Wednesday, September 30, 2015

पांच अक्तूबर को बिजली दरों के खिलाफ इनेलो देगी जिला मुख्यालयों पर धरने: अभय चौटाला


चंडीगढ़:इनेलो द्वारा हरियाणा निर्माता चौधरी देवीलाल के सम्मान में पहली नवम्बर को होने वाली राज्यस्तरीय रैली अब दिल्ली के बजाय रोहतक में करने का निर्णय लिया है। इसके अलावा सरकार द्वारा बिजली बिलों में की गई बेतहाशा वृद्धि के खिलाफ इनेलो पांच अक्तूबर को राज्य के सभी जिला मुख्यालयों पर उपायुक्त कार्यालय के समक्ष सांकेतिक धरने देगी और बिजली दरों में की गई बढ़ौतरी वापिस लिए जाने की मांग करेगी। इनेलो विधायकों, जिलाध्यक्षों, विभिन्न प्रकोष्ठों के प्रदेश संयोजकों व पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बुधवार को चंडीगढ़ में हुई बैठक में ये निर्णय लिया गया। बैठक की अध्यक्षता इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला और प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने की। बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि गुडग़ांव में पुलिस के दो बड़े अधिकारियों नवदीप विर्क व भारती अरोड़ा द्वारा लगाए गए आरोप-प्रत्यारोपों की जांच प्रदेश से बाहर की किसी एजेंसी से करवाई जानी चाहिए और जो भी अधिकारी दोषी पाया जाए उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। 
इनेलो नेता ने पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को अकाल तख्त द्वारा दी गई माफी पर भी नाखुशी जताते हुए कहा कि सिखों की भावनाएं आहत करने वाले जिस व्यक्ति ने अपने आपको गुरु साहेबान से भी बड़ा दर्शाने की कोशिश की हो और जिस पर हत्या व बलात्कार जैसे गम्भीर आरोप हों, ऐसे व्यक्ति को माफ नहीं किया जाना चाहिए था। बैठक में अभय चौटाला व अशोक अरोड़ा के अलावा जसविंदर सिंह संधू, रामपाल माजरा, रणबीर सिंह गंगवा, सतबीर सिंह कादियान, गोपीचंद गहलोत, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, रामकुमार कश्यप, परमेंदर ढुल, विधायक जाकिर हुसैन, नसीम अहमद, वेद नारंग, मक्खन लाल सिंगला, अनूप धानक, राजबीर फोगाट, ओमप्रकाश गोरा, प्रो. रविंद्र बलियाला, बलवान सिंह दौलतपुरिया, पिरथी सिंह नंबरदार, नगेंद्र भड़ाना, केहर सिंह रावत, रामचंद कम्बोज, बलकौर सिंह कालांवाली, श्रीमती शीला भ्यान, आरएस चौधरी, एमएस मलिक, बीडी ढालिया, राम सिंह बराड़, एनएस मल्हान, अशोक शेरवाल, प्रवीन आत्रेय के अलावा पार्टी के सभी जिलाध्यक्ष, वरिष्ठ नेताओं व प्रकोष्ठों के प्रदेश संयोजकों ने भी हिस्सा लिया।
चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि इनेलो पहली नवम्बर को हरियाणा दिवस के अवसर पर हरियाणा निर्माता चौधरी देवीलाल के सम्मान दिवस के रूप में मनाता है और इस बार भी इसे राज्यस्तरीय रैली के रूप में दिल्ली में मनाने का प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में निर्णय लिया गया था। दिल्ली का रामलीला मैदान पहले से बुक होने के कारण पार्टी ने अब राज्यस्तरीय रैली रोहतक में करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार से आज हर वर्ग बेहद निराश व परेशान है और रैली में न सिर्फ अभूतपूर्व भीड़ उमड़ेगी बल्कि लोग इस सरकार के प्रति अपनी नाराजगी भी रैली के माध्यम से जाहिर करेंगे। उन्होंने कहा कि आज हर वर्ग सरकार के खिलाफ धरने प्रदर्शन कर रहा है और मंडियों में धान की खरीद शुरू करवाने की मांग को लेकर इनेलो द्वारा दिए गए धरनों के बाद सरकार ने 25 सितम्बर से सरकारी खरीद तो शुरू कर दी है लेकिन यह केवलमात्र एक दिखावा है और आज तक मंडियों से एक दाना भी नहीं उठाया गया जिससे किसान बेहद परेशान हैं। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव की आड़ में बिजली के दामों में 43 प्रतिशत बढ़ौतरी कर दी गई जिसके चलते प्रदेश में हर किसी के बिजली बिल पहले से डेढ गुणा ज्यादा आ रहे हैं। इसी मुद्दे को लेकर इनेलो ने पांच अक्तूबर को सभी जिला उपायुक्तों के दफ्तरों के बाहर सुबह 11 से एक बजे तक सांकेतिक धरने देने का निर्णय लिया है। 
उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बेहद खराब है। गुडग़ांव के दो पुलिस अफसरों द्वारा एक-दूसरे के प्रति की गई टिप्पणियां बेहद चर्चा का विषय है। सरकार ने हरियाणा पुलिस के एक डीजीपी रेंक के अधिकारी की जांच के लिए ड्यूटी लगाई है। उन्होंने कहा कि महिला पुलिस अधिकारी भारती अरोड़ा द्वारा वरिष्ठ पुलिस अधिकारी नवदीप विर्क के खिलाफ लगाए गए आरोप बेहद गम्भीर हैं और इनकी जांच प्रदेश के किसी अधिकारी की बजाय किसी बाहरी एजेंसी से करवाई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर भारती अरोड़ा के आरोप सही पाए जाते हैं तो दोषी पुलिस अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए और अगर भारती के आरोप गलत साबित होते हैं तो फिर ऐसे गम्भीर आरोप लगाने पर भारती के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार ने लोगों से किए वायदे के अनुसार उन्हें पंजाब के समान वेतनमान व भत्ते देना तो दूर अब सरकार द्वारा यह निर्णय लिया जा रहा है कि नौकरी पर लगाए जाने वाले कर्मचारियों को प्रोबेशन के दौरान पूरा वेतन देने की बजाय केवल बेसिक वेतन ही दिया जाए जिसको लेकर कर्मचारी वर्ग बेहद परेशान हैं। 
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि बिहार में भाजपा के पास मुख्यमंत्री पद के लिए कोई उम्मीदवार ही नहीं है और अगर भाजपा को अपनी लोकप्रियता पर भरोसा है तो उन्हें चुनाव में लोगों से वोट मांगने से पहले मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करना चाहिए। उन्होंने सवालों के जवाब में कहा कि बिहार में अगर नीतीश कुमार उनकी या उनके पार्टी के किसी नेता की जरूरत समझेंगे तो हम उन्हें सहयोग देने जरूर जाएंगे। इनेलो नेता ने कहा कि सम्मान दिवस रैली में वे चौधरी देवीलाल के पुराने साथी रहे सभी प्रमुख नेताओं को निमंत्रण देंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेशवासियों को रैली के लिए निमंत्रण देने के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेता सभी जिलों व विस हलकों में जाकर लोगों को आमंत्रित करेंगे और उन्हें उम्मीद है कि रैली में न सिर्फ रिकार्ड तोड़ भीड़ उमड़ेगी बल्कि इस बार रैली पिछले से भी कीर्तिमान भी ध्वस्त कर देगी।
बिजली बिलो में एरियर व सरचार्जके नाम पर अवैध वसूली बन्द करे सरकार- लावट

हिसार:भाजपा सरकार ने हाल ही में बिजली बिलो में लगाये गए सरचार्ज , एरियर व् स्लैब रेट में जो बढ़ोतरी की है उन पर इनेलो हलका अध्यक्ष सजन लावट ने कडा एतराज जताते हुए उन्हें तुरन्त प्रभाव से वापिस हटाने की मांग की है ताकि जनता राहत की सांस ले सके।
उन्होंने कहा कि सरकार बिजली बिलो में इस प्रकार के सरचार्ज व् एरियर लगाकर जनता से अवैध् वसूली कररही है जब कि भाजपा के स्थानीय विधायक व् सीपीएस इस और से आँखे मुंद कर बैठे है।उनका ध्यान तो केवल सत्ता का सुख भोगने में व् अपने आपको महिमा मण्डित करने में लगा है। चुनावो के समय जिन अच्छे दिनों की बात करने वाले भाजपा नेता आजकल चुप्पी साधे हुए है।
इनेलो नेता लावट ने कहा कि जो स्लैब प्रणाली 1 अप्रैल 2015 को लागू की गयी है इस स्लैब में 0 से 50 यूनिट तक जो रेट तय है 51 यूनिट होते ही वे बदल जाते है इसी प्रकार 101 व् 250 के बाद भी रेट बदल जाते है। तथा 0 से 250 यूनिट का एक ही बिल सबसे ज्यादा स्लैब रेट का बिल आता है। इसी प्रकार 501 यूनिट का बिल होते ही 6 रूपये 75 पैसे का रेट लगता है तथा 1रुपया 50 पैसे का सरचार्ज अलग से जोड़ दिया जाता है। व् एरियर के नाम पर भी अघोषित पैसे जोड़ दिए जाते है।
लावट ने आगे कहा कि दो महीने के बिल में अगर 1000 यूनिट खर्च होते है तो उसका बिल 8 रूपये यूनिट के हिसाब से आता है। जिसका सबसे ज्यादा प्रभाव गरीब सयुंक्त परिवार पर पड़ेगा। आज पूरे प्रदेश में बिजली के इन बढे हुए रेट से समाज का हर वर्ग तंग व् परेशान है।जबकि भाजपा सरकार के मंत्री व् विधायक इसका ठीकरा पिछली सरकार पर फोड़ कर अपनी जिमेदारी से भाग रहे है।जबकि पिछले 11 महीनो में भाजपा ने एक भी अच्छा कार्य नहीं किया जिससे जनता का भला हुआ हो।
उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि या तो जल्द से जल्द ये बिजली के बढ़े हुए रेट वापिस ले अन्यथा इनेलो जनसमर्थन से सड़को पर उतरकर आंदोलन करने से पीछे नहीं हटेगी।

Monday, September 28, 2015

भाजपा ने दी सांसद सैनी को समाज को बांटने का जिम्मेवारी दी : दुष्यंत चौटाला 

पिहोवा में सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भाजपा द्वारा कुरूक्षेत्र से सांसद राज कुमार सैनी को समाज बांटने की जिम्मेवारी सौंपी गई है, जिससे वो हर दिन अनाप-शनाप ब्यान-बाजी कर समाजिक भाईचारे को खत्म करना चाहते है। युवा सांसद आज युवा इनेलो के पूर्व जिला प्रधान कुलदीप सिंह के गांव जखवाला में उनके दादा स्व० श्री बाबु राम के निधन पर शोक प्रकट करने आऐ थे। यह बात उन्होंने स्थानीय सिंचाई विभाग रैस्ट हाऊस में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही। 
     युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि स्व. चौ. देवीलाल ने हरियाणा प्रदेश का निर्माण इस सोच से किया था कि हरियाणवी सब एक हो, जिससे समाज में एकता बनी रहे और हर वर्ग का विकास हो। उन्होंने राज कुमार सैनी को चेतावनी देते हुए कहा कि चार साल बाद जब वो दोबारा चुनाव मैदान में आएगे तो समाजिक बंटवारे की जो बात कर रहे है तो यही लोग उसकी जमानत जब्त करवाने का काम करेंगे। 
किसानों की फसलों की हो रही बेकद्री पर बोलते हुए इनेलो सांसद ने कहा कि पहले तो ओलावृष्टि, भारी बरसात व प्रकृतिक प्रकोप से गेंहू की फसलें बर्बाद हुई अब जीरी की बंम्पर फसल से किसानों को अर्थिक तौर पर जो उठने की उम्मीद थी लेकिन भाजपा सरकार की किसान विरोधी सोच के कारण आज मण्डियों की ऐसी हालत है कि जो दाम केन्द्र सरकार ने तय किए है वो भी किसानों तक नही पंहुच पा रहें है। जो धान 145० रूपये एम.आर.पी पर बिकना चाहिए वह 12००रूपये तक बिक रहा है इसको लेकर इनेलो ने पूरे प्रदेश में हल्का स्तर पर मार्केट कमेटी कार्यालय के सामने धरने प्रदर्शन किए और सरकारी खरीद शुरू करवाने के लिए राज्यपाल व प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपे। 
युवा सांसद ने कहा कि प्रदेश भाजपा सरकार युवाओं को रोजगार व छ हजार व नौ हजार रूपये मासिक बेरोजगारी भत्ता देने में असफल साबित हुई है। चुनावों के दौरान युवाओं को अशाएं बहुत दिखाई गई जो सरकार आने पर केवल मात्र झूठी अफवाहें साबित हुई। 15 लाख रूपये देने की बात को भी भाजपा के वरिष्ट नेताओं ने चुनावी जुमला करार दिया। इस मौके पर युवा नेता गगनजोत सिंह संधू, जसविन्द्र सिंह खैहरा, प्रो. रणधीर सिंह चीका, सुनील राणा, सुरेश नैन, अशोक गुप्ता, टीटू शर्मा, महिन्द्र कंथला, जोगध्यान लाडवा, राजू रामगढ रोड़, कर्ण चावला, रिम्पी वड़ैच, डिप्टी, सुरजमल बाखली, धीरज नैन, सिल्लू स्योंसर, रोकी राणा, बब्लु भौरख, सुरेन्द्र फौजी प्लाट, प्रवीन काला, सोनू मलिक, नवीन सिहाग, कैप्टन सन्धौली, विक्की सारसा, नवतेज चट्ठा आदि भारी संख्या में युवा कार्यकर्ता उपस्थित थे ।
शहीदों से प्ररेणा लें युवा वर्ग : दुष्यंत चौटाला


