Thursday, June 30, 2016


रोजा-ए इफ्तार में शामिल हुए सांसद दुष्यंत चौटाला


पानीपात, 30 जून : इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला पानीपत में खटीक बस्ती में मस्जिद साहब में आयोजित रोजा-ए इफ्तार में शामिल हुए और लोगों को मुबारकबाद दी। सांसद दुष्यंत चौटाला रमजान के पवित्र माह में खजूर खिलाकर लोगों का रोजा खुलवाया।
इस अवसर पर सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा जननायक स्व. चौधरी देवीलाल ने रमजान के पाक महीने में प्रदेश में इफ्त्तार पार्टी की शुरूआत की और आज तक इनेलो इस परम्परा को निभा रही है। उन्होंने कहा कि मुस्लिम भाईयों का हमारे समाज की आर्थिक व सामाजिक उन्नति में अहम योगदान है और मेहनती कौम है। 
बाद में पत्रकारों के ढीगरा आयोग का समय बढ़ाने के सवाल का जवाब देते हुए सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सरकार ने ढींगरा आयोग के गठन के समय से मनोहर लाल खटर सरकार ने कांग्रेस को लाभ देने का रास्ता निकाल लिया था। प्रदेश सरकार कांग्रेस को अधिक से अधिक लाभ देने के लिए आयोग का कार्यकाल बढ़ा कर फायदा देना चाह रही है। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा भी आयोग की असंवैधानिकता का समर्थन कर चुके हैं। एक अन्य सवाल के जवाब में सांसद ने कहा कि सीएम मनोहर लाल खटर सीएम बनने के बाद सबसे पहले पानीपत आए थे परन्तु पानीपत के विकास के लिए उन्होंने कुछ नहीें किया और केवल घोषणाएं करके रह गए। उन्होंने कहा कि पानीपत की तरफ ध्यान न देकर इस जिले को पीछे धकेल रहे हैं और प्रदेश के खजाने में 17 प्रतिशत के राजस्व देने वाली यूनिट को निजी हाथों में सौंपने जा रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार भी किसानों के साथ मजाक कर रही है और लोकसभा के दूसरे सत्र के दौरान ही सुप्रीम कोर्ट में स्वामीनाथन आयोग लागू न करने का शपथ पत्र दे चुकी है। 


कांग्रेस व आरएसएस ने प्रदेश का भाईचारा बिगाड़ा: अभय चौटाला


सोनीपत, 30 जून: इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने सोनीपत जिले के खरखौदा हलके के गांव खांडा में आयोजित सद्भावना सम्मेलन में कहा कि प्रदेश में जो आगजनी हुई वह कांग्रेस व आरएसएस के लागों ने मिलीभगत करके कराई जिन्होंने प्रदेश में भाईचारा बिगाडऩे का काम किया। हाल ही में हुए राज्य सभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी का चेहरा पूरी तरह से बेनकाब हो गया है। इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा पार्टी ने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को सीबीबाई का डर दिखाकर सुभाष चंद्रा की मदद करवाते हुए कांग्रेस विधायकों के वोट रद्द करवाए। हुड्डा राज्य सभा सांसद सुभाष चंद्रा के पार्टनर भी हैं। बाबा भीम राव अंबेडकर की जयती समारोह पर खांडा के राजकीय स्कूल प्रांगण में आयोजित सद्भावना सम्मेलन में जनसभा को संबोधित करते हुए विपक्ष के नेता अभय चौटाला ने कही। इसके बाद उन्होंने कुंडल गांव में इनेलो हलका प्रधान अशोक राणा के नेतृत्व में अजय व जगजीत राणा की औव व शिव कैटल फीड कंपनियों का उद्घाटन किया।


नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भर्तियों में अव्यवस्थाओं के चलते बच्चे बीमार हो रहे हैं, कई तो मर भी चुके हैं। प्रदेश में जब से भाजपा सत्ता में आई है धरने प्रदर्शन चल रहे हैँ। उन्होंने कहा कि जाट आरक्षण की मांग पिछले कई वर्षों से निरंतर चली आ रही है लेकिन इस बार कांग्रेस पार्टी ने खुद सत्ता हथियाने के चक्कर में प्रदेश का माहोल बिगाड़ा और जब कांग्रेस का वीडियो वायरल हुआ तो भाजपा पार्टी नेताओं ने आरएसएस के अपने लोगों से कहकर प्रदेश में आगजनी कराई। इनेलो नेता ने कहा कि प्रदेश के 30 नौजवानों की आंदोलन में कीमती जानें चली गई। भाजपा केंद्रीय मंत्री राजनाथ ने पहले तो सभी मांगों को मान लिया था बाद में युवाओं पर विभिन्न धाराओं के तहत मामले दर्ज किए। जबकि इनेलों ने हमेशा ही प्रदेश की उन्नति के कार्य किए हैँ। पूर्व मुख्यमंत्री एवं इनेलो सुप्रीमों आज लोगों को रोजगार देने की सजा काट रहे हैं। प्रदेश की जनता भाजपा सत्ता से तंग आ चुकी है।
इस मौके पर इनेलो प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पूर्व मंत्री वेद सिंह मलिक, पूर्व विधायक व जिलाध्यक्ष पदम सिहं दहिया, रामकुमार सैनी, तेलूराम जोगी, अशोक राणा, रोब सिंह, कुणाल गहलाव, रवींद्र मंडोरा, फूलकंवार चौहान, विनोद बाल्मीकि, रोहतास दहिया, राजकुमार रिढाऊ, प्रमिला, अनीता खांडा, दीपक सरोहा सहित विभिन्न पदाधिकारी उपस्थित थे।
जनता की जेब पर लगातार बोझ डाल रही है भाजपा सरकार: दुष्यंत चौटाला 


रेवाड़ी, 30 जून: भाजपा सरकार जनता की जेब पर लगातार आर्थिक बोझ डाल रही है और जनता को सुविधा के नाम कुछ नहीं कर रही है। प्रदेश में रोडवेज बसों का किराया तो बढ़ा दिया परन्तु न तो प्रदेश के यात्रियों के लिए बसों का समुचित प्रबंध है और न ही रोडवेज कर्मचारियों को पूरी सुविधाएं दी जा रही है। यह बात इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने रेवाड़ी हलके के गांव डोहकी गांव में आयोजित सद्भावना सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही।
सांसद दुष्यंत चौटाला ने बस किराए में की गई 12 प्रतिशत बढ़ोतरी की कड़े शब्दों में निंदा की। उन्होंने कहा कि बसों में प्रदेश के आम लोग सफर करते हैं और ऐसे हालात में जब पिछली तीन फसलें खराब हो चुकी हैं, उन्हें उनकी फसलों के उचित भाव नहीं मिल रहे हैं और किसान, कमेरा, मजबूर व दुकानदार आर्थिक तंगी की चक्की में पिस रहे हैं। ऐसे हालात लोगों की जेब पर बस भाड़े के रूप में आर्थिक बोझ डालना न्यायोचित नहीं है। उन्होंने कहा कि इससे पहले सरकार बिजली के दामों में कई बार वृद्धि कर चुकी है। उन्होंने बस भाड़े में की गई वृद्धि को तुरंत वापस लेने की मांग की है। 


इस अवसर पर पार्टी के प्रदेशाघ्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि भाजपा सरकार की वोट बैंक बढ़ाने की मंशा की नीति के चलते आज प्रदेश में भाईचारा खराब हुआ है और समाज में 36 बिरादरी का भाईचारा दोबारा कायम करने व सद्भावना के लिए इनेलो को सदभावना सम्मेलन करने पड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि जाट आरक्षण से पूर्व सर्वदलीय बैठक में इनेलो ने सरकार को चेताया था कि यदि सरकार ने समय रहते उचित कदम नहीं उठाए तो प्रदेश में हालात बेकाबू हो जाएंगे परन्तु सीएम मनोहर लाल खटर ने एक नहीं सुनी। उन्होंने कहा कि भाजपा को प्रदेश के भाईचारे व सदभावना से कोई लेना-देना नहीं है वह तो कभी जात-पात के नाम पर तो कभी हिंदू मुस्लिम के नाम पर समाज के लोगों का आपास में टकराव करवाती है। उन्होंने जनता से आह्वान किया कि वे सत्तारूढ़ दल की बातों में न आएं और आपसी भाईचारा कामय रखते हुए समाज को आगे बढ़ाने में अपना योगदान दें।
इस अवसर पर सुनील चौधरी, जिला अध्यक्ष डा. राजपाल यादव, विद्यानंद लांबा, जगफूल यादव, जगदीश ढहीनवाल, श्यामसुंदर सबरवाल रामफल कोसलिया, सुभाष गर्ग, किरणसपाल यादव, सुरेंद्र कोर राठी, वरूण गांधी, विनय पार्षद,मंजीत जेलदार, कुलदीप देसवाल, मनबीर लांबा, विजेंद्र बुढाना, संजीव यादव, सुधीर मास्टर, भूपसिंह, उर्मित ठक्कर, सुमेर सिंह ढिल्लो, रजवंत सिंह डहीनवाल सहित सैंकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित थे। 


इनेलो विधायक दौलतपुरिया ने बिजली कर्मचारियों की मांगों का किया समर्थन


फतेहाबाद, 30 जून: बिजली कर्मचारियों की मांगों का फतेहाबाद से इनेलो विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया ने अपना समर्थन दिया है। आज उन्होंने अनाज मंडी फतेहाबाद के पिछले शेड में धरने पर बैठे बिजली कर्मचारियों के बीच पहुंचकर उन्हें पूर्ण समर्थन दिया। विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया ने इस अवसर पर भाजपा सरकार की जमकर आलोचना की। उनके साथ जिला अध्यक्ष बलविंद्र कैरो, कुलजीत कुलडिय़ा, सुरेंद्र लेगा, लक्ष्मीनारायण देहड़ू, पवन चुघ, कुलवंत सवणा, यशपाल यश तनेजा, प्रमोद बजाज सहित अनेक इनेलो नेता मौजूद थे। कर्मचारियों को संबोधित करते हुए विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया ने कहा कि भाजपा सरकार तानाशाही सरकार बन चुकी है। कर्मचारियों पर हो रही ज्यादती को रोकने के लिए सरकार इस हद तक चली गई है कि कर्मचारियों की हड़ताल रोकने के लिए एस्मा जैसा काला कानून थोप दिया गया है। उन्होंने कहा कि बिजली निगम में निजीकरण और कच्चे कर्मचारियों को पक्का न करने जैसी मांगों को सरकार पूरा करे और कर्मचारियों की आवाज को इस प्रकार न दबाया जाए।

Wednesday, June 29, 2016

नैना चौटाला ने टेबल टेनिस विजेता खिलाडिय़ों को ट्रॉफी प्रदान की


चंडीगढ़, 29 जून: डबवाली से इनेलो विधायिका श्रीमती नैना सिंह चौटाला ने यहां चंडीगढ़ में टेबल टेनिस फैडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से चल रहे उत्तरी जोन के मुकाबलों में विजेता महिला खिलाडिय़ों को पुरस्कार दिए और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि देश में अच्छे खिलाडिय़ों की कोई कमी नहीं है लेकिन उन्हें विश्वस्तरीय खेल व तकनीकी सुविधाएं उपलब्ध करवाए जाने की जरूरत है। यहां चंडीगढ़ में चल रहे मुकाबलों में महिला सिंगल में मोनिका बत्तरा ने प्री-क्वार्टर फाइनल में सनहोरा डिसूजा को, चिपिया फे्रनाज ने एमवी सफूर्ति कर्नाटक को, के सामनी ने आहिका मुखर्जी को, पूजा सहसब्रा बुद्धे ने पलवी कुंडू को और मधुरिका पटकार ने मौसमी और वेस्ट बंगाल को हराकर प्री-क्वार्टर फाइनल में जीत हासिल की। इसके अलावा सूथीरथा मुखर्जी पश्चिम बंगाल ने दिल्ल्ली की गरिमा गोयल को, श्रुति अमरूटे महाराष्ट्र ने निखत बानू को और रीषिया ने माऊमा दास को हराकर महिला सिंगल में प्री-क्वार्टर फाइनल में जीत हासिल की। 
जूनियर लडक़ों के सेमीफाइनल में मानव ठक्कर ने उत्तरप्रदेश के सार्थक सेठ को, जीत चंद्रा पश्चिम बंगाल ने गुजरात के मनुच शाह को हराकर सेमीफाइनल जीता। इसके अलावा क्वार्टर फाइनल में मानव ठक्कर ने महाराष्ट्र के अनिरुद्ध मराठे को, सार्थक सेठ ने गुजरात के ईशांत हिंगोरंक को, मनुष शाह ने दिल्ली के यशंस मलिक को और जीत चंद्रा ने झारखण्ड के शिवाजी राव को हराकर जीत हासिल की थी। पुरुषों के सिंगल के दूसरे राउंड में ए अमालराज ने पंकज कुमार को, पश्चिम बंगाल के सौरव शाहा ने तेलंगाना के एस स्नेहित को सगाउता सरकार ने सोमादीप राय को, सुबाजीत साहा ने सुष्मित श्रीराम को, अभिषेक यादव ने हरियाणा के मोहित वर्मा को, दिल्ली के उत्कर्ष गुप्ता ने राजस्थान के सुभम ओजाहा को हराकर दूसरे राउंड में जीत हासिल की।
बाबा साहेब के भारत रत्न देने के पक्षधर नहीं थे कांग्रेस और बीजेपी: अभय चौटाला


