्यायालय ने हरियाणा के पक्ष में फैसला दिया था। इसके बाद पंजाब सरकार ने पंजाब विधानसभा में नदी जल समझौते रद्द करने वाला 2004 का एक ऐसा बिल पास किया जिसका उदाहरण आज तक कहीं नहीं मिलता। इस बिल की संवैधानिकता पर सलाह लेते हुए इसे राष्ट्रपति ने सर्वोच्च न्यायालय के पास संदर्भ भेजा था। अब सर्वोच्च न्यायालय ने इस बिल को पूरी तरह से असंवैधानिक बताते हुए अपनी राय दे दी है जिससे एसवाईएल का निर्माण करके हरियाणा को उसके हिस्से का पानी दिए जाने के रास्ते की सभी बाधाएं भी दूर हो गई हैं।
इनेलो नेता ने कहा कि ये बेहद चिंताजनक है कि हरियाणा के किसानों को अब लगता है कि सरकार एसवाईएल नहर के माध्यम से हरियाणा के हिस्से का पानी लाकर उनके खेतों तक पहुंचाने के मामले में कोई प्रयास नहीं कर रही। जिसके चलते प्रदेश के लोगों व पंचायतों में भारी रोष व गुस्सा पाया जा रहा है और वे अपने जनप्रतिनिधियों से इस बारे में भी सवाल करने लगे हैं कि उन्होंने नहर के अधूरे निर्माण को पूरा करवाने के लिए अब तक क्या कदम उठाए? नेता प्रतिपक्ष ने इनेलो द्वारा इस मामले में किए जा रहे सराहनीय प्रयासों का उल्लेख करते हुए कहा कि पार्टी इस दिशा में निरंतर प्रयासरत है कि हरियाणा के लोगों को उनके हिस्से का पानी मिल सके। उन्होंने यह भी कहा कि इनेलो प्रदेश हित में एसवाईएल नहर के अधूरे निर्माण को पूरा करवाने के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगी। नेता प्रतिपक्ष ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा तुरंत जरूरी कदम उठाए जाने की जरूरत है। इसलिए प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी इनेलो को मिलने का समय प्रदान किया जाए ताकि वे इस मामले की गम्भीरता और पूरी वस्तुस्थिति से आपको अवगत करवा सके।
24 को चंडीगढ़ में होगी इनेलो की बैठक, पार्टी सांसद, विधायक, जिला प्रधान व हलका प्रभारी लेंगे हिस्सा

इनेलो ने पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों की एक अहम बैठक 24 जनवरी दोपहर को चंडीगढ़ में बुलाई है। बैठक में पार्टी के सभी सांसद, विधायक, जिला प्रधान व हलका प्रभारी हिस्सा लेंगे। बैठक की अध्यक्षता इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला और प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा करेंगे। बैठक में इनेलो की ओर से पहली फरवरी से 10 फरवरी तक शुरू किए जा रहे जनजागरण अभियान की तैयारियों को अंतिम रूप देने और इस बारे में रणनीति तैयार की जाएगी। 

इनेलो पर उंगली उठाने वाले अपने गिरेबान में झांके  


चरखी दादरी: जनता द्वारा नकारे गए लोग बेवजह की बयानबाजी कर अपने आकाओं को खुश करने की कोशिश कर रहे हैं, जबकि जनता उनकी राजनीति में जमीनी हकीकत को अच्छी प्रकार से जानती है। ऐसे नेताओं को युवा व छात्र हितों से कोई सरोकार नहीं है। ये नेता अपने स्वार्थपूर्ति के लिए सभी राजनैतिक दलों के दरवाजे खटखटा चुके हैं। यह बात युवा इनेलो हलका अध्यक्ष शशि शर्मा व इनसो नेता सूरज बैनिवाल ने रविवार को यहां जारी अपने प्रेस बयान में कही। उन्होंने कहा कि जिस राजनैतिक दल पर ये लोग उंगली उठा रहे हैं, कभी उसी दल में ही इन  लोगों ने शामिल होने का प्रयास किया था, लेकिन चौ. ओमप्रकाश चौटाला ने इन नेताओं की छवि को देखते हुए पार्टी में शामिल नहीं किया। इसी कारण से ये लोग बौखलाकर बेतुकी बयानबाजी कर रहे हैं।  
शशि शर्मा व सूरज बैनीवाल ने कहा कि आज कांग्रेसी कहलाने वाले  मान पिता-पुत्र राजनीति में जहां भी हैं, वह चौ. देवीलाल परिवार की देन है। उनसे दूर होने के बाद ये लोग छोटे से छोटे चुनाव में जीत हासिल नहीं कर पाए। ऐसे लोगों को पहले अपने गिरेबान में झांकना चाहिए उसके बाद ही किसी पर उंगली उठाएं। इनेलो ही एक मात्र ऐसा राजनैतिक दल है जिसने सदैव युवा व छात्र हितों के लिए कल्याणकारी  फैसले लिए हैं। छात्रों के लिए बस पास की सुविधा इनेलो की ही देन है। इसके अलावा इनेलो ने ही साक्षात्कार के लिए जाने वाले युवाओं को फ्री बस सुविधा दी थी। भिवानी जिले के युवाओं को रिकार्ड 13 हजार नौकरियां देने का काम भी इनेलो सरकार ने ही किया था। युवा सांसद दुष्यंत चौटाला व इनसो अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला छात्र व युवा हित के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। युवाओं की आवाज को सड़क से लेकर विधानसभा व लोकसभा में बुलंद करते हैं। कांग्रेस को युवा हितों से कोई सरोकार नहीं है। ये लोग केवल अनगर्ल बयानबाजी तक सीमित हैं। कांग्रेस ने अपने 10 वर्ष के शासनकाल में केवल क्षेत्रवाद, भाई भतीजावाद व बेरोजगारी को बढ़ावा दिया। अगर सही मायनों में छात्र हितैषी होती तो अपने कार्यकाल के दौरान छात्र संघ चुनाव को बहाल करती।
डबवाली ‘नेकी दा घर’ में पहुंची विधायक नैना चौटाला, जरूरतमंदों के लिए दिए गर्म वस्त्र