कुरुक्षेत्र स्थित कुवि में भगत सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने पहुंंचे दुष्यन्त चौटाला ने कहा कि आजाद भारत में खुली हवा में जो हम सांसें ले रहे हैं, वे सब शहीदों की ही देन है। इसलिए हम सब का ये नैतिक कत्र्तव्य बनता है कि हम न केवल उन शहीदों के प्रति अपने श्रद्धाभाव रखें अपितु उन शहीदों के विचारों को दुनियाभर में फैलाने का काम करें। शहीद किसी एक जाति, कौम और पार्टी के नहीं होते बल्कि शहीद समूची मानवता के कहलाते हैं। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय परिसर में शहीद भगत सिंह के जन्म दिवस पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाल ने कहा कि भगत सिंह आज भी युवाओं के रोल मॉडल हैं। यही वजह है कि आज के युवाओं में भी आधुनिकता का रंग चढ़ा होने के बावजूद भी उनमें देशभक्ति, राष्ट्रभक्ति कूट-कूट कर भरी हुई है। आज भी असंख्य युवाओं ने अपने दोपहिया व चौपहिया वाहनों पर भगत सिंह की फोटो लगाई हुई हैं। भगत सिंह के जीवन पर बनी फिल्मों ने भी युवाओं को भगत सिंह से जोडऩे का काम किया है। इनेलो नेता ने युवाओं से आह्वान किया कि आज भगत सिंह के जन्म दिवस पर वे सब प्रण लें कि देश की आजादी व अखंडता को बनाए रखने के लिए वे अपनी एकजुटता का परिचय देंगे। इस मौके पर उनके साथ जसविन्द्र खैरा, प्रो. रणधीर चीका, जोगध्यान, विक्रम चौधरी, हिमांशु अरोड़ा, योगेश शर्मा, सुनील राणा, मंजू जाखड़, रविन्द्र तंवर, हर्ष शर्मा, मनप्रीत बलाही, सुमित कुमार भी उपस्थित थे।

प्रदेश में है अव्यवस्था का आलम और अनुभवहीन सरकार: दुष्यंत चौटाला


सांसद एवं युवा इनेलो नेता दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि प्रदेश में अव्यवस्था का आलम है और अनुभवहीन सरकार के चलते स्वयं मंत्री भी इस बात अनभिज्ञ रहते हैं कि उनका खुद का महकमा वास्तव में चला कौन रहा है? दुष्यंत चौटाला पूर्व मुख्य संसदीय सचिव एवं इनेलो नेता रामपाल माजरा के कैथल स्थित निवास पर पत्रकार सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने हरियाणा के मुख्यमंत्री द्वारा हाल ही में किए गए विदेशी दौरे पर निशाना साधते हुए कहा कि बाहर देशों से 10 हजार करोड़ रुपए का निवेश करवाने का दावा करने वाले मुख्यमंत्री को शायद इस बात का इलम नहीं है कि उनके अपने प्रदेश में पहले से ही चल रही 50 के करीब विदेशी कंपनियां हरियाणा छोडक़र दूसरे राज्यों में पलायन कर रही है या कर चुकी है। उन्होंने महंगाई कम करने के बड़े-बड़े दावे करने वाली सरकार को चेताया कि बिजली बिलों में इजाफा करके उन्होंने न केवल शहरी बल्कि देश को खाद्यान्न देने वाले किसान को बड़ी मार दी है। 
उन्होंने कहा कि बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के दृष्टिगत प्रदेश में चल रही 12 बिजली परियोजनाओं में से 6 परियोजनाएं बंद है जो आपूर्ति नहीं दे रही है जिसकी बदौलत शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में आपूर्ति समय-समय पर बाधित हो रही है। उन्होंने कहा कि प्लांट पुन: शुरू करने की बजाय अदानी से 3.32 पैसे प्रति यूनिट खरीदकर सरकार आम आदमी को 7 रुपए के करीब प्रति यूनिट बिजली बेच रही है जिससे हर जगह बिजली के बिलों की बढ़ौतरी को लेकर आम जनता हाहाकार कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में विभिन्न परियोजनाओं में प्रयोग के लिए कोयले की खरीद हेतू सरकार कोयले की खानें बोली पर खरीदती है उसे भी मौजूदा सरकार निजी हाथों देने की सोच रही है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा के वित्त मंत्री जनता का भला न करके अपना व्यापार बढ़ाने में लगे हुए है। उन्होंने भिवानी में माइङ्क्षनग के ठेके अपने भाई के नाम छुड़वाएं इससे प्रदेश का क्या भला होगा यह जनता खुद सोच सकती है।
रामपाल माजरा ने कहा कि भाजपा सरकार हर वर्ग को बर्बाद करने पर तुली हुई है और इनकी गलत नीतियों से किसान, मजदूर, व्यापारी, उद्योगपति सहित आम आदमी यहां तक कि नौकरीपेशा लोग भी बुरी तरह त्रस्त हैं। उन्होंने यह भी कहा कि विदेशों में जाकर निवेश का निमंत्रण देने वाली मौजूदा सरकार बाहर से आने वाली कंपनियों को उनके जरूरत के अनुसार सुविधाएं जुटाने में हरियाणा सरकार बिल्कुल सक्षम नहीं है। श्री माजरा ने कहा कि किसानों की मेहनत का मजाक करते हुए सरकार धान की सस्ते दामों पर किसानों से खरीद करके उसे स्वयं ही राइस मिलरों व चावल निर्यातकों को ऊंचे दामों पर बेचकर दलाली करने का काम कर रही है। इस मौके पर प्रो. रणधीर चीका, अशोक जैन, राजा राम माजरा, अधिवक्ता हरदीप पाडला, शशीवालिया, बलराज नौच, जसमेर तितरम, संदीप ढांडा, रामप्रकाश गोगी, चंद्रभान दयौरा, राजेश सीड़ा, काला खरक प्रधान, ओमप्रकाश ढांडा, हरिकिशन सैनी, हलका प्रधान मा. प्रेम ग्योंग, हलका प्रधान पूंडरी ओमप्रकाश कैरा, सुल्तान मुन्नारेहड़ी, राममेहर खुराना, सुखदेव सीवन, राजेश प्यौदा, राजेश सजूमा, स. जरनैल ङ्क्षसह, सुशील गुप्ता, लालचंद जांगड़ा, जिप्पी शोरेवाला सहित भारी संख्या में इनेलो पदाधिकारी व कार्यकत्र्ता उपस्थित थे। 

सांसद दुष्यंत चौटाला ने डेढ़ लाख रूपये से सैनिक विहार कालोनी में बिछवाई पाइप लाइन



हिसार:कैंट स्थित सैनिक विहार कालोनी में कल सांसद दुष्यंत चौटाला ने पाईप लाइन का उदघाटन किया। इस पाइप लाइन को दुष्यंत चौटाला ने सांसद निधि कोष से बिछवाया है। पाइप लाइन बिछने से कालोनी में रहने वाले सैंकड़ों लोगों को पीने का पानी उपलब्ध होगा। 
सैनिक कालोनी विहार कालोनी वासी पीने की पानी की समस्या को लेकर पिछले चुनावों में सांसद दुष्यंत चौटाला से मिले थे। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कालोनीवासियों को पीने के पानी की समस्या हल करवाने का वायदा किया था। सांसद बनने के बाद दुष्यंत चौटाला ने अपने सांसद कोटे से डेढ़ लाख रूपये की लागत से पाइप लाइन बिछवाई और कल उसका उदघाटन किया। पाइप बिछने से कालोनी के सभी 52 घरों में पीने का पानी पहुंचेगा। 
इससे पहले कल कालोनी में पहुंचने पर सांसद दुष्यंत चौटाला का जोरदार स्वागत किया गया और कालोनी वासियों ने सांसद का आभार व्यक्त किया। कालोनी एसोसिएशन के प्रधान सुरेश कुमार सिंगल, हवलदार महेंद्र सिंधू, जगमोहन सिंह गोयत, संतोष देवी,बिमला देवी सहित कालोनीवासियों ने दुष्यंत चौटाला का आभार व्यक्त किया है। इस अवसर पर जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, विधायक वेद नारंग, अनूप धानक, महिला विंग की प्रदेशाध्यक्ष शीला भ्याण, युवा जिला अध्यक्ष अमित बूरा, इनेसो जिला अध्यक्ष सिल्क पूनिया सहित अन्य इनेलो नेता उपस्थित थे। 

Friday, September 25, 2015

चौ देवीलाल की स्मृति में लगे रक्तदान शिविर में उमड़ा इनेलो कार्यकर्ताओं का सैलाब



रोहतक:भारत वर्ष के पूर्व उप प्रधानमन्त्री चौ देवीलाल के 102 वें जन्मदिवस समारोह को हमेशा की तरह यादगार बनाते हुए इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी की जिला रोहतक इकाई द्वारा आज अल सुबह सेक्टर एक में स्थित ताऊ देवीलाल पार्क में हवन यज्ञ किया गया व स्वर्गीय चौ देवीलाल की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया। हवन यज्ञ में इनेलो के जिलाध्यक्ष सतीश नांदल ने समस्त पार्टी कार्यकर्ताओं सहित आहुति डाली व ताऊ देवीलाल के दिखाए हुए पदचिन्हों पर चलने का प्रण लिया।


इसके बाद नया बस स्टैंड के नजदीक स्थित पार्टी कार्यालय में आयोजित रक्तदान शिविर में भीड़ के रूप में उमड़े इनेलो पार्टी के वरिष्ठ व युवा कार्यकर्ताओं का जोश बढ़ाने पहुंचे सतीश नांदल ने रक्तदाताओं को बेज लगाकर प्रोत्साहित किया। रक्तदाताओं की हौसलाअफजाई करते हुए जिलाध्यक्ष नांदल ने कहा की रक्तदान से बढ़कर कोई भी पवित्र कार्य नही हो सकता। रक्तदान शिविर में इनेलो कार्यकर्ताओं की फौज उमड़ पड़ी जिनका जोश देखते ही बन रहा था। पीजीआई के ब्लड बैंक से रक्त लेने पहुंची डॉक्टरों की टीम ने इनेलो कार्यकर्ताओं के जनसमूह को देख इनेलो जिलाध्यक्ष सतीश नांदल से रक्तदान शिविर की शुरुआत के आधे घण्टे बाद ही रक्तदाताओं के रजिस्ट्रेशन बंद करवाने की प्रार्थना करते हुए कहा की ब्लड बैंक में रक्त पूरी मात्रा में मौजूद है बावजूद इसके रक्तदान शिविर में 104 यूनिट रक्त एकत्रित किया गया। इनेलो रोहतक हल्के के प्रधान महासचिव हैप्पी जांगड़ा ने भी इस अवसर पर 14वीं बार रक्तदान किया। सतीश नांदल ने रक्तदान के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा की प्रत्येक स्वस्थ व्यक्ति को अपने जीवन काल में प्रत्येक तीन माह के बाद रक्तदान करना चाहिए जिससे न केवल व्यक्ति का स्वस्थ्य ठीक रहता है और रक्त संचार सुचारू रूप से चलता रहता है। उन्होंने कहा की खासतौर पर रक्तदान का महत्व तब ज्यादा बढ़ जाता है जब जिले और प्रदेश में आज डेंगू बुखार एक महामारी का रूप ले चूका है। जहाँ एक पखवाड़े पूर्व प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मिडिया के माध्यम से अपनी कार्यशैली व स्वास्थ्य विभाग के गुणगान करते हुए नही थक रहे थे आज वही मंत्री महोदय जब से डेंगू बुखार ने प्रदेश में पैर फैलाएं हैं वह अखबारों में या टीवी में कहीं नजर नही आ रहे। सरकार अपनी जि मेवारियों से मुँह फेरे बैठी है। सतीश नांदल ने बताया की ताऊ देवीलाल की जयंती के अवसर पर शहर में पार्टी की छात्र इकाई इनसो द्वारा शिक्षण संस्थानों में पौधारोपण किया गया तो वहीँ ताऊ देवीलाल स्मृति मंच द्वारा शहर में निशुल्क चिकित्सा शिविर कैंप का आयोजन किया गया। उन्होंने बताया की ताऊ देवीलाल की जयंती की पूर्व संध्या पर कटेसरा गांव में भी इनामी दंगल आयोजित किया गया।
इस अवसर पर युवा जिलाध्यक्ष रविन्द्र सांगवानए राजेश सैनीए डॉ नफे सिंह लाहलीए डॉ संदीप हुड्डाए वेद प्रकाश भराणए सतप्रकाश बिसलाए उमेश देवीए सरिता नारायणए सरोजए मीनाए मास्टर मु त्यार सिंहए कृष्ण कौशिकए हैप्पी जांगड़ाए जेपी भालीए सोनू निगानाए प्रदीप आंवलए फूल राणाए सतपाल टांकए नरेंद्र हुड्डाए अजय मलिकए चिंटू शर्माए सोनू जांगड़ाए नरेश देसवालए संदीप नेहराए परमजीत कोचरए विनोद खुंडियाए सोनू हुमायुँपुरएसोनूए बलजीत गुढानए विकास यादवए अजय सैनीए श्रीभगवान सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे। 
जननायक चौ.देवीलाल जी के जन्मदिवस पर भिवानी में रक्तदान कैंप का आयोजन किया गया 



