Friday, July 29, 2016

हरियाणा में भाईचारा खराब करके भाजपा ने पेश किया गुजरात मॉडल : अभय सिंह चौटाला


29 जुलाई, जींद : इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में प्रतिपक्ष नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा कि जिस प्रकार भाजपा ने गुजरात में दंगे करवाए थे, उसी प्रकार हरियाणा में भी एक साजिश के तहत भाजपा ने आपसी भाईचारा खराब करने का काम किया। जिस गुजरात मॉडल की बार-बार भाजपा नेता बात करते थे, उसी गुजरात की तर्ज पर हरियाणा में भी भाजपा ने आगजनी की घटनाओं को अंजाम दिलाया।
अभय सिंह चौटाला यहां झांझ गांव में बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती के मौके पर इनेलो द्वारा आयोजित सद्भावना सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा भाजपा ने गुजरात में हिंदु-मुसलमानों को आपस में लड़वाकर वहां पर दंगे करवाए थे। भाजपा की आपसी फूट डालने की नीति रही है। इसी के तहत हरियाणा में भी एक साजिश रची गई और यहां भाईचारा खराब हुआ। हरियाणा में मुसलमानों की संख्या कम होने के कारण दंगे भड़काने में तो भाजपा सफल नहीं हुई लेकिन उसने जातिवाद को अपना हथियार बनाकर आगजनी, लूट आदि की घटनाओं को अंजाम दिलवा दिया। इस घटना को आरएसएस के लोगों ने सबसे ज्यादा हवा दी। 


अभय सिंह चौटाला ने कहा कि 1990 में जब चौ. देवीलाल देश के उपप्रधानमंत्री थे तो उन्होंने 10 जातियों को आरक्षण दिलाने के लिए जस्टिस गुरनाम सिंह आयोग की स्थापना करवाई थी। इसमें सभी को आरक्षण दिया गया था। जैसे ही सरकार बदली तो हरियाणा के मुख्यमंत्री बनने के बाद चौ. भजनलाल ने पांच जातियां को एक साजिश के तहत आरक्षण से बाहर करवा दिया। उन्होंने एक भाजपा नेता से रिट डलवाई थी। उसके बाद 1991 से 2016 से आरक्षण के लिए कई बार आवाज उठती रही और दबाई जाती रही। अब प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर के बार-बार टरकाऊ निर्णय के बाद दुखी होकर लोगों को सड़कों पर बैठना पड़ा। यह लोग शांतिपूर्व आंदोलन कर रहे थे लेकिन आरएसएस के लोगों ने एक साजिश के तहत इसे भड़का दिया और प्रदेश के 31 बेकसूर नौजवान इसकी भेंट चढ़ गए। इसमें कांग्रेस के लोगों ने भाजपा का साथ दिया। उन्होंने कहा कि कैप्टन अभिमन्यु की कोठी को तीन बार आग लगाई गई लेकिन कोई भी व्यक्ति एक बार तो तैश में आकर आग लगा सकता है लेकिन बार-बार नहीं लगा सकता। इसके पीछे साजिश रची गई ताकि लोगों को फंसाया जा सके। चौटाला ने कहा कि जाट आरक्षण आंदोलन के बाद पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के निर्देश अनुसार इनेलो ने प्रदेश में फिर से भाईचारा कायम करने के लिए बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती को सद्भावना के रुप में मनाने का निर्णय लिया। उन्होंने सभी लोगों से अपील करते हुए कहा कि सभी को आपस में मिलकर रहना है। आप जिस भी दुकान, मकान, बैठक या किसी अन्य स्थान पर जाओ तो वहां भाजपा की इस साजिश को लोगों के सामने रखना तथा आपसी भाईचारा किसी भी कीमत पर खराब नहीं होने देना है। इस मौके पर पूर्व मंत्री रामपाल माजरा, जिला प्रधान कलीराम पटवारी, विधायक डॉ. हरिचंद मिढ़ा, पृथी नंबरदार, बलदेव वाल्मीकि, कैप्टन रणधीर चहल, रामफल कुंडू, सूरजभान काजल, प्रदीप गिल, भूपेंद्र जुलानी, डॉ. कृष्ण मिढ़ा, हरीश अरोड़ा, लाला भगवान दास, सुमित्रा देवी, कृष्णा बधाना, सुदेश चौपड़ा, प्रताप लाठर, बिजेंद्र रेढू, मौजी खान, छबीलदास पातलान, सतीश जैन, ईश्वर कंडेला, प्रवीण बैनिवाल, सतबीर झांझ, अशोक लीलू, जयनारायण जिलेदार, कुलदीप गिल, सुभाष देशवाल, शमशेर ढांडा, नफे सिंह पूनिया, सोनू गुलिया, गुरदीप सांगवान, कुलदीप सिहाग, कृष्ण सिहाग, विश्ववीर नंबरदार, विकास सिहाग, हर्ष, अनुराग खटकड़, कुलबीर चहल, बलवंत जोगी, बलराज नगूरां, महेंद्र सिंगला, महेंद्र सिंह जागलान, सितेंद्र ढुल, धर्मेंद्र सिंहमार, जगबीर जांगड़ा, सुरेश खान, लीला सरपंच दरियावाला, दरबारा देशवाल भी मौजूद थे।

Thursday, July 28, 2016

सरकार ने अपनी विफलताओं से ध्यान हटाने के लिए भाईचारा बिगाडऩे का काम किया: अभय चौटाला


इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने भाजपा सरकार पर वादों के विपरीत काम करने, अपनी विफलताओं से लोगों का ध्यान हटाने के लिए प्रदेश का भाईचारा बिगाडऩे और प्रदेश में कांग्रेस के साथ मिलकर जातपात का जहर फैलाने का आरोप लगाते हुए लोगों से आपसी भाईचारा बनाए रखने और सरकार के बहकावे में न आने का आह्वान किया। इनेलो नेता ने आज महम हलके में बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती को समर्पित सद्भावना सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि हरियाणा चौधरी देवीलाल के संघर्ष से अस्तित्व में आया प्रदेश है और इनेलो चौधरी देवीलाल की नीतियों पर चलते हुए कांग्रेस व भाजपा को प्रदेश का आपसी भाईचारा बिगाडऩे और प्रदेश को किसी भी कीमत पर बर्बाद होने नहीं देगी। उन्होंने कहा कि आज भूपेंद्र सिंह हुड्डा व भाजपा सरकार आपस में मिले हुए हैं और इसी के चलते हुड्डा के खिलाफ इनेलो द्वारा दी गई 400 पृष्ठों की चार्जशीट पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि भूपेंद्र हुड्डा ने प्रदेश में मुख्यमंत्री रहते हुए दोनों हाथों से प्रदेश को लूटने का काम किया और अरबों रुपए के घोटाले किए। इन घोटालों की निष्पक्ष जांच होने पर यह देश के सबसे बड़े घोटाले साबित होंगे। इस बैठक को अभय चौटाला के अलावा पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पूर्व सांसद कैप्टन इंद्र सिंह व पूर्व विधायक बलवंत मायना सहित अनेक प्रमुख नेताओं ने सम्बोधित किया। 


इससे पहले हांसी में सद्भावना सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि प्रदेश की जनता में अगर आपसी भाईचारा कायम रहेगा तभी प्रदेश का समुचित विकास सम्भव हो सकेगा। बिना आपसी भाईचारे व मेल मिलाप के किसी भी व्यक्ति व समाज का सामाजिक, आर्थिक, व राजनैतिक विकास नही हो सकता। अशोक अरोड़ा ने वीरवार को हांसी हलके के गांव कुंभा में डॉ भीम राव अम्बेडकर की 125 वीं जयंती के उपलक्ष्य में इनेलो द्वारा आयोजित सद्भावना सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह सरकार विकास कार्यो को भूल कर फुट डालो और राज करो की नीति पर चल रही है। उन्होंने जनता से इनसे सावधान रहने की सलाह देते हुए कहा कि जिस भी प्रदेश में इन लोगों की सरकार बनती है तो सबसे पहले ये अपने राजनैतिक लाभ के लिए समाज को दो भागो में बांटने का काम करते है। प्रदेश में बीजेपी की सरकार को बने 20 महीने बीत चुके है, परन्तु इन 20 महीनों में विकास की एक भी ईंट नही लगी। 
इनेलो प्रदेश अध्यक्ष अरोड़ा ने कहा कि बीजेपी अपने चुनावी वायदे पूरे करने की बजाये अपने मंत्रियो से आये दिन इस प्रकार की बयानबाज़ी करवाती है, जिससे समाज का ताना बाना बिगड़ सकता है। उन्होंने आरक्षण के दौरान हुए दंगो को बीजेपी की सोची समझी चाल बताते हुए कहा कि जब प्रदेश में आरक्षण आंदोलन शांतिपूर्वक चल रहा था तो बीजेपी के सांसद व प्रदेश के मंत्रियों ने ही एक दूसरे के खिलाफ बोलकर प्रदेश के माहौल को बिगाडऩे में अहम भूमिका अदा की। आज प्रदेश का व्यापारी व छोटा दुकानदार अपराध के साये में जीने को मजबूर है। प्रदेश के युवाओं को रोजगार के लिए दर दर की ठोकरें खानी पड़ रही है। लेकिन सरकार का इस तरफ कोई ध्यान नहीं है। इस मौके पर इनेलो एससी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष बलदेव बाल्मिकी, विधायक रणवीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, इनेलो जिलाध्यक्ष राजेन्द्र लितानी, पूर्व मंत्री अतर सिंह सैनी, धारा सिंह, शीला भ्यान, इंद्र फौजी, राजीव शर्मा, सतबीर सिसाय, युवा जिला अध्यक्ष अमित बुरा, रविन्द्र सैनी, सरोज बामल, पवन यादव, कृष्ण सरपंच, बाली भाटोल, कर्ण सिंह दैपल, बलवान बूरा, संतोष पानू, नवदीप मलिक, संदीप सिंघल, शिव कुमार, बलवान कुलाना, विनोद जांगड़ा, नवीन कुम्भा सहित काफी संख्या में पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।
दुष्यंत ने हरियाणा के धान खरीद घोटाले को संसद में उठाते हुए कार्रवाई की मांग की 