भिवनी, 29 जून : संविधान निर्माता डा. भीम राव अम्बेडऱ की जयंती पर भिवानी के बामला गांव में पार्टी की तरफ से आयोजित सद्भावना सम्मेलन में इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा व कांग्रेस की सोच गरीब, दलित व किसान को दबाने की रही है। इसलिए इन दोनों पार्टियों ने गरीब, पिछड़ों के मसीहा डा. भीम राव अम्बेडक़र को भारतरत्न की उपाधि देने में रोड़े अटकाए थे, जबकि चौधरी देवीलाल ने उन्हें भारतरत्न दिलाया। वहीं इन्होंने जननायक चौधरी देवीलाल को कई बार सलाखों के पीछे भेजकर किसानों की आवाज को दबाने की क ोशिश की थी। इसी कड़ी में आज फिर भाजपा सरकार झूठे षडय़ंत्रों के तहत प्रदेश का भाईचारा खराब करने पर तूली है। सम्मेलन को विधायक राजदीप फोगाट, सुनील लाम्बा, बलदेव घनघस, निर्मला सर्राफ, कुलवंत कोटिया, सुधीर सरपंच, जितेंद्र शर्मा मनमोहन भुरटाना, राजू मेहरा ने भी सम्बोधित किया।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भाजपा जाटों को बदनाम करके दूसरे वर्ग के लोगों को अपने साथ जोङने के लिए प्रदेश भर में आरक्षण की आड़ में आग लगवा रही थी। इसके लिए रोहतक में विधायक मनीष ग्रोवर और भिवानी में राज्य मंत्री घनस्याम सर्राफ के घर प्लानिंग की गई। साथ ही उन्होने बसों के किराये में बढौतरी को आम आदमी की जेब पर डाका बताया और कहा कि आने वाले दिनों में युवा वर्ग प्रदेश में इस सरकार से मुक्ती दिलाएगा। इस अवसर पर इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि 1990 से पहले आज आरक्षण का विरोध करने वालों को भी आरक्षण नहीं था। उन्होंने कहा कि देवीलाल के कहने पर तत्कालीन सीएम हुकम सिंह ने गुरनाम सिंह आयोग बनाकर 10 जातियों को प्रदेश में आरक्षण देकर केंद्र में आरक्षण के लिए सिफारिश भेजी थी। लेकिन 1991 में केन्द्र व प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी और उस समय सीएम भजनलाल ने एससी में हल्फनामा दिया कि केन्द्र इन पांच जातियों को आरक्षण नहीं दे रही तो हम भी हरियाणा में इनका आरक्षण खत्म कर रहे है। उसके बाद से जाट आरक्षण के लिए आंदोलन कर रहे हैं।


उन्होंने ने कहा कि आरक्षण के आंदोलन हमेशा शांतिपूर्वक रहे लेकिन इस बार भाजपा सरकार की मंशा जाटों को बदनाम कर दूसरी जातियों को अपने साथ जोङने की थी। इसलिए सूबे के मुखिया खुद आरक्षण देने की बात करते रहे और दूसरी तरफ सांसद राजकुमार सैनी, मंत्री कृष्ण बेदी, रोशनलाल आर्य व विधायक मनीष ग्रोवर जैसे लोगों को इसका विरोध करने में लगा दिया। अभय चौटाला ने भाजपा व कांंग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जब पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा क नजदीकी पो. विरेन्द्र सिंह की ओडियो सीडी वायरल हुई तो भाजपा ने इसका फायदा उठाते हुए अपने सारे काले कारनामे व ओच्छी सोच को तवज्जो दी। अभय चौटाला ने राज्य मंत्री घनश्यास सर्राफ पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि भिवानी में आगजनी की रणनीति घनश्याम सर्राफ के घर तैयार की गई। लेकिन इनेलो ने हमेशा शांति व भाईचारा बनाए रखा।
  वहीं मीडिया से बातचीत में अभय चौटाला ने बसों के बढे किराये को गरीब की जेब पर डाका बताया और कहा कि ये सरकार गरीबों की नहीं बल्कि पूंजीपतियों की है और इसलिए कभी किराया, कभी तेल तो कभी बिजली के दाम बढाए जा रहे है। वहीं उन्होंने बुढापा पेंशन पर रखी शर्तों पर कहा कि बुढों की पेंशन कटी तो बुढे सरकार का ठीक से इलाज कर देंगे। वहीं सरकारी नौकरी के दौरान भर्तीयों में हो रही परेशानियों पर कहा कि इस सरकार से प्रदेश को छुटकारा दिलाने का काम एक दिन युवा वर्ग करेगा। इस अवसर पर विधायक राजदीप फोगाट, सुनील लाम्बा, बलदेव घनघस, निर्मला सर्राफ, हलकाध्यक्ष कुलवंत कोटिया, सुधीर सरपंच, जितेंद्र शर्मा मनमोहन भुरटाना, राजू मेहरा,  शालू बामला, सुबेदार राजेंद्र ढाणा, मीर सिंह निमड़ी, सुखबीर जैन, सुखबीर सरपंच, सूरजमल फौजी, बलवान ग्रेवाल, चंद्र खाती, जगदीश जोगी, पंडि़त जयभगवान, संदीप ग्रेवाल, अमर सुनार, सत्तू सुनार, सुबे सरपंच, चंद्र नम्बरदार, बंटी मानहेरू, बलबीर गे्रवाल, पार्षद अनिल काटपालिया, कमलजीत यादव, दिलबाग चेयरमैन, एडवोकेट ईश्वर पूनिया, रामकला सिहाग, राजबीर सैन, हवा सिंह बामला, अमर सिंह सोनी, उमेद सिंह, सुशील बामल, बबलू कोटिया, सुबेदार इकबाल सिंह, उमेद गौरीपुर, रामानंद यादव, रिसाला सरपंच, रामबीर झरवाई, कुलदीप कोंट सहित अनेक गणमान्य लोग मौजूद थे। 


भाजपा ने तो बुजुर्गों को भी नहीं बख्शा :दुष्यंत चौटाला


भिवानी। डा. भीम राव अम्बेडकऱ की 125वीं जयंती के अवसर पर आयोजित सदभावना सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए इनेलो संसदीय दल के नेता दुष्यंत चौटाला ने कहा कि बाबा साहेब डा. भीम राव अम्बेडऱ व जननायक चौधरी देवी लाल की सोच एक रही है। भले ही दोनों ने अलग-अलग रास्ते अपनाए हो लेकिन दोनों महापुरूषोँ का मकसद गरीब, दलित, पिछड़ों व किसानों को उपर उठाने का था। वहीं आज की भाजपा सरकार ने जात-पात की राजनीति कर गांव व देहात के भाईचारें को आपस में बांटने का काम किया है, लेकिन वह सफल नहीं हो सकी। हरियाणा प्रदेश के लोगों का आपसी भाईचारा देश भर मेें प्रसिद्ध है। इसलिए इनेलो सदा भाईचारे के पक्ष में रहा है आरक्षण की आड़ में लगाए गए इस आग को हरियाणा प्रदेश के लोग आपसी प्यार व प्रेम से दूर करे। इनेलो सांसद आज लोहारू हलके के गांव बिधनोई में आयोजित सदभावना सम्मेलन को मुख्यातिथि के तौर पर सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भाजपा हमेशा पूंजीपतियों की सरकार रही है। इसलिए पूंजीपतियों के हित शामिल करती है। इनेलो सर्व कर्मचारी संघ का समर्थन करते हुए खुला समर्थन कर उनके साथ है। दुष्यंत ने कहा कि प्रदेश की सुबह बिजली कर्मचारियेां के प्रदर्शन, रोड़वेज कर्मचारियों के धरने, बिजली पानी के लिए व्याकुल आम जनता विरोध प्रदर्शन से शुरू होती है। हरियाणा में विकास के नाम पर खोखले वायदे करने वाली भाजपा सरकार ने अब तो बुजुर्गों ने भी अपने लपेटे में ले लिया है तथा वृद्धावस्था पेंशन के लिए शर्ते लगाने पर विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार किसान विरोधी कार्य करने में नंबर वन रही है। सिवानी मंडी का उदाहरण देते हुुए सांसद ने कहा कि सिवानी मंडी के किसान पानी की मांग को लेकर जब धरने पर बैठे तो भाजपा की इस पूंजीपति सरकार ने किसानों को पानी देने की बजाए उन पर मुकद्दमे दर्ज करने का काम किया। उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार देना तो दूर की बात है अलबता उन्हें बेरोजगारी भत्ते के रूप में सात से नौ हजार रुपए की घोषणा भी हवा हो गई। आज एक सोची समझी रणनीति के तहत पुलिस भर्ती करवाकर गर्मी के इस भीषण मौसम में युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है। आज पुलिस भर्ती के दौरान गर्मी में दौडाने से आकस्मिक मृत्यु भी हो गई, जिसकी जिम्मेदार स्वंय सरकार है। सम्मेलन को संबोधित करते हुए इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि वृद्धावस्था पेंशन जननायक चौधरी देवीलाल द्वारा शुरू किया गया सम्मान है। यदि सरकार इन पर शर्तें लगाएगी तो इनेलो सडक़ों पर उतकर बुजुर्गों के सम्मान को बचाएगी। राज्य सभा चुनाव पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि जो लोग प्रजातंत्र का भददा  बनाकर राज्य सभा सदस्य बनाते हैं वह लोग आम जनता का क्या भला करेंगे। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं हरियाणा पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि सरकार अब तक श्वेत पत्र जारी करे कि उन्होंने लड़कियों क े लिए कितने स्कूल व कॉलेज खुलवाए हैं। उन्होंने कहा कि इन लोगों ने तो गीता जैसे महान ग्रंथ को ही नही बख्शा है। स्कूलों में गीता पढ़ाने का झूठा ढकोसला रचने वाली सरकार के पास तो आज अध्यापक तक नहीं है। सम्मेलन क ो इनेलो जिला अध्यक्ष सुनील लाम्बा, विधायक ओम प्रकाश बडवा, पूर्व विधायक धर्मपाल ओबरा, हलकाध्यक्ष गजेंद्र मण्ढ़ोली, राज सिंह गागड़वास, वजीर मान, विजय गोठड़ा, जय सिंह पातुवान, राम बहादुर सिंह, प्रकाश पंवार, पंडित रवि महमिया, सुरेंद्र राठी, नरेंद्र राज गागड़वास, प्रदीप बिधनोई, विशाल मतानी, पवन गोकुलपुरा, देवेंद्र नकीपुर, सुरेश शर्मा, नरेंद्र बिधवान, गौरव चंदेनी, ओम प्रकाश,्र अनिल गोकुलपुरा, दयानंद भारवास सहित अनेक गणमान्य लोग मौजूद थे। 
युवा बेरोजगारों की बेकद्री कर रही है बीजेपी सरकार- दुष्यन्त चौटाला


