Thursday, July 31, 2014

सीएम हुड्डा सोनीपत जिले के खिलाड़ियों के साथ कर रहे हैं भेदभावः राजकुमार


सोनीपत। सोनीपत जिला पिछले दस साल से क्षेत्रवाद की भेंट चढ़ता आ रहा है। जिसमें रोजगार व विकास के क्षेत्र में पक्षपात हुआ है लेकिन हद तो यह हो गई कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने सोनीपत जिले के खिलाडिय़ों के साथ अन्यायपूर्ण फैसला लेकर स्थानीय साई सैंटर से कुछ खेलों को रोहतक ट्रांसफर करने के आदेश दिया है। जिसको किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। यह बात इनैलो प्रदेश प्रचार सचिव राजकुमार रिढ़ाऊ ने भारतीय खेल प्राधिकरण चौधरी देवीलाल उतरी क्षेत्रीय केन्द्र, चौहान जोशी में प्रदर्शन कर रहे खिलाडिय़ों व उनके अभिभावकों तथा खेल प्रेमियों को संबोधित करते हुए कही।  प्रदर्शन कर रहे इनैलो जिला प्रवक्ता पवन तनेजा,देवी सिंह मलिक, बिट्टू हुड्डा, मुकेश, सुधीर धनखड़, राजेश हुड्डा, सुनील आंतिल, इन्द्र सिंह खोखर, छतर सिंह सरढ़ाना,राकेश आंतिल, दीपक तोमर, सतबीर छिक्कारा, सोमबीर गुमाना,निरजंन,राजू सेठ, कृष्ण चिरसमी, संजय खर्ब आदि ने कहा कि सोनीपत जिले के साथ धोखा किया जा रहा है। कब्बड्डी, हाकी, एथलैटिक्स, जूड़ो व बाक्सिंग के रोहतक जिले में तबदील किए जाने से खेलप्रेमियों से कुठाराघात किया जा रहा है। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व कर रहे राजकुमार रिढ़ाऊ ने कहा कि चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के अथक प्रयासों से तत्कालीन केन्द्रीय खेल मंत्री उमा भारती ने जननायक चौधरी देवीलाल के सम्मान में हरियाणा प्रदेश को एक तौहफे के तौर पर भारतीय खेल प्राधिकरण उत्तरी क्षेत्र की मुख्य शाखा सोनीपत में मंजूर की थी। २००५ से २०१४ तक कब्बड़ी में ४० खिलाडिय़ों ने अंतराष्ट्रीय स्तर पर स्वर्ण पदक हासिल किए। एथलैटिक्स में २०० खिलाडिय़ों ने राष्ट्रीय स्तर पर पदक हासिल किए। बाक्सिंग मे १२ खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर के हैं। हाकी का सैंटर भी काफी समय से चल रहा है जिसमें तकरीबन १०० खिलाड़ी रोजाना अभ्यास करते हैं। इन्हीं खिलाडिय़ों की वजह से २०११ में राष्ट्रीय स्तर पर स्वर्ण पदक व २०१२ में राष्ट्रीय स्तर पर कांस्य पदक जीता। रिढ़ाऊ ने कहा कि प्रदेश सरकार सोनीपत जिले के साथ पिछले दस साल से लगातार भेदभाव कर रही है। साई सैंटर में जिले के अनेको गांवों से सैकड़ो खिलाड़ी रोजाना अभ्यास  के लिए आते हैं। यदि सैंटर को यहां से किसी दूसरी जगह पर तब्दील किया गया तो सोनीपत जिले के खिलाडिय़ों के साथ घोर अन्याय होगा और जिले के उभरते हुए खिलाडिय़ों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। रिढ़ाऊ ने कहा कि प्रदेश सरकार एक तरफ तो खेलो को बढ़ावा देने की बात कहती है जबकि सीएम हुड्डा अपने गृह जिले रोहतक को खुश करने के लिए सोनीपत जिले के खिलाडिय़ो को कुचलने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि सरकार ने अपना फैसला वापिस नहीं लिया तो सोनीपत जिला इसका मुंहतोड़ जबाव देगा।

पूर्व कांग्रेसी विधायक कुलवीर बैनीवाल अपने हजारों समर्थकों सहित इनेलो में शामिल

हिसार। इंडियन नेशनल लोकदल को वीरवार को उस समय बड़ी सफलता मिली, जब आदमपुर में सीएम हुड्डा के खासमखास एवं पूर्व विधायक कुलवीर बैनिवाल अपने हजारों समर्थकों सहित पार्टी में शामिल हो गए। पूर्व विधायक के साथ मार्केट कमेटी आदमपुर के पूर्व चेयरमैन सोहनलाल जाजूदा, आदमपुर ब्लाक समिति के सदस्य सुंदर सुथार सीसवाल, श्यामलाल छिंपा भोडिया बिश्रोईयान, तेजपाल हरिजन सदलपुर, शारदा देवी असरावां, भगतराम प्रतिनिधि कोहली, श्याोकरण प्रजापत लाडवी, धर्मवीर जांगड़ा मोडाखेड़ा, मास्टर शक्तिसिंह किशनगढ़, आदमपुर ग्राम पंचायत के सदस्य सुभाष सुथार, मांगेराम ने भी कांग्रेस छोड़ कर इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं ऐलनाबाद से विधायक अभय सिंह चौटाला ने पूर्व विधायक कुलवीर बैनिवाल व उनके समर्थकों का स्वागत करते हुए कहा कि पार्टी में उन्हें पूरा मान-सम्मान दिया जाएगा। 


इनके अलावा उनके साथ शामिल होने वालों में असरावां गांव के सरपंच अशोक भाटिया, खैरमपुर गांव के सरपंच प्रतिनिधि प्रवीन, खैरमपुर गांव के पूर्व सरपंच रामनिवास, मोडाखेड़ा गांव के पूर्व सरपंच कृष्ण, बुड़ाक गांव के पूर्व सरपंच रमेश कारेला, ठसका गांव के पूर्व सरपंच रामानंद पायल, ढंढूर गांव के पूर्व सरपंच फूलसिंह, फ्रांसी गांव वरिष्ठ कांग्रेसी मोहर सिंह भादू, राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के आदमपुर विधानसभा के चेयरमैन अरविंद भाकर, बलाक उपाध्यक्ष रमेश पूनिया, यूथ कांग्रेस किशनगढ़ के प्रधान विपिन थोरी, खारिया गांव के सरपंच भाल सिंह, पूर्व सरपंच विनोद बैनिवाल, कष्ठ निवारण समिति के सदस्य भजनलाल सैनी, मनोज शर्मा ढंढूर, चूली खुर्द के पूर्व सरपंच जयवीर, ढंढूर पंचायत समिति सदस्य संदीप सिवाच, महावीर शर्मा दड़ौली, भाणा ग्राम पंचायत सदस्य दलीप केसानी, देवेंद्र नंबरदार बगला, भूप सिंह जांगड़ा जगाण, अमीलाल पूनिया, साधूराम बिश्रोई, संजय खीचड़, राधेराम बैनिवाल, दिनेश बिल्लेवाल, विनोद डेलू आदि प्रमुख हैं। अपने संबोधन में कुलवीर बैनिवाल ने कहा कि आदमपुर हलका विकास के मामले में काफी  पिछड़ा हुआ है, इनेलो की एक पार्टी है, जिसके सत्ता मेें आने पर इस हलके की पानी की समस्या हल हो सकती है। उन्होंने कहा कि इनेलो मेरेे परिवार के समान है और मैं दिन-रात एक कार्यकर्ता के रूप में मेहनत करूंगा। प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि हुड्डा सरकार लूटेरों का गिरोह है और पिछले नौ वर्षों से लगातार जनता को लूट रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का सफाया हरियाणा से तय है और प्रदेश में अगली सरकार इनेलो की बनेगी। उन्होंने कहा कि हरियाणा में लगातार दलितों व महिलाओं पर अत्याचार व बलात्कार हो रहे हैं और प्रदेश की पहचान एक बलात्कारी प्रदेश के रूप में बन गई है। वरिष्ठ इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि आने वाले ऐसे हालात होते जा रहे हैं कि प्रदेश में कांग्रेस का खाता ही न खुले। यह तो खुद कांग्रेसी भी मानने लग हए हैं कि अबकी बार उनकी सीटें दस से कम रहेंगी और इनेलो की सरकार ही बनेगी। उन्होंने कहा कि  इनेलो की सरकार बनने पर आदमपुर के विकास का जिम्मा मेरा है, आप लोग यहां से इनेलो के प्रत्याशी जीता कर भेज देना। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार दुष्यंत चौटाला संसद में आपकी आवाज उठा रहा है, उसी प्रकार इनेलो की सरकार बनने पर हर हलके की पैरवी मेरे साथ साथ दुष्यंत भी करेगा और प्रदेश के अन्य हलकों के मुकाबले यहां पर दोगुने विकास के काम होंगे। इस अवसर पर जिला प्रधान उमेद लोहान, राज्यसभा सांसद रणबीर गंगवा,किसान प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष पूर्ण सिंह डाबड़ा, हलका प्रधान यशपाल गोदारा, पूर्व मंत्री कंवल सिंह, शीला भयाण, रमेश गोदारा, राजेश गोदारा, महिला प्रकोष्ठ की हलका अध्यक्ष कृष्णा भाटी,  भागीरथ नंबरदार, हनुमान ऐरन, मनदीप बिश्रोई सहित अन्य इनेलो नेता उपस्थित थे।

Wednesday, July 30, 2014

वोट पाने के लिए कांग्रेस लोगों से करती है झूठे वायदेः संधू

चंडीगढ़। इनेलो प्रदेेश उपाध्यक्ष पूर्व कृषि मंत्री जसविन्द्र सिंह संधू ने कांग्रेस सरकार पर पिछले चुनावों में वोटों के लिए लोगोंं से झूठे वायदे करने और वोट हथियाने के बाद वायदों के ठीक विपरीत काम करने का आरोप लगाया है। पूर्व मंत्री ने कहा कि प्रदेश में इनेलो की सरकार आने पर आबाद कार पट्टेदारों व पंचायत में विवाद को मिल बैठकर सुलझाया जाएगा क्योंकि पहले भी इनेलो की सरकार में गांव में बैठकर आपसी भाईचारे से समझौता करवाया गया था, जिसके उदाहरण गांव बोधनी, मोहनपुर, गढ़ी लागरी, ईस्हाक, सियाणा खुर्द, सियाणा सैयदां व हमीरा फार्म है। श्री संधू ने वित्त मंत्री हरमोहिंदर सिंह पर पेहवा हलके के कराह साहब के पट्टेदारों को धोखा देने का अरोप लगाया।  उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री ने 2005 विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को बुलाकर उन्हें मालीकाना हक देने, तो उसके बाद 2009 विधानसभा चुनावों के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को बुलाकर उनसे पट्टेदारों को 99 साल की लीज पर जमीन देने की बात मंच से बुलवाई गई। लेकिन घोषणाएं सिर्फ कराह साहब के लागों को गुमराह करने वाली थी। प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा भी पिहोवा में आकर अनेको बार घोषणाए की गई लेकिन कभी भी दोनो पक्षो के लोगो को बिठाकर समस्या का समाधान करने का प्रयास नही किया गया सिर्फ वोट की राजनीति की गई। सारे प्रकरण को लेकर गांव मेंं स्थिति गम्भीर बनी हुई है। 60 साल से अमन व शांति के साथ रह रहे लोगों  के आपसी भाईचारे को सिर्फ वोट के लिए खत्म करने का प्रयास किया गया। 
इधर, रायपुररानी में कालका से इनेलो विधायक प्रदीप चौधरी ने कहा कि टूट कर बिखर चुकी कांग्रेस को संभालने की बजाए मुख्यमंत्री भुपेन्द्र सिंह हुड्डा विकास के झुठे दावे कर जनता को बरगलाने की कोशिशों में जुटे है और झूठ और फरेब की राजनीति की आड़ में फिर से सत्ता में आने के सपने देख रहे हैं, जो कभी पूरे नही हो सकते। इनेलो के कालका विधायक प्रदीप चौधरी ने टोडा, जासपुर, मौली, गोलपुरा, ककराली, बहबलपुर, बागवाली, ठरवा, समानवा इत्यादि दर्जन भर गांवों के कार्यकत्र्ताओं के साथ बागवाली (टारगेट) में आयोजित बैठक को संबोधित किया। प्रदीप चौधरी ने कहा कि आज कांग्रेस प्रदेश से मिटती जा रही है और प्रदेश में इनेलों एकमात्र ऐसी पार्टी है, जो हमेशा जनता की उम्मीदों पर खरा उतरी है और जो वायदा जनता से किया, उसे सत्ता में आने पर पूरा भी किया।

हुड्डा सरकार ने जाते-जाते अपने चहेतों को अहम पदों पर किया नियुक्तः माजरा

चंडीगढ़। इनेलो ने हुड्डा सरकार पर सत्ता से जाते-जाते हरियाणा लोकसेवा आयोग के माध्यम से अपने चहेतों को अहम् पदों पर भर्ती करने और उनके लिए सारे नियम कायदे तोडऩे के आरोप लगाए हैं। इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं कलायत के विधायक रामपाल माजरा ने कहा कि हरियाणा लोकसेवा आयोग द्वारा सहायक इंजीनियर (एसडीओ) सिंचाई विभाग के पदों पर ऐसे उम्मीदवारों का चयन कर दिया है जिनका रोल नम्बर इंटरव्यू के लिए बुलाए गए उम्मीदवारों की सूची में ही नहीं था। उन्होंने इस पूरे मामले की उच्चस्तरीय निष्पक्ष न्यायिक जांच करवाए जाने की मांग करते हुए कहा कि अब एचसीएस के लिए विभिन्न विभागों से नियुक्त किए जाने वाले उम्मीदवारों के मामले में भी हुड्डा सरकार ऐसी धांधली लोकसेवा आयोग के माध्यम से करने के प्रयासों में जुटी हुई है। श्री माजरा ने कहा कि इससे पहले हरियाणा लोकसेवा आयोग ने एचसीएस व उसके सहयोगी पदों पर हुड्डा सरकार के चहेते अधिकारियों एवं आयोग के सदस्यों के पारिवारिक लोगों को सारे नियम कायदे तोडक़र नियुक्तियां देने का काम किया था।
श्री माजरा ने कहा कि हुड्डा सरकार ने ऐसा करके हरियाणा के योग्य उम्मीदवारों के साथ भारी खिलवाड़ किया है और प्रदेश की जनता इसे किसी भी कीमत पर सहन करने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र ङ्क्षसह हुड्डा व उनके आसपास के लोग यह बात अच्छी तरह से जान चुके हैं कि कांग्रेस सरकार सत्ता में वापिस आने वाली नहीं है। इसीलिए वे जाते-जाते सारे नियम कायदे तोडक़र अहम् पदों पर अपने चहेतों को लगाने में जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा में सूचना आयोग एवं सेवा के आयोग में आयुक्त के पदों पर जिस तरह से नियम कायदे तोडक़र मुख्यमंत्री के करीबी लोगों को पिछले दरवाजे से नियुक्त किया गया है उससे साफ हो गया है कि कांग्रेस में भगदड़ मची हुई है और चुनाव से पहले ये लोग सुरक्षित ठिकाने ढूंढने में लगे हुए हैं। श्री माजरा ने कहा कि सिंचाई विभाग के सहायक इंजीनियर सिविल के 56 पदों के लिए हरियाणा लोक सेवा आयोग ने स्क्रीनिंग टेस्ट के बाद 244 उम्मीदवारों को इंटरव्यू के लिए चुना था लेकिन इंटरव्यू के बाद चयनित किए गए उम्मीदवारों की सूची में ऐसे नाम भी देखने को मिले जिनके रोल नम्बर इंटरव्यू के लिए बुलाए गए उम्मीदवारों की सूची में ही नहीं थे। उन्होंने कहा कि इस मामले ने अब तक स्वायत माने जाने वाले हरियाणा लोकसेवा आयोग की न सिर्फ कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिह्न लगा दिया है बल्कि यह भी साफ हो गया है कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने हरियाणा लोक सेवा आयोग जैसे संवैधानिक संस्थान को भी अपना जेबी संस्थान बनाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सूचना आयुक्त एवं सेवा के आयोग में आयुक्त के पदों पर भी ऐसे लोगों की नियुक्तियां की गई जो योग्यताएं पूरी नहीं करते थे और जिनमें से कुछेक के नाम तो स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा भी सिफारिश नहीं किए गए थे। उन्होंने कहा कि सरकार में इन दिनों हडक़ंप मचा हुआ है और सत्ता से जाते-जाते मुख्यमंत्री व उनके चहेते प्रदेश को दोनों हाथों से लूटने के प्रयासों में लगे हुए हैं। 

