Friday, January 31, 2014

इनैलो की सरकार आने पर नायक समाज का पूरा ध्यान रखा जाएगाः दुष्यंत चौटाला


फतेहाबाद। युवा इनैलो नेता दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि इंडियन नेशनल लोक दल की सरकार आने पर नायक समाज की सभी मांगों को पूरा किया जाएगा। नायक समाज इनैलो के साथ रहा है और पार्टी इस बात को बखूबी समझती है। वे शुक्रवार देर शाम वरिष्ठ इनैलो नेता जगदीश नायक के अशोक नगर स्थित आवास पर नायक समाज के लोगों की एक बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इनैलो 36 बिरादरीयों को साथ लेकर चल रही है। सभी बिरादरीयों के हितों में पार्टी ने पहले भी कार्य किया है और आगे भी सभी को मान-सम्मान दिए जाने का पूरा ध्यान रखा जाएगा। जगदीश नायक ने दुष्यंत चौटाला का स्वागत करते हुए कहा कि  पूरे प्रदेश के नायक समाज ने एक मत से इनैलो की नीतियों में विश्वास जताया है। आने वाले चुनावों में नायक समाज इनैलो के समर्थन में जी जान से कार्य करेगा। इस मौके पर अखिल भारतीय नायक महासभा के पूर्व प्रधान गोधू राम नायक व मनोहर लाल ने दुष्यंत चौटाला को तलवार व स्मृति चिन्ह भेंट किया। इनैलो नेता जगदीश नायक ने दुष्यंत चौटाला व जिला प्रधान निशान सिंह को समाज की ओर से सरोपा भेंट किया। इस अवसर पर बलवान सिंह दौलतपुरिया, महेंद्र नायक एडवोकेट, राकेश सिंहाग, अनूप सिंह नायक, सुभाष ढ़ाबी, रामेश्वर खाराखेड़ी, डा. चन्ना राम रत्ताखेड़ा, रविंद्र मेहूवाला, जयबीर नायक, भूप सिंह नायक, मा. सतपाल सिंह, पेंटर रूल्दू राम, सुनील कुमार सहित अनेक लोग मौजूद थे। 



अपनी हार के डर से बौखला गए है हरियाणा के मुख्यमंत्री हु्ड्डाः सुरेन्द्र घई

अम्बाला शहर। बारात में दुल्हा घोड़ी पर जाता है न कि घोड़े पे इस बात को लेकर हुड्डा बौखला गए हैं। यह शब्द इनैलो के जिला प्रैस प्रवक्ता सुरिन्द्र घई (टीटू) ने प्रैस व्यज्ञप्ति में कहे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेन्द्र हुड्डा ने जिस प्रकार का बयान दिया है वह बौखलाहट का परिणाम है। 4 प्रदेशों में कांग्रेस की हार व देश व प्रदेश में कांग्रेस की चिंताजनक स्थिति के कारण बौखलाहट में भूपेन्द्र ङ्क्षसह हुड्डा ने यह कहा कि रेस वाला घोड़ा रेस में दौड़ता है और बारात वाला घोड़ा बारात में दुल्हे को लेकर जाता है। दलित महिला कांग्रेसी नेता के प्रति इस प्रकार की टिप्पणी महिला और दलितों का अपमान है। उन्होंने कहा कि बेशम कुमारी सैलजा हमारी राजनीतिक विरोधी हैं। लेकिन एक दलित महिला होने के नाते हम उनका पूरा सम्मान करते हैं। भूपेन्द्र ङ्क्षसह हुड्डा के इस बयान की हम सख्त शब्दों में निंदा करते हैं और मांग करते हैं कि महिला व दलित समाज से उन्हें माफी मांगनी चाहिए।
घई ने कहा कि गौहाना रैली में जिस प्रकार मुख्यमंत्री ने 65 हजार रिक्त पदों की नौकरियां लगाने की घोषणा की थी वह केवल कागजी घोषणा थी। उन्होंने आज आए सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश की तारीफ करते हुए कहा कि इनैलो के हर कार्यक्रता को भगवान व न्यायालय पर पुरा विश्वास है। सुप्रीम कोर्ट ने जिस प्रकार हमारे नेता के विरूद्ध हाई कोर्ट द्वारा की गई टिप्पणी को हटाया है। उससे इनैलो का हर कार्यकत्र्ता खुश है और उम्मीद करता है कि बहुत जल्द ही इनैलो नेता जेल से बाहर आएंगे। उन्होंने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र ङ्क्षसह हुड्डा भी लोकसभा के साथ-साथ विधानसभा के चुनाव भी करवाना चाहते हैं। लेकिन हरियाणा सरकार की पैनी निगाह दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा हमारे नेताओं की अपील पर फैंसले पर लगी हुई है तथा फैंसले के आने के बाद मुख्यमंत्री भूपेन्द्र हुड्डा हरियाणा में विधानसभा चुनाव करवाने का फैंसला लेंगे। इस अवसर पर अमन वालिया, विनोद कुमार, बलबीर टपरीवास, सह प्रवक्ता इन्द्रजीत  मनोज शर्मा हल्काध्यक्ष, अभिषेक अब्बू, संजीव गुलाटी, राज कुमार, अमरजीत प्रदयूमन, दिलबाग ङ्क्षसह दानीपुर आदि मौजूद थे।
फोटो
सुरिन्द्र घई (टीटू) इनैलो जिला प्रैस प्रवक्ता।

इनेलो नेता रामकुमार कश्यप हरियाणा से राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुने गए

चंडीगढ़। इनेलो के रामकुमार कश्यप शुक्रवार को हरियाणा से राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुन लिए गए। राज्यसभा के लिए हरियाणा से चुनाव अधिकारी सुमित कुमार ने रामकुमार कश्यप को हरियाणा से इनेलो का राज्यसभा सांसद चुने जाने का प्रमाणपत्र जारी करते हुए यह घोषणा की। हरियाणा से राज्यसभा की दुसरी सीट के लिए कांग्रेस की कुमारी शैलजा निर्वाचित हुई है। ये दो सीटें कांग्रेस के राज्यसभा सांसद डा. रामप्रकाश व ईश्वर सिंह का कार्यकाल पूरा होने पर खाली होने जा रही हैं। पिछले दो सालों के दौरान इनेलो ने कांग्रेस से राज्यसभा की दो सीटें छीनी हैं। दो साल पहले इनेलो ने कांग्रेस से एक सीट छीन कर रणवीर सिंह प्रजापति को हरियाणा से इनेलो का राज्यसभा सांसद बनवाया था। दो साल पहले तक हरियाणा से राज्यसभा में कांग्रेस के पांच सांसद हुआ करते थे। जो अब घटकर तीन रहे गए हैं और इनेलो के राज्यसभा सांसदों की संख्या बढक़र दो हो गई है। ये दोनों सीटें इनेलो को अपने विधायकों के संख्या बल के आधार पर बिना मुकाबले मिली हैं और दोनो बार कांग्रेस केवल एक-एक सीट पर ही अपने प्रत्याशी उतार पाई है।
राज्यसभा सांसद चुने जाने के बाद हरियाणा लोकसेवा आयोग के पूर्व सदस्य रामकुमार कश्यप ने कहा कि इनेलो प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला ने उन्हें राज्यसभा सांसद बनाकर पूरे कश्यप समाज, पिछड़े वर्ग व इनेलो कार्यकर्ताओं का मान-सम्मान बढ़ाया है जिसके लिए वे पार्टी प्रमुख व इनेलो नेताओं के हमेशा आभारी रहेंगे। उन्होंने कहा कि दो साल पहले इनेलो प्रमुख ने एक गरीब कुम्हार समाज के पार्टी कार्यकर्ता को और अब एक गरीब कश्यप समाज के कार्यकर्ता को देश की सबसे बडी संसद में भेजकर यह दर्शा दिया है कि केवल इनेलो ही कमजोर गरीब व पिछड़े वर्ग की सच्ची हितैषी है और इनेलो में ही दलित कमजोर व पिछडे वर्गों के हित सुरक्षित है। 

इनेलो जिला प्रधान सुनील लांबा के नेतृत्व में फौजी के खिलाफ किया गया प्रदर्शन


भिवानी। इनेलो जिला प्रधान सुनील लांबा ने शुक्रवार को देवीलाल सदन में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि आए दिन अपने कार्यों को लेकर रामकिशन फौजी चर्चा में रहते हैं। आज रामकिशन फौजी व उनके समर्थकों ने शहर में प्रदर्शन किया। रामकिशन फौजी स्वयं भ्रष्टाचार में संलिप्त हैं। इससे पहले प्रहलादगढ़ के राजबीर हत्याकांड में शक की सूई उनके उपर घूमती रही हैं। रामकिशन फौजी बौखला गए हैं और एक संवैधानिक पद पर बैठे लोकायुक्त के प्रति  प्रदर्शन करना उन्हें शोभा नहीं देता। लांबा ने कहा कि फौजी ने कार्यकर्ताओं को गांवों से बैठक के लिए बुलाया तथा बाद में प्रदर्शन में शामिल कर लिया। जबकि फौजी को पहले ही सीआईडी विभाग के कर्मचारियों ने सूचित करते हुए प्रदर्शन करने से मना किया था ताकि किसी भी प्रकार की टकराव की स्थिति न बने। लेकिन फौजी ने कानून व्यवस्था को धत्ता बताते हुए अपने कुछ समर्थकों के साथ प्रदर्शन किया। जब टकराव की स्थिति बनने लगी तो रामकिशन फौजी अपने समर्थकों को मौके पर ही छोड़कर मारूति कार में सवार होकर भाग गए। इनेलो कार्यकत्र्ताओं ने फौजी समर्थकों से पुतले छिन लिए। इस दौरान पुलिसकर्मियों की फौजी समर्थकों व इनेलो कार्यकत्र्ताओं से हाथापाई भी हुई। उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की है कि फौजी के खिलाफ अविलंब मामला दर्ज किया जाए तथा उन्हें मुख्य संसदीय सचिव के पद से बर्खास्त किया जाए। अन्यथा इनेलो और कानूनी कार्रवाई के लिए मजबूर हो जाएगी। इनेलो फौजी को उसके घर में ही नजरबंद कर देगी। इस अवसर पर शहरी अध्यक्ष विनोद चावला, ग्रामीण अध्यक्ष कुलदीप सरपंच, पुनीत मस्ता, जितेंद्र शर्मा, विरेंद्र बापोड़ा, कुलवंत कोंटिया, डा.विजय शर्मा, शंकर आहूजा, रमेश भौरिया, रमेश नायक, अमन राघव, रूपेश गुजरानी, आशु वाल्मीकि, राजू मेहरा, सुरजभान एसडीओ, प्रेम धनाना, फोर्ड धनाना, अतुल रोहिल्ला, ललित शर्मा, दिनेश शर्मा, विनोद कारखल, बबलू कोंटिया, रणधीर मुंढाल, मा.संजय कुमार, बिजेंद्र यादव, पवन सरपंच, रामनिवास, बबलू प्रजापति, सुभाष खरकिया, अवतार सांगवान, अमित परमार, मेवा फौजी, डा.विनोद अंचल, मेहर सिंह एडवोकेट, पप्पल ठाकुर समेत अनेक कार्यकत्र्ता मौजूद थे।

रामपाल माजरा के नेतृत्व में इनेलो के हजारों कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस के खिलाफ किया प्रदर्शन


कैथल। सीएलयू करवाने के नाम पर करोड़ों रुपए की रिश्वत मांगने के मामले में फंसे हरियाणा के मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी के खिलाफ इनेलो का आंदोलन निरंतर जारी है। शुक्रवार को इनेलो विधायक रामपाल माजरा के नेतृत्व में इनेलो के हजारों कार्यकर्ताओं ने सीपीएस रामकिशन फौजी के खिलाफ मामला दर्ज करने, उनका सीपीएस पद से इस्तीफा देने व सरकार को बर्खास्त करने की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया। सुबह हजारों कार्यकत्र्ता जवाहर पार्क में एकत्रित हुए और वहां से जुलूस के रूप में जोरदार नारेबाजी कर प्रदर्शन करते हुए पिहोवा चौक, करनाल रोड से होते हुए लघु सचिवालय में पहुंचे। यहां रामपाल माजरा ने कांग्रेस सरकार के मंत्रियों की भ्रष्टाचार की पोल खोली और उपायुक्त को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए इनेलो विधायक रामपाल माजरा ने आरोप लगाया कि इस सरकार के मंत्री भ्रष्टाचार के आरोपों में संलिप्त है। लोकायुक्त ने भी जांच में यह साफ कर दिया है कि रामकिशन फौजी पर भ्रष्टाचार के आरोप सही है, लेकिन यह कांग्रेस सरकार भ्रष्ट नेताओं व सरकार में बैठे मंत्रियों, विधायकों व सीपीएस को बचाने के प्रयासों में लगी हुई है। उन्होंने बताया कि इस सरकार के कई मंत्री एवं नेताओं की इनेलो भ्रष्टाचार में फंसे होने की सीडी जारी कर चुकी है, लेकिन उन पर कोई कार्रवाई न होना यह साबित करता है कि यह सरकार जनता की नहीं, बल्कि भ्रष्टाचारी नेताओं की सरकार है। इन सभी भ्रष्टाचारियों के खिलाफ इनेलो अपना आंदोलन जारी रखेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सीएलयू देने का काम स्वयं मुख्यमंत्री करते हैं, इसलिए वह अपने भ्रष्टाचारी मंत्रियों और नेताओं को बचाने में लगे हुए हैं। यह कांग्रेस सरकार पूरी तरह से भू-माफियाओं की सरकार है। उन्होंने कहा कि यह सरकार डूबता हुआ जहाज है और चुनावों में इस सरकार का पूरी तरह से सुपड़ा साफ होगा और इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला प्रदेश के मुख्यमंत्री होंगे। प्रदर्शन में उनके साथ कैलाश भगत, विधायक फूल ङ्क्षसह खेड़ी, पूर्व विधायक लीलाराम, मक्खन सिंह, बूटा ङ्क्षसह, सज्जन ङ्क्षसह ढुल, इनेलो शहरी जिला अध्यक्ष डा. प्रदीप शर्मा, प्रदेश कोषाध्यक्ष पारस मित्तल, जिला प्रवक्ता धर्मवीर कैमिस्ट, रोशन सिरटा, मनजीत डोरा, बलराज नौच, अशोक जैन, जिप्पी शौरेवाला, रामफल मोर, ईश्वर मैहला, चंद्रभान दयौरा व कमलेश ढांडा सहित पार्टी के सभी कार्यकत्र्ता एवं पदाधिकारी भी मौजूद थे। 