हिसार, 29 जून : मौजूदा प्रदेश भाजपा सरकार अपने पांच साल के कार्यकाल का एक तिहाई कार्यकाल पूरा कर चुकी है, परन्तु सरकार ने अब भी युवाओं की अनदेखी करते हुए उनकी बेकद्री की हुई है। यह बात इनेलो संसदीय दल के नेता व भारतीय संसद के सबसे युवा सांसद दुष्यन्त चौटाला ने कही। वे बुधवार को आजाद नगर हिसार में एक युवा कार्यकर्ता अनिल पूनिया के निवास स्थान पर युवाओं से प्रदेश में आज के मौजूदा हालातों पर चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनावों से पहले बीजेपी ने प्रदेश के युवाओं से बड़े बड़े वायदे किये थे। युवाओं को प्राथमिकता के आधार पर या तो सरकारी नोकरी या रोजगार के अन्य अवसर प्रदान करने की बात की गई थी। परन्तु सत्ता प्राप्त करने के बाद यह सरकार युवाओं को बिलकुल भूल चुकी है, सरकार की तरफ से न तो सरकारी नौकरियां दी जा रही है तथा न ही प्रदेश में किसी प्रकार की औद्योगिक इकाइयां लगवाने की तरफ ध्यान दिया जा रहा है। जिससे युवा अपने आप को काफी ठगा व कुंठित महसूस कर रहा है, जो कि प्रदेश के भविष्य के लिए अच्छे संकेत नही है। इनेलो सांसद ने सरकार से मांग की हैं कि या तो प्रदेश के युवाओं को रोजगार के साधन उपलब्ध करवाये अन्यथा अपने वायदे के अनुसार 6000 व 9000 रुपए मासिक बेरोजगारी भत्ता देने की व्यवस्था करे। अगर निकट भविष्य में सरकार ने युवाओं के लिए कोई ठोस नीति नहीं बनाई तो युवा इनेलो प्रदेश के युवाओं को साथ लेकर एक बड़ा जन आंदोलन करेगी। इस मौके पर जिला अध्यक्ष राजेन्द्र लितानी, विधायक रणवीर गंगवा, अनूप धानक, हल्का अध्यक्ष सतपाल सरपंच , राजेन्द्र चुटानी, युवा जिला अध्यक्ष अमित बुरा, मनोज नेहरा, परवीन ढांडा, अमित पूनिया, सोमबीर श्योराण, सेवा सिंह बेनीवाल, जगदीश पूनिया सहित बहुत से कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Tuesday, June 28, 2016

Privatisation of power distribution companies to benefit BJP Ministers, leaders: Dushyant Chautala


Hisar, 28 June: INLD Leader and Hisar MP Sh Dushyant Chautala has said that decision taken by the BJP-led Haryana government to privatise the 23 sub-divisions of the power distribution companies (DISCOMs) was to extend undue benefits to certain BJP ministers and leaders. Speaking to the mediapersons, Sh Dushyant argued that since the DISCOMs were operational with profit, there was no need for handing over them into private hands. "Five sub-divisions of Gurgaon generates 37 per cent revenue for the Dakshin Haryana Bijli Vitran Nigam (DHBVN). Likewise, the sub-divisions of Panipat brings in revenue of 17 per cent for the Uttar Haryana Bijli Vitran Nigam (UHBVN)", he pointed out. 
Sh Dushyant categorically said that it has come to light that so far the three sub-divisions given to the private companies are those having past history of running business in state of Gujrat and having close ties with the top BJP leadership. He claimed that in the coming time, the Haryana government would be giving the rest of the twenty sub-divisions into private hands to companies having share of the BJP ministers. Sh Dushyant also stated that tender amounting to a whopping Rs 500 cr work for Haryana State Power Corporation have been given to Shyam Indus, a firm owned by brother of Haryana Finance Minister Captain Abhimanyu, while adding, "Not just Rs 5-10 cr but Rs 500 cr tender being given to immediate family member of Haryana FM raises many questions."
बसों का किराया बढ़ाकर सरकार ने गरीब लोगों की जेब पर डाला डाका: अभय सिंह चौटाला


नलवा/तोशाम, 28 जून: कांग्रेसी विधायक कुलदीप बिश्नोई ने न केवल जाट आरक्षण का विरोध किया बल्कि हजकां प्रमुख रहते हुए सर्वदलीय बैठक में बिश्नोई समाज को आरक्षण दिए जाने का भी विरोध किया था। यह बात नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने नलवा हलके की गांव मंगाली में आयोजित सद्भावना सम्मेलन में कही। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकारों में भी आंदोलन हुए हैं परन्तु प्रदेश में ऐसी स्थिति कभी नहीं हुई जैसी कि पिछले दिनों हरियाणा में भाजपा के राज में हुई। उन्होंने सीधे-सीधे इसके लिए भाजपा को जिम्मेवार बताया। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में जो वायदे किए थे उन्हें पूरा करने की बजाय एक षड्यंत्र के तहत समाज के लोगों को आपस में लड़वा रही है ताकि उन मुद्दों से जनता का ध्यान भटकाया जा सके । उन्होंने कहा कि समाज के दो वर्गों को आपस में लड़वाने का भाजपा का इतिहास रहा है। उन्होंने गुजरात में दंगों में का उदाहरण देते हुए कहा कि हरियाणा में भाजपा ने समाज को बांटने का खेल खेला है। 

तोशाम में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा है कि प्रदेश सरकार गरीब लोगों की जेब पर डाका डालकर अपना खजाना भरना चाहती है। पहले बिजली तथा अब बसों का किराया बढ़ाकर सरकार ने यह साबित का दिया है कि इस सरकार में गरीबों के लिए कोई जगह नही है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार हमेशा पूंजीपतियों की सरकार रही है तथा सरकार द्वारा लिए गए हर फैसले में पूंजीपतियों का हित शामिल रहा है। उन्होंने कहा कि पहले बिजली के दामों में वृद्वि करके और अब गरीब लोगों की सवारी परिवहन बसों का भी किराया बढ़ा दिया है। इसका सीधा-सीधा असर आम व गरीब लोगों पर ही पड़ेगा।  इनेलो नेता ने कहा कि आम जनता के हितों का ख्याल रखते हुए सरकार को बसों का बढ़ा हुआ किराया वापिस लेना चाहिए। तोशाम के सद्भावना सम्मेलन में इनेलो जिलाध्यक्ष सुनील लाम्बा, कमला रानी, रविंद्र पटौदी, ऋषिपाल फौगाट, राजेन्द्र गांधी, जोगेन्द्र बागनवाला, अनूप सिंह बागनवाला, डा. जयबीर बूरा, पार्षद मनोज यादव, मित्रपाल चेयरमैन,  जैना शर्मा, बलवान पिटोदी, राजेश भारद्वाज, राजेंद्र सरपंच, रामकुमार सिहाग सहित काफी संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।


अभय सिंह चौटाला ने वोटों की खातिर आधा अधूरा आरक्षण देने के लिए भूपेंद्र सिंह हुड्डा की भी आलोचना की। उन्होंने कहा कि यदि भूपेंद्र सिंह हुड्डा की तात्कालिक सरकार ने सही तरीके से आरक्षण की लागू किया होता तो प्रदेश में ऐसे हालात पैदा नहीं होता। इस अवसर प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि मोदी ने पहली रैली में पूर्व सैंनिकों से वन पेंशन वन रैंक का वायदा किया था परन्तु अभी तक अपना वायदा पूरी तरह से नहीं निभाया। इसी प्रकार देश में काला धन वापस लाने सहित अनेक वायदे किए थे परन्तु मोदी सरकार ने एक भी वायदा पूरी तरह नहीं निभाया। 


सांसद दुष्यंत चौटाला ने मंगाली में सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा सरकार जनता को सुविधा देने की बजाय पहले से दी जा रही सुविधाओं मे कटौती कर रही है। उन्होने कहा कि जिस दिन भाजपा सरकार सत्ता में आई थी उसी दिन से बुढापा पेंशन में अडंगा डाल रही है। उन्होने पेंशन के लिए घर में 165 लीटर फ्रिज रखने वाली शर्त को बेतुकी बताते हुए कहा कि स्व. चौधरी देवीलाल ने बुढ़ापा पेंशन लागू करते समय केवल केवल 65 वर्ष की आयु की शर्त रखी थी। उन्होंने कहा कि नलवा हलके के 40 गांवों में पानी नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा कि गांव के हजारों लोगों को पीने का पानी दूर-दूर से लाना पड़ रहा है और सरकार पानी के लिए संघर्ष करने वाले 250 लोगों पर मुकद्दमे दर्ज पर कर रही है। उन्होंने कहा कि यदि जायज मांगों के लिए धरना देना गलत है तो मुझ पर भी सरकार मुकद्दमा दर्ज करे क्येांकि मैं भी किसानों के साथ धरने पर बैठा था। 
नलवा से विधायक रणबीर सिंह प्रजापत ने सम्मेलन पहुंचने पर अभय सिंह चौटाला, सांसद दुष्यंत चौटाला सहित इनेलो नेताओं का स्वागत किया। सम्मेलन में जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, हलका प्रधान सतपाल सरपंच, हलका प्रधान राजेंद्र चुटानी, होशियार सिंंघरान, दलबीर धीरणवास, छोटूराम प्रधान, मनोज नेहरा, विनोद ढांडा, सरजीत, किताब सिंह देंवा, सरजीत कालीरवणा, मनदीप बिश्नोई, अनूप धनखड़, ओमप्रकाश भेरियां, राजेश जाखड़, कुलदीप जांगड़ा, मोहित अरोड़ा आदि उपस्थित थे। 
एस्मा लगा कर मनोहर सरकार विद्रोह जैसे हालात साबित कर रही है: अभय चौटाला


हिसार, 28 जून: मनोहर लाल खट्टर सरकार हरियाणा में लोकतांत्रिक व्यवस्था को पूरी तरह से रौंदने में लगी हुई है और कर्मचारियों के हितों के लिए किए जा रहे संघर्ष को कुचलने के लिए एस्मा जैसे कानून का सहारा ले रही है। किसी भी जगह एस्मा बेकाबू हालातों अथवा विद्रोह की स्थिति से निपटने के लिए लगाया जाता है परन्तु खट्टर सरकार ने प्रदेश में सामान्य परिस्थितियों में भी एस्मा लागू कर तानाशाही रवैये का परिचय दिया है। यह आरोप विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने आज हिसार में पत्रकारों से बातचीत करते हुए लगाए। उन्होंने कहा कि सरकार को कर्मचारियों की समस्याओं का समाधान करने के लिए उनके साथ बातचीत करनी चाहिए। डीसी रेट पर भर्ती संबंधी सवाल के जवाब में अभय चौटाला ने कहा कि एडहॉक भर्ती के नाम पर प्रदेश के बेरोजगार युवकों की बजाय आरएसएस के लोगों की भर्ती करने जा रही है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि यदि सरकार ने कर्मचारियों की मांगे नहीं मानी तो इनेलो कर्मचारियों के आंदोलन में साथ देगी।
इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने हरियाणा सरकार द्वारा की जा रही पुलिस भर्ती प्रक्रिया पर भी सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश के युवकों की एक जिले में पुलिस भर्ती के लिए बुलवाना न्यायोचित नहीं है क्योंकि इतनी बड़ी संख्या में युवाओं द्वारा एक जगह एकत्रित होने से कुरुक्षेत्र में रहने-ठहरने व खाने की व्यवस्था चरमरा गई है। युवाओं और उनके साथ जाने वाले लोगों को फुटपाथ पर सोना पड़ रहा है। उन्होंने शारीरिक परीक्षा की प्रक्रिया पर भी सवाल खड़ा किया और कहा कि युवाओं को पांच किलोमीटर तक पक्के रोड पर दौड़ाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दौड़, कूद आदि से पहले युवाओं का शारीरिक मापतोल होना चाहिए। उन्होंने मांग कि पूरी भर्ती प्रक्रिया को रद्द कर एक जिले की बजाय हर जिला स्तर पर होनी चाहिए। ढींगरा आयोग संंबंधी सवाल के जवाब में अभय चौटाला ने कहा कि आयोग का गठन असंवैधानिक ढंग से किया गया है और इसकी रिपोर्ट को चुनौती दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि इस आयोग के गठन में भाजपा और कांग्रेस का गठबंधन उजागर हो गया है। भाजपा ने जनता की झूठी वाहवाही लूटने के लिए इंटरव्यू में 12 अंक कर दिए परन्तु जब इसमें भाजपा अपने चहेतों को भर्ती करने में असफल नजर आई तो लिखित परीक्षा के अंक बढ़ाते हुए इंटरव्यू 12 से बढ़ा कर 24 कर दिए और भविष्य में 36 भी कर सकती है। 
जीतने व हारने वाले धांधली की बात कर रहे हैं तो जांच क्यों नहीं...: इनेलो नेता ने कहा कि राज्यसभा चुनाव में हारने वाला उम्मीदवार आरके आंनद, जीतने वाला उम्मीदवार सुभाष चंद्र ने भी राज्यसभा चुनाव में धांधली की बात स्वीकारी है। इनेलो व कांग्रेस भी धांधली करने का आरोप लगा रही तो इसकी जांच तुरंत होनी चाहिए और इसमें आपराधिक मामला दर्ज होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जो परिस्थिति सामने आई हैं उससे जाहिर है कि सरकार ने लोकतंत्र का गला घोंटने का काम किया। चुनाव में पेन बदला गया और स्याही के नाम पर विधायकों के वोट कैंसिल किए गए। इस अवसर पर प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, सांसद दुष्यंत चौटाला, राजेंद्र लितानी, युद्धवीर सिंह आर्य, हलका अध्यक्ष सजन लावट, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, अमित बूरा, मोहित अरोड़ा भी उपस्थित थे।
सांसद दुष्यंत चौटाला ने इस अवसर पर बिजली उपमंडलों के निजीकरण संबंधी पत्रकारों के सवालों का जवाब देते कहा कि 23 सब डिवीजन निजी हाथों में दी जा रही हैं वो सभी लाभ की स्थिति में है। उन्होंने कहा कि इनमें से गुडग़ांव जिले की पांच सब-डिवीजन ऐसी हैं जो डीएचवीपीएन को 37 प्रतिशत राजस्व देती हैं। उन्होंने इस निजीकरण का खुलासा करते हुए कहा कि जिन कंपनी को यह ठेका दिया जा रहा है वे तीनों गुजरात हैं और उनका संबंध भाजपा के शीर्ष नेत््त्व से रहा है। उन्होंने कहा कि निगम की ट्रांसमिशन कंपनी में प्रदेश के वित्तमंत्री के भाई की कंपनी को 500 करोड़ का टेंडर दिया गया है। उन्होंने कहा कि यह सब वित्तमंत्री की सिफारिश पर किया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार सीधे-सीधे अपने मंत्रियों को लाभ पहुंचा रही है। उन्होंने कहा कि यह सीधे-सीधे भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत अपराध है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार साढ़े नौ रूपये प्रति यूनिट की दर से बिजली खरीद रही है जबकि प्रदेश के थर्मल यूनिट की लागत 3 रूपये 75 पैसे प्रति यूनिट आ रहा है। उन्होंने कहा कि यह सारा बोझ मनोहर खट्टर सरकार गरीब जनता की जेब पर सरजार्च के रूप में डाल रही है। युवा सांसद ने कहा कि यदि सरकार बिजली तंत्र को मजबूत करना चाहती है तो ऐसे उपमंडल का निजीकरण करो जिनकी रिकवरी केवल 20 से 30 प्रतिशत है ताकि जनता का भला हो सके। उन्होंने कहा कि इनेलो निजीकरण का पूरी तरह से विरोध करती है और यदि सरकार ने उनकी मांग नहीं मानी तो इनेलो कर्मचारियों के समर्थन में खुले रूप से खड़ी होगी।