मंडी डबवाली, 22 जनवरी- समाज सेवा ही मानव का सबसे बड़ा धर्म है। जिसे करने से मन को शांति व सकून मिलता है। समाज सेवा अगर मिलकर की जाए तो ओर भी अच्छा है जिससे जरूरतमंदों को लाभ हो सके। यह बात डबवाली की विधायक नैना सिंह चौटाला सामाजिक संस्था ने एनजीओ अपने द्वारा संचालित ‘नेकी दा घर’ में सभी सदस्यों से बातचीत करते हुए कही। इस मौके पर विधायक नैना सिंह चौटाला ने स्वयं की ओर से जरूरतमंद लोगों में वितरण के लिए गर्म वस्त्र भी नेकी दा घर में दिए। इसके अलावा विधायक नैना चौटाला ने संस्था सदस्यों से काफी देर तक खुलकर बात करते हुए सामाजिक गतिविधियों के बारे में जानकारी जुटाई। उन्होंने कहा कि संस्था का यह प्रयास बहुत ही अच्छा है व इससे गरीब व जरूरतमंद लोगों को फायदा होगा। उन्होंने कहा कि उनका स्वयं का भी यही प्रयास होता है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को किसी भी प्रकार से सहायता कर सके। इस मौके पर संस्था की ओर से अध्यक्ष मथरा दास चलाना ने बताया कि नेकी दा घर में लोग पुरानी चीजों को छोड़ जाते है, जिन्हें जरूरतमंद लोग ले जाते है। उन्होंने बताया कि संस्था ने गर्म वस्त्रों का वितरण करने के साथ-साथ त्वरित मुद्दे बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत संस्था सेमीनार के जरिए लोगों को जागरूक करती है। संस्था ने मोबाइल ब्लड बैंक बनाया हुआ है। जिससे देश की कई सामाजिक संस्थाएं जुड़ी हैं। सभी मिलकर इमरजेंसी के समय रक्तदाता मुहैया करवाने का काम करती हैं। विधायक ने संस्था के कामों को सराहते हुए कहा कि सभी के सामूहिक प्रयासों से सामाजिक कार्य हो सकते हैं। इस मौके पर हलका प्रधान सर्वजीत मसीतां, गिरदारी बिस्सू, धेला राम सुथार व रणदीप सिंह मटदादू भी मौजूद थे। 
संस्कारों को संजोए है गुरूकुल, कन्या गुरूकुल एक साथ दो परिवारों को दे रहे हैं संस्कार-दुष्यंत चौटाला


हिसार, 22 जनवरी: कन्या गुरूकुल हमारे समाज को दोहरा लाभ पहुंचा रहे हैं। इन गुरूकुल में शिक्षा ग्रहण करने वाली कन्याएं एक नहीं बल्कि दो परिवारों को संस्कार प्रदान करेंगी। ये शब्द इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने शनिवार को डोभी के कन्या गुरूकुल में आयोजित समारोह में बोलते हुए कहे। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कन्या गुरूकुल के कुलपति बलजीत सिंह को एक लाख 20 हजार रूपये का चैक प्रदान किया। यहां पहुंचने पर गुरूकुल की छात्राओं ने सांसद दुष्यंत चौटाला सहित अन्य अतिथियों का स्वागत किया। सांसद दुष्यंत चौटाला ने गुरूकुल में आरओ सहित एक वाटर कूलर देने की घोषणा की। उन्होंने इस गुरूकुल में पढऩे वाली छह छात्राओं को गोद लेने की घोषणा करते हुए कहा कि उनकी फीस, खाने-पीने व पुस्तकों आदि का खर्च वे स्वयं वहन करेंगे। ये सभी छात्राएं निर्धन परिवारों से संबंध रखती हैं। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि गुरूकुल हमारें संस्कारों को न केवल संजोए हुए हैं बल्कि इनमें पढऩे वाले विद्यार्थियों के माध्यम से एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक भारत की वैदिक संस्कृति और संस्कारों को पहुंचा रहे हैं। उन्होंने छात्राओं के अध्ययन व अन्य सुविधाओं के लिए कन्या गुरूकुल के संस्थापकों की प्रशंसा की। इस अवसर पर जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, भागीरथ नंबरदार, अमित बूरा, पूर्व आईजी दयानंद बैनिवाल, सुभाष नंबरदार, सरपंच किरण, मास्टर भीम सिंह लौरा, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, राजेंद्र चुटानी, गुरूकुल के आचार्य परमजीत बैनिवाल, अतर सिंह आर्य सहित भारी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। 


