Friday, February 28, 2014

कांग्रेस ने जनता से सुविधाओं के नाम पर किया धोखा: हरीश मलिक


नूंह। गांवो व शहरों में मिल रहे इनेलो को भारी जनसमर्थन  से कांग्रेस के नेताओं के होश फाख्ता हो गए हैं। कांग्रेस सरकार खुद को व्यापारियों व आम लोगों की हितेषी होने का दावा करती है। लेकिन नूंह के लोग टूटी सडक, खराब सीवरेज व्यवस्था से परेशान तथा पानी व बिजली के लिए तरसते नजर आते है। बाजार की सफाई की पोल कूडे की ढेरी व गंदा पानी खोल देता है। लोग आज  भ्रष्टाचार व अशांति के सायें में जी रहे है। इनेलो की सत्ता आने पर जनता की इन समस्याओं का निवारण किया जाएगा। यह वक्तव्य मेवात के शहरी जिलाध्यक्ष हरीश मलिक ने नूंह की नई धर्मशाला में लोगों के सामने जनंसपर्क अभियान के दौरान व्यक्त किये। शहरी जिलाध्यक्ष हरीश मलिक ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि झूटे आश्वासन व खोखली घोषणाऐं भ्रष्टाचारी कांग्रेस का शासन की पहचान बन चुकी है। अच्छा बजट पेश कर पहले वो लोगों की वाहवाही लूटते है। फिर थोडे दिन बाद अनेक तरह के टैक्स लगाकर उसका बोझ जनता के कंधे पर डाल देते है। महगांई को रोकने में नाकाम कांग्रेस सरकार में दिनोंदिन होती लूट की घटनाओं ने तो व्यापारियों को झकझौर कर रख दिया है। लोग न्याय की आस में बैठे रहते है। जबकिे अपराधी व गुण्डातत्व खुले आम घूम रहे है। उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस का जनाधार समाप्त हो गया है। लोग कांग्रेस को जनलोकप्रिय इनेलो सुप्रीमों को जेल भिजवाने का दोषी मान रहे है। इस बार कांग्रेस को उखाड़ फैकने की सकंल्प लोगों ने कर लिया। आज चुुनावी लहर इनेलो के पक्ष में है।  जिला प्रवक्ता राहुल जैन ने बताया कि सभा की अध्यक्षता जिला सयोंजक बदरूद्दीन व मुख्य अतिथि के तौर पर नूंह प्रभारी तैयब भीमसिका शामिल हुए। जिसमें लोगों को कांग्र्रेस के घोटालो, कारगुजारियों व साजिश से अवगत कराया गया। वही इनेलो नेताओं मे पक्ष में न्याय की गुहार भी लगाई। इस मौके पर जिलाध्यक्ष बदरूद्दीन, पूर्व विधायक हबीबूर्रमान के शहाबजादे परवेज खान, हल्का प्रधान नूह योगेश हिलालपुर, जिला व्यापार सैल प्रधान मिठ्ठन भारद्वाज, प्रदेश सचिव गणेश दास अरोडा, जिला प्रवक्ता राहुल जैन, अकबर अली, युवा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य नासिर हुसैन, सिराजूदीन मीणा ,संजय मनोचा, एडवोकेट मनोज अरोडा, राजू कटारिया, डालचन्द, एडवोकेट रत्नलाल, अानंदप्रकाश नंबरदार, रामलाल प्रजापत, बिट्टू, इकरामू, राजेंद्र, लीलू, कशिश, लाला महेन्द्र, संदीप, यशपाल, इनेसो नेता लूकमान, समीम, आसू आकेडा, उमर, साहबूद्दीन अड़बर सहित अनेक पदाधिकारी तथा कार्यकर्तागण मौजूद थे।

कांग्रेस के डूबते जहाज से उतरकर भाग रहे हैं नेताः सुभाष घई

अम्बाला शहर। कांग्रेस एक डूबता हुआ जहाज है। यह शब्द इनैलो जिला प्रैस प्रवक्ता सुरिन्द्र घई (टीटू) ने प्रैसवार्ता के दौरान कहे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में पूरी तरह से खलबली मची हुई है। कांग्रेसी नेता पार्टी छोड़कर दूसरी पार्टियों में जा रहे हैं। अम्बाला शहर पर उन्होंने कहा कि शहर में विकास नाम की कोई चीज नहीं है। स्थानीय विधायक जो मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिहं हुड्डा के बराबर के माने जाते हैं ने पिछले 9 सालों में अम्बाला में विकास के नाम के केवल ढिढौरे ही पीटे हैं। स्थानीय बस अड्डे की दुदर्शा यह बताती है कि अम्बाला शहर पूरी तरह से लावारिस है। उन्होंने स्थानीय विधायक से यह जानना चाहा कि यदि आपने नया बस अड्डा पुराने बस अड्डे से 200 मीटर की दूरी पर ही बनाना था तो पुराने बस अड्डे को क्यों नहीं नया रूप दिया गया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के प्रति लोगों में रोष है। जिस प्रकार इनैलो के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश चौटाला व अजय चौटाला को सी.बी.आई. से मिलीभगत करके जेल पहुंचाया गया है जबकि कोर्ट के निर्णय ने साफ-साफ लिखा है कि जे.बी.टी. नौकरी के मामले में कोई भी पैसों का लेन-देन नहीं हुआ। फिर बुजुर्ग नेता को जेल में रखने का क्या औचित्य है। उन्होंने कहा कि हाई कोर्ट में अपील के समय भी सी.बी.आई. कोई न कोई बहाना बनाकर केस को लम्बा खींचने की कौशिश में है। उन्होंने कहा कि हमें न्यायालय में पूरा विश्वास है तथा जल्द ही न्यायालय का फैसला आने पर दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा तथा हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश चौटाला व अजय चौटाला जेल से बाहर होंगे। इस अवसर पर हल्का अम्बाला शहर अध्यक्ष मनोज शर्मा, जोगिन्द्र सिहं खरबन्दा, रवि वाल्मीहक, बलबीर टपरीवास, रामेश्वर अग्रवाल, मनीष चड्ढा, सोनू आनंद, विक्की झांडी, डिम्पल जग्गी, अभिषेक अब्बू, अमन वालिया व अम्बाला शहर प्रवक्ता इन्द्रजीत सिहं आदि मौजूद थे।

कांग्रेस द्वारा पेश किया गया बजट दिशाहीन और सभी वर्गों को निराश करने वालाः अशोक अरोड़ा


चंडीगढ़। इनेलो ने शुक्रवार को हरियाणा विधानसभा में वित्त मंत्री द्वारा पेश किए गए आगामी साल के बजट को दिशाहीन और समाज के सभी वर्गों को निराश करने के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी का झूठी घोषणाओं पर आधारित चुनावी घोषणा पत्र व बजट के नाम पर मात्र औपचारिकता निभाने का प्रयास बताते हुए इसकी तीखे शब्दों में आलोचना की है। इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि मुख्यमंत्री ने जब प्रदेश का बजट सत्र चल रहा था और बजट पेश होने वाला था उससे पहले विधानसभा से बाहर सभी घोषणाएं करके हरियाणा विधानसभा का न सिर्फ अपमान किया है बल्कि इससे सदन की अवमानना हुई है और बजट की गरिमा को भी ठेस पहुंची है। इनेलो नेता ने वित्त मंत्री के भाषण को हुड्डा सरकार का विदाई भाषण बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जान चुके हैं कि इस बार लोग कांग्रेस को सबक सिखाने के मूड में हैं इसलिए वित्त मंत्री ने भी सत्ता से बाहर हो रही इस भ्रष्ट सरकार का अंतिम विदाई भाषण पढक़र एक औपचारिकता पूरी कर दी है। इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने दो दिन पहले मुख्यमंत्री द्वारा बुलाई गई मंत्रिमण्डल की बैठक पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा कि कैबिनेट मीटिंग का असली मकसद तो राजीव गांधी ट्रस्ट को फायदा पहुंचाना था जबकि बाकी घोषणाएं तो केवलमात्र इस जाती हुई सरकार की चुनावी घोषणाओं से ज्यादा और कुछ नहीं है। 
श्री अरोड़ा ने कहा कि बजट यह दर्शाता है कि किस तरह हुड्डा सरकार ने प्रदेश को 81806 करोड़ के कर्जे के बोझ तले दबाने और प्रदेश को लूटने का काम किया है। इनेलो नेता ने कहा कि हरियाणा के अलग राज्य के रूप में गठन के बाद 39 सालों में प्रदेश पर मात्र 26268 करोड़ का कर्जा हुआ था और उस समय विभिन्न राज्य सरकारों ने प्रदेश में सडक़ों, नहरों व बिजली का जाल बिछाने और ताप बिजली घरों के निर्माण से लेकर प्रदेश की बड़ी-बड़ी परियोजनाओं के लिए यह कर्ज लिया था जो कि औसतन 600 करोड़ रुपए सालाना से भी कम बनता था। इनेलो नेता ने कहा कि दूसरी तरफ हुड्डा सरकार ने पिछले नौ सालों के दौरान करीब 56 हजार करोड़ रुपए का अतिरिक्त कर्जा प्रदेश के सिर पर चढ़ा दिया है कि जो कि सालाना छह हजार करोड़ रुपए से भी कहीं ज्यादा बनता है। इनेलो नेता ने कहा कि पिछले तीन सालों के दौरान प्रदेश में कहीं कोई नई परियोजना स्थापित नहीं हुई और इसके बावजूद तीन सालों के दौरान हुड्डा सरकार ने कर्मचारियों को वेतन देने, पेंशन व भत्ते देने और कर्ज का ब्याज चुकाने के लिए 31 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा कर्जा लिया है जो कि यह दर्शाता है कि सरकार ने इस पैसे को प्रदेश के विकास में कहीं खर्च करने की बजाय मात्र अपनी जेबें भरने और प्रदेश को दोनों हाथों से लूटने में ही लुटा दिया है। 
इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हुड्डा सरकार के आर्थिक सर्वे के अनुसार न तो प्रदेश में कोई नया उद्योग आया है और न ही कोई नया निवेश हुआ है। इसके बावजूद सरकार जो यह दावा करती है कि उनका प्लान बड़ा है तो इससे साफ है कि सरकार में लोगों पर पिछले दरवाजे से टैक्स लगाए, महंगाई की मार से मारा और बाजार से कर्जा उठाकर उससे अपनी जेबें भरने और प्रदेश की जनता को लूटने का काम किया है। इनेलो नेता ने कहा कि बजट से समाज के सभी वर्गों को बहुत उम्मीदें होती हैं और उन्हें लगता है कि सरकार उन्हें राहत पहुंचाने के लिए कोई ठोस कदम उठाएगी। इनेलो नेता ने कहा कि जिस तरह से पिछले नौ सालों के दौरान हुड्डा सरकार ने अपना पूरा समय फर्जी घोषणाएं करने और लोगों को मात्र बहकाने में निकाल दिया ठीक उसी तरह इस बार वित्त मंत्री के बजट भाषण में भी सरकार की फर्जी घोषणाओं के अलावा कुछ नहीं है। 
श्री अरोड़ा ने कहा कि अगर सरकार की नीयत साफ होती तो सरकार पिछले नौ सालों के दौरान लोगों के हित में कोई ठोस कदम उठाती और उन्हें झूठी घोषणाओं और फर्जी वायदों से बहकाने की बजाय उन्हें राहत प्रदान करने का काम करती। उन्होंने कहा कि सरकार ने ठीक इसके विपरीत काम किया और लोगों को कहीं कोई राहत देने की बजाय सिर्फ अपनी जेबें भरने, नौकरियां नीलाम करने, अपराधियों को संरक्षण देने, प्रदेश को दोनों हाथों से लूटने, महंगाई, बेरोजगारी और कालाबाजारी बढ़ाने के अलावा कहीं कुछ काम नहीं किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री व वित्त मंत्री चाहे जो मर्जी फर्जी घोषणाएं करके लोगों को बहकाने का प्रयास करें लेकिन प्रदेश की जनता इस भ्रष्ट सरकार को सबक सिखाने और इनेलो को फिर से सत्ता सौंपने का मन बना चुकी है और आगामी चुनाव के बाद  प्रदेश में निश्चित तौर पर इनेलो प्रमुख चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में प्रदेश की सरकार बनेगी।

इनेलो ने गांव घसीटपुर और हरिपुर में चलाया जनसंपर्क अभियान


अंबाला कैंट। इनेलो जिला शहरी अध्यक्ष ओंकार सिंह ने शुक्रवार को अपने साथियों के साथ गांव घसीटपुर हरिपुर में जनसंपर्क किया और लोगों की समस्याएं सुनीं। इस दौरान लोगों जहां अपनी परेशानियां खुलकर बयान की, वहीं कहा कि कोई अधिकारी हमारी नहीं सुनता। इस दौरान इनेलो नेता ने कहा कि इनेलो की सरकार आने पर हर समस्या का समाधान होगा। ओंकार सिंह ने कहा कि लोगों ने बताया गांव घसीटपुर में हुडा सेक्टर तो बना दिए गए हैं, लेकिन आने जाने का रास्ता अभी तक नहीं ठीक से बन पाया है। क्षेत्र का रास्ता ऐसा है कि ग्रामीणों को आने-जाने में ही काफी परेशानी होती है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव की सड़कें टूटी हैं, जबकिनालियां तक नहीं हैं। गंदे पानी की निकासी बाधित है और परेशानी जनता को झेलनी पड़ती है। अब तो यह हालात हैं कि अधिकारी सुनते तो अवश्य हैं, लेकिन कार्रवाई नहीं करते। बार-बार अधिकारियों के दरवाजे खटखटा चुके हैं, लेकिन मात्र आश्वासन के कुछ नहीं मिलता। जिला शहरी अध्यक्ष इनेलो ओंकार सिंह ने कहा कि कांग्रेस के राज न तो गरीबों को योजनाओं के तहत प्लाट मिल पा रहे हैं और न ही यह सरकार सुविधा देने में खरी उतरी है। कांगे्रसी नेता विकास को लेकर सिर्फ दावे करते हैं, जबकि वास्तविकता यही है कि दावों और हकीकत में काफी अंतर है। कांग्रेस ने झूठ बोलकर लोगों के वोट हासिल किए हैं और फिर जनता को उनके हाल पर छोड़ दिया है। यही कारण है कि जिला भर में कांगे्रस के प्रति लोगों में जबरदस्त गुस्सा है और इनेलो को ही एकमात्र विकल्प के तौर पर देख रहे हैं। उन्होंने बताया कि गांव घसीटपुर हरिपुर में लोगों ने साफ कहा कि इनेलो के कार्यकाल में सुनवाई होती थी, लेकिन वर्तमान सरकार के कार्यकाल में तो सिर्फ आश्वासन ही मिले हैं, विकास के लिए तो सिर्फ इंतजार किया है। इस मौके पर इनेलो एक्ससर्विसमैन सैल के प्रदेश संगठन सचिव अमरीक सिंह मछौंडा, ग्रामीण ग्रामीण हलका प्रधान रणधीर सिंह, ग्रामीण युवा प्रधान तरविंदर सिंह सोनू, युवा प्रधान शहरी राजेश शर्मा, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कृपाल अरोड़ा,  रिंकू घसीटपुर, सुरेंद्र सिंह, प्रीतम सिंह बेधड़क, बलवंत बाछल, रवि कमार, सरवन सिंह, भूपिंदर सिंह, शेर सिंह, देवेंद्र सैनी, दीपक ओबराय, अमरीक घसीटपुर आदि मौजूद रहे। 