नए विवि का नाम जिन्द के किसी प्रसिद्ध व्यक्ति के नाम पर रखा जाएः दिग्विजय चौटाला


जींद। इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने कहा कि जींद में बने नए विश्वविद्यालय का नाम मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के पिता चौधरी रणबीर सिंह हुड्डा के नाम पर रखने का विरोध करेगा। विश्वविद्यालय का नाम जींद के किसी प्रसिद्ध व्यक्ति या जींद विश्वविद्यालय रखने की मांग की। अगर विश्वविद्यालय का नाम नहीं बदला गया तो इनसो इसके विरोध में सड़कों पर उतरेगी। दिग्विजय चौटाला मंगलवार को अर्बन एस्टेट स्थित पार्टी कार्यालय में इनसो कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक का मुख्य उद्देश्य पांच अगस्त को इनसो के स्थापना दिवस पर चंडीगढ़ की पंजाब विश्वविद्यालय में होने इनसो सम्मेलन के लिए छात्रों को न्यौता देने के लिए आए थे। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि विश्वविद्यालय का नाम चौधरी रणबीर सिंह हुड्डा के नाम पर रखा गया है, लेकिन चौधरी रणबीर सिंह हुड्डा को रोहतक से बाहर कोई भी नहीं जानता है। इसलिए मुख्यमंत्री जबरदस्ती अपने पिता का नाम जींद की जनता पर थोपना चाहते है। कैप्टन अजय सिंह यादव द्वारा कांग्रेस से इस्तीफा देने की बात पर दिग्विजय चौटाला ने कहा कि यादव जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रहे है, दस साल तक सरकार में बने रहे, लेकिन उस समय उन्होंने जनता की अनदेखी नहीं दिखाई दी। अब जनता को गुमराह करने के लिए ढोंग रचा जा रहा है, लेकिन प्रदेश की जनता कांग्रेसी नेताओं को असलियत को जान चुकी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता इनेलो के शरीर रुपी है, जबकि जींद जिला इनेलो के इस शरीर का दिल है। इनेलो के बुरे दिन में जींद जिले में हमेशा ही साथ दिया है और पार्टी का दिल यानी जींद स्वस्थ्य होने के चलते पार्टी रुपी शरीर पूरे प्रदेश में परचम लहरा रहा है। 
युवाओं को संबोधित करते हुए दिग्विजय चौटाला ने कहा कि पंजाब विश्वविद्यालय के ऑडिटरियम में पांच अगस्त को इनसो के स्थापना दिवस पर सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। इसमें प्रदेशभर से इनसो के ५० हजार से अधिक कार्यकर्ता भाग लेंगे। उन्होंने कहा कि पहले इनसो का सम्मेलन जींद में करने का प्रस्ताव था, लेकिन बाद में पार्टी ने सम्मेलन को बदलकर पंजाब विश्वविद्यालय में कर दिया। इसके मुख्य दो मकसद थे। पहला मकसद इनसो ने पहले दिल्ली के ताल कटोरा मैदान में लाखों की भीड़ जुटाकर दिल्ली में अपनी शक्ति प्रदर्शन किया था। लेकिन हरियाणा की सबसे बड़ी पॉवर चंडीगढ़ में बैठती है, इसलिए इनसो ने चंडीगढ़ में अपनी शक्ति का परिचय देने के लिए स्थान निर्धारित किया है। दूसरा कारण पंजाब विश्वविद्यायल के चुनाव भी विधानसभा चुनाव के आसपास ही होने है। इसलिए इनसो पंजाब विश्वविद्यालय में शक्ति प्रदर्शन करेगी और विश्वविद्यालय के चुनाव में जीत का परचम लहराएगी। इस अवसर पर इनेलो जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह बरवाला,प्रदीप गिल,प्रदीप देशवाल,कुनाल गहलोत,अनुराग खटकड़,अमित खटकड़,सुनील बुरा, हरदीप पिंडारा,गुरजोत सन्धु,विकास सिहाग,रोहताश,सुनील बुरा,अमित खटकड़,अर्जुन ढिल्लों,जयपाल मलिक,नवीन श्योराण,रोकी ढाण्डा,सोनु सैणी,विजय मोर,सुरेन्द्र खटकड़,सुशील टुर्ण इत्यादि सैंकड़ो इनसो कार्यकर्ता मौजुद थे।

बिजली निगम की कार्यप्रणाली रामभरोसे: पवन तनेजा


सोनीपत। सड़को के बीचों-बीच खड़े पुराने खंभों को हटाने में बिजली विभाग आनाकानी कर रहा है और बिजली के जर्जर व ढ़ीली तारों के कारण आए दिन बड़ा हादसा होने की आंशका बनी रहती है। यह बात काठ मंडी टिम्बर एसोसिएशन के प्रधान एवं हरियाणा व्यापार मंडल के जिला प्रवक्ता पवन तनेजा ने  बुधवार को बिजली विभाग के विरूद्ध प्रदर्शन कर रहे दुकानदारों को संबोधित करते हुए कही। प्रदर्शन कर रहे सुरेश मित्तल,महेन्द्र मिस्त्री, प.नरेश शर्मा,राजेन्द्र दहिया,पवन जैन, पंकज सिंगला, मनोज शर्मा, ओमप्रकाश,जीत जैन, रामनिवास,रामप्रवेश,जगदीश, राजेन्द्र सुनार, सुमित, सुभाष, सन्नी, संजय, रवि, बलराज आदि ने बताया कि  काठ मंडी क्षेत्र में डिवाईर बनने के कारण सडक़ो के बीच खड़े पुराने खंभे ट्रैफिक जाम की समस्या पैदा कर रहे हैं।  बिजली की लटकी तारों पर विभागीय अधिकारी फट्टी लगाकर तारों में जोड़ लगा देते हैं। इस लीपापोती के कारण दुकानदार भयभीत हैं। वाहनों व राहगीरों का गुजरना मुश्किल हो रहा है। प्रदर्शन कारियों का नेतृत्व कर रहे पवन तनेजा ने कहा कि इस समस्या को लेकर बिजली निगम से कई बार पहले भी मांग कर चुके हैं कि खतरनाक ढंग़ से नीचे लटक रहे तारों को कसा जाए तथा कमजोर हो चुके तारों को बदला जाए। किन्तु समस्या की शिकायत पिछले माह सीएम फ्लाइंग स्ववाईड से टोल फ्री न. १८००१८००३६०० पर भी शिकायत कर चुके हैं लेकिन उनकी शिकायत पर सिवाय कागजी कार्रवाई के कोई गौर नहीं किया गया। बार-बार प्रदर्शन करने के बावजूद विभागीय अधिकारी अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहे हैं। 

कांग्रेसी जनप्रतिनिधि जनता को बरगलाने का काम कर रहे हैंः हनुमान ऐरन


हिसार। सब्जी मंडी के स्थानांतरण के नाम पर सरकार में बैठे कांग्रेसी जनप्रतिनिधि व सरकारी अधिकारी व्यापारियों व आम जनता को बरगलाने का काम कर रहे हैं। अगर सरकार की मंशा सही होती तो सब्जी मंडी कभी की नए स्थान पर स्थापित हो जाती। यह बात इनेलो के शहरी जिलाध्यक्ष हनुमान ऐरन ने कही। वे बुधवार को सब्जी मंडी के हस्तांतरण के लिए क्षेत्रवासियों व सब्जी मंडी के व्यापारियों के द्वारा चलाए जा रहे हस्ताक्षर अभियान के मौके पर व्यापारियों से बातचीत कर रहे थे। इनेलो नेता ऐरन ने हलकाध्यक्ष प्रहलाद सिंह सैनी, डिप्टी मेयर भीम महाजन, निगम पार्षद रेखा ऐरन, चंद्रपति ढांडा, कर्मवीर ढिल्लो, प्रीतम सैनी, इनेलो नेता राजेंंद्र चुटानी व अमित सैन के साथ क्षेत्रवासियों के द्वारा चलाए जा रहे हस्ताक्षर अभियान में शामिल होकर अपना व अपनी पार्टी का समर्थन दिया। उन्होंने कहा कि सब्जीमंडी की समस्या से ग्रस्त क्षेत्रवासियों के इस संघर्ष में इनेलो पूरी तरह उनके साथ हैं। असल में स्थानीय विधायक व मंत्री सब्जी मंडी को मिलगेट रोड पर स्थानांतरित करने में रोडा अटकाए हुए हैं। क्योंकि जिंदल परिवार ने प्रस्तावित नई सब्जी मंडी की जगह में से 20 एकड़ सरकारी जमीन स्कूल बनाने के नाम पर औने पौने दामों में हड़प करने की कोशिश की थी। परंतु इनेलो ने लोगों की भावनाओं को समझते हुए उनके सहयोग से एक बड़ा आंदोलन खड़ा करके उस जमीन को जिंदल परिवार के चंगुल से बचाया था। इनेलो नेता ने कहा कि इनेलो के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला ने स्ब्जमीमंडी के व्यापारियों व क्षेत्रवासियों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए अपने कार्यकाल में सब्जीमंडी बनाने की परियोजना को सिरे चढ़ाकर उसका शिलान्यास किया था। मौजूदा कांग्रेस सरकार ने उस काम में सत्ता आने के बाद रोडा अटकाने का काम किया है। अब जब चुनाव सिर पर है तो सरकार इस मंडी को शिफ्ट करने का राग अलाप रही है। ऐरन ने कहा कि इनेलो की सरकार आने पर सर्वप्रथम काम इस मंडी को यहां से शिफ्ट करने का होगा, ताकि व्यापारियों के साथ साथ इस क्षेत्र के लोगों को भीड़, गंदगी व आवारा पशुओं से छुटकारा मिल सके तथा उससे पहले नई सब्जीमंडी में व्यापारियों व किसानों के लिए हर प्रकार की मूलभूत सुविधाओं का प्रबंध भी करेगी। 



जिन्दल परिवार फर्जी वोटों के सहारे जीत हासिल करता हैः जोगेन्द्र काहलो

हिसार। इनेलो के वरिष्ठ नेता जोगेंद्र काहलो ने जिंदल परिवार पर हमेशा फर्जी वोटों के सहारे चुनाव जीतने का आरोप लगाया है। उन्होंनें कहा कि चाहे कुरुक्षेत्र हो या हिसार इस परिवार ने हमेशा धन के बल पर जनता को बरगलाकर व फर्जी वोटों की मदद से जीत हासिल की है। परंतु अब जनता जागरूक हो चुकी है। कुरुक्षेत्र की जनता ने तो लोकसभा चुनाव में इनको हराकर आइना दिखा दिया है, वहीं अब हिसार की जनता ने भी इनके फर्जी वोटों का भंडाफोड़ कर दिया है। अब आने वाले विधानसभा चुनाव में हिसार में भी इनको हार का सामना करना पड़ेगा। वहीं इनेलो नेता काहलो ने फर्जी वोटों के मामले में जांच करने की मांग करते हुए दोषी बूथ लेवल अधिकारियों पर भी कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। उन्होंने कहा कि बिना चुनाव कार्यालय के मिलीभगत के ऐसा संभव नहीं है। कांग्रेस ने हमेशा ही फर्जी वोटो बनवाए हैं। सरकार के एक मंत्री पर गुडग़ांव में इस मामले मेें लगभग एक दर्जन मामले चल रहे हैं। अगर इस मामले की गंभीरता से जांच की जाए तो यहां भी गुडग़ांव जैसा मामला सामने आ सकता है। 

हुड्डा राज में हुआ प्रशासनिक अधिकारियों का उत्पीडऩ: जितेंद्रनाथ

भिवानी। इनेलो के जिला उपाध्यक्ष व बवानीखेड़ा हलके के वरिष्ठ नेता जितेंद्रनाथ ने कहा कि हुड्डा राज में प्रशासनिक अधिकारियों का उत्पीडऩ किया जा रहा है। प्रदेश के मुख्य सचिव द्वारा एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी को इस प्रकार से एसएमएस से धमकी देना बेहद ही निंदनीय है। इस सम्बंध में जांच करवाकर उचित कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि हुड्डा सरकार में प्रशासनिक अधिकारियों के उत्पीडऩ का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले आईएफएस संजीव चतुर्वेदी व आईएएस डा.अशोक खेमका को भी सरकार प्रताडि़त कर चुकी है। उन्होंने कहा कि इसके लिए सीधे रूप से प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा जिम्मेवार हैं। जितेंद्रनाथ ने कहा कि जनता अब कांग्रेस से परेशान है और छुटकारा चाहती है। इनेलो को जनता सत्ता सौंपने का मन बना चुकी है। उन्होंने कहा कि आने वाली सरकार इनैलो की होगी और प्रदेश में समान रूप से विकास कार्यों व योग्यता के आधार पर बेरोजगार युवाओं को नौकरियां दी जाएगी।

Tuesday, July 29, 2014

कांग्रेस में मचा घमासान, पार्टी के नेता व मंत्री भाग रहे हैं इधर-उधरः अशोक अरोड़ा

चंडीगढ़, 29 जुलाई: इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने हरियाणा के बिजली मंत्री कैप्टन अजय सिंह के इस्तीफे और उनके द्वारा लगाए गए आरोपों पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा कि इससे इनेलो द्वारा पिछले साढे नौ सालों से मुख्यमंत्री पर लगाए जा रहे हमारे आरोपों की पूरी तरह पुष्टि हो रही है। इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र ङ्क्षसह हुड्डा के नेतृत्व में प्रदेश को जिस तरह पिछले साढे नौ सालों से मुख्यमंत्री से लेकर उनके मंत्रियों, कांग्रेसी सांसदों व विधायकों ने दोनों हाथों से लूटा, अब प्रदेश को मुख्यमंत्री के साथ मिलकर लूटने वाले लोग ही आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सम्भावित शर्मनाक हार और इनेलो को मिलने जा रही रिकार्ड तोड़ जीत को देखकर मंत्री पद व कांग्रेस छोडक़र भाग रहे हैं। श्री अरोड़ा ने कहा कि प्रदेश में हुड्डा सरकार द्वारा की गई इस लूट में ये सभी लोग भी बराबर के हिस्सेदार एवं जिम्मेदार रहे हैं। इनेलो निरंतर यह आरोप लागती रही है कि मुख्यमंत्री ने पिछले साढे नौ सालों के दौरान नौकरियों व विकास के मामले में क्षेत्रवाद को बढ़ावा दिया और अपने किलोई हलके से बाहर पूरे प्रदेश की अनदेखी की गई। नौकरियां सरेआम नीलाम की गई और फर्जी घोषणाओं के अलावा प्रदेश के अन्य हलकों को कहीं कुछ नहीं दिया गया। उन्होंने कहा कि साढे नौ साल तक जो लोग मंत्री पद की मौज लूटते रहे और दोनों हाथों से प्रदेश को लूटने में लगे रहे उन्हें पता है कि आगामी चुनाव में वे लोगों के गुस्से का सामना नहीं कर पाएंगे। इसीलिए वे लोगों को बहकाने का प्रयास कर रहे हैं और इस्तीफे के नाम पर चुनावी स्टंट किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इन्हीं लोगों के कारण ही मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा साढे नौ सालों तक आम लोगों की अनदेखी करते रहे और किसानों की जमीनें लूटने से लेकर हर मामले में खूब लूट मचाई गई। इनेलो नेता ने कहा कि आज प्रदेश की जनता पूरी तरह इनेलो के साथ है और मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के साथ मिलकर प्रदेश को लूटने वालों को आने वाले चुनाव में करारा सबक सिखाते हुए प्रदेश में इनेलो की सरकार बनाने का काम करेगी।

