Friday, December 30, 2016

जिस सीएम को प्रधानमंत्री मिलने के लिए समय तक न दे, उन्हें पद पर रहने का अधिकार नहीं - अभय चौटाला 

चंडीगढ़, 30 दिसंबर: इनेलो नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला और अशोक अरोड़ा ने हरियाणा के मुख्यमंत्री पर एसवाईएल जैसे गम्भीर मुद्दे पर प्रदेश के हितों की रक्षा करने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए कहा कि जिस मुख्यमंत्री को प्रधानमंत्री मिलने के लिए समय तक न दे उसे अपने पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है और उन्हें तुरंत अपने पद से त्याग पत्र दे देना चाहिए। इनेलो नेताओं ने प्रकाशोत्सव पर आयोजित नगर कीर्तन प्रारंभ होने के अवसर पर आज यहां पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब में कहा कि मुख्यमंत्री एसवाईएल पर प्रदेश के हितों की लड़ाई लडऩे में बेहद कमजोर साबित हुए हैं और अब इनेलो प्रदेश के लोगों को साथ लेकर एसवाईएल पर अपने बलबूते पर लड़ाई लड़ेगी। इस अवसर पर पूर्व कृषि मंत्री जसविंदर सिंह संधू सहित अनेक प्रमुख इनेलो नेता मौजूद थे।
इनेलो नेताओं ने कहा कि एसवाईएल के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी और उस बैठक में मामले की गम्भीरता को देखते हुए यह तय किया गया था कि इस मुद्दे पर सर्वदलीय प्रतिनिधिमण्डल जल्दी ही प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति से मिलेगा और उनसे मिलने का समय मुख्यमंत्री तय करेंगे। राष्ट्रपति ने तो तुरंत मिलने का समय भी दे दिया और सर्वदलीय प्रतिनिधिमण्डल राष्ट्रपति से तो मिलकर अपनी बात भी उनके समक्ष रख आया था। अब करीब डेढ महीने का समय हो गया है मुख्यमंत्री को अभी तक प्रधानमंत्री ने मिलने का समय भी नहीं दिया है। जिससे साफ है कि प्रधानमंत्री हरियाणा के मुख्यमंत्री को मुख्यमंत्री ही नहीं मानते हैं। ऐसे में जिस सीएम को प्रधानमंत्री मिलने का समय न दे उसे सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है और उन्हें तुरंत अपना पद छोड़ देना चाहिए। 
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अब अगर प्रधानमंत्री सीएम को मिलने का समय दे भी देते हैं तो हम उनके साथ मिलने नहीं जाएंगे क्योंकि मुख्यमंत्री के हाथों में हरियाणा के हित सुरक्षित नहीं हैं और उनकी पार्टी एसवाईएल को लेकर लोगों के समर्थन से अपने बलबूते पर लड़ाई लड़ेगी। इनेलो नेता ने कहा कि एक तरफ सरकार सबका साथ सबका विकास और हरियाणा एक हरियाणवी एक जैसे नारे दे रही है वहीं दूसरी ओर नौकरियों की बंदरबांट में भाजपा सरकार कांग्रेस से भी चार कदम आगे निकल गई है। इनेलो नेता ने कहा कि प्रदेश में विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपतियों, प्रमुख सलाहकारों, विभिन्न अकादमियों के अहम पदो, सुशासन सहयोगियों व अन्य महत्वपूर्ण पदों पर प्रदेश से बाहर के लोगों को नियुक्त कर रही है। उन्होंने कहा कि एक कमरे में बैठकर लोगों की नियुक्ति सूचियां तैयार कर ली जाती हैं और चुपचाप उन्हें नियुक्त कर दिया जाता है। उन्होंने मछली पालन विभाग में नियुक्तियों मेें हुए घोटाले का उल्लेख करते हुए कहा कि वे जल्द ही एक पत्रकार सम्मेलन करके सरकार की इन सभी नियुक्तियों व अनियमितताओं का खुलासा करेंगे। उन्होंने लोक निर्माण विभाग में भाजपा से जुड़े  हुए एक ठेकेदार को सलाहकार नियुक्त किए जाने पर भी सवालिया निशान लगाया।
सवालों के जवाब में इनेलो नेता ने कहा कि उनके द्वारा खेलों के विकास में दिए गए योगदान के प्रति उन्हें भारतीय ओलंपिक संघ का  आजीवन अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। उन्होंने कहा कि इनेलो सरकार के समय उन्होंने हरियाणा ओलंपिक संघ के अध्यक्ष व भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष के नाते खेलों व खिलाडिय़ों के हित में अनेक ऐसी योजनाएं व नीतियां बनाई जिसका अनुसरण बाद में पूरे देश के अन्य राज्यों ने भी किया। जिसमें खिलाडिय़ों को नगद इनाम व अच्छे पदों पर नौकरियां दिए जाने की नीति भी शामिल थी। उन्होंने कहा कि उन्हें आजीवन अध्यक्ष बनाने पर आज जो लोग ऊंगली उठाते हैं उन्हें पहले ये भी बताना चाहिए कि  खेलों व खिलाडिय़ों को प्रोत्साहित करने संबंधी उनका क्या योगदान रहा है? उन्होंने आईओए की बैठक में यह भी मांग की थी कि जिन खेल संघों ने राज्यस्तरीय, क्षेत्रीय, राष्ट्रीय स्तरीय खेलों के आयोजन निरंतर नहीं किए और जो केवलमात्र कागजी संगठन बनकर रह गए हैं उन्हें भारतीय ओलंपिक संघ से दी गई मान्यता वापिस ले लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि उन्होंने इस बारे में ओईओए से एक तीन सदस्यीय कमेटी बनाकर सभी खेल संगठनों की गतिविधियों का पता लगाए जाने की भी मांग की थी। 
अभय सिंह चौटाला ने एक बार फिर दोहराया कि केंद्रीय खेल मंत्री को सरकार ने खेलों को बढ़ावा देने के लिए जो जिम्मेदारी सौंपी है उन्हें उस पर ध्यान देना चाहिए न कि कोई नया विवाद खड़ा करना चाहिए। इनेलो नेता ने कहा कि केंद्रीय खेल मंत्री को आईओए अपने अधीन करने की बजाय नए खेल मैदान, कोच, ट्रेनर, स्टेडियम, तकनीकी स्टाफ पर भी ध्यान देना चाहिए ताकि खेलों को बढ़ावा मिल सके और इस बारे में उन्हें विभिन्न खेल संगठनों के साथ भी मिल बैठकर विचार करना चाहिए ताकि देश के खिलाड़ी दुनिया में अच्छा नाम कमा सकें। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक परिषद किसी भी खेल संगठन में सरकारी हस्तक्षेप के पूरी तरह खिलाफ है और एशियाई, कॉमनवेल्थ व ओलंपिक जैसे खेलों में आईओए ही टीमें भेजने के लिए अधिकृत है। उन्होंने कहा कि एक बार यूके की सरकार ने अपने स्तर पर टीम भेजनी चाहिए थी जिसे आईओसी ने मंजूरी नहीं दी। उन्होंने कहा कि खेल मंत्री का आईओए को लिखा मौजूदा धमकी वाली भाषा का पत्र भी खेल संगठनों के कामकाज में सरकारी दखल है और इस बारे में भी आईओसी को संज्ञान लेना चाहिए।
श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के प्रकाशोत्सव पर इनेलो का तीन दिवसीय नगर कीर्तन नाडा साहिब से हुआ शुरू


पंचकूला, 30 दिसंबर: श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के 350वें प्रकाशोत्सव के संबंध में इनेलो की ओर से आज चंडीगढ़ के पास स्थित गुरुद्वारा श्री नाडा साहिब से तीन दिवसीय नगर कीर्तन प्रारंभ हुआ। श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की छत्रछाया व पांच प्यारों के नेतृत्व में शुरू किए गए इस नगर कीर्तन को ‘बोले सो निहाल’ के गगनभेदी नारों, फूलों की वर्षा, ढोल नगाड़ों व बैंडबाजों के साथ यहां से रवाना किया गया। नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला, अशोक अरोड़ा, जसविंदर सिंह संधू, रामपाल माजरा, सांसद चरणजीत सिंह, रामकुमार कश्यप, विधायक डॉ. रविंद्र बलियाला, रणबीर गंगवा, नसीम अहमद, जाकिर हुसैन, वेद नारंग, ओमप्रकाश गोरा, अनूप धानक, मक्खन लाल सिंगला, बलवान दौलतपुरिया, केहर सिंह रावत, पूर्व विधायक निशान सिंह, प्रदीप चौधरी, मोहम्मद इलियास, एसजीपीसी के सदस्य बलदेव सिंह कायमपुरी, बलदेव सिंह खालसा, हरभजन सिंह मसाणा, चेयरमैन अमरजीत सिंह मंगी सहित पार्टी के सभी वरिष्ठ नेता व पदाधिकारी भी इस नगर कीर्तन में शामिल हुए।


नगर कीर्तन रवाना होने से पहले वहां उपस्थित संगतों को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि श्री गुरु गोबिंद सिंह जी की कुर्बानी जैसी दुनिया में कोई और मिसाल नहीं मिलती। उन्होंने कहा कि गुरु जी ने देश, कौम व धर्म की खातिर अपना पूरा परिवार कुर्बान कर दिया। इनेलो नेता ने कहा कि उनकी पार्टी चाहे सत्ता में रही अथवा विपक्ष में हमेशा गुरुओं, महापुरुषों व संतों के जन्म दिवस व अन्य पर्व पूरी श्रद्धा व सत्कार से मनाती रही है। पत्रकारों से बातचीत करते हुए इनेलो नेता ने सरकार पर गीता जयंती व सरस्वती महोत्सव पर प्रदेश के करोड़ों रुपए बर्बाद करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार ने गुरु गोबिंद सिंह जी के 350वें प्रकाशोत्सव को राज्य स्तर पर मनाने के लिए कोई कदम नहीं उठाए बल्कि इस बारे में पूरी तरह से अनदेखी की गई। इनेलो नेता ने कहा कि उनकी पार्टी धर्म, जाति व मजहब के नाम पर राजनीति नहीं करती और सभी धर्मों का समान आदर करती है। सरकार को भी जातपात से ऊपर उठकर प्रकाशोत्सव को बड़े स्तर पर मनाना चाहिए था।


नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सरकार को सिख संगतों के पटना साहिब जाने व प्रकाशोत्सव में भाग लेने के लिए व्यापक बंदोबस्त करने चाहिए थे ताकि पटना साहिब जाने के इच्छुक कोई भी संगत असमर्थ न रह सके। इनेलो नेता ने कहा कि जो संगत पटना साहिब जाना चाहेगी और इसके लिए उनकी पार्टी के लिए जो भी कोई जिम्मेदारी लगाई जाएगी उसे इनेलो पूरा करेगी। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने अपने पिछले चुनाव घोषणा पत्र में भी यह वादा किया था कि सिख संगतें जो भी ननकाना साहिब अथवा अन्य धर्मस्थलों पर जाना चाहे अथवा अन्य धर्मों के लोग अपने-अपने धर्मों के पूजनीय स्थलों की यात्रा पर जाना चाहेंगे तो इनेलो सरकार बनने पर उनके लिए हर तरह की व्यवस्था नि:शुल्क सरकार की ओर से की जाएगी। उन्होंने कहा कि पार्टी अब भी अपने उस वायदे पर कायम है और सरकार बनने पर इस वायदे को पूरी तरह से निभाया जाएगा। इनेलो नेताओं ने कहा कि दुनिया भर में हर वर्ग के लोग गुरु जी के प्रति भारी श्रद्धा व सत्कार रखते हैं।


इससे पहले इनेलो नेताओं ने गुरुद्वारा नाडा साहिब में मत्था टेका और वहां कीर्तन सुनने के अलावा लंगर भी छका। उसके बाद बोले सो निहाल के नारों के बीच फूलों से सजी पालकी में श्री गुरु ग्रंथ साहिब की छत्रछाया में नगर कीर्तन प्रारंभ हुआ और इसमें सबसे पहले नगाड़े वाली गाड़ी, फिर पांच प्यारों व पांच नेजे वाले सिंह साहिबान की गाडिय़ां और फिर फूलों से सजी श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की पालकी वाली गाड़ी नगर कीर्तन में शामिल थी। इसके बाद इनेलो के सभी नेताओं, विधायकों, सांसदों व पदाधिकारियों और एसजीपीसी सदस्यों की गाडिय़ां भी पालकी साहिब के पीछे-पीछे चल रही थी। चौधरी अभय चौटाला व अशोक अरोड़ा ने सिंह साहिबान को सरोपे देकर सम्मानित किया और गुरुद्वारा प्रबंधकों की ओर से इनेलो नेताओं को भी केसरिया सरोपे भेंट किए गए। इस नगर कीर्तन के दौरान कीर्तनी जत्थे, ढाडी जत्थे और अनेक सिख विद्वान व भारी संख्या में सिख संगत भी शामिल हुई। इनेलो नेताओं ने लोगों से पूरी श्रद्धा व मर्यादा बनाए रखने की अपील करते हुए लोगों से पूरे तीन दिन नगर कीर्तन में साथ रहने और सिरसा में नगर कीर्तन के समापन अवसर पर वहां डाले जाने वाले श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के अखण्ड पाठ साहिब के भोग में भी शामिल होने का आग्रह किया।