इसी बीच, दुष्यंत चौटाला ने गांव बालसंमद में पार्टी कार्यालय का उद्घाटन किया और ग्राम वासियों की समस्याएं सुनीं और आश्वासन दिया कि उनकी समस्याओं को प्राथमिकता से हल करवाई जाएंगी।  इस अवसर पर दर्जनों युवकों ने कांग्रेस व भाजपा छोड़ कर इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। गांव में पहुंचने पर गांव वासियों की ओर दुष्यंत चौटाला का जोरदार स्वागत किया गया। पार्टी के कर्मचारी प्रकोष्ठ के महासचिव भरत सिंह लौरा ने दुष्यंत को पगड़ी पहनाई। युवा सांसद ने पार्टी में शामिल होने वाले युवकों का स्वागत करते हुए कहा कि देश की तकदीर युवाओं के हाथ में हैं। युवाओं में देश की दिशा और दशा बदल सकते हैं, बेशर्तें की वे अपनी ताकत को पहचानते हुए संगठित हों तथा देशहित में काम करें। उन्होंने कहा कि हमारा देश निर्याणक मोड़ पर है, इसके लिए जरूरी है कि देश को आगे बढ़ाने के लिए राजनीति की दिशा भी बदले। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया वे राजनीति में अपने सक्रियता बढ़ाते हुए सकारात्मक और रचनात्क राजनीति के युग का सूत्रपात करें। दुष्यंत चौटाला ने समाज की एकता और भाईचारे पर बनाए रखने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि युवा राजनीति से उपर उठ कर समाज में एकता-समरता और भाईचारा बनाए रखने में अपनी भूमिका निभाएं। उन्होंने कहा कि कुछ राजनीतिक दल वोटों की खातिर जात-पात की बात कर समाज को बांटने का प्रयास करते हैं। उन्होंने कहा कि जात-पात की बात करने वाले दल चुनावों के बाद पांच साल तक दिखाई नहीं देते जबकि गांव-शहर में समाज के सभी वगों को एक दूसरे पर निर्भर रहना पड़ता है और समाज के ही लोग सुख-दुख के समय एक दूसरे की मदद करते हैं।


एसवाईएल के लिए अब निर्णायक संघर्ष का समय, इनेलो हर कुर्बानी देने के लिए तैयार - अभय चौटाला


एसवाईएल निर्माण के लिए अब निर्णायक संघर्ष का वक्त आ गया है और अभी नहीं तो कभी नहीं, की सोच के साथ 23 फरवरी को नहर खुदाई के लिए हमें जोरदार अभियान शुरू करना होगा। हरियाणा किसी से खैरात नहीं बल्कि अपने हिस्से का पानी मांग रहा है जोकि सर्वोच्च न्यायालय के फैसने अनुसार एसवाईएल के निर्माण से ही प्रदेश में आ सकता है। यह बात इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने शनिवार को रेवाड़ी व नारनौल में इनेलो कार्यकर्ताओं के जिलास्तरीय सम्मेलनों को सम्बोधित करते हुए कही। इनेलो नेता ने कहा कि अधिकार मांगने से नहीं मिला करते बल्कि उनके लिए संघर्ष करना पड़ता है और कुर्बानियां देनी पड़ती हैं। एसवाईएल के लिए इनेलो कार्यकर्ता बड़ी से बड़ी कुर्बानी देने के लिए तैयार हैं और 23 फरवरी को इस्माइलपुर से हर हालत में नहर की खुदाई शुरू होगी।

 
नेता प्रतिपक्ष ने कांग्रेस व भाजपा पर एसवाईएल के नाम पर राजनीति करने और दोहरी भाषा बोलने का आरोप लगाते हुए कहा कि एक तरफ कांग्रेसी नेता हरियाणा में घडिय़ाली आंसू बहाते हैं और दूसरी तरफ कांग्रेस का राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला पंजाब चुनाव के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी करते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व की ओर से कहता है कि पंजाब का एक बूंद पानी भी हरियाणा समेत किसी अन्य राज्य को नहीं दिया जाएगा। इनेलो नेता ने कहा कि दस सालों तक हरियाणा व केंद्र में कांग्रेस की सरकार रही लेकिन भूपेंद्र सिंह हुड्डा से लेकर कांग्रेस के किसी नेता ने एसवाईएल का निर्माण करवाना तो दूर इसका कभी उल्लेख तक नहीं किया। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश के हितों को कुर्बान करने व हरियाणा के साथ विश्वासघात करने वाले रणदीप सुरजेवाला को हरियाणा से विधायक रहने का कोई नैतिक व लोकतांत्रिक अधिकार नहीं है और उन्हें तुरंत विधायक पद से इस्तीफा देकर पंजाब चले जाना चाहिए जिसके लिए वे हरियाणा को एक बूंद पानी न देने की बात कहते हैं। उन्होंने कहा कि दस साल सीएम रहते हुड्डा ने चुप्पी साधे रखी और अब उनकी पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व व कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता व हरियाणा से कांग्रेस विधायक का एसवाईएल स्टेंड सामने आने के बाद हुड्डा को स्पष्ट करना चाहिए कि क्या वे कांग्रेस आलाकमान के पंजाब का पानी किसी अन्य राज्य को न देने वाले स्टेंड से सहमत हैं अथवा उन्हें कांग्रेस से त्याग पत्र देकर जलयुद्ध में शामिल होना चाहिए। 