मूर्ति स्थापना में पहुंचे इनेलो के कालका से विधायक प्रदीप चौधरी


रायपुररानी। स्थानीय गांव समलेहड़ी में भगवान शिव व दुर्गा माता की मूर्ति स्थापना के अवसर पर आज मंदिर परिसर में हवन यज्ञ आयोजित किया गया, इस अवसर पर मुख्य रूप से इनेलों के कालका विधायक प्रदीप चौधरी भी मंदिर में पहुंचे और उन्होंने पूजा अर्चना में हिस्सा लिया और हवन यज्ञ में आहुती डाली। चौधरी ने मंदिर स्थापना के अवसर पर ग्रामीणों को बधाई देते हुए कहा कि यह कार्य ग्रामीणों की मेहनत और लगन से पूरा हुआ है, जिसका श्रेय ग्रामीणों व सहयोगियों को जाता है। इसके बाद हरिजन बस्ती में भी मंदिर में विधायक प्रदीप चौधरी ने माथा टेका और लोगों के लिए सुख-समृद्धि की कामना की। इस अवसर पर पूर्व सरपंच सुरत सिंह, प्रमाल गुर्जर, लज्जा राम, सिंग राम, रमेश कुमार, बंत कुमार, बिल्लू पंच इत्यादि मौजूद थे और इस अवसर पर मंदिरों में भंडारा भी आयोजित किया गया।

भ्रष्ट कांग्रेस सरकार का सत्ता से जाना तयः नान्दल

इंडियन नेशनल लोक दल के वरिष्ठ नेता सतीश नांदल न्याय यात्रा के लिए दौरान अन्य साथियों के साथ

रोहतक। इनेलो कि न्याय यात्रा के 18 वे दिन गढ़ी सांपला किलोई हल्के के प्रभारी एवं रोहतक जिला अध्यक्ष श्री सतीश नान्दल जी के नेतृत्व में  इनैलो कि न्याय यात्रा आज किलोई हल्के के गाँव किलोई एरुड़की और बखेता में डोर टू डोर पहुची। सतीश नान्दल ने कार्यकर्ता साथियो के साथ गाँव में प्रत्येक चोपाल और घर.घर जाकर ग्रामीणो को इनैलो कि जनकल्याणकारी  नीतियो के बारे में बताया ! नांदल ने बताया कि मु यमंत्री को सत्ता जाने का भय सता रहा है जो कि एक वास्तविक सत्य है और इसीलिए अब मुख्यमंत्री आये दिन झूठी घोषणाएं करने में लगा हुआ है जो कि एक दिखावा मात्र है आज प्रदेश के जो हालत बने हुए है वो जनता से छिपे नहीं है आये दिन  लूट ख़सोठ  हत्या बलात्कार की घटनायें  चरम पर है  लेकिन मुख्यमंत्री  सारे  दिन विकास का राग आलापने में लगा हुआ है सही मायने मे तो यह  है कि अगर विकास हुआ है तो केवल मुख्यमंत्री का खुद का और उनके रिश्तेदारों का हुआ है या फिर सोनिया गांधी के दामाद का हुआ है किसानो कि उपजाऊ जमीनो को सस्ते भावो में अधिग्रहण करके किसानो कि जो दशा इस कांग्रेस सरकार ने कि है वो किसी से छिपी हुई नहीं है। किलोई एरुड़की और बखेता गाँव में न्याय यात्रा का ग्रामीणो   ने जो स्वागत किया वो अपने आप में एक संदेश देता है कि कांग्रेस सरकार के पतन का समय आगया है ! जनता समय का इन्तजार कर रही है ताकि इस निक मी सरकार को सत्ता से बहार का रास्ता दिखाया जाये !अब  जनता इस झूठे मु यमंत्री के बहकावे में नहीं आएगी इस अवसर पर न्याय यात्रा में डॉ संदीप हुड्डा एकरतार काहनीए सूरत सिंह खटक एउमेश देवी एमीना मकड़ोली एसरिता नारायण डॉ प्रेम हुड्डा एमास्टर चांदरूप एमास्टर गजन एराजबीर एराजे एराजेश एबलराज ए सत्यवान हुमायुंपुरएरविंदर बखेता मुकेश हुड्डा एजसबीर एराजेश रूड़की एधरमेंदर बखेता रामकुंवर बखेता आदि उपस्तिथ  थे। 

न्याय जनजागरण यात्रा के तहत डोर-टू-डोर जाकर लोगों के समक्ष पहुंचे इनेलो नेता

कैथल। कांग्रेस अपने विरोधियों को दबाने के लिए सीबीआई का हमेशा दुरुपयोग करती है। इनेलो प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला, अजय चौटाला व शेर सिंह बड़शामी ने कांग्रेस की पोल खोली और उनके आगे झुकने से इंकार कर दिया तो कांग्रेस ने सीबीआई की मदद से षड़यंत्र रचकर इनेलो नेताओं को जेल में डाल दिया। यह आरोप इनेलो कार्यकर्ताओं की टीम ने शुक्रवार को न्याय जनजागरण यात्रा के तहत डोर-टू-डोर जाकर लोगों के समक्ष लगाए। इनेलो कार्यकर्ताओं ने टीमें बनाकर लोगों के सामने कांग्रेस की इस साजिश की पोल खोली।
इनेलो शहरी जिला अध्यक्ष डा. प्रदीप शर्मा के नेतृत्व में एक टीम ने जाखौली अड्डा व अमरजीत छाबड़ा के नेतृत्व में डोगरा गेट में कार्यकर्ताओं ने जनता के सामने साजिश का पर्दाफाश करते हुए उनसे न्याय की लड़ाई में साथ मांगा। इनेलो नेताओं ने कहा कि इनेलो का न्यायपालिका में पूर्ण विश्वास है। सभी इनेलो नेता अदालत से बरी होकर आएंगे और प्रदेश में चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में इनेलो की सरकार बनेगी। डा. प्रदीप शर्मा व अमरजीत छाबड़ा ने कहा कि अब जनता जागरूक हो चुकी है। पिछले नौ साल तक कांग्रेस सरकार कुछ नहीं कर पाई और अब कुर्सी जाते देख जनता से सब कुछ करने के वादे कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के मौजूदा सांसदों ने लोकसभा चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया क्योंकि सांसद जान चुके है कि कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लडऩा उनकी हार का कारण बनेगी। कांग्रेस का सुपड़ा पूरे देश में साफ होने जा रहा है इसलिए कांग्रेसी विधायक अब दूसरे दलों में अपनी जमीन तलाशने में जुट गए है। इनेलो नेताओं ने लोगों को विश्वास दिलाया कि हरियाणा में कांग्रेस का विकल्प इनेलो ही है, अन्य किसी राजनीतिक दल का कोई जनाधार नहीं है। चुनाव होने पर प्रदेश में कांग्रेस का जाना और इनेलो का सत्ता में आना निश्चित है। उन्होंने दावा किया कि लोकसभा चुनाव में हरियाणा की सभी 10 सीटों पर इनेलो प्रत्याशी विजय प्राप्त करेंगे। इस अवसर पर इनेलो जिला प्रवक्ता धर्मवीर कैमिस्ट सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे। 

सोनीपत में इनैलो का डोर टू डोर अभियान हुआ संपन्नः नरेश जैन

सोनीपत। इनेलो के नेताओं व पदाधिकारियों ने सोनीपत हलके के प्रभारी एडवोकेट नरेश जैन की अगवाई में डोर टू डोर अभियान आज आखिरी दिन वार्ड न0 26, 28 व 23 में राम नगर, वेस्ट राम नगर, गढी-गसीटा, मालवीय नगर से होते हुए प्रभु नगर,गांधी नगर में पुहुंची। जैन ने लोगो से कहा कि इण्डियन नेशनल लोकदल पार्टी राजनीति के साथ, समाज में फैली बुराईयो के प्रीति लड़ती रही है। डोर टू डोर अभियान के आज आखिरी दिन एडवोकेट नरेश जैन, शहरी जिलाध्यक्ष,सतपाल गोयल, महेन्द्र सैनी एडवोकेट ने कार्यकर्ताओ का धन्यवाद किया और कहा कि आज इनैलो के  साथ हर वर्ग जुड रहा है। इनैलो जात -पात की राजनीति नही करती।  इण्डियन नेशनल लोकदल का साथ दीजिए और कांग्रेस दरा फैलाया गए भष्टाचार का खात्मा इनैलो का शासन लाकर समाप्त किया जा सकता है। इस अभियान में बबिता दहिया, रमेश स्वामी, युवा रवि दहिया, सुरेन्द्र राणा, अनिता कुराड, रेखा बाल्याण, ईशवंती कुराड, ब्रहमी देवी, सरोज बागडु, डा0 भगत सिहं संजय मलिक, कु नल गहलावत, बंसी कुण्डु, राकेश चहल, अशोक मलिक, सुभाष चौपडा, हुक्मचन्द गोयल, सरेन्द्र कबीरपुर,शिवकुमार,रोहताश, साबर अली,मोन्टी मण्डल, रामफल मलिक, सौरव गोयल,राहुल मलिक, विरेन्द्र ग्रोवर, आदि ने डोर टू डोर अभियान मे बढ़-चढकर हिस्सा लिया।    
  

कांग्रेस की जनविरोधी दमनकारी नीतियों के खिलाफ जनता में रोष- करतार सिंह सैनी


गोहाना। कांग्रेस ने इनेलो प्रमुख चौ0 ओमप्रकाश चौटाला 3206 जेबीटी टीचरो की भर्ती के मामले में सीबीआइ को मेाहरा बनाकर उन्हे फंसाने  का काम किया है, जिस कारण कांग्रेस की इस करनी के खिलाफ जनता में भारी रोष है। यह बात हलका गोहाना प्रभारी करतार सिंह सैनी ने गोहाना के नगर, बडौत, खेडी दमकन आदि गांवो में न्याय यात्रा के दौरान लोगो को सम्बोधित करते हुए कही। सैनी ने कहा कि प्रदेश के युवाओ के  हितो के साथ कुठारा-घात किया जा रहा है। खानपुर कालेज  में राय-बरैली व अमैठी के युवाओ को धड़हल्ले से नौकरियां दी जा रही है। जबकि प्रदेश के योग्य युवा रोजगार के लिए दर-2 की ठोकरे खाने के लिए मजबूर है। न्याय यात्रा के दौरान पार्टी में अलख जगाह रहे इनैलो ग्रामीण जिलाध्यक्ष कुलदीप मलिक ने कहा कि कांग्रेस कार-गुजरियो की पोल खोलने के साथ-साथ पार्टी प्रमुख चौ0 ओमप्रकाश चौटाला का सदेश भी जनता तक पहुँचाया जा रहा है और जनता की अदालत में गुहार लगाई जा रही है। इस मौके पर गोहाना हलका अध्यक्ष राजपाल भटगांव, डा0 धर्मबीर नांदल पूर्व प्रत्याशी अतुल मलिक, युवा जिलाध्यक्ष सुमित राणा, जिला पार्षद परमवीर सैनी, प्रेमिला मलिक,अनिल खन्दराई,विद्या मोर, किरण भाटिया, सिवानी, सुनीता जांगडा, कृष्ण गुणा, संन्दीप गहलावत, वीरभान मलिक, राजसिंह, प्रताप गुढा, नरेश मलिक, सुरजीत मलिक,बलजीत मलिक, आजाद मलिक, रेखा बाल्याण आदि इनैलो नेता मौजूद थे । 

कांग्रेस ने अपने शासन में लोकतंत्र का गला घोंटने का काम कियाः रामराज मेहता

सिरसा। इनेलो द्वारा चलाई जा रही न्याय यात्रा का अंतिम चरण आज नई अनाज मंडी से इनेलो हलका प्रभारी रामराज मेहता व शहरी जिलाध्यक्ष प्रदीप मेहता के नेतृत्व में आरंभ हुआ। न्याय यात्रा को मंडी वासियों ने अपना भरपूर समर्थन देते हुए जगह-जगह स्वागत किया। मंडी के पूर्व प्रधान गुरदयाल मेहता व मंडी कार्यकारिणी के पूर्व सदस्य महावीर शर्मा ने अपने-अपने प्रतिष्ठानों पर न्याय यात्रा के सदस्यों को जलपान करवाया। इस मौके पर प्रभारी रामराज मेहता ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने देश पर लगभग 50 साल से ज्यादा शासन किया है लेकिन कांग्रेस ने अपने शासनकाल में लोकतंत्र का गला घोटकर तथा जनता व विपक्ष की आवाज को दबाकर लोकतंत्र को कलंकित कर दिया है। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री चौ. ओम प्रकाश चौटाला ने अपने शासनकाल में विकास की ब्यार बहाई थी तथा 36 बिरादरियों को साथ लेकर प्रदेश को उन्नति के शिखर पर पहुंचाया था। प्रभारी ने कांग्रेस सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि चौ. ओम प्रकाश चौटाला ने कांग्रेस की अध्यक्षा सोनिया गांधी के दामाद द्वारा किए गए भूमि घोटालों की आवाज उठाई तो मु यमंत्री हुड्डा के इशारे पर कांग्रेस ने एक साजिश के तहत चौधरी ओम प्रकाश चौटाला को जेल के अंदर भेजकर आपातकाल की याद ताजा करवा दी। उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि प्रजातंत्र में जनता की अदालत सर्वोपरि है इसलिए इनेलो जनता के दरबार में न्याय की गुहार लगाने हेतु आपके बीच आई है। 
    शहरी जिलाध्यक्ष प्रदीप मेहता ने कहा कि इनेलो का जनाधार लगातार बढ़ रहा है और अन्य पार्टियों के नेताओं की इनेलो में शामिल होने की होड़ लगी हुई है। श्री मेहता ने कहा कि इनेलो कार्यकर्ताओं का उत्साह बना हुआ है तथा न्याय यात्रा के दौरान लोगों का भारी जनसमर्थन इनेलो को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि इनेलो के बढ़ते जनाधार से कांग्रेस बोखला गई है इसलिए इनेलो नेताओं को बिना कारण विधानसभा से निलंबित कर दिया जाता है। प्रवक्ता महावीर शर्मा ने कहा कि प्रदेश की जनता इनेलो को विकल्प के रूप में देख रही है। श्री शर्मा ने इस मौके पर चौधरी ओ३म प्रकाश चौटाला द्वारा अपने शासनकाल में बनाई गई कल्याणकारी नीतियों के बारे में विस्तार पूर्वक बताते हुए कहा कि इनेलो शासन में ही आढ़तियों की दामी बढ़ाकर ढाई प्रतिशत की गई थी तथा टायर ट्यूबों पर टैक्स कम करते हुए मंडी में बिकने वाली अधिकतर जीनसों पर मार्किट फीस कम की गई थी। 
                     इस यात्रा के दौरान नगर परिषद के अध्यक्ष सुरेश कुक्कू, महिला विंग अध्यक्षा कृष्णा फोगाट, जिला महासचिव कृष्ण गु बर, युवा शहरी अध्यक्ष रोहित गनेरीवाला, सतपाल अरोड़ा, चंद्रयश जैन, रमेश मेहता आढ़ती, महावीर शर्मा, गुरदयाल मेहता, राम सिंह सैनी, नरेंद्र मेहता, लाधु राम ठाकर, पुष्पा नारंग, गीता सैनी, अंगूरी देवी, रानी बाजीगर, हर्षवर्धन अरोड़ा, राजेंद्र मल्होत्रा, प्रेम शर्मा, कृष्ण मेहता, मीनूदीन पहलवान, राकेश अरोड़ा, गोपी राम सैनी, सुशील कंबोज, हेमकांत शर्मा, राज कुमार डाबला, सोम प्रकाश चावला, महेंद्र वर्मा, अंकित मोह मद, सिमरजीत संधू, गोबिंद्र सोनी, जोगिंद्र कंबोज, श्याम बामनियां, हिमांशु खुराना, ओम प्रकाश मेहता, मयूर मेहता सहित बड़ी सं या में इनेलो कार्यकर्ता साथ थे।