इनेलो की ओर से श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के जीवन परिचय पर आधारित एक पुस्तिका भी प्रकाशित करवाकर लोगों में वितरित की गई ताकि नई पीढ़ी गुरु जी के जीवन से प्रेरणा लेकर उनके बताए मार्ग पर चल सकें। नाडा साहिब से चलने के बाद नगर कीर्तन बरवाला, नारायणगढ़ हलके के रायवाली, पंजोखड़ा साहिब, बलदेव नगर अम्बाला, अम्बाला छावनी, मोड़ा चौक अम्बाला, शाहबाद, मीरीपीरी खालसा स्कूल और पिपली होते हुए आज शाम कुरुक्षेत्र पहुंचकर वहां रात्रि विश्राम करेगा। कल सुबह नगर कीर्तन कुरुक्षेत्र से होकर पेहवा, चीका-सीवन, कैथल, धनौरी, धमतान साहिब, टोहाना, जमालपुर, अक्कांवाली, कुल्लां, चीमो से होते हुए रतिया पहुंचेगा और रविवार को रतिया से चलकर फतेहाबाद, दरियापुर, डिंगमोड़ से सिरसा के लिए रवाना होगा। नगर कीर्तन के रास्ते में सडक़ों पर दोनों ओर संगतों ने लाइन लगाकर नगर कीर्तन का स्वागत कियाऔर श्री गुरु ग्रंथ साहिब को मात्था टेगा।

इनेलो सैनिक प्रकोष्ठ की पानीपत जिला कार्यकारिणी घोषित 



पानीपत, 30 दिसम्बर : इनैलो सैनिक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कर्नल रघबीर सिंह छिल्लर ,पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व विपक्षी विधायक दल के नेता एवं विधायक अभय चौटाला के आदेश पर जिलाध्यक्ष शुगन चंद रोड़ की सलाह पर प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष सुबेदार प्रताप सिंह ने आज अपने भावना चौक देसराज कालोनी स्थित आवास पर प्रकोष्ठ की जिला कार्यकारिणी घोषित कर दी। जिसमें पानीपत ग्रामीण हल्का अध्यक्ष सत्य प्रकाश शर्मा को, शहरी अध्यक्ष सुबेदार धर्मपाल, हल्का इसराना अध्यक्ष इन्द्रसिंह तथा समालखा हल्का अध्यक्ष सुबेदार राममेहर आट्टा को बनाया गया है। श्री सुबेदार ने बताया कि इसके अलावा जिला का वरिष्ठ उपाध्यक्ष हवलदार जय भगवान इसराना को, उपाध्यक्ष सुबेदार बलबीर सिंह आट्टा, इंसपेक्टर दयानन्द जाटल, हवलदार दयानन्द जाटल, हवलदार कृष्ण कुमार देसराज कालोनी, हवलदार तेजबीर सिंह, हरि नगर, सुबेदार राममेहर सिंह जाटल,  हवलदार कर्मबीर सिंह देहरा, सुबेदार कंवर पाल खोजकीपुर, हवलदार सुभाष बाबैल, हवलदार रामचन्द्र बाबैल, हवलदार अजीत सिंह बाबैल को बनाया गया है। वहीं प्रधान महासचिव सुबेदार डा.जगबीर सिंह अहर, महासचिव  सुबेदार बिरखाराम डिडवाड़ी , धनसिंह, दलबीर सिंह, राजाराम, रणजीत सिंह, खजान सिंह, राजेन्द्र सिंह, हुकम सिंह, नरेन्द्र सिंह, पालेराम, अमर सिंह को तथा सचिव भूप सिंह, महेन्द्र सिंह मलिक, दरिया सिंह, रणबीर सिंह, हरपाल सिंह, सतबीर सिंह, लख्मी राम, रमेश कुमार, हवासिंह, पालाराम को, प्रचार सचिव रघुबीर सिंह, रामचन्द्र को, सहसचिव  पितम्बर सिंह, ओम सिंह, संगठन सचिव रकम सिंह, उमेद सिंह, कोषाध्यक्ष जसबीर सिंह व चन्दूराम को बनाया गया है।  
राजनैतिक दवेष भावना रखने की बजाय खेल व खिलाडिय़ों पर ध्यान दे भाजपा- आर्य

हिसार, 30 दिसंबर : हरियाणा ओलिंपिक एसोसिएशन के उपाध्यक्ष व हरियाणा लोक सेवा आयोग के पूर्व सदस्य युद्धवीर सिंह आर्य ने भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए राजनैतिक द्वेष भावना को छोड़ कर खेल व खिलाडिय़ों की भलाई के लिए कार्य करने को कहा है। उन्होंने केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल व प्रदेश के खेल मंत्री अनिल विज के बयानों की कड़ी आलोचना की है जिनमे उन्होंने खेल संघो में नियुक्तियों पर सवाल उठाते हुए जवाब तलबी की है। उन्होंने कहा कि खेलरत्न अभय चौटाला की नियुक्ति से प्रदेश के खिलाडिय़ों में बेहद उत्साह है और ओलिंपिक पदक विजेता बॉक्सर विजेंदर सिंह ने स्वयं ट्वीट करके इसे खेल व खिलाडिय़ों के हित में बताया है। आर्य ने कहा कि खेल मंत्रालय का कार्य बेहतरीन खेल नीति बनाने की है ताकि खेलों के माध्यम से खिलाडियों का विकास हो सके। पिछले दो साल से ज्यादा का वक्त भाजपा सरकार को बीत चुका है परंतु अभी तक कोई खेल नीति बनाना तो दूर बल्कि इसके लिये बनाई गयी प्रदेश के खिलाडिय़ों के हितों के लिये सरकार ने एक सब कमेटी तो बनाई परन्तु इस कमेटी की अब तक एक भी मीटिंग तक नहीं हो पाई। भाजपा सरकार आने के बाद एक भी खिलाडी को प्रदेश सरकार में नौकरी नहीं मिली। यहां तक कि जिस खिलाडी के संघर्ष को लेकर दंगल फिल्म बनाई उसे भी नौकरी के लिए सरकार से दंगल करने के लिए कोर्ट का सहारा लेना पड़ा। युद्ध वीर आर्य ने कहा कि सरकार को खेल संघों के साथ मिलकर खेल व खिलाडिय़ों की तरफ ध्यान देना चाहिए ताकि देश व प्रदेश के खिलाडिय़ों का भला हो सके।
राजीव लौंगोवाल समझौते पर गुमराह करना बंद करे कुलदीप - बिश्नोई

हिसार, 30 दिसम्बर : एसवाईएल व राजीव लौंगोवाल समझौते पर आदमपुर विधायक कुलदीप बिश्नोई प्रदेश की जनता को गुमराह कर रहे है। इनेलो जिला प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्नोई ने प्रेस को जारी एक बयान में एसवाई एल की समस्या को कांग्रेस की देन बताते हुए कहा कि कांग्रेस विधायक को राजीव लोंगोवाल समझौते पर कुछ भी बोलने से पहले उसका अच्छी तरह से अध्ययन करना चाहिए। एडवोकेट बिश्नोई ने बताया कि संयुक्त पंजाब में भी वर्तमान हरियाणा के क्षेत्र में पानी के लिए सन 1954 से संघर्ष किया जा रहा है। 1966 में हरियाणा बनने के बाद उसके हिस्से में 3.78 एमएएफ पानी आया। इस बाबत 24-3 1976 को एक नोटिफिकेशन भी जारी की गयी। इसी के तहत एसवाईएल का निर्माण भी किया जाना था। जब 1977 में चौधरी देवी लाल मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने पंजाब सरकार को इसकी पेमेंट भी कर दी। हरियाणा में नहर का 95 प्रतिशत हिस्सा उनके कार्यकाल में बना, इसकी पुष्टि विधान सभा के रिकॉर्ड से की जा सकती है। जब पंजाब ने नहर निर्माण का कार्य प्रारंभ नहीं किया तो चौधरी देवीलाल ने 1979 में इसे लेकर कोर्ट में याचिका डाली, जिसे बाद में भजन लाल सरकार ने 1982 में केंद्र सरकार के दबाव में वापस ले ली तथा हरियाणा के हिस्से को भी घटाकर 3.5 एमएएफ कर दिया गया। यहां भी कांग्रेस ने हरियाणा के हितों की बलि दी। इनेलो प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस विधायक जहां कपूरी में नहर की नींव रखने की बात कर रहे है, वहां तो केवल वो एक ही ईंट रखी गयी, उससे आगे तो कुछ भी नहीं हुआ। जहां तक राजीव लौंगोवाल समझौते के बात है तो उसमें पंजाब की तरफ से समझौते पर हस्ताक्षर करने वाले सन्त हरचन्द सिंह लौंगोवाल पंजाब सरकार के प्रतिनिधि न होकर एक राजनैतिक पार्टी के अध्यक्ष थे। इस सूरत में इसकी कोई सवैंधानिक मान्यता भी नहीं थी, वहीं इसमें पंजाब के हितों का ध्यान ज्यादा रखा गया था। बिश्नोई ने आगे बताया कि चौधरी देवीलाल ने समझौते की धारा 7 व 9 का विरोध किया था, जिनके मुताबिक चंडीगढ़ पंजाब को तुरंत दिया जाना था तथा बदले में पंजाब के हिंदी भाषी क्षेत्र गांवों की पहचान करके हरियाणा को देना था। साथ ही साथ एसवाईएल को लेकर एक और कमेटी का गठन करना था, जो नहर व पानी को लेकर फैसला करती। इसे लेकर चौधरी देवीलाल ने न्याय युद्ध छेड़ दिया, जिसे अपार जन समर्थन मिला और 1987 के चुनाव के 90 में से 85 सीटे उनको मिली। इनेलो प्रवक्ता ने कांग्रेस विधायक को सलाह देते हुए कहा कि एसवाईएल पर पहले अध्ययन करे तथा अपनी हाईकमान से भी अपना स्टैंड स्पष्ट करने को कहे क्योंकि स्वयं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पंजाब में चुनाव प्रचार के लिए जाने को लालायित है।

Thursday, December 29, 2016

अभय चौटाला ने उन्हें सर्वसम्मति से आईओए का आजीवन अध्यक्ष मनोनीत करने के लिए खेल संगठनों का आभार जताया

हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला जिन्हें अभी हाल ही में भारतीय ओलंपिक संघ का सर्वसम्मति से मानद आजीवन अध्यक्ष मनोनीत किया गया है, ने भारतीय ओलंपिक संघ परिवार के सभी सदस्यों का आभार जताते हुए कहा कि उन्होंने पुरानी परम्पराओं को कायम रखते हुए उन्हें खेलों में दिए गए उनके योगदान के लिए यह मान-सम्मान दिया है और इसके लिए वे सभी सदस्यों के आभारी हैं। चौधरी अभय चौटाला ने कहा कि उन्होंने पिछले 25 सालों से भी ज्यादा समय से भारतीय खेलों व खिलाडिय़ों की निस्वार्थ भाव से सेवा की और विशेषकर मुक्केबाजी को प्रोत्साहित करने के लिए विनम्रतापूर्वक योगदान दिया। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी की सरकार ने हरियाणा में खेलों को बढ़ावा देने के लिए अनेक कार्यक्रम व नीतियां लागू की जिसके चलते भारत के ओलंपिक आंदोलन में आज प्रदेश के खिलाड़ी सबसे आगे हैं।
चौधरी अभय चौटाला ने कहा कि जब वे भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष थे तो उस समय विजेंद्र सिंह ने 2008 ओलंपिक में पहली बार मुक्केबाजी में कांस्य पदक जीता था और मुझे यह बताते हुए भी हर्ष हो रहा है कि 2012 के लंदन ओलंपिक में मैरिकॉम ने ओलंपिक में मुक्केबाजी में कांस्य पदक जीतकर महिला खिलाड़ी के नाते देश का नाम रौशन किया था। इतना ही नहीं 2010 के कॉमनवेल्थ खेलों में सभी दस खेल वर्गों में भारतीय मुक्केबाजों ने छह स्वर्ण पदकों सहित पदक जीते और निरंतर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारतीय मुक्केबाजों विशेषकर मैरिकॉम, एल सरिता देवी, सरजू बाला, विजेंद्र सिंह, सुरंजय सिंह, देवेंद्रो व मनोज सहित अनेक अन्य मुक्केबाजों ने उनके भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष पद पर रहते हुए पदक जीते और देश का नाम ऊंचा किया।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि उन्होंने खेलों व खिलाडिय़ों को बढ़ावा देने के लिए हमेशा निस्वार्थ भाव से प्रयत्न किए और वे 2012 में सर्वसम्मति से भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष चुने गए। उन्होंने कहा कि भारत में कुछ निहित स्वार्थी लोगों द्वारा भारतीय ओलंपिक संघ के संविधान में लाए गए एक संशोधन के कारण उन्होंने खेलों व खिलाडिय़ों के हित में अपना पद त्याग दिया। इनेलो नेता ने कहा कि उन्हें बताया गया कि पिछले वर्ष 2015 में गोहावटी में हुई भारतीय ओलंपिक संघ की आम सभा बैठक जिसमें मैं खुद मौजूद नहीं था, में यह मुद्दा उठा था कि भारतीय ओलंपिक संघ के संविधान में कुछ ऐसे संशोधन किए गए हैं जो अन्य देशों में लागू नहीं हैं उसके बारे में भारतीय ओलंपिक संघ अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक काउंसिल के समक्ष उस मुद्दे को उठाएगी। चेन्नई में हुई भारतीय ओलंपिक संघ आम सभा बैठक में बताया गया कि अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक परिषद ओलंपिक खेलों में व्यस्त होने के कारण इस मामले पर आईओसी से चर्चा नहीं हो पाई। इस आम सभा बैठक में आईओए अध्यक्ष से आग्रह किया गया कि वे आईओसी से व्यापक विचारविमर्श करें कि क्या राजनीतिक कारणों से जिन लोगों को भारतीय कानून के अंतर्गत चार्जशीट किया गया है और जिन मामलों का खेलों से कोई संबंध नहीं है, क्या वे खेलों के प्रबंधन में सक्रिय रूप से भाग ले सकते हैं या नहीं? भारतीय ओलंपिक संघ की आम सभा बैठक ने इस मुद्दे पर आईओसी के साथ भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष द्वारा व्यापक विचारविमर्श करने के लिए इस मामले में उन्हें तीन महीने का समय दिया गया है। 
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि उन्हें आईओए द्वारा मेरे द्वारा खेलों में दिए गए योगदान के दृष्टिगत मुझे दिए गए सम्मानित पद को लेकर केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल द्वारा मीडिया में दी गई प्रतिक्रिया पर बेहद हैरानी हुई। यह सम्मान मुझे खेलों में दिए गए योगदान और 2013 में खेलों व खिलाडिय़ों के हित में भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष पद से दिए गए त्याग पत्र के दृष्टिगत दिया गया। हालांकि मैं भारतीय ओलंपिक संघ के संविधान और भारतीय संविधान के अंतर्गत आईओए का अध्यक्ष चुना गया था और यह चुनाव तीन प्रमुख न्यायधीशों की देखरेख में पूरी तरह पारदर्शी तरीके से हुआ था। इतना ही नहीं रियो ओलंपिक में मेरी मौजूदगी पर भी सवाल खड़े किए गए। मैं निजी तौर पर भारतीय खेल मंत्री के रियो ओलंपिक में आचरण से पूरी तरह अवगत हूं जहां अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक परिषद ने मंत्री व उनके सहयोगियों के आचरण पर सवाल खड़ा करते हुए उनकी मान्यता रद्द किए जाने की भी धमकी दी थी। इनेलो नेता ने कहा कि वे इस मामले में ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहते और न ही वे खेलमंत्री की स्थिति को असमंजस में नहीं डालना चाहता और न ही भारत में खेलों के आंदोलन को कोई ठेस पहुंचाना चाहता हूं। अगर जरूरी हुआ तो मैं रियो ओलंपिक वाले मुद्दे पर देश के माननीय प्रधानमंत्री को भी अवगत करवाऊंगा। 
अभय सिंह चौटाला ने एक बार फिर भारतीय ओलंपिक संघ के सभी सदस्यों का संघ में उन्हें मानद आजीवन अध्यक्ष मनोनीत करने पर आभार जताते हुए कहा कि उन्होंने आईओए के अध्यक्ष को अलग से एक पत्र भी लिखा है जिसमें कहा गया है कि वे तीन महीनों के भीतर आईओए की गोवाहटी व चेन्नई आम सभा बैठक के प्रस्ताव के अनुसार अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक परिषद के साथ पूरे मामले पर निजी तौर पर बात करें और जो नियम दुनिया के अन्य देशों के खेल संगठनों पर लागू नहीं होते वे भारत में कैसे लागू हो सकते हैं? आईओए अध्यक्ष आईओसी से बात करके उन्हें इस बारे में बताएंगे और उसके बाद ही वे देश के खेलों, खिलाडिय़ों, खेलों में पारदर्शिता व सुशासन के नजरिए से इस पद के बारे में कोई निर्णय लेंगे।
एसवाईएल के निर्माण के लिए निर्णायक संघर्ष का समय आ गया है - अभय चौटाला


रेवाड़ी, 29 दिसम्बर: एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाने के लिए अब निर्णायक संघर्ष का समय आ गया है और प्रदेश के हित में सभी सभी सांसदों व विधायकों को राजनीति से ऊपर उठकर नहर बनवाने में अपना योगदान देना चाहिए ताकि प्रदेश की प्यासी भूमि को पानी मिल सके और हरियाणा का किसान खुशहाल हो सके। यह बात इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने गुुरुवार को जलयुद्ध के अंतर्गत रेवाड़ी जिले के गांव मीरपुर, सहारणवास, कालूवास व धारूहेड़ा में जनसभाओं को सम्बोधित करते हुए कही और लोगों से 23 फरवरी को ज्यादा से ज्यादा संख्या में पंजाब हरियाणा पर स्थित गांव इस्माइलपुर पहुंचने का आह्वान किया। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में राजनीति से ऊपर उठकर कांग्रेस व भाजपा सहित सभी दलों व निर्दलीय विधायकों और प्रदेश के सभी सांसदों को एक पत्र भी लिखा था ताकि हरियाणा की जीवनरेखा एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाने में सभी का सहयोग लिया जा सके। इनेलो नेता ने कहा कि कांग्रेस व भाजपा के लोग आज भी एसवाईएल पर राजनीति कर रहे हैं और प्रदेश के हित में राजनीति से ऊपर उठकर सोचने को तैयार नहीं हैं बल्कि आए दिन लोगों को गुमराह करने वाले बयान जारी कर रहे हैं ताकि लोगों का ध्यान असल मुद्दों से हटाया जा सके।


इनेलो नेता ने कहा कि आज एसवाईएल का जिक्र करने वाले कांग्रेसी व भाजपा नेता अभी तक अपनी-अपनी पार्टियों के राष्ट्रीय नेतृत्व से हरियाणा के पक्ष में एक शब्द तक नहीं कहलवा सके और दोनों दलों की पंजाब इकाइयां न सिर्फ एसवाईएल का विरोध कर रही हैं बल्कि ये भी कह रही हैं कि वे किसी भी कीमत पर हरियाणा को एक बूंद भी पानी नहीं जाने देंगे। इनेलो नेता ने कहा कि हरियाणा किसी से कोई खैरात नहीं मांग रहा बल्कि सर्वोच्च न्यायालय के फैसने अनुसार बंटवारे के तहत हरियाणा को मिलने वाला अपने हिस्से का पानी मांग रहा है और अब सर्वोच्च न्यायालय का फैसला भी पूरी तरह से हरियाणा के पक्ष में आ चुका है और अदालत के फैसले अनुसार एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाने की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है। केंद्र व हरियाणा में दस साल तक कांग्रेस की सरकार रही लेकिन किसी भी कांग्रेसी नेता ने एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाने के लिए कोई प्रयास करना तो दूर कभी एक शब्द तक नहीं कहा। इनेलो नेता ने कहा कि पिछले दो साल से ज्यादा समय से हरियाणा व केंद्र में भाजपा की सरकार है और आज भी हरियाणा का कोई भी मंत्री, विधायक, सांसद अथवा मुख्यमंत्री केंद्र सरकार पर एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करने के लिए जोर डालना तो दूर एक शब्द तक नहीं बोल रहा। उन्होंने कहा कि हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु पंजाब में भाजपा के सह-प्रभारी हैं और इसके बावजूद उन्होंने पंजाब के भाजपा नेताओं से एक बार भी एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाने के लिए नहीं कहा। हालांकि आज पंजाब में भाजपा सरकार में भागीदार है और हरियाणा व केंद्र में भी भाजपा की सरकार है। 


इनेलो नेता ने कांग्रेस व भाजपा नेताओं पर दोहरी भाषा बोलने का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश की जनता  कांग्रेस, भाजपा व आम आदमी पार्टी के दोहरे चरित्र को अच्छी तरह से जान चुकी है और इन्हें समय आने पर करारा सबक सिखाएगी। इनेलो नेता ने ग्रामीणों को नववर्ष की पूर्व संध्या पर शुभ कामनाएं देते हुए कहा कि इनेलो हरियाणा के हितों के लिए बड़ी से बड़ी कुर्बानी देने में भी पीछे नहीं हटेगी। इनेलो नेता ने कहा कि एसवाईएल के निर्माण के लिए भूमि अधिग्रहण करने हेतु सबसे पहले जननायक चौधरी देवीलाल ने पंजाब सरकार को पैसा जारी किया था और सबसे ज्यादा निर्माण कार्य भी चौधरी देवीलाल ने ही दूसरी बार मुख्यमंत्री बनकर करवाया था। यह बात चौधरी देवीलाल के राजनीतिक विरोधी और पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय चौधरी बंसीलाल ने चौधरी भजनलाल की मौजूदगी में उनकी सरकार के समय हरियाणा विधानसभा में ऑन रिकार्ड स्वीकार की थी और कहा था कि वे चाहे चौधरी देवीलाल के राजनीतिक विरोधी हैं इसके बावजूद वे इस बात को पूरी तरह स्वीकार करते हैं कि एसवाईएल का सबसे ज्यादा निर्माण कार्य चौधरी देवीलाल के कार्यकाल में ही हुआ था।


इनेलो नेता ने कहा कि चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व वाली इनेलो सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय में जोरदार पैरवी की जिसके चलते एसवाईएल पर सर्वोच्च न्यायालय का फैसला हरियाणा के पक्ष में आया। उन्होंने कहा कि इनेलो के लिए हरियाणा के हित सबसे प्यारे हैं और प्रदेश में एसवाईएल का पानी लाने के लिए उन्होंने 23 फरवरी तक सरकार को समय दिया है और अगर इसका निर्माण कार्य शुरू न हुआ तो इनेलो प्रदेश के लाखों लोगों को साथ लेकर 23 फरवरी को इस्माइलपुर से एसवाईएल की खुदाई का काम शुरू करेगी। उन्होंने सरकार पर स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू न करने, बुजुर्गों, युवाओं, महिलाओं व कर्मचारियों सहित समाज के सभी वर्गों के साथ किए गए वायदे पूरा करने की बजाय वादों के विपरीत काम करने का आरोप लगाते हुए कहा कि आज समाज का हर वर्ग खुद को ठगा महसूस कर रहा है। इस अवसर पर पूर्व विधायक राव बहादुर सिंह,  पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, सुनील चौधरी, जगफूल यादव, कमला शर्मा, किरण पाल यादव, मंजीत सिंह जैलदार, जगदीश प्रसाद डहीनवाल, रामफल कोसलिया, राज सिंह गागड़वास, पंडित रवि महमिया, जसवीर यादव, रविन्द्र यादव, अशोक सहरणवास, वरुण गान्धी, रामकिशन छिल्लर, सुरेंदर कौर राठी, बिमला चौधरी, मनबीर लाम्बा, राजबीर यादव, रजवन्त डहीनवाल एडवोकेट भी मौजूद थे।
दर्जनों ग्रामीणों ने थामा इनेलो का दामन 


सोनीपत, 29 दिसम्बर: इण्डियन नैशनल लोकदल पार्टी युवाओं को पार्टी से जोडऩे के लिए पुरे जिले में वीरवार को भी अभियान जारी रखते हुए को गोहाना हल्के के प्रभारी अरुण बडौक, युवा जिलाध्यक्ष कुणाल गहलावत, हल्का अध्यक्ष प्रदीप बड़वासनी ने बडवासनी ने खीजरपुर जट माजरा, रत्नगढ, करेवडी, गढी हकीकत, जाजी, मोहाना, माछरी आदि गांव का दौरा करके दर्जनों युवाओं का पार्टी के साथ जोडऩे का काम किया। 
इस मौके पर युवा प्रदेश उपाध्यक्ष अरुण बडौक ने कहा बीजेपी सरकार के द्वारा की गयी नोटबंद से 50 दिन भी पूरे हो गाए, परन्तु स्थिति ज्यों की त्यों बनी हुई है। जहां प्रदेश में किसान आत्महत्याएं कर रहें हैं, गरीब आदमी का निवाला सरकार ने छिन लिया है वहीं अपनी झूठी वाहवाही लूटने के लिए बीजेपी सरकार कांग्रेस सरकार की राह पर चल रही है। बीजेपी सरकार अपने चुनावी वायदे भुलकर अपने झूठे प्रचार से जनता के पैसे को ठगने का काम कर रही है। बडौक ने कहा कि इनेलो का संगठन सबसे ज्यादा मजबुत है। पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता आज चट्टान की तरह खड़ा है।
इस मौके पर युवा जिलाध्यक्ष कुणाल गहलावत ने ग्रामीण को सम्बोधित करते हुए कहा की प्रदेश की सरकार जितनी बड़ी-बड़ी बाते करती थी उसके उल्टे आज किसान, गरीब मजदुर, छोटे दुकानदार व युवा की दुश्मन बन गई है। आज महिलाओं व किसानों व बेरोजगार युवकों पर लाठियां बरसाई जाती है।  सरकार बनने के बाद सरकार ने कोई भी चुनावी वादा पूरा न करके प्रदेशवासियों के साथ भारी धोखा किया और चुनाव के बाद बीजेपी सरकार ने किसी की भी सुध नही ली। 
इस मौके पर रवि दहिया कुलदीप, रिकू, मोहित भठगांव, सचिन माछरी, विनोद बाल्मिक, जसमेर मोहाना आदि युवा कार्यकर्ता मौजूद रहे।
सतेन्द्र श्योराणा युवा इनेलो के जिला उपप्रधान मनोनीत