फौजी पर मुकदमा दर्ज करने की मांग को लेकर इनेलो ने किया जोरदार प्रदर्शन



झज्जर। मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी द्वारा सीएलयू के बदले कथित रूप से रिश्वत मांगने की सी.डी को लेकर राज्य के लोकायुक्त द्वारा फौजी पर मामला दर्ज करने की अनुशंसा किए जाने के बावजूद मामला दर्ज न होने के विरोध में इनेलो की जिला इकाई ने शुक्रवार को जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। इससे पूर्व करीब 11 बजे इनेलो के पार्टी जिला कार्यालय में जिले भर से नेता व कार्यकर्ता एकत्रित हुए और जलूस की शक्ल में नारेबाजी के साथ स्थानीय छिक्कारा चौक, बस स्टैंड, अंबेडकर चौक व मुख्य बाजार से होते हुए सिलानी गेट क्षेत्र में पहुंचे। जहां पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष गोपीचंद गहलौत की अध्यक्षता में फौजी पर मुकदमा दर्ज करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री का पुतला फूंका। जिसके बाद हजारों की संख्या में इनेलो कार्यकर्ता स्थानीय लघु सचिवालय पहुंचे और फौजी पर मुकदमा दर्ज करने की मांग को लेकर नगराधीश को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में लोकायुक्त जांच के आधार पर फौजी के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग करने के साथ राज्य सरकार को बर्खास्त करने की अपील की गई। ज्ञापन सौंपने से पूर्व गोपीचंद गहलौत ने इनेलो कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान कांगे्रस सरकार के नेताओं व मंत्रियों में सीएलयू की बंदर-बांट करने की होड़ लगी हुई है और सीएलयू के नाम पर जमकर भ्रष्टाचार करते हुए दोनों हाथों से प्रदेश की जनता को लूट रहे हैं। उन्होंने कहा कि इनेलो द्वारा रामकिशन फौजी सहित कांगे्रस के 8 मंत्रियों व विधायकों के खिलाफ सीएलयू के बदले रिश्वत मांगने की सी.डी जारी की गई थी। जिनमें से फौजी द्वारा रिश्वत मांगे जाने की सी.डी की जांच करने के बाद लोकायुक्त ने सी.डी को सही मानते हुए फौजी को दोषी ठहराया है। लेकिन उसके बावजूद हुड्डा सरकार हठधर्मिता का परिचय देते हुए फौजी के खिलाफ कोई भी कार्यवाही नहीं कर रही है। इतना ही नहीं वर्तमान सरकार में भ्रष्टाचार जिस तरह चरम पर पहुंच चुका है, उससे राज्य की जनता इस तरह त्रस्त हो चुकी है उसका जीना मुहाल हो चुका है। गोपीचंद गहलौत ने कहा कि दरअसल वर्तमान सरकार को भी पूरी तरह अहसास हो चुका है कि उसके गिनती के दिन बचे हुए हैं और इसी के चलते वह लूट-खसोट पर उतर आई है, लेकिन आने वाले चुनाव में जनता इसका हिसाब-किताब उसका सुपड़ा साफ कर देगी। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष सतपाल पहलवान, पूर्व विधायक ओमप्रकाश बेरी, पूर्व विधायक नफे सिंह राठी, पूर्व मंत्री कोता देवी, पूर्व जिलाध्यक्ष बलवान सुहाग, पूर्व राजदूत आजाद सिंह तूर, महाबीर गलिया, बबरे पहलवान, जिला प्रवक्ता बिजेंद्र कादियान, हरेंद्र सिलाना, कर्मबीर राठी, सुरेश डीघल, सतबीर शास्त्री, संजय कबलाना, साधुराम, उपेंद्र कादियान, कप्तान बिरधाना, संजय आसंडा, संजय दलाल, नरेश जून, मनीष बंसल, राकेश जाखड़, रामकिशोर चाहार, हवा सिंह धनखड़, साहबकौर देशवाल, दिलबाग गलिया, सतबीर गुलिया, डॉ. रविंद्र मलिक, महेंद्र सैन ढाकला सहित सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे।





सड़कों पर उतरी इनेलो की फौज, सीडी मामले में फूंका सीएम-सीपीएस का पुतला


फतेहाबाद। इनेलो नेता दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व में इनेलो जिला कार्यकर्ताओं की फौज आज सीपीएस रामकिशन फौजी सीडी मामले सड़कों पर उतरी। प्रदर्शन के दौरान इनेलो  कार्यकर्ताओं स्थानीय जाट धर्मशाला से राष्ट्रीय राजमार्ग पर विरोध प्रदर्शन करते हुए लाल बत्ती चौक पर पहुंचे, जहां सीएम हुड्डा और सीपीएस रामकिशन फौजी का पुतला भी फूंका। इसके उपरांत  कार्यकर्ताओं ने उपमंडलाधीश बलजीत सिंह को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपते हुए हुड्डा सरकार को बर्खास्त किए जाने व सीपीएस फौजी के खिलाफ भ्रष्टाचार उन्मूलन के तहत केस दर्ज किए जाने का मांगपत्र सौंपा। इससे पूर्व स्थानीय जाट धर्मशाला में भारी तदाद में एकत्रित हुए जिला कार्यकर्ताओं को मुख्य वक्ता दुष्यंत चौटाला के अलावा प्रदेश प्रवक्ता स. निशान सिंह, शहरी जिलाध्यक्ष स्वतंत्र चौधरी, पूर्व विधायक रण बैनीवाल, भागीराम सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी संबोधित किया। लाल बत्ती चौक पर विरोध प्रदर्शन समाप्ति से पूर्व कार्यकत्र्ताओं को संबोधित करते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कांग्रेस सरकार के अब तक के 9 वर्ष के लंबे कार्यकाल में समय-समय पर भूमि के सीएलयू तथा लाइसेंस देने के नाम पर कांग्रेसी मंत्री, विधायकों द्वारा बड़े पैमाने पर रिश्वत मांगने के प्रमाण सामने आते रहे हैं। कांग्रेस सरकार ने प्रदेश में भ्रष्टाचार की जड़ों को अपने 9 वर्ष के कार्यकाल में सातवें आसमान पर पहुंचाने का काम किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस के इस भ्रष्टाचारी तंत्र के खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री औमप्रकाश चौटाला जैसे नेताओं ने जब दिलेरी के साथ आवाज उठाने का प्रयास किया तो सीबीआई के साथ षडय़ंत्र रचकर उन्हें जेल भेजने का काम कांग्रेस सरकार ने किया। उन्होंने कहा कि आज अकेला सीपीएस रामकिशन फौजी ही नहीं, उनके जैसे दर्जनों मंत्री, विधायक, सांसद अरबो-खरबों रुपए के भ्रष्टाचार व कालाबाजारी मामलों में बेनकाब हो चुके हैं, लेकिन किसी पर भी कांग्रेस ने कार्रवाई करने की जहमत तक नहीं उठाई। कार्रवाई किया जाना तो दूर, उन्हें अपना संरक्षण देते हुए पार्टी ने कानून के शिकंजे से भी बचाने का काम किया। उन्होंने चेताया कि सीडी मामले में यदि हुड्डा सरकार ने एक माह के अंदर सीपीएस फौजी को उनके पद से बर्खास्त नहीं किया और सीडी मामले में बेनकाब हुए अन्य विधायकों पर कोई कार्रवाई नहीं की तो इनेलो कार्यकर्ता एक बार फिर सड़कों पर उतरकर बड़े स्तर का आंदोलन करने को मजबूर हो जाएंगे।

Thursday, January 30, 2014

आगामी लोकसभा व विधानसभा चुनावों में पूरी तरह से कांग्रेस हो जाएगा सफायाः अभय चौटाला


चंडीगढ़। हुड्डा सरकार मात्र चंद दिनों की मेहमान है और आगामी लोकसभा व विधानसभा चुनावों के दौरान प्रदेश से कांग्रेस का सफाया होना तय है। यह बात इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं ऐलनाबाद के विधायक चौधरी अभय सिंह चौटाला ने रेवाड़ी में इनेलो बूथ स्तरीय कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि इस बार कांग्रेस विधानसभा चुनाव में दस का आंकड़ा भी छू नही पाएगी और केवल सिंगल डिजिट में सिमट कर रही जाएगी। उन्होंने कहा कि इस बार भूपेंद्र सिंह हुड्डा व उनके सांसद बेटे दीपेंद्र सिंह हुड्डा की हार निश्चित है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से चुनाव के लिए हर समय तैयार रहने और लोगों को हुड्डा सरकार के घपलों-घोटालों व भ्रष्टाचार से अवगत करवाने और पार्टी की नीतियां घर-घर तक पहुंचाने का आह्वान किया। सम्मेलन को पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व पूर्व मंत्री जगदीश यादव सहित अनेक प्रमुख नेताओं ने संबोधित किया और बूथ कार्यकर्ताओं को पहचान पत्र भी वितरित किए।
चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि आज प्रदेश की जनता कांग्रेस से बेहद नाराज है और जल्द से जल्द हुड्डा सरकार से छुटकारा पाना चाहती है। उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस के ज्यादातर सांसद लोकसभा चुनाव लडऩे से ही भाग खड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि गुडग़ांव के सांसद भाजपा में जा रहे हैं और अंबाला की सांसद लोकसभा चुनाव में अपनी सम्भावित हार मान पहले ही अंबाला से किनारा कर राज्यसभा जा रही है। उन्होंने कहा कि सोनीपत के सांसद जितेंद्र मलिक और हिसार के पूर्व सांसद जयप्रकाश ने चुनाव लडऩे से इंकार कर दिया है। सिरसा के सांसद अशोक तंवर सिरसा छोडक़र किसी और हलके की तलाश में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि अगले चुनाव में शायद कांग्रेस का लोकसभा व विधानसभा चुनाव में खाता भी नहीं खुल पाएगा। इनेलो नेता ने कहा कि हुड्डा सरकार ने 65 हजार नौकरियां लगाने की घोषणा की है लेकिन मौजूदा सरकार तो यह नौकरियां तो लगा नहीं पाएगी और आने वाली इनेलो सरकार ही प्रदेश के युवाओं को मेरिट पर नौकरियां देने का काम करेगी। 
इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कांग्रेस पर तीखे प्रहार करते हुए कहा कि कांग्रेस ने सीबीआई के साथ मिलकर एक साजिश के तहत इनेलो नेताओं को जेल भिजवाने का काम किया और सोचा था कि इससे शायद इनेलो टूट जाएगी। उन्होंने कहा कि चौधरी देवीलाल के पदचिन्हों पर चलते हुए इनेलो प्रमुख चौधरी ओमप्रकाश चौटाला व पार्टी के अन्य नेताओं ने सोनिया के दरबार में सिर झुकाने के बजाए तिहाड़ जेल जाने को अधिमान दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस व सीबीआई की साजिश लोगों के बीच बेनकाब हो गई है और इनेलो पहले से कई गुना ज्यादा मजबूत होकर सामने आई है। आए दिन अनेक प्रमुख नेता व हजारों लोग अन्य दलों को छोडक़र इनेलो में शामिल हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अगली सरकार निश्वित तौर पर चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में इनेलो की बनेगी। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में विकास कार्य पूरी तरह ठप्प हैं और इनेलो की सरकार बनने पर विकास कार्यों में तेजी लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में पार्टी कार्यकर्ताओं की जिम्मेवारी और ज्यादा बढ़ जाती है इसलिए उन्हे जी-तोड़ मेहनत करनी चाहिए ताकि प्रदेश में इनेलो प्रत्याशी रिकार्ड तोड़ मतों से विजयी हो।
सम्मेलन में पूर्व मंत्री जगदीश यादव, जिलाध्यक्ष सुनील यादव, वरिष्ठ इनेलो नेता सतीश यादव, बावल के विधायक रामेश्वर दयाल, शहरी जिलाध्यक्ष मनीश चुराया, हलकाध्यक्ष कंवर सिंह, महिला प्रधान कमला शर्मा, विनोद अरोड़ा, जिला पार्षद डा राजपाल, युवाजिलाध्यक्ष किरणपाल, सनी यादव, रामकिशन गुप्ता, रमेश सहगल, जगदीश डहीनवाल, मनीश अग्रवाल, नरेंद्र गुगवानी, अशोक अरनेजा, बलदेव सपड़ा, वासुदेव शर्मा, सरोज यादव, बिमला चौधरी, रमेश भालिया, पूर्ण चंद रेवाडिया व राजू जैलदार सहित अनेक प्रमुख नेता मौजूद थे। 


इनेलो ने मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी को बर्खास्त किए जाने की मांग की


चंडीगढ़ इनेलो ने मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी द्वारा सीएलयू के नाम पर करोडों रूपये मांगने के  मामले में सीपीएस के खिलाफ मामला दर्ज किए जाने और हुड्डा सरकार को बर्खास्त किए जाने की मांग को लेकर गुरूवार को हिसार, यमुनानगर, पलवल, पानीपत व रोहतक जिलों में विशाल विरोध प्रदर्शन किए और मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा व रामकिशन फौजी के पुतले जलाऐ। इनेलो नेताओं ने हुड्डा सरकार बर्खास्त करने व रामकिशन के खिलाफ एफआईआर दर्ज किए जाने की मांग को लेकर संबंधित उपायुक्तों के माध्यम से राज्यपाल के नाम ज्ञापन भी सौंपे और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। हिसार में इनेलो के हजारों कार्यकर्ता युवा इनेलो नेता दुष्यंत सिंह चौटाला के नेतृत्व में महाराजा अग्रसेन चौक से प्रदर्शन करते हुए फ व्वारा चौक पहुंचे। इनेलो नेता ने कहा कि सरकार भ्रष्ट नेताओं व सरकार में बैठे मंत्रियों, विधायकों व सीपीएस को बचाने के प्रयासों में लगी हुई है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इन सभी भ्रष्टाचारियों के सरगना खुद मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा हैं इसीलिए दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करने की बजाए लोकायुक्त की रिपोर्ट को लागू नहीं किया जा रहा और उस पर जानबूझ कर किंतु-परंतु लगाकर वापिस भेजा गया है ताकि सरकार को किसी तरह बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सीएलयू देने का काम स्वंय मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा करते हैं और वे भू-माफिया के हाथों की कठपूतली बने हुए हैं। हिसार के प्रदर्शन में जिला प्रधान उमेद सिंह लोहान, हनुमान ऐरन, पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबडा, पूर्व मंत्री हरिसिंह सैनी, पूर्व मंत्री अतर सिंह सैनी, शीला भ्याण, धारा सिंह, हरफूलखान भट्टी, चतर सिंह, विजय जैन, धर्मवीर सिहाग, राजेश गोदारा, राजपाल यादव, प्रहलाद सिंह सैनी, होशियार सिंह नलवा, सतबीर सिसाय, सत्यवान बिचपड़ी, यशपाल गोदारा, राजेंद्र लितानी, वेद नारंग, राजेंद्र चुटानी, इंद्र फौजी, राजीव शर्मा, राजसिंह मोर, मनदीप बिश्रोई, जोगेंद्र काहलो, तरूण जैन,  छोटूराम, मनोज नेहरा, नवीन ठाकुर, राजपाल मांडू, प्रीतम सैनी, सुदेश चौधरी, सत्यबाला मलिक, सरोज सिहाग, सुरेंद्र कौर खर्ब, वेद कौर पूनिया, ललिता टांक, राधिका गर्ग, सतोष पानू, संतोष बिश्रोई, रमेश चुघ, प्रवीण सैनी, रमेश खानपुर, सोमवीर, रविंद्र सैनी, बाली भाटोल, रवि आहुजा, विरेंद्र बामल, जोगेंद्र मय्यड़ कृष्ण मुआल, अनूप धानक, संजय बिश्रोई, अशोक बिश्रोई, विनोद गुप्ता, सुमित महेश्वरी, कमल हांडा, कपिल कटारिया, अमित ग्रोवर, कुलदीप जैन, सजन लावट, गुरदीप चड्डा, डा. उमेद खन्ना, डा. गुरदीप पाहवा, अमरदीप संभरवाल, अनवेश यादव,  अक्षय मलिक, विनोद गुप्ता, राजेश सचदेवा,हितेश ठकराल, नीतिन पपनेजा, मुकेश वाल्मीकि सहित हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए। 
यमुनानगर में प्रदर्शन का नेतृत्व करते हुए पूर्व कृषि मंत्री जसविंद्र सिंह संधू ने हुड्डा सरकार पर सारे नियम कायदे तोडऩे और प्रोपर्टी डीलिंग का धंधा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सीएलयू के नाम पर करोड़ों रूपये की सौदेबाजी के लिए सरकार ने प्रदेशभर में जगह-जगह दुकानें खोल रखी है जहां लोगों से सरेआम पैसे  मुख्यमंत्री के पास पहुंचाऐ जा रहे हैं। पंचायत घर यमुनानगर से शुरू होकर प्रदर्शन जिला मुख्यालय पर पहुंया और वहां पर मुख्यमंत्री का पुतला जलाया गया। प्रदर्शन में पूर्व मंत्री जसविंद्र सिंह संधू के अलावा विधायक बिशनलाल सैनी, विधायक दिलबाग सिंह, पूर्व विधायक बलवंत सिंह, डिप्टी मेयर रामपाल, पूर्व विधायक ईश्वर सिंह पलाका, पार्षद जसवीर बिट्टू, पार्षद अजय बिल्लू, मधुसूदन शर्मा व गुरप्रीत चावला सहित अनेक प्रमुख नेता मौजूद थे। पलवल में प्रदर्शन का नेतृत्व जिला प्रधान तुहीराम भारद्वाज, पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत, विधायक सुभाष चौधरी, विधायक जगदीश नैयर, पूर्व मंत्री सुभाष कत्याल, देवेंद्र चौहाना, महेंद्र सिंह चौहान, रामजीलाल डागर, रामरत्न, केहर सिंह, शमीम अहमद, अनीता भारद्वाज, संजीव मंगला, भूदेव शर्मा, नीता शर्मा, अनीता डागर, पुष्पा गौस्वामी, ललिता चौधरी व शीमला ठाकुर सहित अनेक प्रमुख नेता मौजूद थे। पानीपत में प्रदर्शन का नेतृत्व करते हुए पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रामपाल माजरा ने हुड्डा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए सरकार की तीखी आलोचना की। प्रदर्शन में पूर्व स्पीकर सतवीर सिंह कादियान, विधायक कृष्णलाल पंवार, बहन फूलवती, जिलाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह कालखां, शहरी जिलाध्यक्ष सुरेश मित्तल, प्रेमलता छोक्कर, शेरसिंह खर्ब, मुकेश आटा, नरेश जैन सहित अनेक नेता मौजूद थे। रोहतक में प्रदर्शन का नेतृत्व पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डा के सी बांगड़ ने किया और छोटूराम पार्क से शुरू हुआ प्रदर्शन उपायुक्त कार्यालय तक पहुंचा और जिला प्रशासन को ज्ञापन देने के अलावा मुख्यमंत्री का पुतला जलाया गया। प्रदर्शन में जिलाध्यक्ष सतीश नांदल, शहरी अध्यक्ष राजीव खुराना, डा नफेसिंह लाली, सतीश फरमाणा, उमेद देवी, डा संदीप हुड्डा, राजेश सैनी, राजसिंह, राजवीर समैण, बिजेंद्र प्रजापत, रविंद्र सांगवान व कृष्ण कौशिक सहित अनेक प्रमुख नेता मौजूद थे।