सीडी मामले में कांग्रेसी विधायकों को लोकायुक्त के समक्ष पेश होने का नोटिस

चंडीगढ़। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री राव नरेंद्र सिंह, मुख्य संसदीय सचिव विनोद भ्याना, बरवाला के कांग्रेस विधायक राम निवास घोड़ेला, उकलाना के विधायक नरेश सेलवाल व रतिया के विधायक जरनैल सिंह को सीएलयू के नाम पर करोड़ों रुपए की मांग करने वाली सीडी मामले में रजिस्ट्रार, लोकायुक्त ने 11 अप्रैल के लिए नोटिस जारी करते हुए उनके समक्ष पेश होने के आदेश दिए हैं। शुक्रवार को रजिस्ट्रार, लोकायुक्त ने सीडी मामले की प्रारम्भिक जांच के बाद पांचों कांग्रेसी नेताओं को नोटिस जारी किए। स्वास्थ्य मंत्री राव नरेंद्र सिंह के खिलाफ विधायक रामपाल माजरा ने, मुख्य संसदीय सचिव विनोद भ्याना के खिलाफ कृष्ण पंवार ने, रामनिवास घोड़ेला के खिलाफ इनेलो नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला ने रतिया के विधायक जरनैल सिंह के खिलाफ अशोक अरोड़ा ने और नरेश सेलवाल के खिलाफ प्रदीप चौधरी ने लोकायुक्त के पास शिकायत दर्ज करवाई थी और सीएलयू के नाम पर करोड़ों रुपए की मांग करने वाले इन कांग्रेसी नेताओं की सीडीज भी लोकायुक्त को सौंपते हुए इन कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के अंतर्गत जांच करवाए जाने की मांग की थी। कैश फॉर सीएलयू मामला लोकायुक्त के पास सुनवाई के लिए आने और सीडीज मामले में कांग्रेसी नेताओं को रजिस्ट्रार, लोकायुक्त से नोटिस जारी होने के बाद इन कांग्रेसी नेताओं के साथ-साथ सरकार की भी मुश्किलें बढ़ गई हैं।
                      रजिस्ट्रार, लोकायुक्त ने शुक्रवार को मामले की प्रारम्भिक जांच के बाद इन पांचों कांग्रेसी नेताओं को नोटिस जारी करते हुए 11 अप्रैल को उनके समक्ष पेश होने के अलावा यह भी पूछा है कि क्या वे अपनी आवाज का नमूना देना चाहते हैं अथवा नहीं और इन सीडीज के असली अथवा नकली होने और इनकी वास्तविकता के बारे में उन्हें क्या कहना है और उनके खिलाफ दर्ज शिकायत के बारे में वे लिखित रूप से भी अपना जवाब इस दौरान दे सकते हैं। रजिस्ट्रार ने लोकायुक्त कार्यालय से इन पांचों नेताओं को उनके खिलाफ आई शिकायत की कापी भेजने, सीडीज की कापी और सीडी में हुए वार्तालाप की कापी भी रजिस्टर डाक/स्पीड पोस्ट से भेजने के आदेश दिए हैं। इन नेताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाने वाले इनेलो विधायकों की ओर से वकील नरेश सिंह शेखावत रजिस्ट्रार, लोकायुक्त के समक्ष पेश हुए और उन्होंने शिकायतकर्ताओं का पक्ष रखा। 
                      हांसी के विधायक व मुख्य संसदीय सचिव विनोद भ्याना के खिलाफ जो सीडी लोकायुक्त को सौंपी गई थी उसमें उन पर गुडग़ांव की चार एकड़ जमीन का सीएलयू करवाने के लिए अढाई करोड़ रुपए मांगने व रामनिवास घोड़ेला द्वारा सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत ईंट-भट्टों पर स्कूल खोलने के लिए एनजीओ को अढाई करोड़ रुपए का काम दिलाने के बदले 50 लाख रुपए रिश्वत मांगने का आरोप है। स्वास्थ्य मंत्री राव नरेंद्र पर 30 एकड़ जमीन के सीएलयू के लिए 30 से 50 करोड़ रुपए मांगने। रतिया के विधायक जरनैल सिंह के भी अपने घर पर रात के समय फरीदाबाद के सेक्टर-31 के सामने वाली दो एकड़ जमीन का ग्रुप हाउसिंग के लिए सीएलयू करवाने की सौदेबाजी कर रहे हैं और साथ में सामने वाली पार्टी से पैसे की ऑफर भी पूछ रहे हैं।  लोकायुक्त को दी गई सीडीज में उकलाना के कांग्रेस विधायक नरेश सेलवाल गुडग़ांव के सेक्टर-45 की तीन हजार गज भूमि से धारा-6 हटवाने के नाम पर दस से बारह करोड़ के बीच की सौदेबाजी करते हुए नजर आ रहे हैं और सीडी रात के समय उनके घर पर तैयार की गई है। 
                   इनेलो के वरिष्ठ नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा द्वारा मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी सीडी मामले में लोकायुक्त द्वारा फैसला दिया जा चुका है जिसमें मुख्य संसदीय सचिव के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के अंतर्गत तुरंत एफआईआर दर्ज किए जाने और सीएलयू के नाम पर पांच करोड़ रुपए मांगने वाली सीपीएस के खिलाफ उच्चस्तरीय निष्पक्ष जांच करवाए जाने के आदेश दिए गए। हुड्डा सरकार ने मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी को बचाने के लिए लोकायुक्त के पास पुनर्विचार याचिका दायर की थी जिसमें लोकायुक्त से फौजी के खिलाफ पीसी एक्ट में एफआईआर दर्ज कर उच्चस्तरीय जांच करवाए जाने के दिए गए आदेशों पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया गया था। रामकिशन फौजी ने भी लोकायुक्त से मामले पर पुनर्विचार करने को कहा था। लोकायुक्त ने पुनर्विचार याचिका पर दोनों पक्षों को सुनने के बाद अपना फैसला सुनाते हुए सरकार की ओर से मुख्य सचिव द्वारा दायर पुनर्विचार याचिका को रद्द किए जाने के आदेश दिए थे। अभी तक सरकार ने लोकायुक्त द्वारा दिए गए फैसले के अनुसार रामकिशन फौजी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच करवानी है जो कि अभी तक मामला दर्ज कर जांच नहीं करवाई गई। लोकायुक्त ने सरकार की पुनर्विचार याचिका रद्द किए जाने के आदेश देते हुए कहा कि लोकायुक्त कानून में पुनर्विचार का कोई प्रावधान नहीं है। यह मामला हरियाणा विधानसभा के मौजूदा सत्र में भी काफी प्रमुखता से उठा था और अब हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री व अन्य विधायकों को लोकायुक्त के समक्ष 11 अप्रैल को पेश होने का नोटिस जारी होने के बाद कांग्रेस सरकार की मुश्किलें और बढ़ गई हैं।

Thursday, February 27, 2014

इनेेलो की सरकार बनने पर किसानों के खिलाफ दर्ज मामले होंगे वापसः दुष्यंत चौटाला


हिसार। अपनी मांगों को लेकर उचाना में शांतिपूर्वक संघर्ष कर रहे किसानों के खिलाफ के लिए मामले दर्ज करके हुड्डा सरकार ने किसानों पर अत्याचारों की एक ओर दास्तां लिख दी है। इनेलो की सरकार बनने पर इन किसानों पर दर्ज किए गए सभी मामले वापस होंगे और उनकी मांगों को माना जाएगा। यह बात युवा इनेलो नेता व हिसार संसदीय क्षेत्र के प्रभारी दुष्यंत चौटाला ने कही। वे अपने आवास पर मिलने आए किसानों के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के बाद उनसे रूबरू हो रहे थे।
युवा नेता ने कहा कि हुड्डा के शासनकाल में सबसे अधिक अत्याचार किसानों पर हुए हैं। उन्होंने कहा कि जींद में अपनी मांगों को लेकर संघर्ष कर रहे किसानों पर अत्याचार की सारी सीमाएं लांघते हुए हुड्डा सरकार ने केवल रातों रात किसानों को धरना स्थल से खदेड़ दिया बल्कि उन्हें गिरफ्तार करके उनके खिलाफ झूठे मामले भी दर्ज कर दिए। उन्होंने मांग की कि गिरफ्तार किए गए किसानों को तुरंत रिहा किया जाए। उन्होंने कहा किसीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने किसानों की बेशकीमती जमीन सस्ते दामों पर उनसे छीन कर निजी बिल्डरों को सौंप दी। उन्होंने कहा कि सीएम हुड्डा की धन के प्रति लालसा इतनी बढ़ी हुई है कि उन्होंने निजी कंपनियों को उनके बिना मालिकाना हके के भी सीएलयू जारी कर दिया। माननीय अदालत ने इस मामले में न्याय करते हुए किसानों को जमीन वापस देने का फैसला दिया। उन्होंने कहा कि किसानों को मंहगे दामों पर खाद, बीज, कीटनाशक व बिजली खरीदनी पड़ रही है परन्तु उन्हें फसलों के लाभकारी मूल्य नहीं मिलते, जिसके चलते किसान लगातार आर्थिक तंगी की चक्की में पिस रहा है। उन्होंने कहा कि किसान की आमदनी कम व लागत अधिक होने के कारण वह न तो अपने बच्चों को अच्च्छी शिक्षा दिलवा पाता और न ही वह सिर छिपाने के लिए अपना मकान बना पाता। प्रदेश का किसान लगातार कर्ज के बोझ के नीचे दबता जा रहा है।
उन्होंने कहा कि सरकार किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए तुरंत स्वामीनाथन की रिपोर्ट को लागू करे। दुष्यंत चौटाला ने अपने आवास पर शहर के पदाधिकारियों के साथ बैठक की और पार्टी संगठन को मजबूत करने व बूथ स्तर पर डयूटियां लगाने को लेकर विचार विमर्श किया।इस अवसर पर जिला प्रधान उमेद सिंह लोहान,प्रधान प्रहलाद सिंह राड़ा शहरी प्रधान हनुमान ऐरन, विक्रांत बागड़ी, अमित बूरा सिह अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे। 

