Monday, June 29, 2015

भूमि अधिग्रहण बिल में संशोधनों के खिलाफ संयुक्त संसदीय समिति से मिला अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में इनेलो नेताओं का प्रतिनिधिमण्डल, दिए कई अहम् सुझाव

इनेलो ने भूमि अधिग्रहण बिल में एनडीए सरकार द्वारा लाए जा रहे संशोधनों का विरोध करते हुए सोमवार को इस संबंध में गठित की गई एसएस आहलुवालिया की अध्यक्षता वाली संयुक्त संसदीय कमेटी को एक ज्ञापन सौंपा। उन्होंने भूमि अधिग्रहण कानून 2013 में लाए जा रहे बदलावों को किसानों व खेती पर निर्भर अन्य वर्गों के हितों के खिलाफ बताते हुए उन्हें अपने सुझाव दिए। इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला, इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, इनेलो संसदीय दल के नेता दुष्यंत सिंह चौटाला, सिरसा के सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, राज्यसभा सांसद रामकुमार कश्यप, इनेलो किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष पूर्ण सिंह डाबड़ा व पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आरएस चौधरी इस प्रतिनिधिमण्डल में शामिल थे।
संयुक्त संसदीय समिति से मिलकर लौटे इनेलो नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला व श्री अशोक अरोड़ा ने पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब में कहा कि प्रतिनिधिमण्डल ने भूमि अधिग्रहण बिल पर संसदीय कमेटी को कई सुझाव दिए हैं। उनकी पार्टी का स्पष्ट स्टेंड है कि किसानों की सहमति के बिना भूमि अधिग्रहण न हो, सोशल इम्पैक्ट असेस्मेंट का ख्याल रखा जाए। अगर तय सीमा समय के अंदर निर्माण न हो तो जमीन किसानों को वापिस मिले। एक्वायर की जाने वाली जमीन पर जितने लोगों का हक हो उसी अनुपात में उन्हें सरकारी नौकरी मिले। औद्योगिक अथवा व्यावसायिक मकसद के लिए अधिग्रहण होने वाली भूमि में किसानों को औद्योगिक प्लॉट मिलें और रिहायशी मकसद के लिए अधिग्रहण की जाने वाली जमीन में रिहायशी प्लॉट, मार्केट रेट के हिसाब से मुआवजा मिले व दो से तीन फसलें देने वाली भूमि का अधिग्रहण न किया जाए।
चौधरी अभय सिंह चौटाला व श्री अशोक अरोड़ा ने पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब में कहा कि उनकी पार्टी भूमि अधिग्रहण बिल में किसानों की सहमति वाली शर्त हटाए जाने का विरोध करती है और किसानों की भूमि उनकी सहमति से ही अधिग्रहण किए जाने की पक्षधर है। इनेलो नेताओं ने कहा कि नए कानून में अगर सोशल इम्पेक्ट रिपोर्ट की शर्त को हटाया जाएगा तो इसके दुष्प्रभाव पड़ेंगे जिसके चलते किसान के साथ-साथ गांव व खेती पर निर्भर खेतीहर मजदूर व छोटे दस्तकार जैसे नाई, खाती, तेली, धोबी, लोहार, कुम्हार, जुलाहा, झींवर आदि अन्य वर्ग जो पूरी तरह से अधिग्रहण की जाने वाली भूमि पर निर्भर हैं, मुआवजे व पुनर्वास की प्रक्रिया से वंचित रह जाएंगे। इनेलो नेताओं ने यह भी सुझाव दिया कि पांच साल तक भूमि का प्रयोग न होने पर उसे वापिस किसान को दिए जाने के प्रावधान नहीं हटाया जाना चाहिए बल्कि जिस मकसद के लिए जमीन ली जा रही है अगर वह मकसद बदला जाए तो उनकी पार्टी उस जमीन को भी वापिस किसान को दिए जाने की पक्षधर है। 
इनेलो प्रतिनिधिमण्डल ने सवालों के जवाब में कहा कि उनकी पार्टी का हमेशा यह भी स्टेंड रहा है कि बहुफसली सिंचित भूमि का अधिग्रहण न किया जाए अन्यथा दिनोंदिन बढ़ रही देश की आबादी के लिए अन्न सुरक्षा खतरे में पड़ जाएगी। इनेलो नेताओं ने कहा कि इनेलो संशोधन कानून को पिछली तारीखों से लागू किए जाने का भी विरोध करती है। इसके अलावा उनकी पार्टी वन क्षेत्र में रहने वाली ट्राइबल जनसंख्या के अधिकारों की भी रक्षा किए जाने की पक्षधर है और किसान के परिवार के एक सदस्य की बजाय जितने भी योग्य सदस्य हों, उनके लिए नौकरी का प्रावधान किए जाने की मांग करती रही है और पार्टी आज भी अपने उस स्टेंड पर कायम है। इनेलो नेताओं ने कहा कि मौजूदा सरकार द्वारा 2013 के भूमि अधिग्रहण बिल में कुछ ऐसे बदलाव किए जा रहे हैं जो छोटे व मध्यम वर्ग के किसानों को पूरी तरह से बर्बाद करने वाले हैें जिनके परिवार पूरी तरह से अधिग्रहण की जाने वाली भूमि पर निर्भर करते हैं।
इनसो ने एमडीयू के वीसी व रजिस्ट्रार पर भाजपा विधायक के इशारे पर जाति विशेष के शिक्षकों व अधिकारियों को प्रताडि़त करने का लगाया आरोप, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

INDIAN NATIONAL STUDENT ORGANISATION
Flat No. 17, Sector-3, Chandigarh


To                                                              
His Excellency Shri Kaptan Singh Solanki,
The Governor of Haryana,
Raj Bhawan,
Chandigarh.                                                                                                                     Dated: 29-06-2015


Your Excellency,
Subject: Complaint against proceedings with unfortunate and evil intentions against people of a particular caste in Maharishi Dayanand University on the orders of the local BJP MLA.

                        With due respect, it is stated that Maharishi Dayanand University, which once used to be a centre of excellence in the field of education, has now turned into an arena of casteism because of the wrong policies of the University’s officials. It is further submitted that the MDU’s Vice-Chancellor Sh. Sudhir Rajpal and Registrar Sh. S. P. Vats have been targeting people from a particular community.
                        MLA Sh. Manish Grover took an excuse of an unnamed letter and has ordered The Vice-Chancellor to initiate unwarranted proceedings against the officials and teachers of a particular caste. The MLA through his official secretary ordered the Vice Chancellor through a letter to initiate immediate aforementioned proceedings. After receiving the letter, the Vice Chancellor started immediate proceedings against all the teachers and officials whose names were written in the letter. Some officials have been removed with immediate effect and some are being pressurized to resign.
                       Such unfortunate developments have hurt the sentiments of the teachers, officials and the students of the University. It is completely wrong and unfortunate to target people on the basis of caste. It is important to note here that the letter which is being taken as an excuse of such conspiracy against a particular caste is without name or any other details of the complainant. It is completely wrong to initiate proceedings without verifications against someone on the basis of unnamed letter. On the other hand the MLA has no right or power to order the Vice Chancellor for any action or work. Vice Chancellor’s post is a constitutional post and the University is an autonomous institution which should not do any wrong under the pressure of any politician or MLA.
                      Moreover, the University has also been paralysed by corruption and irregularities in its working. A couple of days back, media caught the University’s officials red-handed who were conducting an unfair and unlawful test for the recruitment of Data Entry Operators. Similar corruption came to light in the case of Coordinator for Distance Education.
                       Sir, we request you to take immediate notice of the aforementioned serious issues and terminate the Vice Chancellor and the Registrar. We also request you to take strict action against the BJP MLA so that such people do not succeed in polluting the peaceful environment of the university by spreading the poison of casteism and communalism. We hope that you will take proper action on the issue and will also bring it to the notice of the Government of Haryana.
Thanking You.

Yours sincerely,

Digvijay Singh Chautala,                                                                     Dr. Kuldeep Nara,
National President,                                                                             National Spokesperson,
INSO.                                                                                                   INSO


Pradeep Deswal,                                                                                 Randhir Singh Cheeka,
State President, Haryana,                                                                   Incharge, INSO Haryana
INSO


इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी के छात्र संगठन इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला के नेतृत्व में महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय रोहतक के कुलपति व रजिस्ट्रार द्वारा स्थानीय भाजपा विधायक के इशारे पर विश्वविद्यालय में कार्यरत एक जाति विशेष के शिक्षकों व अधिकारियों को प्रताडि़त व उत्पीडि़त किए जाने का मामला उठाते हुए विश्वविद्यालय में जातिवाद व साम्प्रदायिकता फैलाने का आरोप लगाया और वीसी व रजिस्ट्रार को तुरंत हटाए जाने व भाजपा विधायक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग को लेकर प्रदेश के राज्यपाल व विवि के कुलाधिपति महामहिम कप्तान सिंह सोलंकी को सोमवार एक ज्ञापन सौंपा। 
इनसो प्रतिनिधिमण्डल ने एमडीयू में फैले व्यापक भ्रष्टाचार व अनियमितताओं का मामला उजागर करते हुए महामहिम को यह भी बताया कि किस तरह से विवि में पिछले दरवाजे से डाटा एंट्री ऑपरेटर भर्ती करने के लिए विवि अधिकारियों द्वारा सारे नियम कायदे तोडक़र टेस्ट आयोजित किए जा रहे थे जिसे कुछ दिन पहले मीडिया ने व्यापक स्तर पर उजागर किया। उन्होंने विवि दूरस्थ शिक्षा में संयोजक लगाने के मामले में भी भ्रष्टाचार उजागर होने का मामला ज्ञापन में उठाया। राज्यपाल को ज्ञापन देने के बाद दिग्विजय सिंह चौटाला ने बताया कि प्रदेश में छात्र संघ चुनाव बहाल किए जाने की मांग भी उन्होंने राज्यपाल के समक्ष उठाई और उन्हें बताया कि भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में इस बारे वायदा भी किया था और प्रदेश में भाजपा सरकार बनते ही जब वे मुख्यमंत्री से इस संबंध में मिले थे तो मुख्यमंत्री ने भी छात्र संघ चुनाव बहाल करने का भरोसा दिलाया था लेकिन अभी तक इस बारे में सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की। राज्यपाल से मिलने गए इनसो प्रतिनिधिमण्डल में दिग्विजय सिंह चौटाला के अलावा इनसो प्रभारी प्रो. रणधीर सिंह चीका, इनसो हरियाणा के अध्यक्ष प्रदीप देशवाल, राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. कुलदीप नारा के अलावा इनसो चंडीगढ़ के पदाधिकारी अनिल ढुल, सोमवीर सिंह व रमन ढाका भी शामिल थे। 


दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि एमडीयू की शिक्षा के क्षेत्र में किसी समय विशेष पहचान हुआ करती थी लेकिन विवि अधिकारियों की गलत नीतियों के कारण अब यहां पूरी तरह से जातिवाद हावी हो गया है। उन्होंने कहा कि रोहतक के भाजपा विधायक ने एक तथाकथित बेनामी पत्र जिस पर न तो किसी का कोई अता-पता है और न ही किसी के कोई हस्ताक्षर हैं, को आधार बनाकर एमडीयू के कुलपति को अपने कार्यालय सचिव के माध्यम से भेजते हुए इस पत्र पर तुरंत उचित कार्रवाई किए जाने और उस कार्रवाई से विधायक के कार्यालय को सूचित किए जाने के आदेश दिए। इस पत्र में एक जाति विशेष के लोगों के खिलाफ तरह-तरह के गम्भीर आरोप लगाए गए थे। पिछले महीने आठ मई को कुलपति को भाजपा विधायक का पत्र मिलते ही उन्होंने इस बेनामी पत्र के आधार पर ही आगामी कार्रवाई के लिए उसी दिन रजिस्ट्रार को भेज दिया और पांच दिन में उनसे रिपोर्ट तलब की गई। इस बेनामी पत्र पर ही रजिस्ट्रार ने भी आगे अधिकारियों को भेजते हुए तुरंत कार्रवाई शुरू कर दी जिसके चलते बेनामी पत्र में एक जाति विशेष के जिन वरिष्ठ शिक्षकों अथवा अधिकारियों के नाम दिए गए थे उन्हें दबाव डालकर या तो इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया गया और कुछेक को तुरंत उनके पदों से हटा दिया गया।
इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि इस दुर्भाग्यपूर्ण घटनाक्रम से विवि के शिक्षकों, अधिकारियों, कर्मचारियों व छात्रों की भावनाएं बेहद आहत हुई हैं। उन्होंने कहा कि यह बेहद गलत व दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोगों को सिर्फउनकी जाति के आधार पर निशाना बनाया जाए। उन्होंने कहा कि इससे ज्यादा गलत व दुर्भाग्यपूर्ण बात क्या होगी कि जिस तथाकथित पत्र को आधार बनाकर एक जाति विशेष के खिलाफ यह पूरा षड्यंत्र रचा गया उस पत्र को भेजने वाले अथवा शिकायतकर्ता का कहीं कोई नाम अता-पता तक नहीं है और तथ्यों को जांचे बगैर ऐसे बेनामी पत्र पर कार्रवाई किए जाना बेहद दुखद है। उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ किसी विधायक को विवि के कुलपति जैसे संवैधानिक पद पर बैठे अधिकारी को दिशा निर्देश देने का भी कोई अधिकार नहीं है। इनसो नेता ने राज्यपाल से कुलपति व रजिस्ट्रार को तुरंत हटाए जाने व भाजपा विधायक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग की ताकि ये लोग विवि के शांतिपूर्वक माहौल में जातिवाद व साम्प्रदायिकता का जहर फैलाने और विवि को प्रदूषित करने में सफल न हो पाएं।