इनेलो नेता दुष्यंत सिहं चौटाला ने लोकसभा चुनावों के घोषणा पत्र के लिए युवाओं से मांगे सुझाव


भिवानी। युवा इनेलो नेता दुष्यंत सिंह चौटाला ने गुरूवार को बवानीखेड़ा में युवा सम्मेलन को संबोधित किया। इस अवसर पर उन्होंने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी द्वारा जारी किए जाने वाले घोषणापत्र के लिए युवाओं से सुझाव मांगे। उन्होंने कहा कि युवा इनेलो ही एक ऐसी पार्टी है,जिसमें युवाओं के हित सुरक्षित है। युवा सम्मेलन आयोजित करने के पीछे उनका मकसद है कि युवाओं की मांगों व समस्याओं को जाने तथा उसे अपने घोषणापत्र में शामिल करें ताकि इनेलो की सरकार बनने पर युवाओं के लिए कल्याणकारी वरोजगारपरक नीतियां लागू की जा सकें।  उन्होंने कहा कि आज प्रदेशभर में लोगों में हुड्डा सरकार के खिलाफ भारी रोष और गुस्सा है और प्रदेश की जनता जल्द से जल्द कांग्रेस सरकार को उखाड़ बाहर करने और चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में इनेलो की सरकार बनाने का मन बनाए हुए है।  हुड्डा सरकार ने पिछले नौ सालों के दौरान प्रदेश को दोनों हाथों से लूटने, किसानों की जमीनें कौडिय़ों के भाव भू-माफिया को देने के अलावा और कुछ नहीं किया। आज प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बेहद खराब है और लोग जल्द से जल्द इस सरकार से निजात पाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि आज अन्य दलों के नेता इनेलो में शामिल हो रहे हैं। इनेलो के साथ लोग जुडऩा चाहते हैं। ऐसे में पार्टी कार्यकत्र्ताओं की जिम्मेवारी बनती है कि ऐसे लोगों को पार्टी की नीतियों से अगवत करवाकर उन्हें पार्टी में शामिल करवाएं।  चौटाला ने कहा कि आज कांग्रेस ने युवाओं के हितों की अनदेखी की है। सरकारी नौकरियों में भाईभतीजावाद अपनाया जा रहा है। प्रदेश में एचसीएस के पदों पर अपने चहेतों को भर्ती किए जाने की तर्ज पर ही आज एचटेट की परीक्षा में भी इलाकावाद को अपनाया गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने एचटेट परीक्षार्थियों के लिए 600 रुपये की फीस रखी है जो कि आज की महंगाई में परीक्षार्थियों से अन्याय है। इसके अलावा आज विशेषकर महिला परीक्षार्थियों को सेंटर इतने दूर अलॉट किए गए है कि वे वहां पहुंचने से डरती हैं। उन्होंने कहा कि आज सरकार ने रोहतक, झज्जर, रेवाड़ी, सोनीपत आदि जिलों को एक तरफ तो अति संवेदनशील घोषित किया है जबकि इन्हीं जिलों में एचटेट के परीक्षा देने के लिए महिलाओं को भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि शायद सरकार व उससे जुड़े लोग इस आड़ में अपने चहेतों को लाभ देने की फिराक में हैं, मगर इनसो सरकार की इस मंशा को कभी पूरा नहीं होने देगी।इस अवसर पर इनेलो के जिला प्रधान सुनील लांबा,  इनेलो जिला प्रवक्ता डा.विजय शर्मा, राजबीर तालू,रामफल फौजी, जितेंद्र शर्मा, मैनपाल कौशिक, अजीत तंवर, सुमन कूंगड़, गुड्डी लांग्यान, वीना सारसर, जगदीश मिताथल, मनमोहन भुरटाना, कपूर वाल्मीकि,  जगदम्बा, पंकज महता, शंकर आहूजा, रमेश नायक, मनीष शंकर, बलराज चौहान, सुरजभान एसडीओ, वीरेंद्र बापोड़ा, रूपेश गुजरानी, बिट्टू तंवर, आर.सी.चौहान, बिट्टू शर्मा बीडीसी, जितेंद्र सैय रिवाड़ी, जितेंद्रनाथ, अजय दलाल, राहुल शर्मा, सुरेंद्र गोदारा, प्रदीप खरकिया, मा.हरिपाल, संजय खारखल, रमेश चांग, जगबीर खरक, प्रदीप तालू, सुरेश तालू, कृष्ण वाल्मीकि एमसी, आजाद सिंह वाल्मीकि, सीताराम ठेकेदार, बिमला परमार, दीपक परमार समेत अनेक कार्यकत्र्ता मौजूद थे। 

जींद के लोगों पर झुठें मुकदमें वापिस लेने के लिए इनेलो का प्रतिनिधि मंडल उपायुक्त से मिला

जींद के लोगों पर झुठें मुकदमें वापिस लेने के लिए इनेलो का प्रतिनिधि मंडल उपायुक्त से रूबरू होते हुए
जींद। इनेलो का एक डेलीगेट जिलाध्यक्ष एवं पुर्व सांसद सुरेन्द्र सिंह बरवाला के नेतृत्व में शहरी जिला प्रधान भगवानदास,विधायक प्रमेन्द्र सिंहढुल,डा हरिचंद मिढा,पिरथी सिंह नम्बरदार,कलीराम पटवारी आदि उपायुक्त जींद से मिलकर 23 जनवरी को प्रशासन जींद द्वारा नाजायज 200 लोंगेां पर मुकदमें दर्ज किए है। उनको जल्द वापिस लेने की मांग की। बरवाला ने कहा कि जनता को अधिकार हासिल है प्रशासन के द्वारा पैदा की गई कठिनाईयों बेकायदगी के खिलाफ रोष पर्दशन करना,इसी के चलते सफिदों गेट,बतख चौंक,पटियाला चौंक पर जींद की जनता द्वारा शान्ति पूर्वक तरीके द्वारा प्रर्दशन किया गया। प्रशासन द्वारा नाजायज रूप से लाठी चार्ज करके लोगों से दबाने व भडकाने का प्रयास किया,प्रशासन के तानाशाही रवयै के खिलाफ जनता ने अपना रोष प्रदर्शन किया तो प्रशासन ने कानुन का दुरूपयोग करके तानाशाही रूवैया अपनाते हुए,इनेलो कार्यकर्ताओं एंव आम जनता के खिलाफ मुकदमें दर्ज किए गऐ।  बरवाला ने कहा कि  उपायुक्त महोदय ने आश्वासन दिया कि नाजायज कार्यवार्र्र्ई नही की जाएगी,बरवाला ने कहा कि प्रशासन द्वारा यदि लोंगों को गिरफतारी करने की कोशिश की गई तो,इनेलों जींद के कार्यकर्ता जेल भरो आन्दोलन चलाएगीऔर जींद शहर को जाम करने का काम करेगें  जिसकी जिम्मेवारी प्रशासन एंव सरकार की होगी। इस अवसर पर पुर्व विधायक रामफल कुण्डू प्रदीप गिल,डा रामचन्द्र जांगडा,डा कृष्ण मिढा,महाबीर गुप्ता,सुमित्रा देवी,देशराम माटा,आनन्द ढुल,राजु लखीना,बलवान कुण्डू,जसमेर रजाना,रामफल मंगला,सुनील वशिष्ट,कुलदीप सिंहाग,आनन्द लाठर,प्रवीन बूरा,नंदलाल शर्मा आदि अनेकों कार्यकर्ता मौजूद थे। 

मुख्य संसदीय सचिव फौजी की बर्खास्तगी तक चैन से नहीं बैठेगी इनेलो: दुष्यंत चौटाला

हिसार। सीपीएस रामकिशन फौजी द्वारा करोड़ों रूपये की रिश्वत मांगने के मामले में आज इनेलो ने सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किया। लोकायुक्त की सिफारिश पर मामला दर्ज करने के आदेश के बावजूद सीपीएस रामकिशन फौजी को उनके पद से न हटाने के विरोध में आज इनेलो ने सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा, व सीपीएस रामकिशन फौजी का पूतला फूंका और ज्ञापन सौंपा। इससे पहले आज इनेलो के हजारों कार्यकर्ता आज दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व में प्रदर्शन करते फव्वारा चौक पहुंचे और एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। इनेलो के आह्वान पर कार्यकर्ताओं का हुजूम  सुबह 10 बजे ही महाराज अग्रसेन चौक पर एकत्रित हुए और जुलूस निकालते हुए फव्वारा चौक पहुंचे। प्रदर्शनकारियों ने कांग्र्रेस सरकार के खिलाफ जोरदार नारे लगाए और उन्होंने सीपीएस रामकिशन फौजी को उनके पद से हटाने की मांग की इनेलो युवा नेता दुष्यंत चौटाला ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि लोकायुक्त द्वारा  फौजी के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किए जाने की सिफारिश के वावजूद कांग्रेस सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर रही है जिससे कांग्रेस पार्टी का चरित्रहीन चेहरा बेनकाब हुआ है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि यदि सरकार ने सीपीएस रामकिशन फौजी के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं किया तो इनेलो प्रदेश भर में अनिश्चितकालीन धरने देगी तथा पार्टी इस मुद्दे पर तब तक चैन से नहीं बैठेगी। उन्होंने कहा कि लोकायुक्त की सिफारिश के बावजूद सरकार कार्रवाई नहीं कर रही क्योंकि सीएलयू देने का काम खुद मुख्यमंत्री का है। सरकार ने सत्ता में रहने का नैतिक व वैधानिक अधिकार खो दिया है। युवा इनेलो नेता ने कहा कि कांग्रेस के बवानी खेड़ा हल्के से विधायक रामकिशन फौजी द्वारा सीएलयू दिलवाने के लिए पांच करोड़ रूपये की रिश्वत मांगने की सीडी महामहिम को प्रस्तुत की थी। सरकार द्वारा नियुक्त लोकायुक्त ने इस सीडी पर संज्ञान लेते हुए २० जनवरी २०१४ को फौजी को भ्रष्टाचार में संलिप्त मानते हुए उनके खिलाफ  मामला दर्ज करने की सिफारिश सरकार को भेजी थी। लेकिन सरकार द्वारा इतने दिन गुजर जाने के बाद भी उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। युवा नेता दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सरकारी आंकड़ो के अनुसार दिसंबर २०१३ तक लगभग २२५८९ एकड़ भूमि के सीएलयू तथा लाईसैंस वर्तमान कांगेस सरकार द्वारा जारी किए जा चुके हैं। सूत्रों के अनुसार आवासीय सीएलयू के लिए प्रति एकड़ एक करोड़ रूपये व व्यवसायिक सीएलयू के लिए पांच से दस करोड़ रूपये प्रति एकड़ रिश्वत ली जा रही है। जिससे स्पष्ट है कि  बड़े पैमाने पर प्रदेश में भ्रष्टाचार हो रहा है इस मौके पर प्रधान उमेद सिंह लोहान, हनुमान ऐरन, पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, पूर्ण सिंह डाबडा, हरिसिंह सैनी, अतर सिंह सैनी, शीला भ्याण, धारा सिंह, हरफूलखान भट्टी, चतर सिंह, विजय जैन, धर्मवीर सिहाग, राजेश गोदारा, राजपाल यादव, प्रहलाद सिंह सैनी, होशियार सिंह नलवा, सतबीर सिसाय, सत्यवान बिचपड़ी, यशपाल गोदारा, राजेंद्र लितानी, वेद नारंग, राजेंद्र चुटानी, इंद्र फौजी, राजीव शर्मा, राजसिंह मोर, सिद्धार्थ गोदारा, एडवोकेट कलम सिंह, अशोक पूनिया, मनदीप बिश्रोई, जोगेंद्र काहलो, तरूण जैन,  छोटूराम, मनोज नेहरा, नवीन ठाकुर, राजपाल मांडू, प्रीतम सैनी, विनोद ढांडा, सुदेश चौधरी, सत्यबाला मलिक, सरोज सिहाग, सुरेंद्र कौर खर्ब, वेद कौर पूनिया, ललिता टांक, राधिका गर्ग, सतोष पानू, संतोष बिश्रोई, कृष्णा खर्ब, निर्मला कुंडू, शीला मय्यड, सुमन भगाणा, दर्शना लाठर,  रमेश चुघ, विक्रांत बागड़ी, प्रवीण सैनी, रमेश खानपुर, सोमवीर, श्योराण, अनूप रावलवास, अमित ढुल, अनिल क्वात्रा, सुंदर रायपुर अनिल बालकिया, अमित बूरा, हर्ष बामल,रविंद्र सैनी, बाली भाटोल, रवि आहुजा, विरेंद्र बामल, जोगेंद्र मय्यड़ कृष्ण मुआल, अनूप धानक, संजय बिश्रोई, अशोक बिश्रोई, विनोद गुप्ता, सुमित महेश्वरी, कमल हांडा, कपिल कटारिया, अमित ग्रोवर, कुलदीप जैन, सजन लावट, गुरदीप चड्डा, डा. उमेद खन्ना, डा. गुरदीप पाहवा, सहदेव सिहाग, अमरदीप संभरवाल, अनवेश यादव,  अक्षय मलिक, विनोद गुप्ता, गगन खटटर, राजेश सचदेवा, हितेश ठकराल, प्रवीन पसरेजा राजेश मनचंदा, नीतिन पपनेजा, मुकेश वाल्मीकि सहित हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए।  