भाजपा के राज में महंगाई का दर्द कांग्रेस के राज से कम नही-प्रदीप चौधरी

पंचकूला, 28 जून : इंडियन नैशनल लोकदल के पूर्व विधायक एवं जिलाध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने राज्य सरकार द्धारा बसों के किराए में की गई 12 फीसदी की वृद्धि की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए बढ़ी हुई कीमतें वापिस लेने की मांग की। पूर्व विधायक ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सरकार तो चुनावों में कांग्रेस द्धारा बढ़ाई गई महंगाई खत्म करके आम जनता को राहत देने की बातें करती थी। आज पता नही भाजपा को क्या हो गया है, वो भी कांग्रेस के रास्तें पर चलकर महंगाई को बेलगाम को जमकर बढ़ा रही है। आम लोगों से सब्जियां, खाद्य सामग्री और दैनिक जीवन के प्रयोग में आने वाली हर चीज महंगी होती जा रही है, लेकिन सरकार लोगों को महंगाई से राहत देने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही है, बल्कि आम जनता पर आर्थिक बोझ लादती जा रही है, जो सरासर गलत है। चौधरी ने कहा कि भाजपा के राज से हर वर्ग दुखी है। जेबीटी टीचरों को ज्वाइनिंग लैटर नही मिल रहे है और 2600 कम्पयूटर टीचरों का अनुबंध खत्म होने के बाद अब सरकारी स्कूलों में कम्पयूटर की शिक्षा प्रभावित होगी। सरकार सरकारी स्कूलों का रिजल्ट सुधारने के लिए कोई ठोस नीति नही ला रही है, हर बार रिजल्ट खराब होने के बाद अपनी कमियों के साथ-साथ शिक्षा विभाग की कमियों को दबाने का काम कर रही है। चौधरी ने कहा कि बिजली विभाग की 23 सब डिविजनों का निजीकरण करके तानाशाही रवैया अपनाए हुए है और जब कर्मचारियों ने अपने हकों के लिए आवाज उठाई तो एस्मा लागू कर दिया। प्रदीप चौधरी ने मांग करते हुए कहा कि सरकार लोगों को महंगाई से राहत दिलाने का काम करें, ताकि लोगों का जीवन प्रभावित न हो। 

Monday, June 27, 2016


भाजपा सरकार ने प्रदेश में आपसी भाईचारा खत्म करने का प्रयास किया - अभय सिंह चौटाला 


सिरसा 27 जून: ऐलनाबाद के विधायक एंव नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान भाजपा सरकार ने प्रदेश में आपसी भाईचारा समाप्त करने का प्रयास किया है, इसके  मदे्नजर इनेलो ने प्रदेश के सभी 90 हल्को में सद्भावाना सम्मेलन करने का फैसला किया है ताकि प्रदेश में पुन भाईचारा कायम किया जा सके । ये सद्भावना सम्मेलन शांतिदूत संविधान निर्माता डा० भीमराव अम्बेडकर को उनके 125 वें जन्मदिवस क ो समर्पित होगें। चौटाला आज हलका कांलावाली के कस्बा रोड़ी में सद्भावना सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा ने हमेशा ही जात-पात की राजनीति करते हुए जनता को आपस में लड़वाने का काम किया है। 


भाजपा पर हमला बोलते हुए नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि चुनावों के दौरान भाजपा ने जो वायदे जनता से किये थे वह उन से विमुख हो गई है तथा विकास करने कि बजाय औच्छे हथकंडे अपना कर अपने विरोधियों को दबाने पर लगी हुई है। इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा सरकार वास्तव में जाटों को आरक्षण देने के पक्ष में नही है। उन्होंने सरकार को चेताते हुए कहा कि इनेलो चौ०देवीलाल द्वारा आरम्भ कि गई वृदों की पैंशन क ो बन्द नही होने देगी चाहे इसके लिए प्रदर्शन और धरने भी क्यों ना करने पड़े। उन्होंने प्रदेश में बिजली संकट का मुद्धा उठाने हुए कहा कि किसानों को प्रचुरमात्रा में बिजली ना मिलने के  कारण उनकी फसलें सुखी जा रही है। सम्मेलन के पश्चात पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि राज्यसभा सदस्य सुभाष चन्द्रा ने उन पर विधानसभा परिसर में बद्तमीजी के जो आरोप लगाए है वह सरासर झुठे है और वह उनके विरूद मानहानी का दावा करेगें। एक  प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि राज्यसभा चुनाव भाजपा ने भ्रष्ट तरीके से जीतकर प्रजातंत्र के साथ भद्धा मजाक किया है। उन्होंने राज्यसभा चुनाव में भाजपा व काग्रेंस की मिली भगत का भी पुन: आरोप लगाया। प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा भाजपा क ी बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं अभियान पर सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार बताए कि उसने अब तक  लड़कियों के कितने स्कू ल व कालेज बनावाए है। प्रदेश में स्कूलों में गीता पढ़ाने पर कटाक्ष करते हुए अरोड़ा ने कहा कि स्कूलों में बच्चों को पढ़ाने हेतु अध्यापक ही नही है तो गीता कौन पढ़ायगा। कार्यक्रम का मंच संचालन जसवीर जस्सा ने किया जबकि सम्मेलन में इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन,सांसद चरणजीत रोड़ी, विधायक रामचंद्र कम्बोज, बलकौर सिंह वरिष्ठ उपप्रधान जसवीर जस्सा,शेर सिंह रोड़ी, हलका अध्यक्ष विनोद दड़बी, सुभाष नैंन, युवा अध्यक्ष धर्मवीर नैन, कश्मीर करीवाला, डा०हरि सिंह भारी, डा०राधेश्याम शर्मा, महंत बलदेव दास, भगवान कोटली सहित काफी संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।


आदमपुर हलके के बालसमंद में हुए सम्मेलन में चौधरी अभय सिंह चौटाला, अशोक अरोड़ा, इनेलो संसदीय दल के नेता दुष्यंत चौटाला के अलाव विधायक रणबीर गंगवा, राजेंद्र लितानी, शीला भ्यान, राजेश गोदारा, भागीरथ नंबरदार, रामप्रसाद गढ़वाल, पूर्व चेयरमैन हनुमान बिश्नोई, श्रवण बिश्नोई, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, बहादुर सिंह नायक, रमेश गोदारा व कृष्णा भट्टी के अलावा अनेक नेता मौजूद थे।


सांसद दुष्यंत चौटाला ने सरकार पर उनके चहेतों को फायदा पहुंचाने के लिए लाभ में चल रहे बिजली निगमों के उपमंडलों को निजी हाथों में सौंपने और कर्मचारियों को प्रताडि़त करने के लिए एस्मा लगाने की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि सरकार हर मोर्चे पर विफल हो गई है और समाज का हर वर्ग सरकार से बेहद नाराज और परेशान है।


फतेहाबाद जिले के हलका रतिया के गांव नागपुर में सद्भावना सम्मेलन को संबोधित करते हुए इनेलो नेता ने कहा डा0 भीमराव अम्बेडकर की झलक, चौ0 देवीलाल में साफ  दिखाई देती थी क्योकि ताऊ देवी लाल ने भी लोगो को न्याय दिलवाने के लिए जनता के हक की लड़ाई लड़ी है। इनेलो पार्टी चौ0 देवीलाल के आदर्शो पर जनता के हितों की लड़ाई लड़ती रहेगी। प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने भाजपा को दोगले चेहरे वाली पार्टी बताते हुए कहा कि भाजपा दोनों तरफ से प्रहार करती है, जिस प्रकार से किसान को लूटने का काम किया किसान की फसल औने पौने दामों पर बेचनी पड़ी, कर्मचारी, व्यापारी व मजदूर की हालत दयनीय है। मजदूर को रोटी के लाले पड़ रहे हैं। प्रदेश प्रवक्ता सरदार निशान सिंह ने भी फतेहाबाद जिला की समस्याओ को रखते हुए भाजपा को आड़े हाथो लिया। विधायक रतिया प्रो. रविंदर बलियाला ने भी अपने सम्बोधन में आये हुए अतिथियों का स्वागत किया। इनेलो जिलाध्यक्ष बलविंदर कैरो, विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया, कुलजीत कुलडिय़ा, हरी सिंह मेहरिया, बिकर सिंह हडौली, हरबंस खन्ना, पवन चुघ, बलदेव दरियापुर, यजिवंदर रिम्पल, राज कुमार मित्तल, सरदार गुरलाल सिंह कामरेड, अजमेर सिंह, हरी सिंह हडौली, देशराज बुत्ता, जितेंदर अग्रवाल, सतीश सरदाना, पवन ढाका, रना झोल विकास मेहता, दीपेंदर हैप्पी, अजय संधू, राहुल नागपुर, मनजोत बोला, सोहन सिंह हडोली, बूटा सिंह चंदो कलां, राम चंदर पालसर, रमेश लाली सहित अनेक नेता मौजूद थे।


भाजपा सरकार ने प्रदेश में आपसी भाईचारा खत्म करने का प्रयास किया - अभय सिंह चौटाला 


सिरसा 27 जून: ऐलनाबाद के विधायक एंव नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान भाजपा सरकार ने प्रदेश में आपसी भाईचारा समाप्त करने का प्रयास किया है, इसके  मदे्नजर इनेलो ने प्रदेश के सभी 90 हल्को में सद्भावाना सम्मेलन करने का फैसला किया है ताकि प्रदेश में पुन भाईचारा कायम किया जा सके । ये सद्भावना सम्मेलन शांतिदूत संविधान निर्माता डा० भीमराव अम्बेडकर को उनके 125 वें जन्मदिवस क ो समर्पित होगें। चौटाला आज हलका कांलावाली के कस्बा रोड़ी में सद्भावना सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा ने हमेशा ही जात-पात की राजनीति करते हुए जनता को आपस में लड़वाने का काम किया है। 