Sunday, June 28, 2015

 मखंड गांव में ग्रामीणों के दांतों की जांच करते हुए डॉक्टर


इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला द्वारा गोद लिए गए मखंड गांव में दांतों की जांच के लिए कैंप आयोजित किया गया। इसमें जननायक चौ. देवीलाल सुपर स्पेसलिटी एंड ड्रामा सेंटर सिरसा से सात डॉक्टरों की टीम पहुंची। कैंप में 510 ग्रामीणों के दांतों की जांच की गई। इसमें 35 पानी की वजह से खराब मिले, अधिकांश ग्रामीणों के दांतों में कीड़े लगे हुए मिलीे। 100 मरीज पायरिया बीमारी से ग्रस्त मिले। ग्रामीणों के दांतों की सफाई भी कैंप में की गई। डॉक्टरों की टीम के साथ मोबाइल डेंटल बस भी कैंप में पहुंची। मरीजों के दांतों की मुफ्त जांच करने के साथ-साथ दवा भी मुफ्त में दी गई। डॉक्टरों की टीम में डॉ. विजनेस गुप्ता, डॉ. कमल वर्मा, डॉ. विकास, डॉ.कपिल, डॉ.तरूण, डॉ. कुलदीप, डॉ.संजय शामिल हुए।
डॉ. विजनेस ने कहा कि ग्रामीणों को चाहिए कि वो दांतों की समय पर जांच करवाए। दांतों में नियमित रूप से ब्रश भी करना चाहिए। दांतों की बीमारी के लिए हम खुद जिम्मेदार होते है, क्योंकि दांतों की समय पर जांच नहीं करवाते है। दांतों में अधिक दर्द होने के बाद ही उसकी जांच करवाई जाती है। समय-समय पर दांतों की जांच करवाई जाए, ब्रश किया जाए तो दांत खराब नहीं होंगे।
ग्रामीण सुरेश, महेश, बलवान ने कहा कि 11 जून को सांसद दुष्यंत चौटाला द्वारा गांव में ग्रामीणों से दंत्त चिकित्सा कैंप लगवाने का वायदा किया था। गांव में सांसद के प्रयास से दांतों के कैंप का आयोजन किया गया। इसमें उनके निजी अस्पताल से डॉक्टरों की टीम पहुंची। टीम द्वारा नि:शुल्क ग्रामीणों के दांतों की जांच करने के साथ-साथ दवा भी मुफ्त में दी गई। उन्होंने कहा कि दुष्यंत चौटाला द्वारा गांव को गोद लेने के बाद गांव के हित में निरंतर कार्य करने के लिए वो प्रयासरत है। इनेलो सत्ता में न होने के बाद भी वो प्रशासनिक अधिकारियों को पत्र लिख गांव में विभिन्न तरह की सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रयासरत है। 
सरकार टकराव व हठधर्मी छोड़ गेस्ट व कम्प्यूटर टीचरों को नियमित करे: अभय चौटाला

इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने सरकार से टकराव का रास्ता एवं हठधर्मी छोड़ गेस्ट टीचरों, कम्प्यूटर शिक्षकों व लैब सहायकों सहित विभिन्न आंदोलनकारी कर्मचारियों व शिक्षकों को नियमित किए जाने और सरकार से अपने चुनावी वायदे पूरे करने का आहवान किया है। इनेलो नेता ने कहा कि पहले हुड्डा सरकार ने गेस्ट टीचरों व अन्य आउटसोर्सिंग कर्मचारियों के साथ धोखा किया और अब मौजूदा सरकार अपने वायदों से मुकर कर न सिर्फ आए दिन हजारों कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है बल्कि चुनाव घोषणा पत्र में वायदा करने के बावजूद अपने वायदे पूरे नहीं कर रही। इनेलो नेता ने भाजपा के घोषणा पत्र में किए गए अन्य वायदों के साथ-साथ पूर्व सैनिकों के लिए वन रेंक वन पेंशन के वादे को भी तुरंत पूरा किए जाने की मांग की।
 नेता प्रतिपक्ष ने भाजपा सरकार से तुरंत राज्य विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने और इन कर्मचारियों को नियमित करने के लिए एक व्यापक नीति बनाने का भी आग्रह किया। उन्होंने कहा कि भीषण गर्मी में महिला शिक्षकों को अपने छोटे-छोटे बच्चों के साथ न सिर्फ आंदोलन करना पड़ रहा है बल्कि आमरण अनशन पर बैठे शिक्षकों की आए दिन हालत भी खराब होती जा रही है। उन्होंने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि सरकार का कोई भी प्रतिनिधि अभी तक महेंद्रगढ़ में आमरण अनशन पर बैठे गेस्ट टीचरों के साथ बातचीत करने व उनके मसले का सौहार्दपूर्ण हल निकालने के लिए वहां नहीं गया। उन्होंने कहा कि सरकार को टकराव का रास्ता व हठधर्मी छोड़ तुरंत गेस्ट टीचरों सहित अन्य सभी वर्गों की मांगें स्वीकार कर प्रदेश में सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाने में पहल करनी चाहिए।
चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार ने पिछले विधानसभा चुनाव में कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतन भत्ते दिए जाने, सरकारी व अद्र्ध-सरकारी कर्मचारियों की वेतन विसंगतियां व पदोन्नति पॉलिसी की खामी दूर करने, गेस्ट टीचरों को नियमित किए जाने सहित कर्मचारियों के साथ अनेक प्रमुख वायदे किए थे। उन्होंने कहा कि सत्ता में आते ही सरकार ने अपने वायदे पूरे करने की बजाय कभी कम्प्यूटर शिक्षकों को तो कभी लैब सहायकों को नौकरी से निकालने का काम किया और अब हजारों गेस्ट टीचरों को भी नियमित करने की बजाय नौकरी से निकाल दिया गया है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने यह मुद्दा हरियाणा विधानसभा में भी उठाया था और गेस्ट टीचरों, कम्प्यूटर टीचरों व लैब सहायकों के साथ-साथ नौकरी से निकाले गए कुरुक्षेत्र विवि के 1423 आउट सोर्सिंग कर्मचारियों को भी नियमित किए जाने की मांग की थी। उन्होंने कहा कि सरकार ने इस पर न सिर्फ टालमटोल का रवैया अपनाया बल्कि सरकार की हठधर्मी से आज प्रदेशभर में जगह-जगह कर्मचारी वर्ग आंदोलनरत हैं।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व वाली इनेलो सरकार ने 2000 में कर्मचारियों को नियमित करने की एक नीति बनाकर दो साल के तदर्थ, तीन साल के वर्कचार्ज, पांच साल के दिहाड़ीदार व डीसी रेट पर काम करने वाले दस साल के पार्ट टाइम कर्मचारियों को भी नियमित किए गया था। उस समय कर्मचारियों को नियमित करते समय यह भी प्रावधान किया गया था कि जिस महकमे में पोस्ट नहीं है वहां पर्सनल पोस्ट देकर उन कर्मचारियों को नियमित कर दिया जाए। यानि जब तक वो कर्मचारी पदोन्नत होकर कहीं ओर नहीं चला जाता अथवा रिटायर नहीं हो जाता तब तक वो पर्सनल पोस्ट कामय रहेगी। उन्होंने कहा कि इतना ही नहीं कांग्रेस सरकार के दौरान 1993 व 1995 और बंसीलाल व भाजपा की सरकार के दौरान 1996 व 1998 में प्रदेश में चार बड़े कर्मचारी आंदोलन हुए थे। उन आंदोलनों के दौरान न सिर्फ हजारों कर्मचारी बर्खास्त व निलम्बित किए गए थे बल्कि उन्हें जेलों में भी डाल दिया गया था। उन आंदोलनकारी कर्मचारियों को इनेलो की सरकार ने सभी आपराधिक मामले वापिस लेकर न सिर्फ उन्हें पिछले वेतन व भत्तों और सेवा लाभ सहित नियमित किया गया बल्कि जो आंदोलनकारी नर्सें बर्खास्त की गई थी और वे उच्चतम न्यायालय से भी केस हार गई थी उन्हें भी सरकार ने नीति बनाकर वापिस नौकरी पर लेने का काम किया था। इनेलो नेता ने कहा कि सरकार राज्य मंत्रिमण्डल में अथवा प्रदेश विधानसभा में इन कर्मचारियों को लेकर एक व्यापक नीति लेकर आए ताकि इन कर्मचारियों को नियमित किया जा सके।
किसानों को अब सामाजिक तौर पर भी अपमानित कर रही है भाजपा सरकार: इनेलो 

इनेलो ने प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा सहकारी बैंकों का समय पर कर्ज अदा न कर पाने वाले किसानों व उनके परिवारों की महिला सदस्यों के डिफाल्डरों के रूप में बड़े-बड़े विज्ञापन अखबारों में छपवाकर उन किसानों व उन परिवारों की महिला सदस्यों को अब सार्वजनिक तौर पर अपमानित व जलील किए जाने की कड़े शब्दों में भत्र्सना करते हुए इन्हें तुरंत बंद किए जाने और ऐसे तुगलकी फरमान जारी करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग की है। इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार इस तरह से किसानों को अपमानित करके क्या संदेश देना चाहती है यह समझ से बाहर है। उन्होंने कहा कि पिछले कई सालों से खेती लगातार घाटे का सौदा बनती जा रही है और भाजपा द्वारा किसानों को उनकी फसलों के लाभकारी मूल्य दिए जाने और किसान को उसकी लागत पर 50 प्रतिशत लाभ देकर स्वामी नाथन आयोग की रिपोर्ट लागू किए जाने के भरोसे पर इस बार किसानों ने बड़े स्तर पर भाजपा को वोट देकर उन्हें सत्ता में लाने का काम किया था। लेकिन सरकार ने किसानों के साथ किए हुए अपने किसी भी वायदे को निभाने का काम नहीं किया जिसके चलते आज किसान सिर से लेकर पांव तक पूरी तरह कर्ज में डूबा हुआ है और ऐसे में उन्हें सरकार द्वारा मदद व राहत की उम्मीद कर रहा है। 
इनेलो नेता ने कहा कि इस बार पूरे प्रदेश में बार-बार बेमौसमी बारिश व ओलावृष्टि से ज्यादातर किसानों की फसलें तबाह हो गई और सरकार ने किसानों के सहकारी कर्जों की वसूली स्थगित किए जाने और कर्जों का ब्याज माफ किए जाने की घोषणा की थी। सरकार की नालायकी से प्रभावित किसानों की ठीक से विशेष गिरदावरी नहीं हुई जिसके चलते किसानों को उनकी फसलों का पूरा मुआवजा नहीं मिल पाया और ज्यादातर किसान मुआवजे से वंचित रहने के साथ-साथ सरकार द्वारा प्रभावित किसानों को दी जाने वाली रियायतों से भी वंचित हो गए हैं। सरकार ने किसानों को कोई बोनस भी न देकर उनके हितों पर भारी कुठाराधात किया है और अब ये सामाजिक तौर पर किसानों को प्रताडि़त करने वाले विज्ञापन किसानों के जख्मों पर मरहम नहीं बल्कि नमक छिडक़ने का काम कर रहे हैं। सरकार का यह कदम दर्शाता है कि भाजपा की नीतियां पूरी तरह से किसान विरोधी है। इसी के चलते प्रदेश में किसानों की सदमे से मौत अथवा आए दिन किसानों द्वारा आत्महत्या करने की खबरें बढ़ती जा रही हैं।
अशोक अरोड़ा ने कहा कि आज प्रदेश के प्रमुख अखबारों में रोहतक जिला सहकारी कृषि व ग्रामीण विकास बैंक की ओर से पूरे पृष्ठ का एक विज्ञापन छपाया गया है जिनमें 62 हजार रुपए से लेकर एक लाख 22 हजार रुपए के बकायादार किसानों और दो लाख 14 हजार रुपए के बकायादार किसानों के परिवारों की महिला सदस्यों के नाम पिता अथवा पति का नाम, गांव व जिला सहित पूरा ब्यौरा देते हुए उन्हें बैंक के बड़े डिफाल्टरों का सूचीदार बताया गया है। इसमें यह भी कहा गया है कि अन्य बैंक व संस्थान भी इन डिफाल्टरों को कोई कर्ज अथवा अनुदान न दे और विज्ञापन पर खर्च किए गए लाखों रुपए भी इन्हीं किसानों से वसूले जाने की बात कहने के साथ-साथ अन्य किसानों को भी इसी विज्ञापन में यह धमकीनुमा चेतावनी दी गई है कि अगर वे भी समय पर अपना भुगतान नहीं करेंगे तो उनके फोटो भी इसी प्रकार डिफाल्टरों के रूप में समाचार पत्रों में छपवा दिए जाएंगे। जिन किसानों के अखबारों में डिफाल्टरों के रूप में फोटो छपवाए गए हैं उन्हें भी धमकीनुमा चेतावनी दी गई है कि जब वे कर्जा नहीं भरेंगे उनकी फोटो इसी प्रकार अखबारों में छलती रहेगी और इन विज्ञापनों पर होने वाले खर्च की वसूली भी इन्हीं किसानों के खाते में डालकर की जाएगी।
इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि इस बार खुद प्रदेश सरकार ने माना था कि गेहूं पर किसानों का औसत खर्च 1943 रुपए प्रति क्विंटल आ रहा है जबकि धान पर किसानों का औसत खर्च 1994 रुपए आंका गया है। सरकार द्वारा अपने चुनावी वायदे अनुसार किसानों को 50 प्रतिशत लागत पर लाभ देने के साथ गेहूं व चावल का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2900 से 3000 रुपए प्रति क्विंटल के आसपास घोषित किया जाना चाहिए था। सरकार ने पिछले घोषित एमएसपी में करीब तीन प्रतिशत की बढ़ौतरी करके गेहूं का समर्थन मूल्य 1450 रुपए और धान का एमएसपी 1410 रुपए प्रति क्विंटल घोषित किया है। ऐसे में जब किसान को उसके लागत मूल्य भी नहीं मिल पाते तो स्वाभाविक तौर पर आए साल किसानों पर कर्ज का बोझ बढ़ता ही जाएगा।  उन्होंने कहा कि देश में भाजपा सरकार आने के बाद पिछले साल किसानों का नरमा, कपास व बासमती धान करीब दो हजार रुपए प्रति क्विंटल उससे पिछले साल के मुकाबले सस्ता बिका था। इतना ही नहीं बाजरा, मक्का व सूरजमुखी सहित अनेक फसलों का एमएसपी घोषित होने के बावजूद सरकारों द्वारा इसकी समर्थन मूल्य पर खरीद न होने से ये कृषि उपज बाजार में एमएसपी से कहीं कम यानि औने-पौने दामों पर बिक रही हैं। आज खाद, बीज, कीटनाशक सहित हर चीज महंगी होने से किसानों का लागत मूल्य निरंतर बढ़ रहा है और जमीनों का ठेका भी करीब 40 हजार से 50 हजार रुपए प्रति एकड़ होने से जब किसान को उसका लागत मूल्य भी नहीं मिलेगा तो वो कर्ज कैसे अदा कर पाएगा? इनेलो नेता ने भाजपा सरकार से किसानों को अपने चुनावी वायदे अनुसार स्वामीनाथन की रिपोर्ट लागू कर लागत पर 50 प्रतिशत मुनाफा दिए जाने और किसान विरोधी नीतियां तुरंत बंद कर इस तरह से किसानों को अपमानित व जलील करने वाले विज्ञापनों पर भी फौरी तौर पर प्रतिबंध लगाए जाने की मांग की।