भिवानी में इनेलो सांसद दुष्यंत सिंह चौटाला सहित अनेक प्रमुख नेताओं ने लोहारू रोड स्थित जननायक की प्रतिमा पर माल्यार्र्पण किया और सर्वधर्म प्रार्थना सभा आयोजित कर स्व. उप्रधानमंत्री को श्रद्धासुमन अर्पित किए। इनेलो सांसद ने कहा कि बुजुर्गों को सम्मान पेंशन उन्हीं की देन है और दलित, कमेरे व पिछड़े वर्ग को उनके हक दिलाना चौधरी देवीलाल की हमेशा प्राथमिकता रही। 
उन्होंने कहा कि चौधरी देवीलाल ने बड़े से बड़े पद को भी ठोकर मारने में संकोच नहीं किया और वे पूरा जीवन किसानों व कमेरे वर्ग के लिए संघर्ष करते रहे। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष सुनील लांबा, विधायक राजदीप फौगाट, विधायक औमप्रकाश गौरा, पूर्व विधायक रघुबीर सिंह छिल्लर, मा.धर्मपाल ओबरा, राजसिंह गागड़वास, सीमा लांबा, निर्मला सर्राफ, डा.विनोद अंचल, विजय पंचगांव, कुलवंत कोटिया, विक्की महता, भगवती जाटूलोहारी, सलोचना पोटलिया,माया हेतमपुरा, युवा जिला अध्यक्ष जितेंद्र शर्मा, गजेंद्र मंढोली, सतपाल फौजी, अतर फौजी, रविंद्र पटौदी, रामफल फौजी, मनमोहन भुरटाना सहित अनेक प्रमुख नेता मौजूद थे। 


इस अवसर पर चौधरी देवीलाल सदन में एक रक्तदान शिविर का भी आयोजन किया गया और इनेलो सांसद ने रक्तदाताओं को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया। गांव धनाना में भी चौधरी देवीलाल का जन्मदिवस मनाया गया और कम्युनिटी सेंटर में इनेलो सांसद के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ताओं ने पौधारोपण किया स्व. उपप्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि अर्पित की। 


नरवाना में आयोजित रक्तदान शिविर में इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला व विधायक परमेंदर ढुल सहित अनेक प्रमुख नेताओं ने रक्तदान किया और इससे पहले जींद में चौधरी देवीलाल का 102वां जन्मदिवस मनाया गया। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष कलीराम पटवारी, विधायक डॉ. हरिचंद मिड्ढा, पिरथी सिंह नम्बरदार, परमेंदर ढुल के अलावा भगवान दास नरवाना व प्रदीप गिल के अलावा भुपेन्द्र जुलानी, सुबे सिंह लोहान, सुदेश चौपड़ा, हरीश अरोड़ा, डा. कृष्ण मिढा, कै. रणधीर सिंह चहल,दलबीर खर्ब सहित अनेक प्रमुख नेता मौजूद थे।
जन नायक चौ. देवीलाल स्मृति मंच ने मनाया ताऊ का 102वां जन्मदिवस



रोहतक:जननायक चौ. देवीलाल स्मृति मंच रोहतक द्वारा आज ताऊ देवीलाल के 102वें जन्म दिवस के उपलक्ष्य में निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन सैनी स्कूल रोड स्थित सैनी धर्मशाला में किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व विधायक व हरियाणा आयुर्वेदिक एवं यूनानी बोर्ड के चेयरमैन डॉ. रामकुमार सैनी व मंच के संयोजक एवं नगर सुधार मंडल के पूर्व चेयरमैन सुशील कुमार शर्मा द्वारा किया गया। इस अवसर पर ताऊ देवीलाल की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर पर ताऊ देवीलाल अमर रहें के नारों से पूरा क्षेत्र गूंजायमान हो गया।
मंच के संगठन सचिव एडवोकेट डॉ. दीपक भारद्वाज ने बताया कि ताऊ के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में चिकित्सकों की एक टीम जिसमें मुख्य रूप से आयूष हेल्थकेयर से डॉ. राजेश सैनी, पंचकर्मा विशेषज्ञ डॉ. प्रवेश शर्मा व डॉ. देवेन्द्र कौशिक, डॉ. गरिमा, डॉ. रूचि, दंत चिकित्सक डॉ. विकास सैनी, डॉ. शैफाली के कुशल नेतृत्व में 355 मरीजों को निशुल्क परामर्श व दवाईयां वितरित की गई। 


इस अवसर पर डॉ. रामकुमार सैनी ने कहा कि ताऊ देवीलाल जैसी विभूति युगों-युगों में एक बार होती है। ताऊ ने एक किसान के घर पैदा होकर भारत के उपप्रधानमंत्री जैसे बड़े पद पर पहुंचना यह दर्शाता है कि वे जन-जन के नेता थे। उन्होंने गरीब व कमेरे वर्ग के उत्थान के लिए अपना एक-एक पल लगा दिया था, जिसकी बदौलत आज उत्तरी भारत खुशहाल स्थिति में है। वहीं उन्होंने हरियाणा के विकास के लिए अनेक योजनाएं चलाई तथा अपना नाम अमर कर गये। डॉ. रामकुमार सैनी ने कहा कि जननायक चौ. देवीलाल स्मृति मंच सामाजिक कार्यों के माध्यम से ताऊ देवीलाल के दिखाये हुए मार्ग पर चलकर उनके द्वारा देखे गये सपनों को साकार कर रहा है।
मंच के संयोजक सुशील कुमार शर्मा ने कहा कि जननायक चौ. देवीलाल स्मृति मंच एक गैर राजनीतिक मंच है। जिसमें रोहतक के सभ्रांत परिवारों के संस्थापक सदस्य समय-समय पर ताऊ देवीलाल की नीतियों में आस्था रखते हुए उनका प्रचार-प्रसार कर रहे हैं और साथ-साथ सामाजिक कार्यों में भी बढ़-चढक़र हिस्सा ले रहे हैं। आज चौ. देवीलाल के 102वें जन्म दिवस पर निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर व दवाईयां के वितरण के माध्यम से व कुशल चिकित्सकों की देख-रेख में इस शिविर का आयोजन कर ताऊ का जन्मदिन को धूमधाम से मनाया गया।
इस अवसर पर मुख्य रूप से मंच के संस्थापक सदस्य अशोक मल्होत्रा, सुभाष शर्मा, सूरजमल बल्हारा, हरेन्द्र लक्की, सन्नी परमार, एडवोकेट अजय इन्दौरा, एडवोकेट रवि ठाकुर, एडवोकेट अमित सैनीअनिल नागर, सतीश कुमार शर्मा, राजेश शर्मा, प्रवीण कुमार, अमृत भारद्वाज, पंकज मुदडिया, संदीप कुमार, सुभाष गुगनानी, सुखबीर खत्री, नकुल शर्मा, एडवोकेट अनीता रोहिल्ला, एडवोकेट करतार सिंह कुंडू, बदरी नारायण शर्मा आदि मौजूद थे।
ताऊ देवीलाल की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करते हुए पूर्व विधायक व जिलाध्यक्ष प्रदीप चौधरी व इनेलो कार्यकर्ता  




पंचकूला:भूतपूर्व उपप्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल का 101वां जन्मदिवस शुक्रवार को सैक्टर-3 स्थित ताऊ देवीलाल स्टेडियम में उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर मनाया और सैक्टर-15 स्थित आश्रम में बजूर्गो को फल बांटकर ताऊ देवीलाल के जन्मदिवस पर शुभकामनाएं दी। 
इससे पूर्व ताऊ देवीलाल स्टेडियम में पंचकूला जिला के मोरनी, रायपुररानी, बरवाला, पिजौंर, कालका क्षेत्र से इनैलो के पूर्व विधायक व जिलाध्यक्ष प्रदीप चौधरी के नेतृत्व में भारी संख्या में कार्यकत्र्ताओं ने जन्मदिवस के मौके पर ताऊ देवीलाल को याद किया और उनके बताए रास्ते पर चलने का संकल्प लिया। 


इनैलो पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी ने इस दौरान कहा कि ताऊ देवीलाल ऐसी त्याग की मुर्ती थे, जिन्होंने जनता की सेवा की सोच के चलते प्रधानमंत्री की कुर्सी तक का त्याग कर दिया था और जुबान के धनी चौधरी साहब ने अपना वचन निभाते हुए अपनी जगह वी.पी सिंह को प्रधानमंत्री का पद दे दिया था। ताऊ देवालाल ने बजूर्गो के लिए पैंशन योजना चलाई, जिसका पूरे प्रदेश के बजूर्ग तो फायदा उठा रहे है, साथ ही उनकी इस योजना को दुसरे राज्यों ने भी लागू करने का काम किया। ताऊ देवीलाल ऐसे नेता थे, जो राजनीति जनता के हित के लिए करते थे, उनका सादा जीवन प्रदेश की जनता के दिलों में बसा हुआ है, इतने सादे थे ताऊ देवीलाल के वो आम आदमी के बीच जाकर बैठ जाते थे और उनसे बातचीत कर उनकी समस्याओं को जानते थे और उन समस्याओं को हल तक कर देते थे, इसलिए आज प्रदेश और देश बुरी ताकतों के हाथों आ गया है और हम सब को मिलकर चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के साथ ताऊ के सपनों के हरियाणा प्रदेश की जनता के हकों की लड़ाई लड़ते रहना है। चौधरी ने अंत में कहा कि ताऊ तेरा जमाना, फिर है लाना। 
इस अवसर पर इनैलो प्रदेश प्रवक्ता अशोक शेरवाल, महिला विंग जिला प्रधान सीमा चौधरी, जिला प्रवक्ता एस.पी अरोड़ा, व्यापार सैल जिला प्रधान हरबंस सिंगला, पूर्व वाइस चेयरमैन रमेश मांधना, किसान सैल जिला प्रधान मान सिंह चरनियां, पूर्व पार्षद सुभाष निषाद, धर्मपाल मटांवाला, जयसिंह बाड़ीवाला, पूर्व पार्षद राजेश शर्मा, विक्रम राणा, जितेन्द्र सैणी, गोमती प्रसाद, अनिल गोयल उचाना, पाला राम व प्रमाल व जयपाल रत्तेवाली, अशोक सिंगला, सिन्दा सैली, नीरज भल्ला, देव नाडा, हुकम नाडा, डीम्पल धीमान, फौजी कर्मचंद, जसबीर सिंह, बिटू रैली, अमरजीत हरीपुर, आजाद मलिक, सुरिन्द्र कुंडू, मनोचा, मनोज शर्मा, फकीरिया दुधगढ़, जनक टोडा, हरफूल टोडा, निरंजन सिंह, कौशल्या व सुरेश चौधरी, यसी गुप्ता, विनोद मदेसिया, संदीप, पूर्व सरपंच जस्सू कीरतपुर इत्यादि मौजूद थे।  


कंप्यूटर टीचरों की नियुक्ति में एससी व बीसी को आरक्षण का लाभ दिया जाए : जसविंद्र सिंह संधू 