नई दिल्ली , 28 जुलाई: इनेलो संसदीय दल के नेता दुष्यंत चौटाला ने संसद में महंगाई के मुद्दे पर चर्चा करते हुए न सिर्फ सरकार को घेरा बल्कि धान की पिछली फसल की खरीद दौरान हरियाणा में किसानों को 1450 रुपए की पर्ची देने और उन्हें 1250 से 1300 रुपए के बीच भुगतान करने पर मुद्दा उठाने के साथ-साथ एक महीने के भीतर डीजल के दाम तीन बार बढ़ाए जाने, महंगाई को रोकने के लिए किसानों को पूरी बिजली देने, देश की नहरों को आपस में जोडऩे और लोगों के लिए ज्यादा से ज्यादा रोजगार के अवसर प्रदान किए जाने की मांग की।  इनेलो सांसद ने कहा कि आज महंगाई का सबसे ज्यादा असर देश के किसान व मजदूर वर्ग पर पड़ता है। उन्होंने कहा कि जननायक चौधरी देवीलाल कहा करते थे कि किसान व मजदूर इस राष्ट्र की धरोहर हैं और आज हमें ऐसे कदम उठाने पड़ेंगे कि हम उस धरोहर को सुरक्षित कर पाएं। उन्होंने कहा कि महंगाई के मुद्दे पर संसद में बैठा हर सांसद गम्भीरता के साथ चर्चा करना चाहता है लेकिन दुख की बात ये है कि यहां बैठा कोई भी सांसद ऐसा नहीं जिस पर महंगाई का सीधा असर पड़ता हो। उन्होंने अपने साथी सांसदों पर सवाल उठाते हुए कहा कि यहां बैठा कोई भी व्यक्ति यह बताने की स्थिति में नहीं है कि वे कभी खुद जाकर सब्जी खरीदने गया है या बाजार से उसने खुद जाकर घरवालों को दाल लाकर दी हो।
दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पिछले दिनों किसान को फायदा पहुंचाने के लिए धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य को बढ़ाया गया लेकिन बड़े दुख के साथ सदन को बताना पड़ रहा है कि हरियाणा जहां पर धान की बम्पर फसल हुई वहां किसानों को पर्ची तो न्यूनतम समर्थन मूल्य के अनुसार 1450 की काटकर दी गई लेकिन भुगतान 1250 से 1300 के बीच किया गया। उन्होंने किसानों को लूटने का मुद्दा उठाते हुए कहा कि पहले भी उन्होंने संसद में यह मुद्दा उठाया था लेकिन आज तक इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। इनेलो सांसद ने कहा कि बिजली मंत्री आज कहते हैं कि देश में बिजली सरप्लस है तो फिर किसानों के खेत को क्यूं नहीं पूरी बिजली दी जा रही। उन्होंने कहा कि 30 अप्रैल से 31 मई के बीच डीजल के दाम तीन बार बढ़ाकर करीब 6.46 रुपए प्रति लीटर बढ़ा दिए गए। उन्होंने कहा कि 30 मई को 2.26 रुपए, 15 मई को 1.26 रुपए और 30 अप्रैल को 2.94 रुपए बढ़ाए गए। उन्होंने कहा कि किसानों को डीजल पर उनके खातों में सीधे सब्सिडी क्यूं नहीं दी जा रही जबकि जन-धन योजना के तहत पूरे देश में लोगों के बैंक खाते खोल दिए गए हैं।
इनेलो सांसद ने कहा कि महंगाई की सबसे बड़ी वजह माल ढुलाई रहा है। आज केंद्रीय सडक़ व परिवहन मंत्री देश में अच्छी सडक़ें बनाने का उल्लेख तो करते हैं लेकिन ट्रकों के वजन उठाने की क्षमता तो बढ़ाकर डेढ गुणा क्यों नहीं किया जाता ताकि माल ढुलाई पर होने वाला खर्च प्रति क्विंटल कम हो सके। उन्होंने कहा कि केंद्रीय खाद्य एवं पूर्ति मंत्री रामबिलास पासवान पिछले दिनों हरियाणा में गए थे और उन्होंने कहा था कि देश में दो करोड़ गलत राशन कार्ड बने हुए हैं। उन्होंने कहा कि ये बहुत बड़ी संख्या है और सरकार इन गलत राशन कार्डों के बारे में कोई कदम क्यूं नहीं उठाती? उन्होंने कहा कि सरकार खुद पीडीएस सिस्टम में इतनी बड़ी लापरवाही मान रही है तो उस पर गम्भीरता से निगरानी भी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बिचौलियों के खिलाफ कदम उठाकर, रोजगार के ज्यादा से ज्यादा अवसर पैदा करके और देश की नदियों को आपस में जोडऩे के साथ-साथ मेक इन इंडिया और स्किल इंडिया जैसी योजनाओं पर तेजी से काम करने से ही महंगाई को कुछ हद तक रोका जा सकता है और इसके लिए गम्भीर प्रयास किए जाने की जरूरत है।

Wednesday, July 27, 2016

प्रदेश के आपसी भाईचारे को किसी भी कीमत पर खराब नही होने देंगे- अभय चौटाला



हिसार, 27 जुलाई: बीजेपी व कांग्रेस ने अपने राजनैतिक फायदे के लिए आरक्षण के नाम पर प्रदेश का भाईचारा खराब करने का प्रयास किया। इनेलो प्रदेश की 36 बिरादरी का आपसी भाईचारा किसी भी कीमत पर बिगडऩे नही देगी। यह बात इनेलो के वरिष्ठ नेता व विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला नेे बुधवार को हलका बरवाला व नारनौंद में आयोजित सद्भावना सम्मेलनों को सम्बोधित करते हुए कहीे। बरवाला हलके के गांव खरड़ अलीपुर में आयोजित इस कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जिस प्रकार से आरक्षण की आग लगाई तो बीजेपी ने उस आग में घी डाल कर उसे और भडक़ाया। हरियाणा प्रदेश के निर्माण के लिए जननायक चौधरी देवीलाल ने संघर्ष किया था। उन्ही के संघर्ष व मेहनत के बलबूते ये हरा भरा प्रदेश विकसित हुआ। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि बीजेपी ने ये सारा खेल प्रदेश की जनता का ध्यान अपने किये गए वादों से ध्यान हटाने के लिए किया। आज प्रदेश के किसान, कर्मचारी व छोटे दुकानदार की हालत सबसे खराब है, परन्तु सरकार उनकी समस्या को दूर करने की बजाये उलूल जलूल बयानबाज़ी कर रही है। इससे पूर्व अम्बेडकर सभा खरड़ अलीपुर के प्रतिनिधियों ने अभय सिंह चौटाला को मान सम्मान की सूचक पगड़ी पहनाई।
 इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि बीजेपी पहले तो स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करने की बात करती थी परन्तु सत्ता में आने के बाद इसे लागू करना तो दूर बल्कि किसानो को फसलोंं पर बोनस देना भी बन्द कर दिया है। इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने इस सरकार को युवा विरोधी बताते हुए कहा कि सरकार युवाओ को न तो रोजगार दे रही है तथा न ही बेरोजगारी भत्ता। वहीं पुलिस भर्ती में भारी अव्यवस्था के चलते युवाओ की जान के साथ खिलवाड़ किया गया। इस मौके पर बलदेव बाल्मिकी, जिला अध्यक्ष राजेन्द्र लितानी, विधायक वेद नारंग, रणवीर गंगवा, अनूप धानक, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा, शीला भ्यान, डॉ सुरेन्द्र बरवाला, सत्यवान बिछपड़ी, कलम सिंह, अमित बुरा, सरपंच नरेश सेहरावत, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, बहादुर सिंह नायक, राजा सोनी, राजपाल मांडू, सिल्क पूनिया, धोलू गोदारा, कृष्णा खर्ब उपस्थित थे।


इस से पहले सिरसा जिले के रानियां कस्बे में आयोजित सद्भावाना सम्मेलन में नेता प्रतिपक्ष  चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा ने प्रदेश में आरक्षण के नाम पर जात-पात का जहर घोलने का पडयंत्र रचा, लेकिन इनेलो ने इसके जवाब में सद्भावना सम्मेलन आयोजित करके भाईचारा कायम करने का फै सला लिया। सम्मेलन में अभय चौटाला को 250 मोटर साईकलों के काफिले के साथ लाया गया और इनेलो जिन्दाबाद के नारे से पूरे गांव क ो इनेलोमय कर दिया। सर्वप्रथम नेता प्रतिपक्ष ने डा. भीम राव अम्बेडकर को उनकी 125वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। उन्होंने कहा कि भाजपा के शासन में दलितों पर सर्वाधिक अत्याचार हुए है। उन्होंने कहा कि सत्ता हथियाने हेतु भाजपा ने हर वर्ग क ो झूठे सपने दिखाकर  उनसे झूठे वायदे किए, लेकिन धरातल पर एक भी वायदा पूरा नही किया। स्वामीनाथन आयोग की रिर्पोट को लागू करने के राग अलापने वाले नेता आज मौन हो गए है। कर्मचारी, किसान, दुकानदार व युवा वर्ग परेशान हो रहा है। अपनी विफलताओं को छुपाने हेतु भाजपा ने आरक्षण का सहारा लिया और युवाओं को झूठे मुक्द्दमों में जेल में डाल दिया। 
अभय सिंह ने कहा कि इनेलो सभी 36 बिरादरियों का सम्मान करती है, पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि इनेलो कारगिल युद्ध में शहीद हुए सैनिकों को अपने श्रद्धासुमन अर्पित करती है और शहीदों के परिजनों को समुचित सुविधाए देने की मांग करती है। एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि प्रदेश में विकास नाम की कोई चीज नहीं जबकि प्रदेश में प्रशासन का बुरा हाल है। प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा का स्तर पूरी तरह गिर चुका है सरकार स्कूलों मे गीता पढ़ाने की बात करती है लेकिन स्कूलों में अध्यापक ही नही है नैतिकता की बात करने वाली भाजपा ने राज्यसभा चुनाव में नैतिक ता की सीमा को लांघते हुए अपने उम्मीदवार को भ्रष्ट तरीके से चुनाव जीतवा लिया इसलिए भाजपा के मुहं से  नैतिकता कि बातें अच्छी नही लगती। 
इस सम्मेलन को पूर्व कृषि मंत्री जसविंद्र संधू, बलदेव बाल्मीकि, विधायक मक्खन लाल सिंगला, सांसद चरणजीत रोड़ी व जिलाध्यक्ष पदम जैन ने भी सम्बोधित किया। इस सम्मेलन में आत्मा राम कुल्हडिय़ा, सत्यनारयण कुल्हडिय़ा, जय चंद, मोदी राम सिहाग, प्रिस अरोड़ा, राकेश भाट, रेखा राम छिम्पा, विनोद बैनीवाल, विनोद दड़बी, केएल लुथरा, प्रदीप मेहता, कृष्णा फौगाट, डा.हरि सिंह भारी, डा. राधेश्याम शर्मा, तरसेम मिढ़ा, महावीर शर्मा, भगवान कोटली, मधु चौहान, सरपंच मनजीत कौर, मंजु चौयल, अंगुरी देवी, कमलेश सिंधु, गीता सैनी, कृष्णा गुम्बर, इकबाल सिंह, मनोहर मैहता, अशोक गांधी, सुरेश दड़बा, सरपंच शाम लाल इन्दौरा, वेद वधवा, देशराज कम्बोज, शाम लाल बमनियां सहित काफी सख्यां में कार्यकर्ता, पदाधिकारी व गांववासी उपस्थित थे।
दुष्यंत चौटाला ने नशीले पदार्थों की तस्करी रोकने के लिए सख्त कानूनी प्रावधान करने की मांग की


नई दिल्ली, 26 जुलाई: इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने देश व प्रदेश मेंं बढ़ते मादक द्रव्य पदार्थों की तस्करी पर गहरी चिंता जताते हुए इस मुद्दे को लोकसभा में उठाया। उन्होंने प्रधानमंत्री व गृहमंत्री से प्रदेश में नशीले पदार्थों की तस्करी रोकने के लिए सख्त कानूनी प्रावधान करने और देश व प्रदेश की सीमाओंं पर चौकसी बढ़ाने की मांग की है। इनेलो संसदीय दल के नेता सांसद दुष्यंत चौटाला ने लोकसभा में कहा कि देश की ओलम्पिक टीम का पांचवा हिस्सा हरियाणा प्रदेश से है उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश की सीमाएं छह राज्यों से लगती हैं और चिंताजनक बात यह है कि हरियाणा में पिछले दिनों अन्यों प्रदेशों से मादक व नशीले पदार्थों की तस्करी लगातार बढ़ रही है। यह हमारे प्रदेश के लिए चिंता की बात है। युवा सांसद ने कहा कि राजस्थान जैसे प्रदेश में चूरा पोस्त की खुली ब्रिकी की जाती है और इसे कास्टमेटिक बनाने के लिए निर्यात किया जाता है। परन्तु हरियाणा व अन्य प्रदेशों में अब पोस्त की तस्करी बढऩे लगी है जोकि एक चिंतनीय विषय है। उन्होंने देश के प्रधानमंत्री व गृहमंत्री से आग्रह किया है कि मादक पदार्थों की तस्करी के लिए कड़े-कड़े से कानूनों का प्रावधान व प्रदेश की सीमाओं को पूरी तरह से सील करने के लिए ठोस कदम उठाए जाने चाहिए। 
प्रदेश सरकार की कुनीतियां ग्रामवासियों को अंधर में धकेल रही हैढुल


जुलाना, 27 जुलाई 2016 -- जुलाना विधानसभा क्षेत्र से इनैलो विधायक परमेन्द्र सिंह ढुल ने गाँव निडाना में पिछले चार दिनों से लगातार हो रही पशुओं की मौत पर प्रदेश सरकार की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया। विधायक ढुल ने आज गांव निडाना में पशुओं की मौत से आहत पीड़ित परिवारों से सम्पर्क किया व जिला व राज्य प्रशासन में सम्बंधित अधिकारियों को वास्तविक स्थिति से अवगत करवाया। विधायक ढुल ने कहा की पिछले काफी वर्षों से गांव में स्वच्छ पेयजल व जोहड़ों में साफ़ पानी की सप्लाई की समस्या बनी हुई है। जिसे लेकर वह स्वयं बार-बार सरकार के समक्ष इस मांग को रखते आ रहे हैं मगर अभी तक समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है।
विधायक ढुल ने कहा की विषय विशेषज्ञ व डॉक्टरों ने सीमित साधनों के रहते हुए पशुओं की जान बचाने के लिए भरसक प्रयास किये हैं जो की सराहनीय भी है मगर इसके विपरीत प्रदेश सरकार का रवैया पूरी तरह से नकारात्मक रहा है। पहले 10 वर्षों के कांग्रेस शासन में गाँव को सिवाय झूठे आश्वासनों के कुछ नहीं मिला और अब बीजेपी शासन भी ग्रामवासियों की मांग व जरूरत को लगातार दरकिनार करता आ रहा है। पानी की समस्या तो क्षेत्र में है ही मगर इसके अलावा बार-बार मांग रखे जाने के बाद, कांग्रेस शासन के समय जिले में पालीक्लिनिक खोले जाने की घोषणाएं स्वयं मुख्यमन्त्री द्वारा की गयी थी। यदि उन घोषणाओं पर अमल किया जाता तो भी समय रहते पशुओं की जानें बचाई जा सकती थी। जिले में जरूरत अनुसार नवीनतम पशु हेल्थ चेक प्रौद्योगिकी का न होना भी एक बड़ी समस्या है।