Friday, June 26, 2015

केन्द्रीय  मंत्री ने छीना मखंड वासियों का हक: दुष्यंत चौटाला
हिसार लोकसभा क्षेत्र से सांसद दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री वीरेंद्र सिंह पर क्षेत्र के गांव मखंड वासियों का हक छीनने का आरोप लगाया है। सांसद चौटाला ने सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत इस गांव को गोद ले रखा है और उनके निवेदन पर एनसीसी की ओर से इस गांव में जुलाई में एनसीसी का ट्रेनिंग कैंप लगाया जाना प्रस्तावित था, लेकिन अब उसे गांव की बजाए उचाना के राजीव गांधी महाविद्यालय में स्थानांतरित कर दिया गया है। 


सांसद चौटाला ने कहा कि केंद्रीय मंत्री की संकीर्ण मानसिकता के चलते एनसीसी के इस कैंप का स्थान मखंड गांव की बजाए उचाना के राजीव गांधी महाविद्यालय में किया गया है। सांसद चौटाला ने कहा कि 18 जनवरी 2015 को उन्होंने एनसीसी के महानिदेशक को पत्र लिखा था। जिसमें कहा गया था कि सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत उन्होंने मखंड गांव गोद ले रखा है। इसलिए इस गांव में एननसीसी का ट्रेनिंग कैंप लगाया जाए ताकि यहां के युवा अनुशासन और देश सेवा की भावना से रूबरू हों और उनका रूझान सेना की तरफ बढ़े। 


उन्होंने आश्वासन दिया था कि इस कैंप के लिए जो भी जरूरतें होंगी, उन्हें पूरा किया जाएगा। इस पत्र के जवाब में एनसीसी के महानिदेशक की ओर से 17 फरवरी का जवाब आया कि अभी कैडेट परीक्षाओं व जून में प्रस्तावित योगा डे को लेकर व्यस्त है। इसलिए यह कैंप 15 जुलाई के आसपास लगाया जाएगा। 


लेकिन अब महानिदेशक की ओर से 18 जून को एक और पत्र भेजा गया है, जिसमें कहा गया है कि यह कैंप 25 जुलाई से 3 अगस्त तक लगाया जाएगा।  लेकिन प्रशासनिक कारणों के चलते इसे मखंड गांव की बजाए राजीव गांधी महाविद्यालय उचाना में लगाया जाएगा। सांसद चौटाला ने कहा कि यह सब केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री वीरेंद्र सिंह के इशारे पर हुआ है। उन्होंने एनसीसी कैंप का स्थान बदलवा कर मखंड वासियों का हक छीना है। उन्होंने आरोप लगाया कि इससे पहले भी प्रशासनिक अधिकारी राजनेताओं के दबाव में काम कर रहे हैं। इससे पहले भी सांसद कोटे के तहत अधिकतर ग्रांटों को ऑबजेक्शन लगाकर रिजेक्ट कर दिया था। इससे साफ जाहिर है कि भाजपा क्षेत्र का विकास नहीं चाहती और राजनीतिक रंजिश के तहत यहां के लोगों का हक छीना जा रहा है।

Tuesday, June 23, 2015

सीमेंट फैक्टरी की मांग को लेकर केंद्रीय मंत्री से मिले सांसद दुष्यंत चौटाला


सांसद दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय उद्योग मंत्री अन्नत गीते से मुलाकात की और दादरी में पिछले कई वर्षों से बंद पड़ी सीमेंट फैक्टरी को दोबारा शुरू कराने की बात को प्रमुखता के साथ उठाया। सांसद दुष्यंत चौटाला के साथ दादरी के विधायक राजदीप फौगाट भी उपस्थित थे। इस दौरान इनेलो नेताओं ने केंद्रीय मंत्री को इस संबंध में पत्र भी सौंपा।
अपने पत्र में सांसद चौटाला ने बताया कि दादरी क्षेत्र में वर्षों से बंद पड़ी सीसीआई यूनिट केवल दादरी ही नहीं, बल्कि आस पास के क्षेत्र की जीवन रेखा है। सीमेंट फैक्टरी शुरू होने से हिसार तक के लेागों का फायदा होगा, वहीं कैशर जोन व राजस्थान से सटा होने के कारण सीमेंट बनाने में भी आसानी होगी। सांसद चौटाला ने कहा कि अब इस यूनिट के बंद होने से वहां पर करोड़ों रुपए की मशीनरी खराब होने के साथ साथ करीब 210 एकड़ जमीन, स्टाफ क्वार्टर आदि बेकार पड़ी है। उन्होंने कहा कि दादरी में अगर सीसीआई यूनिट शुरू होती है तो यहां बनने वाले राजमार्गों व पावर प्लांटों के लिए कच्चा माल सरलता से उपलब्ध हो पाएगा। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उन्होंने लोकसभा में भी 28 अपै्रल 2015 को यह मामला उठाया था। उन्होंने कहा कि अगर विभाग ऐसा नहीं कर सकता हो इस यूनिट को राष्ट्रीय राजमार्ग एवं परिवहन मंत्रालय के अधीन कर शुरू कर दिया जाए, क्योंकि आने वाले दिनों में विभिन्न परियोजनाओं के तहत सड़कों का जाल बिछेगा तो वहां पर सीमेंट की जरूरत होगी, इसलिए यह क्षेत्र के लिए वरदान साबित होगा। दादरी के विधायक ने भी क्षेत्र के लोगों की ओर से केंद्रीय मंत्री को मांगपत्र सौंपा और कहा कि इससे पूरे क्षेत्र के लोगों को फायदा होगा और अधिक से अधिक लोगों को रेाजगार के अवसर मिलेंगे, जिससे दादरी एक बार फिर पटल पर छायेगी
भाजपा नहीं चाहती हिसार शहर का हो विकास: दुष्यंत चौटाला

इनेलो संसदीय दल के नेता एवं हिसार के सांसद दुष्यंत चौटाला ने आरोप लगाया है कि भारतीय जनता पार्टी हिसार शहर का विकास नहीं चाहती। सरकार का प्रशासनिक अधिकारियों पर दबाव है कि वे किसी भी सूरत में हिसार में विकास कार्य न होने दें। इसके पीछे साफ वजह है कि यहां पर सत्ता पक्ष से संबंधित मात्र दो विधायक हैं, वहीं सांसद व मेयर भी भाजपा से नहीं है। सोमवार को नगर निगम की बैठक में प्रशासनिक अधिकारियों की उपेक्षा को भी इसी से जोड़कर देखा जा सकता है।
सांसद चौटाला ने कहा कि नगर निगम की तरह उनके साथ भी भेदभाव बरता जा रहा है। उन्होंने भी विभिन्न विकास परियोजनाओं के तहत 75 कार्य मंजूर किए थे, लेकिन इनमें से अभी तक मात्र 9 काम ही हुए हैं। जिससे अन्य संसदीय ग्रांट रूकी हुई है और क्षेत्र के विकास कार्य प्रभावित हो रहे हैं। सांसद चौटाला ने कहा कि अधिकारियों का बैठक में न आना कोई नई बात नहीं है। पिछले दिनों उनकी अध्यक्षता में हुई विजीलेंस एंड मॉनीटेरिंग की बैठक में भी कई अधिकारी उपस्थित नहीं हुए थे, लेकिन उनपर कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने आरोप लगाया कि स्थानीय भाजपा विधायक एवं हिसार जिले से एक मात्र मंत्री भी नहीं चाहते कि हिसार में विकास कार्य हों। इसलिए बार बार विकास कार्यों में अडंगा अटकाया जा रहा है। सांसद चौटाला ने इस मुद्दे को लेकर दूरभाष से उपायुक्त से भी बात की और कहा कि हिसार के विकास में किसी प्रकार का रोड़ा न अटके। इसलिए अगली बैठक में यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी प्रशासनिक अधिकारी अपनी रिपोर्ट के साथ पहुंचे। निगम की अगली बैठक में वे स्वंय उपस्थित होंगे और अन्य सभी विधायकों से भी अनुरोध करेंगे कि वे इस बैठक में आएं ताकि हिसार शहर के विकास को लेकर योजनाएं तैयार की जा सके। सांसद ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को अपनी बात कहने का अधिकार है। उन्होंने कहा कि अगर प्रशासनिक अधिकारियों का इसी तरह ढुलमुल रवैया रहा तो सभी पार्षदों व विधायकों के साथ मिलकर मुख्यमंत्री से गुहार लगाएंगे। उन्होंने कहा कि वे हिसार शहर के विकास के लिए कटीबद्ध है। विकास के नाम पर कोताही किसी भी तरीके से सहन नहीं की जाएगी।

Monday, June 22, 2015


इनेलो जिला कार्यकारिणी की घोषणा की गई

 


