Tuesday, December 31, 2013

नए साल 2014 की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं: अभय सिंह चौटाला एवं अशोक अरोड़ा

चंडीगढ़, 31 दिसम्बर: इनेलो ने देश व प्रदेशवासियों को नए साल 2014 की पूर्व संध्या पर हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।
अभय सिंह चौटाला
 अशोक अरोड़ा

 इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं ऐलनाबाद के विधायक चौधरी अभय सिंह चौटाला एवं पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने प्रदेशवासियों के नाम एक संदेश में कहा कि नववर्ष लोगों के जीवन में नई खुशियां, उत्साह, उमंग व आपसी पे्रम प्यार और भाईचारे का संचार करे और लोग जात-पात, धर्म-मजहब से ऊपर उठकर आपस में मिल जुलकर एक नए भारत व प्रदेश के निर्माण में अपना अहम् योगदान दें। ऐसी वे भगवान से कामना करते हैं और प्रदेशवासियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हैं।

हुड्डा सरकार को हर मामले में विफल बताया: चौधरी अभय सिंह चौटाला

चंडीगढ़, 31 दिसम्बर: इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं ऐलनाबाद के विधायक चौधरी अभय सिंह चौटाला ने प्रदेश की हुड्डा सरकार को हर मामले में विफल बताते हुए कहा कि बीते साल 2013 में सरकार से समाज का हर वर्ग निराश हुआ है और सरकार ने किसी भी वर्ग को कोई राहत देने की बजाय सिर्फ झूठी घोषणाओं और फर्जी दावों से बहकाने का प्रयास मात्र किया था। इनेलो नेता ने कहा कि बीते साल के दौरान लोगों को कांग्रेस सरकार के घपलों, घोटालों, भ्रष्टाचार, महंगाई, कालाबाजारी, बेरोजगारी, महिलाओं व दलितों पर अत्याचार और भूमि घोटालों के अलावा और कुछ नहीं मिला। इनेलो नेता ने कहा कि आज प्रदेश का कर्मचारी वर्ग सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण आंदोलनरत है और नौकरियों व विकास के मामले में सरकार ने जो भाई-भतीजावाद व क्षेत्रवाद को बढ़ावा दिया उससे नाराज जनता इस आने वाले साल में कांग्रेस को करारा सबक सिखाकर अपना हिसाब चुकाएगी। 
इनेलो नेता ने हुड्डा सरकार के बीते साल के कामकाज पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा कि बीते साल के दौरान डीएलएफ-वाड्रा डील सहित सरकार के साढे तीन लाख करोड़ के घोटाले उजागर हुए और पूरा साल सरकार ने बाजार से कर्जा लेकर कर्मचारियों को वेतन भत्ते व पेंशन की अदायगी की। पिछले एक साल के दौरान बिना किसी विकास कार्य के लिए गए कर्जों के कारण आज प्रदेश दिवालिएपन के कगार पर है। इनेलो नेता ने कहा कि पिछले साल के दौरान हुड्डा सरकार के कई मंत्री जहां जेलों में गए वहीं कई अन्य जेल के दरवाजे पर खड़े हैं। इनेलो नेता ने कहा कि हुड्डा सरकार ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं व सीबीआई के साथ मिलकर एक साजिश के तहत इनेलो नेताओं को जेल भिजवाने का षड्यंत्र रचा था ताकि इनेलो को कमजोर किया जा सके। ऐलनाबाद के विधायक ने कहा कि कांग्रेस सरकार की यह चाल उसे उल्टी पड़ गई और इनेलो पहले के मुकाबले और ज्यादा मजबूत होकर सामने आई है।
ऐलनाबाद के विधायक ने कहा कि हुड्डा सरकार के ज्यादातर मंत्री, विधायक व मुख्य संसदीय सचिव सीएलयू के नाम पर करोड़ों रुपए की सौदेबाजी करने वाली सीडीज उजागर होने के बावजूद सरकार ने दोषी विधायकों व मंत्रियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय उन्हें संरक्षण देने का काम किया। इनेलो नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र ङ्क्षसह हुड्डा व उनके सांसद बेटे दीपेंद्र हुड्डा ने हरियाणा मॉडल के नाम पर प्रदेश के साथ लगते राजस्थान व दिल्ली के अलावा छत्तीसगढ़ व मध्यप्रदेश में कांग्रेस प्रत्याशियों के लिए वोट मांगते हुए व्यापक प्रचार किया था। लेकिन जहां-जहां  हुड्डा व उनके बेटे गए वहां-वहां कांग्रेस प्रत्याशी न सिर्फ बुरी तरह हारे बल्कि कइयों की जमानतें जब्त हुई और कई अन्य प्रत्याशी तीसरे व चौथे स्थान पर चले गए। इनेलो नेता ने कहा कि प्रदेश में अपहरण, बलात्कार, फिरौती व डकैती की घटनाओं में भारी बढ़ौतरी हुई है और महिलाएं व व्यापारी वर्ग अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। इनेलो नेता ने कहा कि वास्तव में पिछले साल के दौरान प्रदेश में सरकार नाम की कोई चीज नहीं थी और पूरी तरह जंगलराज कायम रहा और नए साल में लोग इस सरकार से छुटकारा पाकर प्रदेश में इनेलो की सरकार बनाएंगे। 

करनाल व जींद जिलों के जिला परिषद उपचुनावों में इनेलो समर्थक प्रत्याशियों की जीत के लिए बधाई: अभय सिंह चौटाला व अशोक अरोड़ा

चंडीगढ़, 31 दिसम्बर: इनेलो के वरिष्ठ नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री अशोक अरोड़ा ने करनाल व जींद जिलों के जिला परिषद उपचुनावों में इनेलो समर्थक प्रत्याशियों की जीत का श्रेय पार्टी की नीतियों और पार्टी नेतृत्व को देते हुए विजेता उम्मीदवारों को बधाई दी है।
चौधरी अभय सिंह चौटाला
 करनाल जिले के जिला परिषद जोन नम्बर एक से इनेलो समर्थक प्रत्याशी इंद्रजीत सिंह गोल्डी ने अपने विरोधी उम्मीदवार डॉ. अनिल को 1293 वोटों से हराकर करनाल जिला परिषद के उप-चुनाव जीता है। इंद्रजीत सिंह गोल्डी इनेलो के जिला उपाध्यक्ष हैं। यह सीट कांग्रेस नेता एवं जिला परिषद के चेयरमैन रहे अंग्रेज सिंह धुमसी के निधन से खाली हुई थी। कांग्रेस के समर्थन से अंग्रेज सिंह की भूपेंद्र कौर ने चुनाव लड़ा था और वे तीसरे स्थान पर रही। जिला परिषद की यह सीट इंद्री विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आती है। 
जींद जिले के जिला परिषद वार्ड नम्बर 17 की सीट से इनेलो समर्थक प्रत्याशी पंडित मीनू मालवी ने कांग्रेस समर्थक प्रत्याशी एवं पूर्व पार्षद रणबीर सिंह को 571 वोटों के अंतर से हराकर चुनाव जीता है। यह सीट मीनू के पिता पंउित ओंकार चंद के निधन से खाली हुई थी। यह सीट जींद जिले के जुलाना विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत पड़ती है। इंद्री के विधायक डॉ. अशोक कश्यप और जुलाना के विधायक परमिंद्र सिंह ढुल ने भी जिला परिषद की दो सीटों के लिए हुए उपचुनाव में इनेलो समर्थक प्रत्याशियों की जीत के लिए पार्टी प्रत्याशियों एवं कार्यकत्र्ताओं को बधाई देते हुए कहा कि इन चुनावों ने यह साबित कर दिया है कि आज प्रदेश में इनेलो के पक्ष में लहर चल रही है और आने वाले चुनावों में निश्चित तौर पर प्रदेश में इनेलो की सरकार बनेगी।

हुड्डा सरकार के घपलों, घोटालों और भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिए बैठक :अभय सिंह चौटाला एवं अशोक अरोड़ा

चंडीगढ़, 31 दिसम्बर: इनेलो की ओर से हुड्डा सरकार के घपलों, घोटालों और भ्रष्टाचार को उजागर करने व आने वाले चुनावों को लेकर पार्टी की रणनीति बनाने के लिए इनेलो राज्य कार्यकारिणी की बैठक 2 जनवरी गुरुवार को नई दिल्ली में होगी। इस बैठक में इनेलो के सभी विधायक, सांसद, प्रदेश पदाधिकारी, जिला हलका व शहरी प्रधान और विभिन्न प्रकोष्ठों के प्रदेश एवं जिला संयोजक हिस्सा लेंगे। बैठक की अध्यक्षता इनेलो के वरिष्ठ नेता एवं ऐलनाबाद के विधायक चौधरी अभय सिंह चौटाला एवं पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा करेंगे। बैठक में हुड्डा सरकार द्वारा प्रदेश के लोगों को भेजे जा रहे बिजली के अनापशनाप बिलों और लगाए जा रहे सम्पत्ति कर के मामलों को लेकर पार्टी की ओर से अपनाई जाने वाली रणनीति पर भी विचारविमर्श किया जाएगा। 
 चौधरी अभय सिंह चौटाला 

इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने बताया कि लोकसभा चुनावों की घोषणा आने वाले दिनों में किसी भी समय हो सकती है और लोकसभा चुनावों के साथ-साथ राज्य विधानसभा चुनाव करवाए जाने की भी उम्मीद है। इन चुनावों के दृष्टिगत पार्टी की ओर से अभी से व्यापक स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी गई हैं और इन तैयारियों को अंतिम रूप देने और हुड्डा सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ निर्णायक आंदोलन चलाने के लिए पार्टी की गुरुवार को होने वाली बैठक में व्यापक विचारविमर्श किया जाएगा। इनेलो नेता ने कहा कि आज प्रदेश का हर वर्ग हुड्डा सरकार से बेहद दुखी और परेशान है और जल्द से जल्द इस सरकार से निजात पाना चाहता है। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में कांग्रेस का विकल्प केवलमात्र इनेलो है और लोगों को इनेलो से भारी उम्मीदें हैं। पार्टी लोगों की उम्मीदों पर न सिर्फ खरा उतरेगी बल्कि चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में इनेलो की सरकार बनेगी और कांग्रेस आगामी लोकसभा व विधानसभा चुनावों में अपना खाता भी नहीं खोल पाएगी। 
श्री अरोड़ा ने कहा कि पार्टी की ओर से बूथ इकाई कार्यकत्र्ताओं के लिए शुरू किए गए प्रशिक्षण शिविर का अगला चरण तीन जनवरी से शुरू होने जा रहा है और इस दौरान पार्टी कार्यकत्र्ताओं को चौधरी देवीलाल व इनेलो की नीतियां घर-घर तक पहुंचाने और सरकार के काले कारनामों को उजागर करने के लिए विशेष रूप से प्रशिक्षित किया जा रहा है। इनेलो नेता ने कहा कि इस प्रशिक्षण शिविरों के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को पहचान पत्र भी जारी किए जा रहे हैं और उन्हें मतदाताओं से संपर्क करने, मतदाता सूची का निरीक्षण कर फर्जी वोटरों को सूची से हटवाने और वोट बनवाने से वंचित रह गए मतदाताओं को वोट बनवाने में मदद करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। 

Monday, December 30, 2013

जबरदस्त जन आंदोलन होगा यदि किसानों की जमीन उनकी इच्छा के विरूद्ध अधिग्रहण करने की कौशिश हुई : जंधेडी



अम्बाला शहर, 30 दिसम्बर  : यदि किसानों की जमीन उनकी इच्छा के विरूद्ध अधिग्रहण करने की कौशिश की गई तो इनैलो किसानों के साथ मिलकर जबरदस्त आंदोलन करेंगे। यह शब्द हल्का अम्बाला शहर ग्रामीण अध्यक्ष शीश पाल जंधेडी ने कहे।
 शीश पाल जंधेडी