इनैलो नेताओं ने विभिन्न स्थानों पर जनसंपर्क कर इनेलो की नीतियों को प्रचारित किया


सिरसा। इनेलो के वरिष्ठ नेता वीरभान मेहता ने बुधवार को जिले के विभिन्न स्थानों पर जनसंपर्क कर इनेलो की नीतियों को प्रचारित किया। इस दौरान अनेक लोगों ने मेहता के नेतृत्व में इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। इनमें गांव बेगू में रमेश सैनी के सहयोग से भल्लाराम, इंद्राज, कुंभाराम, मोहनलाल, सुंदर, पवन, अंग्रेज सिंह, कालूसिंह, विकास कुमार, माडूराम, राकेश कुमार, दीपक, राजू व सोहनलाल प्रमुख रूप से शामिल थे। वहीं गांव जोधकां की राजपूत बस्ती में आयोजित कार्यक्रम में रणवीर गिरी के प्रयासों से सुभाष, धर्मवीर, प्रवीण, विनोद, राकेश, सुनील, अनिल, सेठी, राजेंद्र, भगवानदास, नरेश, लक्ष्मीचंद, राजेश, राजू, धर्मेंद्र राजपूत आदि ने इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। वीरभान मेहता ने इस अवसर पर सभी को पार्टी में उचित मान सम्मान देने की बात कही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासन में सिरसा से किए गए भेदभाव को इनेलो शासन में दूर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गांवों में मौजूद समस्याओं से यह जाहिर है कि मुख्यमंत्री विकास के मामले में केवल लोगों को गुमराह करने पर तुले हैं। इस अवसर पर उनके साथ रमेश सैनी, राकेश गिरी, अमरदीप पुरी, अजय पंडित, बलबीर रोल्हन, जॉनी ठाकुर, अश्विनी गोदारा, अनिल खिलेरी, वीरभान सोनी, हरबंस बिश्रोई, धर्मपाल चाडीवाल, ललित सोलंकी, राकेश तंवर, प्रदीप सैनी, ओम डाबर, शशि सिंगीकाट, विजय डूडी, भोलाराम, जगदीश, प्रवीण कंबोज, राजू मेहता, मेहरचंद खिचड़, मेंबर पप्पू, सरदार भालसिंह, लालसिंह, दिलावर सिंह, डॉ. रमेश सैनी, कर्णवीर, दलजीत सिंह, मक्खन सिंह, हीरासिंह, रणवीर गिरी आदि मौजूद थे। 

सीएम भूपेन्द्र सिंह हुड्डा संवैधानिक अधिकारों का कर रहे हैं हननः अभय सिंह चौटाला


सिरसा। ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा अपने संवैधानिक अधिकारों का हनन करते हुए अपने चहेतों को लाभ के पद देने पर तुले हुए हैं और संवैधानिक मर्यादाओं को कुचलने में लगे हुए हैं जिन्हें लोकतंत्र की जरा भी परवाह नहीं। वे बुधवार को डबवाली रोड स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से रूबरू हो रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में भगदड़ मची हुई है और पुराने कांग्रेस नेता भी कांग्रेस को छोड़कर जा रहे हैं जबकि मुख्यमंत्री प्रदेश में तीसरी बार कांग्रेस की सरकार बनने का दावा कर रहे हैं। उनके दावों की पोल उन्हीं की पार्टी के लोग खोल रहे हैं। चौटाला ने मुख्यमंत्री पर आरोप लगाया कि अपने दस साल के शासन में हुड्डा ने प्रदेश के विकास की बजाए अपने घर का विकास किया तथा अरबों रुपए की जमीन घोटाले करके प्रदेश के राजस्व को नुकसान पहुंचाया। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इनेलो शीघ्र ही विधानसभा चुनावों के दृष्टिगत अपने उम्मीदवारों की सूची जारी करेगी। कांग्रेस को डूबता हुआ जहाज बताते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस के घोटालों के कारण प्रदेश की जनता को घोर निराशा हुई है तथा जिस प्रकार हुड्डा सरकार ने नौकरियों में योग्यता को दरकिनार करते हुए भाई भतीजावाद को बढ़ावा दिया है जिसे लेकर माननीय उच्च न्यायालय ने सरकार के प्रति कई बार प्रतिकूल टिप्पणियां की हैं। ऐलनाबाद के विधायक ने कहा कि इनेलो के सत्ता में आने के बाद इन नियुक्तियों की व्यापक जांच की जाएगी और दोषी पाए जाने वाले लोगों को सजा अवश्य मिलेगी। उन्होंने चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय में प्राध्यापकों की नियुक्तियों पर सवाल उठाते हुए कहा कि अभी आवेदन आए ही नहीं कि उन लोगों को नौकरियां देने की तैयारियां कर ली गई हैं जिन पर न्यायालय की ओर से गंभीर आरोप लगे हैं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इनेलो का एक प्रतिनिधिमंडल शीघ्र ही महामहिम राज्यपाल से मिलकर मुख्यमंत्री द्वारा संवैधानिक मर्यादा को मिटाने को लेकर मिलेगा तथा कांग्रेस सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करेगा। इनेलो नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री सिरसा में 3600 करोड़ रुपए लगाने की बात करते हैं मगर थोड़ी सी बरसात होते ही सिरसा जलमग्र हो गया, सीवर जाम हो गए तथा जनता को पिछले तीन दिनों से पीने का पानी भी नहीं मिल रहा। ऐसे में मुख्यमंत्री की विकास के दावों की पोल खुलती है। उन्होंने कहा कि आने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस दस का आंकड़ा भी छू नहीं पाएगी और कांग्रेस उम्मीदवारों की जमानतें जब्त हो जाएंगी क्योंकि लोगों में कांग्रेस के खिलाफ जबरदस्त गुस्सा पाया जा रहा है। मुख्यमंत्री के रिश्तेदार पैसे लेकर नौकरियां दे रहे हैं जबकि मुख्यमंत्री हुड्डा टीवी व समाचार पत्रों में विज्ञापन देकर जनता की गाढ़े खून पसीने की कमाई पानी में बहा रहे हैं। विधायक ने कहा कि इनेलो का गठजोड़ जनता के साथ है और वह अपने दम पर सभी विधानसभा हलकों में उम्मीदवार खड़े करेगी। उन्होंने कहा कि इनेलो ने अपना सदस्यता लक्ष्य पूरा कर लिया है। इस अवसर पर इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, शहरी जिला अध्यक्ष प्रदीप मेहता, नगरपरिषद अध्यक्ष सुरेश कुक्कू, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रामराज मेहता, इनेलो नेता विनोद बेनीवाल, युवा अध्यक्ष धर्मवीर नैन, प्रधान महासचिव महावीर बागड़ी, जिला प्रेस प्रवक्ता तरसेम मिढा, सहप्रवक्ता महावीर शर्मा, जिला महासचिव कृष्ण गुंबर, दिनेश बेनीवाल, हरबेल सिंह खाजाखेड़ा, गुरमेज चौधरी, सुरेंद्र सचदेवा, रमेश बरुवाली, प्रेम शर्मा आदि अनेक पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे। 

कै. यादव का त्यागपत्र जनता को बरगलाने का चुनावी स्टंट : दिग्विजय चौटाला


फतेहाबाद। इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने कहा कि जनता एकमत होकर हरियाणा को कांग्रेस मुक्त बनाने का मन बना चुकी है। इसी बात से भयभीत होकर बिजली मंत्री कै. अजय यादव जैसे अनेक नेतागण आज अपने पदों से त्यागपत्र देने का चुनावी स्टंट कर जनता को बरगलाने का असफल प्रयास कर रहे हैं। वे आज स्थानीय रामसेवा समिति धर्मशाला में आयोजित इनसो के जिला स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन को बतौर मुख्यतिथि संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप देशवाल ने की, जबकि शहरी जिलाध्यक्ष स्वतंत्र चौधरी, पूर्व विधायक रणसिंह बैनीवाल, रामराज मेहता, हलकाध्यक्ष बलवान दौलतपुरिया बतौर विशिष्ट अतिथि उस्थित रहे। फतेहाबाद पहुंचने पर युवा जिलाध्यक्ष राकेश सिहाग, इनसो जिला प्रधान पवन श्योकंद ने संगठन की तरफ से दिग्विजय चौटाला व प्रदीप देशवाल का स्वागत किया। कार्यक्रम संचालन हलकाध्यक्ष अनिल नहला ने किया।
सम्मेलन को संबोधित करते हुए दिग्विजय चौटाला ने कहा कि लोकसभा चुनाव में देश भर में मोदी लहर के बावजूद उत्तरी भारत में इनेलो ही एकमात्र ऐसा क्षेत्रीय दल रहा, जिसने दो लोकसभा सीटों पर बड़ी जीत दर्ज की। सिरसा में कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर और हिसार में जातपात की राजनीति करने वाले हजकां अध्यक्ष कुलदीप बिश्नोई का जनता ने पूरी तरह से सफाया करने का काम किया। इसके अलावा प्रदेश भर में हुए कुल मतदान का 25 प्रतिशत इनेलो को मिला, जिसमें हर वर्ग के साथ-साथ युवा कार्यकर्ता की कड़ी मेहनत का अहम योगदान रहा। उन्होंने प्रदेश की शिक्षा नीति को देश की सबसे बद्तर नीति करार दिया, जिसने राज्य के भविष्य को बुरी तरह से बर्बाद करके रख दिया है। हालात इतने गंभीर हो गए कि प्रदेश के 52 स्कूलों में कोई भी बच्चा पास नहीं हो सका। उन्होंने इनसो के युवा कार्यकत्र्ताओं का आह्वान किया कि वे जनता के बीच जाकर कांग्रेस की ऐसी बेकायदगियों को उजागर करें ताकि विकास, शिक्षा और रोजगार के मामले में हरियाणा को ताबह करने वाली कांग्रेस के लिए विधानसभा चुनाव आखरी चुनाव साबित हो। उन्होंने युवा कार्यकत्र्ताओं को आश्वस्त किया कि इनेलो की सरकार बनने पर प्रदेश में छात्र संघ चुनावों को बहाल किया जाएगा ताकि कॉलेज स्तर पर ही छात्र वर्ग एक स्वच्छ राजनीति की नींव रखने में अपनी भूमिका सुनिश्चित कर सके। उन्होंने युवा कार्यकत्र्ताओं को गांव, वार्ड और बूथ स्तर पर टीमें बनाकर इनेलो की कल्याणकारी नीतियों का अधिक से अधिक प्रचार प्रसार करने की बात भी कही। उन्होंने दावा किया कि इस बार के विधानसभा चुनाव में जनता एकमत होकर जननायक स्व. देवीलाल के सपनों का हरियाणा बनाने के लिए इनेलो के पक्ष में मतदान करेगी। इस अवसर पर हिसार जिप उपाध्यक्ष सिद्धार्थ गोदारा, पंकज झांझड़ा, मनदीप दहमन, विकास मेहता, संदीप बैनीवाल, अवि गिल्होत्रा, मोनू डागर, योगेश नैन, मनोज धारसूल, मास्टर राजकुमार भूना, ब्लाक समिति सदस्य सतपाल सिद्धु, जसपाल संधू, राणा जोहल,  हेमंत आर्य, रोहित चौहाना, अशोक जाखड़, अनिल डागर, बंटी बरसीन, मनोज खर्ब, विकास माल्या, मनोहर नायक, डॉ. रणजीत ओड, सुरेन्द्र कांगड़ा, रमेश वाल्मीकि के अलावा वरिष्ठ नेताओं में महिला विंग जिलाध्यक्ष सरोज सांगा, विद्या रत्ती, सुमनलता सिवाच, नंदकिशोर सेठी आदि उपस्थित थे।


झूठे विज्ञापनों पर जनता का पैसा बर्बाद कर रहे हैं सीएम हुड्डाः शेर सिंह खर्ब


पानीपत। हरियाणा पूरे देश में भ्रष्टाचार, गुण्डागर्दी, अपराध व बेरोजगारी में नम्बर 1 है पर हरियाणा के मुख्यमंत्री हर रोज कराड़ों के विज्ञापन देकर प्रदेश को विकास व अन्य मामलों में नम्बर 1 बताकर जनता को भ्रमित करने का असफल प्रयास कर रहे हैं। यह बात इनैलो प्रवक्ता शेरसिंह खर्ब एडवोकेट ने आज यहां जिला न्यायालय परिसर स्थित अपने चैम्बर में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान कही। श्री खर्ब ने कहा कि हरियाणा की जनता को प्रदेश के मुख्यमंत्री चौ.भूपेन्द्र सिंह हुड्डा बहकाने का असफल प्रयास करने में जुटे हुए हैं जिसके लिए वह प्रदेश की जनता की खून पसीने की कमाई को विज्ञापनों में बर्बाद कर रहे हैं। सभी विज्ञापनों में वह प्रदेश को विकास व अन्य कई मामलों में नम्बर 1 बता रहे हैं जबकि सच्चाई को जनता भली भांति जानती हैं की प्रदेश में रोहतक को छोडक़र कहीं पर भी विकास नहीं हुआ है। यही हाल नौकरियों में हैं रोहतक जिले से बाहर के युवाओं को नौकरियों में भी कोई तवज्जों नहीं दी गई और अब चुनाव सिर पर देखकर प्रदेश की जनता को बरगलाने का प्रयास करने में मुख्यमंत्री चौ.भूपेन्द्र सिंह हुड्डा जुट्टे हुए हैं। श्री खर्ब ने कहा कि मौजूदा समय में प्रदेश के हालात बद से बदतर बने हुए हैं हर दिन लूट खसौट, हत्याएं व बलात्कार हो रहे हैं। पुलिस मूक दर्शक बनी हुई और पैसे कमाने में जुटी हुई है अन्य अधिकारी भी सरकार की परवाह नहीं करते। श्री खर्ब ने कहा कि हरियाणा में कांग्रेस की सरकार व चौ.भूपेन्द्र सिंह हुड्डा को सत्ता में आए करीब दस साल हो गए पर पार्टी कार्यकर्ताओं को सत्ता में भागीदार नहीं बनाया गया अब जब चुनाव की तिथि घोषित होने को है तो मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा कभी किसी को सत्ता में लाभ के पद की शपथ दिला रहे हैं वह भी सरकारी छुट्टी के दिन। इसके अलावा कभी किसी जाति से तो कभी किसी बिरादरी से आयोग के सदस्य या चेयरमैन बनाकर उनकी जाती के वोट हथियाने का प्रयास कर रहे हैं। वह यह भूल रहे हैं कि जनता तो दूर उनकी पार्टी के ही कार्यकर्ता अब की जा रही नियुक्तियों का मतलब समझते हैं और उनके झांसे में आने वाले नहीं हैं। श्री खर्ब ने कहा कि जनता यह बात भी जानती है की इनैलो ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो अपने कार्यकर्ताओं व सभी जातियों को साथ लेकर चलती है और सत्ता में उनकी भागेदारी बराबर रहती है, इसलिए इस बार हरियाणा की जनता इनैलो को सत्ता सौंपने का निर्णय कर चुकी है। इस अवसर पर जितेन्द्र खर्ब, नीतिश वधवा एडवोकेट, सतीश वर्मा एडवोकेट, कर्मबीर खर्ब, दिलशाद खान व ललित लूथरा आदि मौजूद रहे।     