फतेहाबाद। इनेलो जिला प्रधान बलविन्द्र सिंह कैरों एवं युवा जिला प्रधान राकेश सिहाग ने आज सतेन्द्र श्योराण को आज युवा इनेलो का जिला उपप्रधान मनोनीत किया। श्री कैरों व सिहाग ने बताया कि सतेन्द्र श्योराण पार्टी के कर्मठ व मेहनती युवा नेता हैं। उन्होंने पार्टी की नीतियों के प्रचार व प्रसार के लिए बहुत काम किया है। उनकी मेहनत को देखते हुए उनको इनेलो का युवा जिला उपप्रधान नियुक्त किया गया है, ताकि वह और अधिक जोश से पार्टी के लिए काम कर सकें। 



350 साला नगर कीर्तन का होगा भव्य स्वागत - इनेलो


फतेहाबाद : श्री गुरू गोबिन्द सिंह के जन्मदिवस को समर्पित 350 साला नगर कीर्तन नाडा साहिब गुरूद्वारा से चलकर 31 दिसम्बर को शाम 4 बजे टोहाना में प्रवेश करेगा। इस नगर कीर्तन का टोहाना में समस्त गुरूद्वारा कमेटियां व साध संगत के सहयोग से भव्य स्वागत किया जाएगा। यह जानकारी आज इनेलो के जिला प्रधान बलविन्द्र सिंह कैरों ने इनेलो जिला ईकाई की मीटिंग को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने बताया कि टोहाना से नगर कीर्तन विभिन्न गांवों से होता हुआ रात को रतिया पहुंचेगा और यहां पर रात्रि विश्राम होगा। 1 जनवरी को यह नगर कीर्तन अहरवां व अयाल्की होता हुआ फतेहाबाद आएगा। यहां पर इनेलो कार्यकत्र्ताओं व साध संगत द्वारा नगर कीर्तन का स्वागत होगा। इसके बाद नगर कीर्तन का गांव दरियापुर से होते हुए सिरसा में समापन होगा। इनेलो जिला प्रधान बलविन्द्र कैरों ने अपील की कि इस नगर कीर्तन में अधिक से अधिक साध संगत भाग लेकर नगर कीर्तन का स्वागत करे और आशीर्वाद प्राप्त करे। उन्होंने बताया कि दसवीं पातशाही गुरू गोबिन्द सिंह ने हिन्दु धर्म की रक्षा के लिए अपने पूरे परिवार का बलिदान दिया था। उनके छोटे साहिबजादों को सरहंद के नवाब वजीर खान ने दीवारों में चुनवा दिया था। गुरू गोबिन्द ङ्क्षसह की शिक्षाओं को हमें ग्रहण करना चाहिए। इस अवसर पर इनेलो के सभी पदाधिकारी व कार्यकत्र्ता मौजुद थे। 




सांसद दुष्यंत चौटाला गुजवि से करेंगे पत्रकारिता की पढ़ाई

हिसार,  29 दिसंबर : देश के सबसे युवा सांसद दुष्यंत चौटाला राजनीति के साथ साथ फिर छात्र जीवन में लौट आए हैं। दुष्यंत चौटाला ने गुजवि में दाखिला लिया है और वे गुजवि में पत्रकारिता की पढ़ाई करेंगे। इसके लिए बाकायदा दुष्यंत चौटाला ने गुजवि में एमए जनसंचार विषय में दाखिला लिया है। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने अपनी प्राम्भिक शिक्षा भी हिसार से शुरू की थी और उन्होंने सेंट मैरी स्कूल में दाखिला लिया था । सांसद बनने अढ़ाई वष वर्ष बाद दुष्यंत चौटाला बीच में छोड़ी अपनी पढ़ाई को पूरा करने का सपना पूरा करने जा रहे हैं। सांसद दुष्यंत चौटाला का कहना है कि जनसंचार एवं पत्रकारिता का क्षेत्र चुनौतियों से भरा है और वे जनसंचार में अपनी मास्टर डिग्री करेंगे। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने दसवीं तथा बारहवीं की परीक्षा लॉरेंस स्कूल, सनावर हिमाचल प्रदेश से पास की। पढ़ाई के साथ साथ उन्होंने खेलों में हिस्सा लिया और बाक्सिंग में गोल्ड मेडल जीता। इसके अलावा दुष्यंत चौटाला ने सनावर स्कूल के बास्केटबाल टीम की कप्तान और  हॉकी टीम के गोलकीपर के रूप में भी खेले। दुष्यंत चौटाला वर्तमान में भारतीय टेबल टेनिस फेडरेशन के सीनियर वाईस प्रेजीडेंस हैं।
10+2 की परीक्षा पास करने के बाद उच्च शिक्षा के लिए दुष्यंत चौटाला विदेश चले गए। वहां उन्होंने कैलीफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी में बैचलर ऑफ साईंस इन बिजनेस एडमिनिस्टे्रशन में दाखिला लिया तथा बैचलर की डिग्री प्राप्त की। पोस्ट ग्रेजुएट की पढ़ाई करने के लिए दुष्यंत चौटाला को 27 जनवरी 2013 को अमेरिका जाना था लेकिन 16 जनवरी को जेबीटी प्रकरण में इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला तथा डॉ. अजय सिंह चौटाला को जेल में जाने के बाद दुष्यंत आगे की पढ़ाई के लिए विदेश नहीं जा पाए और उन्हें राजनीति में अपनी नई पारी की शुरूआत करनी पड़ी। लोकसभा चुनाव-2014 में इनेलो पार्टी ने दुष्यंत चौटाला को हिसार लोकसभा क्षेत्र से टिकट दी और वे मई 2014 को सांसद चुने गए। पढ़ाई छोडऩे के करीब चार वर्ष के बाद सांसद दुष्यंत चौटाला ने एमए जनसंचार में दाखिला लिया है।

Wednesday, December 28, 2016

श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के प्रकाशोत्सव पर नगर कीर्तन कार्यक्रम की सभी तैयारियां पूरी - अभय चौटाला

चंडीगढ़, 28 दिसम्बर: श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के 350वें प्रकाशोत्सव पर इनेलो की ओर से शुरू किए जा रहे नगर कीर्तन कार्यक्रम की सभी तैयारियां मुकम्मल कर ली गई हैं और इस नगर कीर्तन कार्यक्रम के प्रति लोगों में भारी जोश और उत्साह पाया जा रहा है। यह जानकारी देते हुए इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला और प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने बताया कि पंचकूला जिले के ऐतिहासिक गुरुद्वारा श्री नाडा साहिब की पवित्र धरती से श्री गुरु ग्रंथ साहब जी की छत्रछाया में शुरू होने वाले इस नगर कीर्तन कार्यक्रम के लिए पूर्व कृषि मंत्री जसविंदर सिंह संधू की अध्यक्षता में 33 सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है और तीन दिवसीय नगर कीर्तन कार्यक्रम को श्रद्धापूर्वक मनाने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इनेलो के सभी जिला व हलका इकाइयों ने जहां-जहां से नगर कीर्तन गुजरेगा वहां पर संगतों के लिए जलपान व स्वागत के लिए व्यापक तैयारियां की हैं। नेता प्रतिपक्ष ने बताया कि नगर कीर्तन कार्यक्रम पंचकूला जिले के अलावा अम्बाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, फतेहाबाद व सिरसा सहित प्रदेश के अनेक जिलों से होकर पहली जनवरी को सिरसा में समापन होगा। उन्होंने बताया कि हिन्दू धर्म की रक्षा और जुल्म ज्यादतियों के खिलाफ अपना सबकुछ कुर्बान करने वाले श्री गुरु गोबिंद सिंह जी की कुर्बानी के मुकाबले दूसरी ऐसी कोई मिसाल नहीं मिलती। उन्होंने कहा कि सिरसा में 30 दिसम्बर को अखण्ड पाठ साहब प्रारंभ होगा और पहली जनवरी को नगर कीर्तन के समापन कार्यक्रम के अवसर पर अखण्ड पाठ साहब के भोग डाले जाएंगे और कीर्तन दरबार भी सजाया जाएगा। 
इनेलो नेता ने कहा कि पंचकूला के गुरुद्वारा नाडा साहब से होकर 30 दिसम्बर को नगर कीर्तन श्री गुरु ग्रंथ साहब जी की छत्रछाया में प्रारंभ होगा और उसी दिन बरवाला, रायवाली, पिंजोखड़ा साहब, बलदेव नगर अम्बाला, अम्बाला छावनी, मोड़ा चौक अम्बाला से होते हुए शाहबाद बराड़ा चौक, मिरीपीरी खालसा स्कूल से पिपली होते हुए रात्रि विश्राम कुरुक्षेत्र में करेगा। इनेलो नेताओं ने बताया कि 31 दिसम्बर को नगर कीर्तन कुरुक्षेत्र से चलकर गुरुद्वारा साहब पेहवा, भागल (गुहला-चीका), सीवन, कैथल सीवन चौक, धनौरी वाया पाडला बरटा, धमतान साहब वाया गढ़ी रसीदां, टोहाना वाया कालवान, अक्कांवाली, कुल्लां, चीमो से नथवान होते हुए रात को रतिया पहुंचेगा। इनेलो नेताओं ने बताया कि पहली जनवरी को नगर कीर्तन सुबह रतिया से चलकर अहरवां, फतेहाबाद वाया यालकी, दरियापुर, डिंगमोड़ होते हुए वाया भावदीन अमरीतपुरा से सिरसा पहुंचेगा। उन्होंने बताया कि कुरुक्षेत्र, रतिया व सिरसा में कीर्तन दरबार भी सजेंगे और इनेलो के सभी सांसद, विधायक, पूर्व विधायक व पूर्व सांसद भी इस नगर कीर्तन में पूरे श्रद्धा व सम्मान के साथ शामिल होंगे। इनेलो नेताओं ने बताया कि जहां-जहां से नगर कीर्तन गुजरेगा वहां पर पार्टी की अलग-अलग जिला व हलका इकाइयों की जिम्मेदारी लगाई गई है जो कि स्थानीय स्तर पर सभी प्रबंधों व आयोजन की जिम्मेदारी सम्भालेंगे। 
इनेलो नेताओं ने बताया कि इस नगर कीर्तन कार्यक्रम के आयोजन के लिए जसविंदर संधू की अध्यक्षता में गठित की गई कमेटी के अन्य सदस्यों में रतिया के विधायक प्रो. रविंद्र सिंह बलियाला, कालांवाली के विधायक बलकौर सिंह, टोहाना के पूर्व विधायक निशान सिंह, गुहला के पूर्व विधायक बूटा सिंह, एसजीपीसी के हरियाणा से सदस्य अमीर सिंह रसीदां व जगसीर सिंह मांगेआणा, सिरसा गुरुद्वारा साहब के प्रधान प्रकाश सिंह, कैथल से बचन सिंह माजरी, कुरुक्षेत्र से बूटासिंह लूखी, यमुनानगर से युवा इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष गुरविंदर तेजली, बलविंदर सिंह भूना, कुलदीप सिंह मुल्तानी, भूपेंद्र सिंह गुहला, बिक्कर सिंह हड़ौली रतिया, इंद्रजीत सिंह गुराया नीलोखड़ी, गुरदेव सिंह रम्बा इंद्री, कंवर जीत सिंह प्रिंस करनाल, हरि सिंह असंध, ओंकार सिंह अम्बाला छावनी, मक्खन सिंह लबाणा अम्बाला, इंद्रजीत सिंह बड़ैच पंचकूला, सरपंच अमरजीत सिंह पंचकूला, जगीरसिंह कम्बोज शाहबाद, देवेंद्र पाल सिंह कुरुक्षेत्र, सतनाम सिंह पट्टी कुरुक्षेत्र, ज्ञान सिंह चावला करनाल, सुरेंद्र सिंह वैदवाला सिरसा, जोध सिह वालिया फरीदाबाद, लक्की सिंह रोहतक, नौनिहाल सिंह व गुरमेल सिंह नारनौल के अलावा कंवलजीत सिंह अजराणा कुरुक्षेत्र भी शामिल है।
सरकार 23 फरवरी तक एसवाईएल निर्माण शुरू नहीं करती तो इनेलो इसे बनाने का काम करेगी- अभय चौटाला 


महेंद्रगढ़, 28 दिसम्बर: एसवाईएल हरियाणा की जीवनरेखा है और इनेलो इसके अधूरे निर्माण को पूरा करवाकर ही दम लेगी। यह बात इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला  ने बुधवार को महेंद्रगढ़ जिले के नांगलचौधरी विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न गांवों में जलयुद्ध के अंतर्गत विभिन्न ग्रामीण सभाओं को सम्बोधित करते हुए कही। इनेलो नेता ने कहा कि 23 फरवरी से पहले-पहले अगर केंद्र सरकार एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करने का काम शुरू नहीं करवाती तो इनेलो प्रदेशवासियों को साथ लेकर 23 फरवरी से अपने स्तर पर नहर खोदने का काम करेगी। इनेलो नेता ने कांग्रेस, भाजपा व आप पर एसवाईएल को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि दस साल तक केंद्र व प्रदेश में कांग्रेस की सरकार रहने के बावजूद कांग्रेसी नेताओं ने इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया हालांकि चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के मुख्यमंत्री काल में उनकी जोरदार पैरवी के चलते एसवाईएल को लेकर सर्वोच्च न्यायालय का फैसला हरियाणा के पक्ष में आ गया था और इस फैसले के अनुसार एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करवाने की जिम्मेदारी केंद्र सरकार पर है। उन्होंने कहा कि लोगों का ध्यान असली मुद्दों से हटाने के लिए भाजपा नोटबंदी जैसे फरमान जारी करके किसान व कमेरे वर्ग को बर्बाद करने पर तुली हुई है।


नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि कांग्रेस की तरह भाजपा भी एसवाईएल पर केवलमात्र राजनीति कर रही है और इस मुद्दे पर गम्भीर नहीं है। इनेलो नेता ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में यह फैसला हुआ था कि एसवाईएल के मुद्दे पर मुख्यमंत्री सभी दलों को साथ लेकर प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति से मिलेंगे और एसवाईएल के अधूरे निर्माण को जल्द पूरा करवाने का आग्रह करेंगे। इनेलो नेता ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री और किसी भी केंद्रीय मंत्री ने अभी तक एसवाईएल पर प्रधानमंत्री से बात तक नहीं की और बात करना तो दूर एक शब्द तक नहीं बोला। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आज भी इस मुद्दे पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं जिससे सरकार की नीयत पर संदेह पैदा होता है। इनेलो नेता ने कहा कि एसवाईएल दक्षिणी हरियाणा के लिए संजीवनी के समान है और इसके पूरा होते ही पानी का संकट झेल रहे इस क्षेत्र में निश्चित तौर पर खुशहाली आएगी।


इनेलो नेता ने कहा कि पंजाब में कैप्टन अमरेंदर सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने हरियाणा को एसवाईएल के पानी से वंचित करने के लिए 2004 में पंजाब विधानसभा में नदी जल समझौते रद्द करने वाला एक बिल पारित कर दिया था लेकिन अब राष्ट्रपति के दखल के बाद सर्वोच्च न्यायालय इस बारे में भी अपना फैसला दे चुकी है कि पंजाब विधानसभा द्वारा पारित बिल पूरी तरह से असंवैधानिक है और सर्वोच्च न्यायालय का हरियाणा में पक्ष में पहले से दिया गया फैसला ही मान्य होगा। इनेलो नेता ने कहा कि एक तरफ जहां हरियाणा के कांग्रेसी व भाजपा नेता ऊपरी मन से हरियाणा के हितों की बात करते हैं वहीं दूसरी तरफ पंजाब के कांग्रेसी व भाजपा नेता एसवाईएल के निर्माण का डटकर विरोध कर रहे हैं। इनेलो नेता ने कहा कि कांग्रेस व भाजपा आलाकमान की एसवाईएल पर चुप्पी और ज्यादा गम्भीर है। इसलिए दोनों दलों के पार्टी आलाकमान को एसवाईएल जैसे महत्वपूर्ण मुद्दे पर अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए ताकि पूरे देश के साथ-साथ हरियाणावासियों को पता चल सके कि एसवाईएल पर कांग्रेस-भाजपा आलाकमान का स्टेंड क्या है? 


नेता प्रतिपक्ष ने बुधवार को महेंद्रगढ़ जिले के नांगलचौधरी हलके के गांव सतनाली, नायन, भूंगारका, पालड़ी पनीरा सहित अनेक स्थानों पर जनसभाओं को संबोधित कर लोगों से 23 फरवरी को ज्यादा से ज्यादा संख्या में पंजाब-हरियाणा सीमा पर स्थित अम्बाला जिले के गांव इस्माइलपुर पहुंचने का आह्वान किया ताकि प्रदेश के लाखों लोग इनेलो के साथ मिलकर एसवाईएल के अधूरे निर्माण को पूरा करने का काम शुरू कर सके। उन्होंने लोगों से कहा कि सर्वोच्च न्यायालय का फैसला आने के बाद भी नहर का निर्माण कार्य न होना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है और अब प्रदेशवासियों को अभी नहीं तो कभी नहीं, के नारे के साथ इस निर्णायक संघर्ष को अंतिम दौर तक पहुंचाना होगा। इनेलो नेता ने कहा कि एसवाईएल का पानी आने से महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, भिवानी, गुडग़ांव व मेवात सहित दक्षिणी हरियाणा के सभी जिलों की पानी की समस्या दूर होगी और पूरा पानी मिलने से ये सभी इलाके पूरी तरह से खुशहाल हो जाएंगे। इनेलो नेता ने यह भी कहा कि सत्ता में आने से पहले भाजपा स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने, किसानों की दशा सुधारने का वादा करती थी और समाज के हर वर्ग को लुभावने नारे दिए गए थे लेकिन अब उन वायदों से भाजपा सरकार पूरी तरह से पीछे हट गई है। इस अवसर पर उनके साथ उनके साथ जिला प्रधान सत्यवीर नोताना, पूर्व विधायक राव बहादुर सिंह, चौधरी मूला राम, अमर सिंह, राव होशियार सिंह, जसवीर ढिल्लों, महेंद्र वडेसरा, बजरंग लाल अग्रवाल, भीम सिंह सहरावत, राकेश अकबरपुर, विरेंद्र सरपंच, कंवर सिंह जाखड़, धारा सिंह, ईश्वर, धर्मवीर, मास्टर हरचंद, संजीव गुप्ता व अशोक स्वामी सहित पार्टी के अनेक प्रमुख नेता मौजूद थे।
युवा इनेलो गांव गांव जाकर खोल रही है बीजेपी सरकार की पोल


सोनीपत, 28 दिसम्बर: इण्डियन नेशनल लोकदल पार्टी युवाओं को पार्टी से जोडऩे के लिए पुरे जिले में अभियान चलाए हुए है। बुधवार को गोहाना हल्के के प्रभारी अरुण बडौक, युवा जिलाध्यक्ष कुणाल गहलावत, हल्का अध्यक्ष प्रदीप बड़वासनी ने उल्लेहड़ी, किल्होड़द, चट्टाना, भटाना, माहरा, सिटावली, रहमाणा, चटिया देवा गांव का दौरा करके दर्जनों युवाओं का पार्टी के साथ जोडऩे का काम किया। इस मौके पर युवा प्रदेश उपाध्यक्ष अरुण बडौक ने कहा बीजेपी सरकार के द्वारा की गयी नोटबंद से हाहाकार मचा हुआ है, जहां गरीब आदमी अपने काम धंधे छोड़ कर सारा सारा दिन बैंको में पैसो के लिए लाइन में लगे रहते हंै और सारा दिन लाइन में लगे रहने के बाद जबाब मिलता है कैश ख़त्म हो गया। बडौक ने कहा आज युवा वर्ग को इनेलो शासनकाल याद आ रहा है। इनेलो सरकार ने ही युवाओं के कल्याण के लिए अनेक कार्य किए।
इस मौके पर युवा जिलाध्यक्ष कुणाल गहलावत ने ग्रामीण को सम्बोधित करते हुए कहा की आज बीजेपी सरकार में समाज का हर वर्ग बेहद दुखी और परेशान हैं। पिछले चुनावों के समय बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में कहा था की बुजर्गो को दो हजार रूपए बुढ़ापा पेंशन, युवाओ को रोजगार अथवा छह हजार व नौ हजार रूपए भता, महिलाओं और व्यापारियो को सुरक्षा प्रदान करेंगे और पूर्व सैनिकों को वन रैंक वन पेंशन देने के अलावा किसानों के लिए स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों अनुसान उन्हें लागत मूल्य के साथ 50 फीसदी मुनाफा जोड़कर फसलों के लाभकारी मूल्य और कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतनमान व भत्ते देने के अलावा सभी कच्चे कर्मचारियों को नियमित भी किया जाएगा। लेकिन सरकार बनने के बाद सरकार ने कोई भी चुनावी वादा पूरा न करके प्रदेशवासियों के साथ भारी धोखा किया और चुनाव के बाद बीजेपी सरकार ने किसी की भी सुध नही ली। 
हल्का अध्यक्ष प्रदीप बड़वासनी ने कहा युवा वर्ग आने वाले समय में बीजेपी को सता से बाहर फेकने में अह्म भूमिका निभाएगा। आज हजारों युवा दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व में रोज पार्टी में शामिल होने का काम कर रहे है। 
इस मौके पर जिला वरिष्ठ युवा उपाध्यक्ष प्रोफेसर बंसीलाल, रवि दहिया गढ़ी हकीकत, जगदीश किल्होडद, प्रदीप, नीटू , मोहित, संजू आदि युवा कार्यकर्ता मौजूद रहे।
चौटाला का आईओए अध्यक्ष बनना खेलों में फूकेंगा नई जान - दौलातपुरिया


फतेहाबाद : इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि अभय चौटाला का इंडियन ओलंपिक संघ का आजीवन अध्यक्ष मनोनित होना उनकी खेल व खिलाडिय़ों को प्रोत्साहित करने में कुशल नेतृत्व क्षमता का ही परिणाम है। दौलतपुरिया ने कहा कि चौटाला का आईओए अध्यक्ष बनना देश भर के खेलों को विकसित करने के प्रयासों में नई जान फूंकेगा। साथ ही अब ऐसे होनहार अंतराष्ट्रीय स्तर के खिलाडिय़ों को भी आगे बढऩे का अवसर मिलेगा, जो वर्तमान सरकारों की राजनीतिक द्वेष भावना के चलते पिछड़ा हुआ महसूस करते थे। वे आज अपने अनाज मंडी स्थित कार्यालय में पहुंचे क्षेत्र के युवा खिलाडिय़ों को अभय चौटाला के अध्यक्ष पद मनोनयन की बधाई देने उपरांत उन्हें संबोधित कर रहे थे। इस दौरान सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी ने भी युवाओं को अभय चौटाला के अध्यक्ष पद मिलने की बधाई दी।
दौलतपुरिया ने कहा कि हरियाणा प्रदेश को खिलाडिय़ों की नर्सरी कहा जाता है। मगर पिछले डेढ दशक में प्रदेश में सत्तासीन रही कांग्रेस व वर्तमान भाजपा सरकार ने खिलाडिय़ों को विश्व स्तर पर दमखम दिखाने के लिए उन तमाम सुविधाओं से महरूम रखा, जो उन्हें उनकी योग्यता के आधार पर मिलनी चाहिए थे। उन्होंने कहा कि अभय चौटाला स्वयं भी अंर्तराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी रहे हैं, इसलिए वे इस बात को भली-भांती समझते हैं कि खिलाडिय़ों को एक सफल मुकाम तक पहुंचने से पहले किन मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि पूर्व की कांग्रेस सरकार की तरह वर्तमान भाजपा सरकार ने भी पदक विजेताओं पर बेशक वाह-वाही लूटने मात्र की मंशा से इनाम देने का राजनीतिक ड्रामा किया हो। लेकिन सही मायने में प्रदेश के लाखों होनहार ऐसे खिलाड़ी आज भी सरकार से किसी तरह की सहायता न मिलने के कारण अपनी प्रतिभा दिखाने से वंचित हैं। क्योंकि खिलाडिय़ों को खेलों से नहीं, बल्कि राजनीतिक क्षेत्र या पार्टी विशेष से जोड़कर देखा जाता रहा है। अभय चौटाला को आईओए का आजीवन अध्यक्ष मनोनित होने से अब बिना किसी भेदभाव के हर खेल व खिलाड़ी को सफलता के मुकाम तक पहुंचने का अवसर मिलेगा। इस अवसर पर युवा इनेलो प्रदेश उपाध्यक्ष स. राणा जोहल, हलकाध्यक्ष भरत ङ्क्षसह परिहार सहित कई अन्य पदाधिकारी व कार्यकत्र्ता उपस्थित रहे।
जब पुराने नोट 31 मार्च के बाद रद्दी, फिर भी रखने पर सजा का प्रावधान हास्यस्पद - डाबड़ा

हिसार, 28 दिसम्बर : पिछले महीने की 8 तारीख को जब प्रधानमंत्री ने 500 व 1000 के पुराने नोट को अमान्य करार दे दिया था। उसे बैंक में जमा करवाने की अंतिम तारीख 30 दिसम्बर और आरबीआई केंद्र पर जमा करवाने की अंतिम तारीख 31 मार्च घोषित की थी। इन तारीखों के बाद जब ये दोनों नोट पूर्णतया अमान्य हो जायेंगे और इनकी कीमत कागज के टुकड़े की भी नहीं रहेगी तो सरकार क्या अब अमान्य नोट यानि रद्दी के टुकड़े को रखने पर सजा देगी। इनेलो किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा ने सरकार के उस अध्यादेश पर कड़ी टिप्पणी की है, जिसके माध्यम से सरकार ने 10 हजार रुपए से ज्यादा के  500 व 1000 के पुराने नोट रखने पर सजा व जुर्मानें का प्रावधान रखा है। इनेलो नेता ने इस अध्यादेश को पूर्णतया हास्यस्पद बताते हुए कहा कि इस अध्यादेश से भारत दुनिया का पहला देश बन जायेगा, जिसमे रद्दी रखने पर भी सजा मिलेगी, क्योंकि ये अमान्य नोट तो अब रद्दी के समान है।
उन्होंने सरकार को सलाह देते हुए कहा कि सरकार इस प्रकार के बेतुके कानून बनाने की बजाए देश के किसानों व आम आदमी के हितों में कोई ठोस नीति बनाये ताकि उनका कल्याण हो सके। पहले तो कांग्रेस सरकार अब भाजपा दोनों ही सरकारों ने इन वर्गों की अनदेखी की है, जिससे इनके सामने भूख मरने की नोबत आ गयी है। गेंहू पर निर्यात शुल्क हटाने का भी विरोध करते हुए डाबड़ा ने कहा कि इससे तो देश में पैदा होने वाला गेंहू कोडियो के भाव बिकेगा। सरकार को किसान की फसल को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बिकवाने का ठोस प्रबन्ध करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य तो घोषित कर देती है परंतु सरकार की तरफ से खरीद को लेकर कोई ठोस व् उचित प्रबंध  न करने के कारण किसान को अपनी फसल औने पौने दामो में बेचनी पड़ती है। जिसका जीता जागता उदाहरण पिछले सीजन में मूंग की फसल है जो कि किसान को समर्थन मूल्य से 400 से 500 रूपये प्रति क्विंटल कम कीमत पर बेचनी पड़ी।
इनेलो पीड़ितों को इंसाफ दिलाने तक लड़ाई लड़ेगी -ज़ाकिर हुसैन