 उन्होंने कहा कि जिस प्रकार पंजोखरा के साथ लगते गांव की जमीन सरकार ने अधिग्रहण करने की कौशिश की थी और इनैलो ने बढ़चढ़ कर किसानों का साथ दिया था। ठीक उसी प्रकार गांव सौंडा मटैडी जट्टां व कोला के किसानों के साथ मिलकर आंदोलन करेंगे। इनैलो का हर कार्यकत्र्ता किसानों के साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि अम्बाला शहर के स्थानीय विधायक की अम्बाला के किसानों की जमीनों पर बुरी नजर है। पहले भी जंडली गांव की जमीन अधिग्रहण करवाने में उनका पूरा हाथ रहा है। उन्होंने कहा कि पंजोखरा में भी स्थानिय विधायक ने जमीन को अधिग्रहण करवाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। लेकिन वहां के किसान इस बात के बधाई पात्र है कि उन्होंने अपनी लम्बी लड़ाई लड़ी और जमीन को अधिग्रहण से मुक्त करवाया। उन्होंने कहा कि एक तरफ केन्द्रीय सरकार जमीन अधिग्रहण करने के लिए कानून बनाती है कि किसानों की मर्जी के बिना उनकी जमीन अधिग्रहण नहीं होगी। दूसरी तरफ हरियाणा सरकार बिना किसानों की मर्जी के बावजूद उन्हें धारा 4 के नोटिस भेज रही है। जिससे यह साबित होता है कि स्थानीय विधायक अम्बाला की जनता की सेवा के लिए नहीं अम्बाला के गरीब किसानों को लुटने के लिए अम्बाला शहर का विधायक बना। उन्होंने कहा कि इन गांवों की जमीन बहुत ही फसली जमीन है और केन्द्रीय सरकार द्वारा बनाए गए कानून के मुताबिक केवल बंजर जमीन को ही अधिग्रहण किया जा सकता है। इस अवसर दिलबाग ङ्क्षसह दानीपुर, कप्तान ङ्क्षसह बकनौर, राम कुमार बटरोहन, धर्मवीर दानीपुर, धर्मचन्द, अनिल जंधेडी आदि मौजूद थे। 

नूंह मे युवा इनेलो कार्यकर्ताओ ने मेवात की लचर परिवहन व्यवस्था को लेकर मंत्री का पुतला फूंका

30 दिसम्बर: मेवात की लचर परिवहन व्यवस्था और शिक्षा संस्थानों में सुविधाओं की कमी को लेकर सोमवार को युवा इनेलो व इनसो ने प्रदर्शन किया। इनेलो कार्यकर्ताओं ने नूंह बस स्टैंड पर परिवहन मंत्री आफताब अहमद का पुतला फूंका और उपायुक्त को महामहिम राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा।
 परिवहन मंत्री आफताब अहमद का पुतला फूंका
युवा इनेलो नेता नासिर हुसैन व युवा कार्यकारी जिलाध्यक्ष हितेश देशवाल के नेतृत्व में आयोजित प्रदर्शन में सैंकडों युवा इनेलो कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। इससे पहले सभी कार्यकर्ता जिला मुख्यालय स्थित पार्टी की कार्यालय पर एकत्रित हुए। वहां से हाथों में बैनर व परिवहन मंत्री का पुतला लिए दिल्ली-अलवर रोड पर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बस स्टैंड पहुंचे। वहां कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए युवा कार्यकारी जिलाध्यक्ष हितेश देशवाल ने कहा कि कांग्रेस मेवात के विकास का झूठा ढिंढोरा पीट रही हैं। लोगों को यहां परिवहन जैसी मूल सुविधाएं भी नसीब नहीं हो रही हैं। अवैध वाहनों में लदकर लोगों को सफर तय करना पडता हैं। जिसके कारण आए दिन दुर्घटनाओं में जान व माल की हानि होती हैं। इलाके की वर्षों से चली आ रही रोडवेज डिपो की मांग को सरकार अनसुना करती रही। 1 जनवरी 2013 को जब लोगों की मांग मुखर हुई तो कांग्रेस ने बहकाने की नियत से रोडवेज डिपो की घोषणा कर दी। लेकिन बडे दुर्भाग्य की बात हैं कि रोडवेज डिपो बनने के एक साल बाद भी मेवात की जनता के लिए परिवहन व्यवस्था में कोई सुधार नहीं हुआ। नूंह डिपो में सरकार ने कंडम बसें भेजकर लोगों को बरगलाने का काम किया। हालात ये हैं कि यहां डिपो में मात्र 49 बसें हैं जिनमें से 18 बसें आज कंडम हो जाएंगी। साथ ही उन्हें चलाने के लिए न तो ड्राइवर हैं और न हीं बस स्टैंड, वर्कशाप, कर्मचारियों के बैठने के लिए कार्यालय, पानी, बिजली जैसी तमाम सुविधाएं नदारद हैं। युवा इनेलो कार्यकर्ताओं ने सरकार से मांग की कि नूंह डिपो में तमाम सुविधाएं व आधुनिक बस स्टैंड, फिरोजपुर झिरका में सब-डिपो, बडकली चौक, पुन्हाना व तावडू में बस अड्डों का निर्माण किया जाए। इसके बाद इनेलो कार्यकर्ताओं ने नूंह बस स्टैंड के प्रांगण में परिवहन मंत्री आफताब अहमद का पुतला फूंका और उनपर मेवात को जानबूझकर पिछडा रखने का आरोप लगाया। वहां से इनेलो कार्यकर्ता उपायुक्त कार्यालय पहुंचे जहां उन्होंने महामहिम राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मेवात की परिवहन व्यवस्था, प्रदेश की सबसे बडी आईटीआई नूंह में तमाम सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग की गई। इस मौके पर इनेलो के यशपाल पंवार, शिशुपाल चौहान, प्रतीक्ष आटा, अंतराम खटाना, डा. जावेद जोगीपुर, बोषण नंबरदार, राजकुमार, मानसिंह, ब्रजपाल, सतबीर, समय, भागीरथ, लियाकत, शौकीन, देवेंद्र, इनसो नेता लुकमान, समीम, मुबारिक, साजिद, असलम, जाहुल, बुधराम, मुस्तफा, अकरम, तारिक घासेडिया सहित सैंकडों युवा कार्यकर्ता मौजूद थे।


हुड्डा सरकार बिजली उपभोक्ताओं को बढ़ा-चढ़ाकर भेज रही है बिल : अशोक अरोड़ा

चंडीगढ़, 30 दिसम्बर: इनेलो ने हुड्डा सरकार द्वारा प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं को बढ़ा-चढ़ाकर भेजे जा रहे अनापशनाप बिलों को लोगों के जख्मों पर नमक छिडक़ने का प्रयास बताते हुए इसे तुरंत बंद करके वाजिब बिल भेजे जाने की मांग करते हुए सरकार को चेतावनी दी है कि अगर इस अंधी लूट को तुरंत बंद न किया गया तो इनेलो प्रदेश की जनता को लेकर इन बिलों के खिलाफ जोरदार अभियान चलाएगी और सरकार को इसे वापिस लेने के लिए मजबूर किया जाएगा। इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि हुड्डा सरकार द्वारा बिजली निगमों की तरफ से जारी करवाया गया बयान पूरी तरह झूठ का पुलिंदा है जिसमें कहा गया था कि निगमों द्वारा बिल नियमानुसार दिए जा रहे हैं। इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने हुड्डा सरकार को अंधेर नगरी चौपट राजा, की संज्ञा देते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार व बिजली निगमों के भ्रष्टाचार, घोटालों, कुप्रबंधन व गलत नीतियों और फैसलों का खमियाजा प्रदेश के उन ईमानदार आम बिजली उपभोक्ताओं                                                    को भुगतना पड़ रहा है जो समय पर बिल चुकाते हैं।  
इनेलो  प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा

श्री अरोड़ा ने कहा कि बीते साल के दौरान हुड्डा सरकार ने प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं पर न सिर्फ साढे पांच हजार करोड़ रुपए का अतिरिक्त बोझ डाला बल्कि एक साथ पांच-पांच फ्यूल सरचार्ज भी वसूले जा रहे हैं और स्लैब प्रणाली समाप्त करके मध्यम वर्ग पर अतिरिक्त बोझ और डाला गया है। श्री अरोड़ा ने कहा कि सरकार में बैठे प्रभावशाली लोगों और बिजली निगम के अधिकारियों ने कमीशन खाने के चक्कर में घटिया मीटर खरीदे हैं जो कि सामान्य मीटरों के मुकाबले में कई गुणा ज्यादा खपत दिखाते हैं। इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने सिरसा के एक समाजसेवी संगठन से जुड़े हुए एक बिजली उपभोक्ता का उदाहरण देते हुए कहा कि उनके द्वारा एक संस्थान में लगवाए गए मीटर को बिजली विभाग के ही चैक मीटर के माध्यम से चैक करवाया गया तो वह मीटर 116 प्रतिशत सामान्य से तेज चल रहा था। ऐसा ही एक अन्य मीटर बिजली बोर्ड ने माना कि सामान्य से 84 प्रतिशत तेज चल रहा है। ऐसे एक-दो नहीं बल्कि हजारों उदाहरण हैं। उन्होंने कहा कि इससे ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण बात और क्या होगी कि सिरसा जिला के गांव मत्तूवाला, केहरवाला व साधेवाला के दलित परिवारों की झोंपड़ीनुमा कच्चे मकानों जिनमें मात्र एक-एक बल्लब लगा हुआ है वहां पर 12 हजार से लेकर 41 हजार रुपए तक के बिल आए हुए हैं जो कि उन दलित परिवारों की पूरी आमदनी भी इन बिलों को भरने लायक नहीं है।
श्री अरोड़ा ने कहा कि बिजली के रेट वास्तव में वो होते हैं जो लोगों से वसूले जाते हैं। उन्होंने प्रदेश सरकार व बिजली निगमों के दावों को पूरी तरह खोखला व झूठ का पुलिंदा बताते हुए कहा कि हरियाणा में बिजली की वसूली जाने वाली दरें पड़ौसी प्रदेश हिमाचल, जम्मू कश्मीर, झारखण्ड, केंद्रशासित प्रदेश चंडीगढ़ व तमिलनाडु सहित अनेक राज्यों के मुकाबले कहीं ज्यादा है। उन्होंने कहा कि बिजली की दर के अलावा हरियाणा में पांच तरह के फ्यूल सरचार्ज वसूले जाते हैं और अन्य प्रदेशों में जहां घरेलू उपभोक्ताओं को स्लैब प्रणाली के तहत शुरुआती यूनिट पर एकसमान फायदा सभी को मिलता हैवहीं हरियाणा के आम बिजली उपभोक्ताओं को इससे वंचित कर दिया गया है। इनेलो नेता ने कहा कि जब किसी गरीब आदमी को कई-कई हजार के बिजली बिल थमा दिए जाते हैं तो वे उन्हें ठीक करवाने के लिए कई-कई हफ्तों तक बिजली दफ्तरों में चक्कर लगाता है और वहां पर उन बिलों को ठीक करने की बजाय यह जवाब मिलता है कि पहले बिजली बिल जमा कराओ बाद में इन्हें देखा जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में व्यापक स्तर पर सरकार व बिजली कम्पनियों के अधिकारियों द्वारा सरेआम बिजली चोरी करवाई जाती है और फिर उन्हें लाइन लौसेज लिखाकर अन्य उपभोक्ताओं से उसकी वसूली की जाती है। 
इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हुड्डा सरकार ने कमीशन खाने के चक्कर में यमुनानगर ताप बिजली घर में घटिया स्तर की चीन की बनी हुई मशीनरी लगवा दी और यह ताप बिजली घर अक्सर बंद ही रहता है। इस ताप बिजली घर के कर्जे का ब्याज और वहां तैनात हजारों कर्मचारियों और अधिकारियों के वेतन भत्तों की अदायगी भी आम बिजली उपभोक्ताओं को करनी पड़ती है और वहां पर बिजली का उत्पादन न होने के कारण बिजली बोर्ड कमीशन खाने के चक्कर में बाहर से जो महंगे दामों पर बिजली खरीदता है उसका बोझ भी बिजली उपभोक्ताओं पर डाला जा रहा है। यानी हुड्डा सरकार व बिजली निगमों के भ्रष्टाचार और नालायकी का खमियाजा प्रदेश के आम बिजली उपभोक्ता जो ईमानदारी से बिल चुकाते हैं उन्हें भुगतना पड़ रहा है। इनेलो नेता ने कहा कि बिजली बोर्ड के बड़े-बड़े अधिकारियों के अलावा जिला प्रशासन के अहम् अधिकारियों के घरों व दफ्तरों के बिल बेहद मामूली आते हैं और झोंपड़ीनुमा कच्चे अथवा छोटे-छोटे मकानों में रहने वाले गरीब दलित परिवारों के घरों के बिल कई-कई हजार के आ रहे हैं। इनेलो नेता ने कहा कि सरकार और बिजली बोर्ड अपने घोटालों पर पर्दा डालने के लिए जिस तरह से आम गरीब आदमी व मध्यम वर्ग के परिवारों को बेवजह परेशान करने एवं उन्हें लूटने में लगा हुआ है जिसे किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा और इनेलो प्रदेश के लोगों को साथ लेकर सरकार के खिलाफ व्यापक आंदोलन छेड़ेगी। इनेलो नेता ने कहा कि जो राजनेता प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं के हितों को लेकर सबसे बड़े पैरोकार होने का दावा किया करते थे आज उनकी रहस्यमयी चुप्पी भी अनेक सवाल खड़े करती है कि जब प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं को दोनों हाथों से लूटा जा रहा है तो आज उनकी जुबान बंद क्यूं है?