सीएम हुड्डा ने झूठी घोषणाओं के नाम पर लोगों के साथ धोखा किया हैः लोहान

हिसार। इनेलो के जिलाध्यक्ष उमेद सिंह लोहान ने कहा है कि पिछले दस वर्षों से केंद्र व राज्य में कांग्रेस की सत्ता होने क बावजूद भी प्रदेश को कोई फायदा नहीं हुआ, उलटा नुकसान हुआ। प्रदेश की जनता के हक का पानी व बिजली केंद्र सरकार के दबाव में प्रदेश सरकार ने दिल्ली को देने का काम किया। जबकि प्रदेश की जनता को बिजली और पानी की समस्या के लिए दो चार होना पड़ रहा है। यहां तक की हिसार जिले में भी कांग्रेस के पांच विधायक हैं, जिनमें से दो तो मंत्री व एक चेयरमैन है। परंतु फिर भी जिले में किसी प्रकार के विकास कार्य नहीं हो पा रहे हैं। मुख्यमंत्री जब भी हिसार आते हैं तो केवल झूठी घोषणाएं करके चले जाते हैं। जिले के कांग्रेसी विधायकों का ध्यान जनता के समस्या व विकास कार्यों की तरफ ना होकर सत्ता के माध्यम से भ्रष्टाचार करके पैसे एकत्र करने की तरफ ज्यादा है। उन्होंने आगे कहा कि पिछले दस वर्षों से विधानसभा व लोकसभा में हिसार के प्रतिनिधियों ने हिसार की जनता की कोई आवाज नहीं उठाई। इसी कारण काउंटर मैग्नेट सिटी की परियोजना भी ठंडे बस्ते में चली गई। अगर इस परियोजना को सही तरीके से उठाया जाता तो जिले में करोड़ों अरबों रुपए का बजट आता, जिससे विकास के नए आयाम स्थापित हो सकते थे। लोहान ने ओग कहा कि अब  जब दुष्यंत चौटाला ने लोकसभा सांसद चुने जाने क बाद हिसार की आवाज बनकर संसद में हिसार के मुद्दे उठाने शुरू किए तो जनता को लगने लगा है कि अब उन्होंने सही जनप्रतिनिधि चुनकर भेजा है, जो उन्हें उनका हक दिलवाएगा। लोहान ने उम्मीद जताई कि लोकसभा चुनाव मेें जिस तरह से जनता ने इनेलो का साथ दिया है, उसी प्रकार विधानसभा चुनाव में भी जनता इनेलो को जिले की सभी विधानसभा सीटें जितवाने का काम करेगी।

जनता के समर्थन से इनैलो पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगीः धर्मबीर कैमिस्ट

कैथल। प्रदेश में कांग्रेस के गिरते हुए ग्राफ को देखते हुए यह दावे के साथ कहा जा सकता है कि कांग्रेस की कैबिनेट इस बार अंतिम बार तिरंगा लहरा पाएगी। यह विचार इंडियन नैश्नल लोकदल के जिला प्रवक्ता धर्मबीर कैमिस्ट ने पत्रकारों से रुबरु होते हुए व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि आगामी गणतंत्र दिवस के अवसर पर प्रदेश की जनता के सहयोग व समर्थन से चौटाला की कैबिनेट प्रदेश में तिरंगा लहराएगी। आज प्रदेश में जो हालात है उससे यह सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि सत्ता परिवर्तन निश्चित है। आने वाले विधानसभा चुनाव में कांगेस का पूरी तरह सफाया होना तय है क्योंकि कांगेस पार्टी ने हर वर्ग के लोगो को लूटने के अलावा कुछ नहीं किया है। जहां एक तरफ भूमि अधिग्रहण के नाम पर किसान वर्ग को लूटा जा रहा है वहीं दूसरी आेर व्यापारी वर्ग से रोजाना फिरौती मांगकर प्रताडि़त किया जा रहा है। आज पूरे प्रदेश का कर्मचारी वर्ग अपनी मांगो को लेकर रोजाना सडक़ पर आने को मजबूर है वहीं दूसरी तरफ मजदूर वर्ग महंगाई की वजह से दाल-रोटी को भी तरस रहा है। कांग्रेस सरकार ने लोगो को महंगाई, बेराजगारी, लचीली कानून व्यवस्था एवं भ्रष्टाचार के अलावा कुछ नहीं दिया है। उन्होंने दावा किया कि जिस प्रकार लोकसभा चुनावों में कांग्रेस को करारी हार मिली है उसी प्रकार हरियाणा विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस की करारी हार निश्चित है। आज प्रदेश के मुख्यमंत्री झूठी घोषणाएं करके केवलमात्र प्रदेश की जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रहे है लेकिन प्रदेश की जनता इन सभी बातों को भली-भाँती समझ चुकी है और इंडियन नैश्नल लोकदल के पक्ष में अपना वोट देकर चौधरी आेमप्रकाश चौटाला को मुख्यमंत्री बनाने का मन बना चुकी है। इस मौके पर उनके साथ जिला शहरी अध्यक्ष एवं पार्षद डॉप्र दीप शर्मा, हल्का प्रधान रोशन लाल सिरटा, शहरी प्रधान मंजीत डोरा व गुज्जर फैडरेशन के युवा जिलाध्यक्ष चरण सिंह गुर्जर भी उपस्थित थे। 

Monday, July 28, 2014

राजनीति का वास्तविक अर्थ जनता की सेवा होना चाहिएः चरणजीत रोड़ी

चंडीगढ़। राजनीति का वास्तविक अर्थ जनता की सेवा होना चाहिए क्योकि राज सत्ता की कमान जनता ही देती है इसलिए जनता की सेवा करना पहला कर्तव्य होना चाहिए यह बात सिरसा लोकसभा सांसद चरणजीत सिंह रोडी ने टोहाना की सैनी-जाट धर्मशाला में उपस्थित वार्डवासीयों को अपने धन्यवादी दौरे के दौरान कही। सांसद ने कहा कि वे टोहाना हल्के की जनता का हमेशा आभारी रहेंगे तथा हल्के का विकास करवाना उनकी प्राथमिकता रहेगी। श्री रोडी ने कहा कि आज देश व प्रदेश में कांग्रेस पार्टी का पतन हो रहा है और आने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का सूपडा साफ हो जाएगा तथा प्रदेश में इनेलो सरकार बनेगी। इससे पूर्व वार्ड वासियों ने सांसद रोडी व इनेलो के पूर्व विधायक निशान सिंह का भव्य स्वागत किया। 
इस अवसर पर धर्मशाला के निमार्ण के लिए सांसद कोष से 4 लाख का अनुदान देने की घोषणा की।  पूर्व विधायक निशान सिंह ने कहा कि वार्ड 19 की जनता ने हमेशा इनैलो का साथ दिया है जिसके लिए पार्टी आभारी है। उन्होने कहा कि  टोहाना कि सत्ता पर 45 साल का शासन करने के बाद भी स्थानीय विधायक ने टोहाना के हित के लिए कोई काम नहीं किया है, शहर में विकास के नाम पर केवल कागजी कार्यवाही है, सडकों का बुरा हाल है,सीवरेज व्यवस्था, कानून व्यवस्था ठप्प होकर रह गई है गुण्डागर्दी सरेआम हो रही है तथा कानून व्यवस्था लचर हो रही है लेकिन कृषि मंत्री व उसके चहेते शहर को लूटने पर लगे हुए है। इसके अलावा हल्का प्रधान हरि सिंह महरीया, रतिया इनेलो प्रधान बिकर सिंह हडौली, जिला पार्षद ममता कटारिया, जगदीश पाहवा, राधेश्याम गर्ग, अनिल भाटिया, राजपाल सैनी, कृष्ण सैनी, बलवीर शर्मा, औंकार गर्ग ने भी वार्डवासीयों को सम्बोधित किया। इधर, पहेवा में इनेलो प्रदेश उपाध्यक्ष पूर्व कृषि मंत्री जसविन्द्र सिंह संधू ने कहा कि गरीब, मजदूर व कमेरे की पार्टी इनेलो है। उपप्रधान मंत्री चौ. देवीलाल ने हमेशा ही इन वर्गाे की लड़ाई लड़ी और इनको राजनीति में बराबर का हक दिलवाने का काम किया। श्री संधू आज पेहवा हल्का के गांव खानपुर रोड़ांन में पार्टी में शामिल बाल्मीकि समाज के लोगों द्वारा अयोजित एक कार्यक्रम  में बोल रहे थे। इस मौके पर महिन्द्र सिंह बाल्मीकि, बलबीर सिंह बाल्मीकि, पाला राम बाल्मीकि, दलीप सिंह बाल्मीकि, जागीर सिंह बाल्मीकि, कुल्ला राम बाल्मीकि, संजीव कुमार बाल्मीकि, जसवन्त सिंह बाल्मीकि, सुरेश कुमार बाल्मीकि, बलवन्त बाल्मीकि, नरेश कुमार प्रजापत व  राम पाल प्रजापत आदि ने कांग्रेस व अन्य पार्टीयों को छोडक़र इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। पार्टी में शामिल लोगों का पूर्व मंत्री संधू, जिला अध्यक्ष कुलदीप सिंह मुलतानी व अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष चन्द्रभान बाल्मीकि ने स्वागत किया और कहा कि संघर्ष के दौरान पार्टी में शामिल लोगों को सरकार आने पर पूरा मान-सम्मान दिया जाएगा । इस मौके पर इनेलो अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव मा.लालचन्द बाल्मीकि, पूर्व सरपंच लाभ सिंह, सरपंच रघबीर सिंह, मा. शेर सिंह, फकीर चन्द बाल्मीकि, मेहर चन्द बाल्मीकि व महिन्द्र कंथला आदि मौके पर मौजूद थे।

इनसो स्थापना दिवस समारोह एेतिहासिक होगाः दिग्विजय चौटाला

हिसार। इनसो के स्थापना दिवस को लेकर सोमवार को हॉटल ग्रेस में एक बैठक का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय  चौटाला ने की। दिग्विजय चौटाला ने विद्यार्थियों सें 5 अगस्त को चंडीगढ़ के पंजाब विश्वविद्यालय में आयोजित होने वाले स्थापना दिवस समारोह में अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने का आह्वान किया। यहां पहुंचने पर इनसो के जिला अध्यक्ष सिल्क पूनिया, अमित बूरा, अमन मोर सहित अन्य विद्यार्थियों ने स्वागत किया।


बैठक में उपस्थित छात्रों को संबोधित करते हुए दिग्विजय चौटाला ने कहा कि 5 अगस्त को चण्डीगढ़ में होने वाले इनसो स्थापना दिवस सम्मेलन में सभी छात्र ज्यादा से ज्यादा संख्या में  पहुंचकर संगठन को मजबूती प्रदान करें। उन्होंने कहा कि समारोह में सांसद दुष्यंत चौटाला के अलावा छात्र राजनीति से जुड़े रहे विभिन्न राज्यों के 10 सांसद भाग लेंगे।  उन्होंने कहा कि राजनीति की नर्सरी कालेज की राजनीति मानी जाती है। यदि कालेज से राजनीति की अच्छी पौध तैयार होगी तो भविष्य में देश व प्रदेश को अच्छे राजनीतिज्ञ मिलेंगे और धन व बाहु के बल पर राजनीति में आगे आने वाले लोगों पर लगाम लगेगी। उन्होंने कहा कि कुछ लोग राजनीति में केवल पैसा कमाने के लिए आते हैं, उनका जनता की सेवा से कोई वास्ता नहीं होता। इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि इनसो छात्र हितों से जुड़ा हुआ संगठन है, जिसका लक्ष्य छात्र हितों के लिए संघर्ष करके उन्हेंं उनका हक दिलवाना है। दिग्विजय चौटाला ने चौटाला ने कहा कि आने वाले विधानसभा चुनावों में भी इनसो के छात्र इनेलो कार्यकर्ता के रूप में नहीं बल्कि स्वयं सेवकों के रूप में काम करेंगे।
उन्होंने कहा कि आज पूरे प्रदेश मेें सरकार द्वारा छात्रों की आवाज को दबाया जा रहा है। चाहे नौकरियों के मामले में हो रहे भेदभाव हो या फिर कॉलेज संबंधी समस्याएं हों। उन्होंने कहा कि आज का पढ़ा लिखा युवा नौकरी के लिए दर -दर की ठोकरे खाने पर मजबूर हो रहा है। प्रदेश सरकार के नुमाईंदे केवल अपनी जेबे भरने मेंं लगेे हुए हैं।  इनेलो का राज आने पर छात्र-छात्राओं को उनका हक दिलवाया जाएगा। उनकी समस्याओं का निदान किया जाएगा।


इनसो प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप देशवाल व प्रदेश उपाध्यक्ष अमित बूरा ने कहा कि इनसो ने हमेशा छात्र-छात्राओं की आवाज को पूरे जोरशोर से उठाया है। छात्रों का हित केवल इनसो में ही सुरक्षित है। इनसो के जिला अध्यक्ष सिल्क पूनिया ने विश्वास दिलाया कि 5 अगस्त को चण्ड़ीगढ़ मेें होने वाले इनसो स्थापना दिवस सम्मेलन में  हिसार से ज्यादा से ज्यादां संख्या में छात्रों की भागेदारी होगी। इस अवसर पर शमशेर नैन, नरेश पूनिया, आशीष कुंडू, सोमवीर वर्मा,सुमित फोगाट, दीपक श्योराण, संजय बामल, रोबिन, आसिम खान, रोहित कडवासरा, विकास मय्यड़, रजत दलाल, अमित काजला, धीरज सरदाना, अजय बूरा, संजय मलिक, अभिषेक, नवीन दलाल, अमित बागडिय़ा   धोलू गोदारा, राहुल शर्मा, पुनित सहित भारी सं या में विद्यार्थी उपस्थित थे।

इनसो स्थापना दिवस पर चंडीगढ़ में होने वाले सम्मेलन के बारे में विचार विमर्श किया गया


जींद। अर्बन एस्टेट स्थित इनेलो कार्यालय में सोमवार को इनसो कार्यकर्ताओं की बैठक इनसो जिला अध्यक्ष अनुराग खटकड़ की अध्यक्षता में हुई। इसमें मुख्य अतिथि के तौर पर जिला अध्यक्ष सुरेंद्र बरवाला एवं युवा प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप गिल उपस्थित हुए। जिला अध्यक्ष सुरेंद्र बरवाला ने कहा कि सम्मेलन को लेकर इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला 29 जुलाई को दोपहर बाद 2 बजे जींद में इनसों कार्यकर्ताओं की बैठक लेंगे। इसमें पांच अगस्त को इनसो स्थापना दिवस पर चंडीगढ़ में होने वाले सम्मेलन के बारे में विचार विमर्श किया इसमें पार्टी संगठन को मजबूत करने तथा युवा वर्ग को पार्टी से जोडऩे के लिए रणनीति तैयार की जाएगी। बरवाला ने कहा कि प्रदेश में इनेलो ही एक ऐसी पार्टी है जिसमें युवा वर्ग के हितों की लड़ाई लड़ी जा रही है और युवाओं को पूरा मान सम्मान दिया जा रहा है। इसका परिणाम है कि आज इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला के नेतृत्व में युवा वर्ग लगातार पार्टी से जुड़ रहा है। आज कांग्रेस तथा भाजपा में लगातार युवाओं की अनदेखी की जा रही है।  उन्होंने कहा कि युवा वर्ग के रुझान ने स्पष्ट कर दिया है कि प्रदेश में आने वाले समय इनेलो का है और इनेलो पूर्ण बहुमत प्राप्त करके इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला को मुख्यमंत्री बनाने का काम करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार प्रदेश के युवाओं के अधिकारों व रोजगार में भेदभाव कर रही है। आज युवा की योग्यता को दरकिनार करके अपने चहेतों को रोजगार दिया जा रहा है। आज लाखों युवा पूरी योग्यता पूरी करने के बावजूद भी सड़कों पर सरकार के खिलाफ विरोध जता रहा है, लेकिन सरकार गहरी नींद में सो रही है और युवा की सुन नहीं रही है। इसलिए आने वाले समय में कांग्रेस को प्रदेश से चलता करने में काम करेगा। इस अवसर पर उनके साथ प्रदीप दालमवाला,गुरजोत सन्धु,विकास सिहाग,रोहताश,सुनील बुरा,अमित खटकड़,अर्जुन ढिल्लों,जयपाल मलिक,सुशील टुर्ण इत्यादि मौजुद थे।