इंडियन नैशनल लोकदल पार्टी के संगठन को ओर अधिक मजबूत, सक्रिय व प्रभावशाली बनाने के लिए आज जिला गुड़गांव की नवनिर्मित कार्यकारिणी की घोषण की गई। हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष एंव इनेलो के वरिष्ठ नेता चौ0 अभय सिंह चौटाला, प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व स्थानीय नेताओं से विचार विमर्श कर अनुमति उपरान्त आज इनेलो कार्यालय पर आयोजित प्रैस वार्ता में जिलाध्यक्ष गंगाराम पूर्व विधायक ने इनेलो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनन्तराम तंवर, पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचन्द गहलोत व वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में कार्यकारिणी की घोषणा की। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष ने सभी हल्काध्यक्षों शैलेष खटाणा, शमशेर कटारिया व रिशीराज राणा को भी निर्देश देेते हुए कहा कि अपने अपने विधानसभा क्षेत्र की कार्यकारिणी का गठन शिघ्र अति शिघ््रा करें। जिलाध्यक्ष ने घोषणा करते हुए कहा कि किशोर यादव को वरिष्ठ उपाध्यक्ष एंव निहाल सिंह धारीवाल, फूलसिंह सैनी, राजकुमार सहरावत, रूपा प्रधान, रामनिवास यादव, विजय डागर, ओमप्रकाश हंस, ब्रहम डागर, शमशेर डागर, हरिकिशन सरपंच, रामे प्रधान, दलीप सिंह सरपंच व राजेन्द्र सिंह सरपंच को जिला उपाध्यक्ष बनाया। रमेश दहिया को जिला प्रधान महासचिव तथा परमजीत ओबराय, नरेश सहरावत, राजेश यादव, अटलबीर कटारिया, अशोक यादव सरपंच, रामप्रसाद रोहिल्ला, प्रताप सिंह कदम, राजेश त्यागी, खैराती लाल, मुकेश शर्मा, अतर सिंह यादव व विजय दहिया को जिला महासचिव नियुक्त किया गया। उन्होंने बताया कि ऋषिपाल धनखड़, अतर सिंह सरपंच, मांगेराम चौहान, सवाई सिंह, राजन दायमा, श्याम सिंह यादव, खुर्शिद, उदय सिंह सरपंच, हर प्रसाद, खुशविन्द्र सरपंच, हरिपाल शर्मा नम्बरदार, रामबीर सिंह व ज्योति चौधरी को जिला सचिव बनाया। दलबीर धनखड़ को संगठन सचिव, नरेश जैन को खंजाची, बिजेन्द्र कटारिया को कार्यालय सचिव व कपिल त्यागी को जिला प्रवक्ता नियुक्त किया। राजबीर ठाकराण सरपंच, करतार सिंह डागर, चौ0 महासिंह, लालसिंह सरपंच, चरण सिंह, रामअवतार ंिसंह, राव श्योनारायण, ओमप्रकाश ऐडिओ, नरेश त्यागी, रिशाल सिंह, ओम त्यागी, नरसिंह जांगड़ा नम्बरदार, रामकिशन, मास्टर जीतराम, सतबीर सिंह, सुल्तान सिंह उर्फ लीलू, बलवान सिंह ठाकराण, लालचन्द सरपंच, रिसाल सिंह, धर्मपाल सैनी नम्बरदार, ईश्वर पहलवान, कृपाल सिंह, रणबीर कटारिया चैयरमैन, ईश्वर दास झांब, गंगस्वरूप उर्फ टोनी, कर्नल अमन सिंह राघव, सुरेन्द्र सिंह तवंर, सुबे0 रतनसिंह डांगी, चौ0 सरदार सिंह, मास्टर हेमचन्द्र जयगुरू देव, महताब सिंह दहिया, छित्तर सिंह, ठाकुर रामकिशन, जोतराम दहिया, ब्रहम प्रकाश चैयरमैन, मानसिंह चैयरमैन, ब्रिजेश कुमार, सरदार मन्जीत सिंह, नेकराम राणा, राजेश कुमार, मोहम्मद इफताक, डॉ0 मामराज, सन्जू यादव, अत्तर सिंह सरपंच व राजबीर राठी को जिला कार्यकारिणी सदस्य बनाया। 

Friday, June 19, 2015

इनेलो पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ का पुनर्गठन, कर्नल रघुबीर सिंह छिल्लर बने प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष

इनेलो ने पूर्व सैनिकों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में पार्टी के साथ जोडऩे और संगठन को और ज्यादा मजबूत व सक्रिय बनाने के लिए पार्टी के पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ का पुनर्गठन करते हुए नए प्रदेश पदाधिकारियों व जिला अध्यक्षों की घोषणा कर दी हैं। इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने पूर्व विधायक  कर्नल रघुबीर सिंह छिल्लर को पार्टी पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपते हुए कर्नल रघुबीर सिंह छिल्लर व अन्य प्रमुख पूर्व सैनिकों के अलावा पार्टी के सभी विधायकों, सांसदों व वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ व्यापक विचारविमर्श के बाद नए पदाधिकारियों की नियुक्तियां की गई हैं। 
यह जानकारी देते हुए चौधरी अभय सिंह चौटाला व श्री अशोक अरोड़ा ने बताया कि ब्रिगेडियर दीपक खुराना को इनेलो पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ का प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष और सेवानिवृत्त चीफ ऑफिसर रामअवतार सिंह हिसार को प्रधान महासचिव नियुक्त किया है। इसके अलावा ब्रिगेडियर धर्मवीर सिंह, कर्नल सुखबीर सिंह पुनिया, कर्नल अमन सिंह, कर्नल होशियार सिंह यादव, कर्नल वीके मलिक, कमांडेंट सुरेश फोगाट, कमांडेंट मांगे राम, कमांडेंट जिले सिंह, कैप्टन महेंद्र सिंह व धर्मवीर सिंह फौजी को प्रकोष्ठ का प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया गया है। इसके अलावा कैप्टन दरियाव सिंह, कैप्टन गुरदेव सिंह, कैप्टन गजराज सिंह, कैप्टन नत्थू राम, कैप्टन रणधीर सिंह, कैप्टन कुलबीर सिंह मोर, कैप्टन रामकुमार, कैप्टन बलवान सिंह श्योकंद, पैटी ऑफिसर हंसराज व सूबेदार मेजर हिम्मत सिंह को इनेलो पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ का प्रदेश महासचिव बनाया गया है। 
इनेलो नेताओं ने बताया कि कैप्टन सज्जन सिंह लितानी, कैप्टन सूबे सिंह, कैप्टन विकास कुमार ढुल, कैप्टन जय सिंह, कैप्टन हरचंद यादव, कैप्टन नगेंद्र सिंह, कैप्टन दिलबाग सिंह, कैप्टन सुरेंद्र सिंह, सूबेदार मेजर राजिंद्र पाल मल्हार, सूबेदार जंगपाल, सूबेदार भाग सिंह व सूबेदार दिलीप सिंह बिश्रोई को प्रकोष्ठ का प्रदेश सचिव, सूबेदार श्रीराम को प्रचार सचिव, सूबेदार मेजर धर्मवीर सिंह पुनिया को संगठन सचिव व सूबेदार रमेश कुंडू को इनेलो पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ का प्रदेश कोषाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। इसके अलावा कैप्टन चरणजीत सिंह को अम्बाला, कमांडेंट रमेश कुमार (पंचकूला), वारंट आफिसर गुरमेल सिंह (यमुनानगर), कैप्टन लख्मीचंद (कैथल), सूबेदार मोहन लाल (कुरुक्षेत्र), कैप्टन ओमप्रकाश लाठर (करनाल), कैप्टन सुरजीत सिंह (फतेहाबाद), सूबेदार फौजा सिंह कम्बोज (सिरसा), कैप्टन छज्जू राम (हिसार), कैप्टन बृज मोहन (भिवानी), सूबेदार प्रताप सिंह (पानीपत), कैप्टन रणधीर सिंह (जींद), मेजर मेहर सिंह (फरीदाबाद), कर्नल राम सिंह (गुडग़ांव), सूबेदार धर्मपाल सिंह (मेवात), रामकृष्ण यादव (रेवाड़ी), सूबेदार महेंद्र सिंह वडेसरा (महेंद्रगढ़), सूबेदार वीरभान सिंह (सोनीपत), कैप्टन अजमेर सिंह (रोहतक), कैप्टन जगबीर सिंह (झज्जर) व लेखराज को पलवल पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ का जिलाध्यक्ष नियुक्त किया गया है।
इनेलो नेताओं ने बताया कि कैप्टन जगफूल सिंह, कैप्टन मनीराम, कैप्टन कुशहाल सिंह, कैप्टन सूरजमल, सूबेदार मेजर इंद्र सिंह, सूबेदार मेजर कृष्ण चंद्र धारीवाल, सूबेदार वजीर सिंह गोस्वामी, कैप्टन मिश्रा लाल, सूबेदार राम सिंह, सूबेदार धर्मवीर मोर, सूबेदार मेजर सुरेश, मेजर राज सिंह, सूबेदार सज्जन सिंह नैन, राम सिंह फौजी, सूबेदार मेजर पृथ्वी सिंह, सूबेदार मेजर कृष्ण चंद, निरंजन फौजी, दफेदार जसपाल सिंह, सूबेदार राजपाल, सूबेदार सूरजमल बल्हारा, विनय पाल फौजी, हवलदार राजपाल राठौर, कैप्टन फतेह सिंह श्योरान, हवलदार मेजर बलवान सिंह मान, सूबेदार जगपाल, सूबेदार अजीत सिंह, हवलदार लहरी राम, हवलदार धर्मपाल जाट, कैप्टन राजिंद्र सिंह, हवलदार जयभगवान, हवलदार अतर सिंह फौजी, हवलदार मीर सिंह, सूबेदार शेर सिंह, हवलदार गुरदयाल सिंह कम्बोज, सूबेदार कृष्ण कुमार, धर्मपाल सिंह मक्कड़, हवलदार गुरदेव सिंह, सूबेदार गुरनाम सिंह, सूबेदार सज्जन सिंह, सूबेदार मेजर ओमदत्त शर्मा, कैप्टन अशोक भाटिया, सूबेदार मक्खन सिंह, कैप्टन रामचंद्र, हवलदार अवतार सिंह, कैप्टन अनैब सिंह, हवलदार प्रकाश सिंह, हवलदार रघुबीर सिंह, सूबेदार मेजर निरंजन सिंह, हवलदार सौज खान, सूबेदार मेजर हनीफ खान व सूबेदार जोरावर सिंह को इनेलो पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ राज्य कार्यकारिणी का सदस्य बनाया गया है।
इनेलो श्रमिक प्रकोष्ठ का पुनर्गठन, विद्यानंद लाम्बा बने प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष

इनेलो ने श्रमिकों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में पार्टी के साथ जोडऩे और संगठन को और ज्यादा मजबूत व सक्रिय बनाने के लिए पार्टी के श्रमिक प्रकोष्ठ का पुनर्गठन करते हुए नए प्रदेश पदाधिकारियों व जिला अध्यक्षों की घोषणा कर दी हैं। इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने श्रमिक नेता विद्यानंद लाम्बा को पार्टी श्रमिक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपते हुए श्री लाम्बा व अन्य प्रमुख श्रमिक नेताओं के अलावा पार्टी के सभी विधायकों, सांसदों व वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ व्यापक विचारविमर्श के बाद नए पदाधिकारियों की नियुक्तियां की गई हैं। 
चौधरी अभय सिंह चौटाला व श्री अशोक अरोड़ा ने बताया कि रामशरण रोटेला एडवोकेट, कुलदीप सिंह तंवर, दारा सिंह यादव, सेवा सिंह, विजय पाल यादव, वजीर मिस्त्री, जितेंद्र सिंह, कमलजीत यादव, दयाकृष्ण जांगड़ा, धर्मपाल कायत व धनवीर शर्मा को इनेलो श्रमिक प्रकोष्ठ का प्रदेश उपाध्यक्ष, मनोज जांगड़ा, मुखदेव प्रसाद, राजकुमार राणा, कृष्ण बुधवार, रमेश सैनी, हरजीत सिंह, स्वर्ण धनखड़, रमेश चंद, हरपाल सिंह चौहान, मोहिंद्र सिंह व रविंद्र चौहान को श्रमिक प्रकोष्ठ का प्रदेश महासचिव नियुक्त किया है। इनेलो नेताओं ने बताया कि सुभाष शर्मा, वेद राम, विरेंद्र लाकड़ा, बलदेव सिंह, समय सिंह, बिष्णु गौतम, रामधारी, सुभाष निषाद, कसम, राजबीर दलाल, मुखराम सैनी व रामचंद्र को प्रकोष्ठ का प्रदेश सचिव, कैलाश पालड़ी को संगठन सचिव व मुंशी राम शर्मा को इनेलो श्रमिक प्रकोष्ठ का प्रदेश कोषाध्यक्ष बनाया गया है।
इनेलो नेताओं ने बताया कि प्रवीण तुर्किया उर्फ लक्की प्रधान को सिरसा, कामरेड अजमेर सिंह चौहान (फतेहाबाद), सतीश जांगड़ा (हिसार), रामफल फौजी (भिवानी), सुरेश मलिक (रोहतक), राजिंद्र सिंह मलिक (सोनीपत), परजीत राठी (झज्जर), बिशन दयाल सैनी (महेंद्रगढ़), सतपाल यादव (रेवाड़ी), नरेश कुमार घनघस (गुडग़ांव), सुरेश चंद्र मोर (फरीदाबाद), जमील अहमद (मेवात), प्रवीन तोमर (पानीपत), बालक राम दहिया (पलवल), सतवीर सिंह पधाना (जींद), जोगेंद्र सिंह (करनाल), गुरदयाल सिंह (कैथल), दयाल ढुल, (कुरुक्षेत्र), जंगशेर सिंह (अम्बाला), सूरज कम्बोज (यमुनानगर) व गोमती प्रसाद को पंचकूला इनेलो श्रमिक प्रकोष्ठ का जिलाध्यक्ष नियुक्त किया गया है।
इनेलो नेताओं ने बताया कि वेद सिंह, राजा राम नम्बरदार, राम सुमेर, भाना राम मलिक, सुरेंद्र रोहिला, हरकेश, कुलवंत सैनी, ओमप्रकाश, घनश्याम शर्मा, रामनिवास यादव, दयाल सिंह ढुल, आजाद मुवाल, शेख अब्दुल साफी, गुरजीत सिंह, सुरजीत सिंह, आजाद सिंह ढाका, गुलशन हंस व लीलू राम यादव को इनेलो श्रमिक प्रकोष्ठ राज्य कार्यकारिणी का सदस्य नियुक्त किया गया है।

