Saturday, April 30, 2016

किसानो को सब्जियों की फसल के उचित भाव दिलवाने की व्यवस्था करे सरकार- दुष्यंत चौटाला 


हिसार/ नारनौंद, 30 अप्रैल : आज के मौजूदा माहौल में खेती से जुड़ा हुआ हर व्यक्ति आर्थिक संकट से गुजर रहा है। सरकार फूलों व सब्जियों की खेती करने की बात तो कर रही है, परन्तु सब्जी की खेती करने वाले किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य नही मिल पा रहा। इसलिए सरकार को मण्डियों में उचित व्यवस्था करके इन किसानों को उचित भाव दिलवाना चाहिए। यह बात इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने कही। वे शनिवार को हिसार जिले के गाँव सिसाय में लगाये गए कृषि मेले में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। इस कृषि मेले में चौ0 चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्विद्यालय व कृषि विकास केंद्र से जुड़े डॉ आर एस अंतिल, डॉ अवतार सिंह, डॉ एस के ढांडा सहित कई वैज्ञानिकों ने भी भाग लिया। कृषि वैज्ञानिकों ने मेले में उपस्थित किसानो को आधुनिक खेती के तरीको के बारे में बताते हुए फसल बीमा योजना के साथ साथ गेंहू व धान की अच्छी पैदावार लेने के उपाय भी बताये। साथ ही साथ सफेद मख्खी व अन्य बीमारियो से बचाव के तरीके भी बताये। कृषि के साथ साथ पशुपालन की तरफ भी ध्यान दिलाते हुए उन्होंने पशुधन से होने वाले लाभ के बारे में भी बताया। मेले में उपस्थित किसानो को सम्बोधित करते हुए सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा प्रदेश एक कृषि प्रधान प्रदेश है इसलिए अगर किसान का आर्थिक विकास नही होगा तो फिर प्रदेश का विकास भी थम जायेगा। अगर सरकार ने समय रहते इस और ध्यान नही दिया तो धरती पुत्र की हालत अत्यंत दयनीय हो जायेगी। उन्होंने कहा कि सरकार किसानो को फूलो, फॉलो व सब्जियों के उत्पादन के बारे में बोल तो रही है , परन्तु उनके खरीदारी के तरीको को लेकर बिलकुल चुप है। सांसद चौटाला ने कहा कि आज किसान सब्जी की फसल तो पका लेता है परन्तु जब वह इसे बेचने के लिए मण्डी में लेकर जाता है तो उसे अपनी फसल कोडिय़ो के भाव बेचनी पड़ती है। जिसका एक मात्र कारण बिचोलिये लोग है जो किसान व सब्जी के आम उपभोक्ता के मध्य में आकर मोटा मुनाफा कमा रहे है। क्यों कि सरकार की तरफ से सब्जियों के रखरखाव को लेकर किसानो को कोई सुविधा नही दी जा रही। इसलिए सरकार को चाहिए कि सब्जियों को लेकर भी कोई न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित किया जाना चाहिए ताकि किसान को उसकी फसल का उचित भाव मिल सके। सांसद दुष्यन्त चौटाला ने इस मौके पर सिसाय गांव के स्कूल में सोलर पैनल लगाने की घोषणा करते हुए सिसाय गाँव के दोनों स्कूलो में आर ओ सिस्टम लगवाने की घोषणा की। ताकि स्कूल के बच्चों को पीने के स्वच्छ जल मिल सके। इस मौके पर इनेलो जिला अध्यक्ष राजेन्द्र लितानी, विधायक रणवीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा, पूर्व आईपीएस राज सिंह मोर, हलका अध्यक्ष सतबीर सिसाय, सत्यवान, जिला पार्षद जस्सी पेटवाड़, युवा जिला अध्यक्ष अमित बुरा सहित काफी संख्या में पार्टी पदाधिकारी सहित आसपास के गाँवों के किसान भी मौजूद थे। कृषि मेले को लेकर किसान काफी उत्साहित थे।
इनेलो सद्भावना सम्मेलन 7 को बनगांव में, अभय चौटाला करेंगे शिरकत


फतेहाबाद : इनेलो प्रदेश भर में जारी सद्भावना सम्मेलनों की कड़ी में भट्टू क्षेत्र का सम्मेलन 7 मई को गांव बनगांव में आयोजित करेगी। सम्मेलन की तैयारियों को लेकर शनिवार सुबह स्थानीय जाट धर्मशाला में पार्टी पदाधिकारियों की एक बैठक हुई विधायक बलवान दौलतपुरिया, प्रो. रविन्द्र बलियाला, पूर्व विधायक रणसिंह बैनीवाल, राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों, मोलूराम रूहलानियां, कुलजीत कुलडिय़ा, महिला विंग जिला प्रधान सरोज सांगा आदि वरिष्ठ नेताओं ने अपने विचार रखते हुए सम्मेलन को सफल बनाने पर मंथन किया। बैठक के दौरान निर्णय लिया गया कि सम्मेलन संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती उत्सव को समर्पित होगा।
इस दौरान विधायक दौलतपुरिया ने बताया कि सम्मेलन को प्रदेश में नेता प्रतिपक्ष एवं इनेलो शीर्ष नेता अभय चौटाला बतौर मुख्य वक्ता संबोधित करेंगे, जबकि अध्यक्षता पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा करेंगे। इसके अलावा प्रदेश स्तर के कई अन्य नेतागण भी सम्मेलन में पहुंचकर सामाजिक भाईचारे को मजबूत बनाए जाने का संदेश देंगे। पार्टी नेताओं ने सम्मेलन को सफला बनाए जाने को लेकर टीमें बनाते हुए जनसंपर्क करके अधिक से अधिक लोगों की इस कार्यक्रम में भागीदारी सुनिश्चित करने पर जोर दिया। साथ ही पार्टी कार्यकर्ताओं को आवश्यक जिम्मेवारियां भी सौंपी गई। इस अवसर पर बलदेव कसवां, सुरेन्द्र लेगा, डॉ. रणजीत ओड, विकास मेहता, सतबीर दहमन, सतेन्द्र श्योराण, यशपाल यश तनेजा सहित पार्टी के कई अन्य पदाधिकारी व कार्यकत्र्ता उपस्थित थे। 

Friday, April 29, 2016

दुष्यंत चौटाला ने लोकसभा में उठाई हिसार दूरदर्शन केंद्र अपग्रेड करने की मांग

दिल्ली, 29 अप्रैल: हिसार में किसान दूरदर्शन चैनल स्थापित करने का मामला शुक्रवार को फिर लोकसभा में उठा और इस दूरदर्शन केंद्र को अपग्रेड करने की भी मांग की गई। इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने आज लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान इस मुद्दे को उठाया। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री ने सदन में कहा कि भविष्य में हिसार दूरदर्शन केंद्र में कृषि संबंधी कार्यक्रमों का निर्माण हो सकता है। सांसद दुष्यंत चौटाला ने आज प्रशनकाल के दौरान केंद्रीय राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ द्वारा दिए गए जवाब का हवाला देते हुए कहा कि केंद्रीय राज्यमंत्री ने हिसार दूरदर्शन को अपग्रेड कर एफएम ट्रांसमीटर की संख्या 6 मेगाहर्टज से बढ़ा कर 10 मेगाहर्टज करने की बात कही है।
इनेलो सांसद ने कहा कि हिसार में करोड़ों की लागत से बना दूरदर्शन केंद्र है और हिसार में प्रदेश का सबसे बड़ा कृषि विश्वविद्यालय और पशु विज्ञान विश्वविद्यालय है। उन्होंने इस दूरदर्शन केंद्र को किसान दूरदर्शन केंन्द्र बनाने का आग्रह करते हुए कहा कि हिसार दूरदर्शन को अपग्रेड करके यहां से किसानों के कार्यक्रम प्रसारित किए जाएं। दुष्यंत चौटाला के सवाल का जवाब देते हुए केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि कृषि कार्यक्रम अलग-अलग क्षेत्र में बनाए जाते हैं और आने वाले समय में हिसार दूरदर्शन केंद्र में भी इस प्रकार के कार्यक्रम तैयार किए जा सकते हैं। यहां बता दें कि सांसद दुष्यंत चौटाला ने हिसार दूरदर्शन केंद्र का दौरा कर केंद्र सरकार से इस दूरदर्शन केंद्र को अपग्रेड करने के लिए कुछ माह पूर्व पत्र भी लिखा था। वे केंद्र सरकार के किसान चैनल की योजना के तहत हिसार में कृषि दूरदर्शन स्थापित करने की मांग लोकसभा में पहले भी कर चुके हैं।
इनेलो पार्षद रेणू बाना व कर्ण चौटाला सिरसा जिला परिषद के चेयरमैन एवं उपचेयरमैन बने


चंंडीगढ़, 29 अप्रैल: सिरसा जिला परिषद के चेयरमैन एवं उपचेयरमैन के आज हुए चुनाव में इनेलो पार्षद रेणू बाना को चेयरमैन और अभय ङ्क्षसह चौटाला के बेटे कर्ण चौटाला को उपचेयरमैन  चुना गया। रेणू बाना को चेयरमैन पद के लिए कुल पड़े 22 मतों में से 14 और उनक ी विरोधी प्रत्याशी भाजपा नेता पवन बेनीवाल की भाभी श्रुति बेनीवाल को मात्र 8 वोट मिले। जबकि कर्ण चौटाला को उपचेयरमैन पद के लिए कुल पड़े 22 मतों में से 15 और उनक ी विरोधी भाजपा प्रत्याशी मंजू को मात्र 7 वोट मिले। आज सिरसा जिला परिषद में इनेलो के चेयरमैन एवं उपचेयरमैन निर्वाचित होने के बाद सिरसा में पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय  ङ्क्षसह चौटाला ने कहा कि पंचायती चुनावों में सरकार व राज्य चुनाव आयोग की कार्यप्रणाली ने उनकी निष्पक्षता पर सवालिया निशान लगा दिया है। 
अभय चौटाला ने कहा कि सरकार ने स्वयं की मनमानी करने के लिए राज्य चुनाव आयोग जैसी निष्पक्ष संस्था का राज्य चुनाव आयुक्त अपनी पार्टी से जुड़े हुए एक रिटायर्ड अफसर को बनाया हुआ है। इनेलो इस मामले को लेकर कोर्ट में जाएगी और उनकी नियुक्ति को निरस्त करने की मांग करेगी। साथ ही उन्होंने यह भी जोड़ा कि भाजपा ने पंचायती चुनावों के बाद पंचायत समिति एवं जिला परिषद के चेयरमैन एवं उपचेयरमैन पदों के लिए साम-दाम-दंड-भेद, येन-केन प्रकरण का इस्तेमाल किया और सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया। इनेलो नेता ने कहा कि पहले तो भाजपा पंचायती चुनावों से भागती रही। चुनाव हुए तो इसके बाद भाजपा ने ओछे हथकंडे अपनाए। चुनावों में विलम्ब करवाया। इनेलो के चुने गए प्रतिनिधियों को प्रलोभन दिया। 
उन्होंने सिरसा जिला के जोन नम्बर 22 से चुनी गई इनेलो पार्षद सुखराज कौर के पति गुरजंट सिंह को गाड़ी और 1 करोड़ रुपए का लालच दिया, पर उनका निष्ठावान कार्यकत्र्ता लालच के आगे नहीं डिगा। लालच से बात नहीं बनी तो भाजपा के लोगों ने उनके चुने गए प्रतिनिधियों पर पुलिस का दबाव भी बनाने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि आज जिला परिषद चुनाव में भाजपा सरकार ने जानबूझकर राज्य चुनाव आयोग से किसी भी विधायक एवं सांसद के चुनावी दफ्तर में प्रवेश पर पाबंधी संबंधी चि_ी जारी करवा दी। मीडिया को भी अंदर जाने से वंचित रखा गया। इस अवसर पर पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, रामपाल माजरा, विधायक मक्खन लाल ङ्क्षसगला, बलकौर ङ्क्षसह, रामचंद्र कम्बोज, पदम जैन, दिग्विजय चौटाला, जिप चेयरमैन रेणू बाना, उप-चेयरमैन कर्ण चौटाला, अभय ङ्क्षसह खोड, जनरैल ङ्क्षसह चंदी, डा. हरी ङ्क्षसह भारी, हरभगवान कोटली सहित अनेक नेता मौजूद थे। 
इसी बीच, नलवा से इनेलो विधायक रणवीर गंगवा ने सिरसा जिला परिषद के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के लिए शुक्रवार को हुए चुनाव में इनेलो की जीत पर बधाई देते हुए कहा सिरसा में इनेलो को जीत से रोकने के लिए बीजेपी ने हर ओछा हथकण्डा अपनाया, परन्तु जागरूक जिला पार्षदों ने इस तानाशाही सरकार को उसकी हैसियत बता दी। इनेलो विधायक रणवीर गंगवा ने कहा कि सरकार के हर अनुचित दवाब की परवाह न करते हुए सिरसा के जिला पार्षदों ने सरकार करारा जवाब देते हुए उसे असलियत से रूबरू करवा दिया। वहीं इनेलो की नीतियों पर मोहर लगाने का काम किया। 
इनेलो विधायक ने नवनिर्वाचित अध्यक्ष व उपाध्यक्ष को बधाई देते हुए कहा कि ये जीत सिरसा जिले की जीत के साथ साथ पूरे हरियाणा की जीत है। प्रशासन के द्वारा चुनाव के समय ऐलनाबाद के विधायक व विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला व अन्य विधायको को मीटिंग में जाने से रोकने की निंदा करते हुए रणवीर गंगवा ने कहा कि प्रदेश के हर जिले में हुए जिला परिषद अध्यक्ष के चुनावों में वहां के विधायकों को तो जाने दिया गया, यहां तक कि हिसार में हुए चुनावों में तो बीजेपी सरकार के वरिष्ठ मंत्री ने चुनाव से पूर्व पार्षदों को अपने पास बुला लिया तथा मीटिंग में भी वे स्वयं पार्षदों को साथ लेकर आये। सिरसा जिले में पांचो विधायक इनेलो के है। इसलिए सरकार ने यह निंदनीय हरकत की और उन्हें चुनाव के दौरान मीटिंग में अंदर नहीं जाने दिया। गंगवा ने सरकारी हथकंडों क ो लोकतन्त्र की हत्या बताते इस की कड़े शब्दों में निंदा की है।
उकलाना-बरवाला खंड को प्रस्तावित नए जिले हांसी में शामिल करने के विरोध में संघर्ष समिति ने उपायुक्त को मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन


हिसार, 29 अप्रैल : शुक्रवार को उकलाना बचाओ जन संघर्ष समिति के संयोजक सुरेंद्र लितानी की अध्यक्षता में समिति सदस्य, सभी ग्राम पंचायत, जिला परिषद सदस्य, ब्लाक समिति सदस्य, नगरपालिका सदस्य और क्षेत्र के सभी राजनीतिक, धार्मिक व सामाजिक संगठनों के सदस्य हिसार के जिला उपायुक्त निखिल गजराज से मिले और मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें उन्होंने मांग की कि उकलााना व बरवाला खंड को हांसी जिले में शामिल न किया जाए और हिसार जिले में ही शामिल रखा जाए।
शुक्रवार को उकलाना बचाओ जन संघर्ष समिति के संयोजक सुरेंद्र लितानी की अध्यक्षता में समिति सदस्य उकलाना-बरवाला को हांसी जिले में शामिल करने के विरोध में हिसार के लघु सचिवालय पहुंचे। समिति के सदस्यों ने सरकार के इस फैसले के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और कहा कि वे किसी भी कीमत पर हांसी जिले में शामिल नहीं होंगे।


समिति के संयोजक सुरेंद्र लितानी ने कहा कि सरकार द्वारा जो हांसी उपमंडल को नया जिला बनाया रहा है और उसमें उकलाना व बरवाला खंड को उसमें शामिल करने का प्रस्ताव है, उसका हम कड़ा विरोध करते हैं। सरकार के इस प्रस्ताव से दोनों खंडों की जनता में भारी रोष बना हुआ है। उन्होंने कहा कि सरकार के इस फैसले के खिलाफ उकलाना-बरवाला खंडों के सभी ग्राम पंचायत, जिला परिषद सदस्य, ब्लाक समिति सदस्य, नगरपालिका सदस्य और क्षेत्र के सभी राजनीतिक, धार्मिक व सामाजिक संगठनों के सदस्य एकजुट हैं।

सुरेंद्र लितानी ने बताया कि इन कारणों के चलते उकलाना व बरवाला खंड के लोग हांसी में शामिल नहीं होना चाहते हैं:
1. उकलाना से हिसार की दूरी 45 किलोमीटर है जबकि हांसी की दूरी लगभग 60 किलोमीटर है। लोगों को हांसी के लिए ज्यादा दूर जाना होगा।
2. उकलाना रेलवे लाईन के साथ हिसार से पुराने समय से जुड़ा है और महज 15 रुपए हिसार से उकलाना का किराया है और प्रतिदिन 300-400 लोग उकलाना से हिसार रेलगाड़ी के माध्यम से आते जाते हैं। जिस कारण गरीब लोगों को हांसी में जाने में दिक्तों का सामना करना पड़ेगा।
3. उकलाना से हिसार जाने लिए बसों की सीधी सुविधा है जो अल सुबह से लेकर रात तक जारी रहती है। जबकि हांसी के सीधी सुविधा नहीं है।
4. उकलाना पहले हांसी उपमंडल से जुड़ा हुआ था लेकिन तमाम सुविधाओं और जनता की समस्याओं को देखते हुए उकलाना को हांसी से हटाकर हिसार उपमंडल में शामिल किया गया था।
5. उकलाना क्षेत्र के लोगोंं की संस्कृति हांसी की बजाय हिसार से ज्यादा मेल-झोल खाती है तथा उकलाना का भौगोलिक जुड़ाव शुरू से ही हिसार से रहा है। 
6. शैक्षणिक रूप से उकलाना का जुड़ाव हिसार से है और प्रतिदिन सैंकड़ों विद्यार्थी हिसार शिक्षा ग्रहण करने जाते हैं।
7. उकलाना व बरवाला सैंकड़ों लोग लंबे समय से हिसार में अपना कारोबार कर रहे हैं और जिला बदलने से उनका कारोबार प्रभावित हो जाएगा।

समिति के संयोजक सुरेंद्र लितानी ने बताया कि इसके अलावा भी अनेक ऐसी बाते हैं जिनके चलते हमें प्रस्तावित नए जिले हांसी में शामिल होने पर परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि उकलाना व बरवाला की जनता का हित हिसार जिले में शामिल रहने में हैं। अगर सरकार ने जनता की भावनाओं के खिलाफ चलते हुए उकलाना-बरवाला को प्रस्तावित नए जिले हांसी में शामिल करने का प्रयास किया तो दोनों खंडों की जनता एक बड़ा जन आंदोलन करने के लिए मजबुर होगी और जिसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। यहां की जनता किसी भी कीमत पर हांसी में शामिल नहीं होगी। उन्होंनेे कहा कि अगर सरकार उकलाना व बरवाला की जनता का हित ही करना चाहती है तो बरवाला को जिला का दर्जा देने का काम करें। जिसके लिए क्षेत्र की जनता आभारी रहेगी। उन्होंने कहा कि जनभावनाओं को देखते हुए उकलाना व बरवाला खंड को किसी भी कीमत पर प्रस्तावित नए जिले हांसी में शामिल न किया जाए और हिसार जिले में ही शामिल रखा जाए।

सिरसा जिला परिषद के अध्यक्ष के चुनाव में ओछे हथकण्डे अपनाकर बीजेपी ने दिखाया अपना असली चेहरा - गंगवा

हिसार, 29 अप्रैल : सिरसा जिला परिषद के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के लिए शुक्रवार को हुए चुनाव में जीत हासिल करने के लिए बीजेपी ने हर ओछा हथकण्डा अपनाया, परन्तु जागरूक जिला पार्षदों ने इस तानाशाही सरकार को उसकी औकात बता दी। ये बात नलवा से इनेलो विधायक रणवीर गंगवा ने कही। उन्होंने कहा कि सरकार के हर अनुचित दवाब की परवाह न करते हुए जिला पार्षदों ने सरकार के मुंह पर करारा तमाचा मारते हुए जनविरोधी सरकार को असलियत से रूबरू करवा दिया। वहीं इनेलो की नीतियों पर मोहर लगाने का काम किया। इनेलो विधायक ने नवनिर्वाचित अध्यक्ष व उपाध्यक्ष को बधाई देते हुए कहा कि ये जीत पूरे सिरसा जिले की जीत के साथ साथ पूरे हरियाणा की जीत है। प्रशासन के द्वारा चुनाव के समय इनेलो के वरिष्ठ नेता व विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला व अन्य विधायको को मीटिंग में जाने से रोकने की निंदा करते हुए इनेलो विधायक गंगवा ने कहा कि प्रदेश के हर जिले में हुए जिला परिषद अध्यक्ष के चुनावों में वहां के विधायकों को तो जाने दिया गया, यहां तक कि हिसार में हुए चुनावों में तो बीजेपी सरकार के वरिष्ठ मंत्री ने चुनाव से पूर्व पार्षदों को अपने पास बुला लिया तथा मीटिंग में भी वे स्वयं लेकर आये। सिरसा जिले में पांचो विधायक इनेलो के है। इसलिए सरकार ने यह निंदनीय हरकत की और उन्हें चुनाव के दौरान मीटिंग में अंदर नहीं जाने दिया। गंगवा ने इसे लोकतन्त्र की हत्या बताते इसे निंदनीय बताया।

स्वच्छ पेयजल की मांग को लेकर धरने पर बैठे सामाजिक कार्यकर्ता को इनेलो का समर्थन 



हिसार, 29 अप्रैल : सामाजिक कार्यकर्ता गंगापुत्र राजेश हिन्दुस्तानी की ओर से महाबीर कॉलोनी जलघर के पास स्वच्छ पेयजल की मांग को लेकर जारी धरने का इनेलो ने भी अपना समर्थन दिया है। इनेलो हलकाध्यक्ष सज्जन लावट, अमित ग्रोवर, डिप्टी मेयर भीम महाजन, युवा हलकाध्यक्ष रवि आहूजा व सुमित कुमार ने धरना स्थल पर पहुंचकर हिंदुस्तानी की मुहिम को सराहा और प्रशासन से मांग की कि शहरवासियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए वाटर वक्र्स में आने वाले पानी की स्वच्छता पर विशेष ध्यान दें। 
इनेलो नेता लावट ने कहा कि राजेश हिन्दुस्तानी ने ये स्वच्छ पेयजल व क्षेत्र की सफाई का जो बीड़ा उठाया है, वह वास्तव में केवल राजेश हिंदुस्तानी की समस्या न होकर पूरे शहर की समस्या है। प्रशासन की लापरवाही के चलते शहरवासियों को गंदगी भरा सीवरेज नाले की तरह का पानी पीना पड़ रहा है। कूड़ा-कर्कट गंदगी पेयजल में मिलाकर शरीर के अंदर गंदगी पहुंचाई जा रही है जो कि सफाई अभियान की सरकार की पोल खोल रहा है। लेकिन जन स्वास्थ्य विभाग, सिंचाई विभाग, नगर निगम, सरकार, प्रशासन किसी ने भी इस ओर आज तक गंभीरता से ध्यान नहीं दिया। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर प्रशासन ने इस दिशा में सख्त कदम नहीं उठाया तो इनेलो भी इसके लिए आंदोलन करने पर विवश हो जाएगी।
Age category for Skill Development should be reduced : Dushyant Chautala

Participating in the discussions over the issue of the skill development in Lok Sabha today, Hisar MP Shri Dushyant Chautala gave series of suggestions. In his address, Shri Dushyant Chautala said that first and foremost requirement is to look for skill in age category of 12-years and above instead of 15-years. He said that many types of the skills are there in children of Indian families but the need is to identify and polish the same. He argued, "With technology advancement the scope for the employment in the big companies is coming down. Are the ITI's and Skill Development Centres in our country able to provide the skilled labour to the big companies."
Shri Dushyant Chautala questioned that whether after keeping such a big budget for schemes like MANREGA and Women Self Help Groups, the government has been able to develop the skills in the beneficiaries of these schemes. "In Bikaner, the women still make handmade papad. Though it is done for the traditional flavour but is any work going on to acknowledge this skill to take it further", said the youngest parliamentarian. Referring to Punjab, he said that handmade Phulkari on Duppattas is also a skill but unfortunately the skills have been confined to machine tools only.
Shri Dushyant Chautala further said that the horizon of the skill of a farmer has to be broaden. "There are 494 vocational centres in Haryana and I myself had been visited to few of them. What I noticed was that set up is there, funds are but the youth are not taking the benefit of these centres imparting training. There is a need that these centres be connected with self help groups and even the smallest skills needs to be given a boost", he pointed out. Shri Dushyant Chautala also said that there is need for increasing the milk production and all the MP's must discuss the issue in the Vigilance Monitoring Committees of their respective constituencies. Shri Dushyant Chautala said that there is need for ten cr skilled labour but the department alone would not be able to do so. "Various government departments should work in tandem in this regard and everything should not be left just on the state governments", he asserted.
हमें स्किल 15 साल नहीं 12 साल के बच्चे में ढूंढनी होगी- दुष्यंत चौटाला

इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने लोकसभा में स्किल विकास विषय पर चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि हमें स्किल 15 साल नहीं 12 साल के बच्चे में ढूंढनी होगी, क्योंकि स्किल वंशानुगत भी होती है । उन्होंने कहा कि भारतीय परिवारों में कई तरहं की कलाएं पनप रही हैं हमें उनको भी निखारना होगा। आज देश की आबादी का 65 फीसदी गरीब है, इसके लिए हमारा सिस्टम जिम्मेदार है। बड़ी बड़ी कंपनीज़ ऑटोमेशन व् आधुनिक तकनीक के चलते रोजगार को कम भी कर रही हैं। उन्होंने कहा कि हम आईटीआई व् कौशल विकास केन्द्र खोल रहे हैं क्या ऐसे केंद्र बड़ी कंपनीज़ को तैयार स्किल्ड लेबर दे पा रहे हैं यह विचार का विषय है। उन्होंने कहा कि कम्पनीज हमारे ट्रैंड युवाओं को ट्रेनिंग व् अप्रेंटिस के नाम पर दोबारा ट्रेनिंग देती हैं। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि ग्रामीण विकास मंत्री जी बताये कि इतना बड़ा बजट, मनरेगा, महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप आदि के जरिये क्या हम स्किल डेवलपमेंट कर पाये? उन्होंने कहा कि बीकानेर जाने पर देखा कि आज भी पापड़ बनाने में महिलाऐं हाथों का इस्तेमाल करती हैं, यह पारंपरिक स्वाद के लिये किया जाता है। उन्होंने कहा कि क्या हम स्किल डेवेलोपमेंट में इसे एक कला के रूप में आगे ले जाने का काम कर रहे हैं ? उन्होंने कहा कि हम यह भूल रहे हैं कि हमारी विरासत में भी स्किल हैं जैसे पंजाब में औरते चुनरी पर फुलकारी निकालती हैं वो भी स्किल है। उन्होंने कहा कि मटके बनाने और उसे सजाने की भी एक स्किल थी। उन छोटे छोटे कलाकारिओं से 50 रुपए का मटका 150 का हो जाता था। उन्होंने कहा कि स्किल डेवलपमेंट का मतलब केवल औजार पेचकस चलाने तक सिमित कर दिया गया है।
मसांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मजदूर किसान की स्किल का सर्कल भी बढ़ाना होगा जिससे उसकी तरक्की हो। एजुकेशन फील्ड में भी स्किल डेवलपमेंट की बेहद कमी है। उन्होंने कहा कि आज हमारे प्रदेश हरियाणा में 494 वोकेशनल सेंटर खुले हैं, मैंने भी 2-3 मे देखा कि केंद्र हैं, पैसा है लेकिन युवा वहां आकर ट्रेनिंग नहीं लेना चाहता। हमारे डिपार्टमेंट में खाना, टिकट, कपड़े दिए जाते हैं लेकिन फिर भी युवा नहीं आता... इसके कारण पर विभाग चर्चा करे विचार करे।उन्होंने कहा कि सेल्फ हेल्प ग्रुप्स को जोड़ कर छोटी छोटी स्किल्स को बढ़ाना पड़ेगा जैसे दूध की प्रोडक्शन बढ़ाई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी सांसद मिलकर ज़िला विजीलैंस कमेटी की मीटिंग में अपने ज़िला की स्किल डेवलपमेंट पर विचार करें। उन्होंने कहा कि 10 करोड़ से ज्यादा स्किलड लेबर की जरुरत है। लेकिन अकेला विभाग इसे तैयार नहीं कर पायेगा। हमें सभी 63-64 विभाग मिलकर केंद्र से इस पर विचार करें। सभी योजनाओं को राज्यों पर निर्भर नहीं छोडऩा चाहिए। उन्होंने कहा कि इसे केंद्रीय विषय बना कर प्रगति की और लेकर जाना चाहिए।

Thursday, April 28, 2016

बिगड़ती कानून व्यवस्था के खिलाफ इनेलो ने हिसार में दिया धरना, शहर में किया प्रदर्शन


हिसार, 28 अप्रैल: प्रदेश व विशेषकर हिसार जिले में निरंतर बिगड़ रही कानून व्यवस्था की स्थिति के खिलाफ इनेलो की जिला इकाई ने गुरूवार को महाराजा अग्रसैन चौक हिसार पर धरने दिया और शहर के प्रमुख बाज़ारो में विरोध प्रदर्शन करते हुए पारिजात चौक पर सरकार का पुतला फूंककर बिगड़ती कानून व्यवस्था पर अपना विरोध जताया। धरने को संबोधित करते हुए इनेलो जिला अध्यक्ष राजेन्द्र लितानी ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था का पूरी तरह से जनाजा निकल चुका है, जिसे देखकर ऐसा लगता है कि बीजेपी तो सता के नशे में मस्त है और जनता भयग्रस्त है। राजेन्द्र लितानी ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से शहर में अपराधियों ने निरन्तर एक के बाद एक गम्भीर अपराध को अंजाम देकर पूरे शहर के व्यापारी व आमजन को डर के साये में जीने को मजबूर कर दिया है। 
धरने में इनेलो नेताओ ने स्वीटी व काँता शर्मा के हत्यारों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग के साथ शहर के व्यापारी देवकी जिंदल के अपहरणकर्ताओं सहित राजगुरु मार्केट में हुई चोरियों का भी जल्द सुराग लगाने की मांग की। इनेलो जिला अध्यक्ष राजेन्द्र लितानी ने बताया जब प्रशासन की किसी भी मामले में लगातार लापरवाही देखने को मिलती है तथा सत्ता में बैठे जन-प्रतिनिधि भी उस पर अपनी चुप्पी साधे रहते है तो फिर प्रशासन के साथ साथ शासन भी बराबर के दोषी होता है। क्योंकि प्रशासनिक अधिकारियो की नियुक्ति शासन के द्वारा ही की जाती है तथा वे ठीक कार्य कर रहे है या नही इसको देखना भी शासन का ही काम है। पिछले 10 दिनों में हुई अपराधिक घटनाओ पर बीजेपी नेताओं की चुप्पी बेहद रहस्यमय बनी हुई है। 
राजेन्द्र लितानी ने कहा कि इनेलो ने एक जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका निभाते हुए इन आपराधिक घटनाओ पर संज्ञान लेते हुए जिला उपयुक्त व जिला पुलिस अधीक्षक को सोमवार को ज्ञापन भी सौंपा था, परन्तु पुलिस की तरफ से अब तक कोई भी सकारात्मक परिणाम सामने नही आये। इसलिए प्रशासन व शासन को कुंभकर्णी नींद से जगाने के लिए इनेलो ने आज ये सांकेतिक धरना दिया है। उन्होंने कहा कि अगर फिर भी प्रशासन ने तुरंत कानून व्यवस्था को बहाल करने के लिए उचित कदम न उठाए और जिले में घटी घटनाओं में संलिप्त हत्यारों व अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार नही किया तो फिर इनेलो आंदोलन का अगला कदम उठाने से भी पीछे नही हटेगी। 
इस मौके पर नलवा से इनेलो विधायक रणवीर गंगवा, बरवाला के विधायक वेद नारंग, पूर्व शहरी विकास मंत्री सुभाष गोयल, पूर्व बिजली मंत्री अत्तर सिंह सैनी, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा, शीला भ्यान, राजेश गोदारा, राज सिंह मोर, धारा सिंह, सतबीर वर्मा, चतर सिंह, हरफूल खान भट्टी, सतबीर सिसाय, सतपाल सरपंच, सत्यवान, भागीरथ नम्बरदार, राजीव शर्मा, राव इंद्र फौजी, रमेश गोदारा, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, अमित बुरा, रवि आहूजा, तरुण जैन, राजेन्द्र चुटानी, अमित ग्रोवर, विक्रांत बागड़ी, ललिता टांक, डॉ राज कुमार दिनोदिया, डॉ उमेद खन्ना, डॉ सत्य नारायण, एडवोकेट राम लाल विमल, प्यारे लाल गोयल, मुकेश सेठी, वेद कौर पूनिया, संतोष पानू, राज हसीना, शन्नो देवी, कांता देवी, जिला पार्षद राम प्रशाद गढ़वाल, निगम पार्षद राजपाल मांडू, मास्टर प्रहलाद, गुरदीप चड्डा, मुकेश वर्मा, मोहित अरोड़ा, नितिन पपनेजा, रमेश चुघ, आशीष कुंडू, संदीप राज कुमार सलेम गढ़, राजबीर खान, छोटू राम प्रधान, परवीन ढांडा, संजय सांगवान, सतीश सोनी, सतबीर कस्वां सहित काफी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Wednesday, April 27, 2016

दुष्यंत लोकसभा की अस्टीमेट कमेटी के सदस्य चुने गए
चंंडीगढ़, 27 अप्रैल : इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला को लोकसभा की अस्टीमेट कमेटी का सदस्य चुना गया है। लोकसभा की इस कमेटी में सांसद डा. मुरली मनोहर जोशी, श्रीमती पूनम महाजन, अर्जुनराम मेघवाल सहित 20 से अधिक सदस्य हैं। इस कमेटी के लिए पिछले दिनों सदन में चुनाव हुआ था जिसमें सांसद दुष्यंत चौटाला को भी चुना गया है। यह कमेटी एक मई 2016 से अपना काम शुरू करेगी और इसका कार्यकाल एक वर्ष तक रहेगा। 
सांसद दुष्यंत चौटाला के अलावा इस कमेटी में सांसद सुल्तान अहमद, जार्ज बाकर, कल्याण बैनर्जी, अशोक शंकराव चव्हाण, अश्विनी कुमार चौबे, रामतहल चौधरी, संजय धोतरे, रमन डेका, सुधीर गुप्ता, पी कुमार, केएय पुन्नीयप्पा, राजेश पांडेय, कविता कल्वाकुतला , पीसी जोड़ीजोद्दार, सोनाराम चौधरी, ए. अरूणमोजीथेवन आदि भी सदस्य हैं।

Tuesday, April 26, 2016

तीन लाख से आठ लाख की जाए किसान क्रेडिट कार्ड की ऋण सीमा: दुष्यंत

हिसार लोकसभा से सांसद दुष्यंत चौटाला ने किसानों की समस्याओं को देखते हुए उनके लिए के्रडिट कार्ड सीमा को तीन लाख से बढ़ाकर आठ लाख रुपए करने की मांग की है। मंगलवार को लोकसभा में बोलते हुए सांसद चौटाला ने कहा कि किसान क्रेडिट कार्ड वर्ष 1999 में राजग सरकार द्वारा शुरू किया गया था। इसके तहत किसान सात प्रतिशत ब्याज दर से तीन लाख रुपए तक का लोन ले सकता है और इसका भुगतान छह महीने तक करना होता है। सांसद चौटाला ने कहा कि वर्तमान में कृषि की लागत कई गुणा बढ़ गई है, जिससे किसान क्रेडिट कार्ड के तहत दिए जाने वाले लोन की सीमा को भी बढाया जाना समय की जरूरत है। इसलिए इसे तीन लाख रुपए से बढ़ाकर छह लाख रुपए किया जाए। सांसद चौटाला ने कहा कि किसान क्रेडिट कार्ड के तहत लिए जाने लोन की अदायगी भी छह महीने में करनी होती है, जबकि एक फसल चक्र भी छह महीने का ही होता है और किसान इस स्थिति में नहीं होता कि अपनी एक फसल की लागत व अन्य खर्चे निकालकर वह अपने ऋण की पूर्ण अदायगी कर सके। यह अव्यवहारिक व असंभव कार्य है। इसे भी परिवर्तित किया जाना चाहिए।
डॉ. भीमराव अंबेडकर के आदर्शों को जन-जन तक पहुंचाया जाएगा : बलदेव वाल्मीकि


जींद, 26 अप्रैल : इनेलो के जींद कार्यालय में मंगलवार को पार्टी एससी सैल राज्य कार्यकारिणी की बैठक हुई। बैठक में फैसला लिया गया कि एक मई से डॉ. भीमराव अंबेडकर की 125वीं स्वर्ण जयंती को पूरे महीने मनाया जाएगा। इसके तहत डॉ. भीमराव अंबेडकर की नीतियों को जन-जन तक पहुंचाने का काम किया जाएगा। इसके साथ-साथ पूर्व उपप्रधानमंत्री जननायक चौ. देवीलाल का दलितों के प्रति स्नेह व उनके कार्यों का भी प्रचार प्रसार किया जाएगा और गांव-गांव में बैठकें की जाएंगी। बैठक की अध्यक्षता करते हुए इनेलो एससी सैल के प्रदेश अध्यक्ष बलदेव वाल्मीकि ने कहा कि एससी सैल को मजबूत करने के लिए जिला एवं ब्लॉक स्तर पर यूनिटों का गठन किया जाएगा। इसके तहत जिला अध्यक्ष अपने ब्लॉक अध्यक्षों के साथ गांव-गांव जाकर इनेलो की नीतियों से लोगों को अवगत करवाएंगे। इसके साथ-साथ डॉ. भीमराव अंबेडकर की स्वर्ण जयंती के तहत ग्रामीणों को डॉ. भीमराव अंबेडकर की नीतियों व उनके आदेर्शों के प्रति भी जागरुक किया जाएगा। 
बलदेव वाल्मीकि ने कहा कि विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला तथा इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोडा़ के दिशा-निर्देश के तहत पार्टीे की नीतियों का प्रचार करने के साथ-साथ भाजपा की दोगली तथा जनविरोधी नीतियों से भी जनता को अवगत करवाया जाएगा। वाल्मीकि ने कहा कि आज तक जितनी भी सरकारें बनीं हैं, भाजपा सबसे बड़ी दलित विरोधी पार्टी साबित हुई है। भाजपा ने प्रदेश में जातिवाद का जहर घोलने का काम किया है। भाजपा के कारण ही जिस हरियाणा की भाईचारे के नाम पर विदेशी में भी साख थी, उसको धब्बा लगा है। ऐसी जनविरोधी तथा जातिवाद फैलाने वाली पार्टी को जनता कभी बर्दाशत नहीं करेगी। बैठक को सैल के प्रदेश प्रभारी एवं पूर्व विधायक चौ. मामूराम, पूर्व विधायक रमेश खटक, प्रदेश महासचिव सरोज शामड़ी, प्रदेश सचिव राजबीर वाल्मीकि रोहतक, प्रांतीय उपाध्यक्ष अमरनाथ बग्गन, जिला अध्यक्ष अंबाला ईकबाल सोहाता, फतेहाबाद से सतबीर दहमना, रमेश लाली, करनाल से भीम सिंह जलाला, कुरुक्षेत्र से चंद्रभान किरमच, रामफल जुंडला, राजेश पदाना, प्रदेश प्रचार सचिव धीराज खटक पूर्व पार्षद, हलका प्रधान इंद्री उमेश रिंडल, सुरजीत सिंह नारायणगढ़,  झंडुराम चौहान, असंध हलका प्रधान से कृष्ण कुमार सहित अनेक नेताओं ने संबोधित किया।
जुलाना व जीन्द के विकास के लिए राज्यपाल से मिले विधायक ढुल, हस्तक्षेप की मांग