कांग्रेस के मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी को बर्खास्त करने के लिए इनेलो ने किया जोरदार प्रदर्शन


पानीपत। इनेलो कार्यकर्ताओ द्वारा मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी को बर्खास्त करने के लिए जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन का नेतृत्व पूर्व मुख्य संसदीय सचिव व कलायत के विधायक श्री रामपाल माजरा ने किया। आज जिला पानीपत इनैलो के जिले भर से आए कार्यकर्ता सुबह 10 बजे से पालिक बाजार में हजारो की संख्या में इकटठे हुए तथा ,पार्टी के नेताओ ने कांग्रेस सरकार के द्वारा भष्ट्राचार की सीमाए लांघने था भष्ट्र विधायकों को बचाने के लिए कांग्रेस सरकार की भर्तसना की। पालिका बाजार से रामपाल माजरा के लेतत्व में कार्यकर्ता एक जूलुस के रूप में लाल बती, बस अडडा होते हुए लघु सचिवालय के सामने पहुंचे और लघु सचिवालय के सामने जी.टी. रोड पर मुख्यन्त्री भूपेन्द्र सिंह हुडडा व मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी का पूतला फूंका और लघु सचिवालय पानीपत पहुंचकर फौजी प्रकरण में महामहिम राज्यपाल के नाम, ए.डी.सी. आर.एस.वर्मा को ज्ञापन श्री माजरा ने कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए कहा कि आज प्रदेश में सरकार नाम की कोई चीज नही है मुख्यमन्त्री उसके विधायक, मन्त्री तथा मुख्यमन्त्री के रिश्तेदार प्रदेश की जनता के खून पसीने की कमाई को दोनेा हाथो से लूट रहे है तथा प्राप्ट्री डिलींग के धन्धे में लगे हुए है। उन्होने बताया कि मुख्यमन्त्री व उसके सहयोगी सी.एल.यू. दिलाने के नाम पर करोडो रूप्ये की रिश्वत ले रहे है और इनैलो द्वारा लोकायुक्त को रामकिशन फौजी के विरूद्ध सौंपी गई सी.डी. से जुडे मामले की जांच पडताल में देरी की जा रही है तथा लोकायुक्त द्वारा रामकिशन फौजी का दोषी ठहराने के बाद भी प्रद्रेश सरकार रामकिशन फौजी को बचा रही है। मुख्यमन्त्री भूपेन्द्र सिंह हुडडा की सरकार ने पिछले 9 वर्षो में भूमि के सी.एल.यू तथा लाईसेन्स के रूप में सरकार के मन्त्रियो एवं कार्यकर्ताओ के समय-2 पर भष्ट्राचार में संलित्प होने के मामले सामने आते रहे है लेकिन उनके खिलाफ सरकार द्वारा कोई कार्यवही नही की श्री रामपाल माजरा ने आगे कहा कि आज कांग्रेसियों ने शमशान भूमि की जगह पर नाजायज कब्जा कर लिया है तथा मन्दिरो के कलश तक उतार लिए है। भूपेन्द्र सिंह हुडडा हरियाणा के मुख्यमन्त्री ना होकर सोनिया गांधी की दासी के रूप में कार्य कर रहे है। भूपेन्द्र सिंह हुडडा के ईशारे पर ही षडयन्त्र रचकर पूर्व मुख्यमन्त्री ओमप्रकाश चैटाला, उनके पुत्र अजय चैटाला व शेरसिंह बुडशामी को जेल भिजवाने का कार्य किया है तथा प्रदेश के किसानो से सस्ते भाव जमीन खरीद कर वही जमीन उद्योगपतियों को महंगे भाव बेचकर करोडो रूपए की कमीशन खाई तथा किसानेा के साथ छल किया है। आज प्रदेश में चारो तरफ लूटपाट मची हुई है। इसके ईलावा पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सतबीर सिंह कादियान, विधायक कष्ण लाल पवार, बहन फुलपति, जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह कालखा, जिला अध्यक्ष 
सुरेश मितल ने भी कार्यकर्ताओ को सम्बोधित किया। इस प्रदर्शन में मुख्य रूप से जिला प्रवक्ता शेर सिंह खर्ब, एडवोकेट, जिला महिला अध्यक्ष प्रेमलता छौक्कर, ग्रामीण प्रवक्ता डा0 यशपाल ढांडा, ईश्वर नारा, राजबाला वर्मा, मुकेश आटा, हरीश शर्मा, अशोक कटारिया, राजू पाहवा, कुलदीप राठी, सतीश वर्मा, कष्ण अहलावत, रामबीर सरपंच, नीतीश वधवा, ललित लूथरा, हेमराज जागलान, सूबेदार प्रताप सिंह, सुभाष सिंगला, ऋषिपाल रावल, रणबीर देशवाल, मनोज जुरासी, लेखराज खटटर, सुरेश धोला, निशान सिंह मलिक, नरेश जैन, डा0 मदन लाल नारंग, बिजेन्द्र कादियान, सुरेश काला, विरेन्द्र बैनीवाल, विकास चन्दौली, स0 गुरचरण सिंह, ओमप्रकाश शेरा, राज सुताना, शुगन चन्द रोड, कविता शर्मा, मीनाक्षी वालिया, कुलदीप डिमाना, रोहित कुन्डू, प्रवीण डिमाना, राजिन्द्र गोयल, नरेश मनाना, रामकिशन बिहौली, अनूप मछरौली, पण्डित सुभाष, प्राण रत्नाकर, पंकज पुनिया, लहना सिंह, रणबीर डिडवाडी, मा0 जयसिंह, रामकुमार नम्बरदार, बलकार निम्बरी, महेन्द्र पसीना, डी.के. सहरावत, डा0 प्रेम सहरावत, सज्जन सिंह सहरावत, तिलक कोच, राजबीर बाल्मिकी, सुरेश भटटी, रघबीर मलिक आदि मुख्य रूप से उपिस्थत थें। श्री रामपाल माजरा ने प्रदर्शन में पहुंचे लोगो का अभार प्रकट किया और लोगो को संदेश दिया कि चुनाव के लिए तैयार रहें।

वेंटीलेटर पर लेटी हुई कांग्रेस अब ले रही है अंतिम सांसः दिग्विजय चौटाला


चंडीगढ़।  इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा है कि युवाओं में वो ताकत होती है जो पूरे देश को नई दिशा व दशा दे सकते हैं। इंडियन नेशनल स्टूडेंट ओर्गेनाइजेशन के माध्यम से हम युवाओं को वो ताकत देना चाहते हैं जिसके बलबूते पर युवा देश के निर्माण में अग्रणी भूमिका निभा सके। वे फतेहाबाद की बतरा धर्मशाला में इनसो कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने रोहतक में आंखें दान करने के लिए प्रेरित करने वाले फतेहाबाद जिले के 273 इनसो कार्यकर्ताओं को भी सम्मानित किया। इस दौरान उन्होंने कहा है कि युवा वर्ग को इनसो हमेशा जन नायक चौ. देवी लाल के पद चिन्हों पर चलने की प्रेरणा देकर सामाजिक कार्य करते हुए लोगों की समस्याओं को हल करवाने को प्रेरित करती रहेगी। उन्होंने कहा कि चौ. देवी लाल की 100वीं जयंती के उपलक्ष्य में इनसो ने गत दिनों रोहतक में दस हजार चार सौ पचास लोगों को आंखें दान करने के लिए फार्म भरवाए गए थे। उन्होंने बताया कि इनसो ने इस कार्य से न केवल बीस हजार से अधिक लोगों की जिंदगी में रोशनी लाने का काम किया जाएगा बल्कि विश्व स्तर पर इतनी बड़ी संख्या में आंखें दान किए जाने का कीर्तिमान भी इनसो के युवाओं ने स्थापित करने का काम किया है। इस अवसर पर बाजीगर समाज, वाल्मीकि समाज, धानक समाज, मजहबी सिख समाज सहित अनेक समुदायों के लोगों ने दिग्विजय सिंह चौटाला को सम्मान का प्रतीक पगड़ी भेंट कर उन्हें आश्वासन दिया कि वे चौ. ओम प्रकाश चौटाला को मुख्यमंत्री बनाने के लिए सभी समर्पण भाव से काम करेंगे। इस दौरान दिग्विजय सिंह ने कहा कि वे समाज के सभी वर्गों की आशाओं पर खरा उतरेंगे और उनके हितों की लड़ाई लड़ेंगे। इससे पूर्व पत्रकारों से बातचीत करते हुए दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि आज कांग्रेस ने युवाओं के हितों की अनदेखी की है। सरकारी नौकरियों में भाईभतीजावाद अपनाया जा रहा है। प्रदेश में एचसीएस के पदों पर अपने चहेतों को भर्ती किए जाने की तर्ज पर ही आज एचटेट की परीक्षा में भी इलाकावाद को अपनाया गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने एचटेट परीक्षार्थियों के लिए 600 रुपये की फीस रखी है जो कि आज की महंगाई में परीक्षार्थियों से अन्याय है। इसके अलावा आज विशेषकर महिला परीक्षार्थियों को सेंटर इतने दूर अलॉट किए गए है कि वे वहां पहुंचने से डरती हैं। उन्होंने कहा कि आज सरकार ने रोहतक, झज्जर, रेवाड़ी, सोनीपत आदि जिलों को एक तरफ तो अति संवेदनशील घोषित किया है जबकि इन्हीं जिलों में एचटेट के परीक्षा देने के लिए महिलाओं को भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि शायद सरकार व उससे जुड़े लोग इस आड़ में अपने चहेतों को लाभ देने की फिराक में हैं, मगर इनसो सरकार की इस मंशा को कभी पूरा नहीं होने देगी। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष स. निशान सिंह, पूर्व विधायक स्वतंत्र बाला चौधरी, रणसिंह बेनीवाल, प्रो. रणधीर चीका, यादविंद्र रिंपल, जिला युवा अध्यक्ष राकेश सिहाग और प्रमोद बजाज आदि मौजूद थे।

कांग्रेस शहरी प्रधान तरूण जैन सहित सैंकड़ों ने थामा इनेलो का दामन


चंडीगढ़। हरियाणा में कांगेस नेताओं द्वारा निरंतर कांग्रेस छोड़ इनेलों में शामिल होने का सिलसिला जारी है। हिसार के युवा कांग्रेस हलका अध्यक्ष एवं अग्रवाल वैश्य समाज के युवा प्रदेशाध्यक्ष तरूण जैन ने युवा इनेलो नेता दुष्यंत चौटाला की मौजूदगी में अपने सैंकड़ो साथियों सहित कांग्रेस छोड़ इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। तरूण जैन के साथ सैन समाज के युवा विंग के प्रदेशाध्यक्ष एवं कांग्रेस के हांसी हलका युवा उपाध्यक्ष नवीन ठाकुर, ब्लॉक समिति तोशाम की सदस्या कोमल गर्ग, हिसार विधानसभा युवा कांग्रेस के महासचिव अमित जैन, अग्रवाल वैश्य समाज की युवा इकाई के प्रदेश महामंत्री विपिन गोयल, हिसार विधानसभा क्षेत्र में युवा कांग्रेस के बूथ प्रधान सुधीर बिश्रोई, उपप्रधान अश्वनी, बूथ उपप्रधान राजू, बूथ प्रधान रविंद्र बिश्रोई, बूथ प्रधान राजेश, बूथ प्रधान प्रदीप घोड़ेला, बूथ प्रधान रोहित कुमार, प्रवीन सिंगला, विकास अग्रवाल, सुमित जैन, मुकेश मित्तल, मोनू जैन, मिनल अग्रवाल, संदीप जैन, विजय, दर्शन जैन, संदीप गर्ग, अमित अग्रवाल ने भी कांग्रेस को छोडक़र इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। युवा इनेलो नेता दुष्यंत चौटाला ने तरूण जैन व उसके साथियों का पार्टी में शामिल होने पर स्वागत करते हुए भरोसा दिलाया कि पार्टी में उन्हें पूरा मान सम्मान मिलेगा। हिसार में शीशमहल के समीप आयोजित समारोह में उमड़ी भीड़ को संबोधित करते हुए युवा इनेलो नेता दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कांग्रेस से प्रदेश का हर वर्ग दुखी है। कांग्रेस के हालात इतने खराब है कि वर्तमान पांच लोकसभा सांसद भी चुनाव लडऩे से मना कर चुके हैं। आने वाले दिनों में कांग्रेस की टिकट लेने वाला कोई नहीं बचेगा। युवा नेता ने कहा कि हिसार शहर की जनता को पैरिस बनाने के ख्वाब दिखाकर वोट लेने के बाद अब शहर की सुध लेने वाला कोई नहीं है। शहर में जगह जगह सीवरेज जाम है, तो कहीं पर लोग बिजली के लिए तरस रहे हैं। हिसार के लोग कांग्रेस से इतने नाराज है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री को शहर में घुसने तक नहीं दे रहे हैं। हिसार की तरह ही प्रदेश के अन्य जिलों का भी यही हाल है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रदेश के सीएम घोषणा मुख्यमंत्री बन कर रह गए हैं। वे अपने साथ शिलान्यास पत्थरों की एक गाड़ी रखते हैं तथा जनता को गुमराह करते हुए जगह जगह पत्थर लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मंगलवार को हिसार में भी ऐसा ही हुआ। सीएम को सरकारी जगह पर एक साथ सभी पत्थर लगाकर शिलान्यास करना पड़ा, क्योंकि  उन्हें मालुम है कि प्रदेश में उनका जगह जगह विरोध हो रहा है। इसी कारण हवाई यात्रा से आते हैं और किसी सरकारी भवन में एक साथ शिलान्यास करके वापस चले जाते हैं। दुष्यंत चौटाला ने सातरोड गांव के लोगों पर हुड्डा सरकार द्वारा लाठीचार्ज किए जाने और झूठे मामले दर्ज किए जाने की कड़े शब्दों में निंदा की। उन्होंने कहा कि हुड्डा सरकार व प्रशासन दमनकारी नीतियों पर उतर आया है और शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने वालों पर लाठी-गोलियां बरसाई जाती हैं। दुष्यंत चौटाला ने तरूण जैन, नवीन ठाकुर, कोमल गर्ग, अमित जैन व अन्य साथियों का इनेलो में शामिल होने पर स्वागत किया तथा उन्हें हरा झंडा देकर पार्टी मे विधिवत रूप से शामिल करवाया। कांग्रे्रस को छोडक़र इनेलो में शामिल हुए अग्रवाल वैश्य समाज के युवा प्रदेशाध्यक्ष तरूण जैन ने कांग्रेस की तीखी आलोचना की। उन्होंने कहा कि वे पिछले चार साल से हिसार हलका के अध्यक्ष हैं, लेकिन युवा कांग्रेस ने जो सपने दिखाए थे, वे सब ढकोसले साबित हुए हैं। युवा कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष के साथ साथ किसी भी पदाधिकारी या विधायक से मिलना सपने जैसी बात है। प्रदेश में युवाओं का भविष्य अब इनेलो में ही सुरक्षित दिखाई दे रहा है। इसी कारण उन्होंने कांग्रेस से त्यागपत्र देकर इनेलो को ज्वाइन करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के युवाओं का भविष्य अब दुष्यंत चौटाला एवं दिग्विजय चौटाला जैसे युवा के हाथों में ही सुरक्षित है। तरूण जैन ने कांग्रेस सरकार पर भी भेदभाव के आरोप लगाते हुए कहा कि सीएम हुड्डा प्रदेश के नहीं, बल्कि एक विधानसभा क्षेत्र के मुख्यमंत्री बन कर रह गए हैं। इस क्षेत्र के लोगों को बर्बाद करने के लिए तो परमाणु संयत्र लगा दिया, जबकि अपने क्षेत्र के लिए एम्स जैसे अस्पताल बनवाए जा रहे हैं। आने वाले समय में प्रदेश के युवा ही नहीं, बल्कि हर वर्ग कांग्रेस की इस गलत नीति का बदला लेगा। इस अवसर पर राज्यसभा सांसद रणबीर सिंह गंगवा, इनेलो जिलाध्यक्ष उमेद सिंह लोहान, शहरी जिलाध्यक्ष हनुमान ऐरन, हलका अध्यक्ष प्रहलाद सिंह सैनी, राजमल काजल, होशियार सिंह, राजेंद्र चुटानी, इंद्र फौजी, राजीव शर्मा, युवा जिलाध्यक्ष अशोक पूनिया, अनिल बालकिया, विक्रांत बागड़ी, सुदेश चौधरी, ललिता टाक, मनोज नेहरा, रवि आहुजा, विनोद महता, अनिल कवात्रा, राधिका गर्ग, नरेंद्र कुकड़ेजा और हलका प्रवक्ता रमेश चुघ सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित थे। इससे पहले हिसार के पूर्व मंत्री हरि सिंह सैनी, हांसी के पूर्व मंत्री अतर सिंह सैनी के अलावा राजपाल यादव सहित अनेक कांग्रेसी नेता कांग्रेस छोड़ इनेलो में शामिल हो चुके हैं।