Tuesday, June 16, 2015

खनन नीलामी की शर्तों में रेता-बजरी की खुदरा कीमत संबंधी शर्त भी जोड़ी जाए: अशोक अरोड़ा

इनेलो ने लोगों को वाजिब दरों पर रेता व बजरी उपलब्ध करवाने के लिए प्रदेश सरकार से इसके अधिकतम खुदरा दाम (एमआरपी) तय किए जाने की मांग की है। इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने प्रदेश सरकार से कहा कि प्रदेश में शुरू की जा रही खनन गतिविधियों की खुली नीलामी की शर्तों में यह शर्त भी जोड़ी जाए कि बोलीदाता आम लोगों को रेता व बजरी सरकार द्वारा तय दामों से ज्यादा पर नहीं बेच पाएगा। ताकि बोली देते समय उसे न सिर्फ रेता व बजरी की अधिकतम खुदरा कीमतों का पता रहे बल्कि बोली की शर्तों में यह शामिल होने से वह इसके प्रति पूरी तरह पाबंद भी रहेगा। 
इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि अगर सरकार ने रेता बजरी के लिए एमआरपी तय नहीं की तो खनन गतिविधियां चलाने वाले लोगों से न सिर्फ मनमाने रेट वसूल करेंगे बल्कि इसकी सबसे ज्यादा मार आम उपभोक्ता पर पड़ेगी और निश्चित तौर पर इससे महंगाई भी बढ़ेगी। इनेलो नेता ने कहा कि लोकतंत्र में एक निर्वाचित कल्याणकारी राज्य सरकार का काम केवलमात्र राजस्व कमाना न होकर आम लोगों को ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं प्रदान करना और यह सुनिश्चित करना होता है कि लोगों को जरूरी वस्तुएं वाजिब दामों पर उपलब्ध हो सकें।
उन्होंने कहा कि अभी तक प्रदेश में खनन गतिविधियां बंद होने की वजह से न सिर्फ कालाबाजारी के माध्यम से लोगों को रेता-बजरी जैसी जरूरी चीजें बेतहाशा महंगे दामों पर खरीदनी पड़ती थी बल्कि उनसे मनमाने दाम भी वसूले जा रहे थे। इनेलो नेता ने कहा कि अब जब सरकारी तौर पर प्रदेश में खनन गतिविधियां चालू की जा रही हैं तो सरकार का सबसे पहला फर्ज यह बनता है कि वे यह सुनिश्चित करे कि आम लोगों को सस्ते दामों पर रेता-बजरी  उपलब्ध हो सके और उनका वित्तीय शोषण बंद हो। इसके लिए यह जरूरी है कि खनन के लिए होने वाली नीलामी की शर्तों में एक खुदरा बिक्री कीमत की शर्त भी जोड़े जाना बेहद जरूरी है। 
चौ. देवीलाल के संघर्ष के साथी चाँद राम को दी अंतिम श्रंद्धाजलि 


पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी चाँद राम के निधन पर इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला शोक प्रकट करने आज खोखरा कोट में स्थित श्मशान भूमि में स्व. चाँद राम को अंतिम संस्कार में शामिल हुए और उनके पार्थिव देह पर पुष्पांजलि अर्पित की। इनेलो सांसद ने उनके परिजनों के प्रति इनेलो की ओर से गहरी संवेदनाएं प्रकट करते हुए कहा स्व. चाँद राम जी स्व. जननायक चौधरी देवीलाल के संघर्ष के साथी थे जो सदैव संघर्षरत रहे और अंत समय तक दलित वर्ग के हितों की भलाई के लिए कार्य किया। उनके जाने से जो स्थान रिक्त हुआ है उसे राजनीतिक रूप से कभी भरा नहीं जा सकता वे एक मिलनसार व हँसमुख स्वभाव के व्यक्ति थे। दलित नेता की अंतिम संस्कार में इनेलो रोहतक के जिलाध्यक्ष सतीश नांदल, शहरी अघ्यक्ष राजेश सैनी, सूरत सिंह खटक, डॉ नफे लाहली, हैप्पी जांगडा, फूल राणा, सतपाल टांक, हरेन्द्र लक्की सरदार, नरेंद्र फोगाट, सीना पहलवान, सोनू, सतीश, जगदीश भी मौजूद रहे।
अच्छे दिनों के नाम पर भाजपा ने जनता से किया छलावा: अभय चौटाला


इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव से पूर्व भाजपा ने सत्ता में आने के लिए जनता से अच्छे दिनों के नाम पर जो छलावा किया, उसी के परिणामस्वरूप एक वर्ष में ही जनता ने भाजपा सरकार को पूरी तरह से नकार दिया है। वे मंगलवार को फतेहाबाद, हिसार व सिरसा में आयोजित जिला कार्यकत्र्ता सम्मेलन को बतौर मुख्य वक्ता संबोधित कर रहे थे। सम्मेलन को पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक रणबीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, पूर्व मंत्री अतर सिंह सैनी, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा, विधायक मक्खन लाल सिंगला, बलकौर सिंह कालांवाली, रामचंद्र कम्बोज, पदम जैन, स. निशान सिंह, विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया, प्रो. रविन्द्र बलियाला, पूर्व विधायक रणसिंह बैनीवाल,  बलविन्द्र कैरों, राजेंद्र लितानी आदि ने भी मुख्य रूप से संबोधित किया। पार्टी शीर्ष नेताओं ने कार्यकत्र्ताओं को संगठन मजबूती के गुर देते हुए आह्वान किया कि जननायक स्व. देवीलाल के आदर्शों के सिपाही बनकर वे जनहित मुद्दों पर अपना संघर्ष जारी रखें क्योंकि इनेलो सत्ता में रहे या न रहे प्रदेश के हर वर्ग, हर क्षेत्र की समस्याओं का निदान करवाना उनका प्रथम कर्तव्य है।


अभय चौटाला ने मौजूदा प्रदेश भाजपा सरकार पर तीखे प्रहार करते हुए कहा कि जिस सरकार से जनता का उसके कार्यकाल के प्रथम 7 माह में भी मोहभंग हो जाए, उस सरकार की स्थिति जनता और प्रदेश में क्या हो चुकी है, यह जग-जाहिर है। बात अगर क्षेत्रवाद द्वेष भावना की करें तो भाजपा ने पूर्व की कांग्रेस सरकार को भी चार कदम पीछे छोड़ दिया है। किसानों को उनकी बर्बाद फसलों का मुआवजा देने से लेकर विकास कार्यों तक में सिरसा-फतेहाबाद जैसे क्षेत्र सरकार की भेदभाव नीति का शिकार हो रहे हैं। क्योंकि इन क्षेत्रों की जनता ने अपने अच्छे-बुरे की पहचान करते हुए चुनावों में अपने मतदान का प्रयोग इनेलो के पक्ष में किया था। इन फतेहाबाद-सिरसा जैसे क्षेत्रों में जिन लोगों की नजदीकियां भाजपा नेताओं के साथ रही उन्हें तो उनके मन-माफिक मुआवजा दिया गया, लेकिन मेहनतकश और इनेलो के साथ लगाव रखने वाले किसानों को पूरी तरह बर्बाद हुई फसलों तक का कोई मुआवजा नहीं दिया गया। चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि ये देश ऋषि मनीषियों का है जिन्होंने सदियों पूर्व ही देश के नागरिकों को योग का ज्ञान दिया। अब ऐसे में योग के नाम पर लोगों का ध्यान डाइवर्ट किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश भाजपा सरकार ने अपने चुनावी घोषणापत्र में से अभी तक एक भी घोषणा पूरी करने की दिशा में कदम नहीं उठाया है। इनेलो नेता ने कहा कि वे अभी तक प्रदेश के करीब 15 जिलों में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर चुके हैं जिसमें प्रदेश सरकार की बेकायदगियां उजागर हुई हैं।


पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि देश-प्रदेश में भाजपा ने चुनाव से पूर्व जिस प्रकार खोखले वायदों, अच्छे दिना लाने जैसे नारों का सहारा लिया, सत्ता में आने के बाद अब वही भाजपा जनता का ध्यान देश-प्रदेश के विकास से जुड़े मुद्दों से भटकाने के लिए तरह-तरह के कागजी अभियानों का स्वांग रच रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने पहले देश-प्रदेश को स्वच्छ बनाने का शगुफा छोड़ा, उसमें फ्लॉप हुए तो बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की राह पकड़ ली। उन्होंने कहा कि आज बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान सरकार की लचर कार्य प्राणली के चलते पूरी तरह फेल हो चुका है। सरकारी आंकड़े सरकार के इस अभियान की पोल खोलने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे। सरकारी स्कूलों के परीक्षा परिणामों की बात हो, या विभिन्न विभागों में रोजगार से अपना पेट पाल रहे युवाओं को बेरोजगार करने की, भाजपा ने हर क्षेत्र में अपनी जनविरोधी नीति की मुहर लगाते हुए प्रदेश की जनता में हाहाकार की स्थिति पैदा कर दी है। महंगाई सातवें आसमान पर पहुंच चुकी है, जिसे आम-गरीब आदमी का दो वक्त की रोटी का प्रबंध कर पाना भी बेहद मुश्किल हो गया है। उन्होंने भाजपा के योग अभियान को भी केवल मात्र राजनीतिक ड्रामा करार दिया। उन्होंने कार्यकत्र्ताओं का आह्वान किया कि वे जनता के बीच जाकर सरकार की इस तरह की बेकायदगियों का पर्दाफाश करें और उन्हें इनेलो की नेक सोच से अवगत करवाते हुए संगठन संग जोड़ें। उन्होंने दावा किया कि जल्द होने वाले पंचायती राज और निकाय चुनावों में जनता अपने साथ भाजपा द्वारा की गई ठगी का हिसाब चुकता जरूर करेगी। 
फतेहाबाद के सम्मेलन में युद्धवीर आर्य, कुलजीत कुलडिय़ा, मोलू राम रूल्हानिया, राजेंद्र चौधरी काका, आत्मप्रकाश बत्तरा, विद्या रत्ति, सत्या विद्यार्थी, सुमनलता सिवाच, पार्षद कुलवंत सवणा, राजू मुंजाल, गोपाल शर्मा, सुभाष पपिया, रमेश गिल्होत्रा, हलकाध्यक्ष बिकर सिंह हड़ोली, हरि सिंह डांगरा, भरत सिंह परिहार, सुरेंद्र लेगा, पवन चुघ, हरबंस खन्ना, अजय संधू सहित पार्टी के अनेक कार्यकत्र्ता पदाधिकारी उपस्थित थे। सिरसा की बैठक में डॉ. हरिसिंह भारी, कृष्ण गुुंबर, प्रदीप मेहता, विनोद अरोड़ा, गुरदयाल मेहता सहित अनेक पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे। हिसार के सम्मेलन में श्रीमती शीला भ्यान, चतर सिंह सहित पार्टी के अनेक प्रमुख नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे।