यासीन मेव डिग्री कॉलेज, नूँह के प्रांगण में वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की बैठक हुई, जिसकी अध्यक्षता नूँह से इनेलो विधायक व ऑल इंडिया मेवाती पंचायत के अध्यक्ष चौ0 ज़ाकिर हुसैन ने की। बैठक में मेवात क्षेत्र के सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। 
विधायक चौधरी ज़ाकिर हुसैन ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार ने पुन्हाना तहसील के गाँव टूंडलाका के गरीबों पर जो जुल्म किया है, हम उनके साथ हैं। उन्होंने कहा कि इनेलो पार्टी इनेलो सुप्रीमों चौ0 ओमप्रकाश चौटाला के निर्देश पर सबसे पहले टूंडलाका गांव में हुए लोगों पर अत्याचार के विरूद्ध खड़ी हुई थी। इसका विरोध 19 दिसंबर को जिला नूँह की ग्रीवेंसीज कमेटी की बैठक की अध्यक्षता करने मेवात दौरे पर आए मेवात जिले के ग्रीवेंसीज कमेटी के इंचार्ज परिवहन मंत्री श्री कृष्णलाल पँवार से सर्किट हाऊस नूँह में उनके व जिलाध्यक्ष मास्टर बदरुद्दीन के नेतृत्व में इनेलो प्रतिनिधिमंडल मिलकर विरोध जताया था तथा कहा था कि गाँव टूंडलाका में उजाड़े गए परिवारों को तुरंत दोबारा बसाया जाए,पीड़ित परिवारों को नुकसान का पूर्ण मुआवजा दिया जाए तथा दोषी अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाए। उन्होंने मेवात के जागरूक पत्रकारों का भी धन्यवाद किया जिन्होंने इस मुद्दे को उसी समय जोर शोर से उठाया।
विधायक चौधरी ज़ाकिर हुसैन ने परिवहन मंत्री से इस कड़कती ठंड में गरीबों के आशियाने उजाड़ने का विरोध दर्ज कराते हुए कहा था कि इस मौसम में गरीब बेघर हो गए हैं। श्री हुसैन ने कहा कि सरकार का काम बसाने का है, ना कि उजाड़ने का। बेघर हुए सैंकड़ों परिवार इस कड़कती ठंड में कहाँ जाएँगे। पंचायत ने गरीब लोगों से राजनीतिक द्वेष के कारण वह जमीन सी आर पी एफ कैंप के लिए कौड़ियों के दाम दे दी। सांसद व केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह बार-बार घोषणा करते हैं कि मेवात में सी आर पी एफ में पैरामिलिट्री फोर्स के कैंप खोले जाएंगे तथा विकास कार्यों की घोषणा अहीरवाल के लिए करते हैं। पिछड़े मेवात क्षेत्र को बिजली,पानी,यूनिवर्सिटी आदि व सरकारी नौकरियाँ चाहिएँ ना कि पुलिस,फोर्स के कैंप।
विधायक ज़ाकिर हुसैन ने कहा कि जिला नूँह की एन सी आर में स्थित सैंकड़ों एकड़ जमीन सी आर पी एफ कैंप के लिए दे दी जिससे क्षेत्र के विकास में कोई सहयोग नहीं होगा। जिला मेवात की पंचायत की जमीन विकास कार्यों में उद्योग लगाने के लिए  इस्तेमाल करनी चाहिए, जिससे क्षेत्र का विकास हो और लोगों को रोजगार मिल सके।
  श्री हुसैन ने कहा कि नूँह के पी डब्ल्यू डी रेस्ट हाऊस में 26 दिसंबर को जो बैठक हुई थी जिसमें 31 दिसंबर की महापंचायत का निर्णय लिया गया है वे उस बैठक में उपस्थित नहीं थे। श्री हुसैन ने कहा कि मेवात के इस दर्दनाक हादसे के विषय में जो भी महापंचायत हो  उसका निर्णय मेवात के सभी बड़े उलेमा की सदारत में हों तथा उसमें सभी चौधरियान,राजनैतिक पार्टी,समाजसेवी संगठन, सांसद, पूर्व सांसद,विधायक पूर्व विधायक तथा अन्य जन-प्रतिनिधि आदि शामिल हों तभी महापंचायत का निर्णय लिया जाना चाहिए, जिससे टूंडलाका के पीड़ितों को हक़ दिलाने के लिए लड़ी जाने वाली लड़ाई ठीक ढंग से लड़ी जा सके।
      विधायक चौ0 ज़ाकिर हुसैन ने कहा कि इनेलो पार्टी व ऑल इंडिया मेवाती पंचायत पूरी तरह से तन-मन-धन से टूंडलाका के पीड़ितों के साथ है। इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी टूंडलाका के पीड़ितों की लड़ाई को सबसे पहले लड़ रही है और आगे भी कोई भी सामूहिक लड़ाई लड़ने का निर्णय होता है तो इनेलो व ऑल इंडिया मेवाती पंचायत इस लड़ाई में किसी से पीछे नहीं रहेगी तथा तब तक संघर्ष करेगी जब तक टूंडलाका के पीड़ितों को इंसाफ ना मिल जाए। अगर कामयाबी नहीं भी मिली तो इनेलो की सरकार बनने पर टूंडलाका गाँव के बेघर हुए लोगों की सभी माँगों को पूरा किया जाएगा।
अभय चौटाला की बढ़ती लोकप्रियता देख बौखलाए कुलदीप - मनदीप बिश्नोई

हिसार, 28 दिसम्बर : इनेलो के वरिष्ठ नेता व विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने जिस प्रकार एसवाईएल को लेकर जल युद्ध छेड़ रखा है। उनको लगातार जन समर्थन मिल रहा है। इसे देख कर दूसरी पार्टियों के नेता बौखला गये है, तभी वे अनर्गल बयान बाजी कर रहे है। इनेलो जिला प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्नोई ने कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई के उस बयान पर प्रतिक्रिया कड़ी व्यक्त की है, जिसमे उन्होंने अभय चौटाला की आईओए में आजीवन अध्यक्ष के रूप में नियुक्ति को युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ बताया है। एडवोकेट बिश्नोई ने कहा कि खिलवाड़ तो स्वयं कुलदीप ने हिसार लोकसभा व भिवानी लोकसभा की जनता से किया था जो इन क्षेत्रों की जनता की आवाज़ उठाना तो दूर बल्कि अपनी सांसद निधि को भी खर्च नहीं कर पाए। तभी इन क्षेत्र की जनता ने उनको नकार दिया। अब भी वे आदमपुर हल्के के युवाओं व आम जनता के हितों से खिलवाड़ कर रहे है। लोकतंत्र में क्षेत्र का प्रतिनिधि उस क्षेत्र के लोगो का एक तरह से वकील होता है जो उपयुक्त स्थान पर जनता की समस्या को उठाकर उनका समाधान करवा सके। कांग्रेस विधायक इस मामले में पूर्ण तया असफल रहे है। इनेलो प्रवक्ता ने कहा कि आईओए में अभय सिंह चौटाला की नियुक्ति उनके खेल के प्रति समर्पणता को ध्यान में रखते हुए सर्वसम्मति से हुई है। उस बैठक में पीवी सिन्धु व साक्षी मलिक सहित अन्य बहुत से वरिष्ठ खिलाडी भी मौजूद थे। उनकी नियुक्ति का देश के सभी खिलाडिय़ों ने स्वागत किया है। अभय सिंह चौटाला भारतीय मुकेबाज़ी महासंघ के अध्यक्ष रहे है उसके बाद ही भारतीय मुक्के बाज़ों ने विश्व स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। इनेलो सरकार ने खिलाडिय़ों के हितों को ध्यान में रखते हुए खेल नीति बनाई जिसके बाद प्रदेश के खिलाडिय़ों ने राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाई। उस खेल नीति को बनाने में भी अभय सिंह चौटाला के अनुभवों का विशेष योगदान था। इनेलो प्रवक्ता एडवोकेट बिश्नोई ने भाजपा को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि भाजपा सरकार भी खेल विरोधी है। खिलाडियों को इस सरकार में अपने हको के लिए अदालतों का सहारा लेना पड़ रहा है। सरकारी नौकरी तो दूर राज्य स्तरीय व् राष्ट्रीय स्तर पर दिए जाने वाले पुरस्कारों व अवार्डों में भी खिलाडिय़ों की अनदेखी की जा रही है।
एसवाईएल की लड़ाई  में सहयोग के लिए इनेलो ने कांग्रेस विधायक कुलदीप रेणुका को सौंपा पत्र


हिसार, 28 दिसम्बर : एसवाईएल की लड़ाई को इनेलो ने प्रदेश के लिए सम्मान की लड़ाई लडऩे की पूर्णतया तैयारी कर रही है। वरिष्ठ नेता व नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने इसे जल युद्ध की संज्ञा देते हुए व्यापक स्तर पर जन जागरण अभियान चलाए हुए है। वहीं उन्होंने हरियाणा विधानसभा में सभी विपक्षी विधायकों को पत्र लिखकर प्रदेश के सम्मान की इस लड़ाई में सहयोग की अपेक्षा की है। इसी कड़ी में आदमपुर विधायक कुलदीप बिश्नोई व हांसी विधायक रेणुका बिश्नोई को भी पत्र लिखा है, उनका ये पत्र उनके प्रतिनिधि के तौर पर इनेलो जिला अध्यक्ष राजेंद्र लितानी व युवा जिला अध्यक्ष अमित बूरा ने कांग्रेस विधायकों के आवास पर जाकर दिया। विधायकों की अनुपस्थिति में यह पत्र विधायकों के प्रतिनिधि वरिष्ठ कांग्रेस नेता रणधीर पनिहार को सौंपा। इनेलो जिला अध्यक्ष राजेंद्र लितानी ने कहा कि एसवाईएल हरियाणा के किसानों के लिये जीवन रेखा है, इसलिये अब इसके लिए सबको मिलकर निर्णायक लड़ाई लडऩी पड़ेगी, तभी प्रदेश के हितों की रक्षा होगी। पत्र के माध्यम से नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने विपक्षी विधायकों से अपील की है कि वे आपसी राजनैतिक विरोध को भुलाकर इस मौकेपर इक्कठा हो तथा 23 फरवरी को गांव  इस्माइलपुर पहुंच कर जल युद्ध में अपना सहयोग दे। जिस प्रकार एसवाईएल पर पंजाब के सभी दल एकजुट है, उसी प्रकार हरियाणा के राजनैतिक दलों को भी एक साथ मिलकर एस वाई एल का पानी लाने के लिए कोशिश करनी चाहिए। जननायक चौधरी देवी लाल ने अपने कार्यकाल में इस नहर का अधिकतर निर्माण करवाया था। बाद में मामला कोर्ट में चला गया तो औम प्रकाश चौटाला की सरकार ने उच्चतम न्यायालय में पैरवी की। जिस कारण 2002 में प्रदेश के हक में फैसला आया। जिसके अनुसार पंजाब सरकार को एक साल में नहर का निर्माण करवाना था, परन्तु 2004 में पंजाब विधानसभा में बिल पास करके इसको मानने से इंकार कर दिया। तो मामला फिर कोर्ट में चला गया। अब जब एक बार फिर कोर्ट का फैसला प्रदेश के हक में आ गया है। अब भी पंजाब व केंद्र सरकार दोनों की मंशा इस मामले को ठण्डे बस्ते में डालना चाहती है, जो की प्रदेश के किसानो के साथ सरासर अन्याय है। इनेलो इसे किसी भी सूरत में सहन नहीं करेगी।

Tuesday, December 27, 2016

नेता प्रतिपक्ष ने तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की समाधि पर जाकर दी उन्हें श्रद्धांजलि


स्व. जयललिता को श्रद्धांजलि अर्पित की: बैठक के बाद नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री स्व. जयललिता की समाधि पर गए और उन्होंने हरियाणा की जनता व इनेलो की ओर से स्व. मुख्यमंत्री पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की। चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि अन्नाद्रमुक नेता के साथ चौधरी देवीलाल व चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के समय से ही बेहद करीबी और घनिष्ठ संबंध रहे हैं। तमिलनाडु के विकास और गरीबों के उत्थान में स्व. जयललिता की बेहद अहम भूमिका रही और वे देश के प्रमुख विपक्षी नेताओं में से एक रही हैं। इनेलो नेता ने कहा कि स्व. जयललिता ने गरीब लोगों को दो वक्त भोजन उपलब्ध कराने के लिए ‘अम्मा रसोई’ व उन्हें चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए ‘अम्मा डिस्पेंसरी’ शुरू करके न सिर्फ लोगों की सेवा की बल्कि पूरे देशवासियों के सामने एक मिसाल कायम की कि कैसे गरीबों के भले के लिए काम किया जा सकता है।
अभय चौटाला आईओए के लाइफ प्रेसिडेंट बने, हरियाणावासियों के लिए गर्व की बात 