कुरुक्षेत्र:इनैलो के पिहोवा के विधायक एवं पूर्व कृषि मंत्री जसविंद्र सिंह संधू ने हरियाणा सरकार से मांग की है कि कंप्यूटर टीचरों की भर्ती आरक्षण की नीति के अनुसार की जाए और इस भर्ती में अनुसूचित जाति, पिछड़े वर्ग सहित अन्य वर्गों को आरक्षण दिया जाए। 
संधू ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि उन्हें एससी और बीसी के नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल मिला था। प्रतिनिधिमंडल में शामिल एससी नेता मास्टर लाल चंद बाल्मीकि, डा जीत सिंह शेर, पूर्व एमसी डा ओमप्रकाश और पिछड़े वर्ग के नेता जीताराम पाल ने बताया कि हरियाणा सरकार ने कंप्यूटर टीचरों को नौकरी पर रखने के लिए सभी प्रिंसिपलों को अधिकार दिए हैं। प्रतिनिधिमंडल के नेताओं ने यह भी बताया कि आंदोलनरत कंप्यूटर टीचरों को दोबारा से 20 सितंबर तक नौकरी पर रखा गया है, लेकिन जो कंप्यूटर टीचर योग्यता पूरी नहीं करते थे या किसी कारणवश दोबारा नौकरी ज्वाइन करने नहीं आए, उन रिक्त पदों को भरने के लिए सरकार ने स्कूलों के प्रिंसिपलों को अधिकृत किया है। कंप्यूटर टीचर लगने के इच्छुक युवा प्रार्थना पत्र दे रहे हैं और एक अक्तूबर से  इन रिक्त पदों पर नियुक्ति की जानी है। संधू ने प्रतिनिधिमंडल की बात को ध्यान से सुनने के बाद विश्वास दिलाया कि वह हरियाणा सरकार से आरक्षित वर्ग के युवकों को उनका लाभ दिलाने के लिए पूरा प्रयास करेंगे। संधू ने हरियाणा सरकार से मांग की है कि कंप्यूटर शिक्षकों की नियुक्ति करते समय संविधान के अनुसार एससी, बीसी व अन्य वर्गों के लिए आरक्षित पदों पर इसी वर्ग के युवकों की नियुक्ति की जाए, ताकि आरक्षित वर्ग के युवकों के साथ न्याय हो सके। 


इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोडा और विधायक संधू के नेतृत्व में जननायक चौ. देवीलाल जी की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किए 


कुरुक्षेत्र:देश के पूर्व उप प्रधानमंत्री जननायक ताऊ देवी लाल की 102वीं जयंती इनैलो कार्यकर्ताओं ने श्रद्धा और उल्लास के साथ मनाई और अनेक प्रकार के सामाजिक कार्य आयोजित किए। इनैलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पिहोवा के विधायक एवं पूर्व मंत्री जसविंद्र सिंह संधू सहित अनेक इनैलो कार्यकर्ताओं ने देवीलाल चौक पर पहुंच कर उनकी प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। इसके बाद इनैलो कार्यकर्ताओं ने एलएनजेपी सिविल अस्पताल में जाकर मरीजों को फल वितरित किए। 
अशोक अरोड़ा तथा जसविंद्र सिंह संधू ने जननायक चौ देवीलाल को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि देवीलाल ने कमेरे वर्ग के गरीब लोगों को लोकसभा और विधानसभा का रास्ता दिखाया। उन्होंने दलित, पिछड़े वर्ग के लोगों को सत्ता में भागीदारी दिलाई थी । चौ. देवीलाल सत्ता को सुख भोगने का नहीं, बल्कि जन मानस की सेवा का माध्यम मानते थे। चौ. देवीलाल ने चौ जन कल्याण की योजनाएं हरियाणा में मु यमंत्री रहते हुए शुरू की थी,आज देश की अनेक प्रदेश सरकारें उन कल्याणकारी योजनाओं का अनुसरण कर रही हैं। दोनों नेताओं ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता प्रत्येक वर्ष जननायक देवीलाल का जन्मदिवस कल्याणकारी कार्य करके मनाती हैं। आज पूरे प्रदेश में जिला स्तर पर कार्यकर्ताओं ने जननायक को रक्तदान शिविर, पौधारोपण और मरीजों को फल वितरित करने जैसे सामाजिक कार्य करके अपनी श्रद्धांजलि दी। 
अशोक अरोड़ा ने कहा कि चौ देवीलाल ने जहां देश की आजादी के लिए संघर्ष किया, वहीं देश के आजाद होने के बाद भी वे कमेरे वर्ग की समस्याओं को लेकर अनेक बार जेल गए। 1975 में जब देश में तत्कालीन कांग्रेस सरकार की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने आपातकाल लगा दिया था तो उस समय चौ देवीलाल को 19 महीने तक जेल में बंद रखा गया। चौ देवीलाल हमेशा कमेरे वर्ग के लिए संघर्ष करते रहे। एक बड़े जमींदार होते हुए भी उन्होंने ूामिहीन मुजारों को उनका हम दिलवाने के लिए संघर्ष किया। उन्होंने कहा कि चौ देवीलाल के पदचिन्हों पर चलकर जनमानस की सेवा करना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है। 
इस अवसर पर इनैलो जिला प्रधान कुलदीप सिंह मुलतानी, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मायाराम चंद्रभानपुरा, धर्मपाल चौधरी, हलका प्रधान रणबीर किरमिच, पिहोवा हलका प्रधान कर्ण सिंह इशहाक, रामकरण काला, ओमप्रकाश हथीरा, संदीप टेका, नरेंद्र शर्मा, तरसेम हरियापुर, मदनगोपाल शर्मा, नरेंद्र राजू चौहान, डा. संतोष दहिया, दीपक फौजी, जसविंद्र खैरा, सुनील राणा, महेंद्र कैंथला, राजेश सैनी, विनोद, गौरव कटारिया, हरीश अरोड़ा, रामू सिंधवानी, डा जीत सिंह शेर, जीताराम पाल, सुरेंद्र सैनी, राजबीर कान्याण, सतबीर शर्मा, श्रीकृष्ण शर्मा, सुभाष मिर्जापुर सहित अनेक इनैलो नेताओं ने जननायक देवीलाल को श्रद्धासुमन अर्पित किए। 


 भारत के पूर्व उपप्रधानमंत्री स्व. ताऊ देवीलाल की जयंती पर पौधारोपण करते हुए युवा अध्यक्ष अरविंद भारद्वाज 


फरीदाबाद : भारत के पूर्व उपप्रधानमंत्री स्व. ताऊ देवीलाल की जयंती के अवसर पर युवा इनेलो अध्यक्ष अरविंद भारद्वाज ने पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं के साथ बल्लभगढ़ सिविल अस्पताल में मरीजों को फल वितरित करने के उपरांत वृक्षारोपण भी किया। इस मौके पर अरविंद भारद्वाज ने कहा कि आज का दिन हम सभी के लिए काफी महत्व रखता है क्योकि आज उस शख्सियत का जन्मदिवस है जिसने सदैव गरीब, असहाय व किसान वर्ग की लड़ाई लड़ी और उनके हकों को उनको दिलाया। उन्होंने कहा कि आज देश में वृद्धावस्था पेंशन ताऊ देवीलाल की ही देन है और उसके साथ किसानो को मिलने वाली जनसुविधाओं का भी श्रेय ताऊ देवीलाल को ही जाता है जिन्होंने सदैव किसानों के उत्थान की सोच रखी। 
अरविंद भारद्वाज ने कहा कि आज देश व प्रदेश का जो हाल है वह किसी से छिपा नहीं है। किसान पूरी तरह से आत्महत्या करने पर मजबूर है क्योकि उसे सुविधा के नाम पर कुछ मिल नहीं रहा साथ ही उनकी फसल का रेट भी उन्हें पूरा नहीं दिया जा रहा है। किसान आज बर्बादी के कगार पर है। उन्होंने कहा कि इनेलो ने सदैव हर वर्ग को साथ लेकर चलने का काम किया है परंतु भाजपा व कांग्रेस दोनो एक ही सिक्के के दो पहलू बन कर जनता को परेशान करने का काम कर रहे है।
उन्होंने समस्त पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से आव्हान किया कि वह एकजुट होकर जनता की समस्याओं को उठाये और उन्हें हल करवाने में अपनी अहम भूमिका निभाये। इस अवसर पर उनके साथ रविन्द्र पराशर, अजय भडाना, सचिन कौशिक, राहुल गोस्वामी, अनिल भाटी, कपिल भाटी, सन्नी पराशर, प्रीतम कुमार, उमेश बघौला, खजान ठाकुर, सुनील ढिन्ढे,सगदत्त देवली, संजय तंवर, प्रशादी लाल, ओमवीर ढिन्ढे, सुमित शाहपुर, सुनील मान्दकौल, परमा कौशिक, तरूण कौशिक, सावित्री तंवर, अमन शर्मा आदि उपस्थित थे।

चौधरी देवीलाल भारतीय राजनीति मेंं संघर्ष के जननायक थे : पटवारी 


जीन्द:पूर्व उपप्रधानमंत्री स्व. ताऊ देवीलाल जी की 102 वीं जयतीं मनाई गई। सुबह भिवानी रोड स्थित चौ देवीलाल चौक पर इनेलो जिलाध्यक्ष कलीराम पटवारी, विधायक परमेंद्र ढुल,डॉ. हरिचंद मिढ़ा, पिरथी नंबरदार, भगवान दास नरवाना,युवा प्रदेश प्रभारी प्रदीप गिल की मौजूदगी में इनेलो पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं सहित सैकड़ों गणमान्य व्यक्तियों ने ताऊ की प्रतिमा पर पुष्पांजलि दी। पटवारी ने कहा कि चौधरी देवीलाल भारतीय राजनीति मेंं संघर्ष के जननायक थे। चौधरी देवीलाल की संघर्ष की गाथा 12 साल की उम्र से शुरू होकर उनकी अंतिम सांसों तक चलती रही। इस महान धरती पुत्र ने अपने जीवन की संघर्षमय शुरूआत अपने ही घर से मुजारों को संगठित करके उनको उनका हक दिलवाने के लिए की। चौधरी देवीलाल 1930 में जब अंग्रेजी शासन को उखाड़ फैंकने के लिए देश भर में आंधी चल रही थी, यह निडर बालक देवीलाल, गांधी की आंधी से प्रभावित हुआ और देश की आजादी के लिए चल रहे स्वतंत्रता संग्राम में कूद पड़ा। इसके लिए उनको कई बार जेल यात्राएं भी करनी पड़ी, लेकिन उन्होंने तब तक दम नहीं लिया, जब तक भारत गुलामी की बेडिय़ों से मुक्त नहीं हुआ। उसके पश्चात उन्होंने उत्तर भारत के किसानों के लिए अपनी जंग छेड़ दी। इतना ही नहीं वे सदैव किसानों के हितों की लड़ाई लड़ते रहे और चौ. देवीलाल ने अनेक ऐसी किसान परक नीतियों एवं योजनाओं को लागू किया, जिनके लिए उनको किसानों के मसीहा के रूप में जाना गया। उनकी पहचान भारतीय जनता में किसान जनसेवक के रूप में है। चौ. देवीलाल एक ऐसे सहस्त्राब्दी पुरुष हैं, जिनको भारतीय जनता स्वत: ही अपने किसान नेता के रूप में स्वीकार करती है। 



           पटवारी ने कहा कि उनके प्रयास फलस्वरूप ग्रामीण विकास कार्यों पर किए जाने वाले केन्द्रीय बजट को 20 फीसदी से बढ़ाकर 49 फीसदी कर दिया गया। इसके अतिरिक्त फसलों का पर्याप्त मूल्य दिलाने के लिए कृषि उपज की लागत के आधार पर उनके मूल्यों में वृद्धि कर किसानों को लाभ पहुंचाया। देश के इतिहास में पहली बार प्राकृतिक आपदा से हुए नुक्सान का मुआवजा देकर उन्होंने एक अनोखा उदाहरण प्रस्तुत किया। टै्रक्टरों का टोकन माफ किया। हरियाणा कृषि कर्जा राहत अधिनियम 1989 का एक्ट बनवाकर उन्होंने किसानों को कर्जो से मुक्ति दिलाने का प्रयास किया। सड़कों तथा नहरों के किनारे खड़े पेड़ों में किसानों का आधा हिस्सा निर्धारित कर उनकी किसान परक सोच का साक्षात उदाहरण प्रस्तुत किया। जिला प्रधान कलीराम पटवारी ने जिलावासियों को ईद की बधाई देते हुए भाईचारा मजबूत बनाएं रखने का आह्वान किया। इस कार्यक्रम के बाद पार्टी कार्यालय में चौ. देवीलाल की प्रतिमा के सामने हवन-यज्ञ किया। इस यज्ञ में इनेलो के सभी नेताओं ने आहुति डाली और प्रसाद वितरण किया। इस अवसर पर हल्का प्रधान भुपेन्द्र जुलानी, सुबे सिंह लोहान, सुदेश चौपड़ा, सुभाष देशवाल, हरीश अरोड़ा,डा०कृष्ण मिढा, कै. रणधीर सिंह चहल,दलबीर खर्ब, सुरेश खान, राकेश रोहिल्ला, सोनू सरड़ा, भवन गिरी, रणधीर सिंह फुुलिया खुर्द, दयानंद कूण्डू, रणबीर पुनिया,जसमेर रजाना, अनुराग खटकड़, जयपाल मलिक, बलवंत सिंह जोगी, सुमित्रा देवी, कृष्णा बधाना, अशोक गोयल उर्फ लीलु ,मौजी खान, राजेंद्र शास्त्री, सुभाष सैनी, धर्मेंद्र सिंहमार, भूपेंद्र देशवाल, रामसिंह ढांडा, मास्टर भरत सिंह गिल, कुलदीप ङ्क्षपडारा, दरबारा देशवाल, ईश्वर कंडेला, सतीश पिण्डारा, किताब सिंह भनवाला, डा वेदपाल बैनिवाल,बिजेन्द्र रेढु, सतीश जैन,सत्येन्द्र ढुल, जयनारायण भारद्वाज, नरेश भनवाला,हर्ष मित्तल, कर्मपाल ढुल, कुलबीर चहल,सुरजभान सिहाग, सोनु गुलिया, जिला कार्यालय सचिव गुरदीप सांगवान इत्यादि सैंकड़ो मौजूद थे।  