आगामी चुनावों में देशभर से कांग्रेस का पूरी तरह सफाया हो जाएगा : रामपाल माजरा

चंडीगढ़। आगामी लोकसभा चुनाव में देशभर से कांगेस का पूरी तरह सफाया हो जाएगा और उसी कड़ी में राज्य से भी वर्तमान कांग्रेस सरकार का सुपड़ा साफ हो जाएगा। यह दावा इनेलो के वरिष्ठ नेता व पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रामपाल माजरा ने गांव मातनहेल में आयोजित इनेलो के बूथ प्रशिक्षण शिविर में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए किया। हालांकि शिविर में पार्टी नेता अभय सिंह चौटाला को मुख्य अतिथि के रूप में भाग लेना था। लेकिन व्यस्त कार्यक्रम के चलते उनके न आने पर रामपाल माजरा कार्यक्रम में पहुंचे। उन्होंने कांगे्रस पार्टी पर जमकर प्रहार करते हुए कहा कि कांग्रेस महात्मा गांधी व इंदिरा गांधी के नाम पर योजनाएं चलाकर देश की जनता को लूटने का कार्य कर रही है। इतना ही नहीं राज्य की हुड्डा सरकार ने भी व्यापारियों के साथ मिलकर न सिर्फ किसानों के साथ धोखा किया है, बल्कि राज्य को बदहाली के कगार पर पहुंचा दिया है।  उन्होने कहा कि हुड्डा सरकार ने 104 एसईजेड को मजूरी दी थी, लेकिन उनमें से सिर्फ 3 ही बन पाए। इतना ही नहीं वोट के नाम पर जो सपने जनता को दिखाए गए थे उन सपनों की असलियत जनता जान चुकी हैं। उन्होंने कहा कि राज्य की विकास दर 11 प्रतिशत से गिरकर 7 प्रतिशत तक पहुंच चुकी है। जिसका कारण प्रदेश में औद्योगिक क्षेत्र का पिछडऩा व हत्या तथा बलात्कार जैसी घटनाओं का बोलबाला होना है। उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा के किसान हितैषी होने के दावे का खंडन करते हुए कहा कि किसानों क सबसे बड़े मसीहा सर छोटूराम के नाम पर यमुनानगर के थर्मल प्लांट का नामकरण किया था, जबकि कांगे्रस सरकार थर्मल पलांटों के निर्माण को लेकर चीन से कमीशन खाने का कार्य कर रही है। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष सतपाल पहलवान, पूर्व मंत्री कांता देवी जिला प्रवक्ता बिजेंद्र कादियान, बबरे पहलवान, कर्मजीत सरपंच, साधुराम, कप्तान बिरधाना, महाबीर शर्मा, रविंद्र मलिक, साहबकौर, राकेश जाखड़, ओमप्रकाश मारौत, जीतराम खन्ना, ओमप्रकाश बाल्मीकि, मिन्टू पहलवान, राकेश बहु, वेदपाल खाचरौली, कृष्ण मातनहेल, सतबीर एडवोकेट, खैराती लाल अरोड़ा, राजेश गहलौत आदि मौजूद रहे।

Wednesday, January 29, 2014


गुडग़ांव। इंडियन नेशनल लोकदल के व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष एंव पूर्व मंत्री सुभाष गोयल ने घोषणा की है कि इंडियन नैशनल लोकदल के सत्ता में आने पर व्यापारियों के हितों का ध्यान रखते हुए चौ0 ओमप्रकाश चौटाला प्रदेश में ट्रेड आयोग का गठन करेगी। इस ट्रेड आयोग में उद्योगपतियों व व्यापारियों के प्रतिनिधीयों को शामिल किया जायेगा और व्यापारियों के मन मुताबिक निर्णय लिये जायेंगे। यह बात उन्होंने स्थानीय अग्रवाल धर्मशाला में जिला गुडग़ांव के व्यापारी सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कही।  श्री गोयल ने कहा कि आज प्रदेश में व्याप्त भ्रष्टाचार के कारण हर वर्ग दुखी व परेशान है। प्रदेश से बड़े बड़े उद्योग पलायन करके दूसरे राज्यों में स्थापित हो रहे है और व्यापारियों ने सरकार की गलत नीति के कारण प्रदेश में निवेश करना बन्द कर दिया है। इसी कारण आज प्रदेश में बेरोजगारी चरम सीमा तक पंहुच गई है, व्यापारी वर्ग में भारी असन्तोंष है। मुख्यमंत्री चुनाव के समय घोषणा की थी हम प्रदेश में ग्रहकर समाप्त करेंगे लेकिन उन्होंने अपनी बात से मुकरते हुए ग्रहकर के नाम पर लोगों पर प्रोपर्टी टैक्स लगाकर पिछली तारीखों में कई गुना टैक्स वसूलने का काम कर रहे है। आज प्रदेश का व्यापारी वर्ग व हर शहरी अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहा है। मुख्यमंत्री व्यापारियों को प्रलोभन देने के लिए एसटी 38 फार्म खत्म करने की बात तो कर रहे हैं लेकिन व्यापारी वर्ग को इसका यकीन नहीं है क्योंकि मुख्यमंत्री की कथनी और करनी में भारी अन्तर है। वे प्रोपर्टी टैक्स की तरह एसटी 38 के स्थान पर व्यापारीयों को परेशान करने का ओर कोई साधन ढूंढ लेगें। मुख्यमंत्री केवल लोगों को बरगलाने का काम कर रहे हैं। व्यापार सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए पूर्व मंत्री सुभाष कात्याल ने कहा कि आज प्रदेश में कानून व्यवस्था निम्र स्तर पर पंहुच गई है। आये दिन व्यापारियों व उद्योगपतियों के साथ आपराधिक घटनाएं घटती रहती हैं और अभी पिछले दिनों गुडग़ांव के एक बहुत बड़े बिल्डर का अपहरण करके अपराधी उसे गुडग़ांव की सड़कों पर घुमाते रहे इस बात से आप अन्दाजा लगा सकते हैं कि आम आदमी और छोटे व्यापारी की क्या हालत हो सकती है। मुख्यमंत्रीजी की एक बात से हम सहमत हैं कि हरियाणा अपराध व लूटपाट के मामले में नम्बर 1 है भ्रष्टाचार में नम्बर 1 है, किसानों की जमीन लूटने में नम्बर 1 है और युवाओं व महिलाओं का शोषण करने में नम्बर 1 हैं। उन्होंने कहा कि चौ0 ओमप्रकाश चौटाला की अगुवाई में जब आपके सपनों की सरकार बनेगी तो प्रदेश की कानून व्यवस्था सर्वोच्च स्तर की होगी और पहले की तरह प्रदेश में बड़े बड़े उद्योग स्थापित होंगे और व्यापारी वर्ग खुले मन से प्रदेश में बिना किसी डर के निवेश कर सकेगा। गुडग़ांव जिला व्यापार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष रमेश सेठी व गुडग़ांव हल्का व्यापार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष नरेश गोयल ने व्यापारियों से सम्बन्धित सभी मामले व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष के सामने रखते हुए मांग की कि सत्ता आने के उपरान्त इन सभी मांगों को पूरा किया जायेगा। इस सम्मेलन को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनन्तराम तंवर, पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचन्द गहलोत, विधायक गंगाराम, जिलाध्यक्ष रमेश दहिया, शहरी जिलाध्यक्ष राजेश सूटा आदि ने सम्बोधित किया। इस अवसर पर हल्काध्यक्ष अटलबीर कटारिया, हल्काध्यक्ष रामनिवास राव, प्रवक्ता आर एस दहिया, रामनिवास मंगला, नरेश जैन, नरेन्द्र मित्तल, पंकज गुप्ता, प्रमोद मित्तल, अजय, रामबीर प्रधान, ताराचन्द यादव, सतीश जिन्दल, नवनीत गोयल, मोहनलाल वर्मा, मनजीत गोयल, सुरेश छाबड़ा, नरेश सहरावत, श्यामसुन्दर बजाज, रवि खुराना, विक्रम सहरावत, विजय दहिया, दिनेश अग्रवाल, महादेव शर्मा, रामप्रसाद रोहिला, अनिल राव, देवेन्द्र पाल, प्रवीन जैन, राजेश बाघोरिया, सुदेश यादव, सुमन मजोका, शशी धारीवाल, विजय सोलंकी सहित सैंकड़ों व्यापारी एंव कार्यकर्ता उपस्थित थे। 


इनेलो ने कांग्रेस के भ्रष्ट शासन के खिलाफ किया जोरदार विशाल विरोध प्रदर्शन

जींद। कांग्रेस के मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी के विरूध भ्रष्टाचार उन्मुलन के तहत केस दर्ज एवं ब्रखास्त कर जल्द गिरफतार करने की मांग को लेकर एंव कांग्रेस के विधायकों एंव नेताओ द्वारा सीडीयों में सी एल यू के नाम पर करोड़ों रूपए रिश्वत के तौर पर लेने के खिलाफ जिला इनेलो ने बुधवार को इनेलो नेताओं, पदाधिकारियों और कार्यकताओं नेआम जनता के साथ जिला स्तरीय विशाल रोष प्रदर्शन किया। प्रदर्शन का नेतृत्व इनेलो जिलाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह बरवाला ने किया उनके साथ शहरी जिलाध्यक्ष भगवान दास ,विधायक प्रमेन्द्र सिंह ढुल, कलीराम पटवारी,पिरथी नम्बरदार,डा हरिचंद मिढा इस दौरान मौजूद रहे। कांग्रेस के विधायकों एंव नेताओ द्वारा सीडीयों में सी एल यू के नाम पर करोड़ों रूपए रिश्वत लेने के खिलाफ एंव कांग्रेस नेताओं द्वारा किए जा रहे भ्रष्टाचार और पार्टी कार्यकर्ताओं पर बनाये गये मुक दमों को के विरोध में इनेलो जिला पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता बुधवार सुबह शहर में पुरानी अनाज मंडी में हजारों की संख्या में इक्टठा हुए और रोष बैठक की अनाज मंडी से चलकर पालिका बाजार,सिटी थाना,रानी तालाब,गोहाना राड़ होते हुए कोर्ट के सामने गोहाना रोड़ पर मुख्यमंत्री भुपेन्द्र हुड्डा एंव रामकिशन फौजी के पुतले फुंक कर विरोध प्रकट किया और लघुसचिवाल पहुंचकर महामहिम राज्यपाल हरियाणा के नाम ज्ञापन उपायुक्त  महोदय को जींद को सौंपा। प्रदर्शन के दौरान इनेलो के हजारों कार्यकर्ता हाथों में तख्तियां बैनर लिए कांग्रेस सरकार व भ्रष्टाचारी नेताओं के खिलाफ जोरदार नारेबाजी कर रहे थे। इनेलो जिलाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह बरवाला ने कहा कि कांग्रेसी नेता देश व प्रदेश को दोनों हाथों से लुटने में लगे हुए है काग्रेस सरकार ने प्रदेश की आम जनता को राम भरोसे छोड़कर लुटपाट मचाने में लगे हुए है जिसका उदाहरण सी एल यू दिलवाने के नाम पर करोड़ो रूपए डकारे है। उन्होने कहा मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी द्वारा सीएलयु दिलवाने के लिए 5 करोड़ रूपए की रिश्वत मांगने की सी डी इनेलो विधायक दल द्वारा 6 सित्मबर 2013 को महामहिम राज्यपाल को प्रस्तुत की थी जिसमे रामकिशन फौजी तुरंत बर्खास्त करते हुए निष्पक्ष जांच की मांग की थी सरकार द्वारा लोकायुक्त हरियाणा को एक पत्र लिखकर सी डी से जुडे मामले की जांच पडताल करने बारे भेजा गया था। माननीय लोकायुक्त को सारे मामले की जांच पडताल के बाद अपनी रिपोर्ट 20.1.2014 द्वारा रामकिशन फौजी के विरूद्व भ्रष्टाचार उन्मुलन अधिनियम के अतंर्गत केस दर्ज करने की सिफारिश की है 9 दिन बीत जाने के बाद भी प्रदेश सरकार ने रामकिशन फौजी के विरूद्व माननीय लोकायुक्त की सिफारिश के बावजुद कोई केश दर्ज नही करवाया है। बरवाला ने कहा मुख्यमंत्री भुपेन्द्र सिंह हुडडा के संरक्षण में पिछले नौ वर्षो से व्यापत बड़े पैमाने पर सी एल यू तथा लाईसैंस के माध्यम से भ्रष्टाचार में हरियाणा विधानसभा के अनेको सदस्यों सलिंप्तता के नित नए प्रमाण सामने आ रहे है। सीडीयां अनेको चैनलों के माध्यम से प्रसारित हुई है जिनमें यह स्पष्ट पता चलता है कि कांग्रेस पार्टी के अनेको विधायक राज्य में सी एल यू को करोड़ो रूपए कमाने का साधन बना चुके है। इस प्रकार की लुट में केवल कांग्रेस के विधायक ही नही उनके पुत्र भी शामिल है। उन्होने कहा कि इस प्रकार से भ्रष्टाचार की संस्कृति हरियाणा को बर्बादी की और ले जा रही है। यह वर्तमान तथा यूवा पीढी तथा आने वाली यूवा पीढी कि चरित्र को भी नकारात्मक ढ्रंग से प्रभावित करेगी।भगवानदास ने कहा की पिछले दिनों जींद में बिजली-पानी की किल्लत को लेकर लोगों द्वारा लगाये गये जाम में प्रशासन द्धारा जानबुझकर पार्टी कार्यकत्र्ताओं पर बनाये गये मुक दमों को वापिस लेने के लिए अधिकारियों की आंखे खोलने  का काम किया जाएगा ताकि वे सरकार के इशारों पर चलकर बेकसूर लोगों को नाहक ही फंसाने का काम न करें। उन्होने कहा कि पुलिस प्रशासन को इनेलो कार्यकत्र्ताओं पर मुकदमें बनाने से पहले इस बात को पुख्ता तौर पर सार्वजनिक करना चाहिए था कि इनेलो कार्यकत्र्ता मौजूद थे या नहीं। उन्होंने क हा कि राजनीतिक दुर्भावना से प्रशासन ने जो ज्यादती की है इनेलो उसे किसी भी कीमत पर सहन नहीं करेगी। इससे पहले की इनेलो कार्यकर्ताओं के सब्र का बांध टूटे प्रशासन को की गई अपनी गलती पर सार्वजनिक तौर पर खेद जताते हुए तुरन्त बनाये मुकदमें वापिस ले लेने चाहिए। इस अवसर पर पुर्व विधायक रामफल कुंडु,सुरजभान काजल एवं युवा प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप गिल,डॉ0 कृष्ण मिढ़ा डा0 रामचन्द्र जांगड़ा, महाबीर गुप्ता,करतार सफर,दयानंद कुण्डु,सुमित्रा देवी,भुपेन्द्र जुलानी,दलबीर खटकड़,युवा जिला प्रधान विश्ववीर नंबरदार,जिला प्रैस प्रवक्ता देवेन्द्रअत्री, सुरेन्द्र नैन, अजमेर रेढु, प्रताप लाठर, जितेन्द्र रोहड़, महेंद्र लोधर, सुनील वशिष्ठ,विश्वनाथ शर्मा,श्रीपाल सैणी, देशराज माटा,सत्येन्द्र ढुल,रामनिवास खटकड़ ,मोैजीखान,बलवान मान,डा0वेदपाल बैनीवाल, किताब सिंह बनवाला, शमशेर सिह ढाण्डा,   बलराज नगूरां,बिजेंद्र रेढू,टेकराम कंडेला, किताबसिंह ढाण्डा, अनिल लाठर, कुलदीप गिल,मन्नु छाबडा,हरीश अरोड़ा, बलवान कुंडू, लक्ष्मीनारायन बंसल,सतबीर पड़ाना,भुपेन्द्र नायक,जसमेर रजाणा,हर्ष मित्तल,प्रदीप दालमवाला,भलेराम श्योंकद,कर्मपाल ढुल,बिटटुनैन,राममेहर दलाल,जगबीर मलिक,मनोज शर्मा,बलजिन्द्र सरड़ा,मुकेश चहल,अजमेर श्योकंद,प्रवीन बुरा,राममेहर ठाकुर,नंदलाल शर्मा,जगदीप बुआना, शकुुन्तलादेवीचेयरपर्सन उचाना,सुनीता पांचाल,राजबाला,बिमला बूरा,सरोज सुशीला मलिक, उचाना,कृष्णादवी, केलो देवी,कृष्णा बांभू,लक्ष्मीबुरा,शावित्री मडौत्रा,माया देवी,नरेश लाठर,भगवती दहिया,शीला पड़ाना,छबीलदास पातलान,बलबीर राणा,अमित खटकड़,आनन्द लाठर,राजेश बैनिवाल,अनिल झांज,अनुराग खटकड,शमशेर नंगूरा,बलिन्द्र झांज,सतीश नैन,प्रवीन सिंधु,कैलाश बरसोला,सुरेश कुण्डु,कैप्टन रणधीर चहल, सोनू गुलिया,प्रताप छापड़ा,जागेराम मलिक ,ओम मनोहरपुर,सुखबीर ढुल,ओमप्रकाश, बृजपाल सांगवान,ओपी पंवार,सुशील टुर्ण, गुरदीप सांगवान इत्यादि हजारो कार्यकर्ता मौजूद थें।


