Friday, May 25, 2018

सोहना अग्निकांड में मृतक के घर पहुँच कर अभय चौटाला ने शोक व्यक्त किया 


शुक्रवार को नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला दो सप्ताह पूर्व सोहना में अग्निकांड में स्व. नेन सिंह बघेल के निधन पर परिवार के बीच शोक प्रकट करने पंहुचे। उन्होंनें पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया। चौ. अभय चौटाला गांव ईंडरी पंहुचनें से पहले सोहना में व्यवसायी रवि मदान की धर्मपत्नी के निधन पर शोक प्रकट करने उनके घर पंहुचे। आपको बता दें इसी भीषण आग से रवि मदान की धर्मपत्नी व ईंडरी निवासी नेन सिंह बघेल की जलकर मौत हो गई थी। 
ईंडरी में डाॅक्टरों की लापरवाही से शहीद हुए स्व. अमित व स्व. भागमल के निधन पर भी शोक प्रकट करने उनके परिवार के बीच भी पंहुचे। पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत, इनेलो विधायक चौ0 ज़ाकिर हुसैन, किशोर यादव, जिलाध्यक्ष मास्टर बदरूद्दीन, बसपा जिलाध्यक्ष चरण सिंह आदि ने भी उनके साथ शोक प्रकट कर पीड़ित परिवारों को ढांढस बंधाया। 
चौ. अभय सिंह चौटाला ने कहा कि इनेलो प्रदेश के लोगों की आवाज है, जो सभी के सुख-दुःख में हमेशा साथ खड़ी है। उन्होंनें कहा कि बड़े अफसोस की बात है भाजपा सरकार में फायर ब्रिगेड  जैसी सुविधाएं तक काम नहीं कर रही हैं। भाजपा सरकार पूरी तरह से फैल हो चुकी है। उल्लेखनीय है कि दो सप्ताह पूर्व सोहना में एक व्यवसायी रवि मदान के घर भीषण आग लगी थी जिसमें रवि मदान की पत्नि व नेन सिंह बघेल ईंडरी की आग से जलकर मौत हो गई। फायर ब्रिगेड सोहना की लापरवाही से उस आग पर काबू नहीं पाया जा सका, जिससे जान-माल का भारी नुकसान हुआ। उन्होंनें कहा कि सरकार पीड़ित परिवार को मुआवजा दे तथा इसकी जांच कराए।
अभय चौटाला के नेतृत्व में जल संघर्ष युद्ध में इनेलो बसपा कार्यकर्ताओं ने पलवल में दीं गिरफ्तारियां
  

पलवल, 25 मई : एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में आज इनेला-बसपा के 5100 कार्यकर्ताओं ने पलवल में गिरफ्तारियां दी। जलयुद्ध के लिए चल रहे जेल भरो आंदोलन का नेतृत्व नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला, बसपा प्रदेश प्रभारी राजबीर सिंह और हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने किया। उनके नेतृत्व में सचिवालय का घेराव कर इनेलो-बसपा नेता व कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारियां दी। गिरफ्तारी देने वालों में अभय सिंह चौटाला, राजबीर सिंह, पूर्व स्पीकर गोपीचंद गहलोत, सांसद दुष्यंत चौटाला, विधायक जाकिर हुसैन, विधायक परमेंद्र सिंह ढुल, विधायक केहर सिंह रावत, बसपा उपाध्यक्ष नरेंद्र प्रजापति, बसपा महासचिव कृष्ण जलालपुर, पूर्व विधायक कली राम पटवारी, रामफल कुंडू, सुभाष चौधरी, जगदीश नैयर, जिलाध्यक्ष अजीत बॉबी, बसपा जिलाध्यक्ष कमल देव गौतम सहित अनेक गठबंधन नेता शामिल थे। गिरफ्तारी से पूर्व नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि विधानसभा चुनाव 2014 के चुनावी घोषणा-पत्र में भाजपा ने वादा किया था वो एसवाईएल नहर का निर्माण करवाएगें लेकिन चार साल केंद्र के और साढ़े तीन साल के प्रदेश सरकार के बीत जाने के बाद भी भाजपा ने कोई चुनावी वादा पूरा नहीं किया। उन्होंने यह भी कहा कि तब तीसरे मोर्चे का गठन न होने की वजह से भाजपा को चुनना देश की जनता की मजबूरी बन गया था लेकिन अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी।