आज भी जनमानस में रचे-बसे हैं ताऊ देवीलाल 



सोनीपत : दीन-दुखियों, दलितों, किसानों व कमेरों के दुखदर्द को बांटकर उनकी उन्नति व उत्थान के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले चौ. देवीलाल को उनके 102वें जन्मदिवस पर सोनीपत जिले में 102 यूनिट रक्त दान करके उनको नमन किया। शिविर का आयोजन युवा इनेलो द्वारा किया गया। रक्तदान की अध्यक्षता युवा जिलाध्यक्ष कुणाल गहलावत ने की। इस मौके पर जिलाध्यक्ष पदम सिंह दहिया ने ताउ को नमन् करते हुए कहा कि देश सेवा को अपना पूरा जीवन समर्पित करने वाले बलिदानी, संघर्षशील, जुझारू व त्याग की मूर्ति चौधरी देवीलाल जैसे महापुरुष सदियों बाद विरले ही पैदा होते हैं। अनेकों नामों से विभूषित चौ. देवीलाल इस देश के ऐसे महान सपूत हुए हैं, जिनको भारतीय समाज ने जननायक, महानायक, लोकनायक, किसानों व कमेरों का मसीहा, धरतीपुत्र, हरियाणा केसरी, हरियाणा का निर्माता, किंगमेकर, भीष्मपितामह, युगपुरुष, लौहपुरुष व जगतताऊ आदि अलंकारों से विभूषित किया। लोभ-लालच, नफरत, धोखा, फरेब जैसे दुर्गुणों से लाखों कोस दूर थे। गरीब शोषित, मजदूर, किसान, खेतीहर, दलित, पिछड़ों व कामगारों के सदैव हितैषी रहे। चौ. देवीलाल में एक सच्चे नेता के गुण कूट-कूट कर भरे हुए थे। नेता की परिभाषा को जानना है, तो चौ. देवीलाल से महत्वपूर्ण मिसाल कोई ओर नहीं हो सकती।  


इस मौैके पर युवा जिलाध्यक्ष कुणाल गहलावत ने कहा कि इस बार हरियाण में डेंगू का भारी प्रकोप है, इसलिए रक्तदान शिविर का विशेष महत्व है, क्योंकि डेंगू से पीडि़त मरीज को रक्त की आवश्यकता पड़ती है। इस शिविर के आयोजक तथा युवा इनेलो के जिला प्रधान कुणाल गहलावत ने बताया कि ताऊ देवीलाल के 102वें जन्मदिवस के उपलक्ष्य में इस शिविर में 102 यूनिट रक्त एकत्रित किया गया।  शिविर सोनीपत और पानीपत ब्लड बैंक की सहायता से आयोजित किया गया। जिसमें धर्मबीर दहिया ने सराहनिय योगदान किया। इधर, इनसो नेता राकेश चहल ने चौ0 देवीलाल की 102वें जन्मदिवस पर सीआरए कालेज में  पौधारोपण करके जननायक को श्रद्धांजलि दी। 
इससे पहले प्रात आठ बजे मोनू शर्मा राठधना व उसके साथियों ने हरिद्वार से गंगाजल लाकर ताउ की प्रतिमा को स्नान करवाया। इस मौके पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने ताउ देवीलाल अमर रहे के नारे लगाए और उनहें पुष्प अर्पित किए।


इस मौके पर ब्रिगेडियर ओ. पी. चौधरी, तेलूराम जोगी, रमेश खटक, राजकुमार रिढाउ, रणबीर दहिया, निर्मल चौधरी, अनिता खाण्डा, प्रोमिला मलिक , सुरेन्द्र पवार, अशोक राणा, सुरेश त्यागी, बलजीत नैन, अजमेर मलिक, रामकिशन तुषीर, सुरेन्द्र छिक्कारा, ठाकुरदास मक्कड़, विकास नरवाल, संदीप ठरू, सुमीत राणा,राजू भठगांव, जे. पी. रेवली, रवि, नरेन्द्र राठी, बंसीलाल, हनूमान देशवाल, संजय मलिक, जिले सिेह दहिया, हरिप्रकाश मण्डल, रामकुमार सैनी, सुरत सिंह, आशीष, सोनू कुण्डू, मनोज मलिक, प्रेम मलिक, अशोक  मलिक, शुभम नैन, शाबर अली, रमेश बडौली, मोनू पवार, जयबीर आंतिल, प्रदीप राठी, अमित मोर, सन्नी सैनी, पंडित पी. डी. शर्मा, बालकिशन शर्मा आदि मौजूद रहे।
हिसार में जननायक चौ. देवीलाल जी का जन्मदिन बड़ी ही श्रद्धाभाव के साथ मनाया गया



हिसार : भूतपूर्व उपप्रधानमंत्री व राष्ट्र ताऊ जननायक चौधरी देवीलाल का 102वां जन्मदिवस शुक्रवार को इंडियन नेशनल लोकदल जिला इकाई द्वारा जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी के नेतृत्व में श्रद्धाभाव के साथ मनाया गया। वहीं इनेलो नेताओं ने ईद की मुबारक देते हुए समाज के लोगों से भाईचारा कायम रखने का संदेश दिया। इनेलो कार्यकर्ताओं ने एचएयू स्थित जननायक चौधरी देवीलाल की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम की विधिवत शुरूआत की, जिसके बाद टाउन पार्क स्थित प्रतिमा पर भी माल्यार्पण व पुष्प अर्पित करके उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए टाउन पार्क में ही चौधरी देवीलाल के जीवन पर आधारित एक विचार संगोष्ठी आयोजित की गई, जिसमें वक्ताओं ने चौधरी देवीलाल के संघर्षमय और जनकल्याणकारी जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके जीवन में घटित अपने स्मृतियों का वर्णन किया।


इस मौके पर जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी ने कहा कि चौधरी देवीलाल कहा करते थे कि लोकराज लोकलाज से चलता है। उन्होंने राजनीति को समाजसेवा का सबसे उचित माध्यम बताया था। चौधरी देवीलाल ने सत्ता में रहते हुए बिना किसी भेदभाव के हर वर्ग के हितों के लिए काम किया। आजादी से पहले उन्होंने देश की आजादी के लिए भी संघर्ष किया। उन्होंने अपने जीवन में मुजारों को उनका हक दिलाने के लिए जीतोड़ संघर्ष किया और उन्हें मालिकाना हक दिलवाने का काम किया। यहां तक की उन्होनें अपनी पैतृक संपत्ति में से भी मुजारों को मालिकाना हक दिया था। इसी कारण सर छोटूराम के बाद उन्हें किसानों के मसीहा के रूप में याद किया जाता है। संयुक्त पंजाब में हिंदीभाषी क्षेत्रों के साथ भेदभाव को देखते हुए उन्होंने अलग प्रदेश बनाने की मांग उठाई व तब तक संघर्ष करते रहे, जब तक हरियाणा का गठन नहीं हो गया। इसलिए उन्हें हरियाणा का निर्माता भी कहा जाता है। वर्ष 1977 में जब चौधरी देवीलाल इस प्रदेश के मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने साइकिल का टोकन व रेडियो का लाइसेंस ही खत्म नहीं किया, बल्कि किसानों के ट्रैक्टर का रोड टैक्स भी खत्म किया था। वहीं 1987 में मुख्यमंत्री बनते ही अपने वादे के अनुसार बुजुर्गों को सम्मान देने के लिए देश में पहली बार बुढापा पेंशन की शुरूआत की व किसानों के दस हजार रुपए तक के कर्जे माफ किए। लितानी ने कहा कि जननायक चौधरी देवीलाल सही मानने में एक युगपुरुष व त्याग की जीती जागती मिसाल थे। वर्ष 1989 में उन्हें सर्वसम्मति से लोकसभा में जनता दल का नेता चुन लिया गया था, लेकिन उन्होंने अपने दिए हुए वचन का पालन करते हुए तथा प्राण जाए पर वचन न जाए की नीति का अनुशरण करते हुए प्रधानमंत्री का पद वीपी सिंह को सौंप दिया। देश में इस प्रकार का कोई दूसरा उदाहरण आज तक नहीं है। हमें उनके जीवन से प्रेरणा देते हुए उनके दिखाए मार्ग पर चलना चाहिए। आज इनेलो ही उनकी नीतियों का अनुशरण कर रही है। 


कार्यक्रम के अगले चरण में इनेलो कार्यकर्ताओं ने सेक्टर 16-17 के समीप झोपड़ पट्टी के गरीब बच्चों को फल व अन्य खाने की वस्तुएं वितरित की। वहीं जाट धर्मशाला में युवा इनेलो द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें 131 यूनिट ब्लड एकत्र किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता इनेलो युवा जिलाध्यक्ष अमित बूरा ने की व मुख्यातिथि इनेलो जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी उपस्थित हुए। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में विधायक रणबीर सिंह गंगवा,वेद नारंग, अनूप धानक व किसान प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष व पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा ने शिरकत की। उन्होंने कहा कि आजकल डेंगू का महाप्रकोप फैला हुआ है। जिसकी वजह से रक्त की जरूरत बहुत ज्यादा बढ़ गई है। इसे देखते हुए जननायक चौधरी देवीलाल के जन्मदिवस के मौके पर युवा इनेलो ने पूरे प्रदेश में जिला स्तर पर रक्तदान शिविर लगाए हैं। शिविर में इनेलो युवा जिलाध्यक्ष अमित बूरा ने 18वीं बार रक्तदान किया, वहीं शिविर में इनेलो जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी व उकलाना विधायक अनूप धानक ने भी रक्तदान किया।


 वहीं पर्यावरण की रक्षा के लिए इनेलो की छात्र इकाई इनसो ने जिलाध्यक्ष सिल्क पूनिया के नेतृत्व में जिले भर के विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं व सार्वजनिक स्थानों पर पौधारोपण किया। इस मौके पर राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, चतर सिंह, महिला प्रदेशाध्यक्ष शीला भ्याण, धाराङ्क्षसंह, प्रदेश उपाध्यक्ष सतबीर वर्मा, हरफूलखान भट्टी, एडवोकेट कलम सिंह, वरिष्ठ इनेलो नेता राजमल काजल, हलकाध्यक्ष सजन लावट, राजीव शर्मा, सत्यवान बिछपड़ी, रणधीर पूनिया, सतपाल सरपंच, राव इंद्र फौजी, बहादुर सिंह नायक, सुरेंद्र लांबा, एडवोकेट मनदीप बिश्रोई, रमेश चुघ, राजकुमार आर्य, मैडम राज हसीना, पंकज महता, एडवोकेट रामलाल विमल, डॉ. सत्यनारायण मंगाली,राजकुमार सलेमगढ़, सतपाल पालू, जोगेंद्र काहलो, संतोष पानू, कृष्णा खरब, मोहित अरोड़ा, निगम पार्षद राजपाल मांडू, राजेश चौहान, एडवोकेट बृजलाल मावलिया, अमित ग्रोवर, विक्रांत बागड़ी, डॉ. राजकुमार दिनौदिया, मोहर सिंह सहारण,  गुलाब सिंह, डॉ. उमेद खन्ना, हरिसिंह बूरा एडवोकेट, रमेश गोदारा, जयसिंह वर्मा, सतबीर मुंगेरिया, प्रवीन ढांडा, रमेश माटा, राजेश चौहान, अनूप रावलवास, राजेश झाझडिय़ा, आशीष कुंडू, बिट्टू लोहान, टिकलू दलाल, धोलू गोदारा, जितेंद्र दलाल, योगेश गौतम, हरेंद्र पानू, संदीप ढांडा, सुनील बूरा सहित भारी संख्या में इनेलो कार्यकर्ता मौजूद थे। 
जननायक चौ. देवीलाल जी की प्रतिमा पर श्रद्धा के फूल आर्पित किए  