राम किशन फौजी को तुरंत गिरफ्तार किया जाए : जसविन्द्र संधू

अम्बाला। राम किशन फौजी को तुरंत गिरफ्तार किया जाए। यह शब्द इनैलो प्रदेश उपाध्यक्ष व अम्बाला प्रभारी तथा पूर्व मंत्री जसविन्द्र ङ्क्षसह संधू ने उपायुक्त कार्यालय में इनैलो कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहे। उन्होंने सरकार से मांग की कि मुख्य संसदीय सचिव राम किशन फौजी द्वारा सी.एल.यू. दिलवाने के नाम पर 5 करोड़ रूपए मांगे गए थे तथा लोकायुक्त द्वारा उक्त सी.डी. को सत्य मानते हुए हरियाणा सरकार को यह निर्देश दिए गए थे कि रामकिशन फौजी के विरूद्ध मुकदमा दर्ज किया जाए। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार इनैलो के विधायक दल में कांग्रेस पार्टी के मंत्रियों एवं विधायकों तथा वरिष्ठ नेताओं द्वारा घूमी की सी.एल.यू. की एवज में करोड़ों रूपए मांगने बारे सी.डी. जारी की थी। इनमें मुख्य रूप से स्वास्थ्य मंत्री राव नरेन्द्र, मुख्य संसदीय सचिव विनोद भ्याना, विधायक नरेश सेलवाल, विधायक राम निवास गुडैला तथा विधायक सम्पत्त के पुत्र गौरव, विधायक जलेब खान के पुत्र साजिद खां, कांग्रेस के पूर्व युवा प्रधान संजय छौक्कर शामिल है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार दिसम्बर 2013 तक लगभग 22589 एकड़ भूमि के सी.एल.यू. जारी किए जा चुके है। उन्होंने कहा कि सूत्रों के अनुसार प्रति एकड़ रिश्वत कम से कम 1 करोड़ रूपए निर्धारित की हुई है। जबकि व्यवसायिक सी.एल.यू. के लिए 5 से 10 करोड़ रूपए प्रति एकड़ रिश्वत निर्धारित होने की चर्चा है। उन्होंने कहा कि हांसी के विधायक जिन्होंने गुडग़ांव में 4 एकड़ भूमि के सी.एल.यू. के बदले ढाई करोड़ रूपए मांगे तथा उकलाना के विधायक ने 3000 वर्ग गज की सी.एल.यू. के बदले 10 से 12 करोड़ रूपए रिश्वत की मांग की। इससे जनता स्वयं ही अंदाजा लगा ले कि 2005 से लेकर अब तक कितने करोड़ों रूपए की रिश्वत ली जा चुकी है। इस अवसर पर जिला प्रधान बलविन्द्र ङ्क्षसह पूनिया, विधायक राजबीर बराड़ा, जिलाध्यक्ष शहरी ओंकार, मक्खन ङ्क्षसह लबाना, सुरिन्द्र घई (टीटू) प्रैस प्रवक्ता, हल्का अम्बाला अध्यक्ष शीश पाल जंधेडी, राम कोड़वा, सुरजीत ङ्क्षसह सौंडा, जगमाल ङ्क्षसह रौलों, गुरपाल ङ्क्षसह अकबरपुर, हरकेश ङ्क्षसह सुल्लर, रणदीप उगाला, गुरमेल पंजेटा, विक्रम वजीरपुर, महिलाध्यक्ष सर्वजीत कौर लदाना, हरिजन सैल जिलाध्यक्ष दयारानी, संदीप राणा, निर्मल विज, किरपाल ङ्क्षसह अरोड़ा, अमरीक रज्जुमाजरा, पवन गुज्जर, सुरिन्द्र शर्मा, दविन्द्र सैनी, नीटू सचदेवा, पूर्व चेयरमैन गुरपाल माजरा, सरवन ङ्क्षसह, अनिल जंधेडी, मनदीप बोपाराय, विक्रम गुगली, रविन्द्र बिट्टा, चन्द्रशेखर चौहान, जसविन्द्र सकराहों, पूर्व युवाध्यक्ष संजय चौधरी, रणजीत नग्गल, वजीर, करनैल ङ्क्षसह, रविन्द्र बरौली, दिलबाग बनौंदी, धर्मवीर राठी, अमरिन्द्र सौंटा, दिलबाग दानीपुर, अभिषेक अब्बू, बलबीर टपरीवास, शहर प्रवक्ता इन्द्रजीत, रवि वाल्मीकि बस्ती, डा. सहगल, डा. बी.डी. कौशल, फूलचंद धनौरा, इकबाल बाजवा, सचिन सचिव व्यापार सैल, पंकज भारद्वाज गार्डन आदि मौजूद थे।
सिरसा। छात्र संगठन इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस सरकार युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ कर रही है और सरकार के पास युवाओं को रोजगार देने की कोई नीति नहीं है। वे बुधवार को चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय में पिछले दिनों रोहतक में इनेलो के रक्तदान अभियान तथा नेत्रदान के फार्म भरने वाले युवाओं को प्रमाण पत्र वितरित करने के दौरान संबोधित कर रहे थे। विश्वविद्यालय परिसर में टैगोर भवन के पास हुस कार्यक्रम में इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला बतौर मुख्यातिथि थे। उन्होंने कहा कि सरकार रोजगार देने की बजाय बेरोजगारों का शोषण कर रही है। एचटैट की परीक्षा के लिए संबंधित जिले से दूर परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं जहां तक पहुंचना अभ्यर्थियों को बहुत मुश्किल है। उन्होंने कहा कि सरकार ने परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा केंद्र 100-100 किमी दूर बनाए जाने से बेरोजगारों को पर भारी भरकम खर्च वहन करने पर मजबूर होना पड़ेगा खासकर महिलाओं को काफी असुविधा होगी। इसलिए सरकार को चाहिए कि संबंधित जिले में ही परीक्षा केंद्र बनाया जाए। दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि महिलाओं की परेशानी को देखते हुए इनसो की ओर से स्पेशल बसें चलाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में नौकरियां योग्यता के आधार पर देने की बजाय बेची जा रही हैं जिससे युवा वर्ग हताश हो गया है। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार की गलत नीतियों से अब युवाओं को पता चल गया है कि परीक्षा की तैयारी करने के बावजूद उन्हें नौकरी नहीं मिलेगी। उन्होंने विश्वास दिलाया कि इनेलो के सत्तासीन होने पर ही नौकरियों में हो रही धांधली बंद होगी तथा योग्यता के आधार पर युवाओं को रोजगार मिलेगा। इसके बाद उन्होंने इनेलो के रक्तदान व नेत्रदान अभियान में शामिल होने वाले युवाओं को प्रमाण पत्र वितरित किए और कहा कि इनसो का उद्देश्य सिर्फ राजनीति करना नहीं बल्कि सामाजिक सरोकार भी है और समाजहित में आगे भी इस तरह के अभियान चलाए जाएंगे। कार्यक्रम में उनके साथ रानियां विधायक कृष्ण कंबोज, पूर्व मंत्री, भागीराम, रणधीर चीका, इनसो के तीन जिलों के प्रभारी योगेश शर्मा, धर्मवीर नैन, इनसो के जिलाध्यक्ष हरप्रीत सिंह साहुवाला, कर्ण कसवां, विरेंद्र न्यौल, नवदीप सिंह सहित अन्य इनसो पदाधिकारी मौजूद थे।

इनेलो ने राजकुमार कश्यप को राज्यसभा भेजकर पिछड़े वर्ग का किया सम्मान

कैथल। पूरे भारतवर्ष में ताऊ देवीलाल एवं इनैलो पार्टी ही आम आदमी को उसके हितों का ख्याल रखने के लिए जानी जाती है। यह बातें इनेलो जिला प्रवक्ता धर्मबीर कैमिस्ट ने पत्रकारों से रुबरु होते हुए कही। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार रामकुमार कश्यप को देश की सबसे बड़ी पंचायत राज्यसभा में भेजा गया है उससे यह साबित होता है कि इनैलो पार्टी में ही आम आदमी के हित सुरक्षित है। रामकुमार कश्यप को राज्यसभा में भेजकर पूरे भारतवर्ष में न केवल कश्यप समाज का मान-सम्मान किया है बल्कि पूरा पिछड़ा वर्ग का मान-सम्मान बढाया है। उन्होंने कहा कि युग पुरुष चौधरी देवीलाल ही एक ऐसी सख्सियत थे जिन्होंने केन्द्र में उप-प्रधानमंत्री होते हुए दिल्ली के पांच सितारा अषोका होटल को आम आदमी के लिए खोल दिया था। इसी मिशाल को आज इनैलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला एवं उनके सुपुत्र अजय सिंह चौटाला व अभय सिंह चौटाला भी बखूबी निभा रहे है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार देश व प्रदेश के हालात बद से बद्तर होते जा रहे है उससे यह सहज अन्दाजा लगाया जा सकता है कि आने वाले समय में कांग्रेस पार्टी का पूर्ण रुप से सूपड़ा साफ है व प्रदेष की जनता इनैलो को स्पष्ट बहुमत से सरकार बनाने का मन बना चुकी है। आज कांग्रेस पार्टी के अधिकतर मौजूदा सांसद अपने-अपने लोकसभा क्षेत्र से टिकट लेकर चुनाव लडऩे से भी कतरा रहे है जिससे यह बात सच साबित होती है। धर्मबीर ने बताया कि आगामी 31 जनवरी को जिला इनैलो कैथल द्वारा मुख्य संसदीय सचिव रामकिषन फौजी पर सरकार द्वारा कार्यवाही न करने करने पर विषाल प्रदर्षन किया जाएगा जो प्रात: 10 बजे जवाहर पार्क से शुरू होकर पेहोवा चौंक से होते हुए लघु सचिवालय पहुंचेगा जहां पर रामकिशन फौजी एवं मुख्यमंत्री का पूतला फूंकेगा एवं उपायुक्त के माध्यम से राज्यपाल को फौजी की बर्खास्तगी की मांग करेगा। इस प्रदर्षन का नेतृत्व कलायत हल्के से विधायक एवं वरिष्ठ इनैलो नेता रामपाल माजरा व जिलाध्यक्ष कैलाश भगत करेंगे। इस प्रदर्षन में पार्टी के सभी कार्यकर्ता, पदाधिकारी एवं नेता उपस्थित रहेंगे। इस मौके पर उनके साथ जिला शहरी प्रधाप प्रदीप शर्मा, हल्का प्रधान रोशन लाल सिरटा, शहरी प्रधान मंजीत डोरा, युवा जिलाध्यक्ष बलराज नौच, इनसो के पूर्व जिलाध्यक्ष दर्पण मित्तल, किसान सैल के जिलाध्यक्ष चन्द्रभान दयौरा, गुर्जर फेडरेशन के जिलाध्यक्ष चरण सिंह र्गुजर उपस्थित थे। 

सीपीएस फौजी की बर्खास्तगी की मांग को लेकर इनेलो ने दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व में फूंके पूतले