भाजपा पर हमला बोलते हुए नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि चुनावों के दौरान भाजपा ने जो वायदे जनता से किये थे वह उन से विमुख हो गई है तथा विकास करने कि बजाय औच्छे हथकंडे अपना कर अपने विरोधियों को दबाने पर लगी हुई है। इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा सरकार वास्तव में जाटों को आरक्षण देने के पक्ष में नही है। उन्होंने सरकार को चेताते हुए कहा कि इनेलो चौ०देवीलाल द्वारा आरम्भ कि गई वृदों की पैंशन क ो बन्द नही होने देगी चाहे इसके लिए प्रदर्शन और धरने भी क्यों ना करने पड़े। उन्होंने प्रदेश में बिजली संकट का मुद्धा उठाने हुए कहा कि किसानों को प्रचुरमात्रा में बिजली ना मिलने के  कारण उनकी फसलें सुखी जा रही है। सम्मेलन के पश्चात पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि राज्यसभा सदस्य सुभाष चन्द्रा ने उन पर विधानसभा परिसर में बद्तमीजी के जो आरोप लगाए है वह सरासर झुठे है और वह उनके विरूद मानहानी का दावा करेगें। एक  प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि राज्यसभा चुनाव भाजपा ने भ्रष्ट तरीके से जीतकर प्रजातंत्र के साथ भद्धा मजाक किया है। उन्होंने राज्यसभा चुनाव में भाजपा व काग्रेंस की मिली भगत का भी पुन: आरोप लगाया। प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा भाजपा क ी बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं अभियान पर सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार बताए कि उसने अब तक  लड़कियों के कितने स्कू ल व कालेज बनावाए है। प्रदेश में स्कूलों में गीता पढ़ाने पर कटाक्ष करते हुए अरोड़ा ने कहा कि स्कूलों में बच्चों को पढ़ाने हेतु अध्यापक ही नही है तो गीता कौन पढ़ायगा। कार्यक्रम का मंच संचालन जसवीर जस्सा ने किया जबकि सम्मेलन में इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन,सांसद चरणजीत रोड़ी, विधायक रामचंद्र कम्बोज, बलकौर सिंह वरिष्ठ उपप्रधान जसवीर जस्सा,शेर सिंह रोड़ी, हलका अध्यक्ष विनोद दड़बी, सुभाष नैंन, युवा अध्यक्ष धर्मवीर नैन, कश्मीर करीवाला, डा०हरि सिंह भारी, डा०राधेश्याम शर्मा, महंत बलदेव दास, भगवान कोटली सहित काफी संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।


आदमपुर हलके के बालसमंद में हुए सम्मेलन में चौधरी अभय सिंह चौटाला, अशोक अरोड़ा, इनेलो संसदीय दल के नेता दुष्यंत चौटाला के अलाव विधायक रणबीर गंगवा, राजेंद्र लितानी, शीला भ्यान, राजेश गोदारा, भागीरथ नंबरदार, रामप्रसाद गढ़वाल, पूर्व चेयरमैन हनुमान बिश्नोई, श्रवण बिश्नोई, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, बहादुर सिंह नायक, रमेश गोदारा व कृष्णा भट्टी के अलावा अनेक नेता मौजूद थे।


सांसद दुष्यंत चौटाला ने सरकार पर उनके चहेतों को फायदा पहुंचाने के लिए लाभ में चल रहे बिजली निगमों के उपमंडलों को निजी हाथों में सौंपने और कर्मचारियों को प्रताडि़त करने के लिए एस्मा लगाने की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि सरकार हर मोर्चे पर विफल हो गई है और समाज का हर वर्ग सरकार से बेहद नाराज और परेशान है।


फतेहाबाद जिले के हलका रतिया के गांव नागपुर में सद्भावना सम्मेलन को संबोधित करते हुए इनेलो नेता ने कहा डा0 भीमराव अम्बेडकर की झलक, चौ0 देवीलाल में साफ  दिखाई देती थी क्योकि ताऊ देवी लाल ने भी लोगो को न्याय दिलवाने के लिए जनता के हक की लड़ाई लड़ी है। इनेलो पार्टी चौ0 देवीलाल के आदर्शो पर जनता के हितों की लड़ाई लड़ती रहेगी। प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने भाजपा को दोगले चेहरे वाली पार्टी बताते हुए कहा कि भाजपा दोनों तरफ से प्रहार करती है, जिस प्रकार से किसान को लूटने का काम किया किसान की फसल औने पौने दामों पर बेचनी पड़ी, कर्मचारी, व्यापारी व मजदूर की हालत दयनीय है। मजदूर को रोटी के लाले पड़ रहे हैं। प्रदेश प्रवक्ता सरदार निशान सिंह ने भी फतेहाबाद जिला की समस्याओ को रखते हुए भाजपा को आड़े हाथो लिया। विधायक रतिया प्रो. रविंदर बलियाला ने भी अपने सम्बोधन में आये हुए अतिथियों का स्वागत किया। इनेलो जिलाध्यक्ष बलविंदर कैरो, विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया, कुलजीत कुलडिय़ा, हरी सिंह मेहरिया, बिकर सिंह हडौली, हरबंस खन्ना, पवन चुघ, बलदेव दरियापुर, यजिवंदर रिम्पल, राज कुमार मित्तल, सरदार गुरलाल सिंह कामरेड, अजमेर सिंह, हरी सिंह हडौली, देशराज बुत्ता, जितेंदर अग्रवाल, सतीश सरदाना, पवन ढाका, रना झोल विकास मेहता, दीपेंदर हैप्पी, अजय संधू, राहुल नागपुर, मनजोत बोला, सोहन सिंह हडोली, बूटा सिंह चंदो कलां, राम चंदर पालसर, रमेश लाली सहित अनेक नेता मौजूद थे।

इनेलो के 27 जून से शुरू हो रहे सद्भवाना सम्मेलनों के लिए व्यापक स्तर पर तैयारियां शुरू


चंडीगढ़, 26 जून: इनेलो की ओर से प्रदेश भर में 27 जून से शुरू हो रहे सद्भवाना सम्मेलनों के दूसरे चरण के लिए व्यापक स्तर पर तैयारियां शुरू हो गई हैं और इन सम्मेलनों के प्रति कार्यकत्ताओं में भारी उत्साह पाया जा रहा है। ये सम्मेलन बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की जन्म शताब्दी को समर्पित होंगें और प्रदेशवासियों से आपसी पे्रम-प्यार और भाईचारा बनाए रखने की अपील की जाएगी। इन सम्मेलनों को नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा के अलावा पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता भी सम्बोधित करेंगे।
27 जून को सिरसा जिला के कालांवाली, फतेहाबाद जिला के रतिया और हिसार जिला के आदमपुर विधानसभा क्षेत्र में सम्मेलन आयोजित किए जाएंगें। 28 जून को हिसार जिले के नलवा और भिवानी जिले के तोशाम व भिवानी जिले में सम्मेलन आयोजित होंगें। 29 जून को भिवानी जिले के लोहारू, महेंद्रगढ़ व रेवाड़ी, 30 जून को सोनीपत जिले के खरखोदा व झज्जर जिले के बादली हलके में, 2 जुलाई को महेंद्रगढ़ जिले के नांगलचौधरी व नारनौल और भिवानी जिले के बाढड़ा में, 3 जुलाई को भिवानी जिले के बवानीखेड़ा और झज्जर जिले के बेरी, 4 जुलाई को सोनीपत जिले के गन्नौर, करनाल जिले के घरौंडा में सद्भावना सम्मेलन आयोजित होंगें। 
इसी सिलसिले में सिरसा जिला कार्यालय में कालांवाली हल्के के इनेलो कार्यकत्ताओं की मींटिग नेता प्रतिपक्ष चौ० अभय सिंह चौटाला ने ली और रोड़ी में 27 जून को होने वाले सद्भवाना सम्मेलन हेतु जरूरी दिशा निर्देश दिये। इस अवसर पर बोलते हुए नेता प्रतिपक्ष ने कार्यकर्ताओं क ो आहवान किया की बाबा साहब भीम राव अम्बेडक़र क ी जयंती के अवसर पर 27 जून के सद्भावना सम्मेलन में सभी 36 बिरादरी के लोगों के साथ पहुंचे व आपसी भाईचारे क ो मजबूती से प्रदर्शित क रंे। इस अवसर पर इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, कालांवाली से विधायक बलकौर सिंह, पूर्व मंत्री भागीराम, वरिष्ठ जिलाउपाध्यक्ष जस्वीर जस्सा व जिला प्रधान महासचिव कश्मीर करीवाला सहित पार्टी के अनेक नेता मौजूद थे।
इनेलो के सद्भावना सम्मेलन 27 व 28 को हिसार जिले के हलके आदमपुर व नलवा में होगें और इन सम्मेलनों नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला, सांसद दुष्यंत चौटाला व प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा शिरकत करेंगे। इनेलो जिला हिसार प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्नोई ने बताया कि डॉ भीम राव अम्बेडकर की जयंती पर पूरे प्रदेश में हलका स्तरीय सम्मेलनों की कड़ी में सोमवार व मंगलवार को जिले के हलके आदमपुर व नलवा में ये सद्भावना सम्मेलन सोमवार व मंगलवार को आयोजित किये जाएंगे। इनेलो जिला प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्नोई ने यह जानकारी देते हुए बताया कि आदमपुर हल्के के गांव बालसमन्द में सोमवार को शाम 4 बजे व नलवा हलके के गांव मंगाली में मंगलवार को सुबह 10 बजे आयोजित होने वाले इन सम्मेलनों के लिए व्यापक स्तर पर तैयारियां शुरू हो गई हैं और इन सम्मेलनों के प्रति कार्यकत्ताओं में भारी उत्साह पाया जा रहा है। इन सम्मेलनों को नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला, सांसद दुष्यन्त चौटाला व प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा सहित पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता भी सम्बोधित करेंगे।
दुष्यंत चौटाला ने कहा-हरियाणा सरकार की दोगली नीति, गौचरण भूमि पर सरकार करवा रही है कब्जा


सोनीपत, 25 जून: सोनीपत जिले के राई हलके के गांव दीपालपुर में गोचरण भूमि पर सरकारी कब्जे के खिलाफ धरने पर बैठे लोगों का सांसद दुष्यंत चौटाला ने समर्थन किया है। वे धरना स्थल पर पहुंचे और अपना समर्थन व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि इनेलो पार्टी गांववासियों के मांगों का समर्थन करती है और पूरी तरह से उनके साथ है। उन्होंने ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि हरियाणा में खट्टर सरकार दोहरी नीति अपना रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने देश भर में गायों को बचाने, उनके सरंक्षण के लिए बड़े स्तर पर अभियान छेड़ा हुआ है और गो सेेवा आयोग का गठन किया है। भाजपा सरकार के लोग एक ओर तो गाय की पूजा की बात करते वहीं दूसरी ओर गांवों में छोड़ी गई गोरचरण भूमि का अधिग्रहण करके मनोहर सरकार उसे नीलाम करना चाहती है। 
दुष्यंत चौटाला कहा कि गांव दीपालपुर गांव में गोचरण की करीब 200 एकड़ भूमि है और सरकार नगर निगम के बहाने इसे अपने कब्जे में लेकर नीलाम करने जा रही है। यह सरकार की दोगली नीति का जीता जागता उदाहरण है। उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा ठीक नहीं है और विकास के नाम गोचरण भूमि को समाप्त करने की सरकार की यह सोची समझी चाल है। उन्होंने कहा कि सरकार स्पष्ट करे कि क्या गोचरण भूमि को समाप्त किए बिना विकास नहींं हो सकता? उन्होंने कहा कि यदि सरकार को विकास के लिए जमीन चाहिए तो अन्य स्थानों पर हजारों एकड़ भूमि है, उस पर चाहे जीतना विकास कर ले। उन्होंने कहा कि सरकार को गोरचण भूमि पर कब्जा की जिद्द छोड़ देनी चाहिए। धरने पर उनके साथ इनेलो के जिला प्रधान पदम सिंह दहिया, अजीत अंतिल, समित, कुणाल गहलावत, रविंद्र सफियाबाद, सुधीर धनखड़, प्रदीप बड़वासनी, मोनू शर्मा, जितेंद्र वर्मा, प्रतीक त्यागी भी थे। 
राज्यसभा चुनाव धांधली की साजिश को इनेलो नेताओं व आनंद ने चुनाव आयोग के समक्ष किया उजागर