Monday, June 15, 2015

अपने वादों से मुकरी बीजेपी सरकार-अभय चौटाला


इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं हरियाणा विधानसभा में प्रतिपक्ष चौ.अभय सिह चौटाला ने  सोमवार को कैथल, जींद व अम्बाला के जिला कार्यकर्ता सम्मेलनों में बोलते हुऐ कहा कि चुनावो से पहले बीजेपी पार्टी द्वारा लोगों से किए गए वादे कोरे झूठ थे। चुनाव जीतने के लिए बीजेपी पार्टी ने लोगो से झुठ बोला व वादे किऐ लेकिन चुनाव जीतने के बाद बीजेपी पार्टी किसी भी वादे को पुरा नही कर पाई । किसानों से किऐ गए सभी वादे कोरे झूठ निकले इसलिए अन्य वर्गों की तरह किसान वर्ग भी अपने आप को ठगा महसूस कर रहा है। और आत्महत्या करने को मजबूर है। भारत कृषि प्रधान देश है। 80 प्रतिशत लोग कृषि का कार्य करते है। लेकिन न किसान की फसलों का उचित दाम मिल रहा न ही किसान को पूरा बिजली-पानी मिल रहा है। इस लिए किसान कृषि छोडकर किसी और कार्य करने की सोच रहा है। यही हाल हमारे व्यापारी भाईयों का है। चुनाव के दौरान बीजेपी ने वादे किऐ थे कि व्यापारियों को व्यापार करने के उचित से उचित सहुलियत दी जाएगी। लेकिन हररोज नए टैक्स लगाकर व्यपारियो को परेशान करने का काम किया जा रहा है जीतना किसान वर्ग इस सरकार से दुखी है उतना ही व्यापारी वर्ग भी दुखी है। 
इनेलो नेता ने कहा कि बीजेपी सरकार ने चुनावों से पहले चुनाव जीतने के लिए लोगो से वादा किया था कि सरकार बनते ही स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करेगी लेकिन वह इस वादे से मुकर रही है और सुप्रीम कोर्ट जाकर शपथ पत्र दे आई है कि हम इस रिपोर्ट को लागू नही कर सकते। वन रैक वन पैशन देने के वादे से बीजेपी सरकार पीछे हट गई है। जो लोग अस्थायी तौर पर लगे हुऐ थे। उनसे बीजेपी सरकार ने चुनाव से पहले यह वादा किया था कि पक्के कर देंगे, अब बीजेपी सरकार उससे मुकर रही है। इस लिए कर्मचारी वर्ग भी बीजेपी सरकार से खासा नाराज है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा स्वच्छ भारत स्वच्छ अभियान सिर्फ एक ढकोसला है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि कांग्रेस का इतिहास रहा है कि प्रदेश में चुनाव हारने के बाद इनका पूर्व मुख्यमंत्री पार्टी छोड देता है और ताउम्र अपने अस्तीत्व की लडाई लड़ता रहता है। इस लिए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिह हुडडा भी पार्टी छोड देगा। इनेलो पार्टी द्वारा काग्रेंस के दस साल के घोटालों को लेकर राज्यपाल को 400 पेज की चार्जशीट सौंपी गई है लेकिन कांग्रेस और बीजेपी दोनो मिले हुए है इसलिए सरकार उन घोटालों व भ्रष्टाचार की जांच नहीं करवा रही। अभय चौटाला ने कहा कि जिला परिषद,ब्लाक समिति व पचांयत के चुनाव होने जा रहे है। बीजेपी व काग्रेंस को यह चुनाव अपने चिन्ह पर लडकर देख ले दोनों पार्टीयो को अपनी लोकप्रियता का अहसास हो जाऐगा। इस अवसर पर प्रदेशअध्यक्ष अशोक अरोडा  व पार्टी प्रवक्ता अशोक शेरवाल ने भी अपने विचार रखे। 


इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि बीजेपी की करनी व कथनी में जमीन आसमान का अंतर है। बीजेपी सरकार ने न तो दो हजार बुढापा पैंशन दी, न ही छह व नौ हजार बेरोजगारी भत्ता दिया, न ही स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू की और न ही किसी के खाते में 15 लाख रूपए आए। श्री अरोड़ा ने पार्टी कार्यकर्ताओं से संगठन को और ज्यादा मजबूत बनाने का आह्वान भी किया। पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रामपाल माजरा ने कहा कि आज वैसे तो समाज का हर वर्ग सरकार से बेहद दुखी है लेकिन किसानों की हालत सबसे ज्यादा खराब है। पहले बासमती धान व नरमा कपास को लेकर किसानों को पिछले साल के मुकाबले करीब दो हजार रुपए प्रति क्विंटल रेट कम मिले वहीं खाद को लेकर महिलाओंं को थानों में लाईनें लगानी पड़ी। मंच का संचालन राममेहर खुराना ने किया।
कैथल के सम्मेलन को संबोधित करने वालों में इनेलो प्रदेश कोषाध्यक्ष पारस मित्तल, पूर्व मंत्री सुरेंद्र मदान, पूर्व विधायक बूटा सिंह, मक्खन सिंह, जिलाध्यक्ष कंवरपाल करोड़ा, बलराज नौच, मा. प्रेम ग्योंग, ओमप्रकाश कैरा, हरदीप पाड़ला, धर्मपाल छौत, आशा रानी, रणधीर श्योकंद जाजनपुर, राजा राम माजरा, जोगिंद्र कसान, मा. बलबीर मटोर, भूपेंद्र सिंह जैलदार, ईश्वर मैहला, हरिकिशन सैनी, महिला जिलाध्यक्ष पार्षद आशा रानी, रामदिया चावरिया ने भी संबोधित किया। इस मौके पर डा. मेहर ङ्क्षसह सैनी सहित अनेक पदाधिकारी मौजूद थे। जींद के सम्मेलन को जिलाध्यक्ष कलीराम पटवारी, विधायक परमेन्द्र सिंह ढुल, पिरथी सिंह नंबरदार, डा. हरिचंद मिढा, पुर्व विधायक सुरजभान काजल,रामफल कुंडु,भगवानदास,बलदेव बाल्मिकी,डा रामचंद्र जांगड़ा,दयानंद कूंडू, प्रदीप गिल सहित पार्टी के अनेक प्रमुख नेताओं ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर भूपेंद्र जुलानी,सुबे सिंह लोहान, प्रताप लाठर, बलवंत सिंह जोगी व गुरदीप सांगवान सहित अनेक नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे। अम्बाला के सम्मेलन में जिला प्रधान शिशपाल जन्धेडी,पूर्व विधायक राजबीर बराडा, सुरजीत सिह सौडा, मक्खन सिह लबाणा,जगमाल रौला,कृपाल अरोडा, शम्मी सौडा, बलविन्द्र सिह पूनिया, सर्वजीत कौर लदाना, औकार सिह, जसविन्द्र सिह सकराहो, मनोज शर्मा ,सरवण सिह, सुरजप्रकाश जिन्दल, राजेश कुमार सैणी, अवतार सिह शेरगिल,वजीर सिह, गुरदयाल सिह बाबा,हरपाल कम्बौज व इन्द्रजीत सिह सहित अनेेक नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे। 

Saturday, June 13, 2015

शहर में सीसीटीवी कैमरे लगवाने व ट्रेफिक व्यवस्था को व्यवस्थित करवाने के लिए दुष्यंत मिले आईजी से


इनेलो संसदीय दल के नेता एवं हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला शहर की सुरक्षा को चाक चौबंद बनाए जाने व ट्रेफिक व्यवस्था को दुरुस्त बनाए जाने को लेकर हिसार रेंज के पुलिस महानिरीक्षक से उनके कार्यालय में मिले। सांसद ने इस मौके पर आईजी अनिल राव से विस्तृत चर्चा करते हुए शहर में सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए चिह्नित 74 स्थानों की सूची सौंपी। सांसद दुष्यंत चौटाला ने इसके लिए जरूरी बजट अपने सांसद कोटे से देने की बात कही व पुलिस महानिरीक्षक से इसके लिए अलग से कंट्रोल रूम स्थापित करने का आग्रह किया। गौरतलब है कि पिछले दिनों बीएसएनएल अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान अधिकारियों ने सांसद को नगर निगम हिसार से आई हुई 74 स्थानों की सूची सौंपते हुए इसके लिए पूरी कनेक्टिविटी देने की बात कही थी। सांसद ने कहा कि अगर इन 74 स्थानों के अलावा अगर कहीं ओर सुरक्षा को लेकर सीसीटीवी कैमरे लगाने की जरूरत पड़े तो वे इसके लिए भी अपने सांसद कोटे से इसकी व्यवस्था कर देंगे। सांसद ने कहा कि सीसीटीवी कैमरे लगने के बाद शहर की सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद हो जाएगी व अपराधों पर रोक लगेगी। साथ ही साथ उन्होंने शहर की बिगड़ती यातायात व्यवस्था को सुधारने का भी आग्रह किया। जिस पर आईजी अनिल राव ने सांसद के आग्रह को स्वीकार करते हुए अपना पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया। इसके बाद सांसद ने बिजली निगम के अधिकारियों के साथ भी सर्कल ऑफिस में बैठक ली। बैठक में सांसद ने सांसद कोटे से मंजूर किए गए कार्यों को पूरा ना करने पर अपनी नाराजगी जताई व अधिकारियों को चेतावनी दी कि वे विकास के कार्यों में बाधा उत्पन्न न करें। साथ ही उन्होंने इन कार्यों को 30 जुलाई तक पूरा करने के आदेश दिए व दीन दयाल उपाध्याय ज्योति योजना के तहत सभी फीडर अपग्रेड करने के भी निर्देश दिए। इससे पूर्व गांव आर्यनगर में सरपंच सुमन देवी के सहयोग से सांसद ने 100-100 गज के 90 प्लाट पिछड़े वर्ग व 17 प्लाट अनुसूचित जाति के पात्रों को कार्ड वितरित किए। इस मौके पर जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी, विधायक रणबीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, सजन लावट, सतपाल सरपंच, एडवोकेट मनदीप बिश्रोई, तरूण जैन, विनीत गोयल, रिसाल सिंह भी मौजूद थे। 

Friday, June 12, 2015

हवाई अड्डा के नाम बरगला रही है कांग्रेस भाजपा - सांसद दुष्यंत चौटाला 


हवाई अड्डा परियोजनाओं के नाम पर कांग्रेस व भाजपा दोनों जनता को बरगला रहे हैं, जबकि हकीकत यह है कि ना तो कांग्रेस सरकार और न ही मौजूदा भाजपा सरकार इस मुद्दे को लेकर गंभीर रही। यह बात सांसद दुष्यंत चौटाला ने कही। वे शुक्रवार को पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। 
सांसद चौटाला ने कहा कि सर्वप्रथम उन्होंने 14 जुलाई 2014 को संसद में केंद्रीय विमानन मंत्री से सवाल किया था कि क्या हरियाणा में कोई कार्गोे एयरपोर्ट बनाने के लिए कोई परियोजना है या नहीं। इसके जवाब में माननीय मंत्री ने कहा था कि केंद्र सरकार का इस प्रकार का कोई प्रपोजल नहीं है। इसके बाद 11 अगस्त 2014 को संसद में प्रश्र क्रमांक 4561 के माध्यम से दोबारा यह सवाल उठाया कि सरकार ने किसी विमानन परियोजना के लिए देश में कहां कहां पर भूमि अधिग्रहित की है, जिसके जवाब में माननीय मंत्री जी ने जो जवाब दिया उसमें हरियाणा प्रदेश का कहीं कोई हवाला नहीं था। इसलिए उन्होंने 9 दिसंबर 2014 को पत्र क्रमांक एमपी/17/2014/एनडी के माध्यम से सिविल एविऐशन मंत्री भारत सरकार अशोक गजपति राजू  को भी पत्र लिखकर मांग की थी कि हिसार में एक सिविल एयरपोर्ट व इंटरनेशनल कार्गोे स्थापित किया जाए। उस पत्र में यह हवाला दिया गया था कि हिसार काउंटर मैग्नेट सिटी की श्रेणी में है। इस जिले में दस हजार से ज्यादा छोटी बढी औद्योगिक इकाइंया है। इसके अलावा हिसार जिले की सीमाएं पड़ोसी राज्य पंजाब व राजस्थान से मिलती है। अगर हिसार में इस तरह का सिविल एयरपोर्ट स्थापित किया जाता है तो बहुत ज्यादा लोगों को इसका फायदा होगा। उन्होंने मौजूदा विधायक व जनप्रतिनिधियों पर जनता को भ्रमित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वे जनता के किसी भी मुद्दे को लेकर गंभीर नहीं है। अगर वे इंटरनेशनल हवाई अड्डा या विमानन हब हिसार में बनाना चाहते हैं तो इसके लिए केंद्र सरकार के पास कोई प्रपोजल तो भेजें। वे स्वयं हिसार का सांसद होने के नाते इस प्रपोजल की पुरजोर वकालत करेंगे। सांसद चौटाला ने कहा कि वे स्वयं हिसार में इंटरनेशनल हवाई अड्डा बनवाना चाहते हैं और समय समय पर उपयुक्त मंच पर इसके लिए आवाज उठाते रहे हैं। इसके लिए वे गत नौ जून को एविएशन मंत्रालय को पत्र लिखकर ग्रीनफिल्ड, एयरपोर्ट व इंटरनेशनल कार्गो फ्लाइट सर्विस के लिए प्रपोजल बनाने व इस दिशा में सर्वे कराए जाने की प्रार्थना की है। जबकि मौजूदा सरकार की तरफ से किसी भी जनप्रतिनिधि ने संबंधित मंत्रालय के पास इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं की और केवल मात्र अखबारी बयानबाजी करके सुर्खियां बटोरने का कार्य कर रहे हैं ताकि जनता का ध्यान मूल समस्याओं से हटाया जा सके। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री खट्टर जब पहली बार हिसार आए थे तो उन्होनें कहा था कि हिसार के लिए इंटरनेशनल एयरपोर्ट का प्रपोजल भेजा जा चुका है, लेकिन संसदीय सत्र के दौरान जब केंद्रीय मंत्री से सवाल पूछा गया तो प्रदेश सरकार की पोल खुली। इसलिए वे अपनी झेंप मिटाने के लिए बिना किसी प्रपोजल के लिए केवल अखबारी बयानबाजी कर रहे हैं। सांसद चौटाला ने मुख्यमंत्री से हिसार शहर की सबसे व्यस्तम मार्केट राजगुरु मार्केट के लिए मल्टी स्टोरी पार्किंग की मांग की थी, जिसके बारे में स्थानीय अधिकारियों ने प्रोजेक्ट बनाकर भेज दिया, लेकिन मुख्यमंत्री महोदय ने इस प्रोजेक्ट को मात्र इसलिए खारिज कर दिया, क्योंकि इसकी लागत 70 करोड़ रुपए थी। मुख्यमंत्री जहां दूसरे शहरों में करोड़ों रुपए की ग्रांट व प्रोजेक्ट मंजूर कर रहे हैं, वहीं हिसार के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। सांसद चौटाला ने सांसद निधि कोष पर बोलते हुए कहा कि उन्होंने इस कोष से हिसार के लिए 75 प्रोजेक्ट्स की अनुशंसा की थी, लेकिन आज तक केवल 9 प्रोजेक्ट पूरे हुए हैं, 28 शुरू ही नहीं किए गए, जबकि 38 प्रोजेक्ट्स इनप्रोग्रेस कर लंबित रखे हुए हैं। हिसार के प्रति प्रदेश सरकार के उदासीनपूर्ण रवैये की वजह से ही हिसार में विकास नहीं हो पा रहे। उन्होंने कहा कि दीन दयाल उपाध्याय योजना के तहत 46 हजार करोड़ रुपए का बजट मंजूर कर सभी प्रदेशों को दिया गया, परंतु इस योजना के तहत प्रदेश सरकार ने किसी भी गांव का फीडर अपग्रेड नहीं पाई। उन्होनें कहा कि जब केंद्र सरकार यह दावा कर रही है कि आने वाले दो साल में हर गांव में भरपूर बिजली होगी, लेकिन एक साल बीतने के बाद भी इस दिशा में कोई काम नहीं हुआ है। आज किसी भी गांव में आठ घंटे से ज्यादा बिजली नहीं मिलती। इस मौके पर उनके साथ जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी, विधायक रणबीर सिंह गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, राजेश गोदारा, हलकाध्यक्ष सजन लावट, जिला प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्रोई, सिद्धार्थ गोदारा, अमित बूरा, सिल्क पूनिया व रमेश चुघ सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे। 