इसी के साथ विधायक ढुल ने आला अधिकारियों के माध्यम से सरकार के समक्ष पीड़ितों के लिए आर्थिक सहायता व मुआवज़े की मांग भी रखी। अभी कुछ हफ्ते पहले ही पानी की कमी के कारण पांच युवकों की कुएं में जान चली गयी थी। उन्होंने कहा की हैरानी का विषय है की मौके पर आकर पीड़ित परिवारों से मिलना तो दूर, प्रदेश सरकार आज तक भी पानी की समस्या का समाधान करवा पाने में नाकाम रही है व इस गम्भीर विषय को सुलझाने में दिलचस्पी भी नहीं दिखा रही है। उन्होंने कहा की वह प्रदेश विधानसभा के आगामी सत्र में इस गम्भीर मुद्दे को पुनः सदन के समक्ष प्रमुखता से रखेंगे व समस्या को जड़ से खत्म किये जाने की दृष्टि से सरकार से पाई-पाई का हिसाब मांगेंगे।
इस मौके पर पालाराम मलिक, नरेश मलिक, पवन कुमार, गांव के वर्तमान सरपँच, विनोद व कृष्ण आदि कार्यकर्ता व ग्रामवासी भी साथ रहे। विधायक ढुल ने कहा की प्रदेश की वर्तमान सरकार का शासन हरियाणा के राजनीतिक इतिहास का काला अध्याय माना जायेगा। जिसमे वह आमजन की जरूरतों तक को पूरा करवा पाने में असमर्थ है। और सिर्फ बीजेपी ही नहीं, कांग्रेस पार्टी भी क्षेत्र में इस प्रकार के हादसों के लिए पूरी तरह से जिम्मेवार है। 10 वर्ष तक प्रदेश में शासन करने के बावजूद भी कांग्रेस पार्टी ने क्षेत्र व जिले की ऐसी किसी समस्या का समाधान नहीं किया था।  
सरकार ने किया प्रदेश के युवाओं से धोखा: कर्ण चौटाला


फतेहाबाद, 27 जुलाई : प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को रोजगार दिलवाने व सरकार द्वारा बेरोजगारों को भत्ता देने में की जा रही वायदा खिलाफी को लेकर आज युवा इनेलो ने सिरसा जिला परिषद के इनेलो से उपाध्यक्ष कर्ण चौटाला व विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया के नेतृत्व में शहर में प्रदर्शन किया व राज्यपाल के नाम सीटीएम को ज्ञापन दिया।


सभी इनेलो युवा कार्यकत्र्ता जाट धर्मशाला में एकत्रित हुए और यहां से जुलुस की शक्ल में प्रदर्शन करते हुए लघु सचिवालय पहुंचे। यहां पर कर्ण चौटाला ने कहा कि भाजपा को सरकार तो मिल गई, लेकिन इसे चलाना नहीं आ रहा है। सरकार केवल अफसरों के दम पर चल रही है। अफसर सरकार को धो ो में रख रही है, जिस कारण आम जनता काफी परेशान है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने अनेक लोक लुभावन वायदों के साथ युवाओं को आकर्षित करने के लिए अपनी जीत की स्थिति में 12वीं पास को 6 हजार रुपए प्रति माह व स्नातक को 9 हजार रुपए प्रति माह बेरोजगारी भत्ता देने का वायदा किया था। परंतु अब जब भाजपा की सरकार बने 2 साल हो रहे हैं, अभी तक इस वायदे को पूरा नहीं किया है। उन्होंने कहा कि अगर कोई पार्टी ऐसे वायदे कर सत्ता हथियाए और बाद में पूरे ना करे तो यह आम जनता के साथ धोखा होता ा है और इससे जनता में रोष पनपता है। यह राजनीतिक दिशा के लिए घातक सिद्ध हो सकता है। उन्होंने कहा कि खेद की बात यह है कि आज हरियाणा में युवाओं को इस विश्वासघात के कारण निराशा की स्थिति में गुजरना पड़ रहा है। आज प्रदेश में अफसरशाही इतनी बेलगाम हो गई है कि खुले तौर पर रिश्वत लेकर लोगों के काम किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला प्रदेश के मु यमंत्री थे तो उन्होंने सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत एक साल में तीन दौरे गांवों में करते थे। लोगों से स्वयं जनसंपर्क करते थे, लेकिन वर्तमान मु यमंत्री मनोहर लाल खट्टर एक भी गांव में नहीं पहुंचे हैं। जिससे अब 20 से 25 साल के युवाओं को कोई ठोस राजनीतिक प्लेटफार्म नहीं मिल रहा है। वह अपने सीएम को देखना चाहते हैं और उनसे मिलना चाहते हैं, लेकिन सीएम नदारद हैं और युवाओं में रोष फैलता जा रहा है। इस अवसर पर इनेलो जिला प्रधान बलविन्द्र कैरो, बिक्कर सिंह हड़ौली, युद्धवीर आर्य, सुमनलता सिवाच, सरोज सांगा, युवा इनेलो के जिला प्रधान राकेश सिहाग, इनसो के जिला प्रधान जतिन खिलेरी, अनिल नहला, राणा जोहल, विकास मैहता, अजय संधू, मनोज धारसूल, यशपाल यश तनेजा, हरबंस गिल, मनदीप दहमन, दिलबाग गोरखपुर, सतपाल सिद्धू, सतेन्द्र श्योराण, डा.रणजीत ओड, राजू नहला, विनोद बैजलपुर, मोनू सोनी, रमेश लाली,बंटी बरसीन, रजत खाण्डा सहित अनेक युवा इनेलो व इनसो कार्यकत्र्ता मौजुद थे।

Tuesday, July 26, 2016

भूपेन्द्र हुड्डा को नींद में भी नजर आते है जेल के दरवाजे: अभय चौटाला



डबवाली, 26 जुलाई: इनेलो के वरिष्ठ नेता  एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा है कि प्रदेश में अरबों के घोटाले करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा को अब रात को नींद में भी जेल के दरवाजे नजर आते है। इसलिए भूपेन्द्र सिंह हुड्डा बुरी तरह से बौखलालट में आकर उल-जलूल बयानबाजी कर रहे है। उन्होंने कहा कि 10 वर्षो तक कांग्रेस राज में भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने प्रदेश को दोनों हाथों से लूटा है, उन सभी घोटालों की 400 पेज की चार्जशीट बनाकर हमने सरकार को सौंप रखी है। लेकिन भाजपा व कांग्रेस की आपसी मिलीभुगत के कारण भाजपा सरकार भूपेन्द्र सिंह हुड्डा को बचा रही है। लेकिन जब तक हम घोटालेबाज भूपेन्द्र सिंह हुड्डा को जेल की सलाखों के पीछे नहीं भेज देते तब तक इनेलो चैन से नहीं बैठेगी। यह बात अभय सिंह चौटाला ने आज सिरसा जिले के ओढां कस्बे में बाबा साहेब डा. भीम राव अंबेडकर की 125 जयंती को लेकर किए गए डबवाली हलका के सद्भावना सम्मेलन के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही। इनेलो नेताओं ने ओढां के अलावा रानियां हल्के के खारियां व सिरसा हल्के के फूलका गांव में भी सद्भावना सम्मेलनों को संबोधित किया।



ओढां में सम्मेलन को संबोधित करते हुए चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा व कांग्रेस ने 35 व 36 जात के नारे देकर प्रदेश के लोगों को बांटने की कोशिश की है जिस कारण दोबारा से लोगों का भाईचारा कायम हो इसके लिए इनेलो बाबा साहेब डा. भीम राव अंबेडकर की जयंती को लेकर हर हलके में सम्मेलन कर रही है। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में हलका सम्मेलन करने के बाद दोबारा से प्रत्येक हलके के 2 बड़े गांवों में सम्मेलन किए जाएंगे व संविधान निर्माता बी.आर. अंबेडकर की 125 जयंती को लेकर पूरे साल भर सद्भावना सम्मेलन होते रहेंगे। उन्होंने भाजपा सरकार को हर मोर्चे पर विफल सरकार बताते हुए कहा कि सरकार ने चुनाव से पहले प्रदेश के लोगों के साथ किया कोई भी वादा पूरा नहीं किया है।सद्भावना सम्मेलन को भारी संख्या में हलका के गांवों से महिलाऐं भी पहुंची। विधायक नैना सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा की सरकार से आज हर वर्ग दुखी हो गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा चलाया गया बेटी बचाओं बेटी पढाओं अभियान पूरी तरह से फे ल हो गया है। क्योंकि आए दिन प्रदेश में महिलाओं से रेप जैसी घटनाएं हो रही है। बेटियों के लिए स्कूल कालेज तक सुरक्षित नहीं है, उनके लिए न तो अलग से स्कूल हैं और दाखिले भी नहीं हो रहे हैं। नैना चौटाला ने कहा कि बाबा साहेब व चौ. देवीलाल की नीतियां व सोच मिलती है, इसलिए पार्टी कार्यकत्र्ता उनकी नीतियों का अनुसरण करते हुए काम करें।


सम्मेलन को इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पूर्व कृषि मंत्री जसविन्द्र सिंह संधू, सांसद चरणजीत रोड़ी ने भी संबोधित करते हुए भाजपा सरकार पर तीखे हमले किए और इसे जनविराधी सरकार बताते हुए कहा कि सरकार अपने वादों के विपरित काम कर रही है। इस मौके पर जिला परिषद् के पूर्व मैम्बर बुध सिंह सुखचैन भाजपा छोड़ कर वापस इनेलो में शामिल हो गए। मंच संचालन युवा इनेलो नेता कर्ण सिंह चौटाला ने किया। इस मौके पर जिलाध्यक्ष पदम जैन, रवि सिंह चौटाला, विधायक बलकौर सिंह, विधायक मक्खन सिंह, पूर्व विधायक डा. सीता राम, कार्यालय सचिव नछत्र मल्हान, हलका प्रधान सर्वजीत मसीतां, कृष्णा फौगाट, रूकमा सिहाग, प्रदीप गोदारा, कुलदीप गोदारा, जगसीर मांगेआना, अवतार मल्हान, रणदीप सिंह मटदादू, विनोद अरोड़ा, मंदर सिंह सरां, बलविन्द्र सरां, गुरमेल सालमखेड़ा, कुलदीप जम्मू, गिरधारी बिस्सू, मोहन सहू, महावीर जाखड़, संदीप गंगा, नरेन्द्र बराड़, जगरूप सिंह सकताखेड़ा, मलकीत सूच, सुखमंदर सिंह, दर्शना देवी, ममता मिढा व आशा वाल्मिकी सहित अनेक प्रमुख इनेलो नेता व भारी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे।
समाज का आपसी भाईचारा कायम रखने के लिए किये जा रहे है सद्भावना सम्मेलन - लितानी