Saturday, December 28, 2013

नगर निगम मेयर व नगर निगम आयुक्त प्रॉपर्टी टैक्स पर अम्बाला की जनता को दें सही जानकारी : घई

अम्बाला शहर, 27 दिसम्बर : नगर निगम मेयर व नगर निगम आयुक्त प्रॉपर्टी टैक्स पर अम्बाला की जनता को दें सही जानकारी दें। यह शब्द इनैलो प्रैस प्रवक्ता सुरिन्द्र घई (टीटू) ने जनता से कहे।
सुरिन्द्र घई (टीटू)
इनैलों प्रैस प्रवक्ता। 
 उन्होंने कहा कि नगर निगम की ओर से वक्फ बोर्ड के किरायदारों, व नगर निगम के किरायदारों, अनुसूचित जाति के लोगों, विधवा औरतों व हुड्डा के हाऊसिंग बोर्ड के सैक्टरों के निवासियों को नोटिस भेजकर प्रॉपर्टी टैक्स जमा करवाने के लिए दबाव बढ़ाया जा रहा है। जबकि जो लोग किरायदार हैं उनको नोटिस भेजने का कोई औचित्य ही नहीं है। प्रॉपर्टी टैक्स जमा करवाना, जमीनों व मालिकों का अधिकार है। अनुसूचित जाति के लोगों को सरकार द्वारा पहले ही टैक्स माफ करने के आदेश दिए गए हैं। हुड्डा व हाऊसिंग बोर्ड के निवासियों पर कोई प्रॉपर्टी टैक्स नहीं बनता। क्योंकि नगर निगम की ओर से हुड्डा निवासियों को कोई सहुलियत ही नहीं दी जाती तो प्रॉपर्टी टैक्स के क्या मायने। वैसे भी यह मामला उच्च न्यायालय में विचाराधीन है। उसके अलावा लोगों को प्रॉपर्टी टैक्स के जो नोटिस भेजे जा रहे हैं वह पॉलिसी के हिसाब से नहीं भेजे जा रहे हैं तथा लोगों को गुमराह किया जा रहा है। शायद नगर निगम आयुक्त सरकार की गुड बुक्स में आने के लिए इस प्रकार का काम कर रहे हैं। 
घई ने इनसो कार्यकत्र्ताओं पर जोकि एच.सी.एस. भर्ती की धांधली को लेकर  रोहतक में प्रदर्शन कर रहे छात्रों को गिरफ्तार करने की निंदा करते हुए कहा कि यह रवैया तानाशाही पूर्ण है। छात्राओं को इस प्रकार गिरफ्तार करके कांग्रेस ने बोखलाहट का परिचय दिया है। इनैलो सरकार बनने पर ऐसे अधिकारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी तथा एच.सी.एस. भर्ती में हुए घोटाले की न्यायिक जांच की मांग करते हुए कहा कि या तो सरकार स्वयं इसकी जांच करवाएं नहीं तो राज्यपाल इसका कड़ा संज्ञान लें और इसकी न्यायिक जांच के आदेश दें। इस अवसर पर हल्का अम्बाला शहर अध्यक्ष मनोज शर्मा, इन्द्रजीत, संदीप गुलाटी, विक्की झांडी, राजकुमार, अमरजीत, अमरजीत धीमान, रमेश शर्मा, रणजीत, मुकेश गुलाटी, हरविन्द्र ङ्क्षसह, अमन व अभिषेक (अब्बू) मौजूद थे।

Thursday, December 26, 2013

आओ कांग्रेस मुक्त नया हरियाणा बनाएं- दुष्यंत चौटाला

हिसार, 26 दिसंबर।  युवा शक्ति देश व दुनिया में क्रांति व व्यवस्था परिवर्तन की सूत्रधार रही है। आज कांग्रेस राज में हरियाणा में शिक्षा व रोजगार के क्षेत्र में हालात बद से बदतर हो गए हैं। ऐसे में देश व प्रदेश की जनता व्यवस्था परिवर्तन की बाट जो रही है, आओ युवा साथियो, उठ खड़े हो व्यवस्था परिवर्तन के लिए और कांग्रेस मुक्त नए हरियाणा का निर्माण करेंं। 

यह आह्वान इनेलो के वरिष्ठ युवा नेता दुष्यंत चौटाला ने किया। वे गांव राजली में आयोजित पार्टी के कार्यक्रम में बोल रहे थे। गांवों में पहुंचने पर दुष्यंत चौटाला का जोरदार स्वागत किया गया। गांव जाखोद खेड़ा में कृष्ण कुमार,रिकंू,राजा, विजय नागर, बलजीत नागर, कुलदीप, मलकीत नागर, विनोद, अजीत, रोशन व धर्मा नागर, राजबीर, नंदा, सुरजीत, सतपाल, प्रवीन, धर्मवीर नंदा, कर्ण सिंह, सुखबीर, रामसिंह बोकड़ा, रामेश नागर ने हजकां व कांग्रेस छोड़ कर इनेलो ज्वाइन की। 

दुष्यंत चौटाला ने कहा किप्रदेश में यवुाओं की संख्या 40 प्रतिशत है और जोकि देश दुनियां में सर्वाधिक हैं परन्तु अफसोस की बात यह है कि हरियाणा प्रदेश में हुड्डा के शासन में सर्वाधिक  मानसिक व आर्थिक शोषण का शिकार भी युवा हुए हैं। कांग्रेस ने उन्हें सत्ता की सीढ़ी पर चढऩे के लिए प्रयोग किया और रोजगार व शिक्षा की बात आई तो युवा शक्ति से मुंह मोड़ लिया। आज का युवा दोराहे पर खड़ा है। उसे न तो गुणवत्तायुक्त शिक्षा मिल रही है और न ही योग्यता के आधार पर नौकरी। नौकरियों में पूरी तरह से क्षेत्रवाद व भाई भतीजावाद हावी है। हुड्डा सरकार के पूर्व सीपीएस जिले राम शर्मा व पूर्व मंत्री ओमप्रकश जैन द्वारा नौकरियों के बदले पैसे लिए जानेऔर  पैसे वापस मांगने पर कंबोपुरा के पूर्व सरपंच व उनके एक नजदीकी रिश्तेदार की हत्या का मामला प्रदेश की जनता के सामने पहले उजागर हो चुका है। उन्होंने कहा कि हुड्डा सरकार की नौकरियों में की गई गड़बड़ी के चलते अनेक भर्तियों को माननीय न्यायालय रद्द कर चुका है हुड्डा सरकार इससे कोई सबक नहीं लिया है। उन्होंने कहा कि हुड्डा सरकार पूरी तरह से चिकने घड़े की तरह हो चुकी है। अब प्रदेश में परिवर्तन के सिवाय कोई विकल्प नहीं है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि युवा अपनी शक्तिको पहचानें और कांग्रेस मुक्त हरियाणा बनाने के लिए एकजुट हों। 

Tuesday, December 24, 2013

कांग्रेस प्रत्याशियों की जमानत जब्त करवाने के मूड में है जनता: दिग्विजय चौटाला

चंडीगढ़, 24 दिसम्बर: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने बवानीखेड़ा विधानसभा क्षेत्र के विधायक व हुड्डा सरकार में मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी पर भ्रष्टाचार और गम्भीर अपराधों में संलिप्त व प्रदेश में सबसे ज्यादा बदनाम विधायक बताते हुए आगामी लोकसभा व विधानसभा चुनावों में इस क्षेत्र से कांग्रेस सहित विपक्षी प्रत्याशियों की जमानत जब्त करवाने और इनेलो प्रत्याशियों को विजयी बनाने का आह्वान किया है।
मंगलवार को बवानीखेड़ा हलके के गांव प्रेमनगर, जाटु लोहारी, सूई, बलियाली, पुर, सिवाड़ा व तालू में ग्रामीण सभाओं को सम्बोधित करते हुए दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि सीएलयू के नाम पर करोड़ों रुपए मांगने वाले रामकिशन फौजी की सीडी जारी होने के बाद हुड्डा इन घोटालों से कांग्रेसी मंत्रियों व विधायकों को महज इसलिए बचाने व संरक्षण देने में लगे हुए हैं क्योंकि मुख्यमंत्री खुद भ्रष्टाचारियों व अपराधियों के सरगना हैं। 
दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि राजबीर हत्याकांड में रामकिशन फौजी पर गम्भीर आरोप लगने के बाद सरकार ने मामले की निष्पक्ष जांच करवाने और दोषियों को सजा दिलाने की बजाय इस हत्याकांड के मुख्य आरोपियों को बचाने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के लोग इस हत्याकांड के तार रामकिशन फौजी से जुड़े होने के बार-बार आरोप लगा रहे थे लेकिन सरकारी दबाव में फौजी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई। इनसो नेता ने कहा कि जहरीला पदार्थ खाने के कारण रामकिशन फौजी करीब दो महीनों तक पीजीआई चंडीगढ़ में भर्ती रहे लेकिन इस मामले की भी सरकार ने कोई जांच नहीं करवाई। इनसो नेता ने कहा कि मुख्य संसदीय सचिव को अगर किसी ने जहरीला पदार्थ दिया था तो यह हत्या के प्रयास का गम्भीर आपराधिक मामला बनता है और अगर रामकिशन फौजी ने खुद जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया था तो यह भी एक आपराधिक मामला है। इस मामले में निष्पक्ष जांच करवाकर सच्चाई लोगों के सामने लाई जानी चाहिए थी ताकि प्रदेशवासियों और इस हलके के लोगों को सच्चाई से अवगत करवाया जा सकता।
इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि इस विधानसभा क्षेत्र के एक युवक ने रामकिशन फौजी पर उससे जेबीटी टीचर लगवाने के नाम पर पांच लाख रुपए रिश्वत ली थी और इस बारे में उस युवक ने शपथ पत्र भी दिया था। सरकार ने फौजी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कर कोई कार्रवाई करने की बजाय उल्टा शिकायत करने वाले उस युवक को ही प्रताडि़त करना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि फौजी ने जनस्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी को अपनी मौजूदगी में अपने समर्थकों से पिटवाने जैसा घिनौना कार्य किया और जब जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने इस मामले में आंदोलन करने की चेतावनी दी तो फौजी उस अधिकारी के घर जाकर सार्वजनिक तौर पर माफी मांगकर आया। इनसो नेता ने कहा कि ऐसे भ्रष्ट और आपराधिक छवि वाले व्यक्ति से लोगों को कोई उम्मीद नहीं है और अगले विधानसभा व लोकसभा चुनावों में इस क्षेत्र की जनता कांग्रेस प्रत्याशियों की जमानत जब्त करवाने का मन बनाए हुए है। 

दिग्विजय सिंह चौटाला के जनसम्पर्क कार्यक्रम के दौरान अनेक लोगों ने कांग्रेस व हजकां छोड़ इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। इनसो नेता ने पार्टी में शामिल होने वालों का स्वागत करते हुए उन्हें पार्टी में पूरा मान-सम्मान दिए जाने का भरोसा दिलाया। इस अवसर पर इनेलो के जिला अध्यक्ष सुनील लांबा,हलका अध्यक्ष राजबीर तालू, बलदेव घणघस, जिला प्रवक्ता डा.विजय शर्मा, युवा के जिला अध्यक्ष जितेंद्र शर्मा, कपूर सिंह वाल्मीकि, आजाद वाल्मीकि, गुड्डी लांग्यान, सुमन कुंगड़, वीना सारसर, जिला परिषद सदस्य मनमोहन भुरटाना, जगदीश मिताथल, रामसिंह वैद, अजीत तंवर, सुनील सोनी, रामफल फौजी, मैनपाल कौशिक, अजय दलाल, शंकर आहूजा, प्रवीण कादयान, अजमेर सिवाच व जितेंद्र धारीवाल समेत अनेक जिला व प्रदेशस्तर के पदाधिकारी मौजूद थे।