Thursday, June 11, 2015

इनेलो जिला रोहतक कार्यकारिणी का पुनर्गठन , जिला पदाधिकारियों की भी घोषणा



पार्टी संगठन  को नए सिरे से खड़ा किया गया है उन्होंने नए संगठन से आह्वान करते हुए कहा की पिछले सात महीने की भाजपा सरकार की विफलता तथा आमजनमानस को जिन दिक्कतों व कठिनाइयों का सामना करना पड़ा उनकी जानकारी लोगों के बीच जाकर लें तथा आमजनमानस को ये भरोसा  दिलाने का काम करें की इनेलो पार्टी उनकी समस्याओं को सरकार के सामने जोरदार ढंग से उठाएगी उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा की एफ डी आई का विरोध करने वाली बीजेपी अब अडानी व अंबानी आदि उद्योगपतियों के दबाव में एफ डी आई को  लागू करना चाहती है अगर एफ डी आई को लागू किया गया तो खुदरा व्यापारी  छोटे दुकानदार बर्बाद हो जायेंगे उन्होंने भूमि अधिग्रहण बिल का विरोध करते हुए कहा की यह सरकार किसान विरोधी है जहाँ किसान को उसकी फसल का उचित मूल्य नही मिला वहीँ अब मुआवजे में बंदर बाँट की गयी है उन्होंने कहा की इस मुद्दे को वे विधानसभा में जोरदार ढंग से उठाएंगे यदि जरूरत पड़ी तो किसानों को न्याय दिलाने के लिए सडकों पर उतरने के लिए मजबूर हो जायेंगे उन्होंने पूर्व मु यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा पर व्यंग्य कस्ते हुए कहा की हुड्डा की दस वर्षों की लूट खसोट को जनता के सामने उजागर किया जायेगा उन्होंने बीजेपी व कांग्रेस पर सांठ गाँठ का आरोप हुए कहा की चोर चोर मौसेरे भाई है भ्रष्टाचार खत्म करने का ढिंढोरा पीटने  भाजपा सरकार में भ्रष्टाचार चरम पर है। 


इस अवसर पर इनेलो ने पार्टी की जिला इकाई का पुनर्गठन करते हुए नए जिला पदाधिकारियों की घोषणा की है इनेलो के जिलाध्यक्ष सतीश नांदल ने बताया की पार्टी के सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटालाए प्रधान महासचिव डॉ अजय सिंह चौटालाए वरिष्ठ नेता एवं हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा के अलावा पार्टी के सभी विधायकोंए सांसदों व वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ व्यापक विचार विमर्श के बाद नए पदाधिकारियों की नियुक्तियां की गई हैं। सतीश नांदल ने बताया कि सत्यप्रकाश बिसला को वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं माहले रामए अंग्रेज सांपलाए सूबेदार जगमाल सिंहए नागा राम वाल्मीकिए रामचंद्रए सतबीर काकेए दलेल ढाकाए बलराज बल्लू एमण्सीए सुरेश जांगड़ा जिला पार्षदए श्रीमती मीना देवी को उपाध्यक्ष बनाया गया है। 
इनेलो रोहतक जिलाध्यक्ष ने बताया कि सतीश राठी को प्रधान महासचिवए ओमप्रकाश हुडडाए याद राम पुर्व सरपंचए जगमाल नरवालए राजेशए रघबीर टोनीए सुखमेंद्र खत्रीए श मी प्रधानए महिपालए संजय बल्हाराए शीला देवी को महासचिव बनाया गया है। मास्टर मु त्यार सिंह को कार्यालय सचिवए सुरेन्द्र को संगठन सचिवए प्रताप पुर्व सरपंच को प्रचार सचिव व रविन्द्र बखेता को कोषाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। उन्होंने बताया कि सुभाषए ओमप्रकाश बल्लूए जयभगवानए राजेन्द्र सरपंचए ताजबिरए देवेन्द्रए विनोद कादियानए जोगेन्द्रए मास्टर अनिलए महाबीर को सचिव बनाया गया है। 
इस मौके पर पूर्व सांसद कैप्टेन इंद्र सिंहए पूर्व विधायक सरिता नारायणए पूर्व विधायक बलवंत मायनाए इंद्र सिंह ढुलए उमेश देवीए डॉ संदीप हुड्डाए डॉ  नफे लाहलीए राजेश सैनीए वेद भराणए रविन्द्र सांगवानए कृष्ण कौशिकए हैप्पी जांगड़ाए सूरत सिंह खटकए सुशील शर्माए राजकुमार शर्माए शीला खरेंटीए राजो राठीए कृष्णा सांपला मौजूद थे। 
मखंड में लगेगा पशु चारा मिक्सर प्लांट - सांसद दुष्यंत चौटाला 



मखंड गांव में पशु चारे के लिए मिक्सर फीड प्लांट लगाया जाएगा। इसके लिए अधिकारियों से बात हो चुकी है और इसमें जो भी लागत आएगी वह सांसद निधि कोष से दी जाएगी। यह घोषणा युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने की। वे गुरुवार को मखंड गांव में ग्रामीणा से मुखातिब हो रहे थे।
सांसद चौटाला ने कहा कि मिक्सर फीड प्लांट लगने से न केवल गांव के 4 से 6 युवाओं को रोजगार मिलेगा, बल्कि पशुओं को भी उत्तम क्वालिटी का फीड मिलेगा। सांसद ने इसके अलावा गांव के विकास के लिए कई घोषणाएं की। ग्रामीणों से मुखातिब होने के बाद उन्होंने गांव में ही विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठकर गांव के विकास का खाका तैयार किया। 


दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मखंड गांव में स्टेडियम, ग्राम सचिवालय, पशु अस्पताल, गांव की सभी सड़कें पक्की करने, स्कूल को अपग्रेड करने, 24 घंटे बिजली देने संबंधी तमाम कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि गांव में स्वास्थ्य केंद्र एवं पशु अस्पताल बनाने का प्रपोजल भी तुरंत भेजा जाए। इसके अतिरिक्त एक एंबुलेंस का भी प्रपोजल बनाकर भेजा जाए ताकि किसी भी आपात स्थिति में मखंड के साथ साथ आस पास के अन्य गांवों के गंभीर मरीजों को तुंरत नजदीकी अस्पताल में ले जाया जा सके। 


उन्होंने अधिकारियों को 1 सें 30 जुलाई तक हैल्थ कार्ड बनाकर सभी बच्चों का टीकाकरण करने केलिए भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए। सांसद ने यह भी निर्देश दिए कि मखंड गांव में गैस उपभोक्तओं के लिए गांव में ही महीने में दो दिन सिलेंडर मुहैया कराए जाएं ताकि ग्रामीणों को किसी प्रकार की दिक्कत ना हो। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशए दिए कि 31 जुलाई तक गांव में हर बाशिंदे के पास आधार कार्ड होने चाहिए, इसके लिए गांव में  आधार कार्ड बनाने की मशीन की जब भी जरूरत हो, मशीन भेजी जाए। पशुपालन विभाग के अधिकारियों को भी निर्देश देते हुए सांसद चौटाला ने कहा कि वे एक महीने के अंदर अंदर गांव के हर घर सें दूध की एवरेज निकालकर बताएं ताकि गांव में मिल्क चिलिंग सेंटर भी बनवााया जा सके। वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए सांसद चौटाला ने कहा कि गांव के जोहड़ों व तालाबों के किनारों पर फलदार एवं छायादार पौधे लगाए जाएं। इसके अलावा हर घर में फलदार लगाने के लिए ग्रामीणों को जागरूक किया जाए। अगर कोई पौधे लगाना चाहता है तो उसे निशुल्क पौधे उपलब्ध कराए जाएं, इन पौधों की कीमत वे स्वयं वहन करेंगे। उन्होंने खंड शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि मखंड गांव के स्कूल को अपग्रेड करने की प्रक्रिया में तेजी लाएं और जो गरीब व जरूरतमंद बच्चे हैं, उनके लिए अतिरिक्त कक्षाएं लगाने की व्यवस्था की जाए। इस अवसर पर केंद्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान के निदेशक डॉ. इंद्रजीत, नरवाना के एसडीएम सुमित कुमार, बीडीपीओ सहित सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। 
इनेलो जिला प्रवक्ता ने पूर्व सीएम पर साधा निशाना 


इंडियन नेशनल लोकदल के जिला प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्रोई ने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के उन बयानों पर चुटकी ली है, जिसमें उन्होंने लाडवा, मंगाली व नारनौंद की जनसभाओं में जनता से अपना कसूर पूछा था। एडवोकेट बिश्रोई ने कहा कि अगर हुड्डा ने अपने कार्यकाल के दौरान हिसार या हिसार की जनता की सुध बुध ली होती तो आज उन्हें इस तरह की जनसभाओं की जरूरत ही नहीं पड़ती। 
उन्होंने कहा कि पिछले दस सालों में पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा ने केवल एक क्षेत्र विशेष का ध्यान रखा और हिसार की पूर्ण रूप से अनदेखी की। यही कारण है कि हिसार लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस का पूर्ण रूप से सफाया हो गया। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार की तरह ही मौजूदा भाजपा सरकार भी हिसार की पूर्ण रूप से अनदेखी कर रही है। आज शहर में भय, भ्रष्टाचार और आतंक का माहौल है। पिछले छह महीने में विकास के नाम पर एक ईंट भी नहीं लगाई गई। मौजूदा विधायक भी केवल अपनी पार्टी का गुणगान करने तक सीमित है। भाजपा ने चुनावों से पहले घोषणा पत्र में जो वादे पूरे किए थे, उनमें से एक भी पूरा नहीं हुआ। इनेलो नेता बिश्रोई ने कहा कि पहले लूट और अब झूठ की सरकार ने हिसार व हिसार के लोगों का विश्वास तोड़ा है। कांग्रेस को तो हिसार की जागरूक जनता ने सबक सिखा दिया, अब बारी भाजपा की है। जनता अपने साथ हुए विश्वासघात का बदला सूद सहित वसूल करेगी। 
15 जून को होगा इनैलो का जिलास्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन 


सोमवार को जाट धर्मशाला में शाम 4 बजे इनैलो कार्यकर्ता की जिलास्तरीय बैठक होगी। इसमें मुख्यअतिथि के रूप में प्रतिपक्ष नेता चौ.अभय सिंह चौटाला व इनैलो प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा शिरकत करेंगे। सम्मेलन की तैयारियों को लेकर आज जिला इनैलो  कार्यालय में बैठक हुई जिसमें हिसार लोकसभा सांसद दुष्यत चौटाला उपस्थित हुए। उन्होंने संगठन को मजबुत बनाने के  लिए कार्यकर्ताओं को दिशा निर्देश दिए और होने वाले वर्कर सम्मलेन की तैयारियों को लेकर उपस्थित कार्यकर्ता को दिशा निर्देश दिये।
दुष्यंत चौटाला यहां कार्यकर्ताओं से विचार-विमर्श करते हुए कहा कि आने वाली 15 जून के  सम्मेलन में इनैलो नगर परिषद , नगर पालिका ,जिला परिषद तथा आगामी पंचायती चुनावों को लेकर कार्यकर्ताओं से विचार विमर्श करेंगे और जिला कार्यकारिणी , हल्का कार्यकारिणी घोषित की जाएगी।


