Tuesday, December 30, 2014

भूमि अधिग्रहण अध्यादेश लाकर बीजेपी ने अपनी किसान विरोधी असलियत दिखाई : दुष्यंत चौटाला

सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि बड़े-बड़े व्यवसायिक घरानों व निजी कंपनियों को लाभ देने के लिए केंद्र सरकार भूमि अधिग्रहण बिल पर अध्यादेश लेकर आई है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार किसान विरोधी सरकार है। इस बिल का इनेलो लोकसभा व राज्यसभा में विरोध करेंगे। उन्होंने कहा कि इनेलो की मांग है कि केंद्र सरकार इस अध्यादेश को तुरंत प्रभाव से वापस ले। इस संबंध में वे महामहिम राष्ट्रपति से मिल कर इस अध्यादेश पर रोक लगाने की भी मांग करेंगे। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने यहां जारी बयान में कहा है कि भूमि अधिग्रहण पर अध्यादेश लेकार भाजपा सरकार ने यह साबित कर दिया है कि वह पूरी तरह से किसान विरोधी है। उन्होंने कहा कि आज के अध्यादेश का सबसे अधिक नुकसान छोटे किसानों को होगा और वह पूरी तरह से धरातल पर आ जाएगा।  उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने सेज के नाम पर प्रदेश के किसानों को लूटा था और अब केंद्र सरकार भी उस राह पर है। सांसद ने कहा कि ऐसे अध्यादेश के बाद अब किसानों को बर्बाद करने के लिए सेज जैसी योजना की भी जरूरत नहीं है। 
 उन्होंने कहा कि कपास के भाव धरातल पर हैं और ऐसा ही हाल जीरी का रहा है। किसानों को कपास व जीरी के न्यूनतम भाव भी नहीं मिले। किसानों की इस मांग को बार-बार इनेलो आवाज उठाती रही परन्तु केंद्र सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया। उन्होंने कहा कि आज भी प्रदेश के किसान यूरिया की किल्लत के चलते दो-चार हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह स्वयं यूरिया की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए केंद्रीय उरर्वक मंत्री से भी मिले थे। केंद्र सरकार ने आश्वासन तो दिया परन्तु आज भी किसान यूरिया के लिए जूझ रहे हैं। 

Sunday, December 28, 2014

सांसद दुष्यंत चौटाला ने सुनी जनता की समस्याए


सांसद दुष्यंत चौटाला फ्लेमिंगो मार्केट में धरना स्थल पर पहुंचे और दुकानदारों को अपना समर्थन व्यक्त किया। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि आंदोलनरत दुकानदारों की मांग हरियाणा सरकार तक उनकी बात पहुंचाने के लिए पत्र लिखेंगे।
सांसद दुष्यंत चौटाला दोपहर धरना स्थल पर पहुंचे और दुकानदारों से उनकी समस्या को लेकर विस्तार से बातचीत की। सांसद ने दुकानदारों की मांगों का समर्थन किया और कहा कि वह इस उनकी हर संभव मदद करेंगे।
इससे पहले दुष्यंत चौटाला इनेलो पार्षद ईश्वर बगला के निधन पर शोक व्यक्त करने उनके पैृतक गांव बगला पहुंचे। उन्होंने शोक संतप्त परिजनों को ढाढस बंधाया और भगवान से ईश्वर के परिजनों को इस घड़ी में दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि ईश्वर बगला एक मिलनसार, इमानदार व मेहनती व्यक्तित्व के धनी थे और पार्टी के लिए उन्होंने अथक मेहनत की। उन्होंने कहा कि दुख की इस घड़ी में पार्टी ईश्वर के परिजनों के  साथ है और उन्हें न्याय दिलवाने के लिए हर संभव मदद करेंगे।
कार्यकर्ताओं से मीटिंग के दौरान बरवाला से उकलाना से विधायक अनूप धानक, विधायक वेद नारंग, महिला विंग की प्रदेशाध्यक्ष शीला भ्याण, नलवा हलका प्रधान होशियार सिंघरान, राजेंद्र चुटानी, राजेंद्र लितानी, सत्यवान बिचपड़ी, सतबीर सिसाय, विक्रांत बागड़ी, राजेंद्र लितानी, विनोद ढांडा, शुगन भारद्वाज, रमेश चुघ, अनिल बालकिया, दलबीर धीरवास, अमित बूरा, अनूप धनकड़, राजेश रावलवास सहित भारी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Saturday, December 27, 2014

चुनाव में कड़ी मेहनत करने वाले कार्यकर्ताओं को दिया जाएगा संगठन में उचित स्थान-अभय चौटाला

इनेलो नेता अभय चौटाला ने कहा कि चुनाव में पार्टी प्रत्याशियों के लिए तन-मन-धन से कड़ी मेहनत करने वाले कार्यकर्ताओं को संगठन में उचित स्थान दिया जाएगा। अभय चौटाला स्थानीय ब्राह्मण धर्मशाला में इनेलो जिला कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करने के लिए आए थे। इस बैठक को इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, सांसद राम कुमार कश्यप, जिला परिषद् चेयरमैन प्रवीण चौधरी, मायाराम चंद्रभानपुरा, ओम प्रकाश हथीरा सहित अनेक इनेलो नेताओं ने संबोधित किया। कार्यक्रम में श्रीब्राह्मण एवं तीर्थोद्धार सभा की ओर से सभा के वरिष्ठ उपप्रधान नरेंद्र शर्मा, प्रधान महासचिव रामपाल शर्मा, उपप्रधान नितिन भारद्वाज लाली, प्रचार मंत्री सतीश घनौरिया तथा राजकुमार काला ने अभय चौटाला वह सांसद रामकुमार कश्यप को शॉल भेंट कर सम्मानित किया। वेदपाठशाला के आचार्य नरेश के नेतृत्व में वेदपाठी ब्राह्मणों ने अभय चौटाला का ब्राह्मण धर्मशाला में आने पर वेद मंत्रों के उच्चारण के साथ मोली बांधकर आर्शीवाद दिया। 

अभय चौटाला तथा अशोक अरोड़ा ने कहा कि पूरे प्रदेश में जिला स्तरीय बैठकें आयोजित करके चुनाव में कड़ी मेहनत करने वाले कार्यकर्ताओं के नाम भेजने के लिए कहा गया है। पार्टी का पुनर्गठन करके ऐसे कार्यकर्ताओं को संगठन की जिम्मेवारी सौंपी जाएगी। इनैलो नेताओं ने कहा कि  मतदान से तीन दिन पहले यानी 12 अक्तूबर तक प्रदेश में इनेलो के पक्ष में जोरदार हवा थी। इनेलो का राज आते देख सभी पार्टियों ने एक साजिश के तहत एकजुट होकर इनेलो को हराने का काम किया। इतना ही नहीं चौधरी ओम प्रकाश चौटाला की चुनाव में चल रही हवा को खत्म करने के लिए साधु संतों का सहारा भी लिया।

भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए अभय चौटाला व अशोक अरोड़ा ने कहा कि भाजपा ने चौधरी देवीलाल, बंसीलाल और कुलदीप बिश्रोई की पीठ में छुरा घौंपा था। जिस बाबा को डराकर भाजपा ने चुनाव में समर्थन हासिल किया है तीन महीने बाद माननीय हाईकोर्ट के आदेश पर वह बाबा भी जेल में होगा, कयोंकि इस बाबा पर संगीन आरोप है। उन्होंने कहा कि पहले कांग्रेस सीबीआइ का डर दिखाकर इस बाबा को बचाती रही और बीजेपी ने भी वोट लेने के लिए इस बाबा को सीबीआई का डर दिखाया, लेकिन कानून से ऊपर कोई नहीं है। उन्होंने कहा कि चुनाव में मोदी के नाम की हवा थी और यह जहर आज तक बरकरार है। भ्भाजपा ने लोगों को गुमराह करके वोट लिए हैं। यदि जनता से किए गए वायदे भाजपा ने पूरे नहीं किए तो इसकी दुर्गति भी कांग्रेस जैसी होगी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार फसलों पर भी टेकस लगाएगी। आज न खाद मिलता है और न ही बिजली पानी है। हालात बिगडऩे पर जनता खुद सड़कों पर आ जाएगी।

इनेलो नेताओं ने अपने संबोधन में मनोहर लाल खट्टर को एक अनुभवहीन मुख्यमंत्री बताते हुए कहा कि खट्टर को न तो हरियाणा की संस्कृति का और न ही हरियाणा की परिस्थति का कोई ज्ञान है। खट्टर तो हरियाणा के  50 गांवों के नाम तक नहीं जानते। प्रदेशाध्यक्ष अरोड़ा ने कहा कि हरियाणा के इतिहास में यह पहला मौका है जब खाद के लिए महिलाओं को भी लाइन में लगना पड़ रहा है। मुख्यमंत्री द्वारा यह कहने पर कि खाद की कमी नहीं है। किसान ज्यादा खाद खरीद रहे हैं अरोड़ा ने टिप्पणी करते हुए कहा कि किसानों के पास तो जरूरत के लिए खाद खरीदने के लिए भी पैसे नहीं है वह जरूरत से ज्यादा कैसे खाद खरीद सकते हैं। उन्होंने कहा कि हालात ऐसे पैदा हो जाएंगे कि किसान अपनी जमीन बेचने पर मजबूर होंगे। अरोड़ा तथा अभय चौटाला ने कार्यकर्ताओं को नववर्ष शुभकामनाएं देते हुए चुनाव में कड़ी मेहनत करने पर उनका आभार व्यक्त किया। बैठक में बुट्टा सिंह लुखी, रामकरण काला, प्रहलाद शर्मा, कुलदीप सिंह खेड़ी, वैश्य अग्रवाल समाज के प्रधान विश्वपाल गोयल टिक्कू, मीडिया कॉर्डिनेटर रामपाल शर्मा, पार्षद नरेंद्र शर्मा, नरेंद्र राजू चौहान, संदीप कोहली, विवेक मैहता, पूर्व पार्षद मन्नू जैन, नितिन भारद्वाज लाली, कंवलजीत सिंह अजराना, नरेंद्र घराड़सी, बलजिंद्र सिंह जोगध्यान, विनोद राणा, दीपक गोयल, मेहर सिंह मैहला, गौरव कटारिया, नक्षत्र सिंह, नरेंद्र मैहरा, मनोज कौशिक, सतबीर शर्मा, सोहन लाल रामगढ़, विक्रम चक्रपाणी, सुरेश नैन, कुलदीप जखवाला सहित अनेक इनेलो कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

Friday, December 26, 2014

खाद की कमी दूर करने के लिए हरियाणा में भी लगे, खाद कारखाना: सांसद रामकुमार कश्यप

 इनेलो के राज्यसभा सांसद रामकुमार कश्यप ने मांग की है कि हरियाणा में खाद का नया कारखाना लगाने की जरुरत है। इससे जहां किसानों की खाद की समस्या का हल होगा, वहीं बेरोजगारों को रोजगार भी मिलेगा। पत्रकारों से वार्तालाप करते हुए श्री कश्यप ने कहा कि हरियाणा में यह पहला मौका है, जब पुलिस की निगरानी में खाद बांटी जा रही है। थोड़ी बहुत कमी तो खाद की  पहले भी होती रही है लेकिन इस बार खाद की कमी के पिछले सारे रिकार्ड टूट गए हैं।  उन्होंने कहा कि खाद की समस्या केवल इस सीजन के लिए नहीं है, बल्कि अगले सालों में भी यह समस्या पैदा हो सकती है। खाद की कालाबाजारी को समाप्त करने के लिए सबसे बड़ा फार्मूला यूरिया के उत्पादन के लिए नया यूनिट लगाना है। सांसद ने बताया कि लोकसभा में भी हरियाणा और पंजाब में खाद की कमी को लेकर हरियाणा के इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला और अकाली दल के सांसद बलविंदर सिंह ने इस मामले को प्रभावशाली ढंग से उठाया है। उन्होंने कहा कि यदि खाद की कमी इसी प्रकार चलती रही, तो किसानों के लिए परिस्थितियां ओर खराब हो सकती हैं।

जिला कार्यकर्ता सम्मेलन में मुख्य अतिथि पहुंचे दुष्यंत चौटाला 

सी.एम विंडो पर दो सप्ताह पहले हमारे कार्यकर्ता को भाजपा प्रत्याशी द्धारा  गोली मारने के बाद कोई कार्यवाही न होने पर हमने सी.एम विंडो पर शिकायत दी थी, लेकिन शिकायत का निवारण होता तो दूर आज तक कोई रिप्लाई तक नही आया, ऐसे में मुझे नही लगता सरकार की यह पहल लोगों के हित के लिए कारगार साबित होगी। उक्त बात शुक्रवार को अग्रवाल भवन में इनैलो जिला कार्यकर्ता सम्मेलन में बोलते हुए हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहीं। इससे पूर्व इनैलो कार्यकर्ताओं ने उनका पंचकूला पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया। आयोजित सभा में इनैलो युवा कार्यकर्ताओं व वरिष्ठ पदाधिकारियों और नेताओं ने अपने विचार भी रखें। 