इनैलो नेताओं ने जनसंपर्क अभियान के दौरान लोगों को पार्टी की नीतियों से कराया अवगत

कैथल। इनेलो के प्रदेश कोषाध्यक्ष एवं समाजसेवी पारस मित्तल ने अपने जनसंपर्क अभियान के तहत गत दिवस पटेल नगर कालोनी का दौरा किया और वहां लोगों को इनेलो की नीतियों से अवगत करवाया। यहां गुजराती समाज से संबंध रखने वाले लोगों की प्रधान कमला देवी व अन्य सदस्यों ने पारस मित्तल का भव्य स्वागत किया। पारस मित्तल के नेतृत्व में गुजराती समाज के रमेश, रामदास बालू, बिरखू, विनोद, हैप्पी, राजेश, शोभा, बसंती आदि ने इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए पारस मित्तल ने आरोप लगाया कि आज कांग्रेस सरकार केशासनकाल में एमएलए से लेकर सांसद, मंत्री तक स्वयं भ्रष्टाचार में लिप्त हैं और कई विधायक व सीपीएस सरेआम लोगों से सीएलयू के नाम पर करोड़ों रूपये की रिश्वत मांगते हुए सीडी में कैद हो चुके हैं। इन मामलों की जांच अभी जारी है और इनमें से कुछ मामलों में लोकपाल मामले दर्ज करने के आदेश दे चुके हैं। पारस मित्तल ने लोगों को बताया कि हुड्डा सरकार द्वारा किसानों की कौडिय़ों के भाव हड़पी गई कई जमीनों का अधिग्रहण माननीय न्यायालय रद्द कर कड़ी फटकार लगा चुका है। सरकारी नौकरियों की भॢतयों में बरती गई अनियमितता के कारण जहां अनेक भर्तियों को माननीय न्यायालय में जनता द्वारा चुनौती दी जा चुकी है। वहीं महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार, दिन-दहाड़े लूट जैसे हालातों से जनता के बीच इस कांगे्रस सरकार के प्रति भारी रोष है। इनेलो प्रदेश कोषाध्यक्ष पारस मित्तल ने आरोप लगाया कि प्रदेश में हुड्डा सरकार ने अपने नौ वर्ष के शासनकाल में जमीन घोटालों, नौकरियों व विकास में भेदभाव करके तथा रिश्वतखोरी को बढ़ावा देकर प्रदेश की राजनीति के इतिहास में इतने काले अध्याय लिख दिए कि प्रदेश से कांग्रेस का सफाया होना तय है। इन परिस्थितियों का आभास कांग्रेसी नेताओं को भी हो गया है। ऐसे में हर कांग्रेसी नेता मौके की तलाश में है और वे कांग्रेस को छोड़ कर भाग रहे हैं। उन्होंने लोगों को इनेलो की नीतियों के बारे में बताया कि इनेलो हमेशा जनता से सीधी जुड़ी हुई पार्टी है और इनेलो ने हमेशा जनता के बीच रह कर सदा उनके हितों के लिए संघर्ष किया है। प्रदेश की जनता को भी केवल इनेलो से ही उम्मीद की किरण दिखाई दे रही है और कांग्रेस का विकल्प केवल इनेलो है। इस अवसर पर रमेश गर्ग जाखौली, तरसेम गोयल, राजेश, सुरेश, सुरजीत, कर्मचंद, रामकुमार, राजेन्द्र सिंगला, महेंद्र ढुंढवा, रमेश सिंगला, पवन बंसल, अमित कंसल, श्याम सुंदर शर्मा, अमित गुप्ता, सोनू सेठी, कर्मचंद गोयल, पुनीत ङ्क्षसगला, डा. शिव, राजकुमार गर्ग सहित अन्य कार्यकर्ता भी मौजूद थे। 

केंद्र व प्रदेश सरकार ने किया विजय दिवस पर शहीदों का अपमान: डा.महेन्द्र सिंह मलिक


जुलाना। प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक एवं अखिल भारतीय शहीद सम्मान संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा.महेन्द्र सिंह मलिक ने कहा हरियाणा सरकार व केंद्र की सरकार ने 15वें कारगिल वार पर विजय दिवस के उपलक्ष्य पर कोई भी सम्मान समारोह न करके शहीदों और सैनिकों का अपमान किया है। रविवार को डा. महेन्द्र सिंह मलिक जुलाना में इनैलो प्रैस प्रवक्ता आनंद लाठर के घर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। डा. मलिक  ने कहा कि कारगिल युद्ध के अंदर सेना के 556 जवानों ने अपनी शाहदत देकर देश की सुरक्षा एवं प्रभुसत्ता को कायम करते हुए पाकिस्तान की सेना को पराजित करने का काम किया और भारत भूमि से पीछे हटाने को मजबूर कर दिया था। इस शानदार विजय पर हरियाणा के सूरवीरों की अहम भूमिका रही थी। इस कारण हरियाणा सरकार का यह कर्तव्य बनता था कि शहीदों के घर जाकर परिजनों को सम्मानित कर उनके कल्याण का ब्यौरा लेना चाहिए था। हर शहीद के नाम गांव या कस्बे में शहीद समारक बना हुआ है। जहां पर सरकार का कोई नेता या प्रशासनिक अधिकारी द्वारा श्रद्धाजंलि सभा करके शहीदों को याद करना चाहिए था। लेकिन सरकार ने पूरी तरह से विजय दिवस की अनदेखी करके शहीदों एवं सैनिकों का घोर अपमान करने का काम किया है। 
डा.महेन्द्र सिंह मलिक ने कहा कि दुर्भाग्य की बात है कि न तो मुख्यमंत्री और न ही राज्यपाल द्वारा हरियाणा या चंडीगढ़ के किसी भी शहीद समारक पर जाकर श्रद्धाजंलि नहीं दी गई। यहां तक के कोई सरकारी अधिकारी भी श्रद्धाजंलि देने नहीं पहुंचे। इस तरह से प्रदेश सरकार द्वारा शहीदों की पूरी तरह से अनदेखी की गई है। मलिक ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि विजय दिवस पर मुख्यमंत्री चंंडीगढ़ में अपने चहेतों को सूचना आयोग के सदस्य बनाकर अपने चहेतों को शिफ्ट करने में लगे हुए थे जबकि पंचकूला में कैप्टन बतरा को कारगिल में मरणोपरांत परमवीर चक्र से नवाजा गया और उनका समारक पंचकूला में ही बनाया गया है लेकिन वहां पर जाने की सरकार के नुमाइंदों ने जहमत नहीं उठाई। डा.मलिक ने कहा कि अगर इसी तरह सैनिकों औेर शहीदों का अपमान होता रहा तो सेना में भर्ती होने वाले नौजवानों की संख्या कम होती दिखाई देगी। इस मौके पर उनके साथ इनैलो प्रैस प्रवक्ता आनंद लाठर, राजपाल राठी, जयनारायण जिलेदार, रणधीर श्योराण, सुरेन्द्र खटकड़ सहित काफी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे। 

महिलाओं व युवाओं को टिकट बंटवारे में दी जाएगी अहम हिस्सेदारीः अशोक शेरवाल

पानीपत। प्रदेश इनैलो प्रवक्ता एवं पानीपत जिला प्रभारी अशोक शेरवाल ने कहा कि कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला को एक षड्यंत्र के तहत 16 जनवरी को जेल में डाल दिया लेकिन इनैलो कार्यकर्ताओं ने एकजूट होकर पार्टी हित में कार्य किए।  अशोक शेरवाल जी.टी.रोड स्थित पार्टी के जिला कार्यालय में आज आयोजित मासिक बैठक में पार्टी कार्यकर्ताओं को सम्बोधित कर रहे थे। श्री शेरवाल ने कहा कि इनैलो टिकट कार्यकर्ताओं के बीच से ही दी जाएगी। कार्यकर्ता हर घर व हर गली में जाकर  इनैलो पार्टी की नीतियों का प्रचार करें। प्रदेश में 7 व 8 अगस्त तक आचार संहिता लगने की उम्मीद है अत:पार्टी की लहर को बनाए रखें। शेरवाल ने कहा कि जिस कार्यकर्ता को बूथ पर रहना है उसकी सूचि पार्टी कार्यालय में भेजें ताकि अन्य जगहों पर भी सूचि के अनुरूप कार्यकर्ताओं की डयूटी लगाई जा सके क्योंकि प्रदेश में इनैलो एकेले अपने दम पर चुनाव लड़ेगी व प्रदेश में सरकार बनायेगी। उन्होंने कहा कि इनैलो विधानसभा चुनावों में युवाओं को 30 प्रतिशत सीट देगी व महिलाओं को भी उनके हिस्सेदारी दी जायेगी। 


 शेरवाल ने कहा कि प्रदेश में इनैलो सरकार आने पर युवाओं को योग्यता के आधार पर रोजगार देगी व शिक्षा के नीजिकरण पर रोक लगाकर शिक्षा में सुधार किया जायेगा। सिविल अस्पतालों में फिलहाल डाक्टर व दवाईयां नहीं है। इनैलो के सत्ता में अरने पर ऐसी सभी मुलभमत सुविधाओं को उपल्बध कराया जायेगा व इसके अलावा हर वर्ग के लिए लोकहित की नीतियां बनाई जायेंगी। शेरवाल ने कहा कि कांग्रेस राज में भय, भूख व भ्रष्टाचार बढ़ा है इसको पूरी तरह से समाप्त किया जायेगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आग्रह किया की प्रदेश में बरसाती मेंढकों की तरह अनेक पार्टियां बन रही हैं जो दांव लगाकर प्रदेश को लूटने का कार्य करेंगी सही मायनों में प्रदेश का भला केवल इनैलो ही कर सकती है। इस अवसर पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बहन फूलवती, विधायक कृष्ण लाल पंवार, जिला अध्यक्ष सुरेन्द्र कालखा, जिला प्रवक्ता शेरसिंह खर्ब एडवोकेट, ग्रामीण प्रवक्ता डा.यशपाल ढांडा, हलका अध्यक्ष कुलदीप राठी, देवेन्द्र कादियान, रणबीर देसवाल, हेमराज जागलान, ऋषिपाल रावल, सुखबीर खलीला, मा.बलबीर, लेखराज खट्टर, लहणा सिंह, सुरेश मलिक, रामचन्द्र मलिक, प्रेमलता छौक्कर, अमरीष राणा, सतीश वर्मा, सूरजमल कश्यप, कविता शर्मा, मुकेश आट्टा, मिनाक्षी वालिया, हरिचन्द्र बैरागी, कृष्ण चंदौली, निशान मलिक, बलकार निम्बरी, जयपाल निम्बरी व सुरेन्द्र धौला आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

विकास के मामले में भिवानी के साथ हुड्डा सरकार ने किया भेदभावः दिग्विजय चौटाला


चंडीगढ़। इनसो केराष्ट्रीय अध्यक्ष व युवा इनेलो नेता दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा है कि कांग्रेस के शासनकाल में भिवानी जिले केसाथ इस तरह व्यवहार किया जा रहा है जैसे यह पाकिस्तान का जिला हो। सरकार में जिले से तीन मंत्री होने के बावजूद यह जिला पिछले दस वर्षो में विकास के मामले में पिछड़ गया है। जिले का हक रोहतक को दिया जाता रहा तथा सरकार के मंत्री चुपचाप देखते रहे। वे तोशाम स्थित अनाज मण्ड़ी में व्यापार मण्डल केपूर्व प्र्रधान राकेश मलिक की याद में आयोजित सत्ता परिवर्तन रैली में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। रैली का आयोजन राकेश मलिक की पत्नी अनिता मलिक तथा व्यापार मण्डल के प्रधान जोगेन्द्र मलिक द्वारा किया गया था। हजारों महिलाओं के साथ खचाखच भरे अनाजमण्ड़ी परिसर को संबोंधित करते हुए दिज्विजय चौटाला ने कहा कि आज तोशाम से सत्ता परिवर्तन की बयार शुरू हो चुकी है। गत लोकसभा चुनावों में बेचारी बन कर भिवानी जिले के लोगों को गुमराह कर वोट हथियाने वाली किरण चौधरी व उनकी बेटी श्रुति चौधरी का ढ़ोंग सबके सामने आ गया है। गत दस वर्ष के शासनकाल में मां बेटी का गुंड़ा राज सबने देखा है। उन्होंने कहा कि तोशाम व्यापार मण्ड़ल के प्रधान राकेश मलिक की लोकप्रियता से घबराकर सरेआम उनकी हत्या करवा दी तथा लोगों ने पांच दिन तक शव के साथ धरना प्रदर्शन कर पुरा बाजार बंद रखा लेकिन सरकार ने कोई कार्यवाही नहीं की।


उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार बनते ही किरण चौधरी ने मुख्यमंत्री के साथ मलिकर खानक पहाड़ को बन्द कराकर क्षेत्र के लोगों के मुह का निवाला छीन लिया है तथा राजस्थान के पहाड़ों में अपनी हिस्सेदारी कर अपनी जेबे भरने में लगी रही। उन्होंने कहा कि इनेलो की सरकार आने पर पहली कलम से पहाड़ में खनन कार्य शुरू करवा कर लोगों की रोजी रोटी का प्रबन्ध किया जाएगा तथा प्रदेश के लोगों सात रूपये के भाव से के्रशर उपलब्ध करवाने की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि इनेलो के शासन काल में खानक पहाड़ में खनन कार्य बिना किसी बाधा के चल रहा था तथा सभी लोगों को समान हक मिल रहा था।  तब कांग्रेस के लोगों ने खानक में गुंड़ा टैैक्स बताकर लोगों को गुमराह करने का काम किया गया। उन्होंने विधानसभाचुनावों में एकजुट होकर इनेलो के पक्ष में मतदान करने की अपील करते हुए कहा कि इनेलो की सरकार बनते ही इनेलो नेता अजयसिंह चौटाला भिवानी के लोगों को फिर से सर्वाधिक रोजगार देगें तथा विकास के कार्यो में प्राथमिकता देकर क्षेत्र का पिछड़ापन दूर किया जाएगा। रैली को पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, लोहारू के विधायक धर्मपाल ओबरा, गत लोकसभा प्रत्याशी राव बहादुर सिंह, ,जिला प्रधान सुनील लाम्बा, व्यापार मण्ड़ल के प्रधान जोगेन्द्र मलिक ने भी संबोंधित किया। 

इनैलो ने हमेशा सभी धर्मों की कदर कर उनका दिल जीतने का काम किया हैः अभय सिंह चौटाला