प्रदेश के 90 हलको में चली इनेलो की डोर-टू-डोर न्याय यात्रा


चंडीगढ़। इनेलो की ओर से कांग्रेस व सीबीआई की साजिश को बेनकाब करने और हुड्डा सरकार के घपलों, घोटालों व भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिए इनेलो की ओर से शुरू की गई प्रदेशव्यापी डोर टू डोर जनसम्पर्क न्याय यात्रा अभियान गुरुवार को भी प्रदेश के सभी 90 हलकों में जारी रहा और इनेलो नेताओं ने घर घर जाकर लोगों से संपर्क कर आगामी चुनाव में इनेलो प्रत्याशियों को विजयी बनाने और कांग्रेस का पूरी तरह सूपड़ा साफ करने का आह्वान किया। कालका विधानसभा क्षेत्र के मोरनी व रायपुररानी ऐरिया में आज विधायक प्रदीप चौधरी के नेतृत्व में गांव भोज नग्गल, ठण्डोग, दादसू, उत्तरों, राज टीकरी,बडियाल, हथिया, चन्याना और नीमवाला सहित अनेक गांवों में न्याय यात्रा अभियान चलाया गया और इस अवसर पर सैकड़ों लोगों ने कांग्रेस-भाजपा व हजकां छोड़ इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। विधायक प्रदीप चौधरी ने महाशिव रात्रि के अवसर पर गांव भवाना स्थिति भगवान शिव के मंदिर में माथा टेका और पूजा अर्चना की और लोगों को  शिवरात्रि के पावन अवसर पर बधाई दी। 
नरवाना में विधायक पिरथी सिंह नम्बरदार के नेतृत्व में गांव कलोदा खुर्द, कलोदा कलां, नेहरा, भिखेवाला और सच्चाखेड़ा में न्याय यात्रा जनसंपर्क अभियान आयोजित किया गया इसमें स्थानीय विधायक के अलावा हलका प्रधान छोटू राम, रतन सिंह एडवोकेट, कश्मीर सिंह हंस डहर, चरणजीत मिर्धा,राजबीर कोलेखां, वेद प्रकाश सरोहा, गजे सिंह, रणधीर सिंह, राजेश धनोरी व सत्यवान बाल्मीकि सहित अनेक प्रमुख नेताओं ने हिस्सा लिया। पानीपत ग्रामीण हलके में इनेलो प्रदेश महासचिव सुरेंद्र दहिया के नेतृत्व में आयोजित जनसंपर्क अभियान में कुलदीप राठी, डॉ. यशपाल डांढा, रणबीर देसवाल, सुखबीर खलीला, सतेंद्र भिझोंल,जोगेंद्र मलिक, तेलू राम, मास्टर बलबीर जागलान, सुरेंद्र शर्मा, बलवान मलिक, मास्टर महिपाल, जोगिंद्र मलिक, नवीन कादियान व रामकुमार नम्बरदार साहित अनेक नेताओं ने हिस्सा लिया। 
राई हलके में पूर्व विधायक सूरजभान के नेतृत्व में चलाए गए अभियान में हलकाध्यक्ष रामकिशन नांगल, विजेंद्र आंतिल, रणबीर दहिया, रमेश बडोली, सतीशकौशिक, रामकिशन सरोहा, अजीत आंतिल, राजेश पालड़ी व विनय आंतिल सहित अनेक नेताओं ने हिस्सा लिया और गांव हलालपुर, नाहरा, माजरा, छतेहरा, लाडपुर, गढी बाला व बिंदरोली में लोगों से संपर्क कर कांग्रेस के काले कारनामों को उजागर किया। सोनीपत में नरेश जैन, महेंद्र सैनी एडवोकेट, रवि दहिया, सुरेंद्र राणा, रेखा बाल्यान, ब्रह्मी देवी, सरोज, डॉ. भगत सिंह, संजय मलिक, बंसी कुंडू सहित अनेक नेताओं ने हिस्सा लिया और इनेलो की नीतियों से लोगों को अवगत करवाया। जुलाना में पूर्व डीजीपी एमएस मलिक ने शामलो कला गांव में ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए लोगों को चौधरी देवीलाल की नीतियों पर चलने वाली पार्टी इनेलो के साथ जुडऩे का आहवान किया। उन्होंने कहा कि आज प्रदेशभर में इनेलो के पक्ष में लहर चल रही है और आए दिन बड़े-बड़े दिग्गज नेता व अन्य दलों के कार्यकत्र्ता अपने-अपने दलों को छोड़ इनेलो के झण्डे तले एकत्रित हो रहे हैं। इस अवसर पर अनेक इनेलो नेता मौजूद थे।
इनेलो के टोहाना हलका प्रभारी बलदेव बाल्मीकि व पूर्व विधायक निशान सिंह के नेतृत्व में इनेलो नेताओं ने टोहाना हलके में व्यापक जनजागरण अभियान चलाया और कांग्रेस के काले कारनामों से लोगों को अवगत करवाया। इस अवसर पर हरि सिंह डांगरा, नौरंग जांगडा, राममेहर सिंह, किताब सिंह, जगजीत झाज, मनोज कुमार, निर्मला, जिला पाष्रद कलाशो व नसीबो सैनी सहित अनेक इनेलो नेता मौजूद थे। इनेलो जिला सिरसा महिला अध्यक्ष कृष्णा फोगाट के नेतृत्व में महिलाओं ने सिरसा के वार्ड 5 में जनसंपर्क न्याय यात्रा के अंतर्गत घर-घर जाकर लोगों से संपर्क किया और कांग्रेस व सीबीआई की साजिश का पर्दाफाश किया। इस अवसर पर मंजू नागपाल, अनीता, पुष्पा नारंग, अंगूरी देवी, अमर सिंह गोदारा, दुनीचंद, अमरजीत सिंह, अजय बंसल, महावीर प्रसाद उर्फ गोग्गी, सुरजीत पूनिया, मक्खन पूनिया, सोहन राठौर, अश्वनी, विजय बंसल, विरेंद्र पूनिया व लख पूनिया सहित अनेक प्रमुख नेता मौजूद थे। जींद के इनेलो विधायक डॉ. हरिचंद मिढ्डा ने जींद के रीजनल सेंटर को विश्वविद्यालय का दर्जा दिए जाने की मांग को अपनी जीत बताते हुए कहा कि वे निरंतर इस मांग को लेकर हरियाणा सरकार को घेरते आ रहे थे और 2012 के मानसून सत्र में भी उन्होंने यह मुद्दा उठाया था और इस साल के बजट सत्र में भी इन्होंने इस मामले को प्रमुखता से उठाते हुए सरकार को इस बारे में उनकी मांग स्वीकार करने और जींद जिले के रीजनल सेंटर को विश्वविद्यालय का दर्जा देने के लिए बाध्य किया। उन्होंने इस संबंध में जींद जिले की जनता के संघर्ष को जीत का श्रेय देते हुए कहा कि हुड्डा सरकार की अगर नीयत ठीक होती तो इससे पहले इस विश्वविद्यालय का दर्जा दिया जा सकता था।

हरियाणा में कांग्रेस का एक मात्र विकल्प इंडियन नेशनल लोक दलः दिग्विजय चौटाला


चंडीगढ़। इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने कहा कि हरियाणा में कांग्रेस का विकल्प इनेलो का है, अन्य किसी राजनीतिक दल कोई जनाधार नहीं है। चुनाव होने पर प्रदेश में कांग्रेस का जाना और इनेलो का सत्ता में आना निश्चित है। दिग्विजय चौटाला गुरुवार को कुरुक्षेत्र जिले के गांव हथीरा में इनेलो हल्का प्रधान ओमप्रकाश हथीरा के भतीजे गुरदीप व रविंद्र उर्फ सोनू के विवाह समारोह में भाग लेने के बाद वहां पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
           दिग्विजय चौटाला ने कहा कि लोकसभा चुनाव में हरियाणा की सभी 10 सीटों पर इनेलो प्रत्याशी विजय प्राप्त करेंगे। उन्होंने कहा कि केंद्र में कांग्रेस के विरोध में बनने वाली सरकार को इनेलो बिना शर्त समर्थन देगी, क्योंकि इनेलो का मुख्य मकसद कांग्रेस को देश व प्रदेश की सत्ता से उखाड़ बाहर करना है। पार्टी द्वारा शुरु की गई न्याय यात्रा के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि इस न्याय यात्रा को हरियाणा के प्रत्येक गांव व शहर में भारी जनसमर्थन मिल रहा है। लोग बड़ी संख्या में न्याय यात्रा में शामिल इनेलो नेताओं के विचारों को सुनने के लिए एकत्रित होते हैं। इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि प्रजातंत्र में जनता की अदालत सबसे बड़ी अदालत होती है, इसलिए इनेलो कार्यकर्ता जनता की अदालत में जाकर हर घर पर दस्तक देकर न्याय करने की अपील कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में इनेलो की जीत से पार्टी प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला के हाथ मजबूत होंगे। इनसो नेता कहा कि कांग्रेस अपने विरोधियों को दबाने के लिए सीबीआई का हमेशा दुरुपयोग करती है। इनेलो प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला, अजय चौटाला व शेर सिंह बड़शामी ने कांग्रेस के आगे झुकने से इंकार कर दिया, इसलिए कांग्रेस ने सीबीआई की मद्द से षड्यंत्र रचकर इनेलो नेताओं को जेल में डाल दिया। उन्होंने कहा कि इनेलो का न्यायपालिका में पूर्ण विश्वास है, सभी इनेलो नेता अदालत से बरी होकर आएंगे और प्रदेश में चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में इनेलो की सरकार बनेगी। इस मौके पर इनेलो हल्का प्रधान ओमप्रकाश हथीरा, प्रदेश सचिव बुटा सिंह लुखी, सुभाष हथीरा, धर्मपाल सिंह, रामपाल पंच, विनोद पंच, राजकुमार, मिया सिंह बारना, दलबीर सिंह बारवा सहित अनेक इनेलो नेता उपस्थित थे।

बसपा के पूर्व प्रदेश महासचिव राजकुमार शर्मा इनेलो में हुए शामिल


चंडीगढ़। बसपा के प्रदेश महासचिव व 2009 लोकसभा चुनावों में रोहतक से बसपा प्रत्याशी रहे राजकुमार शर्मा न गुरुवार को अपने हजारों साथियों सहित इनेलो के वरिष्ठ नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला की मौजूदगी में इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। राजकुमार शर्मा ने पिछली बार रोहतक संसदीय सीट से बसपा प्रत्याशी के तौर पर 68 हजार से ज्यादा वोट लेकर तीसरे स्थान पर रहे थे। इससे पहले राजकुमार शर्मा ने 1991 में रोहतक संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ा था। राजकुमार शर्मा व उनके साथियों का इनेलो में शामिल होने पर स्वागत करते हुए चौधरी अभय सिंह चौटाला ने उन्हें पार्टी में पूरा मान-सम्मान दिए जाने का भरोसा दिलाया।

इस अवसर पर रोहतक में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि अपने गुनाहों एवं झूठी घोषणाओं का रहस्य बना रहे और जनता के सामने असली चेहरा बेनकाब न हो इसलिए मुख्यमंत्री हुड्डा ने विधानसभा में बजट सत्र के दौरान विपक्ष को बाहर करवा दिया। उन्होंने कहा कि विधानसभा स्पीकर कुलदीप शर्मा की इच्छा थी कि बजट स्तर पर सरकार की कमियों खामियों पर चर्चा हो लेकिन मुख्यमंत्री हुड्डा चर्चा नहीं चाहते थे क्योंकि उन्हे पता था कि भ्रष्टाचार की परतें खुलेगी और उनके मंत्री लपेटे में आ जाएगा। उन्होंने कहा कि विधानसभा में राज्यपाल के भाषण का महत्व तभी होता है जब विपक्ष उपस्थित हो और उस पर अपने विचार प्रकट करें। 
       इनेलो विधायक ने कहा कि सरकार की नैया डूबते देख बिना किसी बजट के प्रावधान के मु यमंत्री हुड्डा लम्बी चौड़ी चुनावी घोषनाएं कर जनता को एक बार फिर गुमराह करने की फिराक में है। उन्होने कहा कि अब जनता जागरूक हो चुकी है क्योंकि नौ साल तक हुड्डा सरकार कुछ नही कर पाई और अब कुर्सी जाते देख सब कुछ करने के वादे कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के मौजूदा सांसदों ने लोकसभा चुनाव लडऩे से इंकार कर दिया क्योकि सांसद जान चुके है कि हुड्डा के नेतृत्व में न केवल भेदभाव हुआ है बल्कि विकास की आड़ में धन स पति की गंगा का बहाव भी उनके परिवार तक सीमित रहा। उन्होंने कहा कि भाग मिल्खा भाग की तर्ज पर कांग्रेसियों में भगदंड मची हुई है। उन्हें भी अहसास हो गया है कि कांग्रेस का सुपड़ा पूरे देश में साफ होने जा रहा है इसलिए कांग्रेसी विधायक अब दूसरे दलों में अपनी जमीन तलाशने में जुट गए है। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि जिस प्रकार मुख्यंमत्री हु्ड्डा घोषनाओं की  झड़ी लगा रहे हंै उससे लगता है कि लोकसभा के साथ विधानसभा के चुनाव भी हो जाएंगे। 
       इनेलो नेता ने कहा कि बजट का कार्य और आगामी योजनाओं की घोषणा वितमंत्री करते हैं लेकिन बजट सत्र में मुख्यमंत्री ने पहले ही ये सारी घोषनाएं कर डाली, यह सीएम की बौखालाहट की निशानी है। राजकुमार शर्मा के इनेलो में शामिल होने पर अभय चौटाला ने कहा कि इससे पार्टी का संगठन और भी मजबूत होगा। राजकुमार शर्मा ने कहा कि उन्होंने स्व. चौ देवीलाल की नीतियों से प्रभावित होकर इनेलो का दामन थामा है। अभय चौटाला ने कार्यकर्ताओ को सम्बोधित करते हुए कहा कि 2014 के चुनावों के लिए पूरी तरह तैयार रहे और घर घर जाकर पार्टी की नीतियों ओैर नीयत के बारे में जनता में प्रचार करे। इस अवसर पर सतीश नांदल, धर्मपाल मकडौली, शमशेर सिंह खरकडा, कैप्टन इन्द्रसिंह, कृष्ण कौशिक, उमेश देवी, राजकुमार सहगल ,राजीव खुराना, सुशील शर्मा, दीपक भारद्वाज, राजीव मल्होत्रा,आदि नेताओं ने भी सम्बोधित किया।

कांग्रेस-भाजपा छोड़कर डेड़ दर्जन से ज्यादा लोग इनेलों में हुए शामिल

मोरनी। कांग्रेस और भाजपा को उस वक्त मोरनी में आज करारा झटका लगा, जो दोनों ही राजनीतिक पार्टियों के डेड़ दर्जन से ज्यादा लोगों ने इनेलो के कालका विधायक प्रदीप चौधरी की मौजूदगी में आयोजित न्याय यात्रा के दौरान इनेलों का दामन थाम लिया। आज इनेलों विधायक प्रदीप चौधरी भोज नगल की ठंडोग, दाबसू, उत्तरों, राजटिक्करी पंचायतों के गांव बडियाल, कंडेरन, ठंडोग, हथिया, चनयाणा और नीमवाला इत्यादि गांवों के संयुक्त कार्यक्रम में जन-जागरण अभियान के तहत न्याय यात्रा निकाली गई। इससे पूर्व गांव बडियाल में आयोजित सभा में मदन पंच, सुरेश पाल, हरि राम, पृथ्वी सिंह, नारायण, सतपाल, सुनील, रविन्द्र, प्रेम सिंह, दलीप सिंह, बलदेव, चेतन, तारा चंद, देशरज, ईश्वर इत्यादि ने कांग्रेस और भाजपा को छोड़ इनेलों में शामिल होने की घोषणा की, जिसकों लेकर जहां इनेलों विधायक ने इन लोगों को विधिवत् तरीके से हार पहनाकर उन्हें पार्टी में शामिल किया, इसी के साथ उनका पार्टी में शामिल होने पर स्वागत करते हुए यह भी भरोसा दिलाया कि उन्हें पार्टी में पूरा मान स मान मिलेगा। सभा में बोलते हुए इनेलों विधायक कहा कि आज जिन लोगों ने कांग्रेस और भाजपा छोड़कर इनेलों में शामिल होने का एलान किया है, इन लोगों ने यह फैसला बिलकुल सही समय पर लिया है, क्योंकि कांग्रेस तो डूबता जहाज है, जिसमें सवार होना भी किसी भी प्रकार से खतरे से खाली नही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस से चालबाज कोई राजनीतिक दल नही है, जिस प्रकार से भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने के लिए और राबर्ट वाड्रा की खुलती पोल से घबराई कांग्रेस ने इनेलों नेताओं को साजिश के तहत जेल भिजवाने का काम किया है, यह दर्शाता है कि कांग्रेस अपनी कमजोरियों को छुपाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है, ऐसी कांग्रेस को क्यूं न इस बार चुनावों में ऐसा करारा सबक सिखाया जाए कि इसे मालूम हो जाए कि जनता की ताकत से बढ़कर कुछ नही है, सत्ता के नशे में चूर कांग्रेस ने अपने दोहरे कार्यकाल में केवल अपने ही विकास के लिए काम किया है, इन्होंने प्रदेश के या प्रदेश की जनता के हित के लिए कोई योजना नही बनाई, हालांकि अपना राजनीतिक कार्यकाल चमकाने के लिए कई बार झुठी घोषणाएं करने का काम जरूर कांग्रेस ने किया है। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में इनेलों के पूर्व जिला परिषद सदस्य बलवंत भींवर, जिला परिषद वाइस चेयरमैन रमेश मांधना, पूर्व सरंपच ध्यान सिंह, विरेन्द्र राजीटिक्करी, युवा नेता अतुल गर्ग,अमर सिंह, खजान सिंह, रमेश बडियाल सहित काफी सं या में आसपास के क्षेत्र से इनेलों नेता व पदाधिकारी तथा ग्रामीण मौजूद थे। 