नेता विपक्ष ने  यह भी कहा कि प्रदेश के बटवारे के वक्त हुए समझौते के अनुसार हरियाणा को जो पानी मिलना चाहिए था वो आज तक नहीं मिला। उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश में पिछली सरकार कांग्रेस की थी जिन्होंने प्रदेश के हिस्से के पानी और एसवाईएल नहर कीे निर्माण के नाम पर केवल राजनीति की और भाजपा भी आज कांग्रेस के ही नक्शे कदम पर चल रही है। उन्होंने भाजपा पर एसवाईएल निर्माण को लेकर गंभीर न होने का भी आरोप लगाया। नेता विपक्ष ने केंद्र सरकार पर निशान साधते हुए कहा कि विदेशों में जमा काला धन लाकर हर देशवासी के खाते में 15-15 लाख रुपए डालने की बात करने वाले मोदी जी ने नोटबंदी कर माता-बहनों की बचत पर हमला कर उनकी छोटी-मोटी राशि को भी छीनने का काम किया है साथ ही उन्होंने प्रदेश सरकार पर भी वादाखिलाफी का आरोप लागाते हुए कहा कि भाजपा ने हर वर्ग को ठगा है युवाओं को दो लाख रोजगार हर साल देने की बात की थी लेकिन प्रदेश में युवा बेरोजगारी की मार झेल रहे हैं। इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेश के प्रभारी राजबीर सिंह ने कहा कि बसपा इनेलो के साथ मजबूती से खड़ी है और हर संघर्ष में कंधे से कंधा मिलाकर साथ देगी। उन्होंने  कहा कि बसपा चाहती है कि हरियाणा प्रदेश में किसान का बेटा मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाले और केंद्र में बहन मायावती जी प्रधानमंत्री की।

Thursday, May 24, 2018

इनेलो-बसपा जेल भरो आंदोलन में उमड़ी भीड़ ने बढ़ाई सरकार की चिंता- निशान सिंह


फतेहाबाद: इनेलो-बसपा के एसवाईएल मुद्दे पर गत दिवस जिला मुख्यालय पर हुए जेल भरो आंदोलन में उमड़ी भीड़ का दोनों दलों के नेताओं व पदाधिकारियों ने आभार जताया है। इनेलो किसान सैल प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह, बसपा प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, बसपा जिला प्रभारी बलवान भारखड़, डॉ मीरा नंदा, इनेलो जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों, विधायक बलवान दौलतपुरिया, प्रो रविन्द्र बलियाला, वरिष्ठ नेता मोलूराम रूहलानियां, कुलजीत कुलड़िया, हलकाध्यक्ष बिकर सिंह हड़ोली, भरत सिह परिहार व हरि सिंह मेहरिया ने इस बाबत जारी संयुक्त ब्यान में एसवाईएल मुद्दे पर जिला फतेहाबाद की अहम भागीदारी करार दिया। उन्होंने कहा कि जेल भरों आंदोलन में जिस तरीके से जिला भर से हजारों के महिला-पुरूषों की भीड़ पहुंची, उसने देश-प्रदेश में एक बड़े राजनीतिक बदलाव के संकेत दे दिए है। एसवाईएल मुद्दे पर इनेलो-बसपा के जेल भरो आंदोलन की अब तक की सफलता ने भाजपा सरकार की चिंता बढ़ा दी है और आंदोलन में कार्यकर्त्ताओं की उत्साहजन भागीदारी के साकारात्मक परिणाम जल्द मिलेंगे। दूसरी तरफ न्यायालय परिसर में इनेलो कानूनी प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष राजेश शर्मा व हलकाध्यक्ष भरतसिंह परिहार ने जेल भरो आंदोलन में भागीदारी करने वाले अधिवक्ताओं का आभार प्रकट किया। इस अवसर पर अधिवक्ता राजेश शर्मा, देवेन्द्र कसवां, सुमनलता सिवाच, जिले सिंह, इन्द्र सिहाग, भरत सिंह परिहार, राजीव गोदारा, सुरेश परोचा, देवेन्द्र भटटू, सुभाष भादु, विरेन्द्र जाखड्, रामेश्वर गिजरोईया, अनिल सक्सेना, कन्हैया लाल, विष्णू डेलू, विनोद पुनियां, मुकेश भटटू आदि उपस्थित थे।
प्रदेश में ब्लैक आउट जैसे हालात- दुष्यंत चौटाला