चंडीगढ़। जहां एक ओर कांग्रेस के मुख्यमंत्री सरकारी कोष का प्रयोग कर मेवात के मुस्लिम भाईयों का दावत-ए- इफ्तार के नाम पर राजनैतिक रोटियां सेकने में लगे है। वही आज भी लगभग 15 वर्षो से इनेलो सुप्रीमों चौधरी ओमप्रकाश चौटाला की पार्टी इनेलो पुरानी पंरपरा को कायम रखकर रामजान के पाक माह में मेवात की सरजंमी पर अपने निजी कोष से इफ्तार दावत देकर आपसी भाईचारे बढाने का कार्य कर एक मिसाल कायम कर रहे है। उन्होंने हमेशा सभी लोगों की धार्मिक भावनाओं की कद्र कर उनके दिलों को जीतने का काम किया है। यह बात इनेलो के वरिष्ठ नेता व ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने मेवात के रोजेदारों को दावत-ए-इफ्तार देते समय नूंह की नई अनाज मंडी में कही। चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि दस साल से कांग्रेस मुख्यमंत्री रमजाान मे रोजा इफ्तारी दे रहे है।  इस बार 65 लाख रूपये सरकारी कोष से खर्च कर सरकारी खजाना लूटाकर जनता की वाहवाही लूटने की कोशिश की। जोकि जायज नही है। क्योकि दावत निजी स्तर पर दी जाए तो बेहतर होती है। जोकि इनेलो सुप्रीमों भलिभांत जानते है। इनेलो नेता ने रोजेदारों का रोजा खुलवाकर विधायक अभय सिंह चौटाला के साथ साथ प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोडा ने मेवात सहित सभी हरियाणावासियों की रोजा के साथ ईद की भी मुबारकबाद दी।


चौधरी अभय सिंह चौटाला जब मंच पर आये तो लोगों ने तालियां बजाकर स्वागत किया। अनेक रोजेदारों ने इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला की रिहाई के लिए दुआ मांगी। इसमें मेवात की तीनों हल्के से लोगों  शामिल हुए। इसमें मुख्य रूप से विधायक मोहम्मद इलियास, विधायक नसीम अहमद, पूर्व विधायक जाकिर हुसैन, जिलाध्यक्ष बदरूद्दीन, गोपीचंद गहलोत, अन्न्तराम तंवर, बिधायक गंगाराम, पूर्व मंत्री सुभाष कत्याल, हरीश मलिक, योगेश हिलालपुर, तैयब हुसैन घासेडिया, जाहिद हुसैन, राहुल जैन सहित अनेक कार्यकर्तागण व पदाधिकारी तथा रोजेदार उपस्थित थे। इस दावत-ए-इफ्तार में 20 हजार से अधिक रोजेदारों के लिए अलग-अलग सेक्टर बनाए गये थे जिनकी व्यवस्था की जिम्मेदारी पार्टी के विभिन्न नेताओं को सौंपी गई थी।  इफ्तार पार्टी में रोजेदारों की सुविधा व व्यवस्था का खास ध्यान रखा गया। बीतें 15 वर्षाे की तरह इस बार भी इफ्तार पार्टी के सफल आयोजन कर इनेलों पार्टी ने रोजेदारों की प्रशंसा व दुआ प्राप्त की। इनेलो नेताओं ने बताया कि इस समय रमजान का पाक माह चल रहा है। यह माह खुदा की इबादत व रहमत का महीना है। मुस्लिम भाई इस पाक माह में रोजा रखते है। वर्ष 1999 में पहली बार लोगों की भावना को ध्यान में रखकर इनेलो पार्टी सुप्रीमों चौधरी ओमप्रकाश चौटाला द्वारा मेवात की राजधानी कही जानी वाली बडकली चौक पर इफ्तार पार्टी देकर नई परंपरा की शुरूआत की गई। जोकि कई वर्षाे से आज भी जारी है।
इधर टोहाना के सपड़ा मौहल्ला में भी इफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया जिसमें सिरसा के सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी मुख्य अतिथि थे और इनेलो के प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व विधायक निशान सिंह ने अध्यक्षता की। सांसद चरणजीत सिंह ने कहा कि इनेलो 36 बिरादरी की पार्टी है और समाज के सभी वर्गों को हमेशा साथ लेकर चलती है। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक समाज को हमेशा इनेलो ने ही पूरा मान सम्मान दिया है और प्रदेश में इनेलो की सरकार बनने पर अल्पसंख्यक समाज सहित समाज के सभी वर्गों को पूरा प्रतिनिधित्तव दिया जाएगा। निशान सिंह ने कांग्रेस पर लोगों को जात-पात के नाम पर बांटने का आरोप लगाते हुए आने वाले विधानसभा चुनाव में लोगों से कांग्रेस को करारा सबक सिखाने और इनेलो उम्मीदवारों को भारी बहुमत से विजयी बनाने का आह्वान किया। इस अवसर पर हरिसिंह डांगरा, बिकरसिंह, राजेंद्र बिल्ला, पूर्व प्रधान शमशेर सिंह, वीरभान खान, डा मांगे खान, बशीर खान, अख्तर अली, मोहम्मद अली, ममता कटारिया, कालेश रानी, निर्मला नैण सहित पार्टी के अनेक प्रमुख पदाधिकारी भी मौजूद थे। 

इनैलो का प्रतिनिधिमंडल हुड्डा सरकार की गैरकानूनी नियुक्तियों के बारे में राज्यपाल को सौंपेगा ज्ञापन

चंडीगढ़। इनेलो का एक प्रतिनिधीमंडल जल्द ही हरियाणा के नए राज्यपाल कप्तान सिंह सौलंकी से मुलाकात कर उन्हें हुड्डा सरकार द्वारा सत्ता से जाते-जाते सारे नियम कायदे तोडक़र अहम पदों पर अपने चहेतों को नियुक्त किए जाने और सभी संविधानिक, लोकतांत्रिक व सामाजिक मर्यादाओं का हनन किए जाने संबंधी मामलों का विस्तार से ब्यौरा देते हुए एक ज्ञापन भी सौंपा जाएगा। इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा सत्ता से जाते-जाते गैरकानूनी रूप से नियुक्तियां करने में लगे हुए हैं जो कि पूरी तरह से गलत एवं नियम कायदों के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि इस बारे में सभी तथ्यों सहित राज्यपाल को अवगत करवाया जाएगा और हुड्डा सरकार के खिलाफ कार्यवाही किए जाने का आह्वान किया जाएगा। 
श्री अरोड़ा ने कहा कि मुख्यमंत्री ने रविवार को छुट्टी के दिन राज्य सूचना आयोग एवं सेवा का अधिकार आयोग में सदस्यों को जो शपथ दिलाई है वह पूरी तरह से असंवैधानिक एवं गैरकानूनी है। श्री अरोड़ा ने कहा कि इन लोगों की नियुक्ति के आदेश जारी हुए बगैर ही उन्हें शपथ दिला दी गई। उन्होंने कहा कि सूचना आयोग में जिन 3 सदस्यों को नियुक्त किया गया है उनमें शिवरमण गौड़, मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य सलाहकार के पद पर, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सलाहकार प्रो. विरेंद्र की पत्नी श्रीमती रेखा, शिक्षा विभाग में कार्यरत होने के कारण और विजय कुमार नरूला जिसके नाम की सर्च कमेटी द्वारा सिफारिश ही नहीं की गई थी और जो सैनिक अधिकारी बताए जाते हैं वे सभी लाभ के पद पर होने के कारण आरटीआई कानून की धारा 15 (6) के तहत इस पद पर लगने के पूरी तरह अयोग्य है। वैसे भी विजय कुमार नरूला का नाम सर्च कमेटी की सिफारिश के बिना वैधानिक कमेटी के 2 सदस्यों ने कैसे प्रस्तावित कर दिया और इस बारे में कमेटी के तीसरे सदस्य एवं विपक्ष के नेता को अपनी टिप्पणी देने का भी अवसर नहीं दिया गया जो कि पूरी तरह गैरकानूनी है। 
श्री अरोड़ा ने कहा कि सेवा का अधिकार आयोग में जिन लेफ्टिनेंट जनरल वीएस टोंक के नाम की सिफारिश की गई है उनका नाम तो इस आयोग के लिए सर्च कमेटी की ओर से भेजा ही नहीं गया था। इतना ही नहीं श्री टोंक हरियाणा के सेवानिवृत अधिकारी भी नहीं है जो कि नियमों के अनुसार पूरी तरह गलत है। इसी तरह आयोग के एक अन्य सदस्य सरवण सिंह और कार्यरत डिप्टी एडवोकेट जनरल सुनील कत्याल भी उस दिन लाभ के पद पर थे जब इनका चयन किया गया। इतना ही नहीं रिटायर्ड संयुक्त ईटीसी अमर सिंह का पद प्रदेश सरकार में उपसचिव के समान था जिसके चलते ये सभी सिफारिशें सेवा का अधिकार कानून की धारा 13 (3) के प्रावधानों के खिलाफ हैं। इतना ही नहीं जो सिफारिशें की गई और फाईल भेजी गई उनमें भी अनेक जगह कटिंग व ओवर राईटिंग के चलते प्रशासनिक सुधार विभाग ने इनकी नियुक्तियों के आदेश जारी नहीं किए। इसके बावजूद मुख्यमंत्री ने सारे नियम कायदों के विपरित जल्दबाजी में अपने चहेतों को शपथ दिलाने का काम किया। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के फैसले अनुसार विपक्ष के नेता की आपत्तियों को भी बैठक की कार्यवाही में दर्ज कर उस पर विचार किया जाना चाहिए लेकिन सरकार ने जल्दबाजी में इन्हें भी नजरअंदाज कर दिया। अब इनेलो का प्रतिनिधिमंडल जल्द ही इस बारे में नए राज्यपाल से मुलाकात कर उन्हें सरकार के गैरकानूनी, असंवैधानिक व गलत कार्यों की विस्तार से जानकारी देगा और सरकार के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग करेगा।

Saturday, July 26, 2014

इनैलो राज्यसभा सदस्य ने भिवानीखेड़ा के विकास के लिए 6 लाख रूपए की ग्रांट देने की घोषणा की


कुरुक्षेत्र। इनैलो के राज्यसभा सदस्य रामकुमार कश्यप ने गांव भिवानीखेड़ा में लोगों की समस्याएं सुनी और गांवों के विकास के लिए 6 लाख रुपये की ग्रांट देने की घोषणा की। श्री कश्यप ने गांववासियों से विधानसभा चुनाव में इनेलो का साथ देने की अपील करते हुए कहा कि आने वाला समय इनेलो का है। प्रदेश की जनता कांग्रेस का सफाया करके इनेलो को सत्ता सौंपेगी, क्योंकि हरियाणा में कांग्रेस का विकल्प केवल इनेलो है। उन्होंने कहा कि इनेलो 36 जात की पार्टी है। कमेरे वर्ग के हित इनेलो में ही सुरक्षित हैं। श्री कश्यप ने कहा कि इनेलो ने राज्यसभा में पिछड़े वर्ग के दो लोगों को सांसद बनाकर शत-प्रतिशत आरक्षण दिया है। पिछड़े वर्ग को सत्ता में भागीदारी इनेलो ने ही दी, जबकि कांग्रेस ने तो पिछड़े वर्ग का वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल किया। इस अवसर पर ओमप्रकाश कश्यप, राजेश, सुरेंद्र सैनी, रणबीर सैनी, सरपंच मुकेश सैनी, गौरव सैनी, मोहित सैनी, वीरेंद व धर्मबीर सैनी आदि उपस्थित थे। गांव में पहुंचने पर श्री कश्यप का फूल-माला डालकर स्वागत किया और गांव की ओर से पगड़ी बांधकर सम्मानित भी किया।

मुख्यमंत्री हुड्डा जाते-जाते अपने चहेतों को मुख्य पदों पर कर रहे हैं एडजस्ट: अरोड़ा

चंडीगढ़। हुड्डा सरकार ने विधानसभा चुनाव से पहले ही अपनी हार मान ली है और इसीलिए मुख्यमंत्री जाते-जाते अपने चहेते लोगों को विभिन्न आयोगों में अडजस्ट करने में लग रहे हैं ताकि चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद भी उनके चहेतों के लिए गाड़ी, कोठी व दफ्तर का इंतजाम होने के साथ-साथ उनका खर्चा चलता रह सके। श्री अरोड़ा ने कहा कि जब मुख्यमंत्री के अपने सलाहकार, मुख्यमंत्री सचिवालय के वरिष्ठ अधिकारी और एक अन्य सलाहकार की पत्नी को अलग-अलग आयोगों में बिठाया जा रहा है तो उससे साफ है कि मुख्यमंत्री व उनके इर्द-गिर्द रहने वाले लोगों ने चुनाव से पहले ही कांग्रेस पार्टी का पूरी तरह से सफाया होना तय मान लिया है। उन्होंने कहा कि हुड्डा सरकार ने अपने पूरे कार्यकाल में सिर्फ रिटायर्ड लोगों को ही अहम् पदों पर बिठाने का काम किया है जो कि बेहद गलत और अनैतिक कार्य है।
श्री अरोड़ा ने कहा कि मुख्यमंत्री को पता है कि अब उनकी सरकार मात्र चंद दिनों की मेहमान है, ऐसे में वे अहम् पदों पर चहेतों को लगाने में जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा कि जब विधानसभा में इस तरह का बिल लाया गया था तो इनेलो ने इसका जोरदार विरोध करते हुए कहा था कि ऐसे आयोगों में सेवानिवृत्त अधिकारियों को न लगाया जाए क्योंकि रिटायर्ड व्यक्ति की कोई जवाबदेही अथवा जिम्मेदारी नहीं होती। बल्कि जो लोग सेवा में हैं उन्हें इन पदों पर नियुक्त किया जाए ताकि अगर वे अपनी जिम्मेदारी पर खरे न उतरें तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सके। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी विधानसभा में भी ऐसी गलत नियुक्तियों का विरोध कर चुकी है और आज भी इसका विरोध करती है। उन्होंने कहा कि इनेलो प्रमुख चौधरी ओमप्रकाश चौटाला जो विपक्ष के नेता होने के नाते इन कमेटियां के सदस्य थे, उन्होंने भी इन नियुक्तियों का विरोध जताते हुए अपनी असहमति दर्ज करवाई थी लेकिन इसके बावजूद सरकार चहेतों को अहम् पदों पर नियुक्त करने के लिए सारे नियम कायदे तोड़ रही है।
इधर, श्री अरोड़ा ने अपने हलके में कांग्रेस की पोल खोल अभियान के अंतर्गत कहा कि हरियाणा विधानसभा के चुनाव में कांग्रेस सरकार का जाना और इनेलो का सत्ता में आना निश्चित है। प्रदेश का हर वर्ग सरकार से दुखी है। चुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ होगा और प्रदेश की जनता चौ. ओम प्रकाश चौटाला के नेतृत्व में इनेलो को सत्ता सौंपेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस का विकल्प केवल इनेलो है। अन्य राजनैतिक दलों का कोई जनाधार नहीं है। कांग्रेस की सत्ता जाते देख आज कई बड़ेे-बड़े कांग्रेसी नेता पार्टी छोड़ चुके हैं और कई जाने को तैयार हैं और वे अन्य राजनीतिक दलों में अपनी जमीन तलाश कर रहे हैं। श्री अरोड़ा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के शासन में क्षेत्रवाद और भाई-भतीजावाद हावी रहा। एक विशेष इलाके को छोडक़र अन्य कहीं भी विकास नहीं हुआ और न ही युवकों को सरकारी नौकरियां दी गईं। इस इलाके के साथ तो कांग्रेस सरकार ने विशेष रूप से भेदभाव किया। कुरुक्षेत्र में कांग्रेस के तीन सांसद होते थे। एक वित्त मंत्री है लेकिन कांग्रेस के राज में यहां कोई नई परियोजना शुरू नहीं की गई। जो कांग्रेसी नेता आज विकास न होने और भेदभाव का आरोप लगाकर कांग्रेस छोड़ रहे हैं, वे मंचों से हुड्डा का गुणगान करते थे और कहा करते थे कि हुड्डा के राज में कुरुक्षेत्र में बड़ा ही विकास हुआ है लेकिन आज वही नेता कांग्रेस छोडक़र भाग रहे हैं। श्री अरोड़ा ने लोगों से अपील की कि वे प्रदेश के हित के लिए इनेलो के झंडे के नीचे इक_ा हो जाएं। इनेलो 36 बिरादरी की पार्टी है। इनेलो के राज में पहले भी कुरुक्षेत्र का बहुत विकास हुआ और अब इनैलो के सत्ता में आने पर सारी कसर पूरी कर दी जाएगी। 