इनेलो ने गांव मछौंडा में चलाया जनसंपर्क अभियान


अंबाला कैंट। इनेलो जिला शहरी अध्यक्ष ओंकार सिंह की अगुवाई में इनेलो ने वीरवार को गांव मछौंडा में जनसंपर्क अभियान चलाया। इस दौरान स्थानीय निवासियों ने जहां अपनी समस्याएं बताई, वहीं कहा कि लंबे समय से इन समस्याओं को लेकर परेशान हैं, लेकिन सरकार और प्रशासन सुनने को तैयार नहीं है। लोगों का कहना है कि बेशक गांव नगर निगम में आ चुका है, लेकिन सुविधाएं आज तक मुहैया नहीं करवाई। ओंकार सिंह ने कहा कि कांग्रेस सरकार लोगों को सुविधाएं देने के लिए सिर्फ वायदे कर सकती है, जबकि हकीकत में इनको अमलीजामा पहनाने में सिर्फ आश्वासन देती है। उन्होंने कहा कि इनेलो के कार्यकाल में गांव व शहरों में एक समान सुविधाएं दी गई थी, लेकिन वर्तमान सरकार इसे नियमित रखने में ही नाकाम है। उन्होंने बताया कि गांव नगर निगम क्षेत्र में है, लेकिन यहां बिजली आपूर्ति ग्रामीण फीडर के तहत आती है। लोगों की मांग है कि इसे शहरी फीडर के साथ किया जाए। इसी तरह गांव बाड़ा को मछौंडा से जोड़े जाने वाला रोड अभी हाल ही में बना था, लेकिन यह टूट गया। इस में घटिया निर्माण सामग्री लगी है। यह जनता के साथ धोखा है और इसे बनाने वाले ठेकेदार पर कार्रवाई की जाए। गांव के स्कूल की चारदीवारी नहीं है, जिससे बच्चों पर हमेशा खतरा रहता है। उन्होंने मांग की कि क्षेत्र की कालोनियों की रजिस्टरी खोली जाए ताकि लोग अपने मकान के मालिक तो बनें।
            इस मौके पर इनेलो एक्ससर्विसमैन सैल के प्रदेश संगठन सचिव अमरीक सिंह मछौंडा ने कहा कि गांव में एक जोहड़ है, जिसकी आज तक सफाई नहीं हुई है। कई बार ऐसी स्थिति आई है कि पशु पानी पीने के लिए जोहड़ में जाते हैं और वहीं फंस जाते हैं। बड़ी मुश्किल से इनको निकाला जाता है। इसी जोहड़ के कारण मक्खियां मच्छर पनप रहे हैं, जबकि इससे बीमारियां फैलने का खतरा है। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में लोगों को लोकल बस सुविधा नहीं है, जिससे लोगों को आने जाने में दिक्कत होती है। इसी तरह जीटी रोड से यदि कैंट एरिया में आना या जाना हो, तो कई किलोमीटर का चक्कर काटना पड़ता है। इसी तरह गांव में पानी निकासी का बंदोबस्त नहीं है, जबकि पानी निकालने के लिए खेत का इस्तेमाल करना पड़ता है, जिसके लिए लोगों को पैसे देने पड़ते हैं। इनेलो नेता ओंकार सिंह ने आश्वासन दिया कि इनेलो की सरकार आने पर इन सभी समस्याओं का निराकरण किया जाएगा। इस मौके पर लोगों ने इनेलो को समर्थन देने की बात कही। इस मौके पर ग्रामीण हलका प्रधान रणधीर सिंह, ग्रामीण युवा प्रधान तरविंदर सिंह सोनू, युवा प्रधान शहरी राजेश शर्मा, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कृपाल अरोड़ा, मंजीत सिंह सरवन सिंह, रवि बब्याल, उजागर सिंह, भूपेंद सिंह, श्याम सुंदर, सोमनाथ बोह, केसर सिंह, डा. रामनाथ शर्मा, लाल सिंह, शेर सिंह, सुखवंत सिंह, दीपक, लाली मछौंडा आदि मौजूद रहे। 


कांग्रेस कर रही है प्रजातंत्र का गला घोटने का कामः मलिक

ग्रामीणों से रूबरू होते हुए इनैलो के राजनैतिक सलाहकार समिति के सदस्य एवं प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक डॉ महेन्द्र सिंह मलिक
जुलाना। इनैलो के राजनैतिक सलाहकार समिति के सदस्य एवं प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक डॉ महेन्द्र सिंह मलिक ने कहा कि लगातार कांग्रेस छोड़कर इनैलो में शामिल होने वाले लोगों की तादाद में वृद्धि हो रही है। इससे इस बात का अंदाजा लगा जा सकता है कि प्रदेश में इनैलो का जनाधार बढ़ रहा है। कांग्रेस सरकार प्रदेश में बढ़ते इनैलो के जनाधार से बोखला गई है और विधानसभा सत्र से इनैलो विधायकों को निलंबित कर कांग्रेस प्रजातंत्र का गला घोटने का काम कर रही है। डा महेन्द्र सिंह मलिक वीरवार को जुलाना विधानसभा क्षेत्र के गांव शामलों कला गांव में ग्रामीणों से रूबरू होते हुए कहा कि जिस प्रकार प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा क्षेत्रवाद को बढ़ावा देकर प्रदेश को बांटने में लगे हुए है वहीं चौधरी देवी लाल व ओम प्रकाश चौटाला ने सदैव रोहतक के लोगों को मान सम्मान देने का काम किया। जिस प्रकार रोहतक के रामसिंह, ओ.पी. भारद्वाज, बी.एस. सहवाग, बी.एस. राठी, इंद्र सिंह ढुल, बी.एस मलिक, एम.के मिगलानी सहित दर्जन भर लोगों को टिकट देने या उच्चे औधे पर बैठाने का काम किया गया था। यहां तक के चौधरी देवी लाल ने रोहतक को तवज्जों देते हुए यहां से लगातार कई बार सांसद का चुनाव लड़ा। जिससे इस बात का अंदाजा लगा जा सकता है कि इनेलो ने कभी क्षेत्रवाद को बढ़ावा नहीं दिया। डा. महेन्द्र सिहं मलिक ने कहा कि इनैलो विधायकों ने जब भी बढ़ते अपराधों और घपले व घोटालो की आवाज विधानसभा में उठाने का काम किया इसके अलावा विपक्ष के पास सरकार को घेरने के इस बार अनेक मुद्दे थे जिससे सरकार बुरी तरह से घिर सकती थी, इसीलिए सरकार ने जानबूझकर विपक्षी सदस्यों को विधानसभा सत्र से निलंबित कर जनता की आवाज को दबाने का काम किया है। हुड्डा ने जींद, सोनीपत जिले के साथ साथ पूरे प्रदेश के लोगों के साथ भेदभाव कर केवल झूठी घोषणाओं तक सिमित रखने का काम किया है। लेकिन आज भी प्रदेश के लोगों के लिए इंडियन नैशनल लोकदल लोकप्रिय बनी हुई है इस कारण कांगे्रस व अन्य पार्टियों से जाखिर हुसैन, केएल शर्मा, अत्तर सिंह सैनी, मांगे राम गुप्ता, हरिसिंह सैनी, राजपाल सैनी, शमशेर खरकड़ा, सुरेन्द्र दलाल सहित कई प्रदेश स्तर के नेताओं ने इनैलो को कांग्रेस का विकल्प मानते हुए शामिल होने का काम किया और कांग्रेस के मौजूदा विधायक और सांसद अपनी हार को भांपते हुए लोकसभा चुनाव लडने के लिए तैयार नहीं है। डा.मलिक ने कहा कि इसी प्रकार इनैलो सुप्रीमों को सीबीआई के साथ षड़यंत्र के तहत जेल भेजने का काम किया है लेकिन प्रदेश की जनता के सहयोग से वह समय दूर नहीं जब इनैलो सत्ता में होगी और पार्टी सुप्रीमों ओम प्रकाश चौटाला प्रदेश के मुख्यमंत्री होंगे। इस मौके पर उनके साथ हलका प्रेस प्रवक्ता आनंद लाठर, रणधीर श्योराण, जयनारायण पिलानिया, सतीश रामकली, दिलावर मौर, मुकेश, राजपाल राठी, ईश्वर दलाल सहित काफी संख्या में ग्रामीण व इनैलो कार्यकर्ता मौजूद थे। 


चुनावों में जनता सिखाएगी कांग्रेस को करारा सबकः कुलदीप मलिक


सोनीपत। न्याय यात्रा को मिल रही सफलता से गदगद होकर ग्रामीण जिलाध्यक्ष कुलदीप मलिक ने कहा कि आगामी लोकसभा व विधानसभा में जनता कांग्रेस को सबक सिखाने का मन बना चुकी है और इनैलो को सत्ता की चाबी सौंपने को आतुर है। हल्का गोहाना प्रभारी करतार सिंह सैनी ने गोहाना के वार्ड 5,10,11,12,6,15, 16 में लक्ष्मी नगर, हुक्म चन्द मण्डी, पुरानी अनाज मण्डी, पुरानी सब्जी मण्डी, काठ मण्डी, बरोदा रोड, फव्वारा चौक, रोहतक रोड से होते हुए जिला अध्यक्ष के  दफतर में पुहंच कर लोगो को  सम्बोधित करते हुए कहा कि चौ0 ओमप्रकाश चौटाला ने जेल में रहते हुए अपनी प्रिय जनता से अपील की है कि कानूनी अदालत के साथ-2मामला जनता की अदालत में भी उठाया जाए। ताकि काग्रेस की भष्ट नीतियो व सरकारी तन्त्र के दुरूप्रयोग का पर्दा फास जनता के सामने किया जा सके। सैनी ने कहा कि सुनियोजित षडयँत्र के  तहत इनैलो नेताओं को जेल भेजा गया है। बेरोजगार शिक्षित युवाओं को नौकरिया देकर इनैलो सरकार ने कोई गुनहा नही किया है और न ही पैसो का कोई लेन-देन हुआ है। काग्रेस का जाहज अब डूबने वाला है। इस मौके पर गोहाना हल्का अध्यक्ष राजपाल भटगांव,डा0 धर्मबीर नांदल पूर्व प्रत्याशी अतुल मलिक, युवा जिलाध्यक्ष सुमित राणा, जिला पार्षद परमवीर सैनी, प्रेमिला मलिक,अनिल खन्दराई,विद्या मोर, किरण भाटिया, सिवानी, सुनीता जांगडा, कृष्ण गुणा,संन्दीप गहलावत, वीरभान मलिक, राजसिंह, प्रताप गुढा,  नरेश मलिक, सुरजीत मलिक,बलजीत मलिक, आजाद मलिक, रेखा बाल्याण आदि इनैलो नेता मौजूद थे । 

सिंगीकाट समाज ने संयुक्त रूप से दिया इनेलो को समर्थन


फतेहाबाद। भूना में सिंगीकाट समाज ने एक कार्यक्रम आयोजित कर संयुक्त रूप से चुनाव में इनेलो का समर्थन करने की घोषणा की। इस दौरान समाज के लोगों ने एकमत होकर शहरी जिलाध्यक्ष स्वतंत्र चौधरी और हलकाध्यक्ष बलवान दौलतपुरिया की मौजूदगी में अन्य क्षेत्रों में भी जनसंपर्क चलाकर सिंगीकाट समाज को इनेलो के साथ जोडऩे की मुहिम चलाने का संकल्प लिया।  इस मौके पर इनेलो हल्काध्यक्ष बलवान सिंह दौलतपुरिया, पूर्व विधायक स्वतंत्र चौधरी, इनेलो टपरीवास के प्रदेश प्रचार सचिव जगदीश सिंह नायक तथा जिला प्रधान मनोहर लाल नायक ने इनेलो में शामिल हुए सिंगीकाट समाज के लोगों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि इनेलो में शामिल हुए सभी लोगों का इनेलो में पूरा मान-सम्मान दिया जाएगा। कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन में इनेलो हलकाध्यक्ष ने कहा कि यह सिंगीकाट समुदाय के लिए दुर्भाग्य का विषय है कि कांग्रेस राज में उसे विकास के नाम पिर सिवाय और अधिक पिछड़ेपन के कुछ नहीं मिला। उन्होंने कहा कि सिंगीकाट समुदाय को जिस शिक्षा नीति, रोजगार नीति की जरूरत थी, उसे कांग्रेस सरकार में नहीं दी गई। उन्होंने समुदाय के लोगों को विश्वास दिलाया कि जिस विकास की मुख्य धारा में जुडऩे की उम्मीद लेकर सिंगीकाट समुदाय के लोगों ने इनेलो के साथ जुडऩे का मन बनाया है, उनकी उस उम्मीद को इनेलो कभी उदासी के बादल नहीं मंडराने देगी। उन्होंने कहा कि नेलो ही एक ऐसी पार्टी है, जो 36 बिरादरियों को साथ लेकर चलती है। उन्होंने कहा कि चाहे बात रोजगार देने की हो या फिर पार्टी में ओहदे देने की, इनेलो किसी भी समाज की अनदेखी नहीं की है।
                  इस मौके पर सिंगीकाट भूना के नवनियुक्त प्रधान विनोद कुमार ने बलवान सिंह दौलतपुरिया को प्रतीकात्मक पगड़ी पहनाकर समाज की ओर से सम्मानित किया। इनेलो में शामिल होने वाले चिम्मनलाल, पवन कुमार, महेन्द्र, सतबीर, मुकेश कुमार, छैन्दा राम, मोहनलाल, गोबिंदा, सुनील कुमार, सिकन्दर, बख्शीराम, मिथुन, बलीराम सहित सैंकड़ों लोगों ने पार्टी सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला के समर्थन में नारे लगाए और पार्टी पदाधिकारियों का भव्य स्वागत किया। सिंगीकाट समाज के लोग पूर्व में कांग्रेस को समर्थन दे रहे थे, लेकिन कांग्रेस की नीतियों से दुखी होकर समाज के लोगों ने इनेलो में आस्था जताई है। इस मौके पर अनेक इनेलो नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे।