संपत सिंह ने मंत्री बनने की हसरत में जनता के हितों की बलि दे दी - दुष्यंत चौटाला

चंडीगढ़, 24 दिसम्बर: कांग्रेस में मंत्री बनने की कीमत चुकानी पड़ती है और पिछले चार वर्षों से कांग्रेस की इसी परिपाटी की कीमत नलवा हलके के लोगों को चुकानी पड़ रही है। नलवा से कांग्रेसी विधायक पिछले चार वर्ष से हुड्डा सरकार में मंत्री बनने की हसरत पाले हुए हैं। और वे अपनी इस हसरत को पूरा करने के लिए लगातार नलवा हलके की जनता के हितों की बलि दे रहे हैं।
 यह बात युवा इनेलो नेता दुष्यंत चौटाला ने मंगलवार को नलवा हलके के गांव आर्य नगर, रावलवास कलां, भिवानी रोहिलां, सरसाना, गोरछी, पनिहार व भैरियां में लोगों से रूबरू होते हुए कही। गांवों में पहुंचने पर दुष्यंत चौटाला का जोरदार स्वागत किया। इस अवसर पर हजकां व कांग्रेस छोड़ कर आर्य नगर गांव में ओमप्रकाश, रमेश, राजकुमार, राधेश्याम, इशहॉक चौहान, दीपक सोनी, रावलवास गांव में हवासिंह, मंगतराम, महेंद्र सिंह, भिवानी रोहिला में राजाराम, सुरेंद्र सहित सेंकड़ों लोगों ने इनेलो ज्वाइन की। 
दुष्यंत चौटाला ने कहा कि नलवा से कांग्रेसी विधायक संपत सिंह ने यह सोच कर कांग्रेस ज्वाइन की थी, वहां जाते ही उन्हें मंत्रीमंडल में स्थान मिलेगा। हुड्डा सरकार बनते ही उनकी यह हसरत हिलौरे लेने लगी। उन्होंने इसके लिए जुगत लगानी शुरू कर दी। उन्होंने हुड्डा की चापलूसी करने के लिए तमाम हथकंडे अपना लिए। परन्तु तीन बार मंत्रिमंडल में विस्तार होने के बाद भी संपत सिंह का नंबर नहीं आया। अंत में उन्होंने नलवा हलके के हितों को राजनीति की तराजू में मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए तोलना शुरू कर दिया। उन्होंने बाकायदा एक सोचसमझी योजना के मुताबिक हुड्डा सरकार द्वारा लागू की जा रही जनविरोधी योजना को आश्वासनों और सुनहरे सपनों की चाशनी में लपेट कर परोसना शुरू कर दिया। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि संपत सिंह ने नलवा हलके की जनता को 24 घंटे बिजली देने का लॉलीपाप देकर गांवों में पिलर बाक्स योजना का युद्ध स्तर पर मीडिया के माध्यम से प्रचार किया और इस पिलर बाक्स योजना को नलवा हलके में लागू करने की पूरी भूमिका तैयार कर दी। उन्होंने कहा कि नलवे की जनता अपने प्रतिनिधि की बातों पर कुछ-कुछ यकीन होने लगा और वे उनकी चुकनी-चुपड़ी बातों में आ गए। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रो संपत सिंह को हसरत पूरी होने की उम्मीद नजर आई और सीएम हुड्डा की चापलूसी कर आठ गांवों में पिलर बाक्स लगा दिए। इनेलो नेता ने कहा कि गांव वाले उस समय ठगे से रह गए जब उनके बिजली के बिल पहले से कई गुना आने शुरू हो गए।
दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रो संपत सिंह गांव गंगवा के जलघर में वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का पम्पिंग सिस्टम लगवा कर हजारों लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ करने पर अड़े थे। नलवा हलके के दर्जन से अधिक गांवों में आज भी पीने व सिंचाई के लिए पानी की समस्या बनी हुई है। स्थानीय विधायक इनके पीने के पानी की समस्या भी हल नहीं करवा पाए। रावलवास कलां, पनिहार, गोरछी, भिवानी रोहिला, सरसाना तथा बासड़ा गांव के सैकड़ों लोग दुष्यंत चौटाला से मिले तथा उन्हें बताया कि उनके गांव में सिंचाई का पानी तो दूर पीने के पानी के  लाले पड़े हुए हैं। दुष्यंत चौटाला ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि इनेलो की सरकार आने पर नलवा हलके के लोगों के लिए सिंचाई एवं पीने के पानी की व्यवस्था के लिए विशेष प्लान बनाया जाएगा ताकि इन गांवों से पानी की समस्या का स्थाई समाधान हो सके। 

इस अवसर पर राज्यसभा सांसद रणबीर सिंह प्रजापति, जिला प्रधान उमेद सिंह लोहान, हलका प्रधान होशियार सिंह सिंघरान, चतर सिंह स्याहड़वा, अनूप धनखड़, सतबीर वर्मा, सत्यनारायण मंगाली, राजकुमार सलेमगढ़, हनुमान वर्मा, अशोक पूनिया, बलवंत श्योराण, सिद्धार्थ गोदारा, रामकुमार फौजी, श्रीराम जाखड़, दयानंद मंगाली सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Monday, December 16, 2013

महिलाओं के उत्थान के लिए होंगी कई योजनाएं लागू - दिग्विजय चौटाला

नई दिल्ली 16 दिसंबर। इंडियन नैशनल स्टूडैंट ऑरगेनाईजेशन इनसो ने आज अपने केन्द्रीय कार्यालय 18 जनपथ मिस एशिया पैसीफिक सुश्री सृष्टि राणा को मिस एशिया पैसीफिक का खिताब जीतने पर सम्मानित किया। इनसो के राष्टीय अध्यक्ष श्री दिगविजय चौटाला ने इंडियन नैशनल लोकदल की तरफ से एक लाख गयारह हजार का चैक, जननायक चौधरी देवीलाल सम्मान एवं फुलों के गुलदस्ते के साथ सम्मानित किया। इस अवसर श्री अवसर पर श्री दिगविजय चौटाला के साथ पूर्व सांसद सरदार तरलाचन सिंह तथा हरियाणा में पार्टी के प्रवक्ता डॉ के सी बांगड भी उपस्थित थे।

श्री चौटाला ने इस अवसर पर पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा कि इनसो जननायक चौधरी देवीलाल के  जन्मशती दिवस पर पुरे साल इस तरह के आयोजन करती रही है। मिस एशिया पैसीफिक सुश्री सृष्टि राणा ने यह खिताब जीतकर पुरे विश्व में हरियाणा का गौरव बढाने का काम किया है तथा इनसो सदैव इस तरह की प्रतिभावों को सम्मानित करने का कार्य करती रहेगी। और हरियाणा में सरकार बनने पर इंडियन नैशनल लोकदल इनके अनुभव व सहयोग से महिलाओं के उत्थान के लिए अनेको कल्याणकारी योजनाएं लागू करेगी। हरियाणा की बहुत सी लडकियां सुश्री राणा के मिस एशिया पैसीफिक चुने जाने पर, उनसे प्रेरणा लेकर फैशन उद्योग में भी नए किर्तीमान स्थापित करने का काम करेंगी। 

मिस एशिया पैसीफिक सुश्री सृष्टि राणा ने इंडियन नैशनल लोकदल व इनसो का धन्यवाद करते हुए कहा कि हर क्षेत्र से विभिन्न प्रतिभाएं समय-समय पर अनको सम्मान जीतने का काम करती है लेकिन अगर उन्हे इसी तरह से सम्मानित कर उनका हौसला अफजाही करते तो निश्चित तौर अनेका और प्रतिभाएं उभरकर सामने आती है तथा मैं इसके लिए श्री दिगविजय चौटाला का धन्यवाद करते हुए घोषणा करती हूॅ मैं इस राशी का बीस फीसदी समाज के कल्याण के कार्याे में खर्च करूंगी। 

शहीदों के सम्मान के बिना देश की सुरक्षा खतरे में :अभय सिंह चौटाला

भारत में नहीं राष्ट्रीय स्तर पर शहीद सम्मान स्मारक
300 सैनिक पदक विजेताओं, शहीद विधावाओं व उनके आश्रितों को किया सम्मानित

जींद। जिस देश में शहीदों का सम्मान नहीं होता, उस देश की सुरक्षा को सदैव खतरा बना रहता है। शहीदों और सैनिकों के सम्मान के अभाव के कारण कोई भी देश तरक्की नहीं कर सकता और न ही लंबे समय तक अपना मान-सम्मान बनाए रख सकता।
 ऐसे देश और समाज में असुरक्षा की भावना के साथ-साथ सीमा सुरक्षा को भी खतरा बना रहता है। विडंबना है कि भारत एकमात्र ऐसा देश है, जहां आज तक राष्ट्रीय स्तर पर शहीद सम्मान स्मारक नहीं है। यह बात इनेलो विधायक एवं भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष अभय सिंह चौटाला ने जींद की जाट धर्मशाला में अखिल भारतीय शहीद सम्मान संघर्ष समिति द्वारा आयोजित 'विजय दिवसÓ कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रुप में बोलते हुए कही। उन्होंने आयोजकों विशेषतौर पर पूर्व डीजीपी डॉ. महेन्द्र सिंह मलिक की प्रशंसा करते हुए कहा कि ऐसे आयोजन पंचायत स्तर से राज्य स्तर पर होने चाहिए। 
चौटाला ने कहा कि हर भातीय को गर्व है कि हमारी सीमाएं सुरक्षित हैं और हमारे सैनिक किसी भी चुनौती का सामना करने में सक्षम हैं। विडंबना ही है कि भारत एक मात्र देश है जहां आज भी राष्ट्रीय स्तर पर शहीद सम्मान स्मारक नहीं है। उन्होंने कहा कि वे इसके लिए प्रयास करेंगे ताकि एक भव्य स्मारक स्थापित हो सके। चौटाला ने कहा कि भारतीय सेना केवल युद्धों में ही नहीं अपितु हर राष्ट्रीय तथा प्राकृतिक आपदा में राहत पहुंचाने हेतू सबसे पहले पहुंचती है। केदारनाथ मंदिर दुर्घटना में राहत कार्य इसके लिए उत्कृष्ठ उदाहरण है। कानून व्प्यवस्था बनाए रखने में प्रशासन की नाकामयाबी में भी सेना शांति स्थापित करने में सहायक सिद्ध होती है तथा जन, जान-माल की सुरक्षा करती हैं। उन्होंने कहा कि सैनिक समस्याओं के समाधान हेतू विशेष प्रयास किए जाने चाहिएं। 
इस अवसर पर करीब 300 सैनिक पदक विजेताओं, शहीद विधवाओं और उनके आश्रितों को सम्मानित किया गया। समारोह के अध्यक्ष और भारत के प्रथम फील्ड मार्शल सैम मानकशाह के सहयोगी लैफटीनैंट जनरल दीपेंद्र सिंह ने कहा कि पूर्व सैनिकों की अनदेखी से सैनिकों का मनोबल गिरता है क्योंकि जब उसे अपने भविष्य की चिंता सताएगी तो सीमा की सुरक्षा संभव नहीं होगी। उन्होने कहा कि भारत के स्वर्ण युग सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य के सलाहकार कौटिल्य ने कहा था कि सैनिकों के कल्याण की योजनाएं बनाएं जिससे आपका राज्य सुरक्षित होगा और आपका यश बढ़ेगा। विडंबना है कि सरकारें बनती रहीं लेकिन किसी ने सैनिक कल्याण की ना सोची। विजय दिवस भारत के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा गया दिवस है जिसमें भारतीय फौज के समक्ष पाकिस्तानी फौज के 90 हजार सैनिकों ने आत्म समर्पण किया था। यह ऐतिहासिक विजय पताका सदियों बाद सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य के बाद हुई जब भारतीय सेना ने यह परचम फहराया। कृतज्ञ राष्ट्र सैनिकों का ऋणी है। उन्होने भारत की एकता और अखंडता को बनाए रखने के लिए सैनिक कल्याण का आह्वान किया।