इनैलो सांसद उपस्थित सभा में बोलते हुए कहा कि जो लोग 82 हजार करोड़ के प्रदेश पर कर्ज की बात करते है, उन्हें यह मालूम नही कि प्रदेश और केन्द्र में भाजपा की सरकार है और मुख्यमंत्री केन्द्र सरकार से  स्पेशल पैकेज लेकर  भी कांग्रेस राज की इस कमजोरी को मिटा सकते है। जिस जनून के साथ प्रदेश की जनता ने भाजपा की सरकार बनाई है, उस जनता को बहानेबाजी पंसद नही है, ये काम तो कांग्रेस भी कर रही थी, जिसने 2800 घोषणाएं की और मुश्किल से 200 भी पूरी नही हो पाई। चौटाला ने प्रदेश में यूरिया की कमी पर बोलते हुए कहा कि एक लाख मैट्रिक टन यूरिया जब केन्द्र सरकार ने उपलब्ध करवाया तो फिर 70 हजार टन यूरिया सरकार के खजाने में पड़ा है, जो सरकार की ब्लैकमेलिंग दर्शाता है। जिसके चलते किसानों को 280 रूपये में मिलने वाला  यूरिया साड़े 300 रूपये तक खरीदना पड़ रहा है, साथ ही में जिंक किसानों पर जबरन थोपा  जा रहा है और यहां तक कई जगहों पर राशनकार्ड और थानेदार की पर्ची पर किसान को यूरिया मिल रहा है। यह सब कमियां सरकार की अनुभवहीनता दर्शाती है और इन हालातों को देखकर यह लगता है कि सरकार अपनी कमजोरियों के चलते साल भर भी नही टिक पायेगी। चौटाला ने कार्यकर्ता से कहा कि हार से निराश और हताश रहने की जरूरत नही है। हम हारे जरूर है, लेकिन हम लोगों के हितों की रक्षा  के लिए पार्टी के प्रति अपनी वभादारी निभाते रहेगें और कहा कि जनवरी के अंत या फिर फरवरी के शुरूआती हपते में नया संगठन बना दिया  जाएगा, जिसमें पार्टी के कर्मठ कार्यकर्ताओं को मौका दिया जाएगा। क्योंकि एक बेहतर व्यक्ति संंगठन की मजबूती की अहम कड़ी होता है। चौटाला ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि लच्छेदार भाषणों से लोगों का दिल जीतने वाली सरकार अपने किए वायदों से मुंह मोड़ रही है। लोगों को लोभ दिया गया कि 100 दिन में काला धन वापिस आएगा और हर खाता धारक के खाता में 15 लाख आएगा, आज 200 दिन से ज्यादा समय बीत गया, लेकिन एक पैसा भी किसी के खाते में नही आया और स्वामी नाथन रिपोर्ट तक लागू नही कर पाई सरकार। आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में इनैलो पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी ने कहा कि पार्टी एक मंदिर के सम्मान है, जिसके प्रति हमारी आस्था जुड़ी है।  हम चुनाव हारे है, लेकिन लोगों के संर्घष के लिए लड़ाई जारी रखेगें। यदि सरकार ने लोगों से किए वायदे पूरे नही किए तो सरकार का विरोध भी होगा। वहीं इनैलो के पचंकूला से रहे प्रत्याशी कुलभुषण गोयल ने कहा कि पार्टी जो भी डयूटी देगी, वो उसके लिए तैयार है। हमनें दिल से चुनाव जीतने की मेहनत की थी। नई सरकार के भाजपा विधायक से पंचकूल क्षेत्र के विकास की उम्मीद करते है, क्योंकि क्षेत्र में बहुत सी ऐसी समस्याएं है, जिनका समाधान बेहद जरूरी है।

सरकार आदमपुर व नलवा में 12 दिन पानी देने पर हुई राजी


नलवा व आदमपुर हलके में पानी के लिए आंदोलनरत किसानों की आवाज को पत्र के जरिए हरियाणा सरकार तक पहुंचाने व संसद में बुलंद करने सांसद दुष्यंत चौटाला की लग्र रंग लाई। प्रदेश सरकार ने हिसार जिले की नहरों में 12 दिन पानी चलाने घोषणा की है। इसके आलावा सरकार पीने के पानी के लिए इन गांवों में अलग से व्यवस्था करेगी। प्रदेश सरकार ने यह लिखित आश्वासन सांसद दुष्यंत चौटाला के पत्र के जवाब में दिया गया है। यह जवाब हरियाणा सरकार की ओर से कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने दिया है। 
प्रदेश के कृषि मंत्री की ओर से सांसद दुष्यंत चौटाला को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि हरियाणा सरकार ने हिसार जिले के गांवों में पीने के लिए तथा सिंचाई के लिए महीनों में 12 दिन नहरों में पानी चलाने की योजना लागू की जा रह है। इसके अलावा पीने के पानी के लिए इन हलकों के लिए पीने के पानी के लिए अलग से व्यवस्था की जाएगी।हरियाणा सरकार की ओर से यह विश्वास दिलवाया गया है कि इन गांवों में पीने के पानी और सिंचाई के लिए पानी की कोई समस्या नहीं रहेगी।कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने पत्र में जिक्र किया है कि दुष्यंत चौटाला ने इन लोगों की चिंता की है, इसके लिए वह उनके आभारी हैं। यहां बता दें कि करीब अढ़ाई माह से नलवा व आदमपुर हलके के आंदोलनरत किसानों का मुद्दा 2 दिसंबर को संसद में उठाते हुए हरियाणा सरकार को कठघरे में खड़ा किया। सांसद ने कहा कि हिसार संसदीय क्षेत्र के नलवा व आदमपुर के 40 से अधिक गांवों के किसान पानी को लेकर पिछले अढ़ाई माह से आंदोलनरत हैं परन्तु हरियाणा सरकार ने उनकी सुध तक नहीं ली है। इस मामले में सांसद दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय जल संसाधन मंत्री से हस्तक्षेप कर किसानों की पानी की समस्या हल करवाने की मांग की थी। 
देश के सबसे युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने सदन में कहा था कि मेरे ससंदीय क्षेत्र हिसार लोगों को 500 से 1000 रूपये प्रति टैंकर पीने के लिए पानी खरीदना पड़ रहा है। उन्होंने सदन में मांग की थी कि हरियाणा सरकार जिला प्रशासन को निर्देश दे कि वे किसानों की पानी की समस्या का समाधान करवाएं। 22 नवंबर को सांसद दुष्यंत चौटाला हिसार के लघु सचिवालय परिसर में पानी के लिए आंंदोलनरतकिसानों को अपना पूरा समर्थन व्यक्त करते हुए उनके साथ धरने पर भी बैठे थे। 
इससे पहले भी सांसद चौटाला इस क्षेत्र में टेल के आखिरी छोर तक पानी पहुंचाने व महीने में दो सप्ताह पानी चलवाने की मांगों के संबंध में वह मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को 8 नवंबर को पत्र लिख चुके हैं। इसके बाद 22 नवंबर को फिर से सांसद ने एक और पत्र मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर सहित प्रदेश के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ को प्रेषित किया था। इस पत्र का उल्लेख प्रदेश के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने सांसद दुष्यंत को लिखी चिठ्ठी में भी किया है। 

Thursday, December 25, 2014

भाजपा को अपने वादे नहीं भूलने चाहिए: अभय



ऐलनाबाद के विधायक एवं विपक्ष के नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि प्रदेश में जल्द ही नए इनेलो संगठन की घोषणा की जाएगी व सक्रिय कार्यकर्ताओ को ही पार्टी संगठन में जगह दी जाएगी। सिर्फ चेहरा दिखाने वालों को नहीं बल्कि काम करने वाले के हिसाब से पार्टी कार्यकर्ताओ को तव्वजो व पद देगी। चौटाला ने यह बात इनेलो की जिला स्तरीय बैठक में कही। उन्होंने कार्यकर्ताओ से कहा कि पार्टी की हार से उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है क्योंकि इनैलो नेता व वर्कर तो लोगों के बीच रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि इस बार निश्चित तौर पर इनैलो की सरकार बनेगी। अभय चौटाला ने कहा कि एक साजिश के तहत बीजेपी, हजकां, कांग्रेस व दूसरे दलों ने इनैलो को हराने के लिए मिलकर काम किया। उन्होंने भाजपा सरकार को अनुभवहीन व चुनावी वायदों से पीछे हटने वाली सरकार बताते हुए कहा कि स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने, पंजाब के समान वेतनमान देने व बेरोजगार युवाओं को 9 हजार रुपए महीना बेरोजगारी भत्ता देने की बात करने वाली बीजेपी को अपने वायदे नहीं भूलने चाहिएं।

इनेलो नेता ने कार्यकर्ताओं को नए साल की बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश में इनेलो के अलावा अब कोई अन्य विकल्प नहीं है। कांग्रेस का नामलेवा बचा नहीं है तथा इनेलो को खत्म करने की बात करने वाली कांग्रेस खुद ही गर्त में चली गई है। कांग्रेस में अब कोई नहीं जो लड़ाई लड़ सके। अभय चौटाला ने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार को अपने चुनाव घोषणा पत्र में किए गए वायदों को पूरा करना चाहिए। यदि ऐसा नहीं हो पाया तो इनेलो कार्यकत्र्ता जनहित के मुद्दों को लेकर मार्च के बाद सडक़ों पर उतरने हेतु मजबूर होंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने पर इनेलो ने कहा था कि यदि भाजपा ने अपने चुनाव घोषणापत्र में किए गए वायदे जैसे स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करना, वृद्धावस्था पैंशन बढ़ाना तथा अन्य जनहित की घोषणाओं को लागू किया तो इनेलो सरकार की प्रशंसा करेगी लेकिन भाजपा सरकार ने अभी तक इन मुद्दों को लागू करना तो दूर इन घोषणाओं पर चर्चा तक नहीं कि जिससे आम आदमी को निराशा हुई है। 

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हम चुनाव हारे हैं हिम्मत नहीं तथा हमें भविष्य में भी एक सशक्त विपक्ष की भूमिका निभाते हुए लोगों के बीच रहकर उनकी समस्याओं को प्रशासन तक पहुंचाना है। इनेलो नेता ने कहा कि अब कांग्रेस के दिन लद गए हैं क्योंकि पिछले 10 सालों में कांग्रेसी नेताओं ने प्रदेश को दोनों हाथों से लूटा था इसलिए जनता ने कांग्रेस को सत्ता से दूर कर दिया लेकिन यदि भाजपा भी कांग्रेस के पदचिह्नों पर चलती है तो इनैलो ही जनता के सहयोग से भाजपा को सत्ता से दूर कर देगी। प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने अपने संबोधन में कहा कि इनैलो कार्यकर्ताओ की कांग्रेस के कुशासन के विरूद्ध संघर्ष बेकार नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि इनैलो कार्यकर्ताओ के संघर्ष के कारण ही कांग्रेस को सत्ता से हाथ धोना पड़ा। उन्होंने कहा कि डेरों का सहारा लेकर इनैलो को सत्ता में आने से रोका गया।


पूर्व विधायक रामपाल माजरा ने कहा कि इनेलो चौधरी देवीलाल की नीतियों पर चलते हुए गरीबों, कमेरों, किसानों व मजदूरों के हकों के लिए हमेशा लड़ती रहेगी। उन्होंने कहा कि जो लोग इनेलो के अस्तित्व को समाप्त करने की बात करते थे उनका खुद का अस्तित्व समाप्त हो गया है। माजरा ने कहा कि भाजपा ने स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करना, वृद्धावस्था पैंशन बढ़ाना तथा अन्य जनहित की घोषणाओं को लागू किया तो इनैलो भाजपा सरकार की प्रशंसा जरूर करेगी, अगर ऐसा नहीं हुआ तो सरकार विरोधी मोर्चा खोलने से भी पीछे नहीं हटेगी। माजरा ने स्पष्ट किया कि आज यदि कांग्रेस जनता के अधिकारों पर कुठाराघात करने के बाद सत्ता से बाहर है तो उसमें इनैलो की अहम भूमिका है, अब यदि भाजपा भी कांग्रेस के पदचिन्हों पर चलती है तो उसे सत्ता से बाहर करने में भी जनता देर नहीं लगाएगी।
कैथल की बैठक को पूर्व विधायक तेजबीर ङ्क्षसह, कैलाश भगत, गुहला प्रत्याशी बूटा ङ्क्षसह, धर्मपाल छौत सहित कई इनैलो नेताओं ने संबोधित किया। इस मौके पर बलराज नौच, युवा नेता जसमेर तितरम, संजय जागलान, एडवोकेट शशीवालिया, राजा राम माजरा, हरदीप पाडला, रणबीर फौजी, काला खरक प्रधान, रणदीप कौल, राजेश टाया, रामप्रकाश गोगी, लीलू पाई, अनिल तंवर, ऋषिराज राणा, प्रदीप शर्मा सहित भारी संख्या में इनेलो पदाधिकारी व कार्यकत्र्ता उपस्थित थे। अम्बाला की बैठक को चौधरी अभय चौटाला व अशोक अरोड़ा के अलावा पूर्व विधायक राजबीर बराड़ा, अशोक शेरवाल, बलविंद्र पुनिया, सूरज जिंदल व जगमाल रहलों सहित अनेक नेताओं ने सम्बोधित किया। बैठक में मक्खन सिंह लबाणा, ओंकार सिंह, सुरजीत सोंडा, शीशपाल, मनोज शर्मा, इंद्रजीत सिंह, निर्मल विज, चरणजीत मोडी, किरपाल अरोड़ा, सम्मी सोंडा व हरकेश के अलावा अकाली नेता सुखदेव सिंह गोबिंदगढ व गुरदीप भानोखेड़ी ने हिस्सा लिया। बैठक में इनसो प्रवक्ता विवेक चौधरी के पिता जय सिंह के निधन पर दुख जताते हुए दो मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए गए और इनेलो नेता शोक व्यक्त करने उनके घर पर भी गए।
अटल को भारत रत्न का स्वागत, शहीद भगत सिंह को भी मिलेे: अभय

 विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भारत रत्न के सर्वश्रेष्ठ हकदारों में से एक हैं और वह केंद्र के इस फैसले का स्वागत करते हैं। कैथल के पत्रकार सम्मेलन में उन्होंने कहा कि वाजपेयी के शासनकाल में करगिल युद्ध में देश की जीत और पोखरण में परमाणु परीक्षण कर उन्होंने भारत की छवि को चार चांद लगा दिए थे। उन्होंने कहा कि जब पदमश्री जैसे पुरस्कार एक समय में बहुत से लोगों को दिए जा सकते हैं तो भारत रत्न शीर्षक का सर्वोच्च सम्मान भी कई अन्य लोगों को दिया जा सकता है। 
इनेलो नेता अभय चौटाला ने कहा कि अच्छा होता कि देश को आजाद करवाने के लिए बलिदान देने वाले शहीद भगत सिंह को भी मरणोपरांत यह सम्मान केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा दिए जाने की एक साथ ही घोषणा कर दी जाती। उन्होंने कहा कि यूरिया खाद की उपलब्धता के बारे में मुख्यमंत्री प्रदेश के लोगों को गुमराह कर रहे हैं। यदि पूरा खाद होता तो लोगों को लाइनों में न लगना पड़ता। नेता विपक्ष ने इस बात पर गहरी ङ्क्षचता प्रकट की है कि पुलिस थानों से खाद की पर्चियां एक खास दल के समर्थित लोगों को दी जा रही हैं। इस मौके पर पूर्व विधायक रामपाल माजरा, जिलाध्यक्ष कैलाश भगत, पूर्व विधायक तेजवीर ङ्क्षसह पूंडरी व बूटाङ्क्षसह सहित कई इनेलो नेता मौजूद थे। 

Wednesday, December 24, 2014

प्रदेश में सत्ता की जंग हारे हैं, संघर्ष करने की हिम्मत नहीं : अभय चौटाला



विधानसभा विपक्ष प्रमुख एवं इनेलो शीर्ष नेता अभय चौटाला ने कहा कि विधानसभा चुनाव में इनेलो सत्ता की जंग बेशक हार गई हो, लेकिन जनता को न्याय दिलाने और प्रदेश के विकास से जुड़े हर मुद्दे पर आवाज बुलंद करने का संघर्ष करने की हिम्मत उसने नहीं हारी है। वे आज स्थानीय शोभराज बत्तरा धर्मशाला में आयोजित इनेलो जिला कार्यकर्ता सम्मेलन को बतौर मुख्य वक्ता संबोधित कर रहे थे। सम्मेलन को प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, सांसद स. चरणजीत सिंह रोड़ी, प्रदेश प्रवक्ता स. निशान ङ्क्षसह, विधायक बलवान दौलतपुरिया, प्रो. रविन्द्र बलियाला, पूर्व विधायक रणसिंह बैनीवाल, राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, वरिष्ठ नेता कुलजीत कुलडिय़ा, मोलूराम रूहलानिया, सुरेन्द्र लेगा, राजेन्द्र चौधरी काका, विजय चौधरी, विद्या रत्ति, सत्या विद्यार्थी, सुशीला सर्राफ, सुमनलता सिवाच आदि ने संबोधित किया।


अभय चौटाला ने कार्यकर्ताओ में उत्साह का संचार करते हुए कहा कि फतेहाबाद-सिरसा जिलों के इनेलो कार्यकर्ताओ की हिम्मत की चर्चा आज पूरे देश में है। जिस दिलेरी के साथ इस संसदीय क्षेत्र के कार्यकत्र्ताओं ने मोदी लहर को धत्ता साबित करते हुए 9 में से 8 विधानसभा सीटों पर बड़ी जीत इनेलो की झोली में डाली, उसकी जितनी तारीफ की जाए वह कम है। उन्होंने कार्यकर्ताओ की इस हिम्मत को सलाम करते हुए एक बार फिर संगठन को उनकी उसी मेहनत और एकजुटता की जरूरत है, क्योंकि भाजपा सरकार के अच्छे दिनों का राग अब जनता के गले की फांस बनने लगा है और जनता को अपने हकों की आवाज मजबूती से रखने के लिए इनेलो कार्यकर्ताओ के सहयोग की जरूरत है। अभय चौटाला ने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार को अपने चुनाव घोषणा पत्र में किए गए वायदों को पूरा करना चाहिए। यदि ऐसा नहीं हो पाया तो इनेलो कार्यकर्ता जनहित के मुद्दों को लेकर मार्च के बाद सड़कों पर उतरने हेतु मजबूर होंगे। प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि भाजपा ने स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करना, वृद्धावस्था पैंशन बढ़ाना तथा अन्य जनहित की घोषणाओं को लागू किया तो इनेलो भाजपा सरकार की प्रशंसा जरूर करेगी, अगर ऐसा नहीं हुआ तो सरकार विरोधी मोर्चा खोलने से भी पीछे नहीं हटेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार की मंशा अभी तक के हालात को देखते हुए इन मुद्दों का समाधान निकालने की नजर नहीं आ रही है। जिससे आम आदमी को भाजपा सरकार से निराशा हाथ लगी है। प्रदेशाध्यक्ष ने स्पष्ट किया कि आज यदि कांग्रेस जनता के अधिकारों पर कुठाराघात करने के बाद सत्ता से बाहर है तो उसमें इनेलो की अहम भूमिका है, अब यदि भाजपा भी कांग्रेस के पदचिन्हों पर चलती है तो उसे सत्ता से बाहर करने में भी जनता देर नहीं लगाएगी। इस अवसर पर हलकाध्यक्ष हरि सिंह डांगरा, बिकर सिंह हड़ोली रतिया, पृथ्वी ङ्क्षसह गिल्लाखेड़ा, जगदीश झांझड़ा, रमेश सिंगला, हरबंस खन्ना, डॉ. हरि ङ्क्षसह, जिप सदस्य बलविन्द्र कैरों, एडवोकेट भरत ङ्क्षसह परिहार, पार्षद राजू मुंजाल, गोपाल शर्मा, कुलवंत सवणा, सतपाल पालू, नौरंग लाल जांगड़ा, शहरी प्रधान पवन चुघ, पूर्ण नारंग, इन्द्र गावड़ी, डॉ. रणजीत ओड, मनोहर नायक, गुलाब सूंडा, जगदीश नायक, सुभाष रॉयल, राकेश सिहाग, विकास मेहता, राणा जोहल, विजेन्द्र साहू, जसपाल संधू, अनिल सक्सेना, धर्मपाल कंबोज, सतपाल सिद्धु, अनिल नहला, दलीप कथूरिया, बलदेव बजाज, अशोक मेहता, रमेश लाली, यश तनेजा, सतेन्द्र श्योराण, बलदेव दरियापुर व जिला प्रवक्ता प्रमोद बजाज सहित अनेक कार्यकत्र्ता, पदाधिकारी मौजूद रहे।

इनेलो कार्यकर्ताओं के संघर्ष के कारण ही कांग्रेस को सत्ता से हाथ धोना पड़ा - नेता अभय सिंह चौटाला


राज्य की भाजपा सरकार को अपने चुनाव घोषणा पत्र में किए गए वायदों को पूरा करना चाहिए। यदि ऐसा नहीं हो पाया तो इनेलो कार्यकर्ता जनहित के मुद्दों को लेकर मार्च के बाद सड़कों पर उतरने हेतु मजबूर होंगे। यह बात ऐलनाबाद के विधायक एवं विपक्ष के 
नेता अभय सिंह चौटाला ने अपने आवास पर जिला स्तरीय कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए कही। चौटाला ने कहा कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने पर इनेलो ने कहा था कि यदि भाजपा ने अपने चुनाव घोषणापत्र में किए गए वायदे जैसे स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करना, वृद्धावस्था पैंशन बढ़ाना तथा अन्य जनहित की घोषणाओं को लागू किया तो इनेलो सरकार की प्रशंसा करेगी लेकिन भाजपा सरकार ने अभी तक इन मुद्दों को लागू करना तो दूर इन घोषणाओं पर चर्चा तक नहीं कि जिससे आम आदमी को निराशा हुई है। कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि हम चुनाव हारे हैं हिम्मत नहीं तथा हमें भविष्य में भी एक सशक्त विपक्ष की भूमिका निभाते हुए लोगों के बीच रहकर उनकी समस्याओं को प्रशासन तक पहुंचाना है। इनेलो नेता ने कहा कि अब कांग्रेस के दिन लद गए हैं क्योंकि पिछले दस सालों में कांग्रेसी नेताओं ने प्रदेश को दोनों हाथों से लूटा था इसलिए जनता ने कांग्रेस को सत्ता से दूर कर दिया लेकिन यदि भाजपा भी कांग्रेस के पदचिह्नों पर चलती है तो इनेलो ही जनता के सहयोग से भाजपा को सत्ता से दूर कर देगी। विपक्षीनेता ने कहा कि विधानसभा में उन्होंने कांग्रेसी नेताओं के विरूद्ध आरोपपत्र बारे मुख्यमंत्री को जांच के लिए कहा था लेकिन अभी तक उस पर कार्यवाही नहीं हुई है। प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने अपने संबोधन में कहा कि इनेलो कार्यकर्ताओं की कांग्रेस के कुशासन के विरूद्ध संघर्ष बेकार नहीं जाएगा। इनेलो अध्यक्ष ने कहा कि इनेलो कार्यकर्ताओं के संघर्ष के कारण ही कांग्रेस को सत्ता से हाथ धोना पड़ा। उन्होंने कहा कि डेरों का सहारा लेकर इनेलो को सत्ता में आने से रोका गया। उन्होंने कहा कि इनेलो चौ. देवीलाल की नीतियों पर चलते हुए गरीबों, कमेरो, किसानों व मजदूरों के हकों के लिए हमेशा लड़ती रहेगी। उन्होंने कहा कि जो लोग इनेलो के अस्तित्व को समाप्त करने की बात करते थे उनका खुद का अस्तित्व समाप्त हो गया है। इस सम्मेलन में सिरसा से लोकसभा सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक मक्खन लाल सिंगला, विधायक बलकौर सिंह, विधायक रामचंद्र कम्बोज, पूर्व मंत्री भागीराम, जिला परिषद अध्यक्ष डा. सीताराम,शहरी जिलाध्यक्ष प्रदीप मेहता, सुरेश कुक्कू, शहरी प्रधान मनोहर मेहता, डा. हरि सिंह भारी, वीरभान मेहता,राज्यकार्यकारिणी सदस्य जसबीर सिंह जस्सा, कृष्णा फौगाट, तरसेम मिढ़ा, गुरदयाल मेहता, रमेश मेहता एडवोकेट, महावीर शर्मा, डा. राधेश्याम, आर.के.भारद्वाज, अशोक वर्मा, राधेराम गोदारा, अभय सिंह खोड़, रणधीर जोधकां, रामकुमार नैन, राम सिंह सैनी, राजेंद्र गनेरीवाला, डा. विनोद गोदारा, हरदयाल गदराना, संदीप गंगा, धर्मवीर नैन, मधुचौहान, कमलेश सिद्धू, आशा वाल्मीकि, हरीश बाला, ममता मिढ़ा, सावित्री देवी, बिमला चाहरवाला, प्रदीप बैनीवाल, शंगनजीत कुरंगावाली, गीता सैनी, राममूर्ति, कृष्ण झोरड़, अवतार मल्हान, मांगेराम ठेकेदार, सतबीर कड़वासरा, देवराज, नरेंद्र मेहता, विनोद अरोड़ा, भगवान कोटली, पवन बठला, ओम प्रकाश शर्मा, प्रहलाद सोनी, विकल प्रचार, हरबेल खाजाखेड़ा, सुरेश दड़बा,विकास खिचड़, जोगेंद्र कम्बोज, नरेश रूपावास, कीर्ति सहित सैंकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।
दुष्यंत चौटाला ने जिला पार्षद की हत्या पर दुख जताया