चंडीगढ़, 27 दिसम्बर: इंडियन ओलंपिक संघ की मंगलवार को चेन्नई में हुई आम सभा बैठक में इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला को सर्वसम्मति से आजीवन अध्यक्ष (लाइफ प्रेजिडेंट) चुना गया। बैठक में इस आश्य का प्रस्ताव भारतीय ओलंपिक संघ के संयुक्त सचिव राकेश गुप्ता ने रखा जिसे सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया। अभय सिंह चौटाला को उनके द्वारा खेलों को बढ़ावा देने में दिए गए योगदान के दृष्टिगत इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन का लाइफ प्रेजिडेंट मनोनीत किया गया है।


चौधरी अभय सिंह चौटाला वालीबॉल के राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी रहे हैं और उन्होंने देश व प्रदेश में खेलों को बढ़ावा देने के लिए भारी योगदान दिया है। वे इससे पहले भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष रहने के अलावा वरिष्ठ उपाध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर भी रहे और भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष रहने के अलावा वालीबॉल संघ के भी अध्यक्ष और भारतीय वालीबॉल महासंघ के उपाध्यक्ष रहे। अभय सिंह चौटाला लगातार 12 साल तक भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष पद पर रहे और उनके अध्यक्ष रहते भारतीय मुक्केबाजों ने न सिर्फ दुनिया में भारत का नाम रौशन किया बल्कि एशियाई खेलों और विश्व मुकाबलों के साथ-साथ ओलंपिक खेलों में भी मुक्केबाजी में पदक हासिल कर नया कीर्तिमान स्थापित किया। पिछले तीन दशकों से अनेक खेल संघों से जुड़े रहे चौधरी अभय सिंह चौटाला इस समय हरियाणा ओलंपिक संघ के अध्यक्ष हैं। 


अभय सिंह चौटाला के भारतीय ओलंपिक संघ का आजीवन अध्यक्ष चुना जाना हरियाणावासियों के लिए विशेष रूप से बेहद गर्व का अवसर है। आज भारतीय ओलंपिक संघ की आम सभा बैठक में जैसे ही संघ के संयुक्त सचिव राकेश गुप्ता ने अभय चौटाला को लाइफ पे्रेजिडेंट मनोनीत किए जाने का प्रस्ताव रखा तो बैठक में मौजूद देशभर के सभी खेल संघों के प्रतिनिधियों ने इस प्रस्ताव का तालियों की गडग़ड़ाहट के साथ समर्थन किया और नेता प्रतिपक्ष को सर्वसम्मति से इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन का लाइफ प्रेजिडेंट बना दिया गया। बैठक के बाद संघ के अध्यक्ष एन रामा चंद्रन, महासचिव राजीव मेहता, भारतीय कबड्डी महासंघ के अध्यक्ष जनार्दन सिंह गहलोत, एशियन टेनिस फैडरेशन के अध्यक्ष अनिल खन्ना, गोआ के पूर्व मुख्यमंत्री वी कामथ, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष व हिमाचल प्रदेश ओलंपिक संघ के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर, पूर्व केंद्रीय मंत्री बीपी वैश्य, दिल्ली के पूर्व मुख्य सचिव एस रघुनाथन व तीरअंदाजी महासंघ के अध्यक्ष व पूर्व सांसद तरलोचन सिंह सहित सभी प्रमुख खेल संघों के पदाधिकारियों ने उन्हें बधाई दी। बैठक में ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधू भी मौजूद थीं जिन्होंने अभय चौटाला को आजीवन अध्यक्ष बनने पर बधाई दी। बैठक में ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधू व साक्षी मलिक को सम्मानित भी किया गया। पीवी सिंधू ने जहां बैठक में मौजूद रहकर खुद सम्मान-पत्र हासिल किया वहीं साक्षी मलिक की ओर से उनकी माता ने सम्मान-पत्र हासिल किया। बैठक में अभय सिंह चौटाला ने देशभर के सभी खेल संघों द्वारा उन्हें दिए गए सम्मान और उनमें जताए गए विश्वास के लिए आभार जताते हुए कहा कि देश में खेलों और खिलाडिय़ों को प्रोत्साहन देने में वे कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे। 

जनवरी माह में हिसार में लगेगा पासपोर्ट मेला - दुष्यंत चौटाला

हिसार 27 दिसम्बर : हिसार जिले के लोगों को पासपोर्ट के लिए अब अंबाला या चंडीगढ़ नहीं जाना पड़ेगा । हिसार जिले के लोगों के लिए जनवरी माह के दूसरे सप्ताह में पासपोर्ट मेला लगाया जाएगा। इस मेले में हिसार जिले के लोगों के पासपोर्ट मौके पर ही बनाए जाएंगे। यह जानकारी हिसार के सांसद दुष्यंत चौटाला ने दी।उन्होंने बताया कि हिसार शहर में रीजनल पासपोर्ट सेवा केंद्र खुलवाने के लिए वह पिछले काफी समय से प्रयासरत हैं और उन्होंने यह मामला लोकसभा में भी उठाया था कि हिसार के लोगों को पासपोर्ट बनवाने के लिए चंडीगढ़ एवं अंबाला जाना पड़ता है जोकि हिसार से काफी दूर स्थित है। इस संबंध में उन्होंने केंद्रीय मंत्री एवं विभाग को पत्र भी लिखा था सांसद चौटाला ने बताया कि हिसार के लोगों को प्रारंभिक तौर उनकी अनुशंसा पर विभाग ने जनवरी महीने में पासपोर्ट मेला लगाने का निर्णय लिया है । सांसद चौटाला ने बताया कि उनकी आज ही इस संबंध में केंद्रीय मंत्री जनरल वी के सिंह  से बात हुई है और उन्होंने हिसार में 13 या 14 जनवरी को पासपोर्ट मेला लगाने की स्वीकृति दे दी है ।
सांसद चौटाला ने बताया कि पासपोर्ट मेला लगने से हिसार जिले के हजारों युवक - युवतियों को फायदा होगा तथा उनका मौके पर ही पासपोर्ट बन जाएगा । इनेलो सांसद ने जिले के  लोगों से आह्वान किया कि वह इस पासपोर्ट मेले में ज्यादा से ज्यादा संख्या में शिरकत करें तथा लोकसभा का हर नागरिक अपना पासपोर्ट अवश्य बनवाएं। विदित रहे कि हिसार में पहली बार पासपोर्ट मेला  लग रहा है।

मिड-डे-मिल कर्मचारियों ने सौंपा ज्ञापन 


आज जिला मुख्यालय पर महिला शक्ति ने अपनी मांगों को लेकर सरकार के विरोध में जोरदार प्रर्दशन किया। मिड डे मिल के कर्मचारियों व महिलाओं ने सरकार विरोधी नारे लगाते हुए अपनी मांगों को पूरा कराने के लिए नूंह से इनेलो विधायक चौ0 ज़ाकिर हुसैन के बेटे चौ0 ताहिर हुसैन एडवोकेट को 10 सूत्रिय मांग पत्र दिया, जिस पर चौ0 ताहिर हुसैन ने कर्मचारियों व महिलाओं को आश्वासन दिया कि उनकी माँगों को गंभीरता से लिया जाएगा तथा जल्द ही नूँह विधायक चौधरी ज़ाकिर हुसैन मुख्यमंत्री से मुलाकात कर उनके सामने रखेंगे तथा उन्हें पूरा करवाने का हर संभव प्रयास करेंगे। श्री ताहिर हुसैन ने कहा कि विधायक चौ0 ज़ाकिर हुसैन विपक्ष में होते हुए भी  मेवात क्षेत्र की समस्याओं को दूर करवाने के लिए दिन-रात लगे रहते हैं।  विधानसभा के अंदर व बाहर प्रतिपक्ष नेता खेलरत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में मेवात क्षेत्र की माँगों को लगातार उठाते रहे हैं, जिसमें उन्हें काफी हद तक सफलता भी मिली है। श्री हुसैन ने मिड डे मिल कर्मचारियों को आश्वासन दिया कि आप लोगों की माँगों को हरियाणा सरकार के समक्ष विधायक चौ0 ज़ाकिर हुसैन के द्वारा जोर शोर से उठाया जाएगा।


मिड-डे-मील के अंतर्गत सरकारी स्कूलों में बच्चों को दोपहर का भोजन बनाने वाली महिलाओं ने 7 वें वेतन आयोग के अंतर्गत मासिक वेतन बढ़ाने की मांग की। मिड डे मिल कर्मचारियों ने बताया कि प्रदेश में 32 हजार महिलाएं काम कर रही है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार से मांग है कि इन महिलाओं को चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का दर्जा दे कर 18000 रूपये मासिक वेतन दिया जाए। वर्करों को 180 दिन की प्रसूति अवकाश दिया जाए,निजि संस्थाओं के हाथ में मिड-डे-मील को न दिया जाए,12 वीं कक्षा तक मिड-डे -मील योजना को शुरू किया जाए तथा स्कूलों में दो-दो महिलाएं भोजन बनाने के लिए और नियुक्त की जाएं।
उन्होंने कहा कि मिड-डे- मील योजना में भोजन बनाने में लगी महिलाएं सर्दी -गर्मी में बच्चों को भोजन बना कर देती है। लेकिन सरकार इन महिलाओं को मासिक मानदेय देने में भी परेशान किए हुए है। उन्होंने कहा कि भोजन बनाने वाली महिलाएं इस योजना में कड़ी के रूप में काम कर रही है। इसलिए सर्वकर्मचारी संघ महिलाओं की हर मांग का सर्मथन करता है। महिलाओं  ने कहा कि सरकार हमारी मांगों को हल्का में न लें,अपनी मांगों को पूरा कराने के लिए महिलाएं सरकार के विरोध में हर कुर्बानी देने के लिए तैयार है।

श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के 350 वें प्रकाश पर्व के कार्यक्रम को लेकर बैठक


सिरसा 27 दिसंबर: इनेलो सिखों के दसवें गुरू-गुरू गोबिन्द सिंह के 350 
वें प्रकाश दिवस क ो भव्य रूप से मनाएगी तथा इस मौके पर धार्मिक आयोजन किये जाऐगें। इस संबध में सह प्रैस प्रवक्ता महावीर शर्मा ने बताया कि आज इनेलो जिला कार्यालय में जिलाध्यक्ष पदम जैन की अध्यक्षता में गुरूद्वारा प्रतिनिधयों व पदाधिकारियों के साथ बैठक आयोजित करके कार्यक्रम की रूपरेखा पर विचार विमर्श किया गया। बैठक में दसवीं पातशाही गुरूद्वारा के प्रधान प्रकाश सिंह साहुवाला मुख्य रूप से शामिल हुए। जैन ने कहा कि नाड्डा साहिब गुरूद्वारे से 30 तारिख को शोभा यात्रा आरम्भ होगी जो एक जनवरी को प्रात: डिंग मोड़ पर 10 बजे पहुँचेगी। इससे पूर्व शोभा यात्रा गांव डिंग मोड़, मौजुखेड़ा, बगुवाली, भावदीन, संगरसाधा, सुचान कोटली, मोरीवाला, सिकन्द्रपुर, बाजेकां, वैदवाला, ढाणी सावनपुर आदि गावों में जायेगी जहां शोभा यात्रा का भव्य ढंग से स्वागत किया जायेगा। उसके पश्चात सिरसा में पहुँचने पर नगर कीर्तन निकाला जायेगा जो खैरपुर से हिसार रोड़ होते हुए हिसारिया बाजार व इसके बाद सुरतगढिय़ा बाजार से दसवीं पातशाही गुरूद्वारे में पहुँचेगी जहां पर शहर की धार्मिक संस्थाएं नगर कीर्तन का स्वागत करेगी इस नगर कीर्तन में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला विशेष रूप से शामिल होगे। प्रक ाश सिंह साहुवाला ने कहा कि दसवीं पातशाही गुरूद्वारे में नगर कीर्तन पहुँचने के पश्चात अखंडपाठ का भोग डाला जाऐगा और उसके बाद गुरूघर का लंगर अटूट चलेगा। साहुवाला ने नगरवासियों से नगर कीर्तन का स्वागत करने हेतु आह्वान किया और कहा कि हम सब शोभाग्यशाली है कि हमारे शहर में गुरू गोबिन्द्र सिंह जी के प्रकाश दिवस के उपलक्ष्य में भव्य कार्यक्रम आयोजित किये जाऐंगे। इस बैठक में सिरसा सांसद चरणजीत रोड़ी, विधायक मक्खन लाल सिंगला, बलकौर सिंह, रामचंद्र कम्बोज पूर्व मंत्री भागीराम, प्रदीप गोदारा,कश्मीर करीवाला, राज्यकार्यकारिणी सदस्य जसवीर सिंह जस्सा, जगसीर सिंह मांगेआना, सुरेन्द्र वैदवाला, बुध ङ्क्षसह, भरपुर सिंह, महेन्द्र बाना, जिला पार्षद हरपाल कासनियां, हरि राम, चानन दास, प्रदीप कुमार आदि काफी सख्यां में इनेलो पदाधिकारी व गुरूद्वारा के पदाधिकारी उपस्थित थे।
31 दिसम्बर को जिला फतेहाबाद के धमतान साहिब में होगा नगर कीर्तन का स्वागत- लितानी