चंडीगढ़, 25 जून: राज्यसभा चुनाव में हुई धांधली को लेकर इनेलो की शिकायत पर चुनाव आयोग द्वारा आज हुई सुनवाई दौरान इनेलो नेताओं ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि ये जो साजिश हुई है ये साजिश केवलमात्र आरके आनंद खिलाफ ही नहीं बल्कि सीधे सीधे चुनाव आयोग के खिलाफ साजिश की गई है। आज चुनाव आयोग द्वारा की गई सुनवाई में इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोडा, पूर्व सीपीएस रामपाल माजरा व इनेलो समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी रहे आरके आनंद ने भी हिस्सा लिया और परत-दर-परत पूरी साजिश का खुलासा किया। इनेलो नेताओं ने कहा कि यह साजिश देश के प्रजातांत्रिक प्रणाली पर भी सवालिया निशान है और आरओ नियुक्त करने से लेकर  पूरी चुनावी प्रक्रिया चुनाव आयोग की देखरेख में होती है, इसलिए ना सिर्फ इस साजिश को बेनकाब किया जाए बल्कि चुनाव को रद् किया जाए।
आरके आनंद ने खुलासा किया कि किस तरह से पूरी साजिश रची गई और आरओ आरके नांदल और एआरओ सुभाष शर्मा की इस चुनावी प्रक्रिया के दौरान सुभाष चंद्रा के चुनाव एजेंट वीरेंद्र मोहन के साथ करीब सौ बार से भी ज्यादा मोबाइल फोन, लैंडलाइन व घर के फोन से विस्तृत बातचीत हुई और पूरी साजिश को चुनावी अमले के साथ मिलीभगत कर अंजाम दिया गया। इनेलो नेताओं ने कहा कि चुनाव आयोग के निर्देशानुसार प्रत्येक विधायक को मतपत्र व पेन देने की जिम्मेवारी आरओ की होती है और दोनों चीजें एक साथ दी जाती हैं, लेकिन आरओ ने बेलेट पेपर के साथ में पैन नहीं दिया बल्कि पैन वहां रखवा दिया ताकि इसकी आड में पूरी साजिश को अंजाम दिया जा सके। पहले असीम गोयल ने असली पैन उठाकर वहां दूसरी स्याही वाला पैन रखने का काम किया और बाद में जयप्रकाश ने असीम गोयल द्वारा रखा गया पैन उठाकर फिर से पहले वाला पैन रख दिया जिसके चलते असीम गोयल व जयप्रकाश के बीच में पड़े कुल 13 मत अलग स्याही से होने के नाम पर रद् कर दिये गए।     
आरके आनंद के चुनाव एजेंट रहे व पूर्व सीपीएस रामपाल माजरा ने कहा कि जब शुरूआती दस वोटों के दौरान ही एक और पैन मिलने की बात सामने आ गई थी, तो उसका उल्लेख चुनावी प्रक्रिया के दस्तावेजों में क्यों नहीं किया गया और बाद में वे पैन कहां गया, इस बात का भी चुनाव अधिकारी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सके। इनेलो नेताओं ने कहा कि यह पूरी साजिश प्रजातंत्र पर एक काला धब्बा है क्योंकि आज तक किसी भी चुनावी प्रक्रिया के दौरान एक-डेढ़ प्रतिशत से ज्यादा वोट रद् नहीं हुए और इस चुनाव में जहां वोट डालने वाले विधायक कईं-कईं बार चुनाव जीतने के अलावा सांसद, विधायक, मंत्री, स्पीकर व मुख्यमंत्री जैसे अहम पदों पर रह चुके हैं, तो उनके पंद्रह फीसदी वोट रद् होना अपने आप में कई सवाल खड़े करता है। इनेलो नेताओं ने कहा कि चुनावी प्रक्रिया के दौरान जय प्रकाश का यह कहना है कि पैन बदला गया है और भाजपा समर्थित प्रत्याशी सुभाष चंद्रा द्वारा मोबाइल फोन की बैटरी की रोशनी से एक एक वोट की स्याही को देखना अपने आप में सवाल खड़े करता है कि सुभाष चंद्रा को कैसे पता था कि अलग स्याही वाले पैन का इस्तेमाल हुआ है। 
सुनवाई के दौरान मतदान की प्रक्रिया का वीडियो फुटेज के भी वे अंश चलाकर दिखाये गए जिसमें असीम गोयल और जयप्रकाश द्वारा मतदान के लिए अन्य विधायकों से कहीं ज्यादा समय लेने  के साथ-साथ यह बात भी नजर आती है कि असीम गोयल इतना समय लगाकर जब वापस आते हुए चुनाव अधिकारियों को हाथ जोडक़र अभिवादन करना और सामने से चुनाव अधिकारी का गर्दन हिलाकर जवाबी इशारा करना दोनो के बीच इशारों में एक तरह से ये बात कही गई है कि पैन बदलने वाला काम हो गया है। आरके आनंद व इनेलो नेताओं ने  कहा कि इस पूरे षडयंत्र में सुभाष चंद्रा, असीम गोयल, जयप्रकाश के अलावा चुनावी प्रक्रिया से जुड़े हुए अधिकारी भी शामिल हैं। आरके आानंद व इनेलो नेताओं के द्वारा उठाये सवालों पर चुनाव अधिकारियों द्वारा कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दिये जाने पर इन सभी आरोपों की अपने आप पुष्टि होते हुए नजर आती है। इनेलो नेताओं ने कहा कि आरके आनंद के पक्ष में मतदान करने वाले इनेलो के 18 वकांग्रेस के दस विधायकों सहित कुल 28 विधायक अब तक अपने शपथ पत्र उन्हें सौंप चुके हैं। आरके आनंद व इनेलो नेताओं ने इस पूरे षडयंत्र और धांधली को लेकर अन्य तथ्य भी मुख्य निर्वाचन अधिकारी के समक्ष रखे और चुनाव आयोग की विश्वसनीयता  व लोगों का भरोसा चुनावी प्रक्रिया में कायम रखने के लिए इस चुनाव को तुरंत रद् किये जाने की मांग की।

Friday, June 24, 2016

सांसद दुष्यंत चौटाला बिजली सब डिवीजनों के निजीकरण के विरोध में कर्मचारियों की मांगों का किया समर्थन, मुख्यमंत्री को लिखा पत्र


हिसार, 25 जून : इनेलो सांसद दुष्यन्त चौटाला ने बिजली विभाग की 23 सब डिवीजनों के निजीकरण का कड़ा विरोध करते हुए कर्मचारियों की मांगो का समर्थन किया है। इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर इस निजीकरण को रद्द किये जाने की मांग की है। उन्होंने सरकार द्वारा किये जा रहे 23 सब डिवीजनों के निजीकरण का पुरजोर विरोध करते हुए कहा कि सरकार ने जिन 23 सब डिवीजनों का निजीकरण करने का फैसला किया है, वे सब तो अच्छा लाभ दे रही है। उन्होंने सरकार की मंशा पर शंका जाहिर करते हुए कहा कि इस फैसले के पीछे सरकार के कुछ मंत्रियों के निजी हित भी हो सकते है क्यों कि जिन कम्पनियो को इन सब डिवीजनों को सौंपा जायेगा उनमे सरकार के मंत्रियों की हिस्सेदारी भी हो सकती है। इनेलो सांसद ने सरकार द्वारा निजीकरण के पक्ष में उपभोक्ता को बेहतर सर्विस देने के तर्क पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि भूतकाल में भी सरकार द्वारा किये गए निजीकरण के कोई सार्थक परिणाम नही आये। क्योंकि निजीकरण किये जाने पर निजी कम्पनियां तो केवल अपने लाभ को देखेगी, उन्हें आम जनता व कर्मचारियों से कोई सरोकार नहीं होगा। जिससे आम जनता के साथ साथ कर्मचारियों पर भी इसका विपरीत असर पड़ेगा। इनेलो सांसद चौटाला ने कहा कि अगर सरकार को निजीकरण करना ही है तो पहले इसके लिए एक पारदर्शिता पूर्ण नीति बनाये उसके बाद उन डिवीजनों व विभागों का निजीकरण करे जो ज्यादा घाटे में चल रहे है। पत्र के माध्यम से उन्होंने मुख्यमंत्री से आम जनता व कर्मचारियों के हितों को ध्यान में रखते हुए इसे तुरन्त प्रभाव से रद्द करने की माँग की है। साथ ही साथ उन्होंने सरकार द्वारा एस्मा लगाये जाने पर भी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बीजेपी ने अपने संकल्प पत्र रूपी चुनावी घोषणा पत्र में कर्मचारियों से दर्जनों लोक लुभावने वायदे किये थे परन्तु सत्ता में आने के बाद बीजेपी इन वायदों को पूर्ण रूप से भूल चुकी है। बीजेपी सरकार बनने के बाद से प्रदेश के अध्यापक, रोडवेज के कर्मचारियों व बिजली कर्मचारियों सहित हर विभाग के कर्मचारी अपनी जायज मांगो के लिए संघर्षरत है। परन्तु सरकार इनकी मांगों को पूरा करने की बजाये एस्मा लगाकर इनकी आवाज को दबाने का प्रयास करके ताना शाही रवैया अपना रही है। इनेलो सांसद ने सरकार के इस कदम की निंदा करते हुए मांग की कि एस्मा लागू करने की बजाये कर्मचारियों की मांगों पर विचार करे ताकि हड़ताल से प्रदेश को होने वाले नुक्सान से बचाया जा सके।
सांसद दुष्यंत चौटाला ने पुलिस भर्ती के दौरान हुई युवको की मौत को बताया चिंताजनक, सरकार से की जांच की मांग

हिसार, 24 जून : हरियाणा पुलिस की भर्ती प्रक्रिया में ली जा रही शारीरिक परीक्षा के दौरान कुरुक्षेत्र में हुई दो युवको की मौत को इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश के लिए चिंताजनक बताते हुए कहा कि क्या ये उड़ता हरियाणा नही है।
इनेलो सांसद चौटाला ने कहा कि पिछले दिनों सेना की भर्ती के दौरान भी कुछ युवाओ के द्वारा नशा किया जाना पाया गया था। हरियाणा प्रदेश की पहचान दूध दही के खाने के लिए मानी जाती थी, आज उसी प्रदेश के युवाओ में नशे का सेवन बढ़ रहा है। उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा की कंही नशे के ठेकेदारो ने तो प्रदेश के युवाओ को नशे की लत की आवेश में तो नही ले लिया है। सरकार से इन युवको की पोस्टमार्टम को सार्वजनिक किये जाने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि इससे प्रदेश की जनता को सच्चाई का पता चल सकेगा कि इन युवाओ की मौत के क्या कारण थे।
अगर इन युवाओ की मौत नशे के सेवन से हुई है तो ये प्रदेश के लिए बेहद चिंताजनक है और सरकार को इस और गम्भीरता से ध्यान देना होगा उन्होंने प्रदेश के युवाओ से भी अपील की कि वे स्वयं तो इसके खिलाफ लड़ाई लड़ेंगे ही, बल्कि युवा वर्ग इस नशे के कारोबार के खिलाफ लड़ाई पूरी ततपरता से लड़े। ताकि इस प्रदेश को नशे की गिरफ्त में जाने से बचाया जा सके। और अगर इन युवको की मौत गर्मी से हुई है तो फिर ये सरकार के प्रबन्धों पर प्रश्नचिन्ह है। क्यों कि अगर इतनी भयंकर गर्मी में सरकार भर्ती का आयोजन करती है तो युवाओ के लिए कम से कम पीने के पानी की व्यवस्था तो की जानी  चाहिए। इनेलो सांसद ने कहा कि भर्ती के दौरान युवाओ को 4 से 5 घण्टे लाइन में खड़े रहना पड़ता है और उसके बाद उनको दौड़ने के लिए कहा जाता है ।

भाजपा सरकार धरातल पर विफल हो चुकी है - अभय सिंह चौटाला 


सिरसा : विधानसभा में प्रतिपक्ष नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार धरातल पर पूरी तरह से फेल हो चुकी है और वह जनता से किए अपने किसी भी वायदे को पूरा नहीं कर पा रही जो उसने चुनावों के दौरान जनता से किए थे। वे शुक्रवार को डबवाली रोड स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से रूबरू हो रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के मंत्रियों और विधायकों को विकास में रूचि नहीं है और वे हर पल चर्चा में बने रहने के लिए तरह तरह के बयान देते रहते हैं। उन्होंने उदाहरण दिया कि सीएम कभी वृद्धावस्था पेंशन के लिए फ्रिज होने की शर्त लगाते हैं तो कभी शिक्षामंत्री शिक्षकों के लिए स्कूलों में जिंस पहनकर आने पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा करते हैं मगर बाद में विरोध होने पर अपने फैसले वापस लेते हैं। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि जो भाजपा चुनावों से पूर्व प्रदेश में निजीकरण को समाप्त करने का दावा करती थी, अब वही भाजपा बिजली निगम में निजीकरण को बढ़ावा देने पर जुटी है। उन्होंने कहा कि अब राज्य सरकार ने एडहॉक पर तीसरे व चौथे दर्जे के कर्मचारियों की नियुक्ति का मुद्दा उठाया है। चौटाला ने कहा कि इन नौकरियों में केवल सिफारिशें अथवा धनबल का खुलकर प्रयोग होगा और इससे सरकार अपने चहेतों को नौकरी पर लगाने के लिए स्वतंत्र होगी तथा मेधावी युवाओं को रोजगार से वंचित होना पड़ेगा। छात्रसंघ के चुनावों संबंधी प्रश्र पर उन्होंने कहा कि अप्रत्यक्ष चुनाव होने से खरीद फरोख्त को बल मिलेगा और उन्हें आशंका है कि सरकार ने चुनावों की घोषणा की है मगर उस पर अमल करना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में कानून व्यवस्था का जनाजा निकला हुआ है। सिरसा में ही दिन दहाड़े हुई 10-12 आपराधिक घटनाओं से ये साबित होता है कि यहां पुलिस और प्रशासनिक तंत्र पूरी तरह से पंगु साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में बिजली पानी की खासी किल्लत है। उनके स्वयं के विधानसभा क्षेत्र के करीब 40 गांवों में पेयजल किल्लत गहराई हुई है और लोग दूर दराज के इलाकों से पानी खरीदकर लाने को मजबूर हैं। प्रतिपक्ष नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार ने योग पर करोड़ों रुपए खर्च किए, यदि यही पैसा गांवों के विकास के लिए लगाया जाता तो निश्चित ही लोगों का लाभ होता। हरियाणा राज्यसभा के चुनावों में विधायकों के वोटों के रद्द होने के मामले में उन्होंने स्पष्ट कहा कि इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, भाजपा और स्वयं उम्मीदवार सुभाष चंद्रा शामिल हैं। उन्होंने कहा कि उपरोक्त लोगों ने हरियाणा में राज्यसभा चुनावों पर जो कलंक लगाया है, उससे पूरे देश में हरियाणा शर्मिंदा हुआ है। फिलहाल इस मुद्दे की जांच जारी है और निश्चित ही दोषी लोगों को इसकी सजा मिलेगी। 