सोनीपत। सीपीएस रामकिशन फौजी द्वारा करोड़ों रूपये की रिश्वत मांगने के मामले में इनेलो सड़कों पर उतर आई। लोकायुक्त की सिफारिश पर मामला दर्ज करने के आदेश के बावजूद सीपीएस रामकिशन फौजी को उनके पद से न हटाने के विरोध में आज इनेलो ने सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा, व सीपीएस रामकिशन फौजी का पूतला फूंका और ज्ञापन सौंपा। इससे पहले इनेलो के हजारों कार्यकर्ता आज दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व में प्रदर्शन करते हुए उपायुक्त कार्यालय पहुंचे। इनेलो के आह्वान पर कार्यकर्ताओं का हुजूम अल सुबह स्थानीय विश्रामगृह में एकत्रित हुआ और प्रदर्शन के रूप में रेलवे रोड़,गीता भवन चौंक,गुरूद्वारा रोड़, पुरखास अड्डा,नंदी चौंक,छोटूराम चौंक, पुलिस लाईन होता हुआ लघुसचिवालय पहुंचा। प्रदर्शनकारियों ने कांग्रेस सरकार के खिलाफ जोरदार नारे लगाए और उन्होंने सीपीएस रामकिशन फौजी को उनके पद से हटाने की मांग की और लघुसचिवालय  के बाहर मुख्यससदीय सचिव रामकिशन फौजी व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के पुतले फूंके और  महामहिम राज्यपाल के नाम एसडीएम अमित खत्री को ज्ञापन सौंपा। इनेलो युवा नेता दुष्यंत चौटाला ने लघुसचिवालय में प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि लोकायुक्त द्वारा  फौजी के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किए जाने की सिफारिश के वावजूद कांग्रेस सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर रही है जिससे कांग्रेस पार्टी का चरित्रहीन चेहरा बेनकाब हुआ है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि यदि सरकार ने सीपीएस रामकिशन फौजी के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं किया तो इनेलो प्रदेश भर में अनिश्चितकालीन धरने देगी तथा पार्टी इस मुद्दे पर तब तक चैन से नहीं बैठेगी। उन्होंने कहा कि लोकायुक्त की सिफारिश के बावजूद सरकार कार्रवाई नहीं कर रही क्योंकि सीएलयू देने का काम खुद मुख्यमंत्री का है। सरकार ने सत्ता में रहने का नैतिक व वैधानिक अधिकार खो दिया है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कांग्रेस के बवानी खेड़ा हल्के से विधायक रामकिशन द्वारा सीएलयू दिलवाने के लिए पांच करोड़ रूपये की रिश्वत मांगने की सीडी महामहिम को प्रस्तुत की थी। सरकार द्वारा नियुक्त लोकायुक्त ने इस सीडी पर संज्ञान लेते हुए २० जनवरी २०१४ को फौजी को भ्रष्टाचार में संलिप्त मानते हुए उनके खिलाफ  मामला दर्ज करने की सिफारिश सरकार को भेजी थी। लेकिन सरकार द्वारा इतने दिन गुजर जाने के बाद भी उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। युवा नेता दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सरकारी आंकड़ो के अनुसार दिसंबर २०१३ तक लगभग २२५८९ एकड़ भूमि के सीएलयू तथा लाईसैंस वर्तमान कांगेस सरकार द्वारा जारी किए जा चुके हैं। सूत्रों के अनुसार आवासीय सीएलयू के लिए प्रति एकड़ एक करोड़ रूपये व व्यवसायिक सीएलयू के लिए पांच से दस करोड़ रूपये प्रति एकड़ रिश्वत ली जा रही है। जिससे स्पष्ट है कि  बड़े पैमाने पर प्रदेश में भ्रष्टाचार हो रहा है।  इस मौके पर प्रदेश प्रवक्ता डा.के.सी.बांगड़,प्रधानमहासचिव तेलुराम जोगी, राष्ट्रीय सचिव पदम दहिया,ग्रामीण जिला अध्यक्ष कुलदीप मलिक, शहरी जिला अध्यक्ष सतपाल गोयल, राजकुमार रिढ़ाऊ,सुरेन्द्र दहिया, निर्मल चौधरी,रमेश खटक, रामफल चिड़ाना, कृष्णगोपाल त्यागी,सतपाल चौहान, आजाद सिंह तुर,बबीता दहिया, रणबीर दहिया, प्रोमिला मलिक, अरूण बड़ौक,सुमित राणा ,सितेन्द्र नांदल, भानेराम,पवन तनेजा, रविन्द्र सरोहा,जोनी लठवाल,कपूर नरवाल,राजपाल भटगांव, इन्द्रजीत दहिया, महेन्द्र सैनी, कृष्ण मलिक,रमेश स्वामी,ओमप्रकाश गोयल,राकेश चहल, वीरभान मलिक,भगत खत्री,रणधीर मलिक,राजेन्द्र मलिक, सरदार कमलजीत,रवि दहिया,हरिप्रकाश मंडल,रमेश बड़ौली,जेपी रेवली,बिजेन्द्र आंतिल,अतुल मलिक, अजीत आंतिल, रोहताश दहिया,अरूण कौशिक,राजू धानक,विनय आंतिल,सुरेन्द्र राणा,संजीत आंतिल,राममेहर राठी,संतरा मलिक महीपाल लाठ, संजय मलिक ,शीलक छिक्कारा आदि मौजूद रहे।

Tuesday, January 28, 2014

ग्रामीणों पर पुलिस प्रशासन द्वारा की गई लाठीचार्ज की इनेलो ने कड़े शब्दों में की निंदा

हिसार। इनेलो के शहरी जिलाध्यक्ष हनुमान ऐरन ने सातरोड़ गांव के ग्रामीणों पर पुलिस प्रशासन द्वारा की गई लाठीचार्ज की कड़े शब्दों में निंदा की है। उन्होंने कहा कि पिछले कई दिनों से सातरोड़ गांव निवासी निगम पार्षद राजपाल मांडू व अन्य मौजिज ग्रामीणों की समिति के नेतृत्व में गांव की पंचायत की जमीन को प्रशासन द्वारा कब्जा न किए जाने पर विरोध कर रहे थे। ग्रामीणों का कहना है कि सरकार ने उनके गांव को नगर निगम में तो शामिल कर लिया, परंतु चार वर्ष का समय बीत जाने के बाद भी कोई मूलभूत सुविधा नहीं दी जा रही है। जो विकास कार्य पंचायत के समय होते थे, वे भी अब बंद हो गए हैं। अब सरकार ने गांव की जमीन पर बुस्टिंग स्टेशन व डेयरी बनाने का निर्णय लिया है, जबकि गांव के पानी की निकासी इसी जमीन पर होती है। गांव के आस पास की कॉलोनियों में बने मकानों पर भी प्रशासन अवैध करार दे रहा है। जबकि ये मकान पंचायत के समय ही बन गए थे। प्रशासन के सामने जब बार बार गुहार लगाने पर भी कोई सुनवाई नहीं हुई तो ग्रामीणों ने एकत्र होकर शांतिपूर्वक तरीके से प्रदर्शन करते हुए उपायुक्त से मिलने जा रहे थे। रास्ते में पुलिस ने उन्हें रोककर लाठियों व डंडों से पिटाई कर डाली। इसमें 31 महिलाओं व पुरुषों सहित निगम पार्षद राजपाल मांडू को भी गंभीर चोट आई है। इनेलो नेता हनुमान ऐरन ने कहा कि जिले में हो रहे अपराधो पर अंकुश लगाने की बजाए पुलिस ने मुख्यमंत्री के इशारे पर लाठीचार्ज किया है। मुख्यमंत्री अपनी लोकप्रियता खो चुके हैं। अब वे अपना विरोध करने वालों पर दमनकारी नीति पर उतारू हैं। इस घटना ने अंग्रेजी हुकुमत की याद ताजा कर दी है। जब कोई शांतिपूर्ण तरीके से अपनी आवाज उठाता है तो उसे लाठियों व गोलियों से दबाया जाता है। आज लाला लाजपतराय का जन्मदिवस है। उनपर भी अंग्रेजों ने लाठियां बरसाई थी। इसके बाद अंगे्रजी हुकुमत की उलटी गिनती शुरू हो गई थी। अब कांग्रेस की भी उलटी गिनती  शुरू हो गई है। इनेलो नेता ने मांग की कि लाठी चार्ज में शामिल पुलिस अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई की जाए। 

कुमारी सैलजा निश्चित हार मान कर लोकसभा चुनावों से भागी : पूनिया

अम्बाला शहर। कुमारी सैलजा निश्चित हार मान कर लोकसभा चुनावों से भाग गई। यह शब्द इनैलो जिलाध्यक्ष बलविन्द्र पूनिया व जिला प्रवक्ता सुरिन्द्र घई (टीटू) ने कहे। उन्होंने कहा कि सैलजा का राज्य सभा के लिए उम्मीदवार बनना यह जताता है कि कुमारी सैलजा लोकसभा चुनावों में अपनी हार को निश्चित मान चुकी है। हरियाणा में कांग्रेस की पतली हालत से परिचित है। इसलिए उन्होंने कुमारी सैलजा को राज्यसभा का उम्मीदवार घोषित किया है। इससे यह साफ लगता है कि हरियाणा में कांग्रेस का सुपड़ा साफ हुआ लगता है। उन्होंने कहा कि कुमारी सैलजा अम्बाला की जनता को स्पष्ट करे कि वह 10 साल से जिस अम्बाला की जनता ने लोकसभा में बिठाया, मान-सम्मान दिलवाया व केन्द्र में मंत्री बनी तो क्या राज्यसभा का सदस्य बनने के बाद वह अम्बाला में रहेगी या यहां से वापिस सिरसा चली जाएंगी। उन्होंने कहा कि हार-जीत जीवन की सच्चाई है। कभी हार होती है कभी जीत होती है लेकिन कुमारी सैलजा को इस प्रकार से अम्बाला की जनता को धोखा नहीं देना चाहिए था। जीवन में अच्छे व बुरे दिन चलते रहते हैं, उतार चढ़ाव आते रहते हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप पुराने दोस्तों का साथ छोड़कर भाग जाओ। उन्होंने कहा कि आने वाले लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के पास अम्बाला में चुनाव लडऩे के लिए कोई प्रत्याशी ही नहीं है। फूलचंद मुलाना के बारे में उन्होंने कहा कि अम्बाला की जनता इन्हें पहले ही रिजेक्ट कर चुकी है। इनैलो के एक छोटे से सिपाही राजबीर बराड़ा इनको पहले ही मुलाना में बुरी तरह परास्त कर चुके हैं। ये तो मुख्यमंत्री हुड्डा की चापलुसी करके किसी प्रकार अपनी राजनीति कर रहे हैं। लेकिन अम्बाला की जनता अब इन्हें किसी भी कीमत पर बर्दाशत करने की स्थिति में नहीं है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार कुमारी सैलजा मैदान छोड़कर भागी है उसी प्रकार अम्बाला शहर के स्थानीय विधायक विनोद शर्मा भी अम्बाला शहर से मैदान छोड़कर भागने की तैयारी कर रहे हैं। क्योंकि उन्हें भी पता है कि न तो अम्बाला शहर की जनता और न ही अम्बाला शहर के कांग्रेसी इन्हें किसी भी प्रकार से बर्दाशत करने वाले नहीं है। निश्चित हार मानते हुए विधायक विनोद शर्मा भी अम्बाला शहर से चुनाव नहीं लड़ेगे। इस अवसर पर मक्खन लबाना, शीश पाल जंधेडी, मनोज शर्मा, इन्द्रजीत सिंह, प्रदयूमन ङ्क्षसह, दयारानी, राम कुमार बटरोहन आदि मौजूद थे।

इनेलो ने सीएलयू के बदले करोड़ों के लेनदेन मामले की सीडी हरियाणा के लोकायुक्त को सौंपी


चंडीगढ़। इनेलो की ओर से हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री राव नरेंद्र सिंह, मुख्य संसदीय सचिव विनोद भ्याना, रतिया के विधायक जरनैल सिंह व बरवाला के विधायक रामनिवास घोड़ेला की सीएलयू व अन्य मामलों में काम करवाने के बदले करोड़ों रुपए मांगने वाली सीडीज आज हरियाणा के लोकायुक्त जस्टिस प्रीतम पाल को सौंपी गई और उनसे अहम् पदों पर बैठे इन कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ तुरंत भ्रष्टाचार निरोधक कानून के अंतर्गत कार्रवाई किए जाने की मांग की गई। इनेलो के वरिष्ठ नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला, प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, कलायत के विधायक रामपाल माजरा, इसराना के विधायक कृष्ण पंवार सहित अनेक इनेलो विधायक अपने वकील नरेश सिंह शेखावत को साथ लेकर लोकायुक्त से मिले और उनके पास अपनी शिकायत व सीडी जमा करवाई। लोकायुक्त ने इस मामले में प्रारम्भिक जांच के लिए 7 फरवरी को सुनवाई निश्चित की है। अभय सिंह चौटाला ने रामनिवास घोड़ेला के खिलाफ, अशोक अरोड़ा ने विधायक जरनैल सिंह के खिलाफ, रामपाल माजरा ने स्वास्थ्य मंत्री राव नरेंद्र सिंह के खिलाफ और कृष्ण पंवार ने मुख्य संसदीय सचिव विनोद भ्याना के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है। राव नरेंद्र पर 30 एकड़ जमीन के सीएलयू के लिए 30 से 50 करोड़ रुपए मांगने, विनोद भ्याना के खिलाफ गुडग़ांव की चार एकड़ जमीन का सीएलयू करवाने के लिए अढाई करोड़ रुपए मांगने, जरनैल सिंह रतिया पर फरीदाबाद के सेक्टर-31 में ग्रुप हाउसिंग का दो एकड़ का लाइसेंस दिलाने के लिए तीन करोड़ रुपए मांगने और राव निवास घोड़ेला पर सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत ईंट भट्टो पर  स्कूल खोलने के लिए एनजीओ को अढाई करोड़ रुपए का काम दिलाने के बदले 50 लाख रुपए मांगने का आरोप है। लोकायुक्त को सीडीज सौंपने के बाद चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि कांग्रेस विधायक सम्पत सिंह के बेटे गौरव सम्पत सिंह, मुख्य संसदीय जलेब खान के बेटे साजिद खाद और कांग्रेस नेता संजय छोक्कर की सीडीज बुधवार को लोकायुक्त को सौंप दी जाएंगी।इनेलो नेता ने कहा कि उन्होंने लोकायुक्त से आग्रह किया है कि ये मामले भी रामकिशन फौजी की सीडी जैसे ही मामले हैं और इन मामलों की भी प्रारम्भिक जांच तुरंत करवाकर इन सबके खिलाफ भी एफआईआर दर्ज किए जाने के आदेश दिए जाएं। उन्होंने कहा कि जिस सरकार के एक दर्जन से ज्यादा मंत्री, विधायक व सीपीएस ऐसे गम्भीर आरोपों से घिरे हुए हों उस मुख्यमंत्री को एक पल भी अपने पद पर बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। सवालों के जवाब में उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कुछ अन्य नेताओं की सीडीज भी जल्द ही रिलीज की जाएगी।  उन्होंने मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार में लिप्त कांग्रेसी नेताओं को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए कहा कि रामकिशन फौजी के सीडी मामले में पर्दा डालने के प्रयास में हुड्डा सरकार खुद ही अपने षडयंत्र में फंस गई है और लोकायुक्त को सरकार द्वारा जांच दिए जाने के बाद लोकायुक्त की सिफारिश पर रामकिशन के खिलाफ एफआईआर दर्ज न किया जाना यह दर्शाता है कि सरकार में नैतिकता नाम की कोई चीज नहीं है।  उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर इनेलो के प्रदेशभर में विरोध प्रदर्शन व धरने निरंतर जारी रहेंगे। 