समारोह के मुख्य संयोजक पूर्व पुलिस महानिदेशक डॉ. महेन्द्र सिंह मलिक ने कहा कि आजादी के 66 वर्ष बाद भी पूर्व सैनिक कल्याण याजनाओं की कमी है। शहीदों और सैनिकों के नाम ना तो कोई स्मारक है और ना हीं सड़कें इत्यादि के नाम जबकि ये राष्ट्र के कातिलों, जालिमों और गद्दारों के नाम हैं। अंडेमान, निकोबार द्वीप समुह में अंग्रेज जनरल हैवलाक तथा हैरीएट के नाम टापू हैं जबकि शेरखान, वीर सावरकर, गणेश जैसे सरफरोशों के नाम हम भूल गए हैं।
 डॉ. मलिक ने जींद के सैनिकों की प्रशंसा करते हुए कहा कि भारतीय सेना द्वारा किए गए विश्व भर में किसी भी युद्ध तथा भारतीय सीमा के हर मोर्चे पर जल, थल और नभ में जींद का सैनिक अग्रणीय रहा है। लौंगेवाला फतह करने वाली 13 पंजाब भी महाराज जींद की प्लाटून थी। महावीर चक्र विजेता ब्रिगेडियर कुदीप सिंह चांदपुरी पंजाब रेजीमैंट का अधिकारी भी जींद जिले से ही है। यह रवायत दोनों विश्व युद्धों, 1962, 1965, 1971 के युद्धों, कारगिल युद्ध, श्री लंका, सरजावों या कागो, युद्धों और शांति सेनाओं में सहभामिता आज भी कायम है। उन्होने सरकार से पुरजोर मांग की कि पूर्व सैनिकों की मांगों पर गौर करना नितांत जरूरी है जैसे कि एक रैंक एक वेतन तथा पैंशन और पालीक्लीनिकों की स्थापना। स्व रोजगार हेतू प्रशिक्षण, आसान ऋण तथा उनके द्वारा उत्पादित माल की बिक्री हेतू कैंटीन में स्थान, सेवा निवृत सैनिकों को तुरंत पुलिस या अर्ध सैनिक बलों में रोजगार प्राथमिकता केवल मैडीकल करवाकर, अल्प अवधि अधिकारियों के लिए मैडीकल सुविधा, उपायुक्त कार्यालयों में सैनिकों के सभी कार्यों हेतू सिंगल विंडो की स्थापना, शहीदों के बच्चों के लिए अनुकंपा रोजगार, बसों के रूट परमिट तथा असला परमिट में प्राथमिकता व सैनिक कालोनियों की स्थापना इत्यादि सुविधाएं व योजनाएं सैनिकों के कल्याण हेतू सुचारू रूप से लागू की जानी चाहिए।
 इस अवसर पर शहीद सम्मान संघर्ष समिति के प्रवक्ता आनंद लाठर, लै० जनरल एस के कौशल, लै० जनरल जी पी वत्स, लै० जनरल  प्रकाश एस चौधरी, लै० जनरल अशोक वासुदेवा, ब्रिगेडियर नरेंद्र संधु, ब्रिगेडियर ओपी चौधरी, ब्रिगेडियर  दीपक खुराना, जेपी मिश्रा आईपीएस सेवा निवृत, पूर्व सैनिक अधिकारी एवं एडीजीपी राजस्थान, बीडी ढालिया आईएएस सेवा निवृत, मेजर जनरल एसएस राणा, कर्नल जेएस जोधा, कर्नल वीएम जुनेजा, कैप्टन इंदर सिंह भूतपूर्व सांसद, कमांडर इंदर सिंह, कर्नल आर के भारद्वाज के इलावा लै० कर्नलज तथा समकक्ष वायु सेना, जल सेना अधिकारी, सीमा सुरक्षा बल तथा पुलिस अधिकारी, जे सी ओज तथा अन्य रैंक, पदक विजेता तथा शहीदों की विधवाएं व उनके आश्रित उपस्थित थे। 



हूडा ले रहा है हर महीने 800 करोड़ का क़र्ज़, सरकारी जमीन रखी जा रही है गिरवी - अभय सिंह चौटाला

जींद। अभय सिंह चौटाला सोमवार को यहां जिला इनेलो कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। भाजपा के साथ गठबंधन बारे सवाल पर उन्होंने कहा कि उनकी भाजपा से प्रदेश में इनेलो के साथ गठबंधन बारे कभी कोई बातचीत नहीं हुई। आज भाजपा तथा हजकां का गठबंधन प्रदेश में है। पहले यह गठबंधन टूटेगा तो फिर वे भाजपा के साथ बातचीत करेंगे। उन्होंने प्रदेश सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि गोहाना में हुई कांग्रेस की रैली में मुख्यमंत्री ने 31 लोकलुभावनी घोषणाएं कर दी हैं लेकिन इस घोषणाओं को अमलीजामा पहनाने के लिए सरकार के पास पैसे नहीं हैं।
फिर भी प्रदेश सरकार बैंकों तथा बड़े-बड़े फाइनेंसरों से 800 करोड़ रुपए प्रति महीना कर्जा ले रहे हैं और सरकारी प्रोपर्टी को गिरवी रख रहे हैं। यह कर्ज लिया हुआ पैसा एक भी विकास योजनाओं में नहीं लगाया जा रहा है। मुख्यमंत्री को इस मामले में श्वेत पत्र जारी करके जनता को अवगत करवाना चाहिए। चौटाला ने कहा कि पिछले दिनों हुए 4 राज्यों के विधानसभा चुनावों में जनता ने कांग्रेस को नकार दिया है। हरियाणा में भी ऐसा ही होने वाला है। कांग्रेस शासनकाल के दौरान हुई विभिन्न भर्तियों पर सवाल उठाते हुए चौटाला ने कहा कि प्रदेश सरकार ने अपने शासनकाल में जितनी भी नौकरियां दी हैं, उन पर माननीय कोर्ट ने सवाल उठाए हैं तथा सभी भर्तियां रद्द की गई हैं। इनेलो के शासनकाल में इन सभी मामलों की जांच करवाई जाएगी। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों के गैर जिम्मेदाराना रवैया पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि कांग्रेस शासन में प्रशासनिक अधिकारी अपनी मनमानी कर रहे हैं। कोई भी अधिकारी अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा रहा है। पीटीआई तथा सीपीएड भर्ती मामले में जमकर रिश्वतखोरी की गई है तथा जिन अधिकारियों ने इसमें सहयोग किया है इनेलो की सरकार बनने पर उनकी जांच करवाई जाएगी। मुख्यमंत्री आज प्रोपर्टी डीलिंग का काम कर रहे हैं। बड़े-बड़े उद्योगपति तथा पूंजीपति लोग अपने पास विभिन्न चीजों का स्टॉक कर लेते हैं, जिस कारण आज महंगाई बढ़ रही है। इनको मुख्यमंत्री का संरक्षण हासिल है। हरियाणा में आप पार्टी द्वारा चुनावी मैदान में कूदने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र है, कोई भी व्यक्ति चुनाव लड़ सकता है। उन्होंने आप पार्टी के अरविंद केजरीवाल पर अपनी जिम्मेदारियों से भागने का आरोप लगाते हुए कहा कि आप को जब कांग्रेस समर्थन दे रही हैं तो उनको सरकार बनानी चाहिए। दिल्ली के लोगों ने जिस उम्मीद से केजरीवाल को वोट दिए, अब केजरीवाल को सीएम बनकर उनकी उम्मीद पर खरा उतरना चाहिए, ऐसे भागने से काम नहीं चलेगा। इस मौके पर उनके साथ जिला प्रधान सुरेंद्र बरवाला, विधायक डॉ. हरिचंद मिढ़ा, इनेलो युवा प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप गिल,पुर्व विधायक सुरजभान काजल,रामफल कुंडु,डा रामचंद्र जांगडा,महाबीर गुप्ता,डा अविनाश चावला,भुपेन्द्र जुलानी,जिला प्रैस प्रवक्ता देवेन्द्र अत्री,सुमित्रा देवी,कृष्णा बधाना,नरेश भनवाला,मौजी खान,किताब सिंह भनवाला,सुबे सिंह लौहान,अजमेर रेढु, बिजेंद्र रेढू,बलराज नंगुरा,शमशेर ढाण्डा,कृष्ण राठी,सुशील बैरागी,विश्ववीर नम्बरदार,टेकराम कंडेला,जगदीप बुवाना,दलशेर लोहान,कुलबीर चहल,रणधीर चहल,कर्ण सिंह दरौली खेडा,सुरेन्द्र मौर, सुनील वशिष्ठ, जसबीर रेढु,जसमेर रजाना,बृजपाल सांगवान,ओ पी पंवार,सोनु गुलिया,सुशील टुर्ण,जिला कार्यालय सचिव गुरदीप सांगवान आदि अनेको कार्याकर्ता मौजूद थे।

वर्तमान कांग्रेस सरकार कर रही है युवाओं के साथ धोखा - रोहित गनेरीवाला

सिरसा 16 दिसंबर 2013। सिरसा शहर के वार्ड न. 10 कीर्तिनगर युवा इनेलो द्वारा चलाए जा रहे झंडा लगाओ अभियान के तहत आज वार्ड के प्रहलाद सोनी, सुलतान सिंह सहारण, देवीलाल श्योराण, शेर सिंह सहू, केहर सिंह पूनिया, अभय सिंह शर्मा, मनी राम लांबा, लक्ष्मीनारायण कालीचरण फोगाट, कुलदीप न्योल, संजीव अरोड़ा, टिंकू वर्मा, नरेश वर्मा, राजेंद्र बैनीवाल, टिंकू सोनी, निशांत सोनी, सन्नी सोनी, राहुल सोनी, राकेश सोनी आदि अनेक कार्यकर्ताओं के घरों पर झंडा लगाया गया। 
इस अवसर पर बोलते हुए युवा इनेलो के शहरी प्रधान रोहित गनेरीवाला ने बताया कि वर्तमान कांग्रेस सरकार युवाओं के साथ धोखा कर रही है और सिरसा जिला के युवाओं को नौकरियों से वंचित रखा जा रहा है। उन्होंने बताया कि कुछ दिन पहले हुई एचसीएस की भर्ती से यह बात सिद्ध हो गई है कि वर्तमान कांग्रेस सरकार अपने रिश्तेदारों व नजदीकी आईएएस अफ्सरों को खुश कर रही है और उनके रिश्तेदारों को नौकरियां प्रदान की जा रही है। जमीदारों की तरफ किसी प्रकार कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है और उनको सबसीडी में प्रदान किए जा रहे बीज व खाद में ठग्गी की जा रही है। शहरी अध्यक्ष ने बताया कि ग्रामीण लोगों को बिजली का बिल उनकी आमदनी से भी अधिक भेजकर उन्हें बेवजह परेशान किया जा रहा है। 
इस मौके पर उनके साथ जिला शहरी वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ. राधेश्याम शर्मा, सुशील शर्मा, जिला शहरी महासचिव सतबीर कड़वासरा, विकल पचार, प्रेम शर्मा, निर्मल वर्मा सहित अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Saturday, December 14, 2013

भर्तियों के विरोध में सडक़ पर उतरेगें - पूर्व कृषि मंत्री जसविंद्र सिंह संधू

पिहोवा: इनेलो के प्रदेश उपाध्यक्ष पूर्व कृषि मंत्री जसविंद्र सिंह संधू ने कहा कि हरियाणा सिविल सेवा में सरकार ने धांधली बरतते हुए सत्ता पक्ष के नेताओं के परिजनों व उनके रिश्तेदारों को भर्ती किया है। 
जबकि योग्य उम्मीद्वारों की पूरी तरह से अनदेखी की गई। श्री संधू पार्टी कार्यालय पेहवा में कार्यकर्ताओं से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि धांधली को लेकर उठे सवालों का जवाब देने की बजाय सीएम हुड्डा प्रश्न पूछने वालों पर भडक़ कर मामले को दबाना चाहते हैं। श्री संधू ने कहा कि 4 राज्यों में हुए चुनाव के नतीजों ने साफ कर दिया है कि देश में आज कांग्रेस की स्थिति क्या है। उन्होंने कहा कि इनेलो ने अपने शासन में प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को रोजगार दिया, जिसके बदले पार्टी के शीर्ष नेताओं को जेल मिली। लेकिन मौजूदा सीएम ने तो सभी सीमाओं को लांघते हुए अपने रिश्तेदारों व चहेतों को ही इतने बड़े पदों पर ठोक डाला। यह युवाओं व प्रदेश की जनता के साथ बड़ा धोखा है। इनेलो इस मामले को जोर शोर से उठाते हुए पूरी भर्ती प्रक्रिया की जांच की मांग करती है। यदि जरुरत पड़ी तो पार्टी इन भर्तियों के विरोध में सडक़ पर उतरेगी। इस अवसर पर हलका गुहला से ब्लाक समिति चेयरमैन ज्ञानचंद गगड़पुर, नवनिर्वाचित उपप्रधान बलविंद्र सिंह भागल, रमेश जैन, कुलदीप सिंह, गुरपाल सिंह, जयमल सिंह, युवा नेता गगनजोत सिंह संधू व प्रैस प्रवक्ता महिंद्र कंथला सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे।