हिसार, 26 जुलाई : बीजेपी सरकार ने चुनावों से पहले थोक में किये गए वायदों से जनता का ध्यान हटाने के लिए प्रदेश का आपसी भाईचारा बिगाड़ कर रख दिया है। इसी आपसी भाईचारे व सद्भावना को बनाये रखने के लिए इनेलो पूरे प्रदेश में हलका स्तरीय सम्मेलन कर रही है। इनेलो जिला अध्यक्ष राजेन्द्र लितानी ने मंगलवार को हिसार में एक प्रेस वार्ता में कही। पत्रकारों से बातचीत करते हुए इनेलो जिलाध्यक्ष लितानी ने बताया कि बुधवार को सुबह 10 बजे बरवाला हलके के गांव खरड़ अलीपुर, दोपहर 1 बजे नारनौंद हलके के गांव पेटवाड़ में तथा शाम को पांच बजे हिसार शहर के कबीर चौक पर सद्भावना सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे। इसी कड़ी में गुरुवार को सुबह 10 बजे हांसी हलके के गांव कुंभा में सद्भावना सम्मेलन का आयोजन किया जायेगा। इसके लिए सभी तैयारियां कर ली गई है। उन्होंने बताया कि इन सम्मेलनों को नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला बतौर मुख्य वक्ता सम्बोधित करेंगे तथा प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, सांसद दुष्यन्त चौटाला व वरिष्ठ इनेलो नेता रामपाल माजरा विशिष्ठ अतिथि के तौर पर इसमें हिस्सा लेंगे। इस सम्मेलन में समाज की 36 बिरादरी के लोग हिस्सा लेंगे। लितानी ने बताया कि इनेलो जननायक चौ देवीलाल का लगाया हुआ पौधा है तथा चौ देवीलाल बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर के प्रति विशेष श्रद्धा व मान रखते थे। उन्ही के पदचिन्हों पर चलकर समाज के सभी वर्गो को साथ लेकर चल रही है। आज समाज को एक जुट रखने के लिए बाबा साहब के बताये रास्ते पर चलने की सबको आवश्यकता है। इस मौके पर इनेलो हलकाध्यक्ष सजन लावट, युवा जिला अध्यक्ष अमित बूरा, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई,  विक्रांत बागड़ी, ललिता टाक, डॉ उमेद खन्ना, अमित ग्रोवर, रवि आहूजा, सिल्क पूनिया, मोहित अरोड़ा व योगेश गौतम सहित अन्य पार्टी पदाधिकारी भी उपस्थित थे।
रोहतक जिले के हल्के सांपला किलोई में इनेलो का सद्भावना सम्मेलन आयोजित


रोहतक, 25 जुलाई: इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने सरकार की फसल बीमा योजना को ढकोसला व किसानों के साथ धोखा बताते हुए हरियाणा के कृषि मंत्री को आडे हाथों लिया। इनेलो नेता ने स्वामीनाथन आयोग की सिफारशें लागू करने की मांग करते हुए कहा कि चुनाव से पहले कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ स्वामीनाथन आयोग की सिफारशें लागू करवाने की मांग को लेकर कपड़े उतारकर साईकिल यात्रा करते थे, लेकिन सत्ता में आते ही अपना नाटक भूल गए। इनेलो नेता ने कहा कि पिछले दिनों प्रदेश सरकार व कांग्रेस ने आरक्षण की आड़ में हरियाणा में जो भाईचारा बिगाडऩे का खेल खेला है, उसकी भरपाई के लिए इनेलो डा. भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती सद्भावना कायम करने के रूप में मना रही है तथा शहर-बाजार, पंचायत-चौपाल व प्रदेश के लोगों के पास जाकर भाजपा व कांग्रेस की साजिश की पोल खोलने का भी काम कर रही है। ये बात विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने आज रोहतक जिले के हल्के सांपला किलोई में इनेलो के सद्भावना सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। 


इनेलो नेता ने कहा कि जब किसान को प्राकृतिक आपदा झोलनी पडती तो सरकार उपायुक्त के माध्यम से तहसीलदार व पटवारी गिरदावर द्वारा स्पेशल गिरदावरी करवाकर किसान के नुक्सान की भरपाई करती आई है इस योजना का शुभारंभ स्व. उपप्रधानमंत्री चौ देवीलाल द्वारा किया गया था। परन्तु भाजपा सरकार ने किसानों के हित बीमा कंपनियों को गिरवी रख दियें है। इस में कृषि से संबधित नुक्सान का आंकलन करने वाला कोई नही है, इस योजना का उदेश्य किसानों को सरकार से उनके नुक्सान की भरपाई रोकने के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब काीमराव अंबेडकर के बाद यदि कोई दलितों का हितैषी हुआ है तो वह पूर्व उप प्रधानमंत्री चौ. देवीलाल व उनके उपरांत चौ ओमप्रकाश चौटाला ने दलितों के कल्याण के लिए अनेकों जन कल्याणकारी योजनायें प्रदेश में लागू की थी। 


अभय चौटाला ने सरकार को चेताया कि किसानों के साथ इस प्रकार के अन्याय को सहन नही किया जायेंगा। सरकार के खिलाफ इनेलो आंदोलन करने से गुरेज नही करेंगा। उन्होंने याद दिलवाया कि भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में 187 योजनायें लागू करने की बात की थी परंतु वे सिर्फ  घोषणायें बन कर रह गई। आज बेरोजगार युवक बेरोजगारी भत्ते के लिए सरकार के चक्कर काट रहें है वही बुढापा पैंशन एक हजार से दो हजार तक करने का सिगुफा सिर्फ घोषणा बन कर रह गया। श्री चौटाला ने कहा कि स्वास्थ्यमंत्री ने अगर कार्यक्रम के दौरान बिजली जाने पर एक्सईएन को निलिंबित कर दिया था आज तो पीजीआई रोहतक में लिफट में बिजली खराब होंने से एक वृद्व की जान चली गई है तो नैतिकता के आधार पर स्वास्थ्य मंत्री को अब त्यागपत्र दे देना चाहिए और सरकार को चाहिए की दोषियों के खिलाफ  हत्या का मुकदमा दर्ज करके कार्यवाही की जायें। इनेलो के वरिष्ठ नेता ने खट्टर सरकार को घेरते हुए कहा कि दो साल के शासन काल में एक काी बेरोजगार को रोजगार नही दिया गया बल्कि पच्चीस हजार से काी ज्यादा रोजगार वालों को बेरोजगार करने का काम किया गया। आज प्रदेश में कांग्रेस का कोई नाम लेवा नही है, स्वंय कांग्रेस प्रभारी ने स्वीकार किया कि कांग्रेस के नेताओं पर चर्बी चढी हुई हैै, उन्होंने हुड्डा के हरियाणा जागों अभियान का मजाक उडाते हुए कहा कि यह मिशन हरियाणा जागों अभियान नही बल्कि हुड्डा बचाओं अभियान है। 
इनेलो नेता ने कहा कि गत फरवरी मास में सरकार ने अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए आपस में भाईचारा बिगाडऩे की साजिश रची थी, उसको कामयाब नहीं होने दिया जाए और इनेलो अध्यक्ष ओमप्रकाश चौटाला के दिशा-निर्देशानुसार इस वर्ष बाबा साहब की जयंति को सद्भावना के रूप में मनाया जा रहा है। सद्भावना का अगला चरण हर हल्के के शहरों व कस्बों में दो-दो सम्मेलन करके किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार अपने अब तक के कार्यकाल में हर मोर्चे पर विफल रही है और उसने अपना एक भी चुनावी वायदा पूरा नहीं किया है। इस अवसर पर जिला प्रधान सतीश नांदल, हल्का प्रधान डा संदीप हुड्डा,पूर्व एमपी कैप्टन इंद्र सिंह पूर्व विधायक बलवंत मायना, कृष्ण कौशिक एडवोकेट, उमेश देवी, विनोद हुड्डा, धर्मपाल  मकडौली, रविंद्र सांगवान, सत्यवान हमायुपुर, रविंद्र बखेता, सुन्नी फौगाट, मास्टर चांद रूप, रणबीर हुड्डा, डा प्रेम हुड्डा, सत्यप्रकाश बिसला, प्रेमलता खत्री, सूरत सिंह खटक, सरोज चौधरी, बलवान माजरा, राजबीर हुड्डा, बलराम किलोई, मा. अनिल रंगा, राजबीर वाल्मिकी, जंत्री देवी, रामानंद कौशिक, प्रवेश जांगडा सहित सैकडों कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Sunday, July 24, 2016

भाजपा की सरकार केंद्र व राज्य में भाई भाई को लड़ाने का काम कर रही है - अभय चौटाला 




नूँह : रविवार को नूँह विधानसभा के गाँव सूड़ाका में इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी द्वारा संविधान निर्माता बाबा साहब डा0 भीमराव अंबेडकर की जयंती के उपलक्ष्य में सद्भावना-सम्मेलन आयोजित किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि के तौर पर प्रतिपक्ष नेता व खेलरत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला ने भाग लिया।  खेलरत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला ने सद्भावना-सम्मेलन में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि इनेलो ने निर्णय लिया है कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की जयंती के उपलक्ष्य में पूरे प्रदेश में सद्भावना सम्मेलन आयोजित किए जाएँगे। बाबा साहेब को समर्पित ये सद्भावना सम्मेलन संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर  की जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित किए जा रहे हैं। गाँव वासियों ने इनेलो नेता चौ0 अभय सिंह चौटाला का पगड़ी बाँधकर स्वागत किया। पगड़ी बाँधने वालों में असगर पूर्व सरपँच, नसीर एडवोकेट, लियाकत सरपँच, रुस्तम, इलियास,सद्दीक अहमद,शौकत कुरैशी, महमूद, अल्ली, जाकिर भड़ंगाका आदि थे।
खेलरत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला ने कहा कि आप लोगों ने चौ0 ज़ाकिर हुसैन को अपना नुमाइंदा चुनकर विधानसभा में भेजा है जो आप लोगों द्वारा लिया गया सही फैसला है। विधायक चौ0 ज़ाकिर हुसैन ने मेवात क्षेत्र की छोटी-बड़ी माँग को विधानसभा में जोर-शोर से उठाया है। आज आपके विधायक द्वारा लगातार लड़ी गई लड़ाई का ही परिणाम है जो मेवात की नहरों में गंगा जल भरकर आ रहा है जबकि सारा हरियाणा सूखाग्रस्त है। चौ0 ज़ाकिर हुसैन ने समय-समय पर विधानसभा की जिस कमेटी के वो अध्यक्ष हैं उसके सामने भी मेवात की माँगों को जोर-शोर से उठाया है। भाजपा की जनविरोधी नीतियों और प्रदेश के भाईचारे को बिगाडऩे के लिए रची जा रही साजिशों से अवगत कराते हुए अभय चौटाला ने लोगों से कहा कि आपसी प्यार-प्रेम और भाईचारा बनाए रखें। भाजपा ने केंद्र व राज्य में झूठ वायदे करकर सत्ता हथियाई है। आज देश व प्रदेश का आम आदमी इस सरकार से ऊब चुका है। भाजपा की सरकार केंद्र व राज्य में भाई-भाई को लड़ाने का काम कर रही है। आज प्रदेश का किसान, मजदूर, गरीब,छोटे व्यापारी मँहगाई से परेशान होकर आत्महत्या करने पर मजबूर है। शिक्षित युवाएँ बेरोजगारी से परेशान हैं।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बस भाड़ों में की गई बढौतरी, बिजली विभाग के लाभ में चल रहे 23 उप-मंडलों को निजी हाथों में सौंपे जाना, प्रदेश में बिगडती कानून व्यवस्था की स्थिति, भाजपा सरकार द्वारा अपने चुनावी वायदे पूरे न करना, कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतनमान व भत्ते न दिये जाना, स्वामीनाथन आयोग की रिर्पोट लागू न करने और गेस्ट टीचरों व कंप्युटर टीचरों को पक्के करने की बजाय उन्हें नौकरी से निकाले जाने वाले सरकार के विफल होनें के सबूत हैं। अभय चौटाला ने सरकार पर वायदों से विपरीत काम करने और लोगों को जरूरी मूलभूत सुविधाएं भी उपलब्ध न करवाए जाने का उल्लेख करते हुए सरकार की तीखी आलोचना की। उन्होंने कहा कि सरकार में बैठे लोग निरंतर कह रहे हैं कि वे पूरे प्रदेश में समान रूप से विकास करवाएंगे और सब जगह विकास के लिए पर्याप्त मात्रा में पैसे दिए जाएंगे। इनेलो नेता ने कहा कि सरकार की नीयत ठीक नहीं है इसलिए अभी तक जिला परिषद व ब्लॉक समितियों,सरपँचों को भी विकास कार्यों के लिए पैसा उपलब्ध नहीं करवाया जा रहा। उन्होंने कहा कि बिना धन उपलब्ध करवाए विकास की कल्पना भी कैसे की जा सकती है? इनेलो नेता ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा आपस में पूरी तरह से मिली हुई है और यह बात राज्यसभा चुनाव में भी साबित हो चुकी है और वाड्रा के मामले में भी पूरी तरह सामने आ चुकी है। उन्होंने कहा कि ढींगरा आयोग का गठन नियम कायदे के अनुसार नहीं किया गया और ऐसा करके सरकार वाड्रा को बचाने का काम कर रही है।
इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने भाजपा को घोर दलित विरोधी पार्टी बताते हुए भाजपा से देशभर के दलित समाज से सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने की मांग की है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जिस तरह से भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष उमा शंकर द्वारा बसपा सुप्रीमो के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणियां व गालीगलौच की भाषा का इस्तेमाल किया गया वह भाजपा की दलित विरोधी सोच को दर्शाता है और यह घटना इस बात का उदाहरण है। इनेलो नेता ने कहा कि एक तरफ दलित समाज के वोट हासिल करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक-एक घंटा संचार माध्यमों के जरिए संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर पर भाषण देते हैं और दूसरी तरफ भाजपा के ही नेता दलित समाज को गालियां देने का काम करते हैं। यह भाजपा की दोहरी सोच व नीतियों का परिणाम है। इनेलो नेता ने कहा कि इस घटना से पूरे देश के गरीब व दलित समाज की भावनाएं बेहद आहत हुई हैं और एक अकेले व्यक्ति को इसके लिए दण्डित करना नाकाफी है।
इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा को पार्टी के स्तर पर पूरे देश के दलित समाज से तुरंत माफी मांगनी चाहिए।  इनेलो विधायक चौ0 ज़ाकिर हुसैन जब स्टैज पर भाषण देने आए तो सामने बैठी विशाल जनसभा ने उनका तालियों की गड़गड़ाहट के साथ स्वागत किया।  उन्होंने कहा कि भाजपा-कांग्रेस एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। आप लोग चिंता मत करो आने वाला समय इंडियन नेशनल लोकदल का होगा, आप लोगों का होगा। आज प्रदेश की जनता इनेलो के कार्यकाल को याद कर रही है। प्रदेश में आने वाली सरकार इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी की होगी और इनेलो सुप्रीमों चौ0 ओमप्रकाश चौटाला प्रदेश के मुख्यमंत्री होंगे। युवाओं को सरकारी नौकरियाँ मिलेंगी,विश्वविद्यालय,रेलवे लाईन,पहाड़ों को खुलवाया जाऐगा,  मेवात क्षेत्र की सभी माँगों को मँजूर किया जाएगा तथा हरियाणा में खुशहाली आऐगी।
सद्भावना-सम्मेलन को पूर्व डिप्टी-स्पीकर गोपीचंद गहलोत,विधायक नसीम अहमद, जिलाध्यक्ष चौ0 बदरुद्दीन आदि इनेलो नेताओं ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर चौ0 ताहिर हुसैन एडवोकेट, हाजी फते मौ०, मौ० तलहा एडवोकेट,अकबर अली, आसू सालाहेड़ी,  जफरूद्दीन बाबूपुर, अल्ली प्रधान, हाजी अब्दुल्ला सरपँच, साबिर सरपँच, लि हाजी सोहराब, जौम खाँ उर्फ मुंडल सरपँच,हाजी इसराईल, कल्लू सरपँच, कासम सरपँच, हासिम आकेड़ा, धर्मेंद्र सरपँच बारोटा, वहीद सरपंच महरौला, रामसिँह गँडूरी, शोकत सरपँच, शेरु देवला, नसरु सरपँच कोंतलाका, अकबर बड़का, नसीम रेवासन, रहमान बसई, निसार सरपँच चाहलका, अब्बास चैयरमेन, अब्दुल रज्जाक, फकरुद्दीन सरपँच शादीपुर, हाजी आसम,पहलू कँवरसीका, इसराईल रेहना, हासिम आकेड़ा,इरशाद सालाहेड़ी,साहून बाई, शोकत सरपँच, शहनाज घासेड़ा, आसू पहलवान, असद सरपँच, तय्यब सरपँच मेवली, जमालू सरपँच जयसिँहपुर,जाकिर सरपँच, हनीफ सरपँच,  मौजूद थे।
गाम मै सब राजी-खुशी, फसल-बाड़ी ठीक सै के