अभय सिंह चौटाला ने भाजपा को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि पिछले करीब अढाई साल से हरियाणा व केंद्र में भाजपा की सरकार है और पंजाब में भी कांग्रेस की सहयोगी सरकार रही है। उन्होंने कहा कि पंजाब में भाजपा का विधायक विधानसभा में बिल पेश करता है कि पंजाब एक बूंद भी पानी की किसी अन्य राज्य को नहीं देगा और हरियाणा में सीएम से लेकर सभी भाजपा नेता इस पर चुप्पी साधे रखते हैं। उन्होंने कहा कि सर्वदलीय बैठक में यह तय हुआ था कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में सभी दलों का प्रतिनिधिमण्डल एसवाईएल के मुद्दे पर पीएम से भेंट कर उन्हें हरियाणा के हितों की रक्षा करने और पूरी वस्तुस्थिति से अवगत करवाएगा। लेकिन करीब दो महीने गुजर जाने के बाद भी आज तक सीएम प्रधानमंत्री से मिलने का समय नहीं ले पाए जिससे साफ है कि कांग्रेस की तरह भाजपा भी नहीं चाहती कि हरियाणा को उसके हिस्से का एसवाईएल के माध्यम से पानी मिले। इनेलो नेता ने भाजपा सरकार को हर मोर्चे पर विफल बताते हुए कहा कि सरकार ने कोई भी अपना चुनावी वायदा पूरा नहीं किया है और हर मोर्चे पर पूरी तरह से विफल रही है। 


नेता प्रतिपक्ष ने केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह द्वारा कोसली में दिए गए बयान जिसमें उन्होंने कहा था कि सरकार में मेरी चलती नहीं, पर चुटकी लेते कहा कि अगर सरकार में उनकी नहीं चलती तो उन्हें केंद्रीय मंत्री पद से त्याग पत्र दे देना चाहिए। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि ये लोग सिर्फ चुनाव में घडिय़ाली आंसू बहाकर जनता के वोट हथिया लेते हैं और लोग जब काम के लिए इनके पास जाते हैं तो कह देते हैं कि मेरी सरकार में चलती नहीं है। उन्होंने कहा कि दक्षिणी हरियाणा की जनता ऐसे लोगों को अब अच्छी तरह से पहचान गई है और उनके धोखे में फिर से आने वाली नहीं है। रेवाड़ी के सम्मेलन में सुनील चौधरी, डॉ राजपाल यादव, जगफूल यादव, रामकिशन छिल्लर, कमला शर्मा, किरणपाल यादव, जगदीश प्रसाद डहीनवाल, सुभाष गर्ग, श्याम सुंदर सबरवाल, डॉ संजय मेहरा, रामफल कोसलिया, वरुण गांधी, हरीश झाबुआ, टेकचंद सैनी, मुबीन खान, सतपाल यादव, राजबीर कालुवास, मंजीत, जैलदार, विनय यादव पार्षद, लवली दुआ, उर्मित ठक्कर, राजू चौधरी, यसवीर लूला अहीर, एडवोकेट रजवन्त सिंह डहीनवाल भी उपस्थित थे। नारनौल सम्मेलन में जिलाध्यक्ष सतीश यादव नताना, जसबीर ढिल्लों एडवोकेट, मंजू चौधरी, राव होशियारसिंह, बजरंगलाल अग्रवाल, सतबीर एडवोकेट बड़ेसरा, विद्यानंद लांबा, रविंद्र गागडवास, सुदेश ढिल्लो, सुमित्रा सोनी, सुरेश यादव पटीकरा, अमरसिंह ब्रह्मचारी, कर्मवीर यादव, नरेश सेखावत, रतीराम आर्य, रघुबीर सैनी, सत्यनारायण गुप्ता, केशव संघी एडवोकेट, भीम सेहरावत, मोहम्मद सफी, हरीराम सैनी, जयसिंह सैनी, रामसिंह सैनी, रामकुमार महता, रोशनलाल थाना, अमरसिंह जांगड़ा, वीरसिंह गहली, सुरेंद्र यादव पटीकरा, ओमप्रकाश सोनी, दाताराम जांगड़ा, संजीव गुप्ता, केशव वर्मा, रामकुमार मकसूसपुरिया, सुरेश शास्त्री, निर्मला तंवर, सरदार गुरूदीपसिंह जोहल, अशोक सैनी, विजय छिलरो, सत्तू खटीक, रोहताश यादव, सूरज ढिल्लो भी मौजूद थे। अभय चौटाला पार्टी नेता भाना राम सैनी का कुशलक्षेत्र पूछने उनके आवास पर भी गए।

Friday, January 20, 2017

पीएम के पास जलीकट्टू के लिए है वक्त पर एसवाईएल के लिए समय क्यों नहीं: दुष्यंत चौटाला