औमप्रकाश चौटाला बनेंगे प्रदेश के अगले सीएमः पिरथी सिंह नम्बरदार

नरवाना। इनेलो की न्याय-यात्रा नेहरा,कलौदा खुर्द,कलौदां कलां,भिखेवाला से होते हुए गांव सच्चाखेड़ा पहुंची । हल्का विधायक ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार से हर वर्ग हताश एवं परेशान है। युवा वर्ग अपने आप को ठगाा सा महसूस कर रहे हैं। क्योंकि जो लोग सत्ता में आने के लिए हर घर से रोजगार देने की बात किया करते थे आज वही लोग सत्ता में बैठकर नौकरियों को बेचने का काम कर रहें है प्रदेश की हुड्डा सरकार ने आज प्रदेश में नौकरियों के मामले में भाई-भतीजावाद अपनाया हुआ है। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री चौ0 ओमप्रकाश चौटाला को निर्दोष बताते हुए कहा कि 3206 अध्यापकों कि भर्ती में कहीं भी पैसे का लेन देन नहीं पाया गया। यह तो सिर्फ कांग्रेस ने सीबीआई को हथकंडा बनाकर एक साजिश के तहत इनैलो प्रमुख को जेल भेजने का काम किया है। विराधी दल यह समझते थे कि इनैलो सुप्रीमों एवं अन्य नेताओं के  जेल जाने से इनैलो पार्टी बिखर जाएगी लेकिन इनैलो कार्यकर्ताओं व जनता ने कांग्रेस की इस सोच को झूठा साबित किया और आज इनैलो संगठन प्रदेश में सबसे मजबूत संगठन के तौर पर खड़ा है। उनके साथ हल्का प्रधान चौ0 छोटूराम, शहरी प्रधान देशराज माटा,रत्तन सिंह एडवोकेट,बिट्टू नैन,कशमीर सिंह हंसडैहर,चरणजीत मिर्धा,राजबीर कोलेखां,वेदप्रकाश सरोहा,गजे सिंह,रणधीर सिंह, राजेश धनौरी,सत्यवान बाल्मीकि,रामपाल उझाना,बारू राम,गुलाब सिंह,अनुप सिंह,नफे सिंह गोयत आदि मौजूद रहे।

अपना खून देकर संघर्ष करने वाले किसानों का संघर्ष व्यर्थ नहीं जाने देंगेः दुष्यंत चौटाला

हिसार। अपना खून देकर संघर्ष करने वाले किसानों का संघर्ष व्यर्थ नहीं जाने देंगे। इनेलो की सरकार बनने पर हलके में सिंचाई के लिए न केवल पर्याप्त पानी मिलेगा बल्कि गांवों में लगाए गए पिलर बाक्स भी हटाए जाएंगे। यह बात युवा इनेलो के वरिष्ठ नेता व हिसार संसदीय क्षेत्र के प्रभारी दुष्यंत चौटाला ने कही। वे वीरवार को गांव सीसवाला में आयोजित बलिदान दिवस समारोह में बतौर मुख्य वक्ता बोल रहे थे। समारोह में दुष्यंत चौटाला ने किसान आंंदोलन में हिस्सा लेने वाले व रक्तदान करने वाले किसानों को सम्मानित किया।दुष्यंत चौटाला ने गांव सीसवाला में उमड़े किसानों के जनसैलाब को संबोधित करते हुए कहा कि इस हलके में हुड्डा के शासनकाल में लोगों को सिंचाई का पानी मिलना तो दूर, पीने के लिए पानी भी नहीं मिल रहा है। इस मांग को लेकर किसान लगातार संघर्ष कर रहे हैं परन्तु सरकार ने उनकी एक नहीं सुनी और किसान अपनी फसलों की बुआई के लिए तरसते रह गए। उन्होंने कहा कि किसानों के हितैषी होने का दम भरने वाले सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा यहां के किसानों के साथ सिंचाई के लिए पानी देने में भी भेदभाव कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हालात यहां तक बिगड़ गए कि नलवा हलके के किसानों को पानी लेने के लिए न केवल कड़ाके की ठंड में 39 दिन तक आंदोलन करना पड़ा बल्कि  किसानों ने अपना खून देकर पानी की मांग की। नलवा के विधायक संपत सिंह के घर के बाहर खड़े होकर जब अपनी बात किसानों ने रखनी चाही तो उन्हें भी जबरन पुलिस के सहारें वहां से खदेड़ दिया गया। हलके के लोगों को यह बात भी विधायक संपत सिंह ने उसके पास कोई समुद्र नहीं है जो आप लोगों के लिए पानी दे सके। उन्होंने कहा कि नलवा विधायक ने जिस पार्टी से अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत की, वह उस पार्टी का नहीं हो सका, नलवा हलके का तो होगा कहां से? युवा इनेलो नेता ने कहा कि स्थानीय विधायक संपत सिंह ने किसानों के साथ धोखा करते हुए पिलर बाक्स लगवा दिए और ग्रामीणों के घरों में तीन से पांच गुना बिजली के बिल भेज कर उनकी जेबों पर डाका डलवा दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता पहले से कांग्रेस द्वारा लाई गई मंहगाई से त्रस्त है और स्थानीय विधायक ने यहां पिलर बाक्स लगवा कर दर्जनों गांवों में ग्रामीणों की मंहगाई से कमर तुड़वा दी। उन्होंने कहा कि स्थानीय विधायक ने यह सारा खेल कमीशनखोरी के चक्कर में खेला है।  
युवा इनेलो नेता ने शहीद चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए। उन्होंने कहा कि शहीद किसी जाति विशेष या कौम के नहीं , बल्कि वे पूरे राष्ट्र के होते हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह से शहीद चंद्रशेखर आजाद ने देश को आजाद करवाने के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया था, उसी तरह से आज के युवाओं को देश व प्रदेश को भ्रष्टाचार व घोटालों से बचाने के लिए एकजुट होना पड़ेगा। दुष्यंत चौटाला ने संघर्ष करने वाले किसान मनीराम ढाका, महावीर बुढ़ाखेड़ा, गोपाल लोहानीवाल, रामकुमार भिवानी रोहिल्ला, नत्थुराम, हरिसिंह खोवाल तथा संजीव सहारण सहित दर्जनों किसानों को सम्मानित किया। इससे पूर्व दुष्यंत चौटाला का गांव में पहुंचने पर किसान मंच के जिला प्रधान प्रताप सहारण तथा युवा क्लब प्रधान रामप्रसाद ने फूल भेंट कर स्वागत किया। इस अवसर पर राज्यसभा सांसद रणबीर सिंह प्रजापति, जिला प्रधान उमेद सिंह लोहान, हलका प्रधान होशियार सिंह सिंघरान, दलबीर धीरणवास, युद्धवीर आर्य, उमेद सिंह धीरणवास, अनूप धनखड़, बलवान सैनी, सुभाष मांडिया, ईश्वर काजला, रामकुमार जाखड़, युवा क्लब के सदस्य सुनील, बलजीत, पवन, सुनील, बलवान, संजय, सुशील, आजाद, सतबीर सहित हजारों की संख्या में किसान उपस्थित थे।  

आगामी चुनावों में इनेलो की लहर में बह जाएगी जनविरोधी कांग्रेस

सिरसा। इनेलो महिला विंग की जिलाध्यक्ष कृष्णा फौगाट के नेतृत्व में गुरुवार को वार्ड नंबर 5 में न्याययात्रा के तहत डोर टू डोर अभियान चलाया। इस दौरान इनेलो कार्यकर्ताओं ने श्रीमती फौगाट के नेतृत्व में लोगों से संपर्क कर कांग्रेस व सीबीआई के षड्यंत्र को घर-घर तक पहुंचाया। इनेलो कार्यकर्ताओं ने जनता से इस वर्ष होने वाले चुनावों में कांग्रेस का सूपड़ा साफ करने और इनेलो प्रत्याशियों को विजयी बनाने का आह्वान किया। अभियान के दौरान कृष्णा फौगाट ने लोगों को बताया कि किस प्रकार कांग्रेस नेताओं ने झूठे षडयंत्र में उलझाकर जेल भिजवाया। उन्होंने कहा कि इनेलो की ओर से कांग्रेस व सी.बी.आई की साजिश को उजागर करने के लिए शुरू की गई राज्यव्यापी डोर टू डोर न्याययात्रा को प्रदेशभर में भारी जनसमर्थन मिल रहा है। इनेलो नेता व पार्टी कार्यकर्ता सभी हलकों में प्रत्येक गांव व वार्ड में जाकर लोगों से संपर्क कर कांग्रेस सरकार के काले कारनामों को न सिर्फ उजागर कर रहे हैं बल्कि कांग्रेस के षड्यंत्र का भी पर्दाफाश कर रहे हैं।
श्रीमती फौगाट ने कहा कि कांग्रेस यदि गरीबों की भलाई करना चाहती तो गरीबों के लिए अच्छी शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य व अन्य मूलभूत सुविधाएं का इंतजाम करती, ताकि आने वाली पीढियां अपने जीवन स्तर को ऊंचा उठा सके मगर कांग्रेस ने जानबूझ कर ऐसा नहीं किया। उन्होंने कहा कि पूरे देश व प्रदेश में कांग्रेस के खिलाफ लहर चल रही है। उन्होंने कहा कि इस लहर में कांग्रेस का सूपड़ा पूरी तरह से साफ हो जाएगा। उन्होंने सिरसा में बीते दिवस छोटी बच्ची से हुए दुराचार की निंदा करते हुए इसकी कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि इस घड़ी में इनेलो महिला विंग पूरी तरह पीड़ित परिवार के साथ है। गुरुवार को न्याय यात्रा अभियान में मंजु नागपाल, अनीता, पुष्पा नारंग, अंगूरी देवी, अमर सिंह गोदारा, दूनीचंद, अमरजीत सिंह, अजय बंसल, महावीर प्रसाद उर्फ गोगी, सुरजीत पूनिया, मक्खन पूनिया, लख पूनिया, वीरेंद्र पूनिया, सोहन राठौड़, अश्विनी व विजय बंसल आदि इनेलो पदाधिकारी मौजूद थे। 

Wednesday, February 26, 2014

इनेलो के भारी दबाव के कारण हुई तीन नए विश्वविद्यालयों की घोषणाः मिढ़ा


जींद। हरियाणा विधान सभा के बजट सत्र में प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में नए 3 विश्वविद्यालयों की घोषणा पर जींद के कुरुक्षेत्र विश्वविधालय के निर्माणाधीन रीजनल सेंटर को विश्वविद्यालय का दर्जा मिलने पर जींद के स्थानिये विधायक  डॉ. हरी चंद मिढा ने अपनी जीत करार देते हुए कहा कि सरकार को बार बार कि गयी उनकी मांग के सामने घुटने टेके है। प्रदेश सरकार पर उनके द्वारा सदन और सदन के बाहर समान दबाव  निरंतर 3 वर्ष से बनाया जा रहा था जबसे दक्षिणी  हरियाणा में मीरपुर रीजनल सेंटर को विश्वविद्यालय कि मांग कि गयी थी  तभी से डॉ. हरी चन्द मिढा भी निरंतर जींद में विश्वविधालय के निर्माण कि मांग कर रहे  थे    
विधानसभा कि कार्रवाईयों का हवाला देते हुए डॉ. मिढा ने बताया कि वर्ष 2012 में मानसून सत्र में अपने तारांकित प्रश्न में शिक्षा मंत्री से  उन्होंने पूछा था कि जींद शहर में  कोई विश्वविधालय का निर्माण करने का कोई विचार सरकार के विचाराधीन है ? अगर हा तो कब तक बनाए जाने कि सम्भावना है । उसके बाद बजट सत्र वर्ष 2013 -14  में विधायक ने प्रदेश के मुख्यमंत्री को तारांकित प्रश्न दागते हुए कहा था कि जींद में निर्माणाधीन कुरुक्षेत्र विश्वविधालय के रीजनल सेंटर को विश्वविद्यालय में बदलने का क्या कोई विचार सरकार के विचाराधीन है ? अगर हा तो कब तक बनाए जाने कि सम्भावना है ? इस बार विधायक जी का प्रश्न हंगामे कि भेट चढ गया तो विधायक ने बगैर हार माने वर्ष 2013 के मानसून सत्र में प्रदेश के   मुख्यमंत्री पर फिर सवाल दागा और पूछा कि मुख्यमंत्री जी बताए जींद में निर्माणाधीन कुरुक्षेत्र विश्वविधालय के रीजनल सेण्टर को विश्वविधालय में बदलने का क्या कोई विचार सरकार के विचाराधीन है ? उन्होंने पूछा कि यह भी बताने कि कृपा करे कि विश्वविधालय बनाए जाने के लिए क्या क्या मापदंड निर्धारित किए गए है । अपने प्रश्न के ग भाग में विधायक ने पूछा कि ऍम. डी. यु . रोहतक  तथा जे. जी. यु . हिसार जो कुरुक्षेत्र विश्वविधालय  के रीजनल सेण्टर थे जब उनको विश्वविधालय  का दर्जा दिया गया तो वो कितने मापदंडो को पूरा कर रहे थे ? इस बार भी प्रदेश सरकार से संतोष जनक जवाब ना मिलने से स्थानिये विधायक कि तरफ से 18 जनवरी 2014  को वर्ष 2014 के बजट सत्र के लिए फिर प्रश्न प्रदेश कि शिक्षा मंत्री पर सवाल दागा कि जींद शहर में  निर्माणाधीन कुरुक्षेत्र विश्वविधालय के रीजनल सेण्टर को विश्वविधालय में बदलने का क्या कोई विचार सरकार के विचाराधीन है ? अपने प्रश्न में विधायक ने पूछा कि ऍम. डी. यु . रोहतक  तथा जे. जी. यु . हिसार जो कुरुक्षेत्र विश्वविधालय  के रीजनल सेण्टर थे जब उनको विश्वविधालय  का दर्जा दिया गया तो वो कितने मापदंडो को पूरा कर रहे थे ? विधायक के अथक प्रयासो से प्रदेश सरकार ने मजबूरन विधायक कि मांग के आगे झुकना पडा है । अपनी इस सफलता पर स्थानिये विधायक वीरवार को अपने निवास स्थान पर पत्रकारो से बात चीत कर रहे थे  । उन्होंने कहा कि सत्ता पक्ष के लोग जनता को बरगलाने का प्रयास कर रहे है । क्योकि सत्ता पक्ष के लोगो द्वारा कभी भी जींद में विश्वविधालय   कि मांग नहीं  कि गयी और ना ही सत्ता पक्ष के लोगो ने प्रेस और मीडिया के माध्यम से जींद में विश्वविधालय  के निर्माण कि मांग कि जब मेरे अथक प्रयासो से ये मंजूर हो गया है तो कुछ कोंग्रेसी नेता मुख्यमंत्री का धन्य्वाद  कर रहे है ? उन्होंने कहा कि हम भी इस फैसले का स्वागत करते अगर प्रदेश सरकार वर्ष 2012  में ही हमारी इस मांग को मान लेती क्योकि इस बार तो प्रदेश सरकार कि मजबूरी थी क्योकि विधायक डॉ. मिढा द्वारा एक प्रेस कांफ्रेंस में पहले ही ऎलान कर दिया गया था कि अगर इस बार भी प्रदेश सरकार जींद को विश्वविधालय  नहीं देती तो इनेलो सरकार आते ही वो इस मांग को प्राथमिकता से पूरा करेंगे और विधायक जी द्वारा इस मुद्दे पर प्रदेश सरकार को  घेरने कि इस बार विशेष रणनीति तय कि जा चुकी थी । स्पीकर के रवैये पर डॉ. मिढा ने कहा कि विधान सभा अध्यक्ष द्वारा लोकतंत्र का गला घोटा जा रहा है क्योकि सरकार के इशारे पर स्पीकर नहीं चाहता कि विपक्ष सदन में बैठे क्योकि 25 फरवरी कि जब इनेलो विधायक स्वैधानिक  संस्थाओ कि मरियादा को कायम रखने कि बात कर रहे थे तो स्पीकर ने अपनी कुर्सी से उठ कर कहा कि सदस्यो आज जनता स्वैधानिक  संस्थाओ  को एक शक के दायरे से देख रही है और अंदेशा है कि अगर हालत इसी प्रकार रहे तो जनता का इन संवैधानिक संस्थाओ से  विश्वास उठ जाएगा लेकिन  दूसरी तरफ इनेलो विधयाको द्वारा जब सी. डी. काण्ड में फंसे मुख्य संसदीय सचिव राम किशन फौजी पर लोकायुक्त के फैसले अनुसार करवाई करने कि मांग कि जा रही थी तो उनको नामित कर  सदन से बाहर कर दिया गया जो साफ जाहिर करता है कि विधान सभा अध्यक्ष सरकार के मोहरे के रूप में काम  कर रहा है । जींद में भगत फूल सिंह विश्वविधालय के रीजनल सेण्टर को भी अपनी जीत करार देते हुए डॉ. मिढा ने कहा कि 25 फरवरी 2014  को उनके द्वारा कि गयी मांग को सरकार ने स्वीकारा और जींद में मेडिकल कॉलेज के निर्माण कि मांग पर यह फैसला लिया गया है । उन्होंने अपने प्रश्न में प्रदेश सरकार से पूछा था कि जींद शहर में एक मेडिकल कॉलेज का निर्माण करने का क्या कोई विचार सरकार के विचाराधीन है ? अगर हा तो  कब तक बनाए जाने कि सम्भावना है ? सम्पूर्ण प्रदेश में वर्ष 2009 से 2014 तक कितने मेडिकल कॉलेज बनाए गए है । जिला सत्र पर मेडिकल कॉलेजो कि क्या सूचि है ? तो इसका जवाब देते हुए स्वास्थय मंत्री ने विधायक को आश्वस्त किया था कि आपकी इस मांग पर प्रदेश सरकार संवेदनशील है और जींद में मेडिकल कॉलेज का निर्माण कर दिया जाएगा ।