चंंडीगढ़, 26 अप्रैल। जुलाना से इनेलो विधायक परमेन्द्र सिंह ढुल ने आज प्रदेश के राज्यपाल प्रोफेसर कप्तान सिंह सोलंकी के समक्ष जुलाना को सब डिवीजऩ बनाए जाने की मांग करते हुए उनसे इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की। उन्होंने कहा किजुलाना सब-डिवीजऩ बनाने के साथ-साथ जुलाना के सभी 72 गाँवों को जीन्द जिले के साथ ही रहने दिया जाए। ज्ञापन के माध्यम से विधायक ढुल ने कहा की जुलाना व जीन्द में पहले से ही सुविधाओं का अभाव है। बिजली, पानी, सडक़ से लेकर शिक्षा, स्वास्थ्य तथा खेल से जुडी आधारभूत बुनियादी सुविधाओं की क्षेत्र में पहले से ही कमी है। 
उन्होंने कहा कि ऐसे में पिछले एक दशक से भी लम्बे समय से मांग थी की जुलाना सब-डिवीजऩ बने और सरकार तथा अधिकारियों का जनता से सीधा सम्पर्क हो जिससे सरकारी स्कीमों का क्रियान्वन तुरन्त हो सके। हैरानी का विषय है की सदन में बार-बार बहस में सरकार स्वीकारती है की जुलाना हल्का व जीन्द जिला विकास की दृष्टि से पीछे छूट गया ह,ै परंतु धरातल पर काम करवाने के लिए कोई योजना नहीं। एनसीआर में होने के बावज़ूद किसी भी विकास योजना में जिले का नाम नही आता। सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। उन्होंने कहा की मगर अब साफ़ हो चला है की कांग्रेस के बाद अब बीजेपी भी जुलाना को विकास से वंचित ही रखना चाहती है।
उन्होंने कहा यही नहीं बल्कि जिस प्रकार से जीन्द-रोहतक मार्ग के चौड़ाकरण पर चल रहे काम पर रोक लगा दी गई है उससे साबित हो जाता है कि बीजेपी की जुलाना व जीन्द को विकास से दूर रखने की नीति योजनाबद्ध है। हाईवे पर काम रुकने से वर्षों से लम्बित पड़ा जीन्द बाईपास फिर से ठण्डे बस्ते में डाल दिया गया है। यह हाल तब है जबकी जीन्द प्रदेश के सबसे पुराने जिलों में से एक है। विकास करवाना जहां सरकार की प्राथमिकता होनी चाहिए थी, इसके ठीक विपरीत विकास में अनदेखी हो रही है। ज्ञापन के माध्यम से विधायक ढुल ने जीन्द-रोहतक मार्ग पर रुके काम को तुरन्त शुरू करवा कर इसे अमृतसर तक पहुँचाए जाने की मांग भी रखी। ऐसा हो जाने से न सिर्फ क्षेत्रवासियों को सुविधा मिलेगी बल्कि प्रदेश के अन्य हिस्सों में भी यातायात के आवागमन में सुधार होगा तथा दिल्ली से अमृतसर के यात्रियों को सफर करने का एक और रास्ते का विकल्प मिल जाएगा। इस सन्दर्भ में वह केन्द्र सरकार को भी मांगपत्र सौंप चुके है मगर सरकार जिले को विकास से दूर रखना चाहती है। इस विषय पर विधायक ढुल ने राज्यपाल महोदय से केन्द्र सरकार के समक्ष भी हस्तक्षेप करने की मांग की। 

Monday, April 25, 2016

सांसद दुष्यंत चौटाला ने संसद में उठाया राखी गढ़ी पर्यटन स्थल का मुद्दा

इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद ने आज संसद में जिला हिसार के ऐतिहासिक स्थल राखी गढ़ी के साथ प्राचीन सरस्वती नदी के साथ हरियाणा प्रदेश के पर्यटन स्थलो का मुद्दा उठाते हुए पर्यटन राज्य मंत्री से इस सम्बन्ध में सवाल किये। सांसद चौटाला ने संसद में बोलते हुए पूछा कि हमारे देश में प्रति वर्ष 1 करोड़ 34 लाख स्थानीय व लगभग साढ़े पांच लाख विदेशी पर्यटक आते है, तो केंद्र सरकार व राज्य सरकार पर्यटन विकास के लिए क्या परियोजनाए बना रही है। साथ ही साथ उन्होंने सवाल उठाया कि साल 2011-12 में 80 लाख तो साल 2013-14 में 75 लाख रूपये का बजट जारी किया जब कि साल 2012-13 व 2014-15 में कोई राशि जारी नही की गयी।उन्होंने कहा कि सरस्वती नदी हरियाणा प्रदेश ही नही बल्कि पुरे देश का गौरव है तो सरकार इसको लेकर क्या कर रही तथा क्या इसका पानी लाया जा सकेगा। सांसद के सवालो के जवाब में संस्कृति व पर्यटन विकास राज्य मंत्री डॉ महेश शर्मा ने जवाब देते हुए बताया कि 2012-13 व 2014-15 में प्रदेश सरकार की तरफ से प्रोजेक्ट रिपोर्ट व यूटिलाइजेशन सर्टिफिकेट जमा न करवाये जाने के कारण केंद्र सरकार की तरफ से इसे जारी नही किया जा सका। राखी गढ़ी में पुरातत्व विभाग के साथ मिलकर इसे ऐतिहासिक पर्यटन स्थल बनाये जाने को लेकर कार्यवाही की जा रही है। वंही सरस्वती नदी प्रोजेक्ट को लेकर भी सरकार गम्भीर है तथा इस सन्दर्भ में एक कमेटी भी बना दी गयी है। 
पहली मई को पंचकूला से इनेलो शुरू करेगी प्रदेश भर में सद्भावना बैठकें : अशोक अरोड़ा

चंंडीगढ़, 25 अप्रैल :  इनेलो की ओर से पहली मई से प्रदेश के सभी 90 हलकों में शुरू की जा रही सद्भावना बैठकें पंचकूला से शुरू की जाएंगी। ये बैठकें बाबा साहिब भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती को समर्पित होंगी। इन बैठकों को नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा सहित इनेलो के वरिष्ठ नेता संबोधित करेंगे। यह जानकारी देते हुए पार्टी के  प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने बताया कि रोजाना तीन जिलों के अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों में सद्भावना बैठकें आयोजित की जाएंगी। उन्होंने बताया कि पहले चरण में पहली मई को पंचकूला में कालका व पंचकूला जिले की पहली बैठक के अलावा उसी दिन दूसरी बैठक अम्बाला जिले के नारायणगढ़ हल्के में और तीसरी बैठक यमुनानगर जिले के सढ़ौरा में होगी।श्री अरोड़ा ने बताया कि 2 मई को कुरूक्षेत्र जिले के शाहबाद, करनाल जिले के नीलोखेड़ी, पानीपत ग्रामीण में, 3 मई को पुन्हाना, होड़ल व पिरथला में, 4 मई को पटौदी, बावल व अटेली, 6 मई को झज्जर, दादरी व कलानौर में, 7 मई को ऐलनाबाद की चौपटा में, फतेहाबाद की भट्टू में व तीसरी बैठक उकलाना में और 8 मई को कैथल जिले के पुंडरी, जींद जिले के सफीदों और सोनीपत जिले के गोहाना व बरोदा हल्कों की बैठक होगी। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण की बैठकों की भी जल्दी ही घोषणा कर दी जाएगी।

Friday, April 22, 2016

सांसद दुष्यंत चौटाला ने राजस्थान कृषि विवि के वैज्ञानिकों से कपास में सफेद मक्खी की समस्या पर चर्चा की 


हिसार, 22 अप्रैल : पिछले वर्ष कपास की फसल में सफेद मक्खी बीमारी के चलते किसानों को हुए नुकसान को देखते हुए हिसार लोकसभा से सांसद दुष्यंत चौटाला अभी से गंभीर हो गए हैं। उन्होंने इस मुद्दे को लेकर स्वामी केश्वानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय बीकानेर के वीसी व कृषि वैज्ञानिकों से मुलाकात की और उक्त समस्या को विस्तार से विचार विमर्श करते हुए उन्हें 30 अपै्रल को गांव सिसाय में प्रस्तावित किसान मेले में पहुंचने का न्यौता दिया ताकि वे किसानों को इस बीमारी की रोकथाम व उपचार के तरीकों से अवगत करा सके।
इससे पूर्व विवि में पहुंचने पर सांसद चौटाला का वीसी डॉ बीआर छिंपा व अन्य वैज्ञानिकों ने फूल मालाओं के साथ स्वागत किया और खुशी जाहिर की देश का सबसे युवा सांसद किसानों की समस्या के प्रति कितना संजीदा है। वैज्ञानिकों से विचार विमर्श करते हुए सांसद चौटाला ने कहा कि सफेद मक्खी बीमारी के चलते पिछले वर्ष किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ा था। कई किसानों ने तो खड़ी फसल पर ही टैक्ट्रर चला दिया था। इसलिए कृषि वैज्ञानिक इस दिशा में किसानों की मदद करे। कृषि वैज्ञानिकों ने कहा कि हरियाणा, राजस्थान व पंजाब तीनों प्रदेश ही कृषि आधारित प्रदेश हैं। इसलिए वे किसानों की इस समस्या के प्रति पहले से ही गंभीर है। कॉटन वैज्ञानिक डॉ. नहरा ने बताया कि पिछली बार कॉटन में हुए नुकसान के बाद हाइब्रीड टेस्ट किए गए थे, जिसमें सब स्टैंडर्ड बीज मिले। वहीं समय पर बिजाई ना होना भी इस बीमारी का मुख्य कारण रहा। इसके अलावा फसलों पर सफेद मक्खी बीमारी का प्रकोप होने के बावजूद कई किसानों ने अपनी फसलें खड़ी रखी, जिससे आस पास के खेतों की फसल भी प्रभावित हुई थी। सांसद चौटाला ने कृषि वैज्ञानिकों को न्यौता देते हुए कहा कि वे हरियाणा में आए और किसानों को सफेद मक्खी बीमारी होने के कारण व उनके बचाव के बारे में विस्तार से जानकारी दें। इसके साथ ही सांसद चौटाला ने कहा कि उनका लोकसभा क्षेत्र का अधिकांश इलाका राजस्थान की सीमा से लगता हुआ है। इसलिए कृषि वैज्ञानिक मूंग, गवार व चना आदि फसलों की ऐसी किस्म विकसित करें, जिससे इस शुष्क क्षेत्र के किसानों को भी पूरा लाभ मिले। वैज्ञानिकों ने बताया कि ऐसे क्षेत्रों के लिए ही राजस्थान कृषि विवि ने चने की फसल विकसित की है। जिससे विशेष तौर पर बालसमंद, नलवा आदि के सीमावर्ती इलाकों वे पानी की कमी से ग्रस्त लोहारू, बाढड़ा, भट्टू आदि के किसानों को फायदा पहुंचेगा। वीसी डॉ. छिंपा ने खुशी जताई कि आज का युवा भी कृषि के बारे में इतनी गंभीर जानकारी रखता है। उन्होंने कहा कि ऐसे सांसद को चुनकर किसान भी निश्चिंत रहें, क्योंकि सांसद चौटाला उनकी हर समस्या को गंभीरता से सुलझाने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने सांसद चौटाला को आश्वासन दिया कि विवि के वैज्ञानिकों की टीम शीघ्र ही हरियाणा का दौरा करेगी और किसानों से मिलकर उनकी समस्याओं के समाधान की भरपूर कोशिश की जाएगी। 

Thursday, April 21, 2016

पूर्व मुख्यमंत्रियों को कोठी, कार व स्टाफ देने का प्रावधान तुरंत वापिस लिया जाए: अभय चौटाला