जोगेंद्र काहलो के नेतृत्व में दर्जनों परिवार कांग्रेस छोड़कर इनेलो में शामिल

हिसार। हिसार विधानसभा क्षेत्र से इनेलो को शनिवार उस समय बड़ी सफलता मिली, जब स्थानीय विधायक एवं निकाय मंत्री सावित्री जिंदल के गढ़ विद्युत नगर स्थित कॉलोनी में इनेलो के वरिष्ठ नेता जोगेंद्र काहलो की उपस्थिति में कांग्रेस छोड़कर इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। इस मौके पर अजय सैनी, लवली, सज्जन सैनी, अनिल कुमार, महीपाल सिंह, ओमप्रकाश, राकेश कुमार, मुकेश, सुनील, रणबीर, आशीष, रणदीप, अतुल, दीपक चौहान, प्रेम प्रकाश, मुकेश शर्मा, मुन्ना तायल, सुरेंद्र कुमार, चंद्रभान, जेके कौशिक, रामकिशन व राजेद्र प्रसाद सहित दर्जनों लोग अपने अपने परिवारों सहित कांग्रेस छोड़कर इनेलो में शामिल हुए। इन लोगों में स्थानीय विधायक व निकाय मंत्री के प्रति गहरा रोष था।


इस मौके पर इनेलो नेता जोगेंद्र काहलो ने कहा कि पिछले 14 वर्षों से जिंदल परिवार हिसार का प्रतिनिधित्व विधानसभा में करता आ रहा है। परंतु इन्होंने एक बार भी गंभीरता से शहर का मुद्दा उठाने की कोशिश नहीं की। उन्होंने कहा कि आज हिसार की जनता जिंदल परिवार से छुटकारा पाना चाहती है। क्योंकि मंत्री व उसका परिवार तो राजनीतिक सत्ता हासिल करके अपना व्यापार चमकाते हैं। इनको जनता के हितों से कोई लेना देना नहीं है। सावित्री जिंदल के द्वारा करोड़ों रुपए के विकास कार्य कराने की पोल खोलते हुए इनेलो नेता काहलों ने कहा कि अगर सही मायने में विकास कराया होता तो आज हिसार की हालत ऐसी नहीं होती, जो दिखाई दे रही है। सीवरेज व्यवस्था ठप है, सड़कें टूटी पड़ी है। लोगों को पीने का स्वच्छ पानी उपलब्ध नहीं है। आज चुनाव को नजदीक आत देखकर मंत्री महोदया जनता के बीच जाकर विकास का झूठा आश्वासन दे रही है। मंत्री जिस प्रकार से अधिकारियों को विकास कार्य करने के निर्देश देने का ढोंग कर रही है, वह केवल दिखावा है। क्योंकि अगर उन्हें विकास कराना होता तो गत दस वर्षों के दौरान करा सकते थे ताकि आज शहर की जनता के सामने यह समस्या ही नहीं होती। जिंदल परिवार केवल फर्जी वोटों के सहारे चुनाव जीतता आया है। परंतु इस बार हिसार की जागरूक जनता ने उन लोगों की पहचान कर ली है व उन्हें कटवाने का काम कर रही है। अब हिसार की जनता भी बदलाव लाएगी व विधानसभा चुनाव में जिंदल परिवार से अपने अनदेखी का हिसाब चुकता करेगी। इस अवसर पर गुरदीप चड्डा, विनोद सैनी, राजेश शर्मा, अशाक, गगन अरोड़ा, मनीष कौशल, मुकेश वर्मा व सोनू खुराना सहित बहुत से गणमान्य मौजूद थे। 

इनैलो नेता वीरभान मेहता ने विभिन्न स्थानों पर चलाया जनसंपर्क अभियान


सिरसा। इनेलो के वरिष्ठ नेता वीरभान मेहता ने शनिवार को शहर व गांवों में अनेक स्थानों पर जनसंपर्क किया और लोगों को इनेलो की नीतियों की जानकारी देने के साथ-साथ इनेलो से जुड़ने का आह्वान भी किया। इस कड़ी में सबसे पहले इनेलो नेता वीरभान मेहता न्यू ट्रेड टॉवर मार्केट पहुंचे और वहां उन्होंने व्यापारियों एवं दुकानदारों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि व्यापारी वर्ग किसी भी प्रदेश एवं देश के विकास की रीढ़ होती है। यदि व्यापारी वर्ग ही परेशानियां झेलेगा तो इस मामले में सरकार की सीधे तौर पर असफलता जाहिर होती है। उन्होंने कहा कि इनेलो शासनकाल में व्यापारियों के हितों के लिए अनेक योजनाएं बनाकर लागू की गई थी और उसी का परिणाम था कि प्रदेश में व्यापार को बढ़ावा मिला और अनेक देशी व विदेशी कंपनियों ने अपने उद्योगों के लिए हरियाणा को सबसे बड़ा केंद्र माना। इनेलो शासन में हरियाणा में बढ़े उद्योगों के कारण जहां प्रदेश के बेरोजगारों को रोजगार मिला वहीं हरियाणा के कोष में राजस्व की भी बढ़ौतरी हुई। इस अवसर पर तिलकराज चोपड़ा, कमलकांत, सुरेश मेहता, बलदेव कुमार, विजय गुंबर, राजेश सतीजा, दर्शनलाल मेहता, श्याम सुंदर मेहता, रामकिशन तंवर, प्रदीप मेहता, सुरेश गुगलानी, राजकुमार कंबोज, सतपाल, राजकुमार रंगड़ी, हरजीत सिंह व चीनू मेहता आदि मौजूद थे। बाद में इनेलो नेता ने व्यापारी सुभाष मिढा के प्रतिष्ठान एवं डिंग में विजय सींवर तथा मिलाप सिंह पचार के आवास पर जलपान कार्यक्रम के तहत इनेलो की कल्याणकारी नीतियों के संदर्भ में विस्तारपूर्वक जानकारी दी और मौके पर उपस्थित पार्टी कार्यकर्ताओं को अधिक से अधिक लोगों को इनेलो से जोडऩे का आह्वान किया। इस अवसर पर उनके साथ अजमेर सेठी, वीरभान सोनी, राकेश जोधकां, धर्मपाल चाडीवाल, हरजिंद्र सिंह, अश्विनी गोदारा, आकाशदीप, अशोक सैनी, सोहनलाल कंबोज, जितेंद्र, सुनील गर्ग, टीटू खुराना, जगमोहन सहगल, अनिल खिलेरी, राजेंद्र स्वामी, गिरीराज शर्मा, राजकुमार केडिया, हरबंस पटवारी, रमन सिंवर, रणवीर पचार, रणजीत पचार, हवासिंह पचार, श्योनारायण पचार, रोहताश रॉड, विरेंद्र झूरिया, विजय सैनी, विनोद पचार, सुदेश पचार, संदीप पचार, विनोद झूरिया, रविंद्र पचार, प्रमोद कुमार, अनिल कुमार, राजेश कुनाल, रोहित, अजय, विजय, महावीर पचार आदि लोग मौजूद थे। इससे पूर्व इनेलो नेता वीरभान मेहता ने अपने सहयोगियों सहित डिंगमंडी स्थित श्री रमनगिरी महाराज की कुटिया में पहुंचकर आशीर्वाद लिया। 

हरियाणा प्रदेश में सत्ता परिवर्तन होना तय: सीमा चौधरी

रायपुररानी। महंगाई रोकने में कांग्रेस-भाजपा पूरी तरह से विफल साबित हुई हैं, इनसे लोगों को बहुत उम्मीदें थी और इन पार्टियों ने केवल अपने निजी स्वार्थ के सत्ता का दुरूपयोग किया। उक्त शब्द इनेलो प्रदेश प्रवक्ता व महिला विंग की जिला प्रधान सीमा चौधरी ने जनसंपर्क अभियान के तहत रायपुररानी में महिलाओं की आयोजित एक बैठक में बोलते हुए कहीं। इस अवसर पर बैठक में जिला परिषद सदस्य जीत राम ठेकेदार, संजीव सैणी, राज सैणी, सुनीता, प्रकाश कौर, अंजू गुप्ता, कमलेश, सिन्दर, शोभा, सीता, मेहर, फकीरू टोका, सुमन सहित अन्य लोग भी मौजूद थे और इस अवसर पर कई महिलाओं ने इनेलों में शामिल होने की घोषणा भी की। आयोजित सभा में इनेलो प्रवक्ता सीमा चौधरी ने कहा कि  कांग्रेस राज में महिलाओं पर उत्पीडऩ के मामले में इजाफा हुआ है, आज महिलाएं बिगड़ी कानून-व्यवस्था के चलते घर से बाहर निकलने में संकोच करती है। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि हरियाणा प्रदेश में सत्ता परिवर्तन होना तय है और जिस प्रकार से प्रदेश में इनेलो ने प्रमुख विपक्षी दल के रूप में लोगों की आवाज को उठाया, हर समस्या से लेकर परेशानी को लेकर विरोध प्रदर्शन किए, उससे जनता का इनेलो में विश्वास बढ़ा है और इनेलो ही प्रदेश में अगली सरकार बनाएगी। चौधरी ने कहा कि कांग्रेस को 10 वर्ष से ज्यादा सत्ता से चिपकने को होने वाले हैपरुंत इतने समय में उसने जनता के लिए कोई काम नही किया, उन्होंने कहा कि कांग्रेस की बदनीतियों को लेकर प्रदेश की जनता जवाब देने के इंतजार में है और कांग्रेस का प्रदेश से पुर्ण रूप से सफाया कर कांग्रेस को उसकी गलती का एहसास करवाएगी। सीमा चौधरी ने महिलाओं से कहा कि वो चुनावों को लेकर आगे आए और पार्टी की नीतियों को आम जन तक पहुंचाने के साथ-साथ लोगों को भी पार्टी से जोडऩे का काम करें। 

कांग्रेस सरकार की निष्क्रियता की वजह से हिसार विकास के मामले में काफी पिछड़ चुका हैः रेखा ऐरन

हिसार। इनेलो की निगम पार्षद रेखा ऐरन ने कहा कि हिसार जिले के मौजूदा कांग्रेसी विधायकों व स्थानीय मंत्री की निष्क्रियता की वजह से हिसार शहर विकास के मामले में बिलकुल पिछड़ चुका है। पिछले दस वर्षों में केंद्र व राज्य दोनों जगह कांग्रेस की सरकार होने के बावजूद भी जिस प्रकार पुराने रेलवे पुल पर छह साल साल गाटर लग रहे, जबकि उस कार्य की लागत मात्र 54 लाख रुपए थी। इसी प्रकार अब डाबड़ा चौक रेलवे पुल को डबल करने की फाइल भी पिछले तीन वर्षों से अटकी पड़ी है। इस कार्य का नक्शा भी सही ढंग से बनाकर नहीं भेजा जाता, जिस कारण रेलवे विभाग फाइल को वापस भेज देता है, जोकि सरासर स्थानीय विधायक व मंत्री की निष्क्रियता को साबित करता है। 
हिसार शहर में तीन विधानसभा क्षेत्र नलवा, बरवाला व हिसार आते हैं, जिसमें कांग्रेस के विधायक है। परंतु विधायक या तो विकास कार्यों के प्रति उदासीन रवैया अपनाए हुए हैं और या उन्हें काम कराना ही नहीं आता। इनके उदासीन रवैये के कारण ही सरकारी अधिकारी भी जनता की समस्याओं की तरफ कोई ध्यान नहीं देते। इनेलो नेत्री ने आगे कहा कि अब सांसद दुष्यंत चौटाला के सांसद बनने के बाद हिसार की जनता के मन में उम्मीद की एक किरण जागी है। सांसद दुष्यंत चौटाला एक ऊर्जावान व मेहनती युवा है और उनमें काम करने की काबलियत है। वे जनता से जुड़ी हर समस्या को को संबंधित विभाग से दूर करवाने की कोशिश करते हैं। सूर्य नगर रेलवे फाटक पर अंडर पास की पुरानी मांग पर भी किसी भी कांग्रेसी जन प्रतिनिधि ने ध्यान नहीं दिया। अब सांसद दुष्यंत चौटाला ने सूर्यनगर निवासियों की इस मांग को रेलवे मंत्री से मिलकर उनके सामने रखी है। इनेलो नेत्री ने कहा कि अब कांग्रेस का सफाया प्रदेश से होना निश्चित है। विधानसभा चुनाव के बाद प्रदेश में इनेलो की सरकार बनने पर डाबडा चौक पुल को डबल करना व सूर्य नगर रेलवे फाटक पर अंडर पास बनवाना प्राथमिकता होगी, ताकि इस क्षेत्र के लोगों को इस समस्या से निजात मिल सके। 

इनसों के प्रदर्शन के आगे झुका मदवि प्रशासन, यूआईईटी विभाग के साक्षात्कार किये रद्द

रोहतक। मदवि की शिक्षक भर्ती विश्वविद्यालय कुलपति एवं कांग्रेस सरकार के गले की फांस बनती नजर आ रही है। काफी अनियमितताओं के बावजूद सरकार के दबाव में कुलपति में भर्तियां चुनाव से पहले कराने की फिराक में है। परन्तु इनसों छात्र संघ इन भर्तियों में धांधलियों व नियमों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए साक्षात्कार रूकवाने के लिए लगातार आंदोलन कर रहा है। इसी संदर्भ में आज इनसों कायकर्ताओं ने कुलपति का घेराव किया। सैंकड़ों इनसों कार्यकर्ता एकजुट होकर कुलपति कार्यालय के सामने धरने पर बैठ गए। इनसों कार्यकर्ताओं ने मदवि प्रशासन व हरियाणा सरकार के विरूद्ध जमकर नारेबाजी की। इसी दौरान कुलपति सहित सभी उच्च अधिकारी अन्दर कार्यालय में यूआईईटी के प्रोफेसर एवं एसोसिएट प्रोफेसर के पदों के लिए साक्षात्कार लेने की तैयारी कर रहे थे। इनसों कार्यकर्ताओं को जब इस बात का पता चला तो इनसों प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप देशवाल सहित सभी कार्यकर्ता कुलपति कार्यालय के अन्दर घुस गए व जमकर नारेबाजी की। इनसों कार्यकर्ता साक्षात्कार रद्द करने की मांग पर अड़ गए। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप देशवाल व कुलपति एवं कुलसचिव के बीच काफी नौंक-झौंक हुई। प्रदीप देशवाल व कुलदीप नारा ने कुलपति पर यूजीसी एवं एआईसीटी के नियमों की अनदेखी करके सिफारशी लोगों को भर्ती करने का आरोप लगाया। अनियमतिताओं के उजागर होते ही मदवि अधिकारी मौन हो गए व साक्षात्कार को रद्द करने की बात स्वीकार करते हुए छात्रों को शान्त कराया। 
इनसो प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप देशवाल ने बताया कि यूआईईटी में 2 प्रोफेसर और 4 एसोसिएट प्रोफेसर भर्ती किये जाने थे जिसके लिए साक्षात्कार लिए जा रहे थे। परन्तु साक्षात्कार सभी नियमों की अनदेखी करके किए जा रहे थे। न तो यूजीसी के नियमों का पालन हो रहा और न ही एआईसीटी के नियमों पर कोई ध्यान दिया गया। यहां तक की सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों को भी दर किनार किया जा रहा है। 2 प्रोफेसर भर्ती करने के लिए सिर्फ 2 ही उम्मीदवार थे जिनका न्यूनतम अनुभव का कार्यकाल भी पूरा नहीं हुआ था। 4 एसोसिएट प्रोफेसरों को लगाने के लिए केवल 7 ही उम्मीवार बुलाए गए। जबकि नियमों के अनुसार कुल पदों के कम से कम तीन गुणा उम्मीदवारों को साक्षात्कार पर बुलाया जाना अनिवार्य है। इसके अतिरिक्त यहां सबसे ध्यान देने योग्य बात यह है कि आधे से ज्यादा उम्मीदवार सिंघानिया विश्वविद्यालय से पीएचडी की डिग्री करके आए हुए हैं। जो कि पहले ही सवालों के घेरे में है। एक तरफ तो मदवि सिंघानिया जैसी युनिवर्सिटी से आने वाले छात्रों के दाखिले पर रोक लगा रही है जबकि दुसरी तरफ उसी युनिवर्सिटी से पीएचडी पास को इतने महत्वपूर्ण पदों पर भर्ती कर रही है। इसके अतिरिक्त सुप्रीम कोर्ट के निर्देश है कि अगर भर्ती प्रक्रिया 6 महीने से ज्यादा लेट होने पर पोस्टों को दोबारा री-ऐड की जाए ताकि नए उम्मीदवारों को भी मौका मिल सके। परन्तु मदवि प्रशासन मार्च 2012 के समय की एडवरटाईमैंट पर भर्ती कर रहा है। जो सरासर गैरकानूनी है। इसके अतिरिक्त भी बहुत सी धांधलिया हैं जिनसे स्पष्ट हो जाता है कि ये भर्तियां सिर्फ सिफारशी एवं अयोग्य लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए की जा रही है। इसी कारण मदवि प्रशासन बार-बार मीडिया में खबर देता है कि साक्षात्कार पोस्टपोंड कर दिए गए हैं परन्तु अन्दर खाते में इन पदो ंपर भर्तियां हो रही हैं। परन्तु इनसों छात्र संघ इस षडयंत्र के खिलाफ आंदोलन करता रहेगा। प्रदीप देशवाल ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि युवाओं के हितों के लिए इनसो छात्र संघ आर-पार की लड़ाई करेगा। इस अवसर पर मुख्य रूप से डा कुलदीप नारा, अरविन्द गोस्वामी, रवि रेढू, भीषम दहिया, संचित नांदल, दीपक दलाल, अमित नांदल, सोमबीर मकड़ौली, सुभाष चौधरी, अजय, अभिषेक देशवाल, अश्विन पानू, विशाल नैनी, मनीष राठी, रणदीप नान्दल, निशांत, विजय, मंजीत, साहिल, अंकित, संजीत, दिनेश समेंत काफी संख्या में छात्र उपस्थित थे।