इस अवसर पर इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, विधायक मक्खन सिंगला, रामचंद्र, विधायक बलकौर सिंह, डॉ. हरिङ्क्षसह भारी, विनोद कंबोज, तरसेम मिढा, महावीर शर्मा आदि उपस्थित थे। 

Thursday, June 23, 2016

प्रदेश का सौहार्दपूर्ण वातावरण खराब करने में लगी है बीजेपी- लितानी

हिसार, 23 जून : मौजूदा बीजेपी सरकार अपने राजनैतिक फायदे के लिए प्रदेश भाईचारे व सौहार्द पूर्ण वातावरण को खराब करने पर उतारू है। यह बात इनेलो जिला अध्यक्ष राजेन्द्र लितानी ने कही। वे इनेलो द्वारा आयोजित किये जाने वाले  हलका आदमपुर व नलवा हलके में सद्भावना सम्मेलनों के सन्दर्भ में संबंधित हलके के गांवों में ग्रामीणों से वीरवार को रूबरू हो रहे थे। उन्होंने बताया कि 27 जून को शाम 4 बजे आदमपुर विधानसभा क्षेत्र के गांव बालसमंद में तथा 28 जून को सुबह 10 बजे नलवा हलके के गांव मंगाली में इनेलो सद्भावना सम्मेलन आयोजित किये जाएंगे। इन सम्मेलनों को इनेलो के वरिष्ठ नेता व नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला, प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व सांसद दुश्यन्त चौटाला सहित पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता सम्बोधित करेंगे। इनेलो जिला अध्यक्ष लितानी ने बताया कि जन नायक चौधरी देवीलाल ने हमेशा कमेरे वर्ग के हितो की पैरवी की। जब वे देश के उप प्रधानमंत्री बने तो संविधान निर्माता डॉ भीम राव अम्बेडकर को देश का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न दिलवाया। इनेलो भी हमेशा कमेरे वर्ग के हितो के लिए संघर्षरत रही है। यही कारण है कि इन सद्भावना सम्मेलनों को हर हलके में जबरदस्त समर्थन मिल रहा है। उन्होंने बताया कि 36 बिरादरी के लोगो के मिल रहे समर्थन से यह बात साबित हो रही है कि बीजेपी सरकार की असलियत को जनता समझ चुकी है और इनेलो की तरफ उसका झुकाव बढ़ता जा रहा है। उन्होंने ग्रामीणों से इन सम्मेलनों में बढ़ चढ़कर भाग लेने का आह्वान किया।
इनेलो की दावत-ए-इफ्तार 3 जुलाई को पुन्हाना में : चौ ज़ाकिर हुसैन


आज यासीन मेव डिग्री काॅलेज नूँह के प्रांगण में नूँह से इनेलो विधायक चौ० ज़ाकिर हुसैन की अध्यक्षता में इनेलो सुप्रीमों चौ0 ओमप्रकाश चौटाला की तरफ से 3 जुलाई, इतवार को अनाज मंडी, पुन्हाना में दावत-ए-इफ्तार के आयोजन को लेकर इनेलो कार्यकर्ताओं की बैठक हुई। चौ० ज़ाकिर हुसैन ने बताया कि दावत-ए-इफ्तार में प्रतिपक्ष नेता व खेलरत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला, प्रदेशाध्यक्ष श्री अशोक अरोड़ा व इनेलो के अन्य वरिष्ठ नेता भाग लेंगे। श्री हुसैन ने मेवातवासियों को इनेलो सुप्रीमों चौ0 ओमप्रकाश चौटाला की तरफ से रमज़ान के मुबारक महीने की मुबारकबाद दी तथा न्यौता दिया। विधायक चौ० ज़ाकिर हुसैन ने इनेलो सुप्रीमों चौ0 ओमप्रकाश चौटाला का आभार जताते हुए कहा कि विषम परिस्थितियों में भी उन्होंने मेवात की जनता को याद रखा और प्रत्येक वर्ष की भाँति अपने निजी कोष से अनाज मंडी, पुन्हाना में दावत-ए-इफ्तार का आयोजन उनकी तरफ से किया जा रहा है। इनेलो सुप्रीमों चौ0 ओमप्रकाश चौटाला द्वारा दावत-ए-इफ्तार देने से यह इस बात का सबूत है कि इनेलो सुप्रीमों चौ0 ओमप्रकाश चौटाला का मेवात के प्रति विशेष लगाव है। चौ० ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में इंडियन नेशनल लोकदल 36 बिरादरी व सर्वधर्म- मजहब का सम्मान करती है। उन्होंने लोगों से अपील की कि रमज़ान के मुबारक महीने में अल्लाह ताला से दुआ करें कि जल्द ही इनेलो सुप्रीमों चौ0 ओमप्रकाश चौटाला, डा0 अजय सिंह चौटाला अन्य वरिष्ठ इनेलो नेता झूठे मुकदमों से बरी होकर हमारे बीच हों। स्वः चौ0 देवीलाल जी की नीतियों पर चलते हुए चौ० ओमप्रकाश चौटाला ने 12 वर्ष पूर्व दावत-ए-इफ्तार देना शुरू  किया था और कभी भी सरकारी खजाने से इस आयोजन पर एक पैसा भी खर्च नहीं किया। जबकि  अन्य पार्टियाँ राजनीतिक स्वार्थ के लिए सरकारी खर्चे व चुनावों के मौके पर दावत-ए-इफ्तार देने का नाटक करती हैं । पूर्व कांग्रेस सरकार ने प्रत्येक वर्ष सरकारी खर्चे से दावत-ए-इफ्तार का आयोजन किया। श्री हुसैन ने कहा कि इनेलो ही एकमात्र पार्टी है, जिसने चौ0 ओमप्रकाश चौटाला के निर्देश पर प्रतिपक्ष के नेता खेलरत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में विधानसभा के अंदर व बाहर किसान, मजदूर, गरीब व छोटे दुकानदारों के हक़ के लिए पूरे दम खम से संघर्ष किया है। विधायक चौ० ज़ाकिर हुसैन ने 3 जुलाई को अनाज मंडी, पुन्हाना में इनेलो द्वारा दी जा रही दावत-ए-इफ्तार की तैयारियों के लिए कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारियाँ सौंपी। उन्होंने कहा कि इस दावत-ए-इफ्तार में मेवात से 15-20 हजार रोज़ेदार भाग लेंगे।
इस महत्वपूर्ण इनेलो कार्यकर्ता बैठक में चौ० ताहिर हुसैन एडवोकेट, राजीव यादव एडवोकेट, सरदार जसबीर सिंह मलिक, अमर सिंह सरपँच छपेड़ा, राकेश देशवाल,देवी सिंह प्रधान,इनेलो नेता जफरूद्दीन बाबूपुर, अल्ली प्रधान,हाजी अब्दुल्ला सरपँच,साबिर सरपँच,लियाकत सूड़ाका,हरीश शर्मा उर्फ बोबी,अमरसिँह सरपँच,तय्यब सरपँच मेवली,मौ० खाँ सरपँच,पहलू कँवरसीका,शेरु रेवासन,डा0 हनीफ सरपँच,इसराईल पूर्व सरपँच, हाफिज ईल्यास, हाजी मौ० शाद, इमरान फिरोजपुर नमक, इरशाद सालाहेड़ी, वहीद सरपँच मेवली,निसार सरपँच चाहलका,अब्बास चैयरमेन, अब्दुल रज्जाक, फकरुद्दीन सरपँच शादीपुर,हाजी आसम,हाजी सोहराब,जौम खाँ उर्फ मुंडल सरपँच,रहीम खाँ बाबूपुर,जुबैर टेरकपुर,जमशेद कँवरसीका,इकबाल प्रधान,मास्टर जमील,साबिर सरपंच मालब,युनुस मेवली,जब्बार,धर्मेंद्र सरपँच बारोटा,वहीद सरपंच महरौला,रामसिँह गँडूरी,शोकत सरपँच,शेरु देवला,नसरु सरपँच कोंतलाका,अकबर बड़का,नसीम रेवासन,रहमान बसई आदि सैकड़ों लोग मौजूद थे।

Wednesday, June 22, 2016

चुनाव में सौ फीसदी हुई है धांधली, सुनवाई से जानबुझ कर बच रहे हैं सुभाष चंद्रा-नेता प्रतिपक्ष

चंडीगढ़, 22 जून: राज्यसभा चुनाव में हुई धांधली को लेकर इनेलो की शिकायत पर चुनाव आयोग द्वारा आज बुधवार को होने वाली सुनवाई अब शनिवार 25 जून को होगी। चुनाव आयोग द्वारा आज हरिवाणा विधानसभा परिसर में की जाने वाली सुनवाई के  लिए नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह  चौटाला व राज्यसभा के लिए निर्दलीय प्रत्याशी रहे आरके आनंद सहित अन्य पक्ष पहुंच गए थे, लेकिन भाजपा समर्थित दूसरे निर्दलीय प्रत्याशी रहे सुभाष चंद्रा के न आने के चलते अब सुनवाई शनिवार 25 जून के लिए तय की गई है। 
हरिवाणा विधानसभा परिसर के बाहर पत्रकारों से बातचीत करते हुए नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि राज्यसभा चुनाव में सौ फीसदी धांधली हुई है। सुभाष चंद्रा इस मामले में सुनवाई से न सिर्फ  जानबुझ कर बच रहे हैं बल्कि मामले को लटका रहे हैं। उनकी मौजूदगी में जब मामले की सुनवाई होगी तो जो खेल उन्होंने खेला है, वह उनके सामने ही साफ हो जाएगा और उनको भी पूरी तरह से समझ आ जाएगा। इनेलो नेता ने कहा कि ये कोई तरीका नहीं होता कि एक आदमी इस मामले को जानबुझ कर लटकाने के लिए खूद आने की बजाए आगे तारीख दिए जाने की मांग करते हुए अर्जी भेज दे। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हम सब अलग-अलग पार्टियों के लोग हैं और सबके अपने अपने कार्यक्रम बने होते हैं। उन्होंने सवाल किया कि क्या एक आदमी क ी वजह से हर बार सभी लोग अपने कार्यक्रम छोड़ कर आऐं?
 इनेलो नेता ने कहा कि हमने निर्वाचन अधिकारी से कहा है कि अगर शनिवार 25 जून को भी सुभाष चंद्रा सुनवाई के लिए पेश नहीं होते तो आगे कोई और तारीख न देकर उसीदिन शिकायत का निपटारा कर दिया जाए, ताकि आरके आनंद उसके बाद आयोग के पास अथवा अदालत के समक्ष अपना पक्ष रख सकें। इस अवसर पर आरके आनंद ने कहा कि हम आज पूरी तैयारी के साथ आए थे, ताकि आज ही सुनवाई पूरी हो सके और सुभाष चंद्रा के सामने ही दूध का दूध और पानी का पानी हो जाए लेकिन सुभाष चंद्रा के न आने से अब शनिवार 25 जून को सुनवाई होगी। उन्होंने भी कहा कि ये सब मामले को लटकाने के प्रयास हैं।
अभय चौटाला ने छात्र संघ चुनावों पर कहा-आए दिन नए नए जुमले फैंकती रहती है सरकार