इनेलो संसदीय दल के नेता व सांसद दुष्यंत चौटाला बुधवार को अपने अर्बन एस्टेट स्थित आवास पर कार्यकर्ताओं से मिलकर उन्हें क्रिसमस की बधाई दी। इस मौके पर उन्होंने जिला पार्षद ईश्वर बगला की मंडी आदमपुर हत्या किए जाने पर गहरा दुख प्रकट किया। उन्होंने कहा कि पार्षद बगला एक समाजसेवी थे और लोगों के सुख दुख में शरीक होने वाले व्यक्ति थे। सांसद चौटाला ने दिन भर बिगड़ती कानून व्यवस्था पर भी गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि अपराधियों के मन में कानून का बिलकुल भी भय नहीं है। आए दिन चोरी, लूटपाट व हत्या की घटनाएं आम हो गई है। पार्षद ईश्वर बगला की हत्या भी इसी का परिणाम है। उन्होंने प्रशासन से इन अपराधों की रोकथाम के लिए सख्त से सख्त कदम उठाने की मांग करते हुए कहा कि पार्षद बगला के हत्यारों को भी जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए। इस मौके पर सांसद दुष्यंत चौटाला से यूरिया की किल्लत को लेकर क्षेत्र के किसान भी मिले और अपनी समस्या उन्हें बताई। सांसद चौटाला ने कहा कि वे इस विषय पर केंद्रीय उर्वरक मंत्री से मिलकर प्रदेश को और खाद देने की मांग की है। साथ ही साथ उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की कि सरकार किसानों को जल्द से जल्द उनकी जरूरत के मुताबिक यूरिया उपलब्ध कराने की व्यवस्था करे ताकि यूरिया की कमी की वजह से उनकी फसल को हो रहे नुकसान से बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि किसान की यूरिया की आज सबसे ज्यादा जरूरत है। वक्त गुजरने के बाद वह किसी काम नहीं आएगी। इस मौके पर उमेद लोहान, विधायक अनूप धानक, एडवोकेट मनदीप बिश्रोई, सत्यवान बिछपड़ी, विक्रांत बागड़ी, तरूण जैन, रवि आहूजा, जितेदं्र भयाणा, रामचंद्र बैनीवाल, अमित बूरा, विरेंद्र बामल, बलवंत श्योराण, गुलाब सिंह व अणवेश यादव सहित बहुत से कार्यकर्ता व क्षेत्र के लोग उपस्थित थे। 

Tuesday, December 23, 2014

फल उत्पादकों के भंडारण की मांग दुष्यंत ने संसद में उठाई
 इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार के सांसद दुष्यंत चौटाला ने संसद में हरियाणा में फल उत्पादकों की आवाज उठाते हुए मौसमी, संतरा व किन्नू के भंडारण की ओर केंद्र सरकार का ध्यान आकर्षित किया। सांसद दुष्यंत चौटाला ने मंंगलवार को इस बारे में सदन में केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह से हरियाणा में फलों के भंडारण बारे सवाल पूछा।
सांसद दुष्यंत चौटाला ने एक पूरक प्रश्न पूछते हुए कहा कि केंद्रीय कृषि मंत्री द्वारा बताया कि केंद्र सरकार उत्तर पूर्व को छोड़ कर देश के अन्य हिस्सों में 50 प्रतिशत तक भंडारण की व्यवस्था की जाती है। इस योजना के तहत सेब व अनानास का भी भंडारण किया जाता है। युवा सांसद ने कहा कि हरियाणा व पंजाब की धरती पर संतरे व मौसमी की खेती होती है। परन्तु ज्यादा ठंड व भंडारण की उचित व्यवस्था न होने के कारण अधिकांश संतरा व मौसमी प्रजाति की फसल खराब हो जाता है। उन्होंने सरकार से पूछा कि क्या सरकार की संतरे के भंडारण को लेकर कोई योजना है। सांसद दुष्यंत चौटाला के सवाल के जवाब में केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि यदि प्रदेश सरकार की ओर से इस बारे में कोई प्रस्ताव भेजा जाएगा तो, इस पर जरूर विचार करेंगे। 

 नैना चौटाला ने अग्रिकांड में मारे गए बच्चों को दी  श्रद्धाजंलि
डबवाली की विधायक नैना सिंह चौटाला ने डबवाली अग्रिकांड की 19 वीं बरसी पर अग्रिकांड में मारे गए बच्चों को याद करते हुए उन्हें श्रद्धाजंलि दी। उन्होंने कहा कि 19 बरस पहले हुए इस विभत्स घटना को याद करके आज भी रूह कांप जाती है। इस अग्रिकांड में मासूम 442 बच्चों की जान चली गई थी, आज भी इस गम को भुलाया नहीं जा सकता। विधायक नैना चौटाला ने कहा कि मेरी संवेदनाएं पीडि़त परिवारों के साथ है और भगवान से प्रार्थना करती हूं कि भविष्य में ऐसा कहीं भी न हो। 
अब थानेदारों की पर्ची से मिलती है यूरिया खाद: अभय चौटाला


विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा कि प्रदेश में पहली दफा बनी बीजेपी की सरकार में किसानों को खाद के लिए थानों में पर्चियंा मिलती हैं तथा सरकार पर्याप्त खाद होने के दावे कर रहा है, जबकि किसानों को घंटों तक लाइनों में खड़े होने के बाद बिना यूरिया खाद लिए ही वापस जाना पड़ रहा है। यह कैसी विडंबना है। अभय चौटाला आज भिवानी व हिसार में कार्यकर्ताओं की बैठकों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जल्द ही नए इनेलो संगठन की घोषणा की जाएगी व सक्रिय कार्यकत्र्ताओं को ही पार्टी संगठन में जगह दी जाएगी। सिर्फ चेहरा दिखाने वालों को नहीं बल्कि काम करने वाले के हिसाब से पार्टी कार्यकर्ताओं को तव्वजो व पद देगी।  उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि पार्टी की हार से उन्हें निराश होने की जरूरत नहंी है क्योंकि इनेलो नेता व वर्कर तो लोगों के बीच रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि इस बार निश्चित तौर पर इनेलो की सरकार बनेगी। अभय चौटाला ने कहा कि एक साजिश के तहत बीजेपी, हजकां, कांग्रेस व दूसरे दलों ने इनेलो को हराने के लिए मिलकर काम किया । 
कार्यकर्ताओं को आने वाले नववर्ष की शुभकामनाएं देते हुए इनेलो नेता ने कहा कि प्रदेश में पार्टी का नया संगठन नए साल में घोषित कर दिया जाएगा व सक्रिय लोगों को जगह दी जाएगी जिनके नाम पार्टी के वर्कर तय करेंगे उन्हें ही पदाधिकारी बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इनेलो एकमात्र एंसा संगठन के जिसके पास 22 लाख सक्रिय वर्कर्स की फ ौज है। उन्होंने भाजपा सरकार को अनुभवहीन व चुनावी वायदों से पीछे हटने वाली सरकार बताते हुए कहा कि स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने, पंजाब के समान वेतनमान देने व बेरोजगार युवाओं को नौ हजार रुपए महीना बेरोजगारी भत्ता देने की बात करने वाली बीजेपी को अपने वायदे नहीं भूलने चाहिएं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इनेलो के अलावा अब कोई अन्य विकल्प नहीं है। कांग्रेस का नामलेवा बचा नहीं है तथा इनेलो को खतम करने की बात करने वाली कांग्रेस खुद ही गर्त में चली गई है। कांग्रेस में अब कोई नही जो लड़ाई लड़ सके। 


इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा है कि मौजूदा विधानसभा चुनावों में इनेलो सत्ता के करीब थी मगर ना केवल कांग्रेस व बीजेपी बल्कि दूसरे तमाम दलों ने साजिश रचकर इनेलो को हराने का काम किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस एवं बीजेपी का ये शुरू से ही चरित्र रहा है कि जो इन दोनों में से सत्ता के करीब दिखता है उसको समर्थन दिया जाता है। श्री अरोड़ा ने कहा है कि बीजेपी कांग्रेस एवं दूसरे दलों की साजिश की वजह से इनेलो चुनाव में हारी। उन्होंने कहा कि लोग भावनाओं में बह गए व इस वजह से संघर्ष से दूर दूर तक वास्ता ना रखने वाले लोग सत्ता में आ गए। उन्होंने कहा कि जो लोग इनेलो को खत्म करने की बात कहते थे वो खुद ही खत्म हो गए। मगर इनेलो मजबूत पार्टी है संघर्ष के बूते पर फि र मजबूत होगी व सत्ता में आएगी। उन्होंने कहा कि दो महीने में ही लोग मौजूदा सरकार से दुखी हो गए। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख पर अप्रत्यक्ष रूप से टिप्पणी करते हुए श्री अरोड़ा ने कहा कि बाबा लोगों की वजह से इनेलो चुनाव हारी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जिस तरह सीबीआई का दुरूपयोग किया था उसी प्रकार बीजेपी ने भी सीबीआई का सहारा लेकर ओमप्रकाश चौटाला को दोबारा जेल भिजवाया क्योंकि उनकी वजह से मोदी की जनसभाओं में लोग आने बंद हो गए थे। भिवानी की बैठक में विधायक राजदीप फोगाट, विधायक ओमप्रकाश गौरा, जिला प्रधान सुनील लांबा, पूर्व विधायक धर्मपाल ओबरा, रघुबीर सिंह छिल्लर, विधानसभा चुनाव में पार्टी प्रत्याशी निर्मला सर्राफ, कमला रानी, मनमोहन भुरटाना सहित सभी जिला स्तर के पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे। 
हिसार के सम्मेलन में सम्मेलन को विधायक रणबीर सिंह गंगवा, विधायक वेद नारंग, विधायक अनूप धानक, पूर्व जिलाध्यक्ष उमेद लोहान, राजसिंह मोर, शीला भयाण, युद्ववीर सिंह आर्य ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर चतर सिंह, सतबीर वर्मा, एडवोकेटसतबीर सिसाय, इंद्र फौजी, राजीव शर्मा, यशपाल गोदारा, होशियार सिंह, सत्यवान बिछपड़ी, एचएस भादू, बहादुर सिंह नायक, डॉ दलबीर भारती, डॉ. राजकुमार दिनौदिया, डॉ. अनंत राम बरवाला, धारा सिंह, अशोक पूनिया, विक्रांत बागड़ी, राधिका गर्ग, निगम पार्षद राजपाल मांडू, मास्टर प्रहलाद, राजपाल यादव, हरफूलखान भट्टी, मूर्ति देवी, कपिल कटारिया, संतोष पानू, अमित ग्रोवर, योगेश आर्य, रमेश चुघ सहित बहुत से कार्यकर्ता मौजूद थे।
प्रदेश की सत्ता अनुभवहीन लोगों के हाथों में: अभय चौटाला



प्रदेश की सत्ता आज जिन लोगों के हाथों में है, उन्हें प्रदेश की जनता की समस्याओं का ही पता नहीं है और जब उन्हें समस्याओं का ही पता नहीं तो उनसे उनका निवारण करने में कैसे सक्षम होंगे। इस वक्त हरियाणा प्रदेश की सत्ता पूर्णत्या अनुभवहीन लोगों के हाथों में है। जिन्हें न तो किसानों की समस्या का पता है और न ही आम आदमी की जरूरत का। प्रदेश की जनता के सामने इस अनुभवहीन सरकार की परतें खुलनी शुरू हो गई है। यह बात विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कही। वे मंगलवार को तोशाम रोड़ स्थित जिला पार्टी कार्यालय पर आयोजित जिला कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। 

उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को विधानसभा चुनाव परिणामों से हताश होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि इन चुनावों में प्रदेश की सभी विपक्षी पार्टियों ने इनेलो को सत्ता से बाहर रखने की साजिश रची थी। जिसमें वे कामयाब हो गए, क्योंकि पिछले दस वर्षों से इनेलो ने एक सशक्त विपक्ष की भूमिका निभाते हुए विधानसभा के अंदर व बाहर जनता की आवाज बुलंद की व कांग्रेस के काले कारनामों को जनता के सामने उजगार किया। इसी डर की वजह से जब कांग्रेस को यह लगने लगा कि उनकी सत्ता जाने वाली है और इनेलो को विधानसभा मेें पूर्ण बहुमत मिलेगा। उन्हें पता था कि जब इनेलो की सरकार आएगी तो भ्रष्टाचारियों से हिसाब लिया जाएगा। इसी से भयभीत होकर उन्होनें जहां जहां इनेलो के उम्मीदवार भारी बहुमत से जीतने वाले थे, वहां पर उन्होंने अपने वोट भाजपा प्रत्याशी को डलवाए। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में बेरोजगारों को छह हजार व नौ हजार रुपए प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता देने, कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतनमान देने व स्वामीनाथन आयोग रिपोर्ट को लागू करवाने प्रमुख रूप से शामिल किया था। परंतु सत्ता में आने के बाद भाजपा ने इन तीनों मुख्य बातों को नजरअंदाज कर दिया है। आज किसानों को यूरिया खाद के लिए सड़कों पर उतरना पड़ रहा है व जहां कहीं भी थोड़ी बहुत खाद मिलने की संभावना होती है, वहां कड़कड़ाती ठंड में लाइन में लगना पड़ता है जो धरती पुत्रों के लिए किसी सजा से कम नहीं है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे इस हार से मायूस ना हों व एक अच्छे विपक्ष की भूमिका निभाते हुए हर जनविरोधी फैसले का विरोध करें। उन्होंने कार्यकर्ताओं को आने वाले नए साल की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि नए साल में पार्टी अपने संगठन को नए स्तर से खड़ा करेगी व संगठन में मेहनती व निष्ठावान कार्यकर्ताओं को अहम जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला को अपनी पार्टी का कार्यकर्ता पार्टी के सांसदों व विधायकों से भी ज्यादा प्यारा है, क्योंकि कार्यकर्ता ही सांसद व विधायक बनाता है। सम्मेलन के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने गत दिवस जिला पार्षद ईश्वर बगला का मंडी आदमपुर में हुए कत्ल पर गहरा शोक प्रकट किया। इस अवसर पर प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि इंडियन नेशनल लोकदल जननायक चौधरी देवीलाल के द्वारा लगाया गया पौधा है। जिन्होंने अपनी जिंदगी में बहुत से राजनीतिक उतार चढ़ाव देखे है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे जनता के बीच में रहकर उनके सुख दुख में शामिल होते रहें। सम्मेलन को विधायक रणबीर सिंह गंगवा, विधायक वेद नारंग, विधायक अनूप धानक, पूर्व जिलाध्यक्ष उमेद लोहान, राजसिंह मोर, शीला भयाण, युद्ववीर सिंह आर्य ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर चतर सिंह, सतबीर वर्मा, एडवोकेटसतबीर सिसाय, इंद्र फौजी, राजीव शर्मा, यशपाल गोदारा, होशियार सिंह, सत्यवान बिछपड़ी, एचएस भादू, बहादुर सिंह नायक, डॉ दलबीर भारती, डॉ. राजकुमार दिनौदिया, डॉ. अनंत राम बरवाला, धारा सिंह, अशोक पूनिया, विक्रांत बागड़ी, राधिका गर्ग, निगम पार्षद राजपाल मांडू, मास्टर प्रहलाद, राजपाल यादव, हरफूलखान भट्टी, मूर्ति देवी, कपिल कटारिया, संतोष पानू, अमित ग्रोवर, योगेश आर्य, रमेश चुघ सहित बहुत से कार्यकर्ता मौजूद थे। 

Monday, December 22, 2014

इनेलो संगठन का जल्द ही किया जाएगा पुनर्गठन: अभय चौटाला

इनेलो पार्टी के संगठन का जल्द ही पुनर्गठन किया जाएगा और जिन पार्टी कार्यकर्ताओं ने पिछले लोकसभा व विधानसभा चुनावों में मेहनत और ईमानदारी से काम किया है उन्हें संगठन में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जाएगी। यह बात इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने सोमवार को रेवाड़ी व नारनौल में इनेलो कार्यकर्ताओं के जिलास्तरीय सम्मेलनों को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने हमेशा पार्टी कार्यकर्ताओं को विधायकों व सांसदों से भी ज्यादा मान-सम्मान दिया है और पार्टी प्रमुख के निर्देश पर सभी संघर्षशील व जुझारू कार्यकर्ताओं को संगठन के पुनर्गठन में प्रमुख स्थान मिलेगा। इन पार्टी बैठकों को चौधरी अभय सिंह चौटाला के अलावा इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पूर्व मंत्री जगदीश यादव, चौधरी सुनील यादव, रेवाड़ी से इनेलो प्रत्याशी रहे एवं पूर्व जिला प्रमुख सतीश यादव, बावल से प्रत्याशी रहे श्याम सुंदर सभ्रवाल, युवा इनेलो नेता किरणपाल यादव, कमला शर्मा, जिला पार्षद डॉ. राजपाल, टेकचंद सैनी सहित अनेक प्रमुख नेताओं ने सम्बोधित किया। 
नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह ने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि भाजपा ने इनेलो को सत्ता में आने से रोकने के लिए न सिर्फ डेरों की मदद ली बल्कि तरह-तरह का दुष्प्रचार व भ्रम फैलाकर लोगों को बहकाने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि अहीरवाल में राव इंद्रजीत ने अपने आपको भावी मुख्यमंत्री बताकर वोट मांगे जबकि प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में भाजपा ने अलग-अलग नेताओं को भावी मुख्यमंत्री बताकर लोगों को गुमराह करने का काम किया जिसके चलते इनेलो के करीब 15 उम्मीदवार तीन हजार से भी कम वोटों के अंतर से हार गए। उन्होंने कहा कि इनेलो प्रमुख चौधरी ओमप्रकाश चौटाला हमेशा कहा करते हैं कि उन्होंने तो सत्ता में रहकर भी संघर्ष करना चौधरी देवीलाल से सीखा है और हमने ही सदन में भाजपा सरकार से कांग्रेस शासनकाल के दौरान हुए घोटालों की जांच करवाए जाने की मांग उठाई। आज कांग्रेस पार्टी विपक्ष के नाते लोगों की आवाज उठाने की बात करती है जबकि प्रदेश की ज्यादातर समस्याएं कांग्रेस पार्टी की ही देन है और कांग्रेस के गलत फैसलों का खमियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है।


इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि भाजपा नेता रामबिलास शर्मा ने बावल में किसानों की महापंचायत में यह घोषणा की थी कि सरकार अगर उनके ऊपर बल्डोजर भी क्यों न चला दे तो भी वे जमीन अधिग्रहण नहीं करने देंगे। इसके बावजूद आज प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने पर बावल क्षेत्र के किसानों की 3664 एकड़ जमीन कौडिय़ों के भाव अधिग्रहण की जा रही है लेकिन भाजपा नेता मौन धारण किए हुए हैं। इनेलो नेता ने कहा कि बावल के किसानों की जमीन जबर्दस्ती अधिग्रहण करने नहीं दी जाएगी और किसानों के हित में इनेलो प्रभावित किसानों के साथ खड़ी रहेगी। अशोक अरोड़ा ने पूर्व मंत्री जगदीश यादव और सतीश यादव को किसानों से मिलकर उन्हें पार्टी की ओर से आश्वस्त करने की जिम्मेदारी दी है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार पूरी तरह अनुभवहीन सरकार है। प्रदेश के कृषि मंत्री आए दिन बयान देते हैं कि खाद की कोईकमी नहीं है जबकि कडक़ती सर्दी में सुबह पांच बजे खाद के लिए किसानों को लाइनों में लगना पड़ता है। आज किसानों को बिजली-पानी मिल नहीं रहा। भाजपा ने बुजुर्गों को दो हजार रुपए महीना पेंशन देेन का वायदा किया था अब उस वायदे को पूरा करने की बजाय सरकार पांच वर्षों में किस्तों में पेंशन दो हजार रुपए करने की बात करके लोगों को गुमराह कर रही है।
उन्होंने कहा कि बेरोजगारों को रोजगार देने सहित सभी वर्गों से अनेक लुभावने वायदे किए गए थे। लेकिन सरकार ने सत्ता में आने के बाद उन सब वायदों को ठण्डे बस्ते में डाल दिया बल्कि कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतनमान देने के वायदे से भी सरकार पीछे हट रही है। उन्होंने कहा कि हमने सरकार को अपने चुनावी वायदे पूरे करने के लिए समय दिया है और अगर तय समय में सरकार ने लोगों से किए वायदे पूरे नहीं किए तो इनेलो लोगों को साथ लेकर सरकार को वायदे निभाने के लिए मजबूर कर देगी। नारनौर के सम्मेलन में अभय सिंह चौटाला व अशोक अरोड़ा के अलावा पूर्व विधायक राव बहादुर सिंह, कमलेश सैनी, निर्मला तंवर, मंजू चौधरी, सतवीर यादव नुताना, सुरेश पटीखरा, रतन सिंह सोढी, कांशी राम गुज्जर, कर्मवीर अटेली, बीर सिंह गहली, जसबीर ढिल्लों, सुदेश ढिल्लों व सुमित्रा सोनी सहित अनेक नेताओं ने हिस्सा लिया। रेवाड़ी के सम्मेलन में विनोद अरोड़ा, रोशन लाल सैनी, रामकिशन छिल्लर, रामफल, सुरेंद्र कौर राठी, सुभाष गर्ग, मुबीन खान, शिखर चंद सैनी, ओमप्रकाश अरोड़ा, प्रकाश यादव व संदीप यादव ने हिस्सा लिया।

 यूरिया के लिए भटक रहा है किसान : प्रदीप चौधरी

इंडियन नैशनल लोकदल के कालका से पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी ने आज एक गांव में कहा कि किसान देश का अन्नदाता है और जब किसान ही यूरिया खाद् के लिए भटक रहा है, तो फिर वो प्रदेश की बिगड़ी व्यवस्था की पोल खोलने के लिए काफी है। इन्हीं हालातों से आज पंचकूला जिला के किसान जुझ रहे है। फसलों की अच्छी पैदावार के लिए किसानों को यूरिया की बेहद आवश्यकता है परंतु किसानों को देने के लिए सरकार के पास खाद् ही नही है, ऐसे में बच्चों की तरह जिस फसल को किसान पालता है और यहां तक जंगली जानवरों से जा जोखिम में डालकर फसल की रखवाली करता है और अब किसान की फसल यूरिया की भारी किल्लत के चलते प्रभावित हो रही है।प्रदीप चौधरी ने कहा कि किसान को न तो कांग्रेस सरकार फसल के लिए सरकारी सुविधाएं सही ढंग से दे पाई और न ही प्रदेश की नई भाजपा सरकार। उन्होंने कहा कि किसान को फसल की बिजाई से लेकर बेचने तक किसी भी सरकारी सुविधा का सही ढंग से फायदा नही मिल पाता है। जब किसान फसल की बिजाई करता है तो उसे सही समय पर न तो बीज मिलते है और न ही खाद् और फसल तैयार होने पर जब वो मंडी जाता है तो वहां उसे तय सरकारी रेट से भी कम कीमत में अपनी फसल बेचनी पड़ती है, यहां तक कई बार तो बिगड़ी सरकारी व्यवस्था के चलते निराशा होकर ही बिना फसल बेचे मंडी से बैंरग लौटना पड़ता है। अंत में इनैलो पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी ने सरकार से जिला के किसानों को सही समय पर यूरिया उपलब्ध करवाने की मांग की है और यह भी कहा कि यदि अब किसानों को खाद्न ही मिली तो फिर बाद में खाद् का उनके लिए कोई महत्व नही रहता है। इस दौरान उनके साथ पूर्व चेयरमैन दुर्गादत्त बेलवाली, श्याम सरपंच बूंगा, सुरिन्द्र, सुरेन्द्र कूंडू, अनिल उपाध्याय इत्यादि मौजूद थे