हांसी, 20 जनवरी: माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तलिमनाडु के मुख्यमंत्री को जलीकट्टू पर बातचीत करने के लिए समय दे सकते हैं तो फिर अति संवेदनशील और हरियाणा की जीवनरेखा से जुड़े एसवाईएल मुद्दे पर क्यों नहीं समय दिया। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर पीएम से समय  क्यों नहीं ले सके। यह सवाल इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने खड़ा किया है। वे आज यहां हाजमपुर, ढाणी पुरिया, सहित कई गांवों में लोगों से रूबरू हो रहे थे। 
युवा सांसद ने मनोहर लाल खट्टर की मंशा पर सवाल खड़ा करते हुए कहा क् िसीएम एसवाइएल निर्माण के मुद्दे को जानबूझ कर दरकिनार कर प्रदेश की जनता के हितों की बलि दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के लिए प्रदेश से ज्यादा अहम उनकी पार्टी है। वे दो माह से पीएम से समय नहीं ले सके। उन्होंने कहा कि माननीय सुप्रीम कोर्ट ने कल फिर अपने फैसले में कहा कि केंद्र सरकार का काम है कि वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले को किस प्रकार लागू करती है। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सरकार को बिना किसी देरी के एसवाईएल का निर्माण शुरू करना चाहिए। युवा सांसद ने कहा कि नहर खोदने के लिए केंद्र सरकार को सुरक्षा प्रदान करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हरियाणा अपने हक का पानी लेकर रहेगा चाहे इसके लिए कितनी बड़ी कीमत चुकानी पड़े। उन्होंने लोगों से अधिक से अधिक संख्या में 23 फरवरी को अंबाला के इस्लाइमपुर पहुंचने का आह्वान किया। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि नोटबंदी का सर्वाधिक नकारात्मक असर ग्रामीण क्षेत्रों पर पड़ा है। 70 दिन बाद भी गांवासियों की जिंदगी पटरी पर नहीं लौटी है और लोगों को अपनों पैसों के लिए घंटों लाइन में खड़ा रहने के बावजूद खाली हाथ लौटना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी ने लाखों लोगों का रोजगार छीन लिया है। दौरे में उनके साथ जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, जिला युवा प्रधान अमित बूरा, धारासिंह मैंदा, इंद्र फौजी, विनोद मेहता, कर्णसिंह दैपल, राजीव शर्मा, रविंद्र सैनी,  बाली भाटोल ,पवन यादव, कृष्ण सरपंच, शिव कुमार कुलाणा, नवदीप मलिक, संदीप सिंगल सहित अन्य पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे। 
भाजपा व कांग्रेस प्रदेश को एसवाईएल के पानी से वंचित रखना चाहती हैं - अभय चौटाला


गुड़गांव, 20 जनवरी : कांग्रेस व भाजपा की एसवाईएल पर चुप्पी बेहद चिंताजनक है और दोनों पार्टियां इस मुद्दे पर केवल वोट की राजनीति कर रही हैं जिससे इनकी दोगली नीति उजागर हो रही है। इनेलो 23 फरवरी को प्रदेशवासियों को साथ लेकर इस्माइलपुर से एसवाईएल की खुदाई करेगी और इसके लिए प्रदेश स्तर पर जल युद्ध के नाम पर ग्राम स्तर पर व्यापक जनसंपर्क अभियान भी चलाया जा रहा है। उक्त शब्द इंडियन नैशनल लोकदल के वरिष्ठ नेता व विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने आज गुड़गांव स्थित स्थानीय अग्रवाल धर्मशाला में इनेलो के जिला स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहे। उन्होंने कहा कि भाजपा व कांग्रेस एक सुनियोजित षड्यंत्र के तहत हरियाणा की जनता को एसवाईएल के पानी से वंचित रखना चाहती है, लेकिन इनेलो इस षड्यंत्र को सफल नहीं होने देगी और इनेलो कार्यकर्ता आगामी 23 फरवरी को इस्माईलपुर पहुंचकर एसएवाईएल की खुदाई करके पानी हरियाणा में लाएंगे। श्री चौटाला ने कहा कि एसवाईएल मुद्दे पर कांग्रेस तथा भाजपा की नियत साफ नहीं है। प्रधानमंत्री भी एसवाईएल के मुद्दे पर बात नहीं करना चाहते। इससे स्पष्ट है कि भाजपा नहीं चाहती कि हरियाणा के हिस्से का पानी उसको मिले। श्री चौटाला ने सरकार पर प्रदेश हितों की अनदेखी करने, कोई भी चुनावी वायदा पूरा न करने और लोगों को जात-पात, धर्म-मजहब के नाम पर बांटने व किसानों को बर्बाद करने का भी आरोप लगाया।  इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा सरकार प्रदेश के लोगों की खून-पसीने की कमाई को कभी स्वर्ण जयंती के नाम पर तो कभी गीता जयंती व अप्रवासी सम्मेलनों के नाम पर पानी की तरह बहा रही है। प्रदेश की भाजपा सरकार ने अब तक केवल 3 ही योजनाएं प्रदेश में बनाई हैं। पहली योजना प्रदेश को बांटने की, जोकि जाट आरक्षण आंदोलन की आड़ लेकर चलाई, लेकिन प्रदेश के लोग आपसी भाईचारा पसंद करते हैं और उन्होंने भाजपा को इस योजना में सफल नहीं होने दिया। दूसरी योजना प्रधानमंत्री फसल बीमा के नाम पर किसानों को लूटने की बनाई। इसके तहत बड़े-बड़े उद्योगपतियों अंबानी जैसों को लाभ पहुंचाया गया। तीसरी योजना किसानों को धान व बाजरे की खरीद में लूटने की बनाई। सरकार ने बड़े-बड़े मिलरों से मिलकर बहुत बड़ा घोटाला करके मोटा मुनाफा कमाया। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि एसवाईएल नहर की खुदाई के साथ-साथ कांग्रेस तथा भाजपा की जड़ें खोखली करने का काम करेंगे। 