गुड़गांव : दीन-दुखियों, दलितों, किसानों व कमेरों के दुख-दर्द को बांटकर उनकी उन्नति व उत्थान के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले चौ. देवीलाल को उनके 102वें जन्मदिवस पर उनकी हर याद को नमन्। आज भारतीय राजनीति को कल्याण का स्वरूप प्रदान करने वाले किसानों के मसीहा व देश के पूर्व उपप्रधानमंत्री चौ. देवीलाल का 102वां जन्मदिवस गुड़गांव के सैक्टर 38 स्थित ताऊ देवीलाल स्टेडियम, सोहना स्थित ताऊ देवीलाल स्टेडियम, सैक्टर 23 स्थित ताऊ देवीलाल पार्क, मानेसर स्थित ताऊ देवीलाल पार्क में जननायक की प्रतिमा पर फूल मालाएं पहनाकर व पूजा अर्चना कर बड़ी धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर इनेलो नेताओं ने कहा कि आज हम उनको याद कर उनके दिखाए गए रास्ते पर चलकर जनता-जनार्दन की सेवा को समर्पित हैं। उन्होेंने कहा कि देश सेवा को अपना पूरा जीवन समर्पित करने वाले बलिदानी, संघर्षशील, जुझारू व त्याग की मूर्ति चौधरी देवीलाल जैसे महापुरुष सदियों बाद विरले ही पैदा होते हैं। अनेकों नामों से विभूषित चौ. देवीलाल इस देश के ऐसे महान सपूत हुए हैं, जिनको भारतीय समाज ने जननायक, महानायक, लोकनायक, किसानों व कमेरों का मसीहा, धरतीपुत्र, हरियाणा केसरी, हरियाणा का निर्माता, किंगमेकर, भीष्मपितामह, युगपुरुष, लौहपुरुष व जगतताऊ आदि अलंकारों से विभूषित किया। चौ0 देवीलाल कहते थे कि व्यक्ति को अपने जीवन में कभी हार नहीं माननी चाहिए और अपनी बात सदा जनता के बीच रखनी चाहिए, क्योंकि जनता से बड़ा न्याय का दरबार कोई दूसरा नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि हरियाणा के निर्माता बात के धणी चौ0 देवीलाल ने प्रधानमंत्री के पद को ठुकराकर अपनी त्याग भावना का परिचय दिया था। वहीं बुर्जुगों को सम्मान स्वरूप पैंशन, किसानों को फसल बर्बाद होने पर तुरन्त मुआवजा तथा आम आदमी पर लगे अनेको टैक्सों को हटाने के लिए याद किया जाता है। हरियाणवी लोकजीवन में चौ. देवीलाल से जुड़े हुए उनकी यादों के हजारों किस्से देहात में लोगों की जुबान पर मोतियों की तरह बिखरे हुए पड़े हैं। इस अवसर पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनन्तराम तंवर, पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचन्द गहलोत, जिलाध्यक्ष गंगाराम पूर्व विधायक, रमेश दहिया, शशी धारीवाल, शैलेश खटाणा, महेश चौहान, रीशिराज राणा, किशोर यादव, बलवान सिंह ठाकराण, कपिल त्यागी, राजेन्द्र धनखड़, निहाल सिंह धारीवाल, राव मानसिंह, धर्मबीर बाघोरिया, सुरेन्द्र तंवर, नरेश सहरावत, मेहरचन्द दायमा, स्वर्ण धनखड़, प्रमोद त्यागी, ऋषिपाल धनखड़, राजबीर ठाकराण, सूबेसिंह सरपंच, सुखबीर तंवर, विजय डागर, रणधीर सिंह, नारायण सरपंच, गयासीराम, अतरसिंह रूहिल, बुधसिंह ठाकराण, जोतराम दहिया, शमशेर डागर, नरेन्द्र अहलावत, राकेश ताऊ, अनिल तंवर, दीपक यादव, प्रमोद बच्चस, चेतन मल्होत्रा, पवन धनकोट सहित सैंकड़ों कार्यकर्ता एंव पदाधिकारी उपस्थित थे।
चौ. देवी लाल जी के आदर्शो व नीतियों को अपनाए युवा - दिग्विजय चौटाला 




सिरसा : भारत के पूर्व उप-प्रधानमंत्री जननायक ताऊ देवीलाल की 102वीं जयंति आज जिला भर में बड़ी धुम-धाम से मनाई गई। इस मौके पर इनैलो के पदाधिकारीयों व कार्यकर्ताओं ने सुबह चौ०देवीलाल टाऊन पार्क में एकत्रित होकर अपने प्रिय नेता को अपने श्रद्धासुमन अर्पित करके उन्हें याद किया। इनसों के  राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने चौ० देवीलाल टाऊन पार्क  में पहुंचकर अपने परदादा की प्रतिमा पर मालयापर्ण किया। 


इस अवसर पर लडु बाटे गऐ व दिग्विजय चौटाला ने ताऊ देवीलाल को इस सदी का महानायक बताते हुए कहा कि उन्होनें जीवन भर गरीब व कमेरे वर्ग के हकों की लड़ाई लड़ी तथा देश की आजादी में अपना महत्वपुर्ण योगदान दिया। चौटाला ने युवाओं को व कार्यकर्ताओं को आहवान किया कि वे जननायक के आदर्शो व नीतियों को अपनाते हुए आमजन के हित में काम करें। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष पदम जैन ने कहा कि पहली बार मुख्यमंत्री बनने पर उन्होनें जन हितैंषी नितियों को लागु करके आम आदमी को राहत प्रदान की वही चौ०देवी लाल ने कल्याणकारी योजनाएं बनाई।



इस अवसर पर सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी,विधायक मक्खन लाल सिंगला,विधायक बलकौर सिंह,जिला वरिष्ट उपाध्यक्ष जसवीर जस्सा,महिला जिलाध्यक्ष कृष्णा फोगाट,डा. हरी सिंह भारी,प्रदीप मेहता,लीलाधर सैनी,आर.के भारद्ववाज,विनोद दड़वी,रमेश मेहता एडवोकेट,बन्सी सचदेवा,सतपाल अरोड़ा,के.एल लुथरा,राम सिंह सैनी,डा०राधेश्याम शर्मा,मनोहर मेहता,पार्षद सीताराम बटनवाला,राजेन्द्र मल्होत्रा,सुशील कम्बोज,सुरेन्द्र सचदेवा,मिठ्ठु राम एडवोकेट,ओम प्रकाश शर्मा,सरपंच शाम लाल इन्दौरा,लक्की चौधरी,रमेश मेहता आढती,प्रोमिला शर्मा,कृ ष्ण गर्ग,वेद प्रकाश वधवा,सत्यव्रत आलडिय़ा,विकल पचार,भगवान कोटली,देशराज कम्बोज,बुध सिंह,जोगिन्द्र कम्बोज,कृष्णा सैनी,वीना भोफर,मधु चौहान,कमलेश सिंधू,रामजीलाल सैनी,निर्मल वर्मा,दलीप कसवां,मुकेश रोहिल्ला सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Thursday, September 24, 2015

विद्यार्थियों के हमेशा आदर्श रहे हैं जननायक चौ. देवीलाल : अशोक अरोड़ा


जननायक चौ. देवीलाल समूचे मानवता जगत के लिए एक ऐसी अनूठी मिसाल है जो सदियों तक समाज के हर वर्ग के लिए पे्ररणा का काम करती रहेगी। वे विद्याॢथयों के लिए भी एक ऐसे आदर्श हैं, जिनका आज भी विद्यार्थी अनुसरण करते हैं। विद्याॢथयों को मिलने वाली बस पास सुविधा चौ. देवीलाल जी की ही देन है, जिसका आज तक वे फायदा ले रहे हैं। ये कहना है इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा का। वे आज कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय परिसर में इनसो के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव जसविन्द्र खैरा के नेतृत्व में आयोजित पौधारोपण कार्यक्रम में भाग ले रहे विद्याॢथयों को सम्बोधित कर रहे थे। श्री अरोड़ा ने कहा कि शुक्रवार को प्रदेशभर में चौधरी देवीलाल के जन्मदिवस पर रक्तदान शिविर व वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
इसी बीच जननायक चौधरी देवीलाल विद्यापीठ सिरसा में एक सफाई अभियान चलाया गया। इस अभियान में इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय ङ्क्षसह चौटाला, सिरसा के सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक मक्खन लाल सिंगला सहित भारी संख्या में छात्रों, शिक्षकों व कार्यकर्ताओं ने स्वच्छता अभियान चलाकर विद्यापीठ में सफाई की और जननायक चौधरी देवीलाल को याद किया। इधर, कुरुक्षेंत्र विवि में श्री अरोड़ा ने कहा कि शिक्षा आज प्रत्येक मनुष्य की आवश्यकता है। शिक्षा और ज्ञान की बदौलत ही प्रत्येक मनुष्य अपने जीवन में सफलता हासिल कर सकता है। जननायक चौ. देवीलाल भी समाज को शिक्षित करने के हक में थे, इसीलिए उन्होंने बस पास जैसी सुविधा को शुरू करवाया, ताकि विद्याॢथयों को शिक्षा ग्रहण करने के लिए दूसरे शहरों में जाने के लिए असुविधा और आॢथक संकट का सामना न करना पड़े। इसके अलावा भी देवीलाल जी द्वारा अनेक छात्र कल्याणकारी योजनाओं को शुरू किया गया। यही वजह है कि जननायक चौ. देवीलाल आज भी असंख्य विद्याॢथयों के लिए पे्ररणा स्रोत हैं। आज उनके 102वें जन्म दिवस पर इनसो द्वारा विश्वविद्यालय परिसर में पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया, इसके लिए सभी विद्यार्थी बधाई के पात्र हैं। 
इनसो के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एवं कार्यक्रम के आयोजक जसविन्द्र खैरा ने कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए इनसो छात्र संगठन विश्वविद्यालय में अध्यनरत विद्याॢथयों की भलाई हेतू कार्य कर रहा है। जब-जब विद्याॢथयों के समक्ष किसी प्रकार की समस्या सामने आती है तो इनसो संगठन उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर उक्त समस्या के समाधान हेतु खड़ा हो जाता है। यही वजह है कि आज इनसो द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सैंकड़ों विद्यार्थी इक_ा हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज के दौर में पर्यावरण की रक्षा करना प्रत्येक मनुष्य का नैतिक कत्र्तव्य है। इसी कत्र्तव्य की पूर्ति हेतू इनसो द्वारा सैकड़ों पौधे जगह-जगह रोपित किए गए। भविष्य में भी इनसो द्वारा ऐसे जनकल्याणकारी कार्यों का आयोजन किया जाता रहेगा। इस मौके पर इनसो के जिला प्रधान कुलदीप सिंह मुलतानी, जोगध्यान, मंजू जाखड़, योगेश शर्मा, विक्रम चौधरी, सुमित चौधरी, रविन्द्र तंवर, रविन्द्र यूआईटी, हर्ष शर्मा, मनप्रीत बलाही, हैप्पी खंगूरा, निरजा, प्रियंका गुलिया, शुभम खुराना, जय किशन जैकी, गुरमीत हुंदल आदि ने भी अपने विचार रखे। पौधा रोपण कार्यक्रम के पश्चात् विश्वविद्यालय परिसर में विद्यार्थियों के साथ इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने कैफेहाउस में बैठकर चर्चा की। इस दौरान उन्होंने विद्याॢथयों के बीच बैठकर चाय पी और उनसे शिक्षा, राजनीति, धर्म जैसे विषयों पर विस्तृत चर्चा की। 
इधर, जींद में भी इनसो द्वारा चौ0 देवीलाल की 102वें जन्मदिवस की पूर्व संख्या पर पौधारोपण करके, फल वितरित करके जननायक को श्रद्धांजलि दी। पार्टी के आदेषानुसार फैसला लिया गया कि चौ0 देवीलाल के जन्म दिवस पर इनसो द्वारा पौधारोपण करके व रक्तदान षिविर लगाकर चौ0 देवीलाल को श्रृद्धाजंलि दी जाएगी। इसी पर इनसो जीन्द ने फैसला लिया कि सभी षिक्षण संस्थाओं में पौधारोपण किया जाएगा। उसी घड़ी में इनसो जीन्द द्वारा रणवीर सिंह विष्वविधालय, रा0 महाविधालय जीन्द में पौधारोपण किया गया। इसकी अध्यक्षता इनसो जिलाध्यक्ष अनुराग खटकड़ ने की। उन्होने कहा कि चौ0 देवीलाल के राजनीतिक योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। उन्होने कहा कि युवाओं को चौ0 देवीलाल की नीतियों पर चलना चाहिए और स्वच्छ राजनीति बनाने में इनसो का सहयोग करना चाहिए। पौधारोपण के अवसर पर अनुराग खटकड़ ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को पौधारोपण करना चाहिए और पर्यावरण बचाना चाहिए। इनसो युवा इनेलो द्वारा 25सितबंर को नरवाना में रक्तदान षिविर लगाया जाएगा। इसकी तैयारियां पूरी कर ली गई है। इस मौके पर आषिश, सोनू सरड़ा, दीपक, मोनू, सिद्धार्थ, तरूण व अन्य इनसो कार्यकर्ता मौजूद रहे।
आज भी जनमानस में रची-बसी हैं ताऊ देवीलाल की स्मृतियां 
चौ. देवीलाल की 102वें जन्मदिवस पर विशेष 
(दादा की कहानी पोते की जुबानी)
लेखक- डॉ. अजय सिंह चौटाला