किसानों को 24 में से सिर्फ 5 घंटे बिजली देने के निगम के फैसले के खिलाफ दुष्यंत ने खोला मोर्चा 


हिसार: हरियाणा में बिजली को लेकर ब्लैकआउट जैसे हालात हो गए हैं। प्रदेश में किसानों को 24 घंटों में से सिर्फ पांच घंटे बिजली देने के फरमान जारी हो चुके हैं। सांसद दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश सरकार के इस फैसले के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सांसद ने सरकार के साथ साथ बिजली निगम को चेताया कि अगर एक सप्ताह के भीतर इस फैसले को नहीं पलटा तो, इनेलो किसानों के साथ मिलकर सरकार की नींद हराम कर देगी। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि सरकार एक ओर तो यह दावे कर रही है कि प्रदेश में बिजली सरप्लस है वहीं दूसरी ओर प्रदेश में ब्लैक आउट जैसे हालात हो गए हैं। एग्रीकल्चर फीडर पर जहां दो व तीन घंटे की कटौति के आदेश जारी हुए वहीं, ग्रामीण फीडरों पर डेढ़ घंटे की कटौति के आदेश बिजली निगम द्वारा दिए गए। सांसद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि बिजली निगम ने अपने आदेशों में कहा है कि ग्रामीण क्षेत्र के फीडरों में 13 घंटे की बजाय 11 घंटे 30 मिनट ही बिजली की सप्लाई की जाए यानि कि प्रदेश के गांवों में अब सिर्फ 24 घंटों में से 12 घंटे और 30 मिनट तो ब्लैक आउट जैसे रहेंगे, इसके अलावा अघोषित रूप से लगाए जाने वाले कट इस कटौति से अलग हैं। सांसद ने सरकार के इस फैसले पर कड़ा ऐतराज जताते हुए कहा कि 24 घंटे बिजली देने का दावा करने वाली भाजपा सरकार सिर्फ जुमलेबाजी ही कर लोगों को गुमराह करने पर तुली हुई है। दुष्यंत ने कहा कि असलियत यह है कि प्रदेश सरकार ने खेदड़ पावर प्लांट सहित पानीपत पावर प्लांट की कई यूनिट यह कह कर महीनों से बंद की हुई है कि प्रदेश में बिजली सरप्लस है। उन्होंने कहा कि गर्मी के मौसम में सूरज आग उगल रहा है और सरकार बिजली आपूर्ति के समुचित प्रबंध करने की बजाय बिजली आपूर्ति में कटौती कर अपने उत्तरदायित्व से भाग रही है। गर्मी के कारण बिजली की आपूति न होने के कारण आम लोगों का भी जीना मुहाल हो गया है वहीं औद्योगिक उत्पादन भी प्रभावित हो रहा है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहरी क्षेत्र में भी अघोषित रूप से घंटों बिजली के कट लग रहे हैं। इनेलो सांसद ने कहा कि यदि सरकार ने बिजली आपूर्ति के समुचित प्रबंध नहीं किए तो इनेलो आम जनता के साथ मिलकर इसका विरोध करेगी। 
प्यासे हरियाणा को भाजपा नहीं दिलाना चाहती एसवाईएल का पानी- अभय चौटाला