उन्होंने कहा कि एसवाईएल हरियाणा के लिए जीवन रेखा है। एसवाईएल का पानी प्रदेश में आते ही खुशहाली का एक नया दौर शुरू होगा और इसके लिए इनेलो कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी। इस अवसर पर इनेलो के वरिष्ठ नेता एंव पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचन्द गहलोत ने कहा कि भाजपा सरकार हर मोर्चे पर पूरी तरह विफल हो गई है और भाजपा ने लोगों से किया कोई भी वायदा अभी तक नहीं निभाया जिसके चलते सरकार के प्रति समाज के हर वर्ग में भारी रोष और गुस्सा है। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय का फैसला हरियाणा के पक्ष में आने के बावजूद अभी तक नहर का निर्माण न होना न सिर्फ सर्वोच्च न्यायालय की अवमानना है बल्कि यह भी दर्शाता है कि कांग्रेस व भाजपा इस मुद्दे पर गम्भीर नहीं है और केवल एसवाईएल पर राजनीति कर रही है। श्री गहलोत ने कहा कि गुड़गांव नगर निगम को भंग हुए लगभग 7 महीन बीत जाने के बाद तथा माननीय पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट के स्पष्ट आदेश के बाद भी चुनाव में देरी करना सरकार की लोकतंत्र विरोधी नीति को दर्शाता है। सरकार द्वारा बौखलाहट में गुड़गांव नगर निगम वार्डबंदी में अनेक प्रकार की धांधलियां की है। इस अवसर पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अन्तराम तंवर, जिलाध्यक्ष एंव पूर्व विधायक गंगाराम, जिला प्रधानमहासचिव रमेश दहिया, हल्काध्यक्ष शमशेर कटारिया, शैलेश खटाणा चैयरमैन, रीशिराज राणा, महेश चौहान, शशी धारीवाल, राजेन्द्र धनखड़, राव मानसिंह, देवा प्रधान, अतरसिंह रूहिल, दलबीर धनखड, कपिल त्यागी, एस0 एल0 जोतरीवाल, रामनिवास मंगला, सतपाल गाड़ौली, ब्रहम डागर, बेगराज गुर्जर, कांसीराम सरपंच, धर्मबीर बाघोरिया, रणधीर सिंह, रामे प्रधान, बिटटू चौहान, भूपेन्द्र सुखराली, रूपसिंह राठी, पर्वत ठाकराण, कर्मबीर सरपंच, मोहनलाल वर्मा, डॉ0 अभिशेक चौधरी, सुरेन्द्र तंवर, गौरव छौक्कर, ललित मानेसर, प्रदीप जाखड़, जितेन्द्र पंवार, नरेन्द्र  बेनीवाल, विक्रम छौक्कर, मनोज तंवर, चेतन मल्होत्रा, नरेश सहरावत, राकेश दलाल, नरेश खर्ब, सुनिल गुलिया, नितिन सैनी, विजय शर्मा, सुरेश चौहान, सिमरनजीत, राजेश डागर, अनिल अरोड़ा, श्रीनिवास सैन, जगमोहन ठाकराण, लोकेश दहिया, अमरजीत कौर, बिजेन्द्र कौर, कान्ता देवी, गीता देवी, सरला देवी, उर्मिला, कृष्ण गाड़ौली, तेजू राव, शकील अहमद, राजेश यादव, नरेश त्यागी, राजपाल फौजी, हरिकिशन सरपंच, बीपी जांगड़ा, राकेश गर्ग, शमशेर डागर, बल्ले चैयरमैन, मेहरचन्द दायमा, सुरेन्द्र ठाकराण, स्वर्ण धनखड़, सुनिल शर्मा, मोहन सैनी, खुबीराम मास्टर, रामावतार राघव, धर्मपाल जांगड़ा, विनोद चौहान, हरिप्रसाद भांमला, सुदेश यादव, सुधीर खटाणा, सुखबीर तंवर, साहब सिंह सोलंकी, मुक्का शर्मा, मुकेश पहलवान, पवन धनकोट, सहित सैंकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित थे।
हल्का गढ़ी सांपला किलोई की भूतपूर्व सैनिक प्रकोष्ठ कार्यकारिणी घोषित