इनेलो विधायकों को विधानसभा से निष्कासित करके स्पीकर अपना रहे हैं तानाशाही रवैया: मनोज शर्मा

अंबाला शहर में जनसम्पर्क अभियान के दौरान इनैलो कार्यकर्ता।
अम्बाला शहर। इनेलो विधायकों को विधानसभा से निष्कासित करके स्पीकर तानाशाही रवैया अपना रहे हैं। यह शब्द जलबेड़ा रोड पर इनैलो अम्बाला शहर प्रधान मनोज शर्मा ने जनजागरण अभियान के दौरान कहे। उन्होंने कहा कि इनैलो विधायकों द्वारा रामकिशन फौजी के सी.डी. कांड के विरूद्ध गिरफ्तारी की मांग करने के कारण मुख्यमंत्री भूपेन्द्र  हुड्डा के इशारे पर जिस प्रकार इनैलो विधायकों को विधानसभा से निष्कासित किया। उससे यह साबित होता है कि मुख्यमंत्री विपक्ष की आवाज को दबा रहे हैं। उन्होंने कहा कि विधानसभा में मार्शलों को बुलाना ही दुर्भाग्यपूर्ण है। भूपेन्द्र हुड्डा विधानसभा के प्रत्येक स्तर पर इसी प्रकार का माहौल बनाकर विपक्ष को बाहर निकालने का काम कर रहे हैं। इस अवसर पर प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सुरजीत ङ्क्षसह सौंडा ने कहा कि स्थानीय विधायक अपने विधानसभा क्षेत्र को छोड़कर जिस प्रकार प्रदेश में घूम रहे हैं उससे यहां की जनता अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रही है कि हमारे लिए विधायक के पास समय नहीं है तथा आने वाले चुनाव में हम स्थानीय विधायक को सबक सिखाएंगे। इस अवसर पर पूर्व विधायक नारायणगढ़ पवन दीवान साहनी, जिला प्रैस प्रवक्ता सुरिन्द्र घई (टीटू), पूर्व चेयरमैन करनैल ङ्क्षसह, दलबीर पूनिया, हरपाल, रामेश्वर अग्रवाल, रवि वाल्मीकि, अमन वालिया, दिलबाग दानीपुर, पूर्व युवा जिलाध्यक्ष संजय चौधरी, व्यापार सैल प्रधान निर्मल विज, सुनील त्रिखा, जगदीप चोपड़ा, जगदीप राणा, संदीप बक्शी, गुरमीत, अम्बाला शहर प्रवक्ता इन्द्रजीत आदि मौजूद थे।

इनेलो के वरिष्ठ नेताओं ने हुड्डा पर विपक्ष की आवाज दबाने का लगाया आरोप

चंडीगढ़। इनेलो के वरिष्ठ नेता व ऐलनाबाद के विधायक चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने हुड्डा सरकार पर विपक्ष की आवाज दबाने का आरोप लगाते हुए कहा कि विपक्ष के पास सरकार को घेरने के इस बार अनेक मुद्दे थे जिससे सरकार बुरी तरह से घिर सकती थी, इसीलिए सरकार ने जानबूझकर विपक्षी सदस्यों को सदन से निलम्बित किया क्योंकि सरकार नहीं चाहती थी कि विपक्षी सदस्य सदन में आएं। बुधवार को हरियाणा विधानसभा की प्रेेस दीर्घा में पत्रकारों से बातचीत करते हुए चौधरी अभय सिंह चौटाला व अशोक अरोड़ा ने कहा कि सरकार स्पीकर पर दबाव बना रही है ताकि विपक्षी विधायकों का निलम्बन रद्द न हो। उन्होंने कहा कि सदन को चलाना स्पीकर का काम होता है लेकिन उन्हें लगता है कि इस बार सरकार के सामने स्पीकर भी बेबस हैं। इनेलो नेताओं ने कहा कि अगर बजट सत्र में विपक्षी विधायकों का निलम्बन रद्द कर दिया जाता है तो निश्चित तौर पर इनेलो विधायक बजट सत्र में भाग लेंगे और प्रदेश के लोगों से जुड़े मुद्दे और समस्याओं को सदन में रखेंगे। 
इससे पहले बुधवार को हरियाणा विधानसभा का सत्र शुरू होते ही इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा व ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने सरकार द्वारा विपक्ष के 25 विधायकों को विधानसभा की शेष अवधि के लिए मंगलवार को निलम्बित किए जाने का मुद्दा उठाते हुए सरकार से विपक्षी विधायकों का निलम्बन रद्द किए जाने की मांग की। श्री अरोड़ा ने कहा कि सरकार जानबूझकर विपक्षी विधायकों को धरना देने के लिए मजबूर कर रही है। ऐलनाबाद के विधायक चौधरी अभय सिंह चौटाला ने भी सरकार की नीयत व कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा कि सदन में सरकार विपक्ष को बोलने नहीं देती और बाहर सरकार के प्रति जो बातें हैं वो सभी खुलकर रख रहे हैं। भाजपा विधायक दल के नेता अनिल विज ने भी इनेलो नेताओं की बात का समर्थन करते हुए कहा कि कल जो विपक्षी सदस्यों का निलम्बन हुआ वह अच्छी बात नहीं। लोकतंत्र में सदन में विपक्ष और सत्तापक्ष दोनों का होना बेहद जरूरी है। मुख्यमंत्री ने सीपीएस मामले में जो जवाब पे्रस दीर्घा में दिया उस मामले में वही जवाब अगर सदन में दे देते तो क्या दिक्कत थी? इस बीच सत्तापक्ष व विपक्षी विधायकों के बीच हल्की नोक झोंक भी होती रही।
प्रश्रकाल के बाद स्पीकर ने अपने चैम्बर में इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, भाजपा विधायक दल के नेता अनिल विज, संसदीय कार्यमंत्री रणदीप सुरजेवाला और वित्त मंत्री हरमोहिंद्र सिंह को इस मामले में बातचीत के लिए बुलाया। कुछ समय बाद इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने सदन में आकर बैठक में हुई चर्चा का उल्लेख करते हुए कहा कि हमने बहुत प्रयास किए कि सरकार विपक्ष की बात सुने और निलम्बित किए गए विधायकों को वापिस सदन में बुलाया जाए लेकिन हमारे तमाम प्रयासों के बावजूद हमारे साथियों को बुलाने से इनकार कर दिया गया है इसलिए हम विरोधस्वरूप सदन से वॉकआउट करते हैं। इनेलो नेता पे्रस दीर्घा में जब अपनी बात रख रहे थे तो उसी दौरान स्पीकर ने सदन में घोषणा की कि इनेलो के निलम्बित विधायकों का निलम्बन शुक्रवार 28 फरवरी से समाप्त किया जाता है और वे 28 फरवरी से सदन की कार्रवाई में हिस्सा ले सकेंगे। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को नेता अभय सिंह चौटाला व अशोक अरोड़ा जब विधानसभा की प्रेस दीर्घा में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे तो उस समय सदन में मौजूद विपक्ष के 25 विधायकों को निलम्बित कर दिया गया था। सदन में उस समय मौजूद न होने के कारण अभय सिंह चौटाला व अशोक अरोड़ा का निलम्बन नहीं हो पाया था। उन्होंने मंगलवार को भी निलम्बित विधायकों का निलम्बन वापिस लेकर उन्हें सदन में वापिस बुलाए जाने की मांग की थी लेकिन मांग अस्वीकार हो जाने पर वे विरोधस्वरूप सदन से वॉकआउट कर गए थे।

सीडी मामले में हरियाणा के लोकायुक्त जस्टिस पाल के समक्ष हुई सुनवाई

चंडीगढ़। कांग्रेस विधायक नरेश सेलवाल व अन्य कांग्रेसी नेताओं की सीडी मामले में बुधवार को हरियाणा के लोकायुक्त जस्टिस प्रीतम पाल के समक्ष सुनवाई हुई। इनके खिलाफ इनेलो विधायक प्रदीप चौधरी की ओर से शिकायत दर्ज करवाई गई है। इनेलो विधायक की तरफ से वकील नरेश सिंह शेखावत पेश हुए और अपना पक्ष रखा। लोकायुक्त ने विधायक नरेश सेलवाल के मामले में सुनवाई के बाद लोकायुक्त के रजिस्ट्रार को इस मामले में जांच अधिकारी नियुक्त करते हुए मामला जांच के लिए रजिस्ट्रार लोकायुक्त के पास भेज दिया है। वे इस मामले में अब शुक्रवार 28 फरवरी को सुनवाई करेंगे। इसके अलावा हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री राव नरेंद्र सिंह, कांग्रेस विधायक राम निवास घोड़ेला, मुख्य संसदीय सचिव  विनोद भ्याना व कांग्रेस विधायक जरनैल सिंह के खिलाफ सीडी मामले में दर्ज करवाई गई शिकायत पर भी अब लोकायुक्त ने शुक्रवार 28 फरवरी को सुनवाई करने का निर्णय लिया है। लोकायुक्त ने सीपीएस जलेब खान के बेटे साजिद खाद, कांग्रेस विधायक सम्पत सिंह के बेटे गौरव सम्पत सिंह और कांग्रेस नेता संजय छोक्कर के खिलाफ सीडी मामले में अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। 
                इनेलो के कालका से विधायक प्रदीप चौधरी ने हरियाणा के लोकायुक्त को कुछ दिन पहले चार सीडीज सौंपते हुए दोषियों के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के अंतर्गत मामला दर्ज कर जांच करवाए जाने की मांग की है। प्रदीप चौधरी ने अपने वकील के साथ लोकायुक्त कार्यालय में विधायक नरेश सेलवाल, हरियाणा के मुख्य संसदीय सचिव जलेब खान के बेटे साजिद खान और नलवा के कांग्रेस विधायक सम्पत सिंह के बेटे गौरव सम्पत सिंह के अलावा हरियाणा एनएसयूआई के अध्यक्ष रहे कांग्रेस नेता संजय छोक्कर की सीडीज और संबंधित दस्तावेज लोकायुक्त के रजिस्ट्रार को सौंपी थी। इन सीडीज में इन कांग्रेसी नेताओं को सीएलयू दिलाने व काम करवाने के बदले करोड़ों रुपए मांगते हुए दिखाया गया है। लोकायुक्त को दी गई सीडीज में उकलाना के कांग्रेस विधायक नरेश सेलवाल गुडग़ांव के सेक्टर-45 की तीन हजार गज भूमि से धारा-6 हटवाने के नाम पर दस से बारह करोड़ के बीच की सौदेबाजी करते हुए नजर आ रहे हैं और सीडी रात के समय उनके घर पर तैयार की गई है। नलवा के विधायक सम्पत सिंह के बेटे गौरव सम्पत सिंह डील करने वालों से अपने एक एजेंट को मिलाते हैं और काम के सारे कागजात देखकर काम की हां भरते हुए कहते हैं कि हमसे आप मिल लीए, आगे से यही आदमी मिलेगा और आगे की डील इसी से कर लेना। काम आपका हो जाएगा। पलवल की 58 एकड़ जमीन की डील के बदले 60 करोड़ रुपए मांगे जाते हैं।
                  इससे पहले चौधरी अभय सिंह चौटाला ने रामनिवास घोड़ेला के खिलाफ और कृष्ण पंवार ने मुख्य संसदीय सचिव विनोद भ्याना के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी जिस पर सुनवाई हो चुकी है और दोनों इनेलो नेता अपने बयान भी दर्ज करवा चुके हैं। विनोद भ्याना के खिलाफ सीडी भी लोकायुक्त को सौंपी थी जिसमें गुडग़ांव की चार एकड़ जमीन का सीएलयू करवाने के लिए अढाई करोड़ रुपए मांगने व रामनिवास घोड़ेला व सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत ईंट-भट्टों पर स्कूल खोलने के लिए एनजीओ को अढाई करोड़ रुपए का काम दिलाने के बदले 50 लाख रुपए रिश्वत मांगने का आरोप है। इनके अलावा इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने विधायक जरनैल सिंह के खिलाफ और रामपाल माजरा ने स्वास्थ्य मंत्री राव नरेंद्र सिंह के खिलाफ सीएलयू के नाम पर पैसे मांगने की शिकायत लोकायुक्त के पास दर्ज करवाई हुई है जिस पर अब शुक्रवार 28 फरवरी को सुनवाई होगी। राव नरेंद्र पर 30 एकड़ जमीन के सीएलयू के लिए 30 से 50 करोड़ रुपए मांगने। रतिया के विधायक जरनैल सिंह के भी अपने घर पर रात के समय फरीदाबाद के सेक्टर-31 के सामने वाली दो एकड़ जमीन का ग्रुप हाउसिंग के लिए सीएलयू करवाने की सौदेबाजी कर रहे हैं और साथ में सामने वाली पार्टी से पैसे की ऑफर भी पूछ रहे हैं।
इनेलो के वरिष्ठ नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा द्वारा मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी सीडी मामले में लोकायुक्त द्वारा फैसला दिया जा चुका है जिसमें मुख्य संसदीय सचिव के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के अंतर्गत तुरंत एफआईआर दर्ज किए जाने और सीएलयू के नाम पर पांच करोड़ रुपए मांगने वाली सीपीएस के खिलाफ उच्चस्तरीय निष्पक्ष जांच करवाए जाने के आदेश दिए गए। हुड्डा सरकार ने मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी को बचाने के लिए लोकायुक्त के पास पुनर्विचार याचिका दायर की थी जिसमें लोकायुक्त से फौजी के खिलाफ पीसी एक्ट में एफआईआर दर्ज कर उच्चस्तरीय जांच करवाए जाने के दिए गए आदेशों पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया गया था। रामकिशन फौजी ने भी लोकायुक्त से मामले पर पुनर्विचार करने को कहा था। लोकायुक्त ने पुनर्विचार याचिका पर दोनों पक्षों को सुनने के बाद अपना फैसला सुनाते हुए सरकार की ओर से मुख्य सचिव द्वारा दायर पुनर्विचार याचिका को रद्द किए जाने के आदेश दिए थे। अभी तक सरकार ने लोकायुक्त द्वारा दिए गए फैसले के अनुसार रामकिशन फौजी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच करवानी है जो कि अभी तक मामला दर्ज कर जांच नहीं करवाई गई। लोकायुक्त ने सरकार की पुनर्विचार याचिका रद्द किए जाने के आदेश देते हुए कहा कि लोकायुक्त कानून में पुनर्विचार का कोई प्रावधान नहीं है। यह मामला इस विधानसभा सत्र में भी प्रमुखता से उठा था और विपक्ष के 25 विधायकों को निलम्बित कर दिया गया था।