एच सी एस भर्ती की जाँच हो, मुख्यमंत्री मांगे मीडिया से माफ़ी - युवा इनेलो

अम्बाला शहर, 14 दिसम्बर: आज युवा इनेलो ने अम्बाला शहर के माडल टाऊन चौंक पर युवा जिला अध्यक्ष सन्दीप राणा की अध्यक्षता में काग्रेंस सरकार के विरूद्व जोरदार प्रदर्षन किया तथा मुख्यमन्त्री भपेन्द्र सिंह हुडडा का पुतला जलाया। सन्दीप राणा ने बताया कि युवाओं के साथ बेइमानी करके अपने चहेतों व रिष्तेदारो में मुख्यमन्त्री हुडा द्वारा रेवडिय़ों की तरह नौकरिया बॉटी जा रही है, चाहे चतुर्थश्रेणी के कर्मचारियों की लिस्ट जारी हो या तृतीया श्रेणी, द्वितीय श्रेणी, प्रथम क्षेणी अथवा एचसीएस व सहयोगी पदों के कर्मचारियों की सूची आए मुख्यमन्त्री एंव मन्त्रीमण्डल के रिष्तेदार ही उन सूचियों में आते है, पढ़े लिखे नौजवानो से छलावा किया जा रहा है। 
उन्होंने कहा कि हाल में ही एच.सी.एस. भर्ती घोटाले में जिस तरह से मुख्यमन्त्री के भतीजे रजिन्द्र हुडा की पुत्री गायित्री हुडा, मुख्यमन्त्री के भाई इन्द्रजीत सिहं हुडा की साली की पौती मीनाक्षी दहिया, विद्युत मन्त्री कैप्टन अजय यादव के दामाद रोहित दहिया, मुख्यमन्त्री के ओ.एस.डी. एम.एस. चोपड़ा की पुत्री एकता चोपड़ा राज्य लोक सेवा आयोग के चेयरमैन मनवीर सिंह पुत्री राधिका सिंह आई .ए.एस. अधिकारी सरवन सिंह के पुत्र गगनदीप सिंह आई .ए.एस. एस. के. गोयल की पौत्री मीनाक्षी गोयल रोहतक विधायक भारत भूषण बतरा की भान्जी गौरी मिडा पूर्व काग्रेसी विधायक दिल्लू राम बाजीगर की भान्जी किरण सिंह, पूर्व आई .ए.एस. डी. डी. गौतम के भतीजे सुदर्षन गौतम सेवानिवृत आई .ए.एस. अधिकारी राम भगत लागयान पुत्रवधु पूजा भारती आई.आर.एस. अधिकारी अमरीक सिंह की पुत्री रूचि सिंह उप आबकारी व कर दाता आयुक्त संजीव राठी की पत्नी रूचि राठी, एस.सी.एस. अधिकारी, आर.सी शर्मा की भतीजी ममता शर्मा पुर्व अधिकारी एम एस पातड की पुत्री श्रुती पातड काग्रेस विधायक आनन्द सिंह डागी के नजदीक किताब सिंह के पुत्र जगदीप सिंह के नाम सूची में जारी हुए है। उससे आम नौजवान का भरोसा इस सरकार से हट गया है। सन्दीप राणा ने बताया कि जब मुख्यमन्त्री के रिष्तेदार ही इन सूचियो में आएगें तो जो माता पिता अपना घर, दुकान, जमीन गिरवी रखकर अपने बच्चो को षिक्षित करते है तथा सोचते है कि उनका बच्चा पढ़ लिख कर एच.सी.एस. बनेगा उस भोली भाली जनता के साथ छलावा करने का कुकृत्य इस काग्रेस सरकार ने किया है। जिन इनेलो नेताओ के कार्यकाल में सरकार ने मेरिट के आधार पर 3206 घरो के दीप रोजगार देकर जलाए थे जिनमें 152 नौजवान केवल अम्बाला जिले के थे। उन नेताओं को जेल में डालने का काम किया है हालांकि उनका अपना कोई रिश्तेदार भर्ती नहीं हुआ था।

आज आम लोगों के उपर तानाशाही की जा रही है। विपक्ष मेें बोलने पर जेल में भेज दिया जाता है। सन्दीप राणा ने बताया कि कल एक मीडिया कर्मी द्वारा जब यह सवाल मुख्यमन्त्री से पूछा गया कि एच.सी.एस. भर्ती में उनके रिश्तेदार के नाम है तथा मन्त्रीमण्डल के लोगो के रिष्तेदारो के नाम है तथा मुख्यमन्त्री द्वारा मीडिया के साथियो से बदसलूकी करने का कार्य किया गया सन्दीप राणा ने बताया कि नैतिकता के आधारा पर मुख्यमन्त्री को मीडिया से क्षमा मागंनी चाहिए तथा युवा इनेलो मांग करती है कि एक जांच कमेटी बनाई जानी चाहिए जिसमें वरिष्ठ जजों को शामिल किया जाना चाहिए जो कानून के ज्ञाता हो। जिससे हरियाणा में हो रही भर्तीयों का दूध का दूध एंव पानी का पानी जनता के सामने आ सके। युवा ने युवा इनेलो जिन्दबाद के नारे लगाये तथा कहा कि बाहरी विधायक एवं सांसद शैलजा को जल्दी ही समय आने पर जनता अम्बाला से भगाने का काम करेगी। इस दौरान राजेष शर्मा, सन्दीप शेरगड़, लक्की, रविन्द्र, मुकेष, प्रिंस, हरजिन्द्र सिंह एडवोकेट, विक्रम दूबली, संजीव धुरखड़ा, प्रदीप वर्मा, गुरषेर नग्गल, राजन छोटी घेल, गौरव, दिनेष, इन्द्र आदि गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।  

कांग्रेस सरकार अब सिर्फ चन्द दिनों की मेहमान- चौ परमिंदर सिंह ढुल

जुलाना, 14 दिसम्बर: देश के चार राज्यों में हाल ही में सम्पन्न हुए विधानसभा चुनावों पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए जुलाना हल्के के विधायक चौ परमिंदर सिंह ढुल ने कहा कि जनता का रूख साफ़ है कि कांग्रेस अपनी भ्रष्टाचारी नीतियों कि वजह से पूरे देश में से सत्ता से बाहर होगी। लोकशाही में जनादेश ही सर्वोपरी होता है और जनता का आदेश साफ है कि कांग्रेस को भगाना है। अहँकार में डूबी निकम्मी कांग्रेस को दिल्ली में अपनी छिनभिन्न होती सल्तनत के चिराग़ तले अंधेरा पाकर अब विनम्रता का सबक याद आने लगा है। मगर अब पूरे देश की जनता के सब्र का बांध टूट चुका है। देश और प्रदेश को आर्थिक रूप से खोखला कर चुकी कांग्रेस अब सिर्फ चन्द ही दिनों कि मेहमान है।
इनेलो विधायक ढुल शनिवार को जुलाना में इनेलो की बैठक में कार्यकर्ताओं को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जुलाना हल्के को वर्तमान कांग्रेस शासन ने भेदभाव का रवैया अपनाते हुए विकास के पटड़ी पर से दूर हटा दरकिनार किया है। नौकरियों से लेकर सम्पूर्ण आधारिक संरचना रचने तक एवं खेत खलिहानों से लेकर सडक़ों तक सब कुछ में भेदभाव साफ नजर आता है। यही नहीं कांग्रेस ने न सिर्फ पंचायतों के अधिकारों का हनन किया है बल्कि उन्हें अपनी जागीर भी बनाने कि पूरी कोशिश कि है। हल्के के प्रति इस सरकारी पक्षपात को सिर्फ इनेलो सरकार ही दूर कर सकती है। प्रदेश में सिर्फ इनैलो ही जनप्रिय शासन दे सकती है। आज पूरा प्रदेश एकबार फिर जननायक चौधरी देवीलाल के दिखाये रास्ते पर चलने को उत्साहित है।
उन्होंने कहा कि प्रजा केंद्रित विकास ही लोकतांत्रिक सुशासन का आधार है। इतिहास साक्षी है कि जब.जब जन.सामान्य को विकास का केंद्र एवं साझेदार बनाया गयाए तब-तब उस राज्य ने सफलता और समृद्धि की ऊँचाइयों को छुआ है। लोकशक्ति की भागीदारी के बिना किसी भी राज्य ने प्रगति नहीं हो सकती। लोकतान्त्रिक व्यवस्था बनाये रखने के लिए विपक्ष की सक्रिय भागीदारी आवश्यक होती है। आज की कांग्रेस सरकार ने विपक्ष के समस्त अधिकार छीन कर तानाशाही व्यवस्था कायम करने का काम किया है। विधायक ने कहा कि इस तानाशाही व्यवस्था को बदलना हरियाणा राज्य के सम्पूर्ण विकास के लिए आवश्यक है। हरियाणा में इस सरकार का विकल्प देने में केवल इनेलो सक्षम है। आने वाला राज इनेलो का होगा जहाँ एक समान विकास की समूचे हरियाणा में लहर चलेगी।
उन्होंने पिछले एक महीने में इनेलो कि दोनों प्रदेशव्यापी रैलीयों में जुलाना के कार्यकर्ताओं कि अहम भागीदारी निभाने पर सभी कार्यकर्ताओं का धन्यवाद किया। रोहतक में हुए छात्र सम्मेलन में नेत्रदान का रिकॉर्ड स्थापित करने पर उन्होंने छात्र तथा युवा शक्ति का विशेष रूप से पार्टी कि तरफ से आभार प्रकट किया। निश्चित तौर पर छात्र तथा युवा शक्ति प्रदेश में व्यवस्था परिवर्तन करने में और हरे झण्डे को और ऊंचाइयों तक लेकर जाने में एक सक्रिय भूमिका निभाएंगे। पार्टी के आगामी कार्यक्रमों के बारे में बताते हुए उन्होंने कार्यकर्ताओं से 16 दिसंबर को जीन्द में होने वाले शहीदी समारोह को सफल बनाने कि अपील भी करी। समारोह में खेलरत्न श्री अभय चौटाला जी शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे। 

इस बैठक में प्रताप लाठरए राजबाला नम्बरदारनी, पण्डित विश्वनाथए जसबीर ढुलए महेन्द्र सिंगलाए जागे राम मलिकए मौजी खानए जगबीर मलिकए मुकेश नैनए नरेश भनवालाए टहल सिंहए पण्डित प्रेमचन्द पटवारीए दिलबाग फौजीए संजय लाठरए जगदीप बुआनाए चंदरभान ईगराहए रामकुमार मलिकए भुपिंदर नायकए महेन्द्र जांगड़ाए सुभाष सैनीए सुमित्रा देवीए गंगा सिंह पार्षदए बिजेंद्र खांडेवालाए रामेश्वरए सूबेदार रामकुमार यादवए सत्यवान खटकड़ए होशियार सिंहए बलबीर सिवाहा समेत अनेकों वरिष्ठ कार्यकर्ता मौजूद रहे।

हरियाणा में इस बार कांग्रेस का खाता भी नहीं खुल पाएगा - दुष्यंत चौटाला

चंडीगढ़, 14 दिसम्बर: युवा इनेलो नेता दुष्यंत चौटाला ने हुड्डा सरकार द्वारा एचसीएस व अन्य पदों पर मुख्यमंत्री के करीबी रिश्तेदारों, सरकार में बैठे प्रभावशाली लोगों, मंत्रियों, विधायकों व मुख्यमंत्री के विश्वासपात्र अधिकारियों के बेटे-बेटियों और रिश्तेदारों को लगाए जाने की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए इस मामले की उच्चस्तरीय न्यायिक जांच करवाए जाने और इस भर्ती घोटाले के लिए दोषी अधिकारियों व राजनेताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