Sunday, December 21, 2014

 प्रदेश सरकार अपने चुनावी घोषणा पत्र के वायदे लागू करें : अभय चौटाला 

हजारों की संख्या में सुखराली के कम्यूनिटी सैन्टर में प्रतिपक्ष नेता अभय सिंह चौटाला ने आज कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए आने वाले समय की तैयारियों के लिए चर्चा की। उन्होंने प्रदेश की सरकार को घेरते हुए कहा कि प्रदेश की सरकार किसानों के खिलाफ काम कर रही है आज किसानों के सामने यूरिया एक बहुत बड़ी समस्या के रूप मूंह बाये खड़ी है पूरे प्रदेश में बारीश होने के उपरान्त भी यूरिया उपलब्ध ना होने की वजह से आज किसानों की फसल खराब हो रही है। सरकार को सत्ता में आये लगभग 2 महीने हो चुके है बिजली, पानी, सड़क, सीवर, शिक्षा, चिकित्सा, कानून व्यवस्था, बेरोजगारी, महिलाओं पर बढ रहे अत्याचार पर इस सरकार का कोई ध्यान नहीं है। इस सरकार में तो सभी विधायक व मंत्रियों में अपने सगे सम्बन्धियों को अच्छी जगह पर लगाने की होड़ सी लगी हुई है। बुढापा पैंशन के लिए भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में 2000 रूपये प्रतिमाह देने का वायदा किया था परन्तु सरकार ने वायदा खिलाफी करके बुजुर्गों की भावनाओं के साथ एक भददा मजाक किया है। ठीक इसी तरह कर्मचारियों की रिटायरमैंट की उम्र 60 साल से 58 साल कर दी है तथा इसके साथ पंजाब के समान वेतन लागू ना करके अपने घोषणा पत्र की वायदा खिलाफी की है। इंडियन नैशनल लोकदल ने इसका विरोध किया है। इसी तरह बेरोजगार युवाओं के साथ भी विश्वासघात किया है। बेरोजगारी भत्ता 9000 प्रति माह देने का जो वायदा अपने घोषणा पत्र में किया था वो बात आज ठण्डे बस्ते में पड़ी हुई है। आने वाले विधानसभा सत्र में इंडियन नैशनल लोकदल पार्टी इन सभी मुददों को लेकर सरकार से बहस करेगी उसके उपरान्त भी सरकार इन पर कोई ध्यान नहीं  देती है तो हरियाणा में मुख्य विपक्षी दल होने के नाते इनेलो सड़को पर उतर आयेगी। 
इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि प्रदेश में इनेलो कार्यकर्ताओं द्वारा मजबूती से चुनाव लड़ा गया परन्तु सरकार ना बनने पर कार्यकर्ता मायूस ना हो। हरियाणा प्रदेशी की जनता के हितों के लिए इनेलो सदा चाहे पक्ष में या विपक्ष में कार्य करती रही है। संगठन को मजबूत बनाने के लिए सभी ईकाईयों पर काबिल कार्यकर्ताओं को जिम्मेवारियां सौंपी जायेंगी जिससे इनेलो पार्टी मजबूती से आगे बढेगी। 
इस अवसर पर गांव सुखराली की तरफ से सम्मान के प्रतीक पगड़ी बांधकर तथा शॉल भेंट कर इनेलो नेताओं का जोरदार स्वागत किया। इस अवसर पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अवतार बढाना, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनन्तराम तंवर, पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचन्द गहलोत, गंगाराम पूर्व विधायक, रमेश दहिया, राजेश सूटा, महादेव शर्मा, प्रदेश प्रवक्ता दलबीर धनखड़, किशोर यादव, कृष्ण यादव, अटलबीर कटारिया, शमशेर कटारिया, नरेश सहरावत, राव मानसिंह, भूपेन्द्र सुखराली, धर्मबीर बाघोरिया, निहाल सिंह धारीवाल, योगेश शर्मा, चौ0 महासिंह, ईश्वर दास झांम, सतपाल पांचाल, बेगराज गुर्जर, कीर्ति प्रसाद, स्वर्ण धनखड़, कांसीराम सरपंच, देवा प्रधान, शशी धारीवाल सहित हजारों की संख्यां में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

24 दिसम्बर को इनेलो जिला स्तरीय कार्यकर्ता बैठक: दुष्यंत
शुक्रवार को देर सायं जींद के जिला इनेलो कार्यालय में दुष्यंत चौटाला सांसद हिसार ने कार्यकर्ताओं से कहा कि 24 दिसम्बर को इनेलो जिला स्तरीय कार्यकर्ता बैठक दोपहर बाद तीन बजे जाट धर्मशाला स्थित अर्बन इस्टेट जींद में होगी। उन्होने कार्यकर्ताओं से कहा कि इस मिंटिग में जिला भर से ज्यादा से ज्यादा पार्टी कार्यकर्ता पहुचें। जिस में मुख्यतिथी के तौर पर इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा एवं प्रतिपक्ष के नेता एव विधायक चौ० अभय सिंह चौटाला उपस्थित होगें। दुष्यंत ने कहा कि इस जिला स्तरीय बैठकों में कार्यकर्ताओं से आगामी रणनीति पर विचार विमर्श किया जाएगा। बैठक के बाद सांसद ने कार्यकर्ताओं की समस्या सुनकर उनका समाधान किया। 
इस अवसर पर स०चरणजीत सिंह रोड़ी सांसद सिरसा,विधायक प्रमेन्द्र सिंह ढुल,पिरथी नम्बरदार,डा० हरिचंद मिढा,पुर्व विधायक कलीराम पटवारी,सुरजभान काजल,रामफल कुण्डू एवं प्रदीप गिल,दयानंद कुण्डु,सुमित्रा देवी, शावित्री मडोत्रा,कृष्णा बधाना,भुपेन्द्र जुलानी,नरेश आसन,किताब सिंह ढाण्डा,रामपाल सिंह राणा,नरेश भनवाला,बिजेन्द्र सिंह रेढू,शमशेर सिंह ढाण्डा,बलराज नगुंरा,बिटटुनैन,अजमेर रेढु,देशराज माटा,महेन्द्र लोधर,मौजीखान,किताब सिंह भनवाला,शमशेर नगुरा,सतबीर पड़ाना,जसमेर रजाना,कुलदीप गिल, अनुराग खटकड़, रणधीर चहल, सुरजभान सिहाग, नफे सिंह मलिक, सोनू गुलिया,सुशील टुर्ण, जिला कार्यालय सचिव गुरदीप सांगवान इत्यादि मौजूद थे।
नेता प्रतिपक्ष ने सिरसा आपराधिक मुकद्दमे में कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री को लिखा पत्र
हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को एक पत्र भेजकर सिरसा में 16 अक्तूबर को दर्ज मामले में पुलिस द्वारा अभी तक कोई कार्रवाई न किए जाने और अपराधियों के खुलेआम घूमने व पीडि़तों को लगातार जान से मारने की धमकियां देने का मामला उठाते हुए उन्हें तुरंत इस ओर ध्यान देकर मुकदमे की जांच सिरसा जिले से बाहर किसी अन्य जिले में स्थानांतरित किए जाने और राजपत्रित अधिकारी के अधीन विशेष जांच टीम गठित कर एक समय सीमा के भीतर जांच मुकम्मल करवा दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई किए जाने की मांग की है। नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि 16 अक्तूबर को सिरसा सदर थाना में मुकद्दमा नम्बर 400 धारा 323/307/148/149/188 व शस्त्र कानून की धारा 25/27/54/59/34बी के अंतर्गत दर्ज किया गया था। यह मुकद्दमा बूथ नम्बर 175 के चुनाव एजेंट संदीप पुत्र जसपाल की शिकायत पर सिरसा से भाजपा प्रत्याशी सुनीता सेतिया के बेटे गोकल सेतिया, अनमोल सोढी, मुन्ना व 10-15 अन्य लोगों के खिलाफ दर्ज हुआ था जिन्होंने चुनाव के दिन निहत्थे व शांतिपूर्वक रूप से चुनाव में अपने कर्तव्य निभा रहे संदीप व अन्य व्यक्तियों पर हथियारों से लैस होकर कातिलाना हमला किया था। उन्होंने कहा कि बेहद खेद की बात है कि आज तक इस केस की न तो कोई तफतीश हुई और न ही किसी से कोई पूछताछ हुई है। सारे के सारे मुल्जिम सरेआम घूम रहे हैं और पीडि़तों को लगातार जान से मारने की धमकियां दे रहे हैं।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि इस केस के संबंध में पीडि़त शिकायकर्ता संदीप कई बार एसपी सिरसा से मौखिक व लिखित शिकायत कर चुके हैं लेकिन ऐसा लगता है कि स्थानीय पुलिस दोषियों के गैर-कानूनी दबाव में काम कर रही है और मुकदमे की जांच पर कोई ध्यान नहीं दे रही। नेता प्रतिपक्ष ने संदीप पुत्र जसपाल की शिकायत को साथ संलग्न कर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से आग्रह किया कि वे मामले के तथ्यों और सार्वजनिक हित को ध्यान में रखते हुए इस मामले की जांच किसी अन्य जिले में तब्दील कर किसी राजपत्रित अधिकारी के अधीन एक विशेष जांच टीम गठित कर निश्चित समय सीमा के भीतर जांच करवाएं और शीघ्र से शीघ्र दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाए।

Saturday, December 20, 2014

उचाना में दुष्यंत चौटाला ने विकास कार्यों के लिए दिए 40 लाख

 हिसार लोकसभा क्षेत्र के सांसद दुष्यंत चौटाला ने उचाना विधानसभा के विभिन्न गांवों में विकास कार्यों के लिए 40 लाख रूपये की ग्रांट जारी की है। शुक्रवार देर सांय जींद स्थित पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं की मीटिंग को संबोधित करते हुए यह घोषणा की।
सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उचाना विधानसभा के अधिकतर गांव विकास के मामले में बेहद पिछड़े हुए हैं। पिछले कई सालों से इन गांवों में विकास की एक इंट भी नहीं लगी है। उन्होंने बताया कि गोईयां गांव के जोहड़ पर गऊघाट बनाने के लिए 3 लाख 51 हजार रूपये तथा शामदो गांव के दोनों तालाबों पर गऊघाट बनाने के लिए 7 लाख रूपये की राशि जारी कर दी गई है। इसी तरह भांैसला गांव की रामरख पत्ती वाल्मीकि चौपाल के लिए एक लाख रूपये, छात्तर गांव की गौशाला के लिए 11 लाख रूपये तथा सुरबुरा गांव तालाब की चारदीवारी के लिए पांच लाख रूपये की ग्रांटी गई है।
सांसद चौटाला ने बताया कि खांडा गांव के तालाब की में गऊघाट बनाने के लिए तीन लाख 50 हजार तथा करसिंधू गांव की धानक चौपाल के लिए 2 लाख व वाल्मीकि समाज की गली बनाने के लिए पांच लाख रूपये की राशि जारी कर दी गई है। सांसद चौटाला ने बताया कि इसके अलावा तीन लाख रूपये की ग्रांट विभिन्न कामों के लिए जारी की गई है।
दुष्यंत चौटाला ने जिला उपायुक्त को उचाना हलके के गांवों में पीने की पानी की समस्या तुरंत हल करने को कहा। उन्होंने कहा कि गांव घोघडिय़ा, कहसून, कालता, मोहनगढ़ छापड़ा, भुसलां, धनखड़ी, करसिंधू, कुचरानाखुर्द, कुचरानाकलां, बधाना गांव में पीने के पानी की गंभीर समस्या है।
सांसद ने उचाना हलके की नौ सड़कों को प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत मंजूरी के लिए प्रस्ताव भेजा। जिन सड़कों का चयन इस योजना के लिए करने के लिए भेजा है, उनमें उचाना मंडी से भोंगरा बुडायन होते हुए खेड़ी चोपटा तक, बुडायन से मखंड होते हुए बनभौरी तक, बड़ौदा से रोजखेड़ा, घोघडिय़ा, बधाना होते हुए नगूरा तक, नगूरा से डयोला तक, डूमरखां कलां से सुदकैण कलां, काबरछा, अलिपुर होते हुए गेंडाखेड़ा तक, छात्तर से डयोला तक, सुदकैण कलां से सीसर होते हुए कैथल रोड़ तक, अलेवा से शामदो तथा कुचराना खुर्द से करसिंधू तक शामिल हैं।
इसके अलावा सांसद दुष्यंत चौटाला ने उचाना कस्बे में गंदगी उठाने के लिए नगरपालिका को ट्रैक्टर-ट्राली देने की घोषणा की। इस अवसर पर सिरसा के सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, जींद के विधायक डा. हरिचंद मिढ़ा, जुलाना के विधायक परमिंद्र सिंह ढुल, नरवाना के विधायक पिरथी नंबरदार, पूर्व विधायक कलीराम पटवारी, पूर्व विधायक रामफल कुंडू, सुरजभान काजल सहित अन्य पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Friday, December 19, 2014

हल्के का विकास करना मेरा लक्ष्य : माखन लाल सिंगला 



इनेलो विधायक मक्खन लाल सिंगला ने आज दूसरे दिन भी अपने धन्यवादी दौरे के दौरान गांव कुक्कड़थाना, मोचीवाली, डिंग, गदली, नारायणखेड़ा, नहराना, कैरांवाली, शेरपुरा, कुसुंबी व कंवरपुरा की ग्रामीण जनता का आभार व्यक्त हुए कहा कि वे जनता के बीच रहकर उनके सुख-दुख में हमेशा साथ रहेंगे तथा जनता के हितों की लड़ाई लड़ते रहेंगे। लोगों ने भी विधायक को विश्वास दिलवाया कि वे इनेलो में ही रहकर संघर्ष करेंगे तथा सफलता को प्राप्त करेंगे। इस दौरान डिंग के लोगों ने विधायक को शिकायत करते हुए कहा कि गांव में लोगों को राशन डिपो पर दाल, आटा, चावल व चीनी जैसी जरूरी चीजें नहीं मिल रही है। जिससे गरीब परिवारों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों ने कहा कि खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को बार-बार शिकायत करने पर भी उन्होंने इस बात की ओर कभी ध्यान नहीं दिया। इसके अलावा कई गांवों के लोगों ने विधायक से शिकायत की कि उन्हें खेतों हेतु प्रयाप्त मात्रा में खाद उपलब्ध नहीं हो रही है और खाद लेने के लिए घंटों लंबी-लंबी कतारों में लगना पड़ता है। विधायक ने लोगों को उनकी बात उच्चाकारियों तक पहुंचने का आश्वासन दिया।