चंंडीगढ़, 21 अप्रैल: विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने हुड्डा सरकार द्वारा ख्रुद को लाभ पंहुचाने के वास्ते सत्ता से जाते- जाते लिए गए उस फैसले को तुरंत वापिस लिए जाने की मांग की है, जिसमें कांग्रेस सरकार द्वारा पूर्व मुख्यमंत्रियों को चंडीगढ़ में कोठी, कार, स्टाफ व अन्य सुविधाएं दिए जाने का प्रावधान किया गया था। नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को लिखे एक पत्र में कहा कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार को जब यह अहसास हो गया कि वे वापिस सत्ता में आने वाली नहीं है, तो उन्होंने यह आदेश पारित कर दिया कि पूर्व मुख्यमंत्रियों को चंडीगढ़ में कोठी, कार, स्टाफ व मंत्रियों के समान अन्य सुविधाएं मिलेंगी। 
चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि जब यह फैसला लिया गया, उस समय प्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्रदेश में बच्चे-बच्चे को यह पता था कि कांग्रेस सत्ता से बाहर जा रही है और इसके सत्ता में वापस आने के कोई आसार नहीं है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने सरकारी पद का दुरूपयोग करते हुए अपने स्वंय के हित में यह फैसला महज इसलिए लिया ताकि सरकार में रहते हुए बतौर मुख्यमंत्री उन्हें चंडीगढ़ में जो सरकारी सुविधाएं मिल रही थी, वे सभी सुविधाएं उन्हें सत्ता से बाहर होने पर भी सरकारी खर्च पर मिलती रह सकें। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा को चंडीगढ़ में सरकारी बंगला, कार, स्टाफ व मंत्रियों के समान दी गई अन्य सुविधाएं सरकारी खजाने पर अनावशयक बोझ है। इनेलो नेता ने कहा कि प्रदेश में आरक्षण आंदोलन के दौरान घटी आगजनी व लूटपाट की घटनाओ में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की कथित भूमिका को आज प्रदेश में हर कोई जानता है, ऐसे में उन्हें केबिनेट मंत्री के समान दी गई सरकारी बंगले, कार, स्टाफ व अन्य सुविधाएं तुरंत वापिस ली जाएं जोकि सरकारी खजाने पर अनावशयक बोझ है। 
हिसार संसदीय क्षेत्र की रेलवे से सम्बंधित समस्याओ को लेकर रेलवे के उच्च अधिकारियों से बीकानेर में मिले सांसद दुष्यंत चौटाला 


बीकानेर, 21 अप्रैल : हिसार की व्यस्तम कैमरी रोड पर अगले छह महीनों में आरयूबी तैयार हो जायेगा। जिससे इस क्षेत्र के लोगो को हर रोज लगने वाले जाम से राहत मिलेगी। यह जानकारी बीकानेर मण्डल के एडीआरएम जी एस भवरिया ने सांसद दुष्यंत चौटाला को दी। हाल ही के रेलवे बजट में हिसार संसदीय क्षेत्र के लिए पांच रेलवे ओवर ब्रिज सहित कई रेलवे अंडर ब्रिज बनाने का प्रावधान रखा गया था। इसे लेकर व इनको जल्द से जल्द बनवाये जाने को लेकर वीरवार को सांसद दुष्यंत चौटाला ट्रेन से बीकानेर पहुंचे व रेलवे के एडीआरएम सहित अन्य अधिकारियों से मिले। सांसद चौटाला ने अधिकारियों को बजट में पास प्रावधानों पर जल्द से जल्द काम करने के कड़े निर्देश दिए । इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि कैमरी रोड फाटक पर आर यू बी के लिए 2 करोड़ 80 लाख का बजट जारी हो चूका है, जल्द ही इसके टेण्डर छोड़े जाएंगे। इसी प्रकार वाशिंग यार्ड के लिए भी 9 करोड़ 50 लाख रूपये की राशि आ चुकी है। जो कि मार्च 2017 तक पूरा हो जाएगा। रेलवे कर्मचारियों के लिए बनने वाले क्वार्टरो के लिए भी पैसा जारी किया जा चूका है। सांसद चौटाला ने रेलवे अधिकारियो से सेक्टर 16-17, सूर्य नगर, आदमपुर में बनने वाले रेलवे ओवर ब्रिज भी जल्द बनाये जाने की बात मीटिंग में रखी। इसके साथ किसान एक्सप्रेस का ठहराव बवानी खेड़ा में भी करने का प्रस्ताव रखने के साथ- साथ सूर्य नगर पर आर ओ बी के साथ साथ आरयूबी भी बनाने की बात कही। सांसद का तर्क था कि केवल आर ओ बी बनने से सूर्य नगर व शिव कॉलोनी के स्थानीय निवासियों को कोई फायदा नही होगा। इस पर रेलवे ए डी आर एम ने सांसद की इस मांग पर विशेष ध्यान देते हुए इसे पूरा करवाने का आश्वासन भी दिया। वहीं अधिकारियों ने बताया कि बजट में जिन आरओबी बनाने का प्रावधान रखा गया है उन पर कार्यवाही प्रारम्भ कर दी गई है जल्द ही इस सम्बंध में राज्य सरकार से पत्राचार किया जाएगा। सांसद ने हिसार स्टेशन को प्रथम चरण में ही वाइ फाई से जोडऩे के लिए कार्यवाही के निर्देश दिए।

Wednesday, April 20, 2016

गेहूं पर 500 रुपये क्विंटल बोनस दिया जाए -जिलाध्यक्ष पदम सिंह दहिया 


सोनीपत 20 अप्रैल: बीजेपी सरकार के मंत्री और विधायक केवल किसानों का मजाक उड़ाते हैं। बीजेपी के नेताओं को इतनी भी शर्म नहीं कि किसान दिन रात मेहनत करके बारिश, तपती दोपहर, शीतलहर की परवाह किए बिना लोगों का पेट भरने के लिए अन्न पैदा करता है और मौजूदा सरकार किसानों को प्रति पुरी तरह लापरवाह होने के साथ उनपर कटाक्ष करके अपनी छोटी सोच का परिचय दे रही है। इनेलो पार्टी के जिलाध्यक्ष पदम सिंह दहिया ने बुधवार को सोनीपत स्थित नई अनाज मण्डी का दौरा करते हुए बीजेपी व कांग्रेस पर जमकर बरसे और कहा कि बीजेपी सरकार किसान का दर्द कभी नहीं समझ सकती वोट लेने के समय तो बीजेपी के नेताओं ने स्वामिनाथन रिर्पोट लागू करने की बात कही थी परन्तु अब किसान को लागत मूल्य भी नहीं मिल रहा। दहिया ने सरकार से गेहूं पर 500 रुपये क्विंटल बोनस देने की मांग की। 
  इस मौके पर इनेलो पार्टी के सोनीपत से रहे प्रत्याशी सुरेन्द्र पवार ने कहा कि मंडी में पीने के पानी की व्यवस्था भी नहीं है। मंडी में पानी इस लायक भी नहीं कि पशूओं को भी पिलाया जा सके। पवार ने कहा बीजेपी की करनी और कथनी में जमीन आसमान का अंतर है। इस मौके पर हल्काध्यक्ष सुरेन्द्र छिक्कारा ने कहा कि भूपेन्द्र हुड्डा को दस साल तक किसानों की याद नहीं आई। आज वे किसान होने का ढोंग करते है। कांग्रेस सरकार में उन्होने किसान की जमीन हड़पने का काम किया। 
इस मौके पर युवा जिलाध्यक्ष कुणाल गहलावत ने कहा युवा इनेलो किसान के साथ अनदेखी बर्दास्त नहीं करेगी। बीजेपी सरकार की उल्टी गीणती शुरू हो गई है। गहलावत ने कहा युवा इनेलो लागो क े बीच में जाकर बीजेपी सरकार की पोल खोलने का काम करेगी। 
इस मौके पर प्रदेश प्रचार सचिव राजकुमार रिढ़ाउ, पूर्व चैयरमेन सतपाल गोयल, सुरेन्द्र पवार, सुरेन्द्र छिक्कारा, युवा जिलाध्यक्ष कुणाल गहलावत, रामकिशन तुषीर, अशोक राणा, हरिप्रकाश मण्डल, संदीप ठरू, अजीत आंतिल, भैयराज दहिया, जितेन्द्र वर्मा, मोनू शर्मा, फुलकुवार चौहान, जयपाल कादियान, प्रदीप बड़वासनी, जिले सिंह दहिया, अशोक मलिक, प्रो. बंसीलाल, संदीप गहलावत, आशीष सुहाग, दिवान सिंह, र्कितन मलिक आदि कार्यकर्ता मौजूद थे।

Tuesday, April 19, 2016

दुष्यंत के प्रयासों से दस साल बाद खासा महाजनान गाँव में चली रोडवेज़ बस


हिसार, 19 अप्रैल: आदमपुर हलके के गांव खासा महाजन में लगभग पिछले 10 वर्षो से रोडवेज़ की कोई बस नहीं जाती थी, जिससे ग्रामीणों के साथ साथ विद्यर्थियों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता था। पिछले दिनों जब गांव के कुछ विद्यार्थी व युवा क्लब के सदस्य अपनी इस समस्या को लेकर इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला से मिले तथा उन्हें अपनी इस मुलभूत समस्या से अवगत करवाया। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने रोडवेज़ के आला अधिकारियों से बात की और उन्हें इस सम्बन्ध में पत्र लिखकर इस समस्या को दूर करने को कहा। अब सांसद के सकारात्मक प्रयासों की बदौलत गांव में रोडवेज़ की बस चलने लगी है। गांव के लोगों में इसे लेकर ख़ुशी का माहौल है। जब बस गांव में पहुंची तो ग्रामीणों ने बस के चालक व परिचालक का फूल माला पहनाकर स्वागत किया। वहीं सांसद चौटाला के प्रयासों की सराहना करते हुए उनका आभार भी जताया। बस के परिचालक ने बताया कि यह बस सुबह सवा नौ बजे आदमपुर से चलकर कोहली, कालीरावन, खासा, फ्रांसी व अग्रोहा होते हुए हिसार पहुंचेगी तथा दोपहर एक बजे हिसार से अग्रोहा, फ्रांसी, खासा, कालीरावन, कोहली होते हुए आदमपुर पहुंचेगी। 
इस मौके पर युवा क्लब खासा के पदाधिकारियों ने बताया कि इस बस के चलने से विशेष रूप से विद्यार्थियों को बहुत फायदा होगा। इस अवसर पर पूर्व सरपंच दरिया सिंह, पूर्व चैयरमेन कश्मीरी लाल, युवा क्लब के प्रधान धर्मपाल मेहरिया, बलवान कुलहडिय़ा पंच, जसवंत भाम्भू, सुरेन्द्र भाम्भू, कविता, पूनम दीपक, परवीन खटकड़, सुनील फगेडिया, कुलदीप फगेडिया, सोनू व विकास सहित बहुत से ग्रामीण उपस्थित थे।

Monday, April 18, 2016

इनेलो शहरी पदाधिकारियों ने किया जलघर का निरीक्षण


हिसार, 18 अप्रैल इनेलो सांसद दुष्यन्त चौटाला के दिशा निर्देशों पर इनेलो हिसार की शहरी इकाई ने हलका अध्यक्ष सजन लावट व युवा हलका अध्यक्ष रवि आहूजा के नेतृत्व में सोमवार को महावीर कॉलोनी स्थित शहर के मुख्य जलघर का निरीक्षण किया। वहां पर फैली गंदगी व जलघर के अंदर जमी काई की मोटी परत को देखकर इनेलो नेताओ ने गहरी चिंता जताई। मौके पर विभाग के कनिष्ठ अभियंता राज कुमार जांगड़ा को बुलाकर इस बारे में अवगत कराया तो उन्होंने बताया कि वे कई बार इस सम्बन्ध में उच्च अधिकारियों को लिख चुके है, लेकिन अभी तक इसके लिए किसी प्रकार के बजट की व्यवस्था नहीं हो पाई है और न ही इसके लिए विभाग में नियमित कर्मचारी है। इस पर इनेलो नेता सजन लावट ने गहरी चिंता जताते हुए विभागीय अधिकारियों के साथ साथ स्थानीय विधायक व सीपीएस को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि इनकी निष्क्रियता का खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। बार बार शिकायतें मिलने के बाद भी सत्ता में बैठे किसी भी जनप्रतिनिधि ने इस और कोई ठोस कदम नही उठाया। अगर बीजेपी नेताओ को शहर के लोगो की चिंता होती तो अपने संगठन के लिए ऑनलाइन सदस्यता की बजाए मुलभुत समस्याओं की तरफ ध्यान देते। लावट ने कहा कि भाजपा के नेताओं के द्वारा जनता की तकलीफों की तरफ से मुंह मोडऩे के कारण ही सरकारी विभागीय अधिकारी भी कुम्भकर्णी नींद सोये हुए है। यही कारण है कि समय रहते जनस्वास्थ्य विभाग ने इस और ध्यान नहीं दिया और आज शहर की जनता को भारी पेयजल संकट का सामना करना पड़ रहा है। लावट ने सांसद दुष्यंत चौटाला के प्रयासों की सराहना करते हुए बताया कि सांसद ने विभागीय अधिकारियों को पत्र लिखकर इस समस्या का समाधान करने के लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था करने के लिए अपनी सांसद निधि से फण्ड उपलब्ध करवाने की पेशकश की है। वहीं इनेलो नेताओ ने विभागीय अधिकारियो को कहा कि इनेलो जनता को इस समस्या से निजात दिलाने के लिए कार सेवा भी करने के लिए तैयार है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों व सरकार को चेतावनी देते हुए आगाह किया कि अगर अगले एक दो दिनों में इस समस्या का समाधान नहीं किया तो जनसहयोग से अधिकारियों का घेराव किया जायेगा। इस मौके पर राज कुमार राड़ा, मोंटी पहलवान, मोहित अरोड़ा, उदयवीर दहिया, सतीश सोनी, अमित आहूजा, राकेश सरोलिया, विनोद सैनी, हिमांशु मगु सहित बहुत से इनेलो पदाधिकारी उपस्थित थे।
दौलतपुरिया ने नहला गांव लिया गोद, ग्रामीणों से मिल बनाई विकास की रूपरेखा