हिसार, 24 जुलाई : राम-राम ताऊ, तकड़ा हो के और गाम मै सब राजी-खुशी सै। इबकै तो राम भी राजी दिखै सै, फसल-बाड़ी भी इब तक तो ठीक सै। कुछ इसी तरह का ठेठ हरियाणवी संवाद दुष्यंत चौटाला ग्रामीणों के साथ कर रहे हैं। नलवा हलके के गांव चौधरीवास, कालवास व सिंघरान सहित आधा दर्जन गांवों में इनेलो सांसद ग्रामीणों से रूबरू हुए। 


ना माइक, ना स्टे, ना गाडिय़ों का काफिला। सांसद दुष्यंत चौटाला सबसे पहले भर्री गांव में पहुंचे। सरकारी स्कूल की जर्जर बिल्डिंग के पास वहीं कीकर के पेड़ के नीचे बैठ गए और बतियाने लग गए। स्कूल की जर्जर हालत को देखकर पूछा तो ग्रामीणों ने बताया कि 40 साल पहले बने इस स्कूल में आज तक एक ईंट और नहीं लगी। साथ ही बैठे विधायक रणबीर सिंह गंगवा को कहा कि इस बार विधानसभा सैशन में भर्री स्कूल की हालत बताना। भर्री के बाद डाया गांव में भी गांव की मुख्य चौपाल पर पहुंचकर सांसद दुष्यंत चौटाला ने ग्रामीणों की बातें सुनी और सांसद निधि कोष से ग्रांट देने की घोषणा की। 


इसी तरह सिंघरान, कालवास होते हुए चौधरीवास गांव पहुंचे। यहां पर बुजुर्ग महिला से आशीर्वाद लिया। वहां उपस्थित 80 वर्षीय बुजुर्ग से पूछा, ताऊ जी के ग्यान सै, तबियत ठीक रहवै सै के। ताऊ ने दुष्यंत के सिर पर हाथ फेररा और बोल्या बेटा थाम ठीक तो हम्म आपी ठीक हौगे। ग्रामीणों से संवाद करते हुए दुष्यंत ने कहा कि राजा तो थारै पर राजी कोनी, पर इबकै बार राम राजी सै। फसल-बाड़ी भी ठीक खड़ी सै अरै मौसम विभाग हाले कहवै भी है कै इबकै राम ठीक बरसैगा। ग्रामीणों ने दुष्यंत की बात में हामी भरी और कहा कि इबकै बार खेती ठीक दिखै सै, राम ने दे दी तो।  उन्हें के बीच बैठकर सांसद ने पूछा कि गांम म्है सब राजी-खुशी सै के। आपस म्हैं सब मिल-जुल के रहियो। गांम कै भाईचारै आगै सरकार किमै नीं कर सकै। वहां से निकलने के बाद सांसद चौटाला सड़क के साथ लगती एक ढाणी में पहुंच गए। दुष्यंत को अपने बीच देखकर आस-पास की ढाणियों के कई लोग वहां पहुंच गए। 



ढाणी के अंदर से आई एक महिला ने दुष्यंत को मक्की देते हुए कहा कि बेटा, या खा ले, बेरा नी दिन म्है किमे खाया है कोनी। दुष्यंत ने उस महिला से मक्का लेते हुए कहा कि ताई, भूख तो कोनी लाग री, पर मक्का तेरे हाथ की जरूर खाऊंगा। इतना कहते ही दुष्यंत ने मक्का खाना शुरू कर दिया और परिवार की कुशलक्षेम पूछकर चलने की इजाजत मांगी। 

माडल टाउन के लोगों ने फेसबुक पर बताई समस्या, सांसद ने मौके पर पहुंच की साढ़े तीन लाख की घोषणा


हिसार, 23 जुलाई : माडल टाउन एक्सटेंशन के लोगों ने कुछ समय पर पहले फेसबुक के माध्यम से सांसद दुष्यंत चौटाला को इलाके की समस्याएं बताई थी। माडल टाउन के लोगों ने न्यू माडल टाउन एक्सटेंशन में पाने के पानी व टूटी सड़कों का जिक्र करते हुए हाईटेंशन तार सहित अन्य समस्याओं के हल की गुहार लगाई थी। माडल टाउन वासी रघुबीर बूरा द्वारा दुष्यंत चौटाला की फेसबुक पर बताई गई समस्याओं के बाद सांसद न्यू माडल टाउन एक्सेटेंशन क्षेत्र में पहुंचे थे। सांसद दुष्यंत चौटाला इन समस्याओं के समाधान के लिए साढ़े तीन लाख रूपये की घोषणा की। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उन्हें फेसबुक के माध्यम से पता चला था कि न्यू माडल टाउन एक्सटेंशन के लोगों के लिए स्वच्छ पानी उपलब्ध नहीं है और सड़कों की हालत खस्ता है। उन्होंने कहा कि माडल टाउन एक्सटेंशन में हरियाणा के कोने-कोन से आकर 36 बिरादरी के लोग रह रहे हैं और इसे मिनी हरियाणा की संज्ञा दी। उन्हें यह भी नहीं पता था कि इस इलाके में चौ. देवीलाल पार्क है और यहां लोगों के बैठने के लिए बैंच तक नहीं है।  सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इस क्षेत्र में स्वच्छ जल की आपूर्ति सुनिश्चित करवाना व टूटी-फूटी सड़कों की समस्या कर हल करवाना उनकी प्राथमिकता होगी। उन्होंने कहा कि इस इलाके में हाईटेंशन तार लोगों के घरों के उपर से गुजर रही है और यह लोगों की जान के लिए खतरा है। सांसद ने कहा कि हाईटेंशन तार हर हालत में यहां से हटनी चाहिए और इस बारे में वह निगम के अधिकारियों से बातचीत करेंगे। इससे पहले यहां पहुंचने पर कालोनीवासियों ने सांसद दुष्यंत चौटाला का स्वागत किया। सांसद दुष्यंत चौटाला ने पार्क में चौधरी देवीलाल की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए। इस अवसर जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, पूर्व हलका अध्यक्ष व वरिष्ठ नेता प्रहलाद सिंह सैनी, युवा जिला प्रधान अमित बूरा, एडवोकेट मनदीप बिश् नोई, अमित ग्रोवर, ओमप्रकाश कुंडू, रघबीर बूरा, आशीष कुंडू, अमन मोर, रवि टाइगर, दर्शना लाठर, कृष्ण भाटी, रणबीर फौजी, ओमप्रकाश सिहाग, ओमप्रकाश तनेजा, पूर्व पार्षद ईश्वर पूनिया, पंकज नारंग, योगेश गौतम, मास्टर भीम सिंह, हवा सिंह ढाका, शगुन भारद्वाज, संतरी देवी, सावित्री देवी, बीमला देवी, धन्नो देवी, शकुंतला, अंजू, राजबाला, रमेश पंघाल, राजेंद्र पटौदी, रामकुमार, मनविंद्र सिह सेठी सहित अन्य कालोनीवासी उपस्थित थे। 

Saturday, July 23, 2016

इनके लिए चौ. देवीलाल है 'देव'  


पानीपत 23, जुलाई 2016, किसानो व गरीबो के मसीहा, जननायक स्व. चौ. देवी लाल के सच्चे सिपाही सतबीर सिंह मलिक निवासी रिसालू का जिला इनैलो कार्यालय में कावड लेकर पहुॅचने पर जिला इनैलो कार्यकताओं ने फूल मालाए डालकर स्वागत किया। यह जानकारी इनैलो जिला प्रवक्त शेर सिंह खर्ब, अधिवक्ता ने प्रैस के नाम जारी एक विज्ञप्ति में दी।
श्री खर्ब ने बताया कि आज दिनांक सुबह 8:00 बजे किसानो व गरीबो के मसीहा, जननायक स्व. चौ. देवी लाल के सच्चे सिपाही सतबीर सिंह मलिक निवासी रिसालू हरिद्वार से कावड लेकर पानीपत जिला इनैलो कार्यालय में पहुॅंचे। जहाॅं पर इनैलो कार्यकर्ताओं ने फूल मालाए डालकर उनका पुरजोर स्वागत किया। सतबीर सिंह मलिक ने अपनी कावड पर 36 बिरादरियो के सच्चे हितैषी स्व.चौ. देवी लाल जी की तस्वीर लगाई हुई थी। सतबीर सिंह मलिक ने बताया कि वह इससे पहले भी 6 बार इसी तरह की कावड लेकर आए है और वह चैटाला गाॅंव में स्थित शिव मन्दिर में शिवलिंग का जलाभिषेक शिवरात्रि के अवसर पर करेंगें। 
इस मौके पर शेर सिंह खर्ब, जिला प्रवक्ता, कुलदीप राठी ग्रामीण अध्यक्ष, नरेश मलिक सरपंच रिसालू, रामचन्द्र मलिक पूर्व सरपंच, कृष्ण भौक्कर, विशाल मलिक, रोहित कून्डू, सतीश वर्मा, यशवीर खर्ब, ललित लूथरा, बिलाल मन्सूरी, दिनेश मलिक, सतीश भौक्कर, राकेश भौककर, मोहित मलिक, इन्द्र मलिक, ओमप्रकाश मलिक, अनिल मलिक आदि मुख्य रूप से मौजूद रहें। 