गढ़ी सांपला किलोई, 20 जनवरी : इनेलो पार्टी ने आज अपने भूतपूर्व सैनिक प्रकोष्ठ की कार्यकारिणी घोषित कर दी। इस बात की जानकारी देते हुए हल्का संयोजक सूबेदार सुखबीर सिंह ने बताया कि नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला, सांसद दुष्यंत चौटाला, प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, भूतपूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक व बाढड़ा से पूर्व विधायक कर्नल रघुबीर सिंह छिल्लर, जिलाध्यक्ष व प्रदेश प्रवक्ता सतीश नांदल, जिला संयोजक कैप्टेन अजमेर सिंह से विचार विमर्श करके गढ़ी सांपला किलोई हल्के की  नवनियुक्त कार्यकारिणी घोषित की गयी है।
इस बात की जानकारी देते हुए पार्टी प्रवक्ता हैप्पी जांगड़ा ने बताया कि हवलदार दयानंद को वरिष्ठ उपप्रधान बनाया गया है जबकि हवलदार रणधीर सिंह, हवलदार ओमप्रकाश, हवलदार सूरजमल, हवलदार राजपाल, हवलदार धर्मबीर व कैप्टेन रामकुंवार को हल्के का उपप्रधान बनाया गया है। वहीं प्रधान महासचिव हवलदार सूरजभान को व महासचिव पद की जिम्मेवारी नायक सुरेंद्र, सूबेदार यशपाल, सूबेदार कपूर सिंह, सूबेदार सुभाष सिंह, हवलदार दलबीर सिंह, नायक सुरेश कुमार व सूबेदार जयपाल को सौंपी गयी है।
प्रवक्ता हैप्पी जांगड़ा ने बताया कि सचिव पद की जिम्मेवारी सिपाही रामभज, हवलदार समुन्द्र सिंह, हवलदार महाबीर, सूबेदार सूबे सिंह, हवलदार महा सिंह, हवलदार कर्मबीर, हवलदार जयपाल सिंह को दी गयी है।
प्रचार सचिव सूबेदार होशियार सिंह तो संगठन सचिव सिपाही रामकुंवार व कोषाध्यक्ष हवलदार नफे सिंह को बनाया गया है। जबकि कार्यकारिणी सदस्य के रूप में सूबेदार श्रीभगवान, हवलदार ब्रह्मप्रकाश, सूबेदार फूल सिंह, हवलदार सूरजभान, हवलदार जयपाल, हवलदार जयचंद, हवलदार नरेश कुमार, सूबेदार अमर सिंह, हवलदार सरवर, हवलदार कृष्ण, हवलदार जगबीर, सिपाही सुरेश, हवलदार रणबीर व हवलदार कृष्ण को बनाया गया है।

दिल्ली प्रदेश इनेलो कार्यकारिणी का पुनर्गठन


नई दिल्ली, 20 जनवरी : इंडियन नेशनल लोकदल ने अपनी दिल्ली इकाई का पुनर्गठन किया है पार्टी सांसद एवम् दिल्ली प्रभारी श्री दुष्यंत चौटाला ने बताया की राष्ट्रीय अध्यक्ष् चौधरी ओम् प्रकाश चौटाला महासचिव अजय सिंह चौटाला एवम् नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला जी से विचार विमर्श के बाद श्री हरी सिंह राणा को दिल्ली प्रदेश का अध्यक्ष दिनेश डागर को पार्टी का प्रवक्ता तथा श्रीमति नीलम को महिला शाखा का अध्यक्ष बनाया गया है श्री चौटाला ने बताया की शीघ्र ही पूरी कार्यकारणी की घोषणा कर दी जायगी I श्री हरी सिंह राणा इससे पहले 2002 से 2010 तक पार्टी के प्रधान रह चुके है I श्री दिनेश डागर 1999 से 2005 तक प्रदेश की युवा शाखा के प्रधान तथा 2005 से अब तक प्रदेश महासचिव एवम् प्रवक्ता रहे है श्रीमती नीलम वर्तमान में डिचाउ कला से वर्तमान में निगम पार्षद है श्री चौटाला ने कहा की आगामी निगम चुनाव में पार्टी अपनी पूरी ताकत से चुनाव लड़ेगी तथा चौधरी देवीलाल जी की नितियो पर चलते हुए दिल्ली के हको की लड़ाई लड़ेगी दिल्ली के लोगो के लिए चौधरी देवीलाल ने अनेको कार्य किए है जिससे लोगो में चौधरी देवीलाल के प्रति विशेष श्रद्धा है
कलिंगा के खिलाडिय़ों के लिए स्टेडियम में बनाऊंगा हॉल - दुष्यंत चौटाला  


बवानीखेड़ा : गांव कलिंगा के स्टेडियम में खिलाडिय़ों के लिए हॉल की कमी जल्द ही पूरी हो जाएगी। इसके लिए इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने पांच लाख रूपये देने की घोषणा की। इसके अलावा सांसद दुष्यंत चौटाला ने गांव सैय व रेवाड़ीखेड़ी में विकास कार्यों के लिए अढ़ाई-अढ़ाई लाख रूपये देने की घोषणा की है। दुष्यंत चौटाला शुक्रवार को बवानीखेड़ा हलके के गांव कलिंगा, सैय, रेवाड़ीखेड़ा, ढाणी हरसुख व गुजरानी में ग्रामीणों से रूबरू हो रहे थे। गांवों में पहुंचने पर युवा सांसद का जोरदार स्वागत किया। सांसद दुष्यंत चौटाला ने गांव वासियों की समसस्याएं सुनी और उनकी समस्या के समाधान के लिए हर स्तर पर मदद करने का आश्वासन दिया। गांव कलिंगा में हरिसिंह परमार, बीडीसी राजकुमार परमार,  कौशल कलिंगा ने दर्जनों साथियों के साथ भाजपा छोड़ कर इनेलो ज्वाइन की। 