फतेहाबाद: एसवाईएल मामले में सुप्रीम कोर्ट का निर्णय लागू करवाने को लेकर संघर्षरत इनेलो-बसपा कार्यकर्त्ताओं ने आज जिला फतेहाबाद मुख्यालय में जेल भरो आंदोलन के तहत नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती के नेतृत्व में हजारों की संख्या में एकत्रित होकर गिरफ्तारियां दी। अनाज मंडी शैड के नीचे जेल भरो आंदोलन के तहत एकत्रित हुए इनेलो-बसपा कार्यकर्त्ताओं की भीड़ देख दोनों पार्टियों के शीर्ष नेता गदगद नजर आए। गिरफ्तारियां देने पहुंचे कार्यकर्त्ताओं में महिलाएं भी बड़ी तदाद में पहुंची। गिरफ्तारियां देने से पूर्व कार्यकर्त्ताओं को शीर्ष नेता अभय चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, नरेन्द्र प्रजापति, किसान प्रकोष्ठ प्रदेशाध्यक्ष स निशान सिंह, सांसद चरणजीत रोडी, विधायक बलवान दौलतपुरिया, प्रो रविन्द्र बलियाला ने भी मुख्य रूप से संबोधित किया। मंच संचालन इनेलो जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों ने किया।
इस मौके पर अभय चौटाला ने प्रदेश की भाजपा सरकार को पूरी तरह से अनुभवहीन व जनविरोधी बताते हुए कहा कि हरियाणा के बच्चे से लेकर वृद्ध व्यक्ति तक का कंठ जल संकट के कारण सूखने लगा है। अन्नदाता किसान की जमीन पानी की भारी कमी की मार झेल रही है, मगर इन सबसे अनजान बन देश-प्रदेश की भाजपा सरकार जनता के खून-पसीने से जमा हुए सरकारी खजाने को विदेशी सैर-सपाटों व राहगिरी के नाम पर गिल्ली डंडा खेलने जैसे अनाप-शनाप कामों में बर्बाद कर रही है। उन्होंने कहा कि एसवाईएल मामले में सुप्रीम कोर्ट का निर्णय हरियाणा के पक्ष में आने के बावजूद पानी प्रदेश को न मिलना इस बात को प्रमाणित करता है कि हरियाणा की प्यासी धरती की प्यास बुझाने को लेकर भाजपा सरकार जरा भी गंभीर नहीं है। अभय चौटाला ने सरकार पर किसानों को धोखा देने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार ने दादूपुर-नलवी नहर निर्माण को इसलिए रोक दिया ताकि उसको कोर्ट के निर्देशानुसार किसानों को बढ़ा हुआ मुआवजा न देना पड़े। जबकि इस नहर का निर्माण उत्तरी हरियाणा में सिंचाई और गिर रहे भूमिगत जलस्तर के सुधार के लिए हर दृष्टिकोण से अति आवश्यक था। इसी प्रकार एसवाईएल मामले में भी भाजपा सरकार का रवैया पूरी तरह से नाकारात्मक रहा है, जिसके चलते जननायक स्व ताउ देवीलाल के आदर्शों पर चलते हुए इनेलो-बसपा गठबंधन ने अब जेल भरो आंदोलन के जरीये प्रदेश के गंभीर मुद्दों पर नींद में सोई भाजपा सरकार को जगाने का निर्णय लिया है। जेल भरो आंदोलन में उमड़ रही भीड़ ने सत्तासीन भाजपा के साथ-साथ कांग्रेस व अन्य विरोधी दलों के भी हौश उड़ा रखे हैं। उन्होंने दावा किया कि जब तक एसवाईएल का पानी हरियाणा को नहीं मिल जाता, इनेलो-बसपा का कोई कार्यकर्त्ता चैन की सांस नहीं लेगा। जेल भरो आंदोलन में सक्रिय भागीदारी निभा रही बसपा पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने अपने संबोधन में कहा कि नरेंद्र मोदी झूठ बोलकर प्रधानमंत्री बने थे और उन्होंने देश की जनता के साथ विश्वासघात किया है। आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरा मोर्चा भाजपा को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाएगा। भारती ने कहा कि जो लोग इनेलो-बसपा के प्राकृतिक गठबंधन को अवसरवादिता का नाम दे रहें है, शायद उन्हें याद नहीं कि यह किसान-कमेरे की एकता जननायक ताऊ देवीलाल और साहेब कांशीराम के समय का साथ है जो सदा भ्रष्टाचारियों और सांप्रदायिक ताकतों के विरुद्ध एकजुट होकर लड़ेगा। इस अवसर पर कर्ण कुनाल सिंह, विधायक रणबीर गंगवा, मक्खन सिंगला, युद्धवीर आर्य, मोलूराम रूहलानियां, विद्या रत्ति, सरोज सांगा, डॉ मीरा नंदा, बसपा प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, सुरेन्द्र पंघाल, बसपा जिला प्रभारी बलवान सिंह भानखड़,बसपा हलकाध्यक्ष कृष्ण बड़गुज्जर व इनेलो हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार, बिकर सिंह हड़ोली, पूर्ण नारंग, सुरेन्द्र लेगा, एडवोकेट पीएस फानर, राकुल महमी, ईश्वर बागड़ी, राजेन्द्र सूरा, विकास मेहता, राणा जोहल, यशपाल तनेजा, अशोक मेहता, बलदेव दरियापुर, बृजलाल जांडवाला, शमशेर भुक्कल, रतन दहिया सहित अनेक कार्यकर्त्ता व पदाधिकारी उपस्थित रहे।