हिसार, 27 दिसम्बर : इनेलो द्वारा सिक्खों के दसवें गुरु गुरु गोबिंद सिंह जी के 350 साला प्रकाशोत्सव के मौके पर निकाले जाने वाले नगर कीर्तन का हिसार जिले के कार्यकर्ताओं द्वारा 31 दिसम्बर को धमतान साहिब गुरुद्वारा पहुंचने पर भव्य स्वागत किया जाएगा। इनेलो जिला अध्यक्ष राजेंद्र लितानी ने मंगलवार को पार्टी पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए यह बात कही। इस यात्रा के स्वागत की तैयारियों को लेकर पार्टी के प्रमुख पदाधिकारियो की बैठक बुलाई गई थी। जिसमे इनेलो विधायक रणबीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व विधायक पूर्ण डाबड़ा, शीला भ्याण, चत्तर सिंह, हलका अध्यक्ष सजन लावट, सतपाल सरपंच, सत्यवान बिछ पड़ी, भागीरथ नम्बरदार, राव इंद्र फौजी, सतबीर सिसाय, कैप्टेन छाजू राम, हरफूल खान भट्टी, जिला प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, युवा जिला अध्यक्ष अमित बुरा, रमेश चुघ, मास्टर गुलाब सिंह, राजबीर खान, सरदार बलविंदर सिंह, सरदार सोहन सिंह तलवार, डॉ सत्य नारायण मंगाली, डॉ राज कुमार दिनोदिया सहित काफी संख्या में पदाधिकारियों ने भाग लिया। बैठक को संबोधित करते हुए लितानी ने कहा कि गुरु गोबिंद सिंह जी ने धर्म की रक्षा के लिए अपने बच्चों व पिता सहित अपना सर्वस्व कुर्बान कर दिया था। बलिदान का ऐसा कोई दूसरा उदाहरण पूरे विश्व में कहीं नहीं है। गुरु गोबिंद सिंह जी न केवल सिक्ख धर्म बल्कि पूरे राष्ट्र्र की धरोहर है। इसी बात को ध्यान में रखकर इनेलो द्वारा 30 दिसम्बर को सुबह पंचकूला के नजदीक नाड़ा साहब गुरुद्वारा से नगर कीर्तन यात्रा का प्रारम्भ किया जायेगा। जिसमे पार्टी के सभी विधायक, सांसदों सहित पार्टी के वरिष्ठ नेता भाग लेंगे। इनेलो नेता ने बताया कि हिसार जिले के कार्यकर्ता यात्रा का स्वागत फतेहाबाद जिला के धमतान साहिब गुरुद्वारा में स्वागत करेंगे। हिसार के सभी सातों हलकों से  लगभग 140 गाडिय़ों का काफिला यात्रा का स्वागत करने जाएगा। वहां से हिसार जिला के कार्यकर्ता नगर कीर्तन की व्यवस्था को संभालेंगे। लितानी ने बताया कि एक जनवरी को सिरसा में नगर कीर्तन की समाप्ती पर लंगर समागम होगा जिसमें पुरे प्रदेश से हजारों सिक्ख श्रद्धालु भाग लेंगे। उन्होंने इसके लिए कार्यकर्ताओ की जिम्मेदारी भी लगाई।

Monday, December 26, 2016


दादरी के हिस्से का पानी चहेते क्षेत्रों को दे रहे भाजपा के मंत्री - राजदीप


चरखी दादरी : भाजपा सरकार दादरी क्षेत्र की जनता को मुलभूत सुविधाएं मुहैया करवाने में नाकाम साबित हो रही है। पिछले एक माह से दादरी के लोग पीने के पानी का टोटा झेल रहे हैं। भाजपा सरकार के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ व वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु अपने चहेते क्षेत्र एवं लोगों को खुश रखने के लिए दादरी के हिस्से का पानी भी वहां दे रहे हैं। एक तरफ तो कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ दादरी को अपना गृह क्षेत्र बताते हैं, दूसरी ओर यहां के लोग पानी की एक-एक बूंद को तरस रहे हैं। यह बात दादरी हलके के विधायक राजदीप फौगाट ने गांव कपूरी स्थित जलघर में पेयजल आपूर्ति का जायजा लेते हुए कही। विधायक ने कहा कि कपूरी जलघर के दोनों टैंक लगभग खाली पड़े हैं। ये हालात पिछले कई दिन से बने हैं। मात्र दो फुट पानी शेष है वह भी पिछले दिनों से शहर में आपूर्ति कम करने के कारण। उन्होंने कहा कि कपूरी जलघर से शहर के 40 फीसदी हिस्से में पानी सप्लाई किया जाता है। सर्दियों में भी दादरी शहर में पानी के लिए हाहाकार मचा है, लोग निजी वाटर सप्लायरों से पानी खरीद कर प्यास बुझाने को मजबूर हैं। लेकिन जलघर से पानी नहीं मिलने से अन्य घरेलू कामकाज करने में परेशानियां आ रही हैं। विधायक राजदीप ने कहा कि पानी के मामले में भी भाजपा के मंत्री राजनीति कर रहे हैं। दादरी के साथ सौतेला व्यवहार किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। शहर में आबादी के हिसाब से 550 क्यूसिक पानी की जरूरत है जो केवल 200 क्यूसिक ही मिल रहा है वह भी किस्तों में। इन हालातों में जन जीवन कैसे सुचारु चल पाएगा। उन्होंने कहा न घरों में पीने के लिए और न ही खेतों में सिंचाई के लिए पानी दिया जा रहा है। किसान की फसलें बर्बाद हो रही हैं। जलघर में टयूबवेल से दी जा रही सप्लाई का पानी भी पीने योग्य नहीं है। राजदीप ने चेतावनी दी कि जल्द ही समस्या दूर नहीं हुई तो इनेलो भाजपा सरकार के जन विरोधी कार्यों की मुखरता से खिलाफत करने के लिए आंदोलन से पीछे नहीं हटेगी। इस अवसर पर उनके साथ पार्षद मनोज वर्मा, पार्षद प्रतिनिधि कृष्ण कुमार, राजबीर फौगाट, पार्षद दिनेश जांगड़ा, रामनिवास मिर्च, रणबीर फौगाट, रामोतार आदि भी थे। 
सरकार के मौजूदा मुख्यमंत्री, मंत्रियों विधायकों की मौजूदगी के बावजूद रैली में नही जुटी भीड़ - सतीश नांदल

रोहतक : प्रदेश की भाजपा सरकार ने लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करते हुए एक बार फिर से झूठी घोषणाओं का पिटारा जनता जनार्दन के सामने खोला। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस पर कल आयोजित सांपला नई अनाजमंडी में सुशासन दिवस नामक रैली में प्रदेश सरकार ने जम कर सरकारी मशीनरी का ही दुरूपयोग नही किया अपितु तानाशाही करते हुए प्राइवेट स्कूल बसों को एक दिन पूर्व ही कब्जे में ले लिया। भाजपा सरकार ने इस रैली को सफल बनाने के लिए प्रदेश भर से लोगों को न्यौता दिया था। मुख्यमंत्री खट्टर सहित इस रैली को सफल बनाने के लिए केंद्रीय मंत्री से लेकर राज्य सरकार के कैबिनेट व राज्य मंत्री व अन्य विधायकों पर दबाव था। सरकार ने पूरी जोर आजमाइश करते हुए इस रैली को प्रदेश स्तरीय रैली का रूप दे रखा था लेकिन गढ़ी सांपला किलोई हल्के के नाम पर होने वाली इस रैली में जनता जनार्दन मौजूद नही थी। सरकार ने नई अनाजमंडी के शेड के नीचे दो हजार कुर्सियां लगवाने का काम किया था जिसको भाजपा के कार्यकर्ता भी भर नही सके और आलम यह रहा की पंडाल में कुर्सियां अंत तक खाली नजर आई। नब्बे हलकों में हल्का स्तर पर भाजपा सरकार द्वारा की गयी सभी रैलीयों में से सांपला हल्के में आयोजित रैली को अंतिम रैली मानकर एक विशालकाय रैली बनाने के इरादे से भाजपा के मंत्री व कार्यकर्ता भाजपा सरकार के झूठे वादों व लोकलुभावनी घोषणाओं का ढोंग पीटते नजर आये। 
यह आरोप इनेलो के जिलाध्यक्ष व प्रदेश प्रवक्ता सतीश नांदल ने आज जारी एक प्रेस ब्यान के माध्यम से भाजपा सरकार पर लगाये। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने किलोई हल्के की जनता के साथ धोखा और विश्वासघात करने का काम किया है। उन्होंने भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आज तक भाजपा सरकार के कार्यकाल में पूर्व में हुई किसी भी रैली के दौरान होने वाली घोषणाओं को अमलीजामा नही पहनाया गया था कि एक बार फिर से झूठी घोषणाओं का पुलिंदा जनता के सामने रखने का काम भाजपा ने किया है। इनेलो नेता सतीश नांदल ने कहा कि ग्रामीण विकास निधि कोष से दस करोड़ की घोषणा करके मुख्यमंत्री खट्टर सोचते हैं कि उन्होंने बड़ा तीर मार दिया है जबकि सच्चाई यह है कि ये घोषणा ऊँट के मुँह में जीरा देने वाली कहावत को चरितार्थ करती है। इनेलो के प्रदेश प्रवक्ता नांदल ने कहा कि गढ़ी सांपला किलोई हल्के में 54 गांव आते हैं। यदि   इस आंकड़े पर गौर करें तो एक गांव के हिस्से नाम मात्र राशि आयी है। जिससे यह साबित होता है कि भाजपा सरकार आज भी झूठी घोषणाओं के जरिये आमजन को बरगलाने का काम कर रही हैं। भाजपा सरकार से पूर्व की कांग्रेस सरकार ने किलोई हल्के की जनता को धोखे में रखा था और यही काम प्रदेश की मौजूदा सरकार कर रही है। पूर्व में घोषित हो चुके अंडरबाईपास व सर्विसलेन व अन्य का झूठा क्रेडिट लेने के लिए मुख्यमंत्री खट्टर हल्के में आये है। हल्के की मूलभूत समस्याओं को सुनने न तो खट्टर सरकार के मंत्री जनता के बीच आज से पहले कभी आये थे और न ही कोई प्रशासनिक अधिकारी आये। 
इनेलो जिलाध्यक्ष सतीश नांदल ने रैली को सिरे से फ्लॉप बताया व कहा कि प्रदेश की जनता के सामने सच्चाई आ चुकी है। मनघड़ंत बातों और चिकनी चुपड़ी बातों से जनता अब खुश नही होने वाली। उन्होंने कहा कि अब समय बदल चुका है और जनता की आँखों पर पड़ा पर्दा उठ चूका है।

इनेलो कार्यकर्ताओ ने उधम सिंह की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण


हिसार, 26 दिसंबर: देश की आज़ादी में शहीदों का विशेष योगदान रहा है, उनको कभी भी भुलाया नहीं जा सकता। शहीदों की शहादत की बदौलत आजाद हुए राष्ट्र्र के प्रति हमारी समर्पणता ही उन शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। यह बात इनेलो हलका अध्यक्ष सजन लावट ने सोमवार को शहीद उधम सिंह की जयंती पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद इनेलो कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए कही। इस मौके पर इनेलो कार्यकर्ताओ ने भारत माता की जय और शहीद उधम सिंह अमर रहे के ओजस्वी नारे भी लगाये। इनेलो नेता लावट ने कहा कि अगर उधम सिंह जैसे वीर इस देश में पैदा न हुए होते तो आज़ादी एक सपना बनकर रह जाती। शहीद उधम सिंह की निडरता इस बात से साबित होती है कि उन्होंने इंग्लैंड जाकर जनरल डायर की हत्या की थी। जनरल डायर  जलियावाला हत्याकांड का मुख्य सूत्रधार था, जिसमे हजारो निहथे भारतीय मारे गए थे। आज के युग में भी राष्ट्र को प्रगति के पथ पर ले जाने के लिए हम सबको संकल्प लेना चाहिए कि राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्यों का सही ढंग से निर्वहन करे। इस मौके पर इनेलो युवा हलका अध्यक्ष रवि आहूजा, शंकर गहलोत, सुनील रावत, दिलबाग जाखड़,  भूपेंद्र शर्मा, संजय भीम, संदीप चौहान, भूषण कुकरेजा, गौरव सैनी, रिंकू कुमार, नवीन सोनी, दीपक शर्मा, कौशल ठाकुर, हितेश सोनी सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे।


इसके बाद इनेलो शहरी अध्यक्ष सजन लावट ने युवा इनेलो द्वारा अग्रसेन चौक पर जननायक सेवा दल के तत्वधान में वस्त्र दान कैम्प का जायजा लिया। उन्होंने इसके लिये कार्यकर्ताओं का धन्यवाद किया कि वे तन मन धन से सामजिक कार्यो में लगे है। जननायक चौधरी देवी लाल की सोच हमेशा सर्व समाज के हित की थी। उन्हीं के दिखाये गए रास्ते पर इनेलो के शीर्ष नेता चल रहे है। यही कारण है कि आज भी इनेलो कार्यकर्ता सामाजिक कार्यो में बढ़ चढ़ कर भाग ले रहे है।