इनेलो विधायकों ने विधानसभा के बाहर धरना देकर हुड्डा सरकार को बताया जनविरोधी


चंडीगढ़। इनेलो के निलम्बित 25 विधायकों ने बुधवार को हरियाणा विधानसभा के बाहर धरना देकर समानांतर सत्र चलाकर हुड्डा सरकार को जनविरोधी बताते हुए सरकार के घपलों, घोटालों और भ्रष्टाचार को खुलकर उजागर किया और कहा कि आज सरकार से समाज का हर वर्ग बेहद नाराज और परेशान है व जल्द से जल्द इससे छुटकारा पाना चाहता है। इनेलो विधायकों द्वारा दिए जा रहे धरने व समानांतर सत्र का जब चंडीगढ़ पुलिस ने यह कहते हुए विरोध जताया कि यहां पर धारा 144 लगी हुई है तो इनेलो विधायक पुलिस की मौजूदगी में विधानसभा से लेकर हाईकोर्ट चौक तक पैदल सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए हरियाणा एमएलए होस्टल तक पहुंचे और फिर एमएलए होस्टल के समक्ष धरना दिया और समानांतर सत्र चलाया। जुलाना के विधायक परमिंद्र सिंह ढुल ने इस समानांतर सत्र में स्पीकर की भूमिका निभाई। इनेलो विधायकों व पुलिस के बीच थोड़ी नोक झोंक भी हुई। समानांतर सत्र में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा में भाग लेते हुए कलायत के विधायक रामपाल माजरा, इसराना के विधायक कृष्ण पंवार, मोहम्मद इलियास व कर्नल रघुबीर सिंह ने प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था की स्थिति और किसानों की दयनीय हालत का उल्लेख करते हुए कहा कि मौजूदा सरकार किसान विरोधी सरकार है और किसानों को उनकी फसलों के पूरे दाम नहीं मिलते। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री यदि अपने आपको किसान हितैषी होने का दावा करते हैं तो उन्हें सेज के नाम पर किसानों से ली गई सभी जमीनें वापिस किसानों को लौटानी चाहिए। उन्होंने कहा कि पिछले नौ सालों के दौरान हुड्डा सरकार ने एसवाईएल को पूरा करवाना तो दूर इसके लिए कोई प्रयास तक नहीं किया। उन्होंने कहा कि सरकार रेणुका, किसाऊ और लखवार बांध बनवाने में भी विफल रही है। उन्होंने प्रदेश में सडक़ों की हालत खराब होने और वन विभाग के घोटालों को दबाने का भी आरोप लगाया। रामपाल माजरा ने कहा कि बिजली के मामले में सरकार ने अपने थर्मल पावर प्लांट बंद करके टाटा, अदानी व एमजीआर को फायदा पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि आज सहकारी बैंक बंद होने के कगार पर हैं और किसानों से कर्जा वसूली के नाम पर उन्हें सजा करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार खानों की नीलामी में 2133 करोड़ रुपए वसूली की बात कह रही है। पिछले चार सालों में खानों की नीलामी करवाने की बजाय इससे होने वाली आमदनी कांग्रेसी नेताओं की जेबों में गई और लोगों को सस्ता बिल्डिंग मैटीरियल उपलब्ध करवाने के लिए सरकार ने कोई प्रयास नहीं किए। उन्होंने कहा कि सीएलयू देने व सीएलयू के नाम पर घोटाले करने में व्यस्त रही और घोटालों का पर्दाफाश करने वाले अशोक खेमका व संजीव चतुर्वेदी अधिकारियों का उत्पीडऩ करने में लगी रही।  उन्होंने कहा कि शिक्षा के मामले में हरियाणा पिछड़ता जा रहा है और साक्षरता में हरियाणा 15वें स्थान पर है। उन्होंने गेस्ट टीचरों को पक्का करने और शिक्षकों के खाली 40 हजार पद भरे जाने की भी मांग करते हुए एजुसेट, कम्प्यूटर व बायो मैट्रिक मशीनें खराब होने का आरोप लगाते हुए इसकी खरीद में भी घोटाले किए जाने का आरोप लगाया। 
                   
ऐलनाबाद के विधायक चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने भी विधानसभा में निलम्बित विधायकों को वापिस बुलाए जाने की मांग उठाने के बाद जब उनकी मांग स्वीकार नहीं की गई तो वे भी विधानसभा सत्र का बहिष्कार कर विधायक होस्टल के समक्ष धरना दे रहे व समानांतर सत्र चला रहे विधायकों के साथ आ बैठे। उन्होंने कहा कि हुड्डा सरकार अपने घपलों, घोटालों और भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने के लिए तानाशाहीपूर्वक रवैया अपना रही है। हर विधानसभा सत्र में इनेलो विधायकों को निलम्बित कर बाहर कर दिया जाता है और उनके संवैधानिक अधिकारों की हत्या की जा रही है। उन्होंने हुड्डा सरकार पर संवैधानिक संस्थाओं का गला घोंटने का भी आरोप लगाया और कहा कि सरकार लोकायुक्त जैसी संवैधानिक संस्थाओं का भी अपमान कर रही है। उन्होंने कहा कि रामकिशन फौजी सीडी मामले में सरकार ने जांच लोकायुक्त को सौंपी थी। इस सीडी में रामकिशन फौजी को पांच करोड़ रुपए सीएलयू दिलाने के नाम पर मांगते हुए दिखाया गया था। उन्होंने कहा कि सरकार ने लोकायुक्त की सिफारिश पर रामकिशन फौजी के खिलाफ पीसी एक्ट में एफआईआर दर्ज करने की बजाय पुनर्विचार याचिका दायर की। यह याचिका रद्द होने के बाद भी सरकार फौजी के खिलाफ मामला दर्ज करने की बजाय भ्रष्ट लोगों को संरक्षण दे रही है। उन्होंने कहा कि हरियाणा की एक महिला मंत्री व उनकी सांसद बेटी पर हत्या के आरोप लग रहे हैं। महिला मंत्री अपनी सरकार में बैठे लोगों पर साजिश का आरोप लगा रही हैं। उन्होंने कहा कि सरकार या तो साजिशकर्ताओं को गिरफ्तार करे या फिर अगर मंत्री हत्या में शामिल है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।  इस समानांतर सत्र में निरंतर विधायकों में हल्की फुल्की नोक झोंक भी होती रही। पूर्व मंत्री जगदीश नैयर, नसीम अहमद, प्रदीप चौधरी, सरोज मोर व राव बहादुर सिंह ने सरकार पर नरेगा में हुए घोटालों पर पर्दा डालने का प्रयास किया और कहा कि अम्बाला में हुए 25 करोड़ रुपए के नरेगा घोटाले की जांच अभी तक लम्बित है। उन्होंने सरकार पर अनापशनाप प्रॉपर्टी टैक्स लगाने और सरकारी की औद्योगिक नीति को पूरी तरह विफल बताते हुए कहा कि प्रदेश में नए उद्योग नहीं लग पाए जिसकी वजह से कोई निवेश नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि हरियाणा पीने के स्वच्छ पानी की सप्लाई सुनिश्चित करने में भी विफल रहा है। विधायक धर्मपाल ओबरा, कलीराम पटवारी, डॉ. हरिचंद मिड्ढा व अशोक कश्यप ने हरियाणा में स्वास्थ्य सेवाओं की खराब स्थिति का मुद्दा उठाते हुए कहा कि आज अनीमिया मातृत्व मृत्यु दर और शिशु मृत्यु दर के मामले में हरियाणा की हालत बेहद खराब है। कैंसर, हैपेटाइटस-बी और एडस जैसी बीमारियां फैल रही हैं और प्रदेश में डॉक्टरों की बेहद कमी है। 
                     विधायक बिशन लाल सैनी, दिलबाग सिंह, कृष्ण कम्बोज व मामू राम गोंदर ने हरियाणा में कर्मचारियों के आंदोलन का मुद्दा उठाते हुए कहा कि प्रदेश के कर्मचारियों में भारी रोष है और कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, कर्मचारियों की वेतन विसंगतियां दूर करने, पुलिस व अन्य कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतन भत्ते देने और हरियाणा के कर्मचारियों व रिटायर कर्मचारियों की मांगें सरकार को तुरंत स्वीकार किए जाने की मांग की। उन्होंने प्रदेश में बिजली-पानी संकट, आए दिन बिजली के दामों में वृद्धि, नौकरियों की नीलामी व भाई-भतीजावाद और विकास के मामले में क्षेत्रवाद को बढ़ावा देने का सरकार पर आरोप लगाया। इनेलो नेताओं ने हुड्डा सरकार पर सीबीआई के साथ मिलकर साजिश रचने और इनेलो नेताओं को झूठे मामलों में जेल भिजवाने का षड्यंत्र रचने का भी आरोप लगाया। विधायक गंगा राम, फूल सिंह खेड़ी, रामेश्वर दयाल, पिरथी सिंह नम्बरदार व चरणजीत सिंह ने अपने-अपने हलकों की समस्याएं रखी और विधानसभा में हुड्डा सरकार द्वारा विपक्ष की आवाज दबाने का भी आरोप लगाया।

कांग्रेस कर रही सत्ता का दुरूपयोगः सतीश नान्दल

रोहतक। इनैलो कि न्याय यात्रा के 16 वें दिन गढ़ी सांपला किलोई हल्के के प्रभारी एवं जिला अध्यक्ष सतीश नांदल के नेतृत्व में इनैलो कि न्याय यात्रा आज हसनगढ़ भैसरू कला भैसरू खुर्द एवं नया बास गाँव में डोर टू डोर पहुंची। न्याय यात्रा के दौरान हल्के  के प्रभारी सतीश नांदल ग्रामीणो से रूबरू हुए और उनको इनैलो कि जनकल्याणकारी नीतिओं से अवगत करवाया। न्याय यात्रा के दौरान  सतीश नांदल ने कहा कि कोई भी नेता जो कॉंग्रेस के खिलाफ थोड़ी सी आवाज उठाने का कार्य करता है तो तुरंत कांग्रेस सरकार उसके इशारों पर काम करने वाली सीबीआई के द्वारा उस नेता को घेरने का काम करती है जिसका ताजा उदहारण रामबिलास पासवान है आज कांग्रेस पार्टी का जो हाल हो रहा है वो आमजन के सामने है आज कांग्रेस के कददावर नेता आये दिन कांग्रेस को छोड़ रहे है प्रदेश में आज कांग्रेस पार्टी अपना मनमाफिक रवैया अपना कर प्रदेश कि जनता को ठगने का काम कर रही है न्याय यात्रा में ग्रामीणों का हूजूम देखने लायक रहा जिसका अभिप्राय यही है कि इस भ्रष्ट सरकार का जाना लगभग तय हो चूका है। इस अवसर पर न्याय यात्रा के साथ श्रीमती उमेश देवी सुनीता हुड्डा सरिता नारायण मीना मकड़ोली सुनीता मकड़ोली वीरमति धनपति डॉ संदीप हुड्डा डॉ प्रेम हुड्डा सूरत सिंह खटक करतार काहनी जयपाल पांचाल सूबेदार ईश्वर सुखमिंदर काके हसनगढ़ प्रदीप हसनगढ़ राजा भैसरू दलबीर भैसरू अत्तर रमेश कौशिक अशोक कौशिक अशोक बाल्मीकि मोनू विक्की बलजीत बोहर बनी सिंह राजबीर बाल्मीकि दलबीर वीरेंदर ओम प्रकाश बलबीर काला रविंदर बखेता  इत्यादि उपस्थित थे। 
न्याय यात्रा के दौरान इंडियन नेशनल लोक दल के वरिष्ठ नेता सतीश नांदल अन्य नेताओं के साथ