दुष्यंत चौटाला ने भाजपा को युटर्न की सरकार बताते हुए कहा कि सरकार ने जनता से चुनाव से पहले जो वायदे किये थे उन सब वायदो को भाजपा सरकार भूल गई है। भाजपा सरकार ने किसानों को बेमौसमी बारिश से हुए नुक्सान का सही मुआवजा न देकर कमेरा वर्ग विरोधी बन गई है। इसी सरकार ने चुनाव से पहले कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने का वायदा किया लेकिन लगभग 20 हजार कर्मचारियों को निकालने की तैयारी कर रही है। इसके साथ ही फौजियों को जो वन रैंक वन पैंशन का जो वायदा किया था उससे भी सरकार यु-टर्न ले रही है। इस अवसर पर जिला इनैलो अध्यक्ष कलीराम पटवारी , जुलाना विधायक परमेन्द्र सिंह ढुल, नरवाना विधायक पिरथी सिंह नंबरदार, जींद विधायक डा. हरिचंद मिढा, प्रदीप गिल, बलराज नगूरां, कै. रणधीर सिंह चहल, शमशेर सिंह ढाण्डा, बलवंत सिंह जोगी, बिजेंद्र रेढू, सतबीर पडाना,दयानंद कूंडू, मौजी खान, सतीश जैन, राममेहर,भूपेंद्र जुलानी ,सुबे सिंह लोहान, प्रताप लाठर, सुभाष देशवाल,सुदेश चोपडा,देशराज माटा, हरीश अरोड़ा,विश्वनाथ शर्मा, रामनिवास बुडायन,जगबीर मलिक,मनिंद्र सिवाहा,डी के मलिक, कृष्णा बधाना, सुमित्रा देवी ,तेजेंद्र कौर ,भगवती दहिया, जसमेर रजाना, सतीश पिण्डारा, नरेश भनवाला, बिटु नैन, कर्ण सिंह चहल,नफे सिंह मलिक, सुरजभान सिहाग , सोनू गुलिया व जिला कार्यालय सचिव गुरदीप सांगवान आदि मौजूद थे।

Wednesday, June 10, 2015

इनेलो कर्मचारी प्रकोष्ठ का पुनर्गठन, कर्मचारी नेता धारा सिंह प्रदेश संयोजक बने
कर्मचारी प्रकोष्ठ के नए प्रदेश पदाधिकारियों व जिला अध्यक्षों की भी घोषणा

इनेलो ने प्रमुख कर्मचारी नेताओं को ज्यादा से ज्यादा संख्या में पार्टी के साथ जोडऩे और संगठन को और ज्यादा मजबूत व सक्रिय बनाने के लिए पार्टी के कर्मचारी प्रकोष्ठ का पुनर्गठन करते हुए नए प्रदेश पदाधिकारियों व जिला अध्यक्षों की घोषणा कर दी हैं। इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने हरियाणा कर्मचारी महासंघ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं प्रमुख कर्मचारी नेता धारा सिंह को पार्टी कर्मचारी प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक की फिर से जिम्मेदारी सौंपते हुए धारा सिंह व अन्य प्रमुख कर्मचारी नेताओं के अलावा पार्टी के सभी विधायकों, सांसदों व वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ व्यापक विचारविमर्श के बाद नए पदाधिकारियों की नियुक्तियां की गई हैं। 
पार्टी कर्मचारी प्रकोष्ठ के नए पदाधिकारियों की नियुक्ति की जानकारी देते हुए चौधरी अभय सिंह चौटाला व अशोक अरोड़ा ने बताया कि मान सिंह कुरुक्षेत्र को प्रकोष्ठ का वरिष्ठ उपाध्यक्ष, करतार सिंह पंघाल भिवानी को प्रधान महासचिव, अमरीक सिंह को मुख्य संगठन सचिव, मंगत राम मेहता को प्रचार सचिव व राकेश कुमार गुप्ता को इनेलो कर्मचारी प्रकोष्ठ के प्रदेश कोषाध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई है। उन्होंने बताया कि एसएन शर्मा, भरत सिंह विधान, महेंद्र सिंह जाखड़, हरनेक सिंह खोखर, भानी सहाय बागोतिया, बनवारी लाल शर्मा, स्पेटर सिंह चौहान, अमृत लाल चोपड़ा, ओमप्रकाश सिहाग, सोमनाथ शर्मा व चांदरूप हुड्डा को प्रकोष्ठ का प्रदेश उपाध्यक्ष, मदन गोपाल शर्मा, फूल कुमार पेटवाड़, जरनैल सिंह दहिया, धर्मदेव, मणिराम यादव, रणबीर सिंह दहिया, सुंदर सिंह, लालचंद निर्माण, महेंद्र सिंह श्योराण व करतार सिंह मलिक को इनेलो कर्मचारी प्रकोष्ठ का प्रदेश महासचिव बनाया गया है। 
इनेलो नेताओं ने बताया कि रघुबीर सिंह, ईश्वरसिंह मलिक, दयाल चंद धीमान, राजपाल महलान, फूले राम, जोगेंद्र सिंह बडेसरा, शक्ति सिंह सिवाच, मास्टर ओमप्रकाश, रिटायर्ड एसडीओ सूरजभान, रणबीर सिंह बैरागी, महेंद्र सिंह नरवाल, रामपाल सैनी, महावीर सिंह खर्ब, रामजीलाल व जितेंद्र संधू को प्रकोष्ठ का प्रदेश सचिव नियुक्त किया गया है। उन्होंने बताया कि नत्थू लाल पटवारी को सिरसा, गुरप्रीत नैन (फतेहाबाद), प्रताप सिंह बूरा (हिसार), रिसाल सिंह धनासरी (भिवानी), रामचंद्र राठी (रोहतक), जिले सिंह (सोनीपत), सत्यवीर शास्त्री (झज्जर), दाता राम वर्मा (महेंद्रगढ़), विनोद कुमार यादव (रेवाड़ी), रत्ती राम शर्मा (गुडग़ांव), धर्मपाल सिंह दलाल (फरीदाबाद), साहिब खान (मेवात), गोपाल सिंह कुंडू (पलवल), बलबीर सिंह जागलान (पानीपत), शमशेर सिंह ढांडा (जींद), चंद्रभान नरवाल (करनाल), ओमप्रकाश ढांडा (कैथल), रोशन लाल बुद्धिराजा (कुरुक्षेत्र), सरदार भूपेंद्र सिंह (अम्बाला), बलवंत सिंह (यमुनानगर) व महेंद्र सिंह श्योराण को पंचकूला इनेलो कर्मचारी प्रकोष्ठ का जिला संयोजक नियुक्त किया गया है।
चौधरी अभय सिंह चौटाला व अशोक अरोड़ा ने बताया कि अजीत सिंह श्योराण, पं. लक्ष्मीनारायण, सुनहरा सिंह, महेंद्र सिंह, महावीर सिंह, विरेंद्र सिंह मलिक, बलबीर सिंह मलिक, बिसम्बर दयाल, प्रीतम सिंह, शमशेर सिंह, वेद प्रकाश सेतिया, श्रद्धानंद मलिक, सतपाल पहल, रामस्वरूप, लक्ष्मण सिंह, प्रताप सिंह राठी, हरि सिंह सोनी, देवा सिंह, चंद्रभान, भरत सिंह मलिक, जसवंत सिंह बराड़, जगदीश चंद्र गिल, राजबीर खुबड़ू, मोहर खान, दलीप सिंह मऊ, ओमप्रकाश नैन, महेंद्र पाल कम्बोज, मेहर सिंह, देवीलाल मंगोलिया, डॉ. अवतार सिंह, ओमप्रकाश, धनीराम, प्रताप सिंह फोगाट, सतपाल सैनी, ओमप्रकाश नरवाल, अशोक कुमार छीबड़, बारू राम, हुकम सिंह फोर, मांगे राम पाई, रामप्रसाद, पिरथी सिंह, जगमेंद्र सांगवान, हाजी सुमेर खान, सुखपाल सिंह, जोरा सिंह, हरी सिंह यादव, गंगादीन शर्मा, जुगती राम जाखड़, राजबीर सिंह, मास्टर केहर सिंह, जरनैल सिंह, कटार सिंह, रूप लाल सैनी, रामकुमार, रणधीर सिंह, रामप्रकाश व धर्मपाल बड़ाला को इनेलो कर्मचारी प्रकोष्ठ राज्य कार्यकारिणी का सदस्य नियुक्त किया गया है।

Tuesday, June 9, 2015

नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला वीरवार को रूबरू होंगे जिला कार्यकर्ताओं से 

भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश व केंद्र सरकार की गलत नीतियों के चलते प्रत्येक वर्ग परेशान है अत जनता के हितों की आवाज बुलंद करने के लिए लिए प्रदेश की मु य विपक्षी पार्टी इनेलो ने कमर कस ली है जिसके चलते प्रदेश के सभी जिला मु यालयों में इनेलो पार्टी के वरिष्ठ नेता व नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला जिला कार्यकर्ताओं से स्वयं रूबरू होंगे। कार्यकर्ताओं से मुखातिब होने की शुरुआत ग्यारह जून से होगी इस दौरान नए बस स्टैंड के नजदीक स्थित पार्टी के जिला कार्यालय में बारह बजे चौधरी अभय सिंह चौटाला  रोहतक जिले के कार्यकर्ताओं से मिलेंगे। 
यह बात आज जारी प्रेस ब्यान के माध्यम से इनेलो के जिलाध्यक्ष सतीश नांदल ने कही। उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा की प्रदेश सरकार की गलत नीतियों से प्रदेश के किसान मजदूर वर्ग ही नही अपितु मध्यम वर्गीय परिवारों सहित प्रदेश के युवा तबके को हताशा और निराशा का सामना करना पड़ा है। 


11 जून से शुरू होगा इनेलो पदाधिकारियों की जिलास्तरीय बैठकों का राज्यव्यापी अभियान

इनेलो ने 11 जून से एक राज्यव्यापी अभियान शुरू करते हुए प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर पार्टी पदाधिकारियों की जिलास्तरीय बैठकें आयोजित करने का निर्णय लिया है। इसके अंतर्गत प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर पार्टी के उस जिले से संबंधित पार्टी विधायक, सांसद, प्रदेश पदाधिकारी, विभिन्न प्रकोष्ठों के पदाधिकारी और हलका व शहरी पदाधिकारी उन बैठकों में हिस्सा लेंगे। इन बैठकों को पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा सम्बोधित करेंगे। 11 जून से 17 जून तक चलने वाले इस राज्यव्यापी अभियान में इनेलो नेता रोजाना तीन जिलों में पार्टी पदाधिकारियों की बैठकों को सम्बोधित करेंगे और इन बैठकों मेें पार्टी की नई जिला व हलका कार्यकारिणी के नए पदाधिकारियों की घोषणा भी करेंगे। 
यह जानकारी देते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने बताया कि 11 जून को जिलास्तरीय बैठकों का यह राज्यव्यापी कार्यक्रम झज्जर जिले से शुरू होगा और उसी दिन झज्जर के अलावा रोहतक व गुडग़ांव में भी पार्टी पदाधिकारियों की बैठकें आयोजित की जाएंगी। 12 जून को मेवात, पलवल व फरीदाबाद, 13 जून को सोनीपत, पानीपत व करनाल, 14 जून को कुरुक्षेत्र, यमुनानगर व पंचकूला, 15 जून को अम्बाला, कैथल व जींद, 16 जून को सिरसा, फतेहाबाद व हिसार और 17 जून को भिवानी, महेंद्रगढ़ व रेवाड़ी में इनेलो पदाधिकारियों की जिलास्तरीय बैठकों का आयोजन किया जाएगा।
श्री अरोड़ा ने बताया कि पार्टी की नई राज्य कार्यकारिणी, महिला, किसान, एससी व बीसी  प्रकोष्ठ का पहले ही गठन किया जा चुका है और अन्य प्रकोष्ठों विशेषकर कर्मचारी, युवा, व्यापारी प्रकोष्ठों की प्रदेश कार्यकारिणी भी जल्दी ही घोषित कर दी जाएगी। इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि जिलास्तरीय इन बैठकों में पार्टी के जिला पदाधिकारियों और विभिन्न विधानसभा हलकों के पदाधिकारियों के साथ-साथ पार्टी की शहरी इकाई के नए पदाधिकारियों की भी घोषणा की जाएगी। उन्होंने कहा कि पार्टी संगठन को और ज्यादा मजबूत व सक्रिय बनाने के लिए पार्टी के समर्पित, संघर्षशील व जुझारू कार्यकर्ताओं को संगठन में व्यापक प्रतिनिधित्व दिया जाएगा।