युवा सांसद ने कहा कि  देश में लूटेरा वर्ग मौज कर रहा है और कमेरा वर्ग बदहाल जिंदगी जीने को मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि कमेरे वर्ग के उत्थान के लिए न तो केंद्र सरकार गंभीर है और ही प्रदेश में खट्टर सरकार। कहने को तो प्रधानमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक गरीबों की बात करते हैं परन्तु योजनाएं और घोषणाएं कमेरे वर्ग के विरूद्ध करते हैं। सांसद ने नोटबंदी का जिक्र करते हुए कहा कि मोदी के इस फैसले कमेरे और गरीब वर्ग का सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। लाखों लोगों का रोजगार छिन गया वहीं बैंकों की लाइनों में भी इसी वर्ग को लगना पड़ा। उन्होंने कहा कि इस फैसले से हमारी अर्थव्यवस्था प्रभावित तो हुई ही ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी लोगों को अपने पैसों के लिए लाइन में लगने के बाद भी खाली हाथ लौटना पड़ रहा है। इस अवसर पर उनके साथ जिला प्रधान सुनील लांबा, जगदधना,, राजबीर तालू, जितेंद्र शर्मा, मनमोहन भुरटाना, गुड्डी लांग्यान, शकुतंला,सैनी, इंद्र परमार, मेवा फौजी, वीना सारसर, भगवती देवी, राजकुमार रतेरा, यशवीर घणघस, राहुल शर्मा, राजकुमार ढुल, वीरसिंह परमार, हरिसिंह परमार, जयकुमार कलिंगा, जगदीश सैनी, संजय पार्षद, बलराज चौहान, मनदीप तालू, जितेदं्र रिवाड़ी, बिट्टू शर्मा, बुधराम धानक, जगदीश सैनी,बजलीत सैनी, अजीत पुर, मैनपाल परमार, अजीत तिगड़ाना, दिलबाग चैयरमैन सहित अन्य कार्यकर्ता व पदाधिकारी उपस्थित थे। 
एस वाइ एल में पहले कांग्रेस तो अब भाजपा अटका रही है रोड़े - लितानी

हिसार, 20 जनवरी : हरियाणा प्रदेश के निर्माण से लेकर उसको पानी दिलाने के लिए जननायक चौधरी देवीलाल व उनके परिवार के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। जब कि कांग्रेस ने हमेशा इसमें रुकावट डालने का काम किया और वही काम अब भाजपा सरकार कर रही है। इनेलो जिला अध्यक्ष राजेंद्र लितानी ने एसवाईएल को राजनैतिक मुद्दा बनाये जाने पर आड़े हाथों लेते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि सयुंक्त पंजाब के समय जब वर्तमान में हरियाणा में आये क्षेत्रो को जब समान पानी नहीं मिलता था तब चौधरी देवीलाल ने अलग प्रदेश की मांग करते हुए समान जल बंटवारे की मांग की थी तो तत्कालीन कांग्रेस नेताओं ने देवीलाल का विरोध किया था। जब हरियाणा प्रदेश अस्तित्व में आया तो उन्होंने प्रदेश के किसानों के लिए रावी व्यास में से पानी देने की मांग उठाई, जब यह मांग जोर पकडऩे लगी तो कांग्रेस ने उस को एसवाईएल का नाम देकर मामले को लंबा खिंच दिया। परन्तु कांग्रेस ने कभी इसे गम्भीरता से नहीं लिया और केवल कागजों तक सीमित रही। 1977 में जब देवीलाल इस प्रदेश के मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने लंबित पड़ी इस योजना के लिए भूमि अधिग्रहण के लिए पंजाब सरकार को पैसा जारी किया। उसके बाद यह योजना आगे बढ़ी। परन्तु बाद की कांग्रेस सरकार के ढुलमुल रवैये की वजह से फिर अटकी रही। 1987 में फिर से लोकदल की सरकार बनी तो नहर का अधिकतर कार्य पूरा किया गया। लितानी ने रणदीप सुरजेवाला के एसवाईएल पर दिए गए बयान को केवल मात्र दिखावा बताते हुए कहा कि सुरजेवाला ने पंजाब कांग्रेस का घोषणा पत्र पंजाब दा पाणी, पंजाब वास्ते जारी करके प्रदेश के किसानों के साथ धोखा किया है। सुरजेवाला को किसान द्रोही की संज्ञा देते हुए इनेलो नेता लितानी ने कहा कि प्रदेश का किसान सुरजेवाला को उनके इस कुकृत्य के लिए कभी माफ नहीं करेगा। वंही एसवाईएल के न बनने के लिए भाजपा को बराबर का दोषी मानते हुए इनेलो जिला अध्यक्ष ने कहा कि जब सर्वोच्च न्यायालय ने स्पस्ट कह दिया है कि नहर का निर्माण केंद्र सरकार करेगी तो फिर देरी क्यों की जा रही है।