लूट व् हत्याओं के बीच व्यापारिओं में डर का माहौल - राजेश सूटा 

22जुलाई, गुडगाँव : भरे बाज़ार, सरे आम गहनों के शोरूम से 6 लाख की लूट से व्यापारी वर्ग बेहद डरा और सहमा हुआ है. हत्याओं की दौर थमने का नाम नहीं ले रहे और 7 दिनों में 7 हत्याओं से आम आदमी इस प्रशासन और सरकार से बेहद नाराज़ है. यह बात इंडियन नेशनल लोकदल की प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य व् जाने माने टैक्स वकील राजेश सूटा ने मीडिया में जारी अपने ब्यान में कहीं. राजेश सूटा ने इनेलो नेताओं के साथ जाकर गुडगाँव के न्यू कॉलोनी के भोला ज्वैलर्स पर बृहस्पति वार को हुई लूट पर शोरूम मालिक से मुलाक़ात की. शोरूम मालिक और उनके परिवार से बात करते हुए इनेलो के नेताओं ने उन्हें इस दुःख पर ढांढस बंधाया. जिस प्रकार भरे बाज़ार में लाखों की लूट हुई है उससे पीड़ित परिवार बहुत सदमे में हैं और डरा हुआ है. सूटा ने बताया कि पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज़ कर ली है और सीसीटीवी फुटेज मिलने पर भी अभी तक कुछ हाथ नहीं लगा. शोरूम मालिक ने इनेलो नेताओं को बताया कि यह कोई पहली घटना नहीं है. पूरे बाज़ार में इस समय असुरक्षा का भाव है और व्यपारी अपने व्यापार में मंदी के साथ साथ असामाजिक ताकतों से भी जूझ रहा है. इस मुलाक़ात के समय बाज़ार के अन्य व्यापारी भी मौजूद थे जिन्होंने चौ. ओम प्रकाश चौटाला के नेतृत्व वाली इनेलो सरकार के समय का हवाला देते हुए उसे एक सुखद व् सुरक्षित समय बताया. पिछले कुछ सालों से इस शहर में अपराधों का ग्राफ बहुत बढ़ गया है और कानून व्यस्था भी राजनीती की भेंट चढ़ गई. हमारा हाल न तो यहाँ के सांसद आकर पूछते हैं और न ही हमसे स्थानीय विधायक ने कभी हमारा दुःख जाना I 
इनेलो नेता राजेश सूटा ने सरकारी अमले को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि देश में सेल्स टैक्स वसूली में जब गुडगाँव दुसरे नम्बर पर आता है और सरकार को सबसे ज्यादा आय इसी शहर से होती है तो यहाँ के व्यापारिओं को सुरक्षा देने में सरकार कोताही क्यूँ बरत रही है? ऐसे में अगर व्यापारिओं ने इस शहर से मुंह मोड़ लिया तो इसके लिए सरकार ही जिम्मेदार होगी. इनेलो प्रवक्ता दलबीर धनखड़ ने व्यापारिओं को विश्वास दिलाया कि उनकी हर सम्भव मदद की जाएगी और इनेलो की जिला इकाई प्रशासन पर कानून वयवस्था कायम करने का दबाव बनाने के लिए जल्द ही मोर्चा खोलेगी. इनेलो नेता संजय नुहानी ने भी सरकार की मंशा पर शक ज़ाहिर करते हुए कहा कि पूरे बाज़ार में पुलिस नाम की कोई चीज़ नहीं है न ही किसी व्यापारी भाई की कोई शिकायत सुनी जाति है. हम आखिर में राजनितिक आन्दोलन के लिए मजबूर किये जा रहे हैं. इस मौके पर इनेलो नेताओं के साथ साथ बाज़ार के कई मौजिज हस्तिओं ने भी पीड़ित भोला ज्वैलर्स को हौसला रखने को कहा.

Friday, July 22, 2016

24 जुलाई से शुरू होगा इनेलो के सद्भावना सम्मेलनों का अगला दौर

चंडीगढ़, 22 जुलाई: इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला और प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा 24 जुलाई से इनेलो की ओर से शुरू किए गए हल्का स्तरीय सद्भावना सम्मेलनों को सम्बोधित करेंगे। बाबा साहेब को समर्पित ये सद्भावना सम्मेलन संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर  की जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित किए जा रहे हैं। इनेलो नेता 24 जुलाई को मेवात जिले के फिरोजपुर झिरका व नूंह और फरीदाबाद जिले के बडख़ल विस क्षेत्र में और 25 जुलाई को रोहतक जिले के सांपला, किलोई हलके में सद्भावना सम्मेलन सम्बोधित करेंगे। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने बताया कि 26 जुलाई को सिरसा जिले के डबवाली, रानियां व सिरसा, 27 जुलाई को हिसार जिले के बरवाला, नारनौंद व हिसार, 28 जुलाई को हिसार जिले के हांसी और रोहतक जिले के महम व रोहतक और 29 जुलाई को जींद के अलावा करनाल जिले के असंध व करनाल में सद्भावना सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे। इन सम्मेलनों को पार्टी के प्रमुख नेताओं के अलावा स्थानीय विधायक, पूर्व विधायक, पूर्व मंत्री व जिला व हलका स्तरीय नेता भी सम्बोधित करेंगे और भाजपा की जनविरोधी नीतियों और प्रदेश के भाईचारे को बिगाडऩे के लिए रची जा रही साजिशों से अवगत करवाते हुए लोगों से आपसी पे्रम-प्यार और भाईचारा बनाए रखने की अपील की जाएगी। 
दुष्यंत चौटाला ने बवानीखेड़ा को दी लाखों की ग्रांट

भिवानी, 22 जुलाई : इनेलो संसदीय दल के  नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने हल्का बवानीखेड़ा की समस्याओं व विकास के लिए लाखों की ग्रांट जारी की है। दुष्यंत चौटाला ने ग्रांट जारी करते हुए गावं भैणी ठाकरान को चौपाल के निर्माण हेतु साढे 5 लाख, पपौसा के तालाब की चार दिवारी के लिए 5 लाख, प्रेमनगर की गलियों के लिए 5 लाख, बवानीखेड़ा स्थित सामान्य अस्पताल को डेंगू की भयानक बिमारी को ध्यान में रखते हुए मशीन, प्रेमनगर के युवाओं को जिम के सामान के लिए 1 लाख रूपये की सौगात दी। इनेलो सांसद ने इसी कड़ी में गांव सुई में बिजली की समस्या से निजात दिलाने के लिए बिजली कनैक्शन के लिए 4 लाख 70 हजार रूपये, बड़ेसरा में मुक्तिधाम की चार दिवारी के लिए 5 लाख रूपये की ग्रांट दी। 
इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने निर्विरोध पंचायत चुनने पर कि गई घोषणा को अमली जामा पहनाते हुए लाखों रूपयों की ग्रांट दी। सांसद ने गांव खेड़ी दौलतपूर को 5 लाख रूपये, सिवाना पंचायत को 5 लाख रूपये व गांव सुखपूरा की पंचायत को 5 लाख रूपये की ग्रांट जारी कर अपना वायदा निभाया।
दलित मामले में भाजपा सार्वजनिक माफ़ी माँगे - अभय चौटाला

चंडीगढ़, 22 जुलाई : इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने भाजपा को घोर दलित विरोधी पार्टी बताते हुए भाजपा से देश भर के दलितों से सार्वजनिक तौर पर माफ़ी माँगने की माँग की है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष उमाशंकर द्वारा बसपा सुप्रीमो के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणियाँ व गालीगलोच की भाषा का इस्तेमाल करना भाजपा की दलित विरोधी सोच को दर्शाता है। उन्होंने कहा एक तरफ़ प्रधानमंत्री दलितों के वोट हासिल करने के लिए  बाबा साहेब का नाम लेकर घंटा- घंटा भाषण देते हैं और दूसरी तरफ़ भाजपा नेता दलितों को गालियाँ देने का काम करते हैं। इनेलो नेता ने कहा कि इस घटना से पूरे देश के दलित समाज की भावनाएँ आहत हुई हैं और अकेले एक व्यक्ति को दण्डित करना नाकाफ़ी है। इसलिए भाजपा को पार्टी के स्तर पर पूरे देश के दलितों से तुरंत माफ़ी माँगनी चाहिए।

युवा इनेलो ने कहा: भत्ता दो या सत्ता दो


सिरसा, 22 जुलाई : बेरोजगारी भत्ता देने की मांग पर आज युवा इनेलो के कार्यकर्ताओं ने शहर में प्रदर्शन किया तथा तहसीलदार को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शन के दौरान युवा इनेलो के नेताओं ने सरकार विरोधी नारे लगाए तथा सरकार से भत्ता न देने की सूरत में सत्ता छोडऩे की मांग की। निर्धारित कार्यक्रम के तहत युवा इनेलो से जुड़े नेता जनता भवन में एकत्र हुए। यहां से सभी कार्यकर्ता प्रदर्शन करते हुए बाजारों में निकले। जनता भवन से कार्यकर्ता जगदेव सिंह चौक, रोड़ी बाजार, सुभाष चौक, हिसारिया बाजार, परशुराम चौक होते हुए अंबेडकर चौक पर पहुंचे। कार्यकर्ताओं ने सरकार विरोधी नारे लगाते हुए कहा कि ‘भत्ता दो या सत्ता दो’। कार्यकर्ताओं ने हाथों में नारे लिखी हुई तख्तियां भी ले रखी थीं। यहां पर प्रशासन की ओर से तहसीलदार ओपी बिश्रोई पहुंचे और उन्होंने राज्यपाल के नाम ज्ञापन लिया। 


इससे पूर्व जिला परिषद के उपाध्यक्ष कर्ण चौटाला ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि चुनाव से पूर्व भाजपा सरकार ने 12वीं पास को 6 हजार तथा बीए पास को 9 हजार रुपये मासिक बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया था, लेकिन सत्ता में आने के बाद भाजपा अपने वादे को भूल गई। युवाओं को हजारों नौकरिया देने का भी वादा किया था, मगर आज युवाओं को रोजगार देने की बजाय जो पहले से लगे हुए हैं, उन्हें हटाने का काम किया जा रहा है जिस कारण युवा वर्ग में सरकार के खिलाफ गुस्सा है। चौटाला ने कहा कि चुनाव से पूर्व भाजपा ने जितने भी वादे किए थे, जैसे बेरोजगारी भत्ता देने, 2 हजार रुपये मासिक पेंशन देने, स्वामीनाथन आयोग 
की रिपोर्ट लागू करने सहित अन्य सभी वादों को भूल गई है। इसलिए इनेलो सरकार को जनता से किए गए वादे याद दिलाने का काम कर रही है। 


उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में अपराध का ग्राफ दिनोंदिन बढ़ रहा है जिसके पीछे बेरोजगारी प्रमुख वजह है। यदि सरकार युवाओं को रोजगार दिलाने का काम करे तो अपराधों में भी कमी आ सकती है, लेकिन सरकार को इन सब बातों की कोई चिंता नहीं है। सरकार में शामिल नेता या मंत्री सिर्फ अपनी तिजोरिया भरने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इनेलो इन सब बातों को सहन नहीं करेगा और समय-समय पर सरकार के खिलाफ अपना आंदोलन जारी रखेगा।
इस अवसर पर सिरसा के विधायक मक्खन लाल सिंगला, रानिया विधायक रामचंद्र कंबोज, इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, जसबीर सिंह जस्सा जिला उपाध्यक्ष, धर्मवीर नैन युवा जिलाध्यक्ष, महेंद्र बाना, योगेश शर्मा, महावीर शर्मा, रोहित गनेरीवाला, बंसी सचदेवा, राम कु मार नैन, सुभाष नैन, प्रदीप बेनीवाल, सर्वजीत मसीता, अजब औला, विकास खिचड़, जरनैल चंदी, हरपाल कासनियां, सर्वजीत, अमरजीत संरपच, गुरजंट, गुरप्रीत, सुभाष, कर्ण, प्रदीप, मानिक मैहता, पवन, सुखवीर, विनोद, भीम जैन, सुवेल, नरेश गुर्जर,पवन सहित अन्य युवा कार्यकर्ता मौजूद थे।
हवाई किले बनाने की बजाए शहर की सड़कों की सुध ले स्थानीय विधायक- लावट