इनेलो के राज्यसभा प्रत्याशी रामकुमार कश्यप ने दाखिल किया नामांकन पत्र

चंडीगढ़। इनेलो के राज्यसभा प्रत्याशी रामकुमार कश्यप ने मंगलवार को इनेलो के वरिष्ठ नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला व प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। इनेलो अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष बलदेव बाल्मीकि ने रामकुमार कश्यप के कवरिंग उम्मीदवार के तौर पर नामांकन पत्र भरा। इस अवसर पर इनेलो विधायक रामपाल माजरा, पूर्व मंत्री मोहम्मद इलियास, कलीराम पटवारी, परमिंद्र ढुल, कृष्ण पंवार, उम्मीदवार बलदेव बाल्मीकि सहित पार्टी के सभी विधायक व अन्य प्रमुख नेता मौजूद थे। इनेलो के  राज्यसभा प्रत्याशी रामकुमार कश्यप ने उन्हें पार्टी की ओर से राज्यसभा उम्मीदवार बनाए जाने के लिए इनेलो प्रमुख व पार्टी के अन्य नेताओं का आभार जताते हुए कहा कि आज वे इनेलो कार्यकर्ता के नाते बेहद गर्व व सम्मानित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी नेतृत्व ने उन्हें जो जिम्मेदारी सौंपी है उसे वे पूरी निष्ठा से निभाएंगे। इनेलो प्रत्याशी का नामांकन पत्र भरवाने के बाद हरियाणा विधानसभा परिसर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए चौधरी अभय सिंह चौटाला व अशोक अरोड़ा ने कहा कि केंद्रीय मंत्री व अम्बाला की सांसद कुमारी सैलजा के लोकसभा चुनाव की बजाय राज्यसभा चुनाव में प्रत्याशी बनने से यह बात साफ हो गई है कि इनेलो के मुकाबले कांग्रेस ने चुनाव से पहले ही अपनी हार मार ली है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के गुडग़ांव के सांसद राव इंद्रजीत कांग्रेस छोडऩे की घोषणा कर चुके हैं और सोनीपत के सांसद जितेंद्र मलिक पहले ही कह चुके हैं कि वे लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। इसी तरह हिसार के पूर्व सांसद जयप्रकाश भी चुनाव लडऩे से इनकार कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक डूबता हुआ जहाज है और लोगों ने कांग्रेस को सबक सिखाने का मन बना रखा है। इनेलो नेता ने कहा कि लोकसभा चुनावों के साथ-साथ हरियाणा विधानसभा चुनावों में भी कांग्रेस का सफाया होना तय है। इनेलो नेताओं ने कहा कि प्रदेश में इनेलो के पक्ष में 1987 की लहर जैसे हालात हैं और आगामी चुनाव में कांग्रेस विधानसभा में दस का आंकड़ा भी छू नहीं पाएगी और सिंगल डिजिट में ही रहेगी। उन्होंने कहा कि अगर मुख्यमंत्री को कांग्रेस की लोकप्रियता का कोई वहम है तो उन्हें तुरंत विधानसभा भंग कर लोकसभा के साथ ही चुनाव करवा लेने चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस विधानसभा में दोहरे अंक को छूने में सफल रही तो वे राजनीति छोड़ देंगे। कांग्रेस सहित अन्य दलों के अनेक प्रमुख नेताओं के इनेलो में शामिल होने संबंधी सवालों के जवाब में इनेलो नेताओं ने कहा कि उनका कोई राजनीतिक दुश्मन नहीं है और अगर कोई अच्छा साथी एवं कार्यकर्ता किसी अन्य दल में था और वे इनेलो में आना चाहता है तो उन्हें पार्टी में शामिल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अगर कोई पुराना साथी किसी गलतफहमी का शिकार होकर कहीं चला भी गया तो उन्हें वहां जाकर यह महसूस हुआ कि जो मान-सम्मान उन्हें इनेलो में मिलता था वैसा अन्य कहीं नहीं मिलता। इनेलो नेताओं ने कहा कि आज प्रदेश में हुड्डा सरकार ने जो 65 हजार नौकरियां लगाने की घोषणा की है वह नौकरियां मौजूदा सरकार तो लगा नहीं पाएगी लेकिन आने वाली इनेलो की सरकार जरूर प्रदेश के बेरोजगार युवकों को मैरिट के आधार पर नौकरियां देने का काम करेगी।


गुड़गांव। इंडियन नेशनल लोकदल की गुड़गांव ईकाई द्वारा इनेलो के वरिष्ठ नेता एंव बहादुरगढ के पूर्व विधायक व गुडग़ांव के प्रभारी नफे सिंह राठी की अगुवाई में रामकिशन फौजी पर भ्रष्टाचार उन्मूनल अधिनियम के अन्तर्गत केस दर्ज करने व आकण्ठ डुबी कांग्रेस सरकार को बर्खास्त करने के लिए इनेलो कार्यकर्ताओं ने भारी विरोध प्रदर्शन करते हुए लघु सचिवालय पंहुचकर मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुडडा के पुतले फूं के और महामहिम राज्यपाल के नाम अतिरिक्त उपायुक्त गुड़गांव को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में महामहिम से मांग की गई है कि वे जनहित में भ्रष्ट कांग्रेस सरकार को तुरन्त बर्खास्त करें और अन्य 9 भूमि सीएलयू से स बन्धित सीडीयों पर भी जल्द संज्ञान ले। इंडियन नैशनल लोकदल के कार्यकर्ता भारी सं यां में गऊशाला मैदान में इक्कटठे होकर मु य बाजार से होते हुए सरकार व मु यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुडडा विरोधी नारे लगाते हुए मु य बाजार से गुजरे। भारी से लबरेज लोकदल कार्यकर्ताओं का उत्साह देखने को बनता था। इस विरोध प्रदर्शन में भारी पदर्शन में महिलाओं व युवा कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। बाजार में व्यापारियों ने भी इनेलो कार्यकर्ताओं के साथ जोश भरे नारे लगाते हुए कहा कि अब भ्रष्ट कांग्रेस सरकार का अन्त आ चुका है। इस सरकार विरोधी प्रदर्शन का आम जनता ने भी खुले मन से स्वागत किया। इस विरोध प्रदर्शन में वकीलों ने भी पंहुचकर गर्मजोशी के साथ सरकार विरोधी नारे लगाकर भ्रष्ट सरकार को तुरन्त बर्खास्त करने की मांग की। लघु सचिवालय पंहुचकर गुडग़ांव प्रभारी नफे सिंह राठी ने कार्यकर्ताओं को स बोधित करते हुए महामहिम राज्यपाल से मांग की कि इंडियन नैनशनल लोकदल के विधायकों द्वारा 6 सित बर 2013 को कांग्रेस के बवानीखेड़ा हल्का के विधायक व मु य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी द्वारा सीएलयू दिलवाने के लिए 5 करोड़ रूपये की रिश्वत मांगने की एक सीडी महामहिम को प्रस्तुत की थी जिसमें श्री फौजी को तुरन्त बर्खास्त करने व निष्पक्ष जांच करने की मांग की गई थी। सरकार द्वारा नियुक्त लोकायुक्त ने इस सीडी पर संज्ञान लेते हुए 20 जनवरी 2014 को रामकिशन फौजी को भ्रष्टाचार में संलिप्त मानते हुए उनके खिलाफ  भ्रष्टाचार उन्मुलन अधिनियम के अन्तर्गत मामला दर्ज करने की सिफारिश सरकार को भेजी लेकिन अब इतने दिन गुजर जाने के बाद भी उन पर कोई कार्यवाही नहीं हुई। इंडियन नैशनल लोकदल इस में चुप बैठने वाली नहीं है और जब तक रामकिशन फौजी पर कार्यवाही नहीं की जाती तब तक इनेलो कार्यकर्ता चैन से नहीं बैठेगा।
इस अवसर पर इनेलो के वरिष्ठ नेता एंव पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचन्द गहलोत ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए बताया कि वर्तमान हुडडा सरकार ने पिछले 9 वर्षों में बड़े पैमाने पर भूमि सीएलयू तथा लाईसेंस देकर मंत्रियों व विधायकों ने भारी भ्रष्टाचार फैलाया है। विधायकों एंव मंत्रियों के भ्रष्टाचार से संबंधित अनेको मामले समय समय पर इंडियन नैशनल लोकदल पार्टी द्वारा उठाकर महामहिम राज्यपाल महोदय से इनके विरूद्ध करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता, उनके विधायक और विधायक पुत्रों के स बन्ध में भूमि सीएलयू की ऐवज में करोड़ों रूपये मांगने की सीडी प्रस्तुत की गई इनमें मु यत: स्वास्थ्य मंत्री राव नरेन्द्र सिंह, मु य संसदीय सचिव विनोद भयाना, विधायक नरेश सेलवाल, विधायक रामनिवास घोड़ेला, विधायक स पत सिंह के पुत्र गौरव, विधायक जलेब खां के पुत्र साजिद खां, कांग्रेस के पूर्व युवा प्रधान संजय छोक्कर सामिल है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार 2013 तक लगभग 22589 एकड़ भूमि के सीएलयूज तथा लाईसैंस वर्तमान सरकार द्वारा जारी किये गये हैं। यदि सीडीज में मांगे गये प्रति एकड़ रिश्वत को पैमाना मान लिया जाये तो उसमें आवासिय के लिए 1 करोड़ रूपया प्रति एकड़ और व्यवसायिक सीएलयू के लिए 5 से 10 करोड़ रूपया प्रति एकड़ वर्तमान सरकार द्वारा रिश्वत के रूप में लोगों की जेब से ऐंठे जा रहे है। इस प्रकार से यह पूरे देश का सबसे बड़ा भूमि घोटाला है।
इस अवसर पर इनेलो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनन्तराम तंवर ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि 6 सितंबर 2013 के बाद भी अनेको टीवी चैनलों के माध्यम से वर्तमान सरकार के विधायकों के विरूद्ध भ्रष्टाचार में संलिप्त सीडी मामले दिखाये गये लेकिन मुख्यमंत्री ने इनके खिलाफ कोई एक्नश नहीं लिया। विनोद भयाना ने गुडग़ांव में 4 एकड़ भूमि के सीएलयू के ऐवेज में ढाई करोड़ रूपये, उकलाना के कांग्रेसी विधायक नरेश सेलवाल ने 3 हजार वर्ग गज भूमि के सीएलयू के लिए 10 से 12 करोड़ रूपये की मांग की, बरवाला के विधायक रामनिवास घोड़ेला ने स्कूल निर्माण के लिए सीएलयू दिलाने के लिए ढाई करोड़ रूपये की मांग की। महामहिम ऐसी भ्रष्ट सरकार को सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है।
 इस अवसर पर पूर्व विधायक जाकिर हुसैन ने कहा कि वर्तमान सरकार के कांग्रेसी विधायकों ने ही नहीं बल्कि जो कांग्रेस को सर्मथन दे रहे है उन विधायकों ने भी भ्रष्टाचार की लूट मचा रखी है। हथीन के विधायक एंव मु य संसदीय सचिव जलेब खां के पुत्र साजिद खां व संपत सिंह के पुत्र गौरव सिंह भी सीडी में 60 करोड़ रूपये की रिश्वत मांगते हुए दिखाई दे रहा है। कांग्रेस पार्टी के पूर्व युवा प्रधान संजय छोक्कर ने तो भ्रष्टाचार का नायाब तरीका अपना लिया है और वह तो सीडी में टोटल जमीन की जितनी कीमत बनती है उसका 25 प्रतिशत रिश्वत के रूप में मांगता हुआ दिखाई दे रहा है।
इस अवसर पर जिलाध्यक्ष रमेश दहिया ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने भूमि अधिग्रहण की सभी धाराओं का दुरूपयोग करते हुए किसानों को अपनी जमीन ओने पोने भावों में बिल्डरों को बेचने के लिए मजबूर किया जिससे हरियाणा के किसान की कमर टूट गई और वो भूखे मरने की कगार पर पंहुच गया। वर्तमान मु यमंत्री ने भूमि सीएलयू को भ्रष्टाचार का एक उद्योग का रूप दे दिया है यही कारण है कि आज गुडग़ांव ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश का किसान अपने आपको ठगा सा महसूस कर रहा है। कांग्रेस एक डूबता जहाज बन चुका है और प्रदेश की जनता वर्तमान सरकार को सबक सिखाने का मन बना चुकी है।
इस विरोध प्रदर्शन को प्रवक्ता आरएस दहिया, किसान सैल के अध्यक्ष राजेन्द्र धनखड़, हल्काध्यक्ष सतबीर खटाणा पहलवान, हल्काध्यक्ष रामनिवास राव, हल्काध्यक्ष अटलबीर कटारिया, हल्काध्यक्ष कृष्ण यादव, शैलेश खटाणा पूर्व चैयरमैन, युवा जिलाध्यक्ष गजेसिंह कबलाना ने भी स बोधित किया। इस अवसर पर पूर्व विधायक शहीदा खान, सुनिता कटारिया, शमशेर कटारिया, गिरवर यादव, राव मानसिंह, गौरव छोकर, नरेश सहरावत, भूपेन्द्र सुखराली, सुरेन्द्र तंवर, प्रदीप जाखड, दलबीर धनखड़, रूपसिंह प्रधान, जितेन्द्र पंवार, कपिल त्यागी, फि रोज खान, वीडी शर्मा, कालीचरण, कमला मलिक, सुदेश यादव, लोकेश दहिया, महेश भारद्वाज, कृष्ण गाड़ौली, राजेश दहिया, सज्जन दौलताबाद, दिनेश अग्रवाल, सुरेन्द्र ठाकराण, हरिओम त्यागी, अरूण त्यागी, कांसीराम सरपंच, कीर्ति प्रसाद, मनीराम शर्मा, श्रवण धनखड़, रणधीर सिंह, राजबीर बालियावास, नरसी कटारिया, सतपाल गाड़ौली, बीपी जांगड़ा, राजेश सरपंच, राजीव गर्ग, नवल राणा, श्रीभगवान, गयासीराम यादव, सुशील सहरावत, जोगेन्द्र, श्यामलाल, नरेश गोयल, उमेश चन्द्र डबास, सरदार सिंह, देवेन्द्र धनखड़, महेश पार्षद, धर्मबीर बाघोरिया, शशी धारीवाल, पवन शर्मा, जयभगवान कटारिया, पाली दौलताबाद, आजाद सिंह नेहरा, महेश चौहान, सतबीर तंवर एडवोकेट, अभय सिंह दहिया, कर्मबीर गुर्जर, अज्जी कटारिया, जयप्रकाश राणा, महाबीर राघव, श्रीनिवास, बेगराज गुर्जर, किशोर यादव, रवि सिंगला, रीषिराज राणा पार्षद, राजबीर दहिया जिला पार्षद, मिण्टू पहाड़ी जिला पार्षद, नवीन त्यागी, रवि खुराना, भीमसिंह ठाकराण, राजेश यादव, अजीत यादव, बल्ली यादव, अनिल तंवर, नरेश गहलोत, मोहनलाल वर्मा, विजय डागर, दलीप लूथरा, नगेन्द्र डागर, सतीश राघव, राजकुमार, राजपाल चौहान, सतीश यादव, मनोज बन्धवाड़ी, दीपक गौड़, नारायण सरपंच, धीरज यादव सहित हजारों की सं यां में पदाधिकारी एंव कार्यकर्ता उपस्थिम थे।