फतेहाबाद, 18 अप्रैल : प्रदेश सरकार द्वारा हर विधायक द्वारा अपने अपने विधानसभा क्षेत्र में किसी एक गांव को गोद लेकर उसे विकसित किए जाने की योजना के तहत फतेहाबाद के विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया ने फतेहाबाद हल्के के गांव नहला को गोद लेने की घोषणा की। विधायक गोद ग्रामीण योजना के तहत लिए गए इस निर्णय उपरांत एमएलए दौलतपुरिया आज पार्टी पदाधिकारियों के साथ गांव नहला पहुंचे और गांव के गणमान्य लोगों से विकास के विभिन्न मुद्दों बारे चर्चा करके ग्रामीण विकास की रूपरेखा तैयार की। इस दौरान उनके साथ जिला प्रधान बलविन्द्र कैरों, हलका प्रधान भरत सिंह परिहार, विकास मेहता, पूर्व चेयरमैन होशियारसिंह नहला,  अनिल नहला सहित पार्टी के कई अन्य प्रमुख पदाधिकारी व कार्यकत्र्ता भी उपस्थित रहे।
ग्रामीणों को संबोधित करते हुए विधायक दौलतपुरिया ने बताया कि गांव के लोग पिछले दिनों उनसे गांव की समस्याओं को लेकर मिले थे। तब हुई मुलाकात में ग्रामीणों ने जो समस्याएं नहला गांव के बारे में बताई, वे इस गांव को विकसित होने में सबसे बड़ी बाधा प्रतीत हुई। ग्रामीणों ने जब उनसे नहला गांव गोद लेकर इसे विकसित करवाए जाने का आग्रह किया तो उन्होंने इसे सरकार की विधायक ग्राम गोद योजना के तहत गोद लेकर विकसित करने का आश्वासन दिया था। विधायक के अनुसार बाद में सरकारी स्तर पर उन्होंने नहला गांव को गोद लेने की योजना को सिरे चढ़ाया। उन्होंने ग्रामीणों से गांव के विकास में सहयोग की अपील करते हुए उन्हें आश्वस्त किया कि बेशक यह नहला को विकसित करने के लिए केवल मात्र एक शुरूआत है, लेकिन यदि सरकार ने बिना किसी भेदभाव के इस योजना के लिए उन्हें भरपूर बजट जारी किया और ग्रामीणों का सहयोग इसी प्रकार बरकरार रहा तो वे जल्द नहला गांव जिले का सबसे विकसित गांव होगा। 
इनेलो विधायक ने जिले के अन्य पिछड़े गांवों के विकास की तरफ भी प्रदेश सरकार का आह्वान किया कि वे हर पिछड़े गांव को विकसित करने में निष्पक्ष तौर पर प्रयास करें, जिससे वास्तविक हरियाणा कहे जाने वाले ग्रामीण क्षेत्रों के लोग भी विकास की मुख्य धारा में शामिल हो सकें। इस अवसर पर सतबीर गिल, जयबीर सिंह, ईश्वर सिंह, देवा सिंह, धर्मबीर सिंह, प्रताप सिंह, सतबीर सिंह, महाबीर शर्मा, सुरजा बैनीवाल, बलजीत सिंह, प्रहलाद सिंह, राजू बैनीवाल, सुरेश कुमार, दिनेश रायल, नरेश शर्मा, उदयवीर सिंह सहित गांव के अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।
बीजेपी राज में दलित व पिछड़े वर्ग पर बढ़ा अत्याचार - रणबीर गंगवा


नल्वा विधानसभा से इनेलो पार्टी के मौजूदा विधायक व पूर्व मे रहे राज्यसभा सांसद रणबीर सिंह गंगवा ने आज प्रदेश की मौजूद भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर जमकर निशाना साधा। 
दिल्ली से हिसार जाते समय इनेलो विधायक कुछ देर के लिए रोहतक में इनेलो इकाई के हलकाध्यक्ष राजेश सैनी के निवास स्थान पर रुके जहाँ  पत्रकार वार्ता के दौरान इनेलो विधायक ने बीजेपी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा की प्रदेश में जब से भाजपा की सरकार बनी है तब से अव्यवस्था का बोलबाला है। उन्होंने कहा की प्रदेश की कानून व्यवस्था शून्य हो चुकी है। प्रदेश मे असुरक्षा का माहौल व्याप्त है। प्रदेश के अंदर क्राइम रेट का रेशो भी लगातार बढ़ रहा है। प्रदेश में दलितए कमजोर व पिछड़े वर्ग के लोगों पर ज्यादा अन्याय किया जा रहा है। पिछड़े वर्ग व दलित तबके के साथ साथ कमजोर वर्ग के लोगों का न केवल आर्थिक अपितु शारीरिक व मानसिक रूप से शोषण किया जा रहा है खासकर जब से प्रदेश में आरक्षण आंदोलन के दौरान उपद्रव फैला है तब से न केवल पिछड़ा वर्गए कमजोर तथा दलित वर्ग खुद असहज व असहाय महसूस कर रहा है अपितु समाज का प्रत्येक आम आदमी एक भय और डर का जीवन जीने पर मजबूर हुआ है।
इनेलो विधायक गंगवा ने चुटकी लेते हुए कहा की जिस पार्टी ने सदैव बाबा साहेब भीमराव अ बेडकर का व उनकी नीतियों का खुलकर विरोध किया है आज वही बीजेपी पार्टी प्रदेश में बाबा साहेब भीमराव अ बेडकर की जयंती मनाने की बात कर रही है। उन्होंने कहा की बाबा साहेब ने सदैव कमजोर व दलित वर्ग की लड़ाई लड़ने व उन्हें समाज की मु यधारा से जोड़ने का काम किया था। यदि भाजपा सरकार सही मायनों में बाबा साहेब अ बेडकर की 125वीं जयंती समारोह मनाना चाहती है तो प्रदेश सरकार को चाहिए की वो प्रदेश के अंदर विशेषकर एनसीआर एरिया में सर्वे करवाये तथा सर्वे करवाये गए क्षेत्रों में बाबा साहेब भीमराव अ बेडकर के नाम पर सरकार द्वारा रोजगार प्रशिक्षण केंद्र खोले जाएँ और यह सुनिश्चित किया जाये की वहां प्रशिक्षण लेने वाले युवाओं को रोजगार मिल सके और वे समा: की मु यधारा से जुड़ सकें।
विधायक गंगवा ने कहा की कोई भी प्रदेश तब तक विकास व उन्नति के मार्ग पर आगे नही बढ़ सकता जब तक उस प्रदेश के प्रत्येक तबके के लोगों को एकसमान रोजगार के साधन मुहैया नही हो जाते। प्रदेश सरकार पर तंज कसते हुए इनेलो विधायक ने कहा की आज प्रदेश में बेरोजगारी की समस्या ने एक भयानक रूप धारण कर लिया है। प्रदेश के युवाओं के सामने बेरोजगारी एक बड़ी चुनौती बन कर सामने खड़ी है। चुनाव से पूर्व बीजेपी द्वारा जारी किये गए घोषणा पत्र की याद दिलाते हुए इनेलो विधायक ने कहा की बीजेपी ने प्रदेश के युवाओं से वायदा किया था की जब तक प्रदेश के युवाओं को रोजगार नही मिलता तब तक हर पढ़े लिखे युवा को छ: हजार रुपये प्रति माह बेरोजगारी भत्ता दिया जायेगा लेकिन सरकार को बने एक साल से ज्यादा हो चूका है न तो युवाओं को रोजगार मिला और न ही बेरोजगारी भत्ता। उन्होंने बीजेपी सरकार से मांग करते हुए कहा की प्रदेश में युवाओं के लिए जल्द से जल्द रोजगार व बेरोजगारी भत्ता उपलब्ध करवाया जाये। प्रदेश में जाट आरक्षण के दौरान हुई लूटपाट व उपद्रव का एक मु य कारण बेरोजगारी को बताते हुए कहा की कांग्रेस पार्टी द्वारा युवा वर्ग को भड़काया गया यदि प्रदेश के युवा रोजगार प्राप्त होते तो इस प्रकार की घटना न होती। 
आगजनी व दंगो के मुद्दे पर बोलते हुए इनेलो विधायक ने कहा की बीजेपी सरकार पूरी तरह विफल साबित हुई। प्रदेश सारकार की लापरवाही से ही इतना बड़ा नुकसान हुआ और न केवल आर्थिक अपितु जान माल के नुकसान के साथ साथ देश विदेश में हरियाणा प्रदेश की छवि धूमिल हुई है। उन्होंने कहा की जल्द से जल्द ऐसे लोगों को गिर तार कर कड़ी से कड़ी सजा देनी चाहिए जिन्होंने समाज के भाईचारे को तोड़ने का काम किया है। 
भाजपा द्वारा प्रदेश में दिए गए आरक्षण से जुड़े एक सवाल का जवाब देते हुए इनेलो विधायक रणबीर सिंह गंगवा ने कहा की प्रदेश के पिछड़ा वर्ग तबके का रिजर्वेशन कोटा क्लास 3 और क्लास 4 के लिए कुल 16 प्रतिशत है जिसमे 71 जातियाँ शामिल है वहीं क्लास 1 और क्लास 2 में रिजर्वेशन केवल 11 प्रतिशत है। जिसे बढाकर 16 प्रतिशत किया जाना चाहिए। इनेलो विधायक ने  बीसी वर्ग के कोटे को क्लास 1 और क्लास 2 में 11 प्रतिशत से 16 प्रतिशत किये जाने की मांग की। उन्होंने कहा की प्रदेश में आरक्षण किसे देना है और किसे नही देना है यह सरकार का काम है परन्तु संविधान के तहत ही आरक्षण दिया जाना चाहिए। बीजेपी सर्कार को चाहिए था की पहले बैकवर्ड कमीशन का गठन करती और उसके कमेंट्स और राय लेकर ही पिछड़ा वर्ग में अन्य जातियों को शामिल करती।
इस दौरान इनेलो के हलकाध्यक्ष राजेश सैनीए पूर्व चेयरमैन व पार्टी के उपाध्यक्ष सतबीर वर्माए हैप्पी जांगड़ाए नरेंद्र राठीए फूल राणाए नरेन्द्र हुड्डाए लक्की सरदारए जितेंद्र गहलोतए सरोज चौधरीए सरोज यादवए सूरज देहराजए अजय बल्हाराए मोनू परूथीए चिंटू शर्मा इत्यादि मौजूद थे।
बहालगढ़ इनेलो कार्यालय में रविन्द्र सफियाबाद व मोनू शर्मा का हुआ जोरदार स्वागत


राई- राई हल्का के इनेलो पार्टी के नवनियूक्त हल्काध्यक्ष रविन्द्र सफियाबाद व खरखोदा युवा हल्काध्यक्ष मोनू शर्मा क ा स्वागत फुल मालाओं व नोट मालाओं से बहालगढ़ स्थित इनेलो कार्यालय में हुआ। इस मौके पर रविन्द्र ने कहा वह पार्टी में निष्टा से काम करके युवा संगठन को मजबुत करेगे। इनेलो के जिलाध्यक्ष पदम सिंह दहिया, युवा जिलाध्यक्ष कुणाल गहलावत, हल्काध्यक्ष रामकिशन तुषीर, पूर्व प्रत्याशी ईन्द्रजीत दहिया ने उनकी नियूक्ति पर पार्टी हाईकमान का धन्यवाद किया।  
इस मौके पर सैकड़ो युवा कार्यकर्ता मौजूद थे। उनकी नियूक्ति पर अशोक राणा, एसडीएम ईश्वर दहिया, पार्षद प्रमोद मोदी, अजीत आंतिल, रमेश बडौली, जे. पी. रेवली, फुलकुवार चौहान, अशोक कौशिक, ओमप्रकाश रसोई, प्रो. बंसीलाल, सिर्दाथ आंतिल, चिंटू त्यागी, विकास मलिक आदि कार्यकर्ताओं ने बधाई दी। 
किसानों के साथ अनदेखी बर्दास्त नहीं करेगी इनेलो - जिलाध्यक्ष पदम् दहिया 



सोनीपत 17 अप्रैल: इण्डियन  नैशनल लोकदल पार्टी के नेताओं ने स्थानिया राई मण्डी का दौरा किया और किसानों की दुर्दशा देखकर इनेलो ने भाजपा सरकार पर तिखे प्रहार किए। इस मौके पर इनेलो पार्टी के जिलाध्यक्ष पदम सिंह दहिया ने किसानों को गेहूं पर 500 रुपये क्विंटल बोनस देने की मांग की। इनेलो नेताओं ने भाजपा सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि मौजूदा सरकार किसानों की दुश्मन है। मण्डी में किसानों के लिए न तो पीने के पानी की सुविधा है और न ही बैठने की कोई व्यवस्था है। रात-रात भर जागकर किसानों को अपनी कनक की सुरक्षा करनी पड़ती है। न ही सरकार की तरफ से कोई चौकीदार की व्यवस्था है। वहां पर मौजूद किसान बलबीर, धर्मपाल, सुरेश ने बताया कि उनकी कनक में नमी के नाम पर तयशुदा मानक से ज्यादा कटौति की जा रही है। आढ़ती तेजभान ने इनेलो नेताओं को बताया कि आढतियों से सरकार उठान के नाम पर 6 रूपए क्विटल का कमीशन ले रही है जोकि सरासर गलत है। उठान समय पर नहीं हो रहा है।