जाम की चेतावनी दी तो नेता प्रतिपक्ष को गिरफ्तार करने पहुंचे डीएसपी
जेल भरो आंदोलन की पूर्व में घोषणा किए जाने के बावजूद जिला प्रशासन की तरफ से इनेलो-बसपा कार्यकर्त्ताओं को गिरफ्तार करके अस्थाई जेल तक ले जाने की प्रशासनिक व्यवस्था से नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला खासे खफा नजर आए। गिरफ्तारियों के लिए प्रशासनिक स्तर पर बसों की संख्या कम होने व कार्यकर्त्ताओं को सुरक्षित अस्थाई जेल तक ले जाने के लिए पुलिस बल भी मौके पर नाममात्र नजर आया। इसके बाद जब नेता प्रतिपक्ष ने प्रशासन को चेताया कि यदि जल्द व्यवस्था ठीक नहीं की तो वे जेल भरने की बजाय, प्रशासनिक अव्यवस्था के खिलाफ सड़क पर बैठ जाम लगा देंगे तो आनन-फानन में डीएसपी जगदीश के नेतृत्व में एक टीम को मौके पर भेज नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती व अन्य शीर्ष नेताओं की औपचारिक गिरफ्तारी की गई। अस्थाई जेल में भी मैनुअल के अनुसार व भीषण गर्मी के बावजूद सरकार व जिला प्रशासन कार्यकर्ताओं के लिए चाय व पानी का भी प्रबंध न होने को लेकर भी इनेलो नेताओं ने रोष व्यक्त किया। 

Monday, May 21, 2018

नहर का निर्माण नहीं होने पर खेत बंजर और किसान पलायन को मजबूर हो जायेगा- अभय चौटाला 