दीन-दुखियों, दलितों, किसानों व कमेरों के दुखदर्द को बांटकर उनकी उन्नति व उत्थान के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले चौ. देवीलाल को उनके 102वें जन्मदिवस पर हर याद को नमन् करते हुए कहना चाहता हूँ कि देश सेवा को अपना पूरा जीवन समर्पित करने वाले बलिदानी, संघर्षशील, जुझारू व त्याग की मूर्ति चौधरी देवीलाल जैसे महापुरुष सदियों बाद विरले ही पैदा होते हैं। अनेकों नामों से विभूषित चौ. देवीलाल इस देश के ऐसे महान सपूत हुए हैं, जिनको भारतीय समाज ने जननायक, महानायक, लोकनायक, किसानों व कमेरों का मसीहा, धरतीपुत्र, हरियाणा केसरी, हरियाणा का निर्माता, किंगमेकर, भीष्मपितामह, युगपुरुष, लौहपुरुष व जगतताऊ आदि अलंकारों से विभूषित किया। आज उनकी याद में मेरे मन के भाव उद्वेलित हो रहे हैं, मैं उनको रोक नहीं पा रहा हूँ, परिस्थिति जो भी हों, उन्होंने हमें यही सिखाया कि व्यक्ति को अपने जीवन में कभी हार नहीं माननी चाहिए और अपनी बात सदा जनता के बीच रखनी चाहिए, क्योंकि जनता से बड़ा न्याय का दरबार कोई दूसरा नहीं हो सकता। उनकी इसी सीख को आत्मसात करते हुए, मैं उनसे जुड़ी यादें आप लोगों से सांझा कर रहा हूँ। 
बड़ी-बड़ी सुन्दर आँखों वाले, लम्बे-चौड़े कद-काठी के कद्दावर व्यक्तित्व के धनी, दमदार आवाज के मसीहा, पगड़ी में किसी नायक से कम न दिखने वाले रोबिली चाल-ढाल के मालिक मेरे दादा जी चौ. देवीलाल  जैसे नायक विरले ही मिलते हैं...? वे तन से जितने सुन्दर थे, मन से उतने ही स्वच्छ, उज्ज्वल व पारदर्शी भी थे। वर्तमान दौर में राजनीतिज्ञों का आभूषण बन चुके लोभ-लालच, नफरत, धोखा, फरेब जैसे दुर्गुणों से लाखों कोस दूर थे। गरीब शोषित, मजदूर, किसान, खेतीहर, दलित, पिछड़ों व कामगारों के सदैव हितैषी रहे। चौ. देवीलाल में एक सच्चे नेता के गुण कूट-कूट कर भरे हुए थे। नेता की परिभाषा को जानना है, तो चौ. देवीलाल से महत्वपूर्ण मिसाल कोई ओर नहीं हो सकती। सर छोटूराम की ‘बेचारा किसान’ पुस्तक को सदैव दिल से लगाए रखने वाले, देश की राजनीतिक गाड़ी को जहाज सी गति दौड़ाने वाले को निजी जिन्दगी में साइकल के अतिरिक्त कुछ ओर चलाना भी नहीं आया। घोड़े की सवारी, कुश्ती लडऩा, साईकिल चलाना, लोगों की सेवा करना उनके बीच में जाकर, उनके दुख-दर्द को सांझा करना, उनके ऐसे शौंक थे, जिसके लिए उन्होंने अपने घर की जमीन तक को दांव पर लगा दिया...? स्वभाव के फक्कड़ व मनमौजी चौ. देवीलाल ऐसी शख्सियत थे, जो सदैव जनता के बीच रहकर उनकी पीड़ा को जानने एवं महसूस करने का प्रयास अपने जीवन की अन्तिम सांसों तक करते रहे। हरियाणवी लोकजीवन में चौ. देवीलाल से जुड़े हुए उनकी यादों के हजारों किस्से देहात में लोगों की जुबान पर मोतियों की तरह बिखरे हुए पड़े हैं, जिनको मैं आप लोगों से सांझा कर रहा हूँ। 

देवीलाल ने जब मन्दिर में हरिजन को बनाया पुजारी ....!
मेरे दादा जी सभी कौमों के लोगों को अपने साथ जोडक़र चलते थे, धर्मनिरपेक्षता का उनसे बड़ा उदाहरण मुझे आज तक देखने को नहीं मिला। आप लोगों को जानकर बड़ी हैरानी होगी कि सन् 196० के दशक में उन्होंने चौटाला गांव के मन्दिर में एक हरिजन भाई को पुजारी का काम सौंपकर ऐसा उदाहरण प्रस्तुत किया, जो अपने आप में अनूठा है। चौटाला गांव के इस मन्दिर में धर्मनिरपेक्षता का इससे बड़ा उदाहरण देखने को नहीं मिलता, जो चौ. देवीलाल ने हरिजनों को मन्दिर की बागडोर सौंपकर स्थापित किया। इस तथ्य का खुलासा पिछले दिनों उस समय हुआ, जब गांव में मन्दिर के पुजारी को लेकर स्वर्णों एवं हरिजनों में परस्पर ठन गई। गांव वालों ने पंचायत बुलाई, पंचायत में बुजुर्गों ने बताया कि चौ. देवीलाल ने पुजारी के रूप एक हरिजन भाई को रखकर दूरदर्शिता तथा धर्मनिरपेक्षता का साठ के दशक में ऐसा उदाहरण प्रस्तुत किया था, इतना ही नहीं एक गांव की जमीन पर किसी ठोल़े के लोगों ने कब्जा कर लिया, गांव के लोग जब चौ. देवीलाल के पहुंचे तो चौ. देवीलाल ने अपनी दूरदर्शिता का परिचय देकर उस कब्जे का छुड़वाया ही नहीं, अपितु गं्राट देकर उस स्थान पर एक मन्दिर बनवा दिया। इस तरह के अनेकों उदाहरण उनके जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा थे। ऐसे थे चौ. देवीलाल....!

जब अवतार सिंह कंग की आँखों में आँसू आ गए ......
यह बात उस समय की है, जब भारत में इमरजेंसी लगी थी। उसी दौरान चौ. देवीलाल कुरुक्षेत्र में अपना अभियान चला रहे थे। उन्होंने ढोल बजाकर लोगों को एकत्रित करने का काम किया, किन्तु पुलिस तथा प्रशासन ने उनसे मिलने वाले लोगों को गिरफ्तार करने का काम किया। इतना ही नहीं उनको खाने-पीने की वस्तु देने वालों के लिए भी पुलिस ने पाबंदी लगा दी। ऐसे में कुरुक्षेत्र के अवतार सिंह कंग ने उन्हें छठी पातशाही गुरुद्वारे से बिस्तर, रोटी-सब्जी व भोजन दिया। जब चौधरी देवी लाल ने उस युवक का नाम पूछा तो उन्होंने अपना नाम अवतार सिंह कंग बताया। चौ. देवीलाल अवतार सिंह कंग नामक युवक को भूले नहीं, जब सन् 1977 में चुनाव जीते और हरियाणा के मुख्यमंत्री बने तो कुरुक्षेत्र में आकर उन्होंने उसी अवतार सिंह कंग के घर जाने का फैसला किया। ज्ञानी मेहर चन्द के साथ वो अवतार सिंह के घर गए। चौ. देवीलाल को अचानक अपने घर देख अवतार सिंह भाव-विभोर हो उठा, कि एक छोटे से कार्यकर्ता जिसने इमरजेंसी के समय चौ. देवीलाल को खाना एवं बिस्तर दिया था। उस बात को भूले नहीं और उसी का अहसान चुकाने के लिए उनके घर तक आ पहुंचे थे। चौ. देवीलाल को अपने घर देख अवतार सिंह कंग की आंखों में आंसु आ गए । चौ. देवीलाल ने बड़ा हृदय दिखाते हुए, अवतार सिंह के घर पर ही लोगों के सामने उनको सर्विस सैलेक्टशन बोर्ड का सदस्य बनाने की घोषणा कर दी। इस घोषणा के साथ ही अवतार सिंह जिन्दाबाद के नारे लगने लगे और उनकी आंखों में पानी आ गया, ऐसे थे मेरे दादा चौ. देवीलाल । 

अपनी गाड़ी में बिठाकर छोड़ा जब गांव में ......!
एक बार की बात है, मेरे दादा जी अग्रोहा से गाड़ी में आ रहे थे। उन्होंने देखा कि अग्रोहा मोड़ पर एक युवक जिसका नाम मांगे राम भाकर था, बस की इंतजार में खड़ा हुआ था, तभी उसके पास दादा जी की गाड़ी आकर रूकी और उन्होंने कहा-छोरे कड़ै जावैगा ......! वह युवक चौ. देवीलाल को अपने सामने देखकर सक-पका गया और उसने कहा मै तो अपने गांव कुलहेड़ी जाऊंगा। मेरे दादा जी ने उससे कहा - आज्या गाड़ी मैं बैठ ज्या। मैंने थारे गाम में गए होए बहौत दिन हो लिए ....। हालांकि उसी दिन दादा जी की तबीयत ठीक नहीं थी, बावजूद उसके मांगे राम को उनके गांव में छोडक़र गांव के किसानों तथा गरीबों का हाल-चाल पूछकर और मांगे राम को कुछ पुस्तके भेंटकर चौ. देवीलाल वापिस अपने गंतव्य की ओर चल दिए....। 

मैं ही हूँ तेरा देवीलाल ....! 
मेरे दादा जी सन्  1989 में जब हरियाणा के मुख्यमंत्री थे, तो वे गांव सच्चाखेड़ा होकर गुजर रहे थे। उन्होंने देखा कि रास्ते में दोपहरी के समय एक बुजुर्ग सडक़ के किनारे पेड़ की छांव में आराम कर हुक्का गुडग़ुड़ा रहा है, जिसकी आँखों की रोशनी भी बहुत कम थी। चौ. देवीलाल ने उस बुजुर्ग को देखा और काफिला वहीं पर रोक दिया और उससे मिलने के लिए पहुँच गए, और कहा -चौ. साहब- अच्छे दिन कट रहे है ...., पिलसण टाईम पै तो मिलरी हैं ना...! दादा जी की आवाज सुनकर बुजुर्ग ने कहा-पिलसण टाईम पै मिल रही है। मेरा यो जो आज मान-सम्मान है म्हारे देवीलाल के कारण है। भगवान करै मेरी भी जिन्दगी देवीलाल को लग जाए, जिसनै सारे बुढैंयां की कद्र बढ़ा दी। बुजुर्ग की इतनी बात सुणते ही मेरे दादा जी कह उठे - मैं ही हूँ तेरा देवीलाल...., चिन्ता नै कर इबै तन्नै ओर बहुत साल जीणा है....। 

आज भारतीय राजनीति को कल्याण का स्वरूप प्रदान करने वाले भारतीय लोगों के दिलों के रत्न चौ. देवीलाल का 102वां जन्मदिवस है। हम सब उनको याद कर उनके दिखाए गए रास्ते पर चलकर जनता-जनार्दन की सेवा को समर्पित हैं। लोकतंत्र में जनता से बड़ा न्यायालय नहीं हो सकता। उनकी इसी सीख को आत्मसात करते हुए उनकी हर याद को नमन् करते हुए इतना ही कहना चाहता हूँ। 

बड़े शौंक से सुन रहा था तुम्हे जमाना... ।
तुम ही सो गए, दास्तां कहते-कहते... ।
डेंगू से पीडि़त किसी भी मरीज को खून की कमी नहीं आने देंगे इनेलो कार्यकर्तां - अशोक अरोड़ा