इनेलो नेताओं ने मार्केटिगं बोर्ड की चैयरमेन कृष्णा गहलावत को भी घेरते हुए कहा कि वोट लेने के लिए तो वो राई हल्का की जनता के पास आ गई परन्तु अब वे किसानों की सुध लेने के लिए उनके पास समय नहीं है और सबसे ज्यादा दुर्दशा किसानों की राई हल्के में ही हो रही है।  
इस मौके पर युवा इनेलो के जिलाध्यक्ष कुणाल गहलावत ने कहा कि अगर सरकार किसानों की समस्या का समाधान नहीं करेगी तो युवा इनेलो सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन करेगी।
इस मौके पर युवा जिलाध्यक्ष कुणाल गहलातव, हल्काध्यक्ष रामकिशन तुषीर, ईन्द्रजीत दहिया, अशोक राणा, एसडीएम ईश्वर दहिया, पार्षद प्रमोद मोदी, अजीत आंतिल, रमेश बडौली, जे. पी. रेवली, रविन्द्र सफियाबाद, मोनू शर्मा, फुलकुवार चौहान, अशोक कौशिक, ओमप्रकाश रसोई, प्रो. बंसीलाल, सिर्दाथ आंतिल, चिंटू त्यागी, विकास मलिक आदि कार्यकर्ता मौजूद थे। 


पीने के पानी की समुचित व्यवस्था करे प्रशासन: दुष्यंत चौटाला 

हिसार 17 अप्रैल : हिसार लोकसभा क्षेत्र से सांसद दुष्यंत चौटाला ने पिछले करीब एक सप्ताह से शहर व ग्रामीण इलाकों में पेयजल किल्लत के लिए अधिकारियों की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने इस संबंध में उपायुक्त को पत्र लिखकर पेयजल की समुचित व्यवस्था करने और जरूरत पडऩे पर सांसद निधि का प्रयोग करते हुए लोगों तक हर हाल में पानी पहुंचाने का अनुरोध किया है। 
उपायुक्त को लिखे पत्र में सांसद चौटाला ने कहा कि पिछले दिनों दो फरवरी को जिला विजिलेंस एंड मॉनिटरिंग कमेटी की बैठक में भी उन्होंने अधिकारियों को आगाह किया था कि गर्मी आने वाली है और अभी से पेयजल को एक प्लान तैयार करें, लेकिन अधिकारियों ने इस विषय में कोई गंभीरता नहीं दिखाई। इसी का नतीजा है कि आज शहरी क्षेत्र के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी पेयजल को लेकर त्राहि त्राहि मची हुई है। सांसद चौटाला ने कहा कि अगर प्रशासन के पास बजट का अभाव है और लोगों तक पानी पहुंचाने के लिए टैंकर नहीं है तो इसके लिए प्रशासन सांसद निधि का प्रयोग करे और टैंकर खरीदकर हर हाल में लोगों तक पानी पहुंचाए। उन्होंने कहा कि इस संबंध में वे शीघ्र ही जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ भी बैठक करेंगे ताकि लोगों को पीने के पानी की कोई किल्लत ना हो। 
 इनेलो प्रदेश राज्य कार्यकारिणी की बैठक का आयोजन 
कुरुक्षेत्र, 16 अप्रैल : इनेलो पहली मई से प्रदेश के सभी 90 हलकों में बाबा साहिब भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती को समर्पित सदभावना बैठकें आयोजित करेगी। इन बैठकों को नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा सहित इनेलो के वरिष्ठ नेता संबोधित करेंगे। यह फैसला इनेलो राज्य कार्यकारिणी की शनिवार को कुरुक्षेत्र में हुई बैठक में लिया गया। बैठक की अध्यक्षता चौधरी अभय सिंह चौटाला ने की और बैठक में प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पूर्व कृषि मंत्री जसविंद्र सिंह संधू, पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रामपाल माजरा, इनेलो के हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला, सिरसा के सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, राज्यसभा सांसद रामकुमार कश्यप सहित पार्टी के सभी विधायकों, पूर्व विधायकों, पूर्व सांसदों, जिला अध्यक्षों, हल्का व शहरी अध्यक्षों, प्रदेश पदाधिकारियों और विभिन्न प्रकोष्ठों के संयोजकों सहित सभी प्रमुख नेताओं ने हिस्सा लिया। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि स्थानीय निकायों के चुनाव अगर कांग्रेस और भाजपा अपने चुनाव चिह्न पर लड़ेगी तो फिर इनेलो भी स्थानीय निकायों के चुनाव में अपने चिह्न पर प्रत्याशी मैदान में उतारेगी। बैठक में तीन अलग-अलग प्रस्ताव पारित करके किसानों को गेहूं पर 500 रुपये क्विंटल बोनस दिए जाने, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने, बिगड़ती कानून व्यवस्था को सुधारने, बिजली दरों में की गई बढ़ोत्तरी वापिस लिए जाने और चुनावी वादे पूरे करने की मांग की गई। 


नेता प्रतिपक्ष ने बैठक को संबोधित करते हुए आरक्षण आंदोलन के दौरान प्रदेश को आग में झोंकने के लिए कांग्रेस व भाजपा की वोट की राजनीति को जिम्मेवार बताते हुए कहा कि आज कांग्रेस व भाजपा का असली चेहरा लोगों के बीच उजागर हो गया है और आंदोलन के दौरान इनेलो की भूमिका को हर किसी ने सराहा है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि स्वर्गीय चौधरी देवीलाल का डॉ. भीमराव अंबेडकर के प्रति भारी स्नेह था और सही मायने में उन्होंने ही बाबा साहिब को मान व सम्मान दिलाते हुए न सिर्फ संसद में उनकी प्रतिमा लगवाई बल्कि उन्हें भारत रत्न भी दिलवाया। उन्होंने कहा कि बाबा साहिब की 125वीं जयंती पूरा वर्ष चलेगी और इनेलो प्रदेश के सभी हल्कों के बड़े गांवों में बाबा साहिब को समर्पित सदभावना बैठकें आयोजित करेगी। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि एक तरफ मुख्यमंत्री हरियाणा एक, हरियाणवीं एक का नारा देते हैं और दूसरी तरफ उनके सांसद, मंत्री व विधायक प्रदेश के भाईचारे को बिगाडऩे में लगे हुए हैं। उन्होंने रोहतक से भाजपा विधायक मनीष ग्रोवर पर प्रदेश का भाईचारा बिगाडऩे के आरोप लगाए। इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा की नीतियां किसान विरोधी रही हैं और हमेशा से ही भाजपा उद्योगपतियों की संरक्षण देने का काम करती आई है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने एक तरफ फसलों के मुआवजे पर 5 एकड़ की कैप लगाकर और गवार, बाजरा की बर्बाद फसलों का मुआवजा देने से इनकार करके जहां अपनी किसान विरोधी सोच का परिचय दिया है, वहीं सीएम की यह घोषणा की अब बर्बाद होने वाली फसलों पर सरकार कोई मुआवजा नहीं देगी भी सरकार की किसान विरोधी सोच को दर्शाती है। 


नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जिन किसानों को मुआवजे के चैक मिलने थे उन्हें अब पहले सहकारी बैंकों व बिजली विभाग से एनओसी लाने को कहा जा रहा है और अब तो बुढ़ापा पेंशन पाने वालों से भी बिजली बिलों की पहले वसूली के लिए मौखिक शर्त लगाई जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार लोगों का ध्यान अपनी विफलताओं से हटाने के लिए कभी स्वच्छ भारत अभियान तो कभी बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ को प्रचारित करती है तो अब लोगों का ध्यान बांटने के लिए शहरों व जिलों के नाम बदलने शुरू कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि गुडग़ांव का नाम गुरूग्राम करने और मेवात जिले का नाम नूंह करने से न सिर्फ पूरा राजस्व रिकॉर्ड बदलना पड़ेगा बल्कि लोगों को अपने पासपोर्ट, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस व गाडिय़ों के कागजात से लेकर डोमिसाइल, प्रमाण पत्र और कंपनियों व संस्थानों को अपने सभी दस्तावेज बदलने पड़ेंगे। उन्होंने कहा कि इससे लोगों को अरबों रुपये का नुकसान होगा और भारी परेशानी भी झेलनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि अगर सरकार नाम बदलना ही चाहती थी तो सिरसा जिले के गांव बकरियां वाली, कुत्तावढ, पानीपत के लौहारी व नायन और पूर्व मुख्यमंत्री बंसीलाल के गांव गोलागढ़ का नाम बदलकर कोई अच्छे नाम रखने चाहिए थे, ताकि वहां के बशिंदों को गांव के नाम बताते समय शर्मिंदा होने की बजाय गौरवान्वित होने का अवसर मिल सके। इनेलो नेता ने कहा कि पहली मई से शुरू होने वाली बैठकों में पार्टी कार्यकर्ता प्रदेश में आपसी सदभावना कायम करने के साथ-साथ कांग्रेस व भाजपा की जनविरोधी नीतियों और भाईचारे को तोडऩे के प्रयासों की भी पोल खोलने का काम करेगी। 
उन्होंने कहा कि पार्टी का जनाधार गांव के साथ-साथ अब शहरों में भी बढ़ा है और आने वाले समय में पार्टी के सभी प्रकोष्ठों की इकाइयां भी हल्का स्तर तक कायम किए जाने और संगठन को मजबूत बनाने पर जोर दिया जाएगा। मंच का संचालन रामपाल माजरा ने किया और जिला अध्यक्ष कुलदीप सिंह मुलतानी ने सभी का आभार जताया। बैठक में विधायक रणबीर गंगुवा द्वारा बिजली दरों में बढोत्तरी वापिस लिए जाने, पूर्व विधायक निशान सिंह द्वारा गेहूं पर बोनस देने और पूर्व डीजीपी एमएस मलिक द्वारा प्रदेश की कानून व्यवस्था ठीक किए जाने को लेकर रखे गए प्रस्तावों को सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया। रामपाल माजरा द्वारा आतंकी हमले में शहीद जवान पवन कुमार व अमित देसवाल, नामधारी सांप्रदाय की प्रमुख माता चंद कौर और हाईकोर्ट के न्यायधीश एनके सांघी सहित पार्टी पदाधिकारियों के करीबी रिश्तेदारों के आकस्मिक निधन पर शोक व्यक्त करते हुए दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धासुमन अर्पित किए गए। 

Friday, April 15, 2016


इनेलो नेताओं ने गोकुल सेतिया की गिरफ्तारी को लेकर एसडीएम को सौंपा ज्ञापन  


सिरसा : इनेलो नेताओं ने शुक्रवार को एसडीएम के माध्यम से महामहिम राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन सौंपा जिसमें सिरसा जिले के संगीन अपराधियों को गिरफ्तार न किए जाने बारे शिकायत की गई है। इनेलो नेता कर्ण सिंह चौटाला, सिरसा के विधायक मक्खनलाल सिंगला, कालांवाली के विधायक बलकौर सिंह, रानियां के विधायक रामचंद्र कंबोज सहित अनेक इनेलो पदाधिकारियों ने एसडीएम को सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया है कि वर्ष 2014 के हरियाणा विधानसभा के चुनावों के दौरान सिरसा जिले के गांव मोडियाखेड़ा में इनेलो कार्यकर्ता संदीप सिंह पर वहां की भाजपा प्रत्याशी सुनीता सेतिया के बेटे गोकुल सेतिया व उनके साथियों ने फायरिंग कर उनकी हत्या का प्रयास किया था। उस समय गोकुल सेतिया व उसके साथियों पर कानून की धारा 307, 323, 148, 149 व 188 व शस्त्र कानून की विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया था जिसमें गोकुल सेतिया मुख्य अभियुक्त था। ज्ञापन में कहा गया है कि वे पिछले डेढ़ साल से इस मामले में भगौड़े हैं और पुलिस को उनकी तलाश है। इनेलो नेताओं ने कहा कि गोकुल सेतिया व उनके अन्य साथी इस दौरान निरंतर भाजपा के कार्यक्रमों में न केवल खुलेआम घूम रहे हैं बल्कि पिछले सप्ताह उन्हें मुख्यमंत्री हरियाणा ने अपने चंडीगढ़ स्थित सरकारी आवास पर बुलाकर पंजाब विवि के चुनावों के सिलसिले में सोपू के पैनल वाले उम्मीदवारों को साथ लेकर गए गोकुल सेतिया को न सिर्फ आशीर्वाद दिया बल्कि उनकी पीठ भी थपथपाई। गोकुल सेतिया द्वारा मुख्यमंत्री से भेंट की फोटो भी उसने अपने फेसबुक पेज पर जारी की। राज्यपाल से अपील की गई है कि यदि मुख्यमंत्री ही 307 के आरोपी को संरक्षण देंगे तो प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है। कहा गया है कि संगीन आरोपी खुलेआम बगैर भय के घूम रहा है और पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही। राज्यपाल हरियाणा से अनुरोध किया गया है कि प्रदेश के संवैधानिक मुखिया होने के नाते वे इस मामले में तुरंत हस्तक्षेप कर सिरसा के पुलिस अधीक्षक व मुख्यमंत्री कार्यालय पर कार्यवाही करें प्रदेश मेें बढ़ती अराजकता से मुक्ति मिल सके। ज्ञापन सौंपने के दौरान युवा इनेलो नेता धर्मवीर नैन, विनोद बेनीवाल, रामकुमार नैन, मीनुद्दीन पहलवान, नंदलाल बेनीवाल, बंसी सचदेवा आदि अनेक पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे। 