युवा इनेलो नेता ने अम्बाला में पत्रकारों द्वारा मुख्यमंत्री से एचसीएस भर्ती को लेकर पूछे गए सवाल पर मुख्यमंत्री द्वारा बौखलाहट दिखाना और पत्रकारों पर भडक़ते हुए उन्हें धमकाने के प्रयास की इनेलो कड़े शब्दों में निंदा करती है और मुख्यमंत्री से मांग करती है कि वे पत्रकारों से सार्वजनिक मांफी मांगते हुए अपने कहे गए अशोभनीय शब्द वापिस ले। युवा इनेलो नेता ने कहा कि चार राज्यों में कांग्रेस की शर्मनाक पराजय के बाद अब यह बात पूरी तरह साफ हो गई है कि हरियाणा में इस बार कांग्रेस का खाता भी नहीं खुल पाएगा और इनेलो रिकॉर्ड तोड़ मतों से विजय हासिल कर प्रदेश में सरकार बनाएगी। इसी को लेकर आजकल हुड्डा पूरी तरह बौखला चुके हैं और जगह-जगह पत्रकारों को न सिर्फ धमकियां देते घूम रहे हैं बल्कि उनके दुमछल्ले भी पत्रकारों को धमकाने और अपनी सम्भावित हार को देखकर अनापशनाप बयानबाजी करने में लगे हुए हैं।
श्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मुख्यमंत्री एक तरफ कहते हैं कि इन भर्तियों में उनका व सरकार का कोई रिश्तेदार अथवा प्रभावशाली प्रत्याशी भर्ती नहीं हुआ है और भर्ती में कोई घोटाला भी नहीं किया गया है तो फिर मुख्यमंत्री इसकी जांच से क्यों भाग रहे हैं? इनेलो नेता ने कहा कि हुड्डा सरकार ने पिछले नौ सालों से नौकरियों के नाम पर प्रदेश के युवाओं के साथ भारी धोखाधड़ी की है और अब सरकार से जाते-जाते पैसों के बलबूते अपने चहेतों को और नौकरियां देने का जो आडम्बर कर रहे हैं उसे किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। युवा इनेलो नेता ने कहा कि आज प्रदेश का युवा इस मामले में जागरूक हो चुका है और अगले चुनाव में हुड्डा सरकार को इस धोखाधड़ी का करारा सबक सिखाने का मन बनाए हुए है। 
युवा इनेलो नेता ने कहा कि एक तरफ कांग्रेस व सीबीआई ने उन इनेलो नेताओं को साजिश रचकर जेल भिजवाया जिन्होंने प्रदेश के सभी जिलों से मैरिट के आधार पर राज्य के 3206 युवकों को नौकरी दी जिनमें इनेलो नेताओं का न तो कोई रिश्तेदार था और न ही उनके परिवार अथवा गांव से कोई व्यक्ति था। दूसरी तरफ आज सरेआम नौकरियां नीलाम हो रही हैं और प्रदेश के योग्य एवं मैरिट में आने वाले युवकों की अनदेखी कर सिर्फ उन्हीं लोगों को नौकरियां दी जा रही हैं जिनके पारिवारिक सदस्य एवं रिश्तेदार सरकार में किन्हीं बड़े पदों पर हैं अथवा पैसों के बदले नौकरियां बेची जा रही हैं। 

श्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हुड्डा सरकार के परिवहन मंत्री ओमप्रकाश जैन व मुख्य संसदीय सचिव जिले राम शर्मा पर नौकरियों के नाम पर पैसे लेने के आरोप न सिर्फ सिद्ध हो चुके हैं बल्कि उन पर कम्बोपुरा के पूर्व सरपंच कर्म सिंह द्वारा नौकरी न लगने पर दिए गए पैसे वापिस मांगने पर उसकी हत्या करवाने के भी आरोप हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार के ज्यादातर मंत्री, विधायक व सीपीएस सरेआम सीएलयू के नाम पर करोड़ों रुपए की सौदेबाजी करते हुए सीडीज जारी हो चुकी हैं लेकिन सरकार ने उनके खिलाफ कोई कार्रवाई करने की बजाय इन घोटालों पर पर्दा डालने का प्रयास किया। इनेलो नेता ने कहा कि मौजूदा सरकार सिर्फ भू-माफिया के हाथों की कठपुतली सरकार है और नौकरियों के नाम पर हो रही धांधली को युवा सहन न करते हुए हुड्डा सरकार को अगले चुनाव में करारा सबक सिखाएंगे।

Friday, December 13, 2013

चार राज्यों में कांग्रेस की हार से बौखलाए हरियाणा के मुख्यमंत्री हुड्डा : लबाना

अम्बाला शहर, 13 दिसम्बर  : चार राज्यों में कांग्रेस की हार से हरियाणा के मुख्यमंत्री हुड्डा बौखला गए हैं। यह शब्द इनैलो हरियाणा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मक्खन ङ्क्षसह लबाना व इनैलो के शहरी जिलासचिव नीरज त्रिखा ने जारी संयुक्त वक्तव्य में कहे। 
उन्होंने कहा कि यदि ऐसा न होता तो आज अम्बाला में फूल चंद मुलाना के निवास पर पत्रकारों द्वारा पूछे गए प्रश्नों के उत्तर देते समय मुख्यमंत्री पत्रकारों से बदसलूकी न करते। उन्होंने इस घटना की घोर निंदा की तथा कहा कि मुख्यमंत्री को पत्रकारों से किए गए इस व्यवहार की माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार मुख्यमंत्री ने यह व्यवहार किया है उससे तो यही लगता है कि वो बुरी तरह बौखला चुके हैं। उत्तर प्रदेश, पंजाब, राज्यस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ व दिल्ली में हुए पिछले चुनावों में जिस प्रकार कांग्रेस को जनता ने ठुकराया है उसी प्रकार हरियाणा में भी कांग्रेस की बहुत बुरी दुर्दशा होगी और शायद कांगे्रस  आने वाले विधानसभा चुनावों में 5 सीटें भी न जीत पाएं। 
एच.सी.एस. भर्ती में हुए घोटाले को लेकर भाई-भतीजा विवाद को लेकर इनैलो नेता ने कहा कि जिस प्रकार इस जाती हुई सरकार ने एच.सी.एस. में भर्ती करते समय योग्य पात्रों को नजरअंदाज किया। लिखित परीक्षा में टॉपर रहने वाले पात्रों को इंटरव्यू में बिल्कुल कम नं. देकर और अपने चहेतों को इंटरव्यू में बहुत ज्यादा नं. देकर एच.सी.एस. में भर्ती का काम किया है। यह बहुत बड़ा घोटाला है निनंदनीय है। राज्य पाल महोदय को स्वयं इस पर कार्रवाई करनी चाहिए और इसकी जांच किसी हाई कोर्ट के जज से करवानी चाहिए। दोनों नेताओं ने कांग्रेस द्वारा लगाए गए प्रॉपर्टी टैक्स की निंदा की। उन्होंने कहा कि प्रॉपर्टी टैक्स लगाकर कांग्रेस सरकार ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में प्रदेश की जनता के साथ जो वायदा किया था और उसी वायदे के कारण चुनाव जीती थी। उस वायदे से मुकर कर कांगे्रस ने प्रदेश की जनता के साथ धोखा किया है। जनता आने वाले चुनावों में कांग्रेस से वायदे से मुकरने का जरूर बदला लेगी। 



दुष्यंत चौटाला ने अन्ना को सौंपा इनेलो का समर्थन पत्र

चंडीगढ़, 13 दिसम्बर: इनेलो ने जनलोकपाल बिल का समर्थन करते हुए रालेगण सिद्धि में अनशन पर बैठे अन्ना हजारे को पत्र लिखकर पार्टी की ओर से इस संबंध में पूर्ण समर्थन दिए जाने की घोषणा की है।
अन्ना हजारे को इंडियन नेशनल लोक दल का सन्देश देते हुए भाई दुष्यंत चौटाला 
 इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा की ओर से अन्ना हजारे को लिखे पत्र को युवा इनेलो नेता दुष्यंत चौटाला ने शुक्रवार को खुद रालेगण सिद्धि जाकर अन्ना हजारे को सौंपा। पत्र में इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि इस समय सरकार किस प्रकार सीबीआई का दुरुपयोग कर अपने विरोधियों का उत्पीडऩ करती है उसे इनेलो से बेहतर कोई नहीं समझ सकता। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के तीन शीर्ष नेता सरकार व सीबीआई के षड्यंत्र का शिकार हैं।

अन्ना को समर्थन पत्र पढ़ कर सुनाते हुए उनके सहयोगी
इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि इसके बावजूद इनेलो की पूरी आस्था भारतीय न्यायपालिका में है और उसे पूरा विश्वास है कि अंत में सच्चाई की जीत होगी और इनेलो के नेता सभी आरोपों से मुक्त होंगे। इनेलो ने अन्ना हजारे को लिखे अपने पत्र में यह भी कहा कि इस अवसर पर इनेलो उनके माध्यम से देश की जनता के समक्ष यह वचन देती है कि जब तक उनके नेताओं को न्यायपालिका से न्याय नहीं मिल जाता तब तक वह चुनावी प्रक्रिया में भाग नहीं लेंगे। इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने अन्ना हजारे को लिख पत्र में याद दिलाया कि करीब सवा दो साल पहले 21 सितम्बर, 2011 को उनके द्वारा देश हित में जनलोकपाल बिल को कानून बनाने के संदर्भ में इनेलो द्वारा सर्वसम्मति से पारित एक प्रस्ताव की प्रति भेजी गई थी। उससे पहले भी इनेलो के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ओमप्रकाश चौटाला द्वारा स्वयं उनके आंदोलन के दौरान उन्हें समर्थन दिया था। हरियाणा की विधानसभा में भी इनेलो द्वारा जनलोकपाल बिल पर विचार करने का प्रयास किया गया था किन्तु सत्तापक्ष द्वारा इनेलो के सभी सदस्यों को विधानसभा के समूचे सत्र से ही निलम्बित कर दिया गया था।
इनेलो ने अन्ना हजारे को लिखे पत्र में यह भी कहा गया कि किस तरह कांग्रेस और यूपीए सरकार ने जनलोकपाल बिल को शब्दों के आडम्बर से ढककर जनता की आंखों में धूल झोंकने का प्रयास किया गया था। इसी के चलते एक बार फिर उन्हें (अन्ना हजारे को) आमरण व्रत करने की जरूरत पड़ रही है। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में इनेलो का यह मानना है कि आपका  (अन्ना हजारे) यह मत कि लोकपाल के पास जांच के पूरे अधिकार होने चाहिए बिल्कुल उचित है।
 इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष ने अपने पत्र में यह भी उम्मीद जताई कि उन्हें व उनकी पार्टी को पूरी उम्मीद है कि आप (अन्ना हजारे) अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में निश्चित तौर पर सफल होंगे। युवा इनेलो नेता दुष्यंत चौटाला ने निजी रूप से आमरन व्रत पर बैठे अन्ना हजारे को रालेगण सिद्धि में शुक्रवार दोपहर को पार्टी का समर्थन पत्र सौंपा और उन्हें पार्टी की भावनाओं से अवगत करवाया। युवा इनेलो नेता दुष्यंत चौटाला ने आमरन अनशन पर बैठे अन्ना हजारे को चि_ी सौंपने के साथ अपनी पार्टी की भावनाओं से अवगत करवाया और अन्ना हजारे ने हाथ उठाकर उनका अभिवादन स्वीकार किया और चि_ी को ध्यान से पढा। 



भाई दुष्यंत चौटाला श्री अन्ना हजारे से मिलते हुए 
भाई दुष्यंत चौटाला जन लोकपाल के लिए इंडियन नेशनल लोक दल का समर्थन जताते हुए 