 विधायक ने कहा कि हलका सिरसा में विकास करवाना ही उनका लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि मुख्य रूप से बिजली-पानी व ग्रामीण आचंल में परिवहन व्यवस्था को लेकर वह शीघ्र ही संबंधित अधिकारियों से मिलेंगे व खाद हेतु हरियाणा के कृषि मंत्री व मुख्यमंत्री को पत्र लिखेंगे। इनेलो विधायक ने नरमा, कपास व धान के घटने हुए दामों पर भी चिंता प्रकट की। इन धन्यवादी सभाओं को इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, इनेलो नेता वीरभान मेहता, महिला विंग की जिलाध्यक्ष कृष्णा फोगाट, हलकाध्यक्ष रणधीर जोधकां ने भी संबोधित किया। इस दौरे के दौरान उनके साथ सह प्रवक्ता महावीर शर्मा, विकल प्रचार, सुरेंद्र महेरिया, अरविंद्र इंदौरा, ओम डाबर, वीरभान सोनी, अशोक कुमार, देवराज मोयल, कीर्र्ति खलेरी, नरेश सतीजा, विनोद बिजारणियां सहित अनेक पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता साथ थे। 
 पार्टी को धारदार व मजबूत बनाने के लिए जिला स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन

वरिष्ठ इनेलो नेता अनन्तराम तंवर की अध्यक्षता में न्यू कॉलोनी स्थित राजेश सूटा के निवास स्थान पर 
जिला स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन की तैयारियों के लिए आवश्यक मिटिंग बुलाई गई। जिसमें आगामी 21 दिसम्बर रविवार को दोपहर 2 बजे सुखराली कम्यूनिटी सैन्टर में आयोजित होने जा रहे कार्यकर्ता सम्मेलन के बारे विचार विमर्श किया गया। हरियाणा विधानसभा चुनाव के बाद पहली बार गुडग़ांव में होने जा रही इस जिला स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन को सफल व आकर्षक बनाने हेतु गुडग़ांव के इनेलो नेताओं ने आपस में विचार विमर्श किया। उक्त जानकारी इनेलो प्रदेश प्रवक्ता दलबीर धनखड़ ने प्रैस के नाम जारी अपने बयान में कहे। उन्होंने बताया कि आगामी सम्मेलन को मुख्य अतिथी हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला, प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व अन्य वरिष्ठ नेता कार्यकर्ताओं को दिशा निर्देश देंगे। कार्यकर्ता सम्मेलन को लेकर जिले के इनेलो कार्यकर्ताओं में भारी जोश व उत्साह है। इस सम्मेलन में पार्टी के हजारों कार्यकर्ता पार्टी को मजबूत करने की शपथ लेंगे और जिस तरह इनेलो पार्टी जनता की पिछले 10 वर्षों से आवाज उठाती जा रही है उसी तरह आगे भी हरियाणा प्रदेश की जनता के हितों के लिए लड़ती रहेगी क्योंकि इनेलो का एक ही लक्ष्य है लोगों को समय पर मूलभूत सुविधाऐं दिलाना और जो कार्य जनता के विपरित हो उनके खिलाफ आवाज उठाना ताकि मौजूदा सरकार जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए कार्य करें। श्री धनखड़ ने बताया कि इस अवसर पर हरियाणा विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष गोपीचन्द गहलोत ने कहा कि हरियाणा प्रदेश के किसानों साथ प्रदेश सरकार द्वारा यूरिया, बिजली, पानी को लेकर जो अनदेखी की जा रही है इनेलो इसको किसी भी कीमत पर बर्दास्त नहीं करेंगी। आज ऐसा प्रतीत हो रहा है कि पहले की कांग्रेस सरकार व इस सरकार में कोई अन्तर ही नजर नहीं आ रहा है जैसे कि बावल के अन्दर 3664 एकड़ जमीन जबरदस्ती अधिग्रहण की है। इंडियन नैशनल लोकदल पार्टी ऐसे कार्यों हेतु सरकार की घोर निन्दा करती है। किसानों की इस मांग को सरकार तुरन्त प्रभाव से स्वीकार करें अन्यथा उनकी जमीन वापिस की जाये वर्ना इंडियन नैशनल लोकदल पार्टी सड़कों पर उतरने से गुरेज नहीं करेगी। इस अवसर पर राजेश सूटा, रमेश दहिया, पूर्व विधायक गंगाराम, अटलबीर कटारिया, शमशेर कटारिया, किशोर यादव, भूपेन्द्र सुखराली, नरेश सहरावत, शशी धारीवाल, जयभगवान कटारिया एडवोकेट आदि उपस्थित थे। 


दुष्यंत चौटाला ने की केंद्रीय खेलमंत्री सरबंदा सोनोवाल से मुलाकात


 टेबल टेनिस में प्रदेश के खिलाडिय़ों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चमकाने के लिए हरियाणा में टेबल टेनिस की एकेडमी खुलवाने की मांग को लेकर हिसार के सांसद व भारतीय टेबल टेनिस के सीनियर वाईस प्रेसीडेट दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय खेलमंत्री सरबंदा सोनोवाल से नई दिल्ली में उनके कार्यालय में मुलाकात की और एक मांंग सौंपा। सांसद दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय खेल मंत्री से टेबल टेनिस खेल को बढ़ावा देने के लिए देश के चार कोनों में एक-एक टेबल टेनिस एकेडमी खोलने की मांग की। उन्होंने मांग की कि  केंद्र सरकार इस दिशा में पहले करते हुए पायलट एकेडमी के तौर पर हरियाणा में पहली एकेडमी खोले।
भारतीय टेबल टेनिस के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट दुष्यंत चौटाला ने इस बारे में केंद्रीय खेल को एक मांग-पत्र सौंपा और खेलों को बढ़ावा देने के लिए उनसे विस्तार से बातचीत की। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि खेलों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का नाम चमकाने के लिए बड़े स्तर पर गंभीर प्रयास करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि टेबल टेनिस को बढ़ावा देने के लिए वर्तमान में केवल तीन एकेडमी आगरा, इंदौर व कलकत्ता में हैं। टेबल टेनिस में वर्चस्व रखने वाले चीन, ताइवान, जापान जैसे देशों का मुकाबला करने के लिए देश में और गंभीर प्रयास करने चाहिए।
युवा सांसद ने कहा कि हरियाणाा के खिलाडिय़ों ने ओलम्पिक, राष्ट्रमंडल, ऐशियाई खेलों की एथलेटिक्स, बाक्सिंग, शूटिंग, कुश्ती, कब्बडी, भारत्तोलन, योग व ताइक्वाडो प्रतिस्पर्धाओं में देश के लिए न केवल सर्वाधिक मेडल जीते हैं बल्कि देश के लिए हरियाणा ने  आगे बढ़ कर प्रतिनिधित्व भी किया है। सांसद ने कहा कि 2020 ओलम्पिक खेलों में भारत अधिक से अधिक मेडल जीते, इसके लिए केंद्र सरकार को अभी से खिलाडिय़ों की तैयारियां, आधारभूत ढांचे और उनकी दी जाने वाली सुविधाओं बारे गंभीरता दिखानी चाहिए। टेबल टेनिस के खिलाडिय़ों के लिए देश के चारों हिस्सों में अलग-अलग खेल एकेडमी की अभी से खोलनी चाहिए।
सांसद दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय खेल मंत्री से मांग की कि टेबल टेनिस में भी देश के लिए मेडल जीतने में हरियाणा की अहम भागीदारी के लिए प्रदेश में टेबल टेनिस की एक एकेडमी खोली जाए ताकि पहल से खेलों का सिरमौर रहा हरियाणा देश के लिए और मेडल जीत कर आए। 

Thursday, December 18, 2014

सरकार करे सड़कों और लिंक मार्गों को तुरंत दुरुस्त: ढुल


जुलाना के विधायक श्री परमेन्द्र सिंह ढुल ने आज जीन्द डिप्टी कमिश्नर श्री अजीत जोशी के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमन्त्री श्री मनोहरलाल खट्टर को हल्के की जर्जर सड़क व्यवस्था का तुरंत सुधारीकरण करने की मांग हेतू पत्र मांगपत्र सौंपा। पत्र के माध्यम से उन्होंने उपायुक्त से मिलकर हल्के के अधीन तमाम सडकों को तुरंत दुरूस्त व चलने लायक बनाए जाने की मांग की। 
इस दौरान ढुल ने बताया की जुलाना हलके के अनेक गांवों की 200 किमी से ज्यादा सडकों की हालत बेहद पतली है। सडकों की रोडी बिखरी पड़ी है। जिसके कारण वाहन तो दूर लोगों के पैदल चलने के लायक भी सड़कें नहीं बची है। सडकों में बने गड्डों के कारण रोजाना दुर्घटनाए हो रही है। यह भी नहीं है कि इस बारे में ग्रामवासी जिला प्रशासन को सूचित न करते हो। उन्होंने बताया की वह खुद अनेकों बार सम्बंधित अधिकारीयों से मिलकर विभिन्न सड़कों से जुड़ी  समस्याओं को उनके समक्ष रख चुके हैं मगर उसके बाद भी इलाके की सडकों की हालत बेहद पतली है।
उन्होंने बताया की सफीदों रोड़, गोहाना रोड़ और रोहतक रोड़ के अलावा जुलाना हल्के से सम्बंधित विभिन्न लिंक मार्गों जिनमे मुख्यतः रोहतक रोड से अकालगढ़ वाया बुडाखेड़ा, हथवाला से लिजवाना कलां, लिजवाना कलां से नन्दगढ़ वाया मेहरड़ा, लिजवाना कलां से नन्दगढ़ वाया फतेहगढ़, करसोला से शामलो कलां वाया रामकली, रोहतक रोड़ से निडाना वाया गुसाईंखेड़ा शामलो कलां ढिगाना, रोहतक रोड़ से शामलो खुर्द वाया अनुपगढ खेमाखेड़ी, रोहतक रोड से खरैंटी वाया गढ़वाली, गढ़वाली से झमोला, राजगढ़ से देशखेड़ा, जुलाना से मालवी, मालवी से दौरड वाया कमाच खेड़ा, दौरड से रोहतक रोड वाया ब्राह्मणवास, करेला से बुआना वाया खरैंटी, बुआना से रोहतक रोड़ वाया बराड़खेड़ा और बुराडेहर, किनाना से बीबीपुर अड्डा और रामगढ़ अड्डा, रामराय से बागनवाला, गोहाना रोड़ से रधाना, गोहाना रोड़ से सुन्दरपुर वाया बराहखुर्द, सिन्धवीखेड़ा से खरकरामजी और बराहखुर्द, निडाना से खरकरामजी और आसन वाया चाबरी, आसन से पिल्लूखेड़ा, सिवाहा से पिल्लूखेड़ा, सिवाहा से सफीदों रोड़, सफीदों रोड़ से सुन्दरपुर वाया पाथरी आदि शामिल हैं, पूर्ण रूप से जर्जर हो चुकी हैं।  
विधायक ढुल ने बताया की इनमें से काफी मार्गों पर तो आवागमन संभव ही नहीं है। ऐसे में प्रशासन और सरकार की जिम्मेवारी बनती है की उपरोक्त लिखे तमाम मार्गों को पुनः उपयुक्त मुरम्मत कर स्थापित किया जाय जिससे ग्रामवासियों को परेशानी का सामना न करना पड़े। इस दौरान विधायक ढुल के साथ जगबीर मलिक, सुरेन्द्र भनवाला, धर्मेन्द्र सिंहमार, पण्डित धर्मराज, देवेन्द्र निडाना, विपीन सिंहमार, गुरदीप सांगवान  आदि उपस्थित रहे।      
खाद की आपूर्ति के लिए सीएम और कृषि मंत्री से बात करूंगा : सिंगला