सांसद दुष्यंत चौटाला ने ग्लास्गो में जाकर हरियाणा के खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया


ग्लासगो/हिसार। भारतीय टेबल टेनिस संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष दुष्यंत चौटाला इंग्लैंड ने स्कॉटलैंड में चल रहे राष्ट्रमंडल खेलों में हरियाणा के प्रतिभागियों का खेल गांव जाकर उत्साहवर्धन किया। उन्होंने हरियाणा प्रदेश के सभी खिलाडिय़ों से भी मुलाकात कर उन्हें इन खेलों में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए शुभकामनाएं दी। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा के खिलाडिय़ों पर पूरे देश की उम्मीदें टिकी हैं। उन्होंने आशा जताई भारतीयों की उम्मीदों पर हरियाणा के खिलाड़ी खरा उतरेंगे। दिल्ली में 2010 में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में सर्वाधिक मेडल हरियाणा के खिलाड़ियों ने जीते थे। उन्होंने कहा कि पिछली बार हरियाणा के खिलाडिय़ों ने 15 गोल्ड मेडल, पांच सिल्वर मेडल और 8 ब्रांज मेडल जीते थे। उन्होंने कहा कि लंदन में हरियाणा के खिलाड़ी अपनी बेस्ट प्रफॉर्मेंस देकर देश के लिए मेडल लाएं। उन्होंने कहा कि वे इन खेलों में भारत के राष्ट्र गान की धुन बार-बार सुनना चाहेंगे उन्होंने कहा कि जितनी अधिक बार इग्लैंड में राष्ट्रीय गीत की धुन बजेगी, हर भारतीय का सीना गर्व से उतनी ही अधिक बार चौड़ा होगा। इन खेलों में इस बार भारतीय खेल दल में 40 खिलाड़ी हरियाणा के भाग ले रहे हैं। हिसार से बॉक्सिंग में  पिंकी, सुमित, हॉकी में पूनम, जूडो में विकेंद्र, डिस्कस थ्रो में कृष्णा पूनिया, कुश्ती में गितिका जाखड़ व ललिता प्रमुख रूप से राष्ट्रमंडल खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। इसके सिवाय जो खिलाड़ी भाग ले रहे हैं, उनमें भिवानी से बॉक्सिंग में विजेंद्र सिंह, पूजा, मनदीप, व कैथल से मनोज, शूटिंग में कुरूक्षेत्र से संजीत, हरप्रीत सिंह करनाल, अंकुर मित्तल सोनीपत से, आरती सिंह राव गुडग़ांव से, मीना कुमारी, गुरपाल सिंह व अनीसा सयैद फरीदाबाद से हैं। जूडो में रोहतक के मनदीप नांदल, परीक्षित सिंह व सोनीपत की गरीमा चौधरी और फरीदाबाद से जीना  है। हरियाणा के लिए गर्व की बात यह है कि महिला व पुरूष हाकी टीमों का प्रतिनिधित्व हरियाणा के खिलाड़ी कर रहे हैं। सिरसा के सरदार सिंह पुरूष हाकी व रीतू महिला हॉकी टीम की कैप्टन है। हाकी टीम में यमुनागर की दीपिका, कुरूक्षेत्र की नवजीत कौर व जसप्रीत, सविता पूनिया सिरसा से, कुश्ती में रोहतक से सत्यवर्त व साक्षी, सोनीपत से योगेश्वरदत्त,झज्जर से बजरंग पुनिया, भिवानी से बबीता तथा विनेश अपना दम-खम दिखा रहे हैं। 

Friday, July 25, 2014

टीचरों और किताबों के अभाव में नहीं बन सकता हरियाणा शिक्षा का हब : बरवाला

चंडीगढ़, 25 जुलाई: इनेलो के पूर्व सांसद एवं जिला प्रधान सुरेंद्र सिंह बरवाला ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा हरियाणा को शिक्षा हब बनाने की जो बात कर रहे है, वह पूरी तरह से बेमानी है। क्योंकि प्रदेश की जनता जानती है कि सरकार की गलत नीतियों के कारण ही आज अध्यापक, लैक्चरर तथा छात्र सडक़ों पर उतरे हुए है। यदि सरकार की नियत शिक्षा के क्षेत्र को उज्ज्वल बनाने की होती, तो आज कॉलेज और स्कूलों में टीचरों का टोटा नहीं होता। सरकारी स्कूलों के बच्चे किताबों को नहीं तरसते। कॉलेजों में सीटों की कमी के कारण बच्चों को दाखिलों से वंचित होना पड़ रहा है। कॉलेज प्राचार्य सार्वजनिक तौर पर इस बात को स्वीकार कर रहे है कि भवन और प्राध्यापकों की कमी के कारण बच्चे नहीं पढ़ पाएंगे। कांग्रेस राज में शिक्षा की गुणवत्ता पूरी तरह से खत्म हो चुकी है। जींद के राजकीय कॉलेज को दो जगह विभाजित करने से शिक्षा का विस्तार नहीं हो सकता। दोनों कॉलेजों के छात्र पर्याप्त भवन और खेल मैदान का अभाव साफ तौर पर महसूस कर रहे है। श्री बरवाला ने कहा कि मुख्यमंत्री को 9 सालों बाद जिले की क्यों याद आ रही है, ये यहां की जनता भली भांति जानती है। मुख्यमंत्री जिले के विकास के लिए करोड़ों खर्च करने की बात कर रहे है। किंतु वह करोड़ों रूपया कहां लगाया गया है, ये किसी को दिखाई नहीं दे रहा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वोट की राजनीति कर क्षेत्र के लोगों को जिस तरह गुमराह करने का प्रयास कर रहे है, वह कभी सफल नहीं होगा। क्योंकि जींद जिले के हर आदमी की जुबां पर साफ तौर पर यह बात निकल कर सामने आ रही है कि यहां विकास के नाम पर कांग्रेस ने केवल छलावा करने का काम किया है। अगर पिछले नौ सालों के दौरान कहीं विकास हुआ है तो वह केवल एक क्षेत्र विशेष तक ही सीमित है। प्रदेश का सारा विकास केवल एक हलके तक ही सिमट कर रह गया है, यह बात खुद कांग्रेसी कह रहे है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री के मुंह से किसानों के हित की बात शोभा नहीं देती। इधर, हिसार में इनेलो के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री हरिसिंह सैनी ने कहा है कि इनेलो संसदीय दल के नेता दुष्यंत चौटाला एक सच्चे जन प्रतिनिधि के रूप में अपना कर्तव्य निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान दुष्यंत चौटाला ने हिसार संसदीय क्षेत्र की जनता से वादा किया था कि अगर हिसार की जनता ने उन्हें संसद में भेजा तो वे हिसार की जनता की पुरजोर वकालत संसद में करेंगे। मौजूदा संसद सत्र में सांसद दुष्यंत चौटाला ने ऐसा करके अपने आपको सही साबित किया है। संसद के पहले सत्र में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान इनेलो की तरफ से बोलते हुए युवा सांसद ने देश की बढ़ती आबादी पर चिंता जताई व पूर्व में घोषित किए गए काउंटर मैग्नेट सिटी जिसमें हिसार भी शामिल था को भी विकसित करने की आवाज उठाई। काउंटर मैग्नेट सिटी पूर्व में जब इनेलो के सहयोग से केंद्र में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार थी तथा हिसार के सांसद सुरेंद्र सिंह बरवाला थे, तब हिसार को घोषित कराया था। परंतु कांग्रेस ने तो हिसार ही नहीं, बल्कि हरियाणा प्रदेश के साथ ही सौतेला व्यवहार किया है।

इनैलो सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी ने लोकसभा में कई गंभीर मुद्दे उठाए

चंडीगढ़, 25 जुलाई: सिरसा से इनेलो सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी ने लोकसभा में आरक्षित वर्ग के लिए नौकरियों में खाली पड़े पदों को भरने के लिए विशेष कदम उठाए जाने, केंद्र सरकार द्वारा वरिष्ठ नागरिकों को दी जाने वाली बुढ़ापा पेंशन की राशि बढ़ाकर दुगुनी किए जाने और अनुसूचित जाति व पिछड़े वर्ग के ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को भी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाए जाने की मांग की। इनेलो सांसद ने लोकसभा में वर्ष 2014-15 की आर्थिक  मांगों पर चर्चा के दौरान भाग लेते हुए चौधरी देवीलाल द्वारा वरिष्ठ नागरिकों के लिए शुरू की गई सामाजिक सुरक्षा की बुढ़ापा सम्मान पेंशन योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि सबसे पहले इस योजना को चौधरी देवीलाल ने हरियाणा में शुरू किया था। आज केंद्र सरकार द्वारा देश में 60 से 80 वर्ष के बुजुर्गों को मात्र 200 रुपए महीना और 80 वर्ष से ज्यादा उम्र के बुजुर्गों को मात्र 500 रुपए महीना पेंशन दी जाती है। उन्होंने इस राशि को नाकाफी बताते हुए कहा कि यह बुजुर्गों के साथ एक भद्दा मजाक है और केंद्र सरकार द्वारा इसे बढ़ाकर दुगुना किया जाना चाहिए। 
इनेलो सांसद ने कहा कि विभिन्न मंत्रालयों में आरक्षित वर्ग के लोगों के लिए भारी मात्रा में नौकरियां खाली पड़ी हैं और इन रिक्त पदों को भरने के लिए विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। इनेलो सांसद ने अनुसूचित जाति व जनजाति व पिछड़े वर्ग के प्रतिभागियों के लिए अंकों व आयु में विशेष छूट दिए जाने की भी मांग की ताकि आरक्षित वर्ग के प्रत्याशियों को नौकरियों का लाभ मिल सके और वे पढ़ाई में भी योगदान दे सकें। इनेलो सांसद ने कहा कि हरियाणा समेत कुछ राज्यों में विकलांगों व इसी वर्ग के अन्य उम्मीदवारों को कोई रियायत नहीं मिलती बल्कि उन्हें सामान्य प्रत्याशियों के समान ही समझा जाता है। इस संबंध में केंद्र सरकार को जरूरी कदम उठाने चाहिए ताकि उनके साथ केंद्र व विभिन्न राज्यों में एक समान व्यवहार सुनिश्चित हो और उनके लिए पदोन्नति में भी उसी तरह आरक्षण व्यवस्था की जानी चाहिए जिस तरह से अनुसूचित जाति के प्रत्याशियों को पदोन्नति में सुविधा दी जाती है। इनेलो सांसद ने कहा कि उन्होंने अपना जीवन गांव के सरपंच से शुरू करके जिला पार्षद और राज्य विधानसभा में विधायक के बाद अब उन्हें देश की सबसे बड़ी पंचायत यानी लोकसभा का सांसद बनने का और पहली बार संसद में बोलने का अवसर मिला है। ऐसे में वे चाहेंगे कि समाज के सभी वर्गों को बिना किसी भेदभाव के राहत मिले और देश की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ भी गांव में रहने वाली 80 प्रतिशत आबादी को मिल सके।

विधानसभा चुनावों की तैयारियों को लेकर पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों ने की बैठक

जींद। इनेलो जिला कार्यालय जींद में पुर्व सैनिक प्रकोष्ठ की जिला स्तरीय बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता पुर्व सैनिक प्रकोष्ठ के जिला संयोजक बलवान सिंह मान ने की। बैठक में पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कर्नल सुखविन्द्र सिंह राठी मुख्यतिथि के रूप में मौजुद रहे। इस अवसर पर कर्नल सुखैविन्द्र सिंह राठी ने जिले के पूर्व सैनिको को सम्बोधित करते हुए कहा कि पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ को हल्का स्तर पर हल्के में आने वाले गांवो को जोन बनाकर बांटा जाए और गांव स्तर पर चौ देवीलाल पुर्व सैनिक विचार प्रचारक नियुक्त किए जांए। प्रत्येक गांव में एक पूर्व सैनिक विचार प्रचारक होगा। जो देवीलाल के प्रचार को गांव के प्रत्येक जनमानस तक पहुचाने का काम करेगा। इस का रजिस्ट्रेेशन फार्म जल्द ही प्रकोष्ठ के जिला प्रधान द्वारा हल्का स्तर पर वितरित किया जाएगा। जिससे संगठन को ज्यादा मजबुती प्राप्त होगी। कर्नल राठी ने कहा कि अगले महीन से पुरे प्रदेश में हल्का वाईज पुर्व सैनिको की मिंटिग ली जाएगी। जिला प्रधान बलवान सिंह मान ने कहा कि प्रदेश में इनेलो की सरकार आने पर तीन प्रस्ताव मंजुर किए है। पूर्व सैनिको को साठ साल की उम्र के बाद पंजाब की तर्ज पर बुढापा पैंशन दी जाएगी,सरकार आने पर हरियाणा में पुर्व सैनिको का नौकरी में 14 प्रतिशत कोटा दिया जाएगा और पुर्व सैनिकों को ठेका प्रथा से छुटकारा दिलाने के लिए पूर्व सैनिक आयोग बनाया जाएगा। इन सभी प्रस्ताव को प्रदेश अध्यक्ष ने इनेलो सुप्रीमो के समक्ष रखकर मंजुर करवाने को कहा। इस अवसर पर रमेश निडाना, धर्मबीर मोर, दिलबाग सिंह, नरेन्द्र मान, दरबारा सिंह देशवाल, वेदसिंह नैन, रामचन्द्र नैन, राजेन्द्र चहल, सत्यनारायण पुनिया इत्यादि मौजुद थे।