भाई दुष्यंत चौटाला श्री अन्ना हजारे से उनके स्वास्थ्य पर बात करते हुए 


श्री अन्ना हजारे को  दिए गये समर्थन पत्र की कॉपी 

इनेलो पार्टी का संगठन सबसे मजबूत - अशोक अरोड़ा

13 Dec. 2013 आदमपुर,  इंडियन नेशनल लोकदल के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि चुनाव के समय पर बूथ पर डयूटी देने वाले कार्यकर्ताओं की पार्टी में अहम भूमिका है। बूथ पर तैनात कार्यकर्ता न केवल चुनाव को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं बल्कि उनकी इमानदारी से निभाई गई डयूटी से मतदाताओं का मनोबल भी उंचा रहता है।
उन्होंने कहा कि इनेलो पार्टी का संगठन सबसे मजबूत है और इसमें कार्यकर्ता को पूरा मान-समान मिलता है। उन्होंने कहा कि युवा विंग के पदाधिकारियों ने एक बूथ दस यूथ की ईकाइयों का गठन कर पार्टी को और अधिक मजबूत करने का काम किया है। अशोक अरोड़ा शुक्रवार को शगुन मैरिज पैलेस में आयोजित कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर में कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित करने के दौरान संबोधित कर रहे थे। 
्रपदेशाध्यक्ष ने कहा कि चुनाव के समय कार्यकर्ताओं को अपने हलके में और चुनाव के दिन अपने बूथ पर पूरी शिद्दत और दायित्व के साथ काम करना होगा। उन्होंने कहा कि इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला, अजय चौटाला, शेर सिंह बढशामी आदि इनेलो नेताओं को कांग्रेस व सीबीआई द्वारा एक षडयंत्र के तहत फंसाया गया ताकि इनेलो का संगठन कमजोर हो। लेकिन इसके बावजूद भी कार्यकर्ताओं ने और हिम्मत व जिम्मेदारी से काम करते हुए संगठन को मजबूत करने का काम किया। उन्होंने कहा कि आने वाले चुनावों में  महिलाओं उचित प्रतिनिधित्व को देने का काम इनेलो करेगी। उन्होंने कि कांग्रेस की जनविरोधी नीतियों से आम आदमी तो त्रस्त है ही साथ ही उनकी पार्टी के लोग भी दुखी हैं जो कांग्रेस छोड़कर इनेलो में शामिल हो रहे हैं। 
इस अवसर पर पार्टी के वरिष्ठ नेता व विधायक रामपाल माजरा ने कहा कि महंगाई, भ्रष्टाचार व कानून की अव्यवस्था को देखते हुए जनता कांग्रेस सरकार से पिछा छुड़वाना चाहती है। जिसका नतीजा राज्यों में हुए चुनाव में सामने आ गया।आने वाले चुनाव में हरियाणा में इनेलो की सरकार होगी। दिल्ली में कांग्रेस से पिछा छुटवाने के लिए लोगों के पास भाजपा व आप पार्टी ही एक विकल्प था।
उन्होंने कहा कि किसी जगह पर भी राजनीतिक दलों के संगठन की जाती है तो सबसे ज्यादा मजबूत दल इनेलो पार्टी को माना जाता है। उन्होंने कहा कि इनेलो के कार्यकर्ता बेहद संघर्षशील, जुझारू व समर्पित हैं। उन्होंने हरियाणा के मुख्यमंत्री पर निशाना साधा और कहा कि 10 नवम्बर को गोहाना में हुई हरियाणा शक्ति रैली को मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुडडा द्वारा किए जाने का मेन उद्देश्य यह था कि वो यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी को दिखाना चाहते थे कि पार्टी में उनके खिलाफ कोई बगावत करे लेकिन हरियाणा की जनता उनके साथ है। उन्होंने कहा कि रैली में लोगो को लाने के लिए जिस प्रकार के हथकंडे प्रयोग किए गए है वो पहले कभी किसी पार्टी व किसी नेता द्वारा प्रयोग नही किए गए। इनेलो के वरिष्ठ नेता ने कहा कि कांग्रेस सरकार के राज में  कानून व्यवस्था, महंगाई, भ्रष्टचार, बेरोजगारी, लूटपाट व अनेकों प्रकार की वारदात आए दिन बड़ी जा रही है।
चौटाला ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के इस बात को सोच कर पसीने छुटते है कि अगर इनेलो सुप्रीमो बाहर आ गए तो क्या होगा। उन्होंने कहा कि 16 जनवरी को कांग्रेस के नेताओं ने एक षडयंत्र के साथ चौ. ओमप्रकाश चौटाला को सलाखों के पीछे डालने का काम किया था। शिविर में इनेलो कार्याकर्ताओं को पहचान पत्र बांटे गए। इस अवसर पर राज्यसभा सांसद रणबीर सिंह प्रजापति, जिला प्रधान उमेद लोहान, शीला भ्याण, राजेश गोदारा, रमेश गाोदारा, यशपाल गोदारा, सिद्धार्थ गोदारा, नत्रसिंह मल्हान, रणपत राम नूनिया, बहादुर सिंह नायक, जिला प्रवक्ता मनदीप बिश्रोई, श्रवण बिश्रोईं, भागीरथ नंबरदार,सुभाष अग्रवाल, अशोक यादव, कृष्णा भाटी, नरसी भाटी, सुभाष जाणी, जगदीश टाडा, ओमप्रकाश भादू, मांगेराम सिंगला, मदन लाडवी, प्यारेलाल बिश्रोई, बलजीत कुल्हडिय़ा वजीर ङ्क्षसंह खेरमपुर, भरत सिंह बैनिवाल, नरेंद्र नूनिया, रमेश बेरवाल, सुरजीत ज्याणी, इंद्रपाल लंबोरिया, बलराज बैनिवाल, रमेश चुघ सहित बूथ स्तर के कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

हम देशभक्त सैनिकों की बदौलत ही सुख की सांस ले रहे हैं - दिग्विजय सिंह चौटाला

13 Dec. हिसार, संसद पर हुए आतंकवादी हमले में शहीदों को याद करते हुए इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने टाउन पार्क स्थित शहीद स्मारक स्थल पर पुष्पाजंलि अर्पित कर श्रद्धाजंलि दी। उनके साथ इनलो के अन्य नेताओं ने भी पुष्पमाला अर्पित कर शहीदों को याद किया। 

इस अवसर पर दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि देश के सुरमाओं ने अपनी जान की बाजी खेल कर देश की संम्प्रभुता पर हुए हमले का न केवल नेस्तनाबूद कर दिया। उन्होंने कहा कि आज हम देशभक्त सैनिकों की बदौलत ही सुख की सांस ले रहे हैं। सैनिक न केवल हमारे देश की सीमाओं की रक्षा कर रहे हैं बल्कि देश में हुए आतंकी हमलों को नाकाम कर जनता की जान बचाई है। उन्होंने कहा कि मैं शहीद सैनिकों के साथ साथ देश के सैनिकों को सलाम करता हूं। इस अवसर पर इनेलो के वरिष्ठ युवा नेता मुकेश सेठी, मनोहर राजपाल, अजमेर ढांडा, सुदेश चौधरी, कमल हांडा, रवि आहुजा, मुकेश सैनी, जिला प्रवक्ता मनदीप बिश्रोई, हर्ष बामल, विकास कालीरावणा, अशोक मलिक, प्रवीण नैन, जरनैल सिंह, रमेश चुघ, अमित सैनी, नितिन पपनेजा, सोनू खुराना, मानित चुघ, प्रमोद मोदी, अजय डावर, शगुन भारद्वाज, पंकज सैनी, रामचंद्र बैनिवाल, पंकज सैनी, सजल जैन, राजेंद्र बिश्रोई, दिलबाग जाखड़, राजेंद्र राड़ा, संजय बिश्रोई सहित पाटी्र्र के अन्य लोग उपस्थित थे। 

Thursday, December 12, 2013

सभी घोटालों की उच्च स्तरीय निष्पक्ष जांच हो - रामपाल माजरा

चंडीगढ़, 12 दिसम्बर: इनेलो ने हरियाणा के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अशोक खेमका द्वारा किसानों को दिये जाने वाले सब्सिडी वाले गेहूं में हरियाणा बीज विकास निगम के कुछ अधिकारियों द्वारा किए गए घोटाले को अहम् मामला बताते हुए खेमका द्वारा अब तक उजागर किए गए सभी घोटालों की उच्च स्तरीय निष्पक्ष जांच करवाए जाने की मांग की है। इनेलो के कलायत से विधायक एवं पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रामपाल माजरा ने कहा कि अशोक खेमका ने हारट्रोन में एमडी रहते हुए वहां हो रहे अरबों रुपए के घोटालों का मामला उठाया था लेकिन सरकार ने इन घोटालों की जांच करवाने की बजाय खेमका को ही वहां से बदल दिया।

इनेलो नेता ने कहा कि खेमका ने डीएलएफ-वाड्रा डील सहित हरियाणा में हुए साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए के घोटालों को भी उजागर करते हुए मुख्य सचिव को पत्र लिखा था लेकिन सरकार ने इन घोटालों की जांच करवाने की बजाय इस पर पर्दा डालने के लिए खेमका को ही चार्जशीट थमा दी। इनेलो नेता ने कहा कि इससे ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण बात और क्या होगी कि सरकार खेमका द्वारा उजागर किए गए घोटालों की जांच तो करवा नहीं रही बल्कि उन घोटालों पर पर्दा डालने के लिए आए दिन ईमानदारी आईएएस अधिकारी अशोक खेमका को ही प्रताडि़त किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इससे साफ है कि इन घोटालों में प्रदेश के मुख्यमंत्री से लेकर कांग्रेस के आला नेता स्वयं संलिप्त हैं इसलिए घोटालों पर निरंतर पर्दा डाला जा रहा है। 
श्री माजरा ने कहा कि वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अशोक खेमका ने हरियाणा के सरकारी संस्थान हरट्रोन में प्रबंध निदेशक के पद पर रहते हुए वहां हो रहे घोटालों की ओर सरकार का ध्यान दिलाया था। खेमका ने मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव एवं प्रदेश के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर बताया था कि किस तरह हरट्रोन में अरबों रुपए के घोटाले हो रहे हैं और हरट्रोन दलालों का अड्डा बनकर रह गया है। सूचना प्रौद्योगिकी से जुड़ा हुआ यह सरकारी संस्थान हरट्रोन सीधे तौर पर मुख्यमंत्री के अधीन आता है। चाहिए तो यह था कि इतने बड़े स्तर पर घोटाले उजागर होने के बाद प्रदेश सरकार व मुख्यमंत्री इन घोटालों की जांच करवाते और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करते, लेकिन यहां घोटालों की जांच करवाने की बजाय इस पर पर्दा डालने के लिए मुख्यमंत्री ने अशोक खेमका को ही हरट्रोन से बदल दिया। 
कलायत के विधायक ने कहा कि हरियाणा में हो रहे सीएलयू व लाइसेंस के नाम पर भूमि घोटालों को भी न सिर्फ खेमका ने उजागर किया था बल्कि राबर्ट वाड्रा-डीएलएफ डील सहित हरियाणा में हुए सीएलयू, भूमि अधिग्रहण, लाइसेंस व भूमि सौदों में करीब साढे तीन लाख करोड़ रुपए का घोटाला होने संबंधी मामला उजागर करते हुए प्रदेश के मुख्य सचिव को 105 पेज का एक पत्र भी लिखा था और उसके साथ सारे सबूत भी नत्थी किए गए थे। इनेलो नेता ने कहा कि यह मामला क्योंकि बहुत ही गम्भीर था और घोटालों में मुख्यमंत्री से लेकर कांग्रेस अध्यक्षा के दामाद तक कठघरे में आ रहे थे इसलिए मामले की जांच करवाने की बजाय न सिर्फ रातोंरात अशोक खेमका को वहां से बदल दिया बल्कि अब इसी मामले में खेमका को चार्जशीट भी थमाई गई है।  उन्होंने कहा कि खेमका की गैर हाजिरी में देर रात उनके नाबालिग बेटे को चार्जशीट दिए जाना सरकार की नीयत और मंशा पर भी सवाल उठाता है। उन्होंने कहा कि जब तक सरकार इन सभी भूमि घोटालों की जांच सर्वोच्च न्यायालय अथवा हाईकोर्ट के किसी कार्यरत न्यायाधीश से नहीं करवाती तब तक सच्चाई कैसे सामने आ सकती है? उन्होंने कहा कि अगर मुख्यमंत्री व कांग्रेस में जरा सी भी नैतिकता है तो वे तुरंत हरियाणा के सभी भूमि घोटालों सहित खेमका द्वारा उठाए गए सभी घोटालों की निष्पक्ष जांच किसी कार्यरत न्यायाधीश को सौंपे ताकि प्रदेश की जनता को सच्चाई का पता चल सके। 
श्री माजरा ने कहा कि खेमका द्वारा उठाया गया ताजा मामला हरियाणा बीज विकास निगम द्वारा गेहूं के बीच में हुए घोटाले को लेकर है। उन्होंने कहा कि इस घोटाले में यह बात सामने आईहै कि किसानों को दिया जाने वाला सब्सिडी वाला बीज कुछ व्यापारियों को बेच दिया गया जिससे किसानों को वही बीज बाद में व्यापारियों से महंगे दामों में खरीदना पड़ा। उन्होंने कहा कि इससे एक तरफ जहां किसानों को नुकसान हुआ वहीं हरियाणा बीज विकास निगम को भी नुकसान उठाना पड़ा। उन्होंने कहा कि हुड्डा सरकार घपलों, घोटालों एवं भ्रष्टाचार की सूचक बन गई है और मुख्यमंत्री से लेकर कांग्रेस में बैठे सभी मंत्री, विधायक व सांसद दोनों हाथों से प्रदेश को लूटने में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ये मान लिया है कि इस बार चुनावों में न सिर्फ कांग्रेस की हार तय है बल्कि इनेलो का सत्ता में आना निश्चित है। इसीलिए रात को सपने में भी कांग्रेसी नेताओं  को न सिर्फ इनेलो प्रमुख नजर आते हैं बल्कि कांग्रेस ने अपनी सम्भावित हार को देखकर अभी से हार का ठिकरा एक-दूसरे पर फोड़ाना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस के चंडीगढ़ कार्यालय में बुधवार को कांग्रेसी नेताओं के बीच हुआ जूतमपजार इसी का नतीजा था।