इनेलो नेता ने पत्रकारों द्वारा छात्र संघ चुनावों को लेकर पूछे गए सवालों के जवाब में सरकार की मंशा पर शक जताते हुए कहा कि सरकार कभी भी अपनी घोषणाओं के प्रति गंभीर नहीं रही। नेता प्रतिपक्ष ने सरकार की घोषणा को आधा अधूरा बताते हुए कहा कि सरकार आए दिन नए नए जुमले फैंकती रहती है। इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा सरकार ने गेस्ट टीचरों को पक्का करने, कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतनमान व भत्ते देने और बुजुर्गों को दो हजार रूपए महीना पेंशन देने का वादा किया था। लेकिन सरकार में आते ही गेस्ट टीचरों को पक्का करने की बजाए नौकरी से निकाल दिया और बुढ़ापा पेंशन को लेकर अब ये कहना शुरू कर दिया है कि जिनके घरों में फ्रीज होगा उन्हेंं पेंशन का लाभ नहीं दिया जाएगा। भाजपा सरकार अपने फैसले बार-बार बदलती रहती है, इसलिए सरकार की किसी भी घोषणा को तब तक सही नहीं माना जा सकता जब तक लागू न हो जाऐं। क्योंकि मौजूदा सरकार की घोषणाऐं अकसर केवलमात्र अखबारी घोषणाऐं बन कर ही रह जाती हैं।

Friday, June 17, 2016

सांसद दुष्यन्त ने निभाया अपना वादा, सर्वसम्मति से चुनी गई पंचायतो को दिए एक करोड़ पांच लाख रुपए


हिसार, 17 जून पंचायत चुनावो के समय इनेलो सांसद दुष्यन्त चौटाला ने गांवों में भाईचारा बनाये रखने की अपील रखते हुए ग्रामीणों से यह वायदा किया था कि पंचायत चुनावों में हिसार लोक सभा क्षेत्र में जो भी ग्राम पंचायत निर्विरोध व सर्वसम्मति से चुनी जायेगी, उन पंचायतों को वे अपनी सांसद निधि से पांच पांच लाख रुपए ग्रांट देंगे। जिससे समाज में आपसी भाई चारे को बढ़ावा मिलता रहे। सांसद दुष्यंत चौटाला ने अपना वादा निभाते हुए सर्वसम्मति से चुनी गई 21 ग्राम पंचायतों को अपनी सांसद निधि से एक करोड़ पांच लाख रुपए दिए है। सर्वसम्मति से चुनी गई पंचायतों के सरपंचो में गांव मीरपुर से चन्द्रभान, चानौत से राम मेहर, ढाणी केन्दू से महावीर सिंह, लालपुरा से शीला, सिंघवा राघो से मेवा सिंह, जामनी खेड़ा से शकुंतला देवी, बालावास से सुरेश, दुबेटा से संजय, स्याहड़वा से अश्वनी, भिवानी रोहिला से आशा रानी, पाली से सुमन देवी, बिठमङा से बलबीर सिंह, कलरभैनी से राजकुमार, लितानी से ग्राम पंचायत प्रतिनिधि, सूरेवाला से संदीप कुमार, कहसुन से नरेश कुमार, रोज खेड़ा से रणधीर सिंह, खापड़ से सोनिया, खेड़ी दौलतपुर से दर्शना, सीवाना से वजीर चन्द व गांव सुखपुरा से जसवीर सरपंच उपस्थित थे।
इस मौके पर सांसद चौटाला ने सर्वसम्मति से चुने गए सरपंचों को उपहार स्वरूप एक एक पैन भेंट करते हुए उनसे आग्रह किया कि आप सब पढ़े लिखे प्रतिनिधि है और कलम में बड़ी ताकत होती है। इस कलम से वे गांव के विकास की इबादत लिखे। साथ ही साथ उन्होंने सरपंचों से आग्रह किया कि वे जल्द से जल्द अपने अपने गांव के लिए पांच लाख रुपए से किये जाने वाले कार्यो की सूचि बना कर दे ताकि सम्बंधित अधिकारियो से उस कार्य का एस्टिमेट बनवा कर उसको जल्द से जल्द पूरा करवाया जा सके। इनेलो सांसद ने चुने हुए पंचायत प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आप लोग सर्वसम्मति से चुने गए है, इसलिए आपकी जिम्मेदारी तो और ज्यादा बढ़ जाती है। जिस प्रकार पूरे गांव ने आपको चुना है, उसी प्रकार आप लोग भी बिना किसी भेदभाव के गांव का विकास करवाये। उन्होंने उनसे गांवों में लड़कियों की शिक्षा, गाँव की सफाई व्यवस्था व युवाओं को स्वरोजगार दिलाने की तरफ पर विशेष ध्यान देने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि इन 21 ग्राम पंचायतों से सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए तथा आने वाले समय में और अधिक ग्राम पंचायतें सर्वसम्मति से चुनी जा सके। इस अवसर पर विधायक रणवीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक जिला उपायुक्त निखिल गजराज, इनेलो जिला अध्यक्ष राजेन्द्र लितानी, हलका अध्यक्ष सजन लावट, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, अमित बूरा, विक्रांत बागड़ी व अमित ग्रोवर भी उपस्थित थे।

Thursday, June 16, 2016

राबर्ट वाड्रा व भूपेंद्र हुड्डा को बचाने की कोशिश कर रही भाजपा : दुष्यंत चौटाला


जींद : हिसार से इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा में जमीन सौदे के गड़बड़झाले की जांच के लिए गठित किए गए जस्टिस ढींगरा आयोग में सेफ पैसेज छोड़कर भाजपा सरकार ने राबर्ट वाड्रा तथा भूपेंद्र सिंह हुड्डा को बचाने की कोशिश की है। इस आयोग का असंवैधानिक रुप से गठन करके केवल सरकार खानापूर्ति कर रही है। सरकार की नियत साफ नहीं है।
चौटाला यहां इनेलो कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने पिछले दिनों हुए राज्यसभा चुनावों के सवाल पर कहा कि चौ. भजनलाल के शासनकाल में आयाराम-गयाराम की स्थिति थी। राज्यसभा चुनावों में भाजपा तथा कांग्रेस ने मिलीभगत करके फिर से प्रदेश में ही यही स्थिति पैदा कर दी है। इन लोगों को जनता से कोई लेना-देना नहीं है बल्कि यह राजनेता केवल अपने स्वार्थपूर्ति के लिए काम करते हैं। इनेलो अपने स्टैंड पर कायम रही तथा उसने एक मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाई है। इनेलो हमेशा जनता के हितों को ध्यान में रखकर ही काम करती है। प्रकाश सिंह आयोग कमेटी द्वारा रिपोर्ट में उनका नाम के जिक्र पर उन्होंने कहा कि रिपोर्ट के पेज नंबर 20 पर उनका नाम सरकार ने रिपोर्ट नहीं हटाया है बल्कि एक अन्य पेज रिपोर्ट में जोड़कर कोरिजेंडम एड किया है। इसके लिए कमेटी के सभी सदस्यों तथा सरकार के खिलाफ विरोध दर्ज करवा चुके हैं तथा विशेषज्ञों से राय लेकर आगे की कार्रवाई करेंगे। इस मामले को वे लोकसभा में उठाएंगे तथा सभी से सवाल-जवाब किए जाएंगे। जाट आरक्षण मामले पर दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इनेलो ने आंदोलनकारियों को अपना खुलकर समर्थन दिया है तथा उनसे शांति से अपना आंदोलन चलाने की अपील की है। जाटों को आरक्षण देने पर सरकार की नीयत साफ नहीं है क्योंकि विधानसभा में आरक्षण बिल पास करने के डेढ़ महीने बाद इस बिल पर महामहिम राज्यपाल ने हस्ताक्षर किए। अब 2 महीने से भी ज्यादा हो चुके हैं लेकिन सरकार ने इस बिल को केंद्र सरकार के पास नहीं भेजा है ताकि इसे संविधान की 9वीं अनुसूचि में शामिल किया जा सके। इससे साफ पता चलता है कि भाजपा सरकार केवल जाटों को बरगलाने का काम कर रही हैं, आरक्षण देने की खोखली बातें की जा रही हैं लेकिन सरकार की नियत में खोट है। सरकार आंदोलनकारियों को डराने तथा धमकाने का प्रयास कर रही है। यदि सरकार को सेना के दम पर ही माहौल ठीक करना है तो फिर वह जम्मू-कश्मीर में माहौल ठीक क्यों नहीं कर पाई, जबकि हरियाणा का तो माहौल केवल भाजपा ने ही बिगाड़ा है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उन्होंने अपने लोकसभा क्षेत्र के लिए अनेक विकास कार्यों की मंजूरी के लिए प्रस्ताव भेजे हैं लेकिन काफी कामों में ऑब्जेक्शन लगाकर उनको मना किया जा रहा है। विकास कार्यों में सरकार बाधा बन रही है जबकि विकास के नाम पर भाजपा सरकार खोखले दावे कर रही है। जो व्यक्ति विकास कार्य करवाना चाहता है, उसे सरकार रोकने का काम कर रही है। केंद्र तथा प्रदेश सरकार की मंशा साफ नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग फिर से जाटों का उकसाने का काम कर रहे हैं। भाजपा फिर से प्रदेश में दंगे भड़काना चाहती है। भाजपा की नीति हमेशा लोगों को आपस में लड़वाने की रही हैं। पहली बार हरियाणा में भाजपा की सरकार बनी तो इतना बड़ा आंदोलन हुआ और बेकसूर लोगों की जान गई। आज तक इतना बड़ा आंदोलन किसी भी सरकार के शासनकाल में नहीं हुआ था। उनके साथ इनेलो के जिला प्रधान कलीराम पटवारी, विधायक परमेंद्र सिंह ढुल, पृथी नंबरदार, डॉ. कृष्ण मिढ़ा, दयानंद कूंडू, भूपेंद्र जुलानी, बलराज नगूरां, डॉ. रामचंद्र जांगड़ा, सुदेश चौपड़ा, देशराज माटा, यादवेंद्र खर्ब, प्रताप लाठर, बिट्टू नैन, अनुराग खटकड़, विश्ववीर नंबरदार, प्रवीण बैनिवाल, सूबे सिंह लौहान, सुभाष देखवाल, बलवंत जोगी, सोनू गुलिय, नरेश भनवाला, कर्मपाल ढुल, जयनारायण भारद्वाज, किताब सिंह ढांडा, बिजेंद्र रेढू, हरीश अरोड़ा तथा इनेलो कार्यालय सचिव गुरदीप सांगवान भी मौजूद थे।

Friday, June 3, 2016

कुलदीप इनेलो नेताओं पर आरोप लगाने से पहले अपने गिरेबान में झांके - बिश्नोई

हिसार, 3 जून : इनेलो नेताओं पर आरोप लगाने व उनपर कोई टिका टिप्पणी करने से पहले विधायक कुलदीप बिश्नोई को अपने गिरेबान में झांकना चाहिए। क्योंकि इस समाज को उन्होंने ही जाति के आधार पर बांटने की कोशिश की थी। ये बात इनेलो जिला प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्नोई ने आदमपुर विधायक कुलदीप बिश्नोई के उस बयान पर कही, जिसमे उन्होंने प्रकाश कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद इनेलो नेताओं पर आरोप लगाया था। इनेलो प्रवक्ता बिश्नोई ने बताया कि कांग्रेस विधायक  ने जिस रिपोर्ट के आधार पर ये बयान दिया था, उस रिपोर्ट पर तो पहले ही सवालिया निशान खड़े हो गए है। स्वयं प्रकाश सिंह गुप्ता भी मान चुके है कि उन्होंने यह रिपोर्ट सरकार द्वारा उपलब्ध करवाये गए तथ्यों पर ही तैयार की है। उन्होंने कहा कि इनेलो ने हमेशा नीतिगत मूल्यों की राजनीति करते हुए जनता की लड़ाई लड़ी है तथा पूरे समाज को साथ लेकर चली है। एडवोकेट बिश्नोई ने कहा कि विधायक कुलदीप इनेलो के प्रति पूर्वाग्रह से ग्रसित है, वे इनेलो की बढ़ती लोकप्रियता से पूरी तरह घबराए हुए है। इस बात को जनता भी भली भांति जान चुकी है कि पिछले लोक सभा चुनाव में उन्होंने किस प्रकार लोगों को जाती पाति के आधार पर बांटने की कोशिश की थी, परन्तु जागरूक जनता ने लोकसभा चुनावों के बाद विधानसभा चुनावों में भी उन्हें हकीकत से रूबरू करवा दिया। अब उन्होंने अपनी डूब चुकी नैया को बचाने के लिए कांग्रेस की बैसाखियो का सहारा लिया है परन्तु इससे भी उन्हें कुछ हासिल होने वाला नहीं है।