जननायक ताऊ देवीलाल के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में युवा इनैलो द्वारा पंजाबी धर्मशाला में आयोजित रक्तदान शिविर का उद्घाटन इनैलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने रक्तदान करके किया। इस कार्यक्रम में मु यातिथि के रूप में पिहोवा के विधायक जसविंद्र सिंह संधू भी उपस्थित थे। 
अशोक अरोड़ा तथा जसविंद्र सिंह संधू ने कहा कि ताऊ देवीलाल के जन्मदिवस के अवसर पर प्रतिवर्ष कार्यकर्ता पौधारोपण, रक्तदान शिविर, मरीजों में फल वितरण जैसे कार्यक्रम आयोजित करते हैं और जननायक के जन्मदिन को तीज त्यौहार की तरह मनाते हैं। दोनों नेताओं ने कहा कि इस बार हरियाण में डेंगू का भारी प्रकोप है, इसलिए रक्तदान शिविर का विशेष महत्व है, क्योंकि डेंगू से पीडि़त मरीज को रक्त की आवश्यकता पड़ती है। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने भी डेंगू के प्रकोप के कारण रक्तदाताओं से रक्तदान करने की अपील की है। विज की अपील पर भाजपा कार्यकर्ता तो पता नहीं रक्तदान करेंगे या नहीं, लेकिन इनैलो के कार्यकर्ता डेंगू के किसी भी पीडि़त को रक्त की कमी के कारण मरने नहीं देंगे और जितनी भी जरूरत पड़ेगी, रक्त उपलब्ध करवाएंगे। इनैलो प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि नेत्रदान करने में इनैलो कार्यकर्ताओं ने विश्व रिकार्ड बनाकर गिनीज बुक में नाम दर्ज करवाया है। पार्टी कार्यकर्ता राजनीति करने के साथ साथ सामाजिक गतिविधियों में भी बढ़चढ़ कर भाग लेते हैं। उन्होंने कहा कि जरूरतमंद की सेवा करना ही ताऊ देवीलाल को सच्ची श्रद्धांजलि है। अरोड़ा ने कहा कि ताऊ देवी लाल ने हमेशा कमेरे वर्ग की लड़ाई लड़ी, आज देश के लगभग सभी प्रदेशों की सरकारें चौ. देवीलाल द्वारा शुरू की गई जनकल्याणकारी योजनाओं का अनुसरण कर रही हैं। 
इस शिविर के आयोजक तथा युवा इनैलो के जिला प्रधान सुनील राणा ने बताया कि ताऊ देवीलाल की 102वीं जयंती के उपलक्ष्य में इस शिविर में 102 यूनिट रक्त एकत्रित किया गया।  शिविर जिला रैडक्रास सोसायटी की सहायता से आयोजित किया गया। उन्होंने बताया कि25 सितंबर  को एलएनजेपी अस्पताल में मरीजों को फल वितरित किए जाएंगे और उससे पहले प्रात: आठ बजे पैनोरमा के पास ताऊ देवीलाल चौक पर इनैलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा तथा पिहोवा के विधायक जसविंद्र सिंह संधू की अध्यक्षता में जिला भर के कार्यकर्ता जननायक चौ देवीलाल की प्रतिमा पर पुष्पांजलि देकर अपने श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे। 
इस रक्तदान शिविर में जिला प्रधान कुलदीप सिंह मुलतानी, युवा इनैलो के जिला प्रधान सुनील राणा, वरिष्ठ उप प्रधान जोगध्यान, रामकरण काला, युवा इनैलो के प्रदेश उपाध्यक्ष कुलदीप जखवाला, प्रदेश सचिव सुलतान ब्राह्मण माजरा, राजू नरेंंद्र चौहान, राजू रामगढ़, इनसो के राष्ट्रीय महासचिव जसविंद्र खैरा, लखविंद्र पाल सिंह ग्रेवाल, राजू त्यौडा़, लोकेश शर्मा, रजत दूहन, शैलेंद्र आलमपुर, हिमांशु अरोड़ा हन्नी, सोहेल खान, रवि खेड़ी सहित अनेक पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित थे।

इनेलो गुड़गांव ने भाजपा विधायक उमेश अग्रवाल को बर्खाश्त करने की मांग की


इंडियन नैशनल लोकदल के कार्यकर्ताओं ने पुरानी जेल कॉम्पलैक्स नजदीक सोहना चौक पर बड़ी संख्यां में एकत्रित होकर प्रदेश की भाजपा सरकार व गुड़गांव विधायक उमेश अग्रवाल विरोधी नारे लगाते हुए सदर बाजार से डाकखाना चौक गुड़गांव पर प्रदर्शन कर विधायक का पुतला फूंका। इनेलो कार्यकर्ता जिलाध्यक्ष गंगाराम की अध्यक्षता में बड़ी जोर शोर से नारे लगाकर सरकार से विधायक को बर्खास्त करने की मांग की। 


पत्रकारों को अपने संबोधन में पूर्व डिप्टी स्पीकर एंव इनेलो नेता गोपीचन्द गहलोत ने कहा कि ज्ञात हो भाजपा द्वारा हरियाणा के सभी विधायकों का प्रशिक्षण शिविर फरीदाबाद में लगाया था जिसमें विधायकों को आचरण के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा था परन्तु उसी दौरान दिल्ली निवासी एक महिला रेखा सूरी ने गुड़गांव के भाजपा विधायक उमेश अग्रवाल पर 4 जनवरी 2015 को फरीदाबाद स्थित सरोवर पोर्टिको होटल के कमरा नं0 611 में नशीला पदार्थ पिलाकर बलात्कार का आरोप लगाया था। उक्त महिला ने भाजपा विधायक सहित 2 अन्य के खिलाफ दिल्ली के तिलक नगर थाने में मुकदमा दायर किया था जिसकी एफआईआर नं0 29/15, दिनांक 4/1/2015 थाना तिलक नगर है जिसपर माननीय कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए धारा 328/376/506/34 आईपीसी के तहत अपराधी मानते हुए गुड़गांव के भाजपा विधायक के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। श्री गहलोत ने कहा भाजपा कहती कुछ ओर है और करती कुछ ओर हैै। हाल ही में पंचायत चुनाव के लिए इस सरकार ने नया कानून बनाया है कि कोई भी व्यक्ति यदि कोर्ट द्वारा चार्जशीटिड है तो वह पंचायत का चुनाव नहीं लड़ सकता।


इंडियन नैशनल लोकदल सरकार से मांग करती है कि अपने इस चार्जशीटिड विधायक उमेश अग्रवाल से तुरन्त प्रभाव से इस्तीफा लेकर पार्टी से निष्काशित करें। इस अवसर पर इनेलो महिला जिलाध्यक्ष शशी धारीवाल ने सरकार पर आरोप लगाया कि माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बेटी बचाओ बेटी पढाओं की शुरूआत जिला करनाल हरियाणा से शुरू की थी जबकि भाजपा के विधायक ही ऐसे घिनौने कामों में लिप्त है तो किस तरह हरियाणा की बेटीओं का भविष्य सुरक्षित रहेगा। इस अवसर पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनन्तराम तंवर, रमेश दहिया, राजेश सूटा, दलबीर धनखड़, शमशेर कटारिया, शैलेश खटाणा, रिशीराज राणा, शशी दुआ पार्षद, मानसिंह चैयरमैन, किशोर यादव, निहाल सिंह धारीवाल, सुखबीर तंवर, ऋषिपाल धनखड़, कपिल त्यागी, कांसीराम सरपंच, देवा प्रधान, हरिकिशन सरपंच, राजेन्द्र धनखड़, अशोक जांगड़ा, मेहरचन्द दायमा, मनीश खुराना, राजेश डागर, नरेश सहरावत, भूपेन्द्र सुखराली, राजेश यादव, रतीराम शर्मा, नरेश घनघस, सुरेन्द्र तंवर, सुभाष तंवर, नरसिंह, बलवान ठाकराण, धर्मबीर बाघोरिया,  रूपा राठी प्रधान, संतोश ठाकुर, ओमकार धनखड़, अशोक सरपंच, भूरू पार्षद, चेतन मल्होत्रा, रणधीर सिंह, गोरधन सिंह, तेजू राव, सतीश राघव, विजय डागर, राजबीर सरपंच, सुशील सहरावत, नरेश दहिया, विजय दहिया, मोहनलाल वर्मा, अनिल तंवर, रामे प्रधान, गयासीराम प्रधान, धनसिंह, सविन्द्र लोहिया, प्रमोद त्यागी, नरेन्द्र अहलावत, जयभगवान कटारिया, प्रदीप जाखड़, पवन धनकोट सहित सैंकड़ों कार्यकर्ता एंव पदाधिकारी उपस्थित थे।

Wednesday, September 23, 2015

धान की खरीद शुरू करने की मांग को लेकर इनेलो का धरना प्रदर्शन


सरकार द्वारा धान की खरीद अभी तक शुरू न करने को लेकर रोष जताते हुए इनेलो द्वारा आज सिरसा अनाजमंडी में मार्केट कमेटी कार्यालय के समक्ष सांकेतिक धरना देकर प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन का नेतृत्व इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन ने किया। बाद में एसडीएम डबवाली सुरेश कस्वा को ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर उपस्थित कार्यकर्ताओं व किसानों को संबोधित करते हुए इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन ने कहा कि आज मंण्डियों में किसानों का धान सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य से भी काफी कम रेट पर खरीदा जा रहा है जो कि किसानों के साथ सरासर अन्याय है। इसे इनेलो सहन नहीं करेगी और धान की सरकारी खरीद तुरन्त न होने की स्थिति में हर वर्ग को साथ लेकर सडक़ों पर उतरेगी। उन्होंने कहा कि धान का उचित मूल्य न मिलने के कारण किसानों की आर्थिक हालत खराब हो गई है। किसानों पर कर्ज का बोझ बढ़ता जा रहा है। इसी वजह से किसान आत्महत्या करने जैसा कदम उठा रहे हैं। उन्होंने सरकार से मांग की है कि किसानों का धान तुरंत व उचित रेट पर खरीदा जाए ताकि किसानों को लाभकारी मूल्य मिल सके।
सिरसा से इनेलो विधायक मक्खन लाल सिंगला ने कहा कि जब से प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी है तब से किसानों व अन्य वर्गों का बुरा हाल है। भाजपा ने चुनाव से पूर्व किसानों की भलाई के लिए स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने की बात कही थी लेकिन सत्ता में आने के बार भाजपा अपना वादा भूल गई है। किसान अपने आप को ठगा महसूस कर रहे हैं, लेकिन इनेलो किसानों के हित में चुप बैठने वाला नहीं है। इनेलो किसानों के हित के लिए न सिर्फ विधानसभा में बल्कि सडक़ों पर भी लड़ाई लड़ेगी और किसानों को उनका हक दिलाकर रहेगी। इनेलो के वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष जसबीर सिंह जस्सा ने कहा कि भाजपा शासन में किसानों का सबसे बुरा हाल हो रहा है। पहले बिजाई के समय खाद नहीं मिला। खाद के लिए महिलाओं तक को पुलिस थानों में जाकर पर्चियां कटवानी पड़ी। जब किसी तरह से फसल उगाई तो बारिश व ओलावृष्टि की मार पड़ गई।
इनेलो नेता ने कहा कि अब मंडियों में धान की फसल आ रही है लेकिन सरकार खरीद नहीं कर रही है। धान की समर्थन मूल्य भी नाकाफी है। ऐसे में पहले ही मंदी व घाटे की मार झेल रहे किसानों पर अब कम रेट मिलना भी मुसीबत बन गया है। उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ बिजली व खाद-बीज के रेटों में कई गुणा वृद्धि हो गई है जिसका किसान पर सीधा असर हो रहा है। इनेलो ने सीएम के नाम दिए गए ज्ञापन में धान की जल्द खरीद शुरू करने, धान का समर्थन मूल्य बढ़ाने सहित कई मांगें की है। इस मौके पर पूर्व मंत्री भागीराम, कृष्णा फोगाट, रणधीर जोधकां, प्रदीप मेहता, कृष्ण गुम्बर, सतपाल अरोड़ा, नरेन्द्र मेहता, राजेन्द्र हरी, महेन्द्र बिस्सु, डा. राधेश्याम शर्मा, डा. हरी सिंह, आरके भारद्वाज, जगदीश शर्मा, प्रोमिला शर्मा, कृष्णा सैनी, सीता राम बटनवाला, राजन बाबा, अजव ओला, विकल पचार, वेद वधवा, देशराज कम्बोज, मनोहर लाल मेहता, श्याम लाल इन्दौरा, शाम बामनियां, दलीप कस्वां, कुलदीप भट्टी सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद थे।