मुख्यमंत्री को पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं  - अभय सिंह चौटाला
 

सिरसा : विधानसभा में प्रतिपक्ष नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा हरियाणा पुलिस के महानिदेशक व खुफिया विभाग के महानिदेशक को पद से बदलना यह प्रमाणित करता है कि जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हिंसा को रोकने में भाजपा सरकार पूरी तरह से विफल रही है। वे शुक्रवार को डबवाली रोड स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से रूबरू हो रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रकाश सिंह की रिपोर्ट में जाट आरक्षण के दौरान पुलिस अधिकारियों की तमाम कलई खुलने से यह भी साबित हो गया है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री को पद पर बने रहने का नैतिक अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि पुलिस तंत्र ने जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान सुदीप कलकल नामक व्यक्ति को पकड़ा हुआ है और अब एक ओर भाजपा इस व्यक्ति को कांग्रेस का संरक्षण प्राप्त व्यक्ति बता रही है तो दूसरी ओर कांग्रेस ने भी भाजपा के शीर्ष नेताओं के साथ उसके संबंधों को जाहिर किया है। कुल मिलाकर कांग्रेस और भाजपा दोनों ने मिलकर प्रदेश को उजाडऩे में कोई कसर नहीं छोड़ी है। इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा के एक विधायक मनीष ग्रोवर ने जिस प्रकार से हरियाणा में जाट आंदोलन को भड़काने के संदर्भ में भाषण दिया, वह बेहद निंदनीय है और इस भाषण के लिए इस विधायक के खिलाफ न केवल देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए बल्कि उसे पार्टी से भी निकाला जाना चाहिए। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा विधायक मनीष ग्रोवर ने सार्वजनिक तौर पर कहा कि जिस प्रकार नरेंद्र मोदी गुजरात में गोधरा कांड के बाद अनेक बाद मुख्यमंत्री रहे, ठीक इसी प्रकार हरियाणा में जाट आंदोलन के बाद मनोहरलाल खट्टर भी लंबे समय तक हरियाणा के मुख्यमंत्री रहेंगे। 



उन्होंने कहा कि चुनावों के दौरान सिरसा में फायरिंग करने वाले मुख्य 307 के आरोपी मुख्यमंत्री के आवास पर ही उनके साथ खड़े नजर आते हैं तो फिर समझा जा सकता है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति क्या है जबकि मुख्यमंत्री ने ही इस युवक के बारे में कहा था कि वह युवक भगौड़ा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने पहले दस सालों के दौरान प्रदेश को जी भरकर लूटा और अब महज डेढ़ साल के दौरान ही भाजपा ने यह हालत कर दी कि हर वर्ग परेशान होकर रह गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की बिगड़ती स्थिति के चलते राज्यपाल हरियाणा को प्रदेश में गवर्नर रूल लागू करना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के पास काम करने को कुछ नहीं है और यही कारण है कि यह सरकार जनता का ध्यान बंटाने के लिए कोई न कोई नया शिगूफा छोड़ती है और इसमें हाल ही में गुडग़ांव और मेवात का नाम परिवर्तन शामिल है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने सबसे पहले स्वच्छता अभियान का राग अलापा, फिर बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ अभियान चलाया मगर जनता को इनकी असलियत पता चल चुकी है। उन्होंने कहा कि यदि नाम ही परिवर्तन करने हैं तो पूर्व सीएम स्व. बंसीलाल के गांव गोलागढ़ का नाम बदला जाना चाहिए। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि मंडी में आज किसानों की हालत पतली है। वह फसल लेकर मंडी में खड़ा है मगर उसे खरीदने वाला कोई नहीं है। आज प्रदेश की हालत ये है कि न तो नहरों में पर्याप्त पानी है और न ही पर्याप्त बिजली। देहात में आज 4-6 घंटे ही बिजली मिल पा रही है और उसे भी यह कहकर नहीं दिया जा रहा कि खेतों में फसल पककर खड़ी है, आगजनी की आशंका हो सकती है। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि सिरसा में जिला परिषद के चेयरमैन पद के लिए सरकार की ओर से चुनाव की तिथि घोषित न करने के खिलाफ 20 अप्रेल को न्यायालय की शरण लेंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा ने प्रदेश में अपनी जिला परिषद व ब्लॉक समिति बनाने के लिए चयनित सदस्यों को धमकाया और पैसे का लोभ दिया है। इस अवसर पर उनके साथ सिरसा के सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, सिरसा के विधायक मक्खनलाल सिंगला, रानियां के विधायक रामचंद्र कंबोज, कालांवाली के विधायक बलकौर सिंह, इनेलो नेता कर्ण सिंह चौटाला, कृष्णा फौगाट, विनोद बेनीवाल, डॉ. हरिसिंह भारी व धर्मवीर नैन आदि मौजूद थे। 



Thursday, April 14, 2016

युवा वर्ग से खिलवाड़ कर रही प्रदेश की मौजूदा सरकार : दुष्यंत चौटाला


रोहतक 14 अप्रैल: सांसद दुष्यंत चौटाला ने वीरवार को रोहतक में दिल्ली रोड स्थित एक निजी बैंकट हाल में आयोजित युवा इनेलो की प्रदेश कार्यकारिणी की मीटिंग को सम्बोधित किया। मीटिंग के दौरान युवा इनेलो इकाई के सभी जिलाध्यक्ष समेत हाल ही में बनाये गए नव निर्वाचित नब्बे हलकाध्यक्ष भी शामिल थे। सांसद दुष्यंत चौैटाला ने अपने सम्बोधन के दौरान सभी नए युवा हल्काध्यक्षों को बधाई देने के उपरांत युवा पदाधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा की इनेलो पार्टी की युवा इकाई के कार्यकर्ता पार्टी की रीढ़ की हड्डी है युवा कार्यकर्ताओं को अधिक मजबूती से जमीनी स्तर पर पार्टी हित में कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा की जल्द ही मेहनती व कर्मठ युवा साथियों को पार्टी में हल्का स्तर पर महत्वपूर्ण पद दिए जायेंगे।



 दुष्यंत चौटाला ने अपने वक्तव्य के दौरान युवा पदाधिकारियों में जोश भरते हुए कहा की आज कोई भी कार्यकर्ता यहाँ ऐसा नही है जिसे पार्टी सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला व युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत डॉ अजय सिंह चौटाला उनके नाम से न जानते हों। उन्होंने कहा की एकमात्र इनेलो पार्टी ही ऐसा संगठन है जो हर एक मुसीबत में अपने कार्यकर्ता के साथ उसके सुख दुःख में उसके परिवार का हिस्सा बनकर खड़ा होता है। इनेलो पार्टी नही अपितु एक संयुक्त परिवार है जिसकी नींव स्व. जननायक ताऊ देवीलाल जी ने रखी थी। उन्होंने कार्यकर्ताओं के बीच चौधरी ओमप्रकाश चौटाला व डॉ अजय सिंह चौटाला के अनुभवों को भी साँझा किया। 

युवा पदाधिकारियों की मीटिंग को युवा इनेलो के प्रदेश प्रभारी प्रदीप गिल, प्रदेश अध्यक्ष गुरविंदर तेजलि, पार्टी के युवा विधायक नसीम अहमद ने भी पार्टी पदाधिकारियों को सम्बोधित किया।


बाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए इनेलो सांसद ने कहा कि प्रदेश कार्यकारिणी की मीटिंग में यह फैसला लिया गया है की पुरे प्रदेश में बीजेपी सरकार द्वारा युवा वर्ग का शोषण किया जा रहा है। उन्होंने कहा की घोषणा पत्र में बीजेपी ने युवा वर्ग के प्रति जिन बातों का जिक्र किया था उनमे से एक भी घोषणा पर प्रदेश सरकार ने अमल नही किया है। इसी के विरोध में युवा इनेलो इकाई प्रदेश में सभी जगह जिलास्तर पर प्रदेश सरकार द्वारा युवा वर्ग की अनदेखी के चलते जिला उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपने का काम करेंगे। सांसद दुष्यंत चौटाला ने पत्रकारों को बताया की प्रदेश के प्रत्येक हिस्से में युवा पदाधिकारी शीघ्र ही मण्डियों का दौरा करेंगे और किसानों की आवाज को उठाने का काम करेंगे यदि जरूरत महसूस हुई तो मण्डी सचिव को ज्ञापन सौंपकर सरकार को जगाने का काम करेंगे। पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि किसी का भी जानमाल का नुकसान होना निंदनीय व पीड़ादायक है परन्तु रोहतक में मंत्री के घर को भाजपा नेताओं ने एक टयूरिज्म स्पोर्ट बना दिया है। केंद्रीय मंत्री से लेकर भाजपा के पदाधिकारी तक हर व्यक्ति वित्तमंत्री के घर पर पहुंच कर उसके नुकसान की बात कर रहा है और अधिकारी से लेकर भाजपा नेता तक मंत्री को मुआवजा दिलवाने में लगे हैं। इनेलो सांसद ने कहा कि इन आंदोलन में केवल मंत्री के घर को नुकसान नहीं हुआ है बल्कि  हरियाणा की छवि को भी भारी नुकसान हुआ है। रोहतक सहित अन्य जिलों में दर्जनों दुकानों, निजी प्रतिष्ठानों को भारी नुकसान हुआ है और 30 से अधिक लोगों की जान गई है, परन्तु भाजपा नेता पीडि़त परिवारों के घर नही पहुंचे। 
युवा पदाधिकारियों की मीटिंग के बाद इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने पहाड़ा मोहल्ला स्थित वाल्मीकी धर्मशाला में बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर की 125वीं जयंती समारोह में शिरकत करने पहुंचे। कार्यक्रम का आयोजन सतपाल टांक ने किया। इस दौरान उपाध्यक्ष राजन बोहत ने आये हुए मुख्यतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किये।
इस दौरान जितेंद्र बल्हारा, बलराम मकड़ौली, प्रदेश इनसो अध्यक्ष प्रदीप देसवाल, इनसो के राष्ट्रिय प्रवक्ता कुलदीप नारा, राजन बोहत, रविन्द्र सांगवान, जेपी भाली, सत्यवान हुमायुपुर, अजय मलिक, प्रदीप दांगी, ताजवीर शिमलि, धीरेन्द्र खटकड़, हैप्पी जांगड़ा सहित प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य व सभी युवा  जिलाध्यक्ष व हलकाध्यक्ष मौजूद थे।

Monday, April 11, 2016

किसान के एक एक दाने की हो खरीद- दुष्यंत चौटाला 


हांसी की अनाजमंडी में अचानक पहुंचे सांसद, अधिकारियों को दिए निर्देश: इसी बीच इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने हांसी की अनाजमंडी का औचक निरीक्षण किया और गेहूं खरीद के सरकारी इंतजामों का निरीक्षण किया। मंडी में आए किसानों से बातचीत कर उनकी समस्याएं जानी। सांसद ने मौके पर ही मंडी सचिव को बुलाया और खरीद का स्टेटस जाना
दुष्यंत चौटाला दोपहर को अनाजमंडी में अचानक पहुंचे और वहां किसानों से मिले। गेहुं के उत्पादन व खरीद प्रबंधों की जानकारी ली। इनेलो सांसद ने मौके पर उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसान को मंडी में गेहूं लाने के बाद किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो, यह पुख्ता व्यवस्था की जाए। सांसद ने मंडी सचिव ने पूछा कि बरसात आने पर गेहूं न भीगे इसकी क्या व्यवस्था की गई है। सांसद ने यह भी निर्देश दिए कि किसान को समय पर उसकी फसल का भुगतान हो और किसान के साथ किसी प्रकार की धोखाधड़ी व अप्रिय घटना न हो। उन्होंने किसानों से कहा कि यदि कोई अधिकारी गेहूं खरीद में आनकानी कर रहा हो तो इसकी जानकारी तुरंत मुझे दें साथ ही उस अधिकारी का नाम व नंबर भी दें। इसके बाद इनलो सांसद गेहूं की ढेरियों के पास गए और गेहूं की नमी व गेहूं बारदाने के बारे में जानकारी जुटाई। उन्होंने कहा कि किसानों का गेहूं का एक एक दाने की खरीद हो। इस अवसर पर जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, विधायक अनूप धानक, विधायक वेद नारंग, हलका प्रधान सतबीर सिसाय, युवा जिला प्रधान अमित बूरा, पार्षद जस्सी पेटवाड़, हांसी हलका प्रधान इंद्र फौजी सहित अन्य इनेलो कार्यकर्ता उपस्थित थे।