जिला में खाद की कमी के बारे मैं राज्य के कृषि मंत्री व मुख्यमंत्री से बात करुंगा तथा सिरसा के विकास के लिए विशेषतौर पर बिजली व सड़कों की दुर्दशा का मामला विधानसभा में उठाऊंगा। यह बात सिरसा से इनेलो विधायक मक्खन लाल सिंगला ने अपने धन्यवादी दौरे के दौरान गांव खाजाखेड़ा, श्मशाबादपट्टी, केलनियां, रामनगरियां, सलारपुर, नटार, रंगड़ी, शहीदांवाली, मोडियाखेड़ा, चौबुर्जा, धिंगतानियां आदि गांवों में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कही। गांवों में पहुंचने पर विधायक को फूल-मालाएं डालकर उनका स्वागत किया। इस मौके पर ग्रामीणों ने विधायक को अपनी समस्याओं के बारे बताया। श्री सिंगला ने कहा कि वह हलका सिरसा के लोगों का तहदिल से आभार व्यक्त करते है कि उन्होंने मुझे भारी मतों से जिताकर विधानसभा में भेजा।


उन्होंने कहा कि वह जनता के सेवक बनकर काम करेंगे। विधायक ने कहा कि वे जनता की समस्याओं को सुनने हेतु डबवाली रोड़ स्थित इनेलो जिला पार्टी कार्यालय में सुबह 9 बजे लेकर सायं 5 बजे तक जनता के लिए उपलब्ध रहेंगे। इनेलो नेता ने कहा कि वह हलका सिरसा की जनता के हर सुख-दुख में शरीक होते रहेगे। इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन ने ग्रामीणों का धन्यवाद करते हुए कहा कि पहले उन्होंने लोकसभा में इनेलो का साथ देकर अपना सांसद चुना और दूसरी बार विधानसभा में इनेलो का विधायक चुनकर पार्टी के प्रति अपना विश्वास जताया। उन्होंने कहा कि इनेलो हमेशा ही सिरसा के विकास के लिए प्रयासरत रही है और भविष्य में भी जनता की समस्याओं को हल करने हेतु उनके साथ हमेशा रहेगी। इस दौरान जिलाध्यक्ष ने ग्रामीणों को आने वाली 24 दिसंबर को प्रात: 9:30 बजे इनेलो जिला कार्यालय में होने वाली जिला स्तरीय कार्यकर्ताओं की बैठक में भी शामिल होने का न्यौता दिया। उन्होंने बताया कि इस बैठक को ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला व पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा संबोधित करेंगे। इस धन्यवादी दौरे के दौरान उनके साथ इनेलो नेता वीरभान मेहता, हलका अध्यक्ष रणधीर जोधकां, नगर परिषद के चेयरमैन सुरेश कुक्कू, महिला विंग जिलाध्यक्षा कृष्णा फोगाट, ब्लॉक समिति चेयरमैन अशोक मेहता, प्रवक्ता महावीर शर्मा, पार्षद रामनिवास बोमरा, कमलेश सिधू, देवराज मोयल, हरबेल सिंह खाजाखेड़ा, सतबीर कड़वासरा, सुरेंद्र महेरिया, अरविंद्र इंदौरा आदि पदाधिकारी साथ थे। 

Wednesday, December 17, 2014

केंद्रीय बिजली मंत्री पीयूष गोयल से मिले दुष्यंत चौटाला

इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला हिसार लोकसभा क्षेत्र की ढाणियों में रहने वाले हर परिवार तक बिजली व हर ट्यूबवैल को बिजली का कनेक् शन उपलब्ध करवाने को लेकर बेहद संजीदा हैं। हर ढाणी जगमग हो, हर ट्यूबवैल बिजली से चले, इस सपने को पूरा करने के लिए सांसद दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय बिजली मंत्री पीयूष गोयल से नई दिल्ली में उनके कार्यालय में मिले और पत्र सौंपा। इस पत्र के माध्यम से युवा सांसद ने केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के तहत हिसार लोकसभा क्षेत्र में प्राथमिकता के आधार पर चालू वित्त वर्ष में अलग से धनराशि उपलब्ध करवाने की मांग की है। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय बिजली मंत्री पीयूष गोयल को सौंपे पत्र में कहा है केंद्र सरकार की ग्रामीण विद्युतीकरण योजना के तहत हरियाणा के अधिकांश गांवों तक बिजली पहुंच चुकी है परन्तु खेतों में मकान बना कर रहने वाले अधिकांश लोगों को आज तक इस योजना का लाभ नहीं मिला है। पत्र में कहा गया है कि उनके हिसार संसदीय क्षेत्र में आज भी 20 से 30 प्रतिशत लोग खेतों में मकान बना कर (ढाणियों)रहते हैं। इनमें से अधिकांश ढाणियों में बिजली के कनेक् शन न होने के चलते अंधेरा छाया रहता है और वहां रहने वाले परिवारों को रात को रोशनी करने के लिए दीया या मोमबत्ती जला कर जीवन बसर करना पड़ रहा है। 
ऐसी ही स्थिति टयूबवेलों की है। अधिकांश ट्यूबवेल डीजल इंजन से चलाए जाते हैं जोकि किसानों के लिए काफी मंहगा साबित होते हैं। दूसरी ओर केंद्र सरकार ने हरियाणा में इस बार कम मानसून के चलते प्रदेश को सुखाग्रस्त घोषित कर दिया है। ऐेसे हालात में इंजन से चलने वाले ट्यूबवेलों को बिजली से जोडऩा किसानों की बड़ी आवश्यता बन गई है। 
इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि केंद्र सरकार द्वारा गांवों में विद्युतीकरण व टयूबवेल के कनेक्शन देने के लिए राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना व दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना चलाई जा रही है। सांसद दुष्यंत ने केंद्रीय बिजली मंत्री से मांग की है कि इन योजनाओं के तहत हिसार लोकसभा क्षेत्र के सभी ढाणियों व टयूबवेल कनेक् शन के लिए अलग से बजट का प्रावधान करें ताकि ढाणियों में रहने वाले परिवारों को रोशनी मिल सके और किसानों को कम लागत तचाई के लिए टयूबवेल से पानी मिल सके। यहां बता दें कि सांसद दुष्यंत चौटाला अपने सांसद निधि कोष से भी ढाणियों में बिजली के कनेक् शन उपलब्ध करवाने को प्राथमिकता दे रहे हैं और उन्होंने अपने सांसद निधि कोष से लाखों रूपये खर्च किए हैं। 
21 दिसम्बर से होंगी इनेलो की जिलास्तरीय बैठकें

 हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष एवं इनेलो के वरिष्ठ नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा 21 दिसम्बर से प्रदेशभर में जिलास्तर पर इनेलो कार्यकर्ताओं की बैठकों को सम्बोधित करेंगे। इन बैठकों में इनेलो के स्थानीय नेता एवं विधायकों के अलावा पार्टी कार्यकर्ता भी हिस्सा लेंगे और पार्टी की ओर से आगामी रणनीति पर कार्यकर्ताओं से व्यापक विचार विमर्श किया जाएगा। इनेलो नेता 21 दिसम्बर को मेवात व गुडग़ांव, 22 दिसम्बर को रेवाड़ी व महेंद्रगढ़, 23 दिसम्बर को भिवानी व हिसार, 24 दिसम्बर को सिरसा, फतेहाबाद व जींद, 25 दिसम्बर को कैथल व अम्बाला, 26 दिसम्बर को पंचकूला व यमुनानगर और 27 दिसम्बर को कुरुक्षेत्र व करनाल में इनेलो कार्यकर्ताओं की जिलास्तर बैठकों को सम्बोधित करेंगे।
दुष्यंत चौटाला ने कंपनी संशोधन बिल 2014 का किया समर्थन

 इनेलो के हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने लोकसभा में बुधवार को पेश कम्पनीज संशोधन बिल 2014 का समर्थन करते हुए इसमें भविष्य में और संशोधन लाने का सुझाव दिया। दुष्यंत चौटाला ने इस बिल पर बहस में भाग लेते हुए कहा कि केंद्र सरकार का नया बिल स्वागत योग्य है पर इसमें कुछ और संशोधन होते और बेहतर परिणाम होते। 
देश के सबसे युवा सांसद ने कहा कि पूरी दूनिया में निवेश करने वाली कंपनी की प्राथमिकता सूची में हमारा देश 142 वें नंबर पर है। उन्होंने इन हालातों के लिए पिछले यूपीए सरकार को जिम्मेवार बताया। सांसद ने इस संशोशित बिल का सदन में प्रस्ताव लाने के लिए वित्तमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि बड़ी राष्ट्रीय पार्टियों ने आजादी 
के बाद राज किया है और इनके द्वारा बिल ड्राफ्ट किए गए। उन्होंने कहा कि आज तक विदेशी निवेश बढ़ाने के लिए व्यापारिक ढांचे की जो जरूरत थी उन्हें न तो हम समझ पाए और न ही आज तक वह ढांचा खड़ा कर पाए। उन्होंने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री के मेक इन इंडिया के सपने को पूरा करने के लिए और संशोधन लाने पड़ेंगे। उन्होंने उम्मीद जताई कि जो आगामी समय में संशोधन बिल आएंगे, वे बिल इतनी गंभीरता से लाए जाएं ताकि र संशोधनों की जरूरत न पड़े और विदेशी निवेश व औद्योगिक निवेश हमारे देश में बढ़े तथाबड़े उद्योगों के साथ साथ लघु उद्योग को भी बढ़ावा मिले। 
दुष्यंत चौटाला ने कहा कि नए उद्योग लगेंगे तो युवाओं को रोजगार मिलेंगे और देश को ज्यादा रेवेन्यू मिलेगा। उन्होंने सीएसआर का जिक्र करते हुए सुझाव दिया कि जिस क्षेत्र में कंपनी ने निवेश कर रखा है, निर्धारित 2 प्रतिशत सीएसआर संबंधित कंपनी को आसपास व संसदीय क्षेत्र में स्किल डेवलेपमेंट अथवा अन्य रोजगारपरक कार्यकर्मों पर खर्च करना चाहिए। उन्होंने सुझाव दिया कि कंपनी को अपने विवेकानुसारदो प्रतिशत बढ़ा कर इसे आसपास के क्षेत्र में खर्च करना चाहिए। 
कल युवा सांसद ने एनसीआर संशोधन बिल पर बोलते हुए हिसार के मेगनेट सिटी को लेकर पिछले 11 वर्षों के दौरान कोई गंभीरता न दिखाने का जिक्र किया। इसके अलावा उन्होंने  कहा कि दिल्ली में यातायात के बढ़ते दबाव के चलते गुडग़ांव, फरीदाबाद व सोनीपत व बहादुगढ़ में लगातार यातायात का बोझ बढ़ रहा है परन्तु दिल्ली की ओर इस बोझ को कम करने के लिए कोई ठोस नीति नहीं बनाई गई। 

Tuesday, December 16, 2014

विधायकों के लिए विकास के लिए हो फंड का प्रावधान-नैना चौटाला

 डबवाली से इनेलो विधायक श्रीमती नैना सिंह चौटाला ने हरियाणा के विधायकों को अपने हलके के विकास के लिए अलग से फंड का प्रावधान करने की वकालत की है। उन्होंने कहा है कि मौजूदा प्रावधानों के मुताबिक हरियाणा में हलके के विकास कार्यों के लिए विधायक सरकारी कोष से एक पैसा भी खर्च नहीं कर सकता। इसके मद्देनजर श्रीमती नैना चौटाला ने प्रदेश के मुख्यमंत्री व वित्तमंत्री को पत्र लिखा है। 
12 दिसंबर को लिखे गए इस पत्र में डबवाली की विधायक नैना चौटाला ने सीएम से मांग की है कि सांसदों के एमपीलैड्स की तर्ज पर प्रदेश के विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों से चुन कर आए जनप्रतिनिधियों के अनुदान राशि का प्रावधान हो। पत्र में कहा गया है कि दिल्ली, गुजरात, मध्यप्रदेश सहित कई अन्य राज्यों में विधायकों को सरकारी कोष से सालाना ग्रांट आवंटित करने का प्रावधान है जबकि हरियाणा में विधायकों के लिए ऐसी कोई वित्त व्यवस्था नहीं है। नैना चौटाला का कहना है कि बिना किसी ग्रांट के जनता के प्रति जिम्मेवारियों को पूरा नहीं किया जा सकता। उनका कहना है कि जिस हलके जनता ने अपने विधायक को पांच वर्ष के लिए चुन कर भेजा है और वह अपने विवेकाधीन कोटे से मूलभूत सुविधाओं के लिए धन उपलब्ध करवाने में समर्थ नहीं है तो फिर जनप्रतिधि हलके के प्रति अपनी जवाबदेही के साथ न्याय नहीं कर सकता। 
इनेलो विधायक ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर व वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु से अनुरोध है कि प्रदेश के सभी 90 विधायकों को संबंधित विधानसभाओं के विकास के लिए पांच करोड़ रूपये प्रति वर्ष ग्रांट के रूप में देने का प्रावधान करें। ऐसा प्रावधान होने से जहां प्रदेश के खजाने पर प्रति वर्ष 450 करोड़ रूपये का अतिरिक्ति बोझ पड़ेगा वहीं प्रदेश की जनता को मूलभूत सुविधाओं के लिए दर-दर की ठोकरें नहीं खानी पड़ेगी।