सिरसा: हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि यदि केंद्र सरकार ने एसवाईएल मामले में दखल देकर नहर का निर्माण नहीं कराया तो हरियाणा के खेत बंजर बन जाएंगे और किसानों को पलायन करना होगा। वे सोमवार को सिरसा बार में अधिवक्ताओं को संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व सिरसा बार में पहुंचने पर बार के अध्यक्ष अजय बंसल, सचिव गणेश सेठी, उपप्रधान लक्की दुग्गल व संयुक्त सचिव वंदना मोंगा आदि ने उन्हें शॉल ओढाकर व पुष्पगुच्छ देकर उनका अभिनंदन किया। इस दौरान अभय सिंह चौटाला ने वकीलों से कहा कि वे सिरसा की बार को अपना पारिवारिक मानते हैं और वे एसवाईएल के मुद्दे पर उनका आशीर्वाद लेने आए हैं। उन्होंने इस अवसर पर वकीलों को बताया कि पंजाब से हरियाणा के अलग होने के बाद एसवाईएल के लिए जमीन अधिग्रहण करने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी देवीलाल ने पंजाब सरकार को एक करोड़ रुपए दिए थे और निर्माण करने के लिए 2 करोड़ की राशि दी थी मगर बाद की सरकारों ने कभी भी इस दिशा में कोई गंभीर प्रयास नहीं किए जिसकी वजह से आज तक यह मुद्दा अटका हुआ है। उन्होंने बताया कि केवल इनेलो शासनकाल में ही इस मुद्दे को लेकर सर्वोच्च न्यायालय में उठाया गया था जिस पर न्यायालय ने पंजाब सरकार से इसका निर्माण करने के आदेश दिए थे, मगर पंजाब के तत्कालीन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने इसका घोर विरोध करते हुए पंजाब विस में विधेयक पारित कर इसका निर्माण न होने देने में रोड़ा अटकाया। उन्होंने सभी वकीलों से केंद्र सरकार पर इसका निर्माण कराने के लिए दबाव बनाने का भी आह्वान किया। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि इनेलो ने इस मुद्दे पर 19 माह के लंबे अरसे के दौरान चार चरणों में आंदोलन चलाया जिसमें जंतर मंतर पर धरना, पंजाब में गिरफ्तारियां देना, जेल भरो आंदोलन और 8 हजार से अधिक पंचायतों के प्रस्ताव पारित कर राष्ट्रपति को भेजा जाना शामिल है। इन तमाम प्रयासों के बीच केंद्र व हरियाणा सरकार पूरी तरह से उदासीन हैं। उन्होंने कहा कि उनका जेल भरो आंदोलन आगामी 15 जुलाई तक जारी रहेगा। उन्होंने इस गंभीर मुद्दे पर दलगत राजनीति से ऊपर उठकर हरियाणा के लिए संवेदनशील मुद्दे पर केंद्र पर दबाव बनाने का आह्वान किया। इस अवसर पर उनके साथ बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष रमेश मेहता एडवोकेट, इनेलो कानूनी सैल के जिला संयोजक हरपाल सिंह ढिल्लों, एलडी मेहता एडवोकेट, अमीर चावला एडवोकेट, प्रदीप मेहता एडवोकेट, राहुल शर्मा एडवोकेट, योगेश मोदी एडवोकेट, योगेश शर्मा एडवोकेट, राजन बावा एडवोकेट, बुधसिंह गिल एडवोकेट, आरडी गर्ग, संदीप, अजय मोंगा, नीरज मेहता, अभयनंदन जैन एडवोकेट, राजकुमार गर्ग, मंजीत सिंह सेठी, पवन कोचर एडवोकेट, इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, सिरसा के विधायक मक्खनलाल सिंगला, कालांवाली के विधायक बलकौर सिंह, पूर्व मंत्री भागीराम, जसवीर सिंह जस्सा, कश्मीर सिंह करीवाला, अजब ओला, धर्मवीर नैन, तरसेम मिढा व महावीर शर्मा आदि गणमान्य लोग मौजूद थे।
अभय के नेतृत्व में निर्भय होकर भरेंगे एसवाईएल मुद्दे पर जेल- बलवान सिंह दौलतपुरिया