हिसार, 22 जुलाई : शहर की आधी से ज्यादा आबादी शहर की टूटी सड़कों की वजह से नारकीय जीवन जीने को मजबूर है, परन्तु स्थानीय विधायक डॉ कमल गुप्ता जनता की इस मूल समस्या को दूर करवाने की बजाये अंतर्राष्ट्रीय हवाई हड्डा बनाने के नाम पर ढकोसला कर रहे है। इनेलो हलका अध्यक्ष सजन लावट ने भाजपा के स्थानीय विधायक की कार्य प्रणाली पर सवाल उठाते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि विधायक बार बार जिस अंतर राष्ट्रीय एअरपोर्ट बनवाने की बात कर रहे है, उसको लेकर तो प्रदेश सरकार ने एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया को अब तक न तो कोई प्रस्ताव भेजा है तथा न ही नागरिक उड्डयन मंत्रालय से कोई लिखित में पत्राचार हुआ है। इसकी पोल तो संसद में पूछे गए सवालो के जवाब में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ने स्वयं खोल दी है। इनेलो नेता लावट ने कहा कि शहर में मील गेट को जाने वाली रोड पर वाहन चलाना तो दूर पैदल चलना भी दुभर हो गया है, इसके लिए स्थानीय लोग लगातार संघर्ष करते आ रहे है, प्रशासनिक अधिकारियों से लेकर सीएम विंडो पर भी इसको लेकर गुहार लगाई जा चुकी है परन्तु समस्या जस की तस है। शहर की सड़कों की हालत तो पहले से ही बहुत खराब थी, परन्तु पिछले दिनों हुई बारिश ने तो इन सड़कों की हालत को और भी बदहाल कर दिया है। परन्तु स्थानीय विधायक द्वारा इनको ठीक करवाना तो दूर बल्कि उन्होंने इन सड़कों से गुजरना ही बंद कर दिया है। ऐसा लगता है कि उनके पास इसके लिए समय ही नहीं है। लावट ने स्थानीय विधायक को नसीहत देते हुये कहा कि वे हवाई किले बना कर जनता को बरगलाने की बजाये शहर की बुरी तरह से जर्जर सड़कों को ठीक करवाने की तरफ ध्यान दे ताकि शहर की जनता सुख की सांस ले सके। साथ ही विधायक को कड़े शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जल्दी ही विधायक ने इन जर्जर सड़कों को ठीक नही करवाया तो क्षेत्र की जनता को साथ लेकर उनकी निष्क्रियता के खिलाफ अभियान चला कर एक बड़ा जन आंदोलन किया जाएगा।
सांसद दुष्यंत चौटाला शनिवार को हिसार में

हिसार, 22 जुलाई : इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला शनिवार को हिसार में कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। इनेलो जिला प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्नोई ने बताया कि शनिवार को सुबह साढ़े नौ बजे मॉडल टाउन एक्सटेंशन में चौधरी देवीलाल पार्क में आयोजित कायक्रम में इनेलो सांसद क्षेत्र के लोगों से मिलकर उनकी समस्याओं को जानकर उन्हें दूर करवाने का प्रयास करेंगे। इसके अलावा कई निजी कार्यक्रमों में भी हिस्सा लेंगे। एडवोकेट बिशनोई ने आगे बताया कि  बाद दोपहर ढाई बजे नलवा हलके के गांव भर्री, सवा तीन बजे गांव डाया, चार बजे सिंघरान, पौने पांच बजे कालवास व शाम साढ़े पांच बजे गांव चौधरीवास में ग्रामीणों व किसानों से मिलेंगे ।
देर से ही सही भाजपा ने कार्रवाई तो की : दुष्यंत चौटाला


जींद हिसार से इनेलो के सासंद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि देर से ही सही भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर कार्रवाई तो करवाई। इनेलो पिछले डेढ़ साल से हुडा के खिलाफ महामहिम राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री को सबूत सौंप चुकी थी लेकिन भाजपा के ढीले रवैये के कारण आज तक हुड्डा पर कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। उन्होंने हरियाणा मंत्रिमंडल के विस्तार के बारे में कहा कि दो मंत्रियों को हटाने से कुछ नहीं होगा, भाजपा के अधिकतर मंत्रियों पर बहुत आरोप हैं।
यहां इनेलो आफिस में पत्रकारों से बातचीत करते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने प्लाट आबंटन के साथ सीएलयू मामले में भी अपने चहेतों को काफी लाभ पहुंचाया है। हुडा शासन में 72 हजार सीएलयू की गई हैं, जो कानूनों पर खरी नहीं उतरी। इन सबसे भ्रष्टाचार की बू आ रही है। उन्होंने इन सभी मामलों को लेकर महामहिम राज्यपाल को अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में एक चार्जशीट बनाकर सौंपी थी। इसके साथ-साथ यह कॉपी मुख्यमंत्री को भी सौंपी थी लेकिन भाजपा नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा को बचाने में लगे हुए थे। उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे ढींगरा आयोग की रिपोर्ट सामने आएगी, त्यों-त्यों अनेक ऐसे मामले खुलते जाएंगे, जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री तथा उनके रिश्तेदार फंसते नजर आएंगे। हरियाणा मंत्रिमंडल के विस्तार के बारे में सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि एक-दो मंत्रियों को हटाने से सरकार पाक साफ नहीं हो जाएगी। मनोहरलाल मंत्रिमंडल में बहुत से ऐसे मंत्री अब भी काम कर रहे हैं, जिन पर पंचायती जमीनों पर कब्जे के आरोप हैं। वे अनेक भू-माफियाओं से मिलकर लाभ कमा रहे हैं। इनसो कॉलेज अध्यक्ष को कॉलेज से सस्पेंड करने पर सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार विद्यार्थियों की आवाज को दबाने का प्रयास कर रही है। इनसो हमेशा छात्र हकों की लड़ाई लड़ती रही है और लड़ती रहेगी। यदि छात्रों हितों की आवाज उठना गलत तो तो इनसो यह काम करती रहेगी। इस मौके पर विधायक परमेंद्र सिंह ढुल, युवा प्रदेश प्रभारी प्रदीप गिल, सूबे सिंह लौहान, हरीश अरोड़ा, विश्ववीर नंबरदार, कुलदीप गिल, अनुराग खटकड़, हर्ष मित्तल, शमशेर नगूरां, अजायब सिंह चहल, कैप्टन रणधीर चहल, अशोक लीलू, जयपाल मलिक, पार्षद दिनेश डाहौला, प्रवीण एमसी, मौजी खान, कुलदीप सिहाग, आशीष शर्मा, सोनू गुलिया, रणबीर पूनिया, यादवेंद्र खर्ब, गुरदीप सांगवान भी मौजूद थे। 

Thursday, July 21, 2016

कश्मीर में बिगड़ती है हालत,मेरे प्रदेश के घर में मनता है मातम- दुष्यंत चौटाला


नई दिल्ली , 21 जुलाई : देश के सबसे युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने कश्मीर मसले पर लोकसभा में बोलते हुए  कहा कि जब कभी कश्मीर में हालत बिगड़ती है और जवान शहीद होते हैं तो मेरे प्रदेश हरियाणा में मातम बनता है क्योंकि फौज में  हर दसवां जवान मेरे प्रदेश हरियाणा से है और आज तक सबसे ज्यादा कश्मीर में मेरे प्रदेश हरियाणा के जवान ही शहीद हुए हैं ।
सांसद दुष्यंत चौटाला ने सरकार से पूछा कि कश्मीर की समस्या कब तक बनी रहेगी । उन्होंने यह भी सवाल दागा कि क्या हकीकत में कश्मीर समस्या है या कुछ लोगों की समस्या है। लोकसभा में 193 के तहत कश्मीर मसले पर चर्चा करते हुए सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि गृह मंत्रालय एवं विदेश मंत्रालय मिलकर इस समस्या को सुलझा सकते हैं, आखिर हर वर्ष क्यों हजारों जवान एवं सिविलियन प्रभावित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें आज 70 साल हो गए,आज तक इस समस्या को नहीं सुलझा पाए । सांसद ने साथ में यह भी जोड़ा की पैरा मिलिट्री फोर्सेज का 15  प्रतिशत अकेले कश्मीर में ही क्यों तैनात है?कश्मीर में माइनस 60 डिग्री तापमान पर जवान हमारे देश की रक्षा करते हैं,और इनमें से हर दसवां जवान हरियाणा से है । उन्होंने कैप्टन शहीद पवन कुमार एवं रॉकी का उदाहरण देते हुए कहा कि इस तरह से सैंकड़ों जवान एवं अफसर हरियाणा के हैं जो देश के लिए शहीद हुए हैं आज हमें इन वीर योद्धाओं की कुर्बानी को याद रखकर कश्मीर समस्या का समाधान करना चाहिए । सांसद दुष्यंत चौटाला ने यह भी कहा कि जब कोई कश्मीर में मर जाता है तो कुछ लोग उसे आतंकवादी कहते हैं कुछ लोग उसे शहीद कहते हैं और उसके जनाजे में लाखों लोग शामिल होते हैं जबकि हमारा जवान या अफसर शहीद होता है तो डीसी एसपी भी शहादत को नमन करने भी नहीं पहुंचते ।इनेलो संसदीय दल के नेता दुष्यंत चौटाला ने यह भी बताया कि पिछले दिनों में एक संसदीय टूर के तहत वे कश्मीर गए थे जहां पर हमें बताया गया कि बाहर मत निकलना क्योंकि कश्मीर बंद है और कश्मीर बंद होने का कारण यह बताया गया कि जवानों ने पुलिसकर्मियों को गोली मारने वालों का इनकाउंटर किया है। दुष्यंत चौटाला ने सवाल पूछा कि क्या हम अपने देश में ही बंधक बन कर रह गए हैं,क्या यह मेरा भारत है जहां घर से बाहर भी लोगों को नहीं निकलने दिया जा रहा है। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कश्मीर समस्या का हल निकालने के लिए वहां तैनात सेना के जवानों एवं अफसरों को भी नीति बनाने में शामिल किया जाए,न कि दिल्ली में बैठे लोग नीति बनाएं। क्योंकि वहां पर तैनात सेना के अधिकारी एवं जवान अच्छी तरह से जानते हैं कि कश्मीर की समस्या का क्या समाधान हो सकता है। दिल्ली में बैठे कुछ अधिकारी नीति बना लेते हैं जिनको हकीकत में कश्मीर का कुछ पता नहीं होता । सांसद ने सरकार से आग्रह किया कि जल्द से जल्द इस समस्या का समाधान निकाले ताकि  हमारे देश के जवान एवं आम नागरिक शहीद न हो।

Wednesday, July 20, 2016

बीमे का प्रीमियम सरकार अपने खजाने से क्यूँ नहीं भर देती- गोपी चंद गहलौत 

गुडगाँव, 20 जुलाई : भाजपा सरकार के पास किसानों को देने के लिए कुछ नहीं, बहाने बना कर काम चला रही है। स्वामीनाथन  आयोग की सिफारिशों को लागू करवाने के लिए साइकिल यात्रा करने वाले लोग अपनी सरकार में ही किसानों को  धोखा दे रहे हैं। यह बात हरियाणा विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष गोपी चंद गहलौत ने प्रेस के नाम जारी एक  ब्यान में कही। इनेलो नेता गोपी चंद गहलौत ने हरियाणा के कृषिमंत्री ओपी धनखड़ की प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को लेकर होनी वाली पदयात्राओं को सरकार की असफलताओं का सबूत बताया। उन्होंने कहा कि स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को चुनावी मुद्दा बना बीजेपी ने सत्ता में आकर इससे इंकार कर दिया। इतना ही  नहीं प्राकृतिक आपदाओं की स्थिति में फसलों के नुकसान के मुआवजा देने की जगह सरकार अब बीमा  कंपनिओं की आड़ में छुपने जा रही है। गोपी चंद गहलोत ने ओपी धनखड़ पर तंज कसते हुए कहा कि ओपी धनखड़ का खेत और किसानों से कोई नाता नहीं केवल आरक्षण आन्दोलन के बाद अपने क्षेत्र में खराब हुई  राजनितिक जमीन को तलाशने की कोशिश कर रहे हैं। पूर्व डिप्टी स्पीकर ने ओपी धनखड़ व प्रदेश की सरकार से किसान व् राज्य हित में कुछ सवाल भी किये और आशा व्यक्त की कि कृषि मंत्री इसका जवाब जरूर देंगे। 
विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष ने कृषिमंत्री से पूछा कि स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को मानने से सरकार ने इंकार क्यों किया? बतौर स्वयंभू किसान नेता, आपने विरोध में सरकार से इस्तीफा क्यों नहीं दिया? प्रधानमंत्री जी कहते हैं, 2022 में किसान की आय दोगुनी कर देंगे। भारत में एक किसान औसत 67 रुपए दैनिक कमाता है आज से 6 साल बाद 134 रुपए दैनिक में क्या गुजारा हो पायेगा? जब आपदा के नुकसान की भरपाई के लिए सरकार मुआवजा देने के लिए बाध्य है  तो बीमे का प्रीमियम सरकार अपने खजाने से क्यूँ नहीं भर देती? विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष ने कृषिमंत्री से यह भी पूछा कि गुडगाँव सेज की जमीन किसानों को लौटाने के आपके वादे का क्या हुआ? इन सवालों के साथ साथ गोपी चंद गहलौत ने ओपी धनखड़ से कहा कि वो जब भी गुडगाँव आये हमारे सवालों का जवाब लेकर आये नहीं तो आने वाले विधानसभा सत्र में सरकार इन सवालों के जवाब के साथ सदन में  आये। विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष ने कृषिमंत्री से कहा कि बार बार नाटक रुपी सरकारी कार्यक्रमों से मन बहलाने का काम बंद करे, इससे जनता का कोई भला होने वाला नहीं  है।


प्रदेश सरकार लोकतांत्रिक व संवैधानिक मर्यादाओं का हनन करने पर उतारू : अशोक अरोड़ा

कुरुक्षेत्र, 20 जुलाई : भाजपा सरकार लोकतांत्रिक एवं संवैधानिक मर्यादाओं का हनन करने और प्रदेश की प्रमुख संस्थाओं को बर्बाद करने पर तुली हुई है। यह आरोप इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने अपने निवास स्थान पर पत्रकारों से वार्तालाप करते हुए लगाया। 
उन्होंने कहा कि मु यमंत्री के सुशासन सहयोगियों की नियुक्ति सीधे तौर पर प्रदेश की प्रजातांत्रिक प्रणाली व संवैधानिक प्रक्रियाओं के साथ छेड़़छाड़ है। इससे यह स्पष्ट हो गया है कि प्रदेश सरकार तथा मु यमंत्री का प्रदेश के अधिकारियों , राजनेताओं व निर्वाचित प्रतिनिधियों से विश्वास उठ चुका है। मु यमंत्री सुशासन सहयोगियों के नाम पर जिलों में अधिकारियों के ऊपर सुपर डीसी और विधायकों के ऊपर सुपर मु यमंत्री बैठाया जा रहा है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि प्रदेश के शिक्षा शास्त्रियों, कानूनविदों व प्रशासनिक अधिकारियों को नजरअंदाज करके हरियाणा के विश्वविद्यालयों में बाहर से लाकर कुलपतियों की नियुक्ति की जा रही है। लोकायुक्त के पद पर भी बाहर के व्यक्ति को नियुक्त किया गया है। इसी प्रकार पंजाबी साहित्य  अकादमी के निदेशक जैसे पद के लिए भी सरकार ने प्रदेश के बाहर से लोगों को लाकर नियुक्त किया है। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने प्रदेश सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि मु यमंत्री धीरे धीरे प्रदेश के सभी प्रमुख पदों पर पिछले दरवाजे से आरएसएस के लोगों को नियुक्त कर रहे हैं। इतना ही नहीं सरकार शासन व प्रशासन की पूरी बागडोर भी धीरे धीरे आरएसएस से जुड़े लोगों को सौंपी जा रही है। कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड में छह गैर सरकारी सदस्यों की नियुक्ति पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि कुरुक्षेत्र के तीर्थ पुरोहितों की एकमात्र संस्था श्री ब्राह्मण एवं तीर्थोद्धार सभा को केडीबी में प्रतिनिधित्व न देना दुर्भाग्यपूर्ण है। सभा तथा केडीबी का चोली-दामन का साथ है। इस सभा को केडीबी ने मान्यता दी हुई है और केडीबी के गठन से पूर्व यह सभा ही ब्रह्मसरोवर और सन्निहित सरोवर का प्रबंधन संभालती थी। इसके अलावा कुरुक्षेत्र के लगभग एक दर्जन से अधिक मंदिरों का प्रबंधन सभा संभालती है। इस सभा का कुरुक्षेत्र के तीर्थों के विकास में विशेष योगदान रहा है। 
इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड में गैर सरकारी सदस्यों की नियुक्ति संघ की पृष्ठभूमि से जुड़े लोगों की गई है। उन्होंने कहा कि मु यमंत्री सभी प्रमुख संस्थाओं पर संघ के लोगों को काबिज करने में लगे हुए हैं। अरोड़ा ने मांग की कि केडीबी में तीर्थ पुरोहितों को प्रतिनिधित्व दिया जाए। 


Tuesday, July 19, 2016

जिलों में सुपर डीसी व सुपर सीएम के तौर पर बिठाए जा रहे हैं मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी: अशोक अरोड़ा


चंडीगढ़, 19 जुलाई: इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने प्रदेश की भाजपा सरकार पर लोकतांत्रिक व संवैधानिक मर्यादाओं का हनन करने और प्रदेश की अहम संस्थाओं को बर्बाद करने का आरोप लगाते हुए सुशासन सहयोगियों  मुख्यमंत्री की नियुक्ति को सीधे-सीधे प्रदेश की प्रजातांत्रिक प्रणाली व संवैधानिक प्रक्रियाओं के साथ छेड़छाड़ बताया है। इनेलो नेता ने कहा कि अब साफ हो गया है कि सरकार व मुख्यमंत्री का प्रदेश की अधिकारियों, राजनेताओं व निर्वाचित प्रतिनिधियों से विश्वास उठ गया है और वे मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगियों के नाम पर जिलों में अधिकारियों के ऊपर सुपर डीसी और विधायकों के ऊपर सुपर मुख्यमंत्री बिठाया जा रहा है। इनेलो नेता ने कहा कि एक तरफ जहां प्रदेश की शिक्षा शास्त्रियों, कानूनविदों व प्रशासनिक अधिकारियों को नजरअंदाज करके प्रदेश की विश्वविद्यालयों में बाहर से लाकर कुलपतियों की नियुक्ति की जा रही है वहीं लोकायुक्त व पंजाबी साहित्य अकादमी के निदेशक जैसे पद के लिए भी सरकार ने प्रदेश से बाहर के लोगों को लाकर यहां बिठाया है। इनेलो नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री धीरे-धीरे प्रदेश के सभी अहम् पदों पर पिछले दरवाजे से आरएसएस के लोगों को लाकर न सिर्फ बिठा रहे हैं बल्कि सरकार, शासन व प्रशासन की पूरी बागडोर भी अब संघ से जुड़े हुए लोगों को सौंपी जा रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार व मुख्यमंत्री की कार्यप्रणाली एक लोकतांत्रिक प्रदेश में निर्वाचित मुख्यमंत्री जैसी न होकर पुरानी रजवाड़ाशाही को भी पीछे छोडऩे वाली बनती जा रही है और सुशासन सहयोगियों के चयन के लिए न तो कोई पारदर्शी चयन प्रक्रिया अपनाई गई और न ही किसी नियम-कायदे का पालन किया गया। यह बात अशोक अरोड़ा ने मंगलवार को चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही। इस अवसर पर पूर्व कृषि मंत्री जसङ्क्षवदर सिंह संधू, विधायक परमेंद्र ढुल व इनेलो नेता आरएस चौधरी भी मौजूद थे।
श्री अरोड़ा ने कहा कि पिछले हफ्ते मुख्यमंत्री ने पिछले विधानसभा चुनाव में चुनाव हारने वाले भाजपा प्रत्याशियों की बैठक आयोजित कर उन्हें यहां तक कहा था कि वे अपने आपको भाजपा का हारा हुआ प्रत्याशी न बल्कि उस हलके का विधायक ही समझें और संबंधित हलकों में विकास कार्य भी उन्हीं के अनुसार किए जाएंगे। इनेलो नेता ने कहा कि सीएम का यह कदम न सिर्फ प्रदेश के उन 43 विधानसभा क्षेत्रों के लोगों का अपमान है बल्कि उस जनादेश से भी खिलवाड़ किया जा रहा है जिन्होंने भाजपा प्रत्याशियों को हराकर अन्य उम्मीदवारों को विजयी बनाया था। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो मुख्यमंत्री सबका साथ सबका विकास जैसे नारे देते हैं वहीं दूसरी ओर निर्वाचित विधायकों की अनदेखी कर उनकी बजाय हारे हुए प्रत्याशियों को विधायकों से भी ज्यादा तरजीह देकर विजयी विधायकों व लोकतांत्रिक मर्यादाओं का भी अपमान कर रहे हैं। इनेलो नेता ने कहा कि प्रदेश को जहां तत्कालीन हुड्डा सरकार ने क्षेत्रवाद के नाम पर बांटने का प्रयास किया वहीं भाजपा सरकार सत्तापक्ष व विपक्ष के नाम पर न सिर्फ बांटने का काम कर रही है बल्कि लोकतंत्र की हत्या करने का भी प्रयास कर रही है। इनेलो नेता ने कहा कि पूरे प्रदेश में एकसमान विकास व सबका साथ जैसे दावे करने वाली सरकार को विभिन्न हलकों में विकास की योजनाएं हारे हुए प्रत्याशियों के माध्यम से मंगवाने की बजाय प्रदेश के निर्वाचित प्रतिनिधियों व विधायकों के माध्यम से ही लागू करनी चाहिए चाहे विधायक किसी भी राजनीतिक दल से संबंधित क्यों न हो। इससे न सिर्फ लोकतंत्र मजबूत होगा बल्कि प्रजातांत्रिक संस्थाओं को भी मजबूती मिलेगी। 
इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा सरकार ने कुरुक्षेत्र विवि व हरियाणा कृषि विवि हिसार के कुलपति पद पर बाहर से लाकर लोगों को बैठाने का काम किया वहीं लोकायुक्त व पंजाबी साहित्य अकादमी के निदेशक पद पर भी बाहर के आदमी को लगाकर प्रदेश के शिक्षाविदों, कानूनी माहिरों व युवाओं का भी अपमान किया है। इनेलो नेता ने सवाल किया कि प्रदेश के इन अहम् पदों पर लगाने के लिए क्या सरकार को राज्य की ढाई करोड़ आबादी में से कोई भी योग्य शिक्षाविद, कानूनविद या प्रशासनिक अधिकारी नहीं मिल पाया? और प्रदेश में क्या कोई भी लायक अधिकारी नहीं है जिन्हें इन पदों पर लगाया जा सकता। उन्होंने कहा कि इन नियुक्तियों से हरियाणावासी न सिर्फ बेहद आहत हैं बल्कि उनकी योग्यता की अनदेखी कर बाहर से लाकर उनके सिर पर बैठाने से वे बेहद अपमानित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि  सुशासन सहयोगियों जिनमें से ज्यादातर बाहर के हैं, उन्हें भी सभी जिलों में लाकर उपायुक्तों के सिर पर सुपर डीसी व निर्वाचित विधायकों के ऊपर सुपर सीएम की तरह बैठाया जा रहा है। इनेलो नेता ने कहा कि सरकार का कहना है कि सुशासन सहयोगियों का वेतन औद्योगिक घराने देंगे जिससे साफ है कि सुशासन सहयोगी उन उद्योगपतियों के इशारे पर ही काम करेंगे और पूरे प्रदेश के विभिन्न सरकारी विभागों की बागडोर अप्रत्यक्ष तौर पर उन औद्योगिक घरानों के हाथों में चली जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार ने अभी तक यह भी स्पष्ट नहीं किया है कि इन सुशासन सहयोगियों को वेतन के अलावा क्या सरकारी दफ्तर, स्टाफ, वाहन व रिहायश आदि की सुविधाएं भी क्या औद्योगिक घराने देंगे अथवा इसका बोझ सरकारी खजाने पर डाला जाएगा। इनेलो नेता ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार पिछले पौने दो सालों से न सिर्फ विभिन्न लोकतांत्रिक व संविधानिक संस्थाओं को बर्बाद करने में लगी हुई है बल्कि धीरे-धीरे पूरे प्रदेश को आरएसएस की प्रयोगशाला बनाया जा रहा है, जो कि लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत नहीं माना जा सकता।