फतेहाबाद: इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि एसवाईएल का पानी हरियाणा को दिलाने को लेकर जारी इनेलो-बसपा का संघर्ष अब निर्णायक दौर में पहुंच चुका है, जिसमें नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला व बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती के नेतृत्व में जारी जेल भरो आंदोलन अहम साबित हो रहा है। वे 22 मई की सुबह जिला मुख्यालय पर होने वाले इनेलो-बसपा के जेल भरो आंदोलन कार्यक्रम को अंतिम रूप देने के लिए जारी जनसंपर्क अभियान के तहत गांव बरसीन में ग्रामीण सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि जेल भरो आंदोलन की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है और इनेलो-बसपा के जिला फतेहाबाद के विभिन्न हिस्सों के कार्यकर्त्त बड़ी संख्या में 22 मई की सुबह नया बस स्टैंड के सामने स्थित अनाज मंडी शैड के नीचे एकत्रित होंगे। इसके बाद ये कार्यकर्त्ता नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती के नेतृत्व में अनाज मंडी से लघु सचिवालय विरोध प्रदर्शन करते हुए पहुंचेंगे, जहां एसवाईएल का पानी सुप्रीम कोर्ट के निर्णयनुसार हरियाणा को दिलाए जाने की मांग को लेकर पार्टी नेता, पदाधिकारी व कार्यकर्त्ता गिरफ्तारियां देंगे। ग्रामीण सभाओं को इनेलो राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, बसपा प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, इनेलो प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मोलूराम रूहलानिया, वरिष्ठ नेत्री विद्या रत्ति, महिला विंग जिला प्रधान सरोज सांगा, सुमनलता सिवाच, बसपा जिला प्रभारी बलवान सिंह भानखड़, बसपा हलकाध्यक्ष कृष्ण बड़गुज्जर व इनेलो हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार ने भी संबोधित किया।
दौलतपुरिया ने कहा कि जल संकट की वजह से एक तरफ जहां पूरे हरियाणा की धरती सूखने लगी है। आमजन से लेकर किसान वर्ग तक में पानी को लेकर हाहाकार की स्थिति बनने लगी है। बावजूद इसके देश-प्रदेश की भाजपा सरकार हरियाणा की जीवनरेखा कही जाने वाली एसवाईएल का पानी सुप्रीम कोर्ट का निर्णय राज्य के पक्ष में आने के बाद भी हरियाणा को नहीं दिला पाई है। सरकार का एसवाईएल नहर के प्रति उदासीन रवैया दर्शाता है कि किसानों और आमजनता को जल संकट से राहत दिलाने के मामले में वह जरा भी गंभीर नहीं है। इसके विपरित जब से सुप्रीम कोर्ट ने एसवाईएल मुद्दे पर अपना निर्णय हरियाणा के पक्ष में दिया है, तब से लेकर आज तक नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला जलनायक की भूमिका अदा करते हुए एसवाईएल का पानी प्रदेश को दिलाने के लिए आंदोलनरत है। उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष ने इस मुद्दे पर राजनीतिक सोच से उपर उठ सत्तासीन भाजपा सहित अन्य सभी दलों को एक मंच पर आने का न्यौता दिया, लेकिन किसी ने भी हरियाणा की प्यासी धरती की प्यास बुझाने के लिए उनकी इस सार्थक पहल का समर्थन करने का साहस नहीं दिखाया। अब बसपा अध्यक्ष एवं यूपी की पूर्व सीएम मायावती ने इस मामले में इनेलो से गठबंधन उपरांत स्पष्ट किया है कि हरियाणा को उसके हिस्से का पानी न मिलने तक बसपा-इनेलो कार्यकर्ता चैन की सांस नहीं लेंगे और इसके लिए उन्हें कितना भी बड़ा बलिदान क्यों न देना पड़े वे देंगे। बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि अब जिला फतेहाबाद मुख्यालय पर भी 22 मई के दिन इनेलो-बसपा कार्यकर्ता अभय चौटाला के नेतृत्व में निर्भय होकर एसवाईएल मुद्दे पर गिरफ्तारियां देकर जेल भरेंगे और यदि सरकार फिर भी इस मामले में कुंभकरणी नींद सोई रही तो बसपा अध्यक्षा मायावती, इनेलो प्रमुख एवं पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला व नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला के दिशा-निर्देश पर कार्यकर्त्ता बड़े आंदोलन की तैयारी करेंगे। इस अवसर पर उनके साथ बसपा जिला महासचिव ईश्वर बागड़ी, इनेलो कानूनी प्रकोष्ठ प्रधान राजेश शर्मा, शमशेर भुक्कल, सुभाष गोड, सुखदेव सुखा सहित दोनों दलों के अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्त